GST क्या है ? ...

Likes  0  Dislikes

4 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
जीएसटी नियम गुड्स एंड सर्विस टैक्स के एक प्रकार का टैक्स है जो सरकार ने जो लोग उनकी इनकम पर टैक्स के तौर पर जमा करती हैGst Niyam Goods End Service Tax Ke Ek Prakar Ka Tax Hai Jo Sarkar Ne Jo Log Unki Income Par Tax Ke Taur Par Jama Karti Hai
Likes  6  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
PK जीएसटी का मतलब होता है गुंजन सर्विस है यह प्रकार की टैक्स प्रणाली है जो 1 जुलाई 2017 से लागू की है बीजेपी शासित केंद्र सरकार ने जो पहले हर एक वस्तू व अन्य प्रकार के टैक्स लगते 15209 प्रकार के टैक्स हम सब को मिलाकर एक टैक्स बना दिया गया जो हम बोलते हैं जीएसटी इसमें हर एक वस्तु जो भी हमारे देश में बिक रही है उसको चार में से एक कैटेगरी में बांटा गया 5 वर्ष 12 वर्ष 18 वर्ष 28 वर्ष हरे वस्तु इन में से किसी एक तालाब के अंदर आएगी और इससे बहुत आसान हो गया है जो भी नंबर 2 का था यह चोरी होती थी टैक्स चोरी मौसम में रोकथाम होगी सारी चीजें में ऑनलाइन सबमिशन सपने करनी है सारी सेल्स पहुंचू तो सभी चीजें जितना भी हमारा ट्रांजेक्शन सो रहे हैं सब ऑनलाइन जमा करने से भारी विरोध भी हो रहा है व्यापारी वर्ग केPK Gst Ka Matlab Hota Hai Gunjan Service Hai Yeh Prakar Ki Tax Pranali Hai Jo 1 July 2017 Se Laagu Ki Hai Bjp Shasit Kendra Sarkar Ne Jo Pehle Har Ek Vastu V Anya Prakar Ke Tax Lagte 15209 Prakar Ke Tax Hum Sab Ko Milakar Ek Tax Bana Diya Gaya Jo Hum Bolte Hain Gst Isme Har Ek Vastu Jo Bhi Hamare Desh Mein Bik Rahi Hai Usko Char Mein Se Ek Category Mein Banta Gaya 5 Varsh 12 Varsh 18 Varsh 28 Varsh Hare Vastu In Mein Se Kisi Ek Taalab Ke Andar Aayegi Aur Isse Bahut Aasan Ho Gaya Hai Jo Bhi Number 2 Ka Tha Yeh Chori Hoti Thi Tax Chori Mausam Mein Roktham Hogi Saree Cheezen Mein Online Submission Sapne Karni Hai Saree Sales Pahunchu To Sabhi Cheezen Jitna Bhi Hamara Transaction So Rahe Hain Sab Online Jama Karne Se Bhari Virodh Bhi Ho Raha Hai Vyapaari Varg Ke
Likes  4  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
भारत में कर सुधार की दिशा में यह महत्वपूर्ण कदम है जीएसटी एक अप्रत्यक्ष कर है इसके तहत वस्तुओं और सेवाओं पर एक समान कर लगाया जाएगा वर्ष 2006 और 7 के बजट में पहली बार इसका जिक्र किया गया था और इसकी विशेषताएं थी कि सेल्स टैक्स सर्विस टैक्स स्टांप ड्यूटी आदि एक्साइज ड्यूटी इत्यादि का जीएसटी में विलय होगा पूरे देश में एक ही दर पर टैक्स लगेगा टैक्स का भार निर्माण एवं सेवा दोनों पर समान रूप से वितरित होगा जीएसटी में पेट्रोलियम पदार्थ बाहर होंगेBharat Mein Kar Sudhaar Ki Disha Mein Yeh Mahatvapurna Kadam Hai Gst Ek Apratyksh Kar Hai Iske Tahat Vastuon Aur Sewaon Par Ek Saman Kar Lagaya Jayega Varsh 2006 Aur 7 Ke Budget Mein Pehli Baar Iska Jikarr Kiya Gaya Tha Aur Iski Visheshtayen Thi Ki Sales Tax Service Tax Staump Duty Aadi Excise Duty Ityadi Ka Gst Mein Vilay Hoga Poore Desh Mein Ek Hi Dar Par Tax Lagega Tax Ka Bhar Nirman Evam Seva Dono Par Saman Roop Se Vitrit Hoga Gst Mein Petroleum Padarth Bahar Honge
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions


More Answers


जीएसटी भारत के कर ढांचे में सुधार का एक बड़ा कदम है वस्तु एवं सेवा कर यानी गुंजन सर्विस टैक्स एक अप्रत्यक्ष कर कानून है यानी इनडायरेक्ट टैक्स जीएसटी एकीकृत कर है जो वस्तु और सेवाओं दोनों पर लगेगा जीएसटी लागू होने से पूरा देश एकीकृत बाजार में तब्दील हो हो गया और ज्यादा अप्रत्यक्ष कर जैसे केंद्रीय उत्पाद शुल्क यानी एक्साइज सर्विस टैक्स रेट मनोरंजन विलासिता लॉटरी टायर आदि जीएसटी में समाहित हो गया है

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

जीएसटी भारत के कर ढांचे में सुधार का एक बड़ा कदम है वस्तु एवं सेवा कर यानी गुंजन सर्विस टैक्स एक अप्रत्यक्ष कर कानून है यानी इनडायरेक्ट टैक्स जीएसटी एकीकृत कर है जो वस्तु और सेवाओं दोनों पर लगेगा जीएसटी लागू होने से पूरा देश एकीकृत बाजार में तब्दील हो हो गया और ज्यादा अप्रत्यक्ष कर जैसे केंद्रीय उत्पाद शुल्क यानी एक्साइज सर्विस टैक्स रेट मनोरंजन विलासिता लॉटरी टायर आदि जीएसटी में समाहित हो गया हैGst Bharat Ke Kar Dhanche Mein Sudhaar Ka Ek Bada Kadam Hai Vastu Evam Seva Kar Yani Gunjan Service Tax Ek Apratyksh Kar Kanoon Hai Yani Indirect Tax Gst Ekikrit Kar Hai Jo Vastu Aur Sewaon Dono Par Lagega Gst Laagu Hone Se Pura Desh Ekikrit Bazar Mein Tabdil Ho Ho Gaya Aur Jyada Apratyksh Kar Jaise Kendriya Utpaad Shulk Yani Excise Service Tax Rate Manoranjan Vilaasita Lottery Tyre Aadi Gst Mein Samahit Ho Gaya Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जीएसटी का मतलब होता है कि अल्लाह गुंजन सर्विस सेंटर की हर एक कोशिश में लगाई गई है इस कमेंट के द्वारा इसके अलग-अलग खिलाफ भी होती है जिसमें 0% 5% 12% और 24% जगह पर अलग-अलग टैक्स और जीएसटी की जो टैक्स बोली जाती है

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

जीएसटी का मतलब होता है कि अल्लाह गुंजन सर्विस सेंटर की हर एक कोशिश में लगाई गई है इस कमेंट के द्वारा इसके अलग-अलग खिलाफ भी होती है जिसमें 0% 5% 12% और 24% जगह पर अलग-अलग टैक्स और जीएसटी की जो टैक्स बोली जाती हैGst Ka Matlab Hota Hai Ki Allah Gunjan Service Center Ki Har Ek Koshish Mein Lagai Gayi Hai Is Comment Ke Dwara Iske Alag Alag Khilaf Bhi Hoti Hai Jisme 0% 5% 12% Aur 24% Jagah Par Alag Alag Tax Aur Gst Ki Jo Tax Boli Jati Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जीएसटी गुड्स एंड सर्विस टैक्स इनकम टैक्स से जो कि भारत में 1 जुलाई 2017 से लागू हो चुका है इस टैक्स के आने के बाद लगभग 22 डायरेक्ट और इनडायरेक्ट टैक्स जैसे लॉटरी टैक्स एंटरटेनमेंट टैक्स में टैक्स इन सब टेक्स्ट को हटाकर सिर्फ एक ही टैक्स लगाया जाए करेगा क्योंकि जीएसटी के नाम से होगा मतलब वन नेशन वन टैक्स जी एस एम तोपे करेंगे वह दोस्त लाइफ में डिवाइड होगा मान लो अगर हमें जीएसटी पर किया तो एक जाएगा सेंट्रल गवर्नमेंट को ब्लॉक सेंट्रल घर में सर्विस टैक्स एक जगह स्टेट गवर्नमेंट सर्विस टैक्स किसको बोलते हैं या मां-बाप ने अगर 18 परसेंट पर किया तो पटना सेंट्रल गवर्नमेंट को जगरनॉट गवर्नमेंट हो जाएगा इसका मतलब आप जब सामान एक स्टेट से दूसरे स्टेट में बेचना चाहेंगे तब यह टैक्स लागू होगा जीएसटी को कुछ प्लेस में बांटा गया है जिससे 5 परसेंट 12 परसेंट 18 परसेंट 28 परसेंट 28पसंद मैक्सिमम टैक्स स्लैब इसमें लग्जरी आइटम चाहते हैं जीएसटी के आने के बाद अब टैक्स के ऊपर टैक्स नहीं लगेगा पहले क्या होता था कि टैक्स के ऊपर टैक्स लगाए जाया करते थे जिसको हम केस स्टडी ऑफ टेक्सास बोलते हैं अब वह नहीं लगाया कर लगाया जाए करेगा तो यही जीएसटी का मतलब है थैंक यू

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

जीएसटी गुड्स एंड सर्विस टैक्स इनकम टैक्स से जो कि भारत में 1 जुलाई 2017 से लागू हो चुका है इस टैक्स के आने के बाद लगभग 22 डायरेक्ट और इनडायरेक्ट टैक्स जैसे लॉटरी टैक्स एंटरटेनमेंट टैक्स में टैक्स इन सब टेक्स्ट को हटाकर सिर्फ एक ही टैक्स लगाया जाए करेगा क्योंकि जीएसटी के नाम से होगा मतलब वन नेशन वन टैक्स जी एस एम तोपे करेंगे वह दोस्त लाइफ में डिवाइड होगा मान लो अगर हमें जीएसटी पर किया तो एक जाएगा सेंट्रल गवर्नमेंट को ब्लॉक सेंट्रल घर में सर्विस टैक्स एक जगह स्टेट गवर्नमेंट सर्विस टैक्स किसको बोलते हैं या मां-बाप ने अगर 18 परसेंट पर किया तो पटना सेंट्रल गवर्नमेंट को जगरनॉट गवर्नमेंट हो जाएगा इसका मतलब आप जब सामान एक स्टेट से दूसरे स्टेट में बेचना चाहेंगे तब यह टैक्स लागू होगा जीएसटी को कुछ प्लेस में बांटा गया है जिससे 5 परसेंट 12 परसेंट 18 परसेंट 28 परसेंट 28पसंद मैक्सिमम टैक्स स्लैब इसमें लग्जरी आइटम चाहते हैं जीएसटी के आने के बाद अब टैक्स के ऊपर टैक्स नहीं लगेगा पहले क्या होता था कि टैक्स के ऊपर टैक्स लगाए जाया करते थे जिसको हम केस स्टडी ऑफ टेक्सास बोलते हैं अब वह नहीं लगाया कर लगाया जाए करेगा तो यही जीएसटी का मतलब है थैंक यूGst Goods End Service Tax Income Tax Se Jo Ki Bharat Mein 1 July 2017 Se Laagu Ho Chuka Hai Is Tax Ke Aane Ke Baad Lagbhag 22 Direct Aur Indirect Tax Jaise Lottery Tax Entertainment Tax Mein Tax In Sab Text Ko Hatakar Sirf Ek Hi Tax Lagaya Jaye Karega Kyonki Gst Ke Naam Se Hoga Matlab Van Nation Van Tax Ji S Em Tope Karenge Wah Dost Life Mein Divide Hoga Maan Lo Agar Hume Gst Par Kiya To Ek Jayega Central Government Ko Block Central Ghar Mein Service Tax Ek Jagah State Government Service Tax Kisko Bolte Hain Ya Maa Baap Ne Agar 18 Percent Par Kiya To Patna Central Government Ko Jagaranat Government Ho Jayega Iska Matlab Aap Jab Saamaan Ek State Se Dusre State Mein Bechna Chahenge Tab Yeh Tax Laagu Hoga Gst Ko Kuch Place Mein Banta Gaya Hai Jisse 5 Percent 12 Percent 18 Percent 28 Percent Pasand Maximum Tax Slab Isme Luxury Item Chahte Hain Gst Ke Aane Ke Baad Ab Tax Ke Upar Tax Nahi Lagega Pehle Kya Hota Tha Ki Tax Ke Upar Tax Lagaye Jaaya Karte The Jisko Hum Case Study Of Texas Bolte Hain Ab Wah Nahi Lagaya Kar Lagaya Jaye Karega To Yahi Gst Ka Matlab Hai Thank You
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: GST Kya Hai ?





मन में है सवाल?