क्या जाती प्रथा अच्छी है या बुरी ? ...

Likes  0  Dislikes

5 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
विकी मुझे लगता है कि हमारे देश के अंदर जो का सिस्टम है वह बहुत ही गलत है और होना भी नहीं चाहिए किसी अच्छे समाज के लिए यह बहुत ही ज्यादा खतरनाक है जिस तरह से हमने देखा कि हमारे देश के अंदर कास्ट का वजन बहुत ज्यादा होता है काश डिस्क्रिमिनेशन बहुत ज्यादा होता है हमने बहुत सारे जहां से देखिए इस बेस्ड ऑन फास्ट होती हैं अभी आपको याद होगा महाराष्ट्र में एक रेवोल्यूशन हुआ था वह काश भेज भाई संता तो कास्ट सिस्टम होने से हमारा समाज बढ़ जाता है ठीक है और जो जो शेड्यूल कास्ट हो गया उनके साथ एट्रोसिटी की जाती मुझे लगता है कहीं नहीं बहुत गलत होता है हम भारतीय हैं यही हमारी पहचान हमारे देश के लिए सीट समझ में आता लेकिन का आज का मुझे नहीं लगता कोई फायदा होता होगा आज हमारे देश की स्थिति आप देखने जिसका से रिजर्वेशन पॉलिसी को भी लगा दी है क्या होता अपलिफ्टमेंट यादव दोस्त भूकंप जैसे नर्सरी क्लास मुझे लगता है कि कहीं ना कहीं कुछ गलत है तो मैं बस इतना ही कहूंगा कि हमारे देश के अंदर का सिस्टम हमारे देश को $1 की बर्बादी कर रहा है तो काश में बिल्कुल नहीं होना चाहिए हम सब एक हैं हम बस भारतीय यही हमारी पहचान हैVikee Mujhe Lagta Hai Ki Hamare Desh Ke Andar Jo Ka System Hai Wah Bahut Hi Galat Hai Aur Hona Bhi Nahi Chahiye Kisi Acche Samaaj Ke Liye Yeh Bahut Hi Jyada Khatarnak Hai Jis Tarah Se Humne Dekha Ki Hamare Desh Ke Andar Caste Ka Wajan Bahut Jyada Hota Hai Kash Discrimination Bahut Jyada Hota Hai Humne Bahut Sare Jahan Se Dekhie Is Based On Fast Hoti Hain Abhi Aapko Yaad Hoga Maharashtra Mein Ek Revolution Hua Tha Wah Kash Bhej Bhai Santa To Caste System Hone Se Hamara Samaaj Badh Jata Hai Theek Hai Aur Jo Jo Schedule Caste Ho Gaya Unke Saath Etrositi Ki Jati Mujhe Lagta Hai Kahin Nahi Bahut Galat Hota Hai Hum Bhartiya Hain Yahi Hamari Pehchaan Hamare Desh Ke Liye Seat Samajh Mein Aata Lekin Ka Aaj Ka Mujhe Nahi Lagta Koi Fayda Hota Hoga Aaj Hamare Desh Ki Sthiti Aap Dekhne Jiska Se Reservation Policy Ko Bhi Laga Di Hai Kya Hota Apaliftament Yadav Dost Bhukamp Jaise Nursery Class Mujhe Lagta Hai Ki Kahin Na Kahin Kuch Galat Hai To Main Bus Itna Hi Kahunga Ki Hamare Desh Ke Andar Ka System Hamare Desh Ko $1 Ki Barbadi Kar Raha Hai To Kash Mein Bilkul Nahi Hona Chahiye Hum Sab Ek Hain Hum Bus Bhartiya Yahi Hamari Pehchaan Hai
Likes  5  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

अतिरिक्त विकल्प यहां दिखाई देते हैं!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
मुझे हमारे देश में एक काश तुम बहुत ज्यादा खतरनाक है यह कास्ट सिस्टम से भारत में अगर विश्व में आप कहीं भी देखेंगे तो जाति के आधार पर विभाजन आपको सिर्फ भारत में ही मिलेंगे इसी कारण भारत में इतनी ज्यादा समस्याएं हैं और यह का स्टेशन हमारे समाज को अंदर से खोखला करता जा रहा है हम ऐसे क्या करते हैं कष्ट के आधार पर जाति के आधार पर जो निम्न वर्ग के लोग होते हैं उन्हें मुझे पल देते हैं परंतु या नहीं देखते कि वह योग्य है या अयोग्य योग्य लोगों को उसके पद देने से जो हमारा सिस्टम है और एक घटिया और घटिया होता चला जाता है तो जो लोग मेहनत करते हैं वह मध्यम वर्ग के होते हैं जैसे कि अगर आप इस एग्जाम में लेंगे तो उनके महासागराचे भी आए हैं उनके माता की डेढ़ सो आते हैं 200 आते हैं लेकिन फिर भी जो निम्न वर्ग के लोग होते हैं उनके मकसद 98100 जाएंगे तो यू ने सेलेक्ट कर दिया जाएगा और उनको नहीं दिया जाता तो ज्यादा ही हो गया था वह प्रश्न जिस ने 150 50 मार्क्स है लेकिन फिर भी मिला किसे जो वैकेंसी दवा किस को मिला महीने बाद पद के लोगों को मिला तो इसी कारण हमारे देश में जो काफी समय बहुत ही गलत हो रहा है और इसे रोकना चाहिए सरकार को जल्द से जल्द मैं भी एक मध्यम वर्ग से बिलॉन्ग करता हूं मैं अभी जनरल हूं और इसी कारण मैंMujhe Hamare Desh Mein Ek Kash Tum Bahut Jyada Khatarnak Hai Yeh Caste System Se Bharat Mein Agar Vishwa Mein Aap Kahin Bhi Dekhenge To Jati Ke Aadhar Par Vibhajan Aapko Sirf Bharat Mein Hi Milenge Isi Kaaran Bharat Mein Itni Jyada Samasyaen Hain Aur Yeh Ka Station Hamare Samaaj Ko Andar Se Khokhala Karta Ja Raha Hai Hum Aise Kya Karte Hain Kasht Ke Aadhar Par Jati Ke Aadhar Par Jo Nimn Varg Ke Log Hote Hain Unhen Mujhe Pal Dete Hain Parantu Ya Nahi Dekhte Ki Wah Yogya Hai Ya Ayogya Yogya Logon Ko Uske Pad Dene Se Jo Hamara System Hai Aur Ek Ghatiya Aur Ghatiya Hota Chala Jata Hai To Jo Log Mehnat Karte Hain Wah Madhyam Varg Ke Hote Hain Jaise Ki Agar Aap Is Exam Mein Lenge To Unke Mahasagrache Bhi Aaye Hain Unke Mata Ki Dedh So Aate Hain 200 Aate Hain Lekin Phir Bhi Jo Nimn Varg Ke Log Hote Hain Unke Maksad 98100 Jaenge To You Ne Select Kar Diya Jayega Aur Unko Nahi Diya Jata To Jyada Hi Ho Gaya Tha Wah Prashna Jis Ne 150 50 Marks Hai Lekin Phir Bhi Mila Kise Jo Vacancy Dawa Kis Ko Mila Mahine Baad Pad Ke Logon Ko Mila To Isi Kaaran Hamare Desh Mein Jo Kafi Samay Bahut Hi Galat Ho Raha Hai Aur Ise Rokna Chahiye Sarkar Ko Jald Se Jald Main Bhi Ek Madhyam Varg Se Bilang Karta Hoon Main Abhi General Hoon Aur Isi Kaaran Main
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
कथा जरुर से अच्छी नहीं है वह बहुत ही बुरी है मैं इसका कारण बोलती हूं एक तो एक ही भेजो एक इंसान जो एक पर्टिकुलर जाती है कौन होता है तो उसको बोला जाता कि जो जाती वह काम करते है उसी जाति का काम करना चाहिए वह जो अपना प्रोफेशन में ज्वाइन करना चाहते हैं वह उसको परसों नहीं कर पाता फिर होता है कि जब तक आप देखो तो एक कास्ट के इंटर कास्ट मैरिज बहुत बार अलाउड नहीं होता है बल्कि वह सेम कास्ट में भारी होता है और उसके कारण बहुत सारा चांसेस है कि जेनेटिक डिसऑर्डर भिगोए फैमिली के अंदर ज्यादा से ज्यादा अपने आप को सुपीरियर समझ नहीं रखता है और वह इंटीरियर लोग रहते हैं उस पर रौब झाड़ने लगते हैं तो यह बहुत प्रेजुडिस हो जाता है अलग खेल होता है और अलग नॉलेज रहता है वह हर एक ही कास्ट में और जब तक अगर एक आदमी लोग नहीं रहे एक मिलजुलकर तो वह उसके लिए नॉलेज डेवलप नहीं होता है और सिर्फ एक ही जाति में रह जाता है और वह शेर नहीं हो पाता और जिसकी वजह से मिशन डेवलप नहीं होता हैKatha Zaroor Se Acchi Nahi Hai Wah Bahut Hi Buri Hai Main Iska Kaaran Bolti Hoon Ek To Ek Hi Bhejo Ek Insaan Jo Ek Particular Jati Hai Kaun Hota Hai To Usko Bola Jata Ki Jo Jati Wah Kaam Karte Hai Ussi Jati Ka Kaam Karna Chahiye Wah Jo Apna Profession Mein Join Karna Chahte Hain Wah Usko Person Nahi Kar Pata Phir Hota Hai Ki Jab Tak Aap Dekho To Ek Caste Ke Inter Caste Marriage Bahut Baar Allowed Nahi Hota Hai Balki Wah Same Caste Mein Bhari Hota Hai Aur Uske Kaaran Bahut Saara Chances Hai Ki Genetic Disorder Bhigoe Family Ke Andar Jyada Se Jyada Apne Aap Ko Superior Samajh Nahi Rakhta Hai Aur Wah Interior Log Rehte Hain Us Par Raub Jhadne Lagte Hain To Yeh Bahut Prejudis Ho Jata Hai Alag Khel Hota Hai Aur Alag Knowledge Rehta Hai Wah Har Ek Hi Caste Mein Aur Jab Tak Agar Ek Aadmi Log Nahi Rahe Ek Miljulakar To Wah Uske Liye Knowledge Develop Nahi Hota Hai Aur Sirf Ek Hi Jati Mein Rah Jata Hai Aur Wah Sher Nahi Ho Pata Aur Jiski Wajah Se Mission Develop Nahi Hota Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions


More Answers


लिखे जो आपको क्वेश्चन है क्या कहा सिस्टम गुड और बैड तो मेरे ख्याल से का सबसे अच्छी नहीं है क्योंकि लोगों को एक अलग अलग पाठ में से डिलीट कर देती है और इसलिए मतलब यह तो बहुत प्राचीन काल से चलता आ रहा है इसलिए हम इस में कुछ नहीं कर सकते तो फिर जो ऐसे राइटिंग अभी जो बनाई है वह अमेरिका से अलग देवता ही रहती है तो हर हर एक को अलग पूछते हैं हालांकि देवता है ना तो अब तक सभी को एक हीरोइन बताया है कि एकता रखो और अच्छे से हिंसा मत करो लेकिन फिर भी कुछ लोग ऐसे होते हैं जो कि का सिस्टम का गलत फायदा उठाते हैं और लोगों को उकसाते हैं और फिर दंगे विवाह ऐसा सारा कुछ उत्पन्न होता है तो मेरे ख्याल से यह बिलकुल अच्छी बात नहीं है हालांकि का सिस्टम की वजह से ही लोग एक दूसरे को यह मतलब का हंस लो लेवल का है यहां लेवल का एक शब्द ऐसी बातें करते तो मेरे ख्याल से हम एक बार जीते एक बार मरते जीना मरना यहां सब की जो भाग्य में लिखा होता है तू और लोगों को लडका है मतलब है और क्षुद्र देवता नहीं और हमारे यहां पर काफी दिन का अलग ही एक करा जाता है जो की कुछ मतलब रिजर्वेशन में ना यह भी सूचित करना चाहिए अगर आपका छुट्टी मिली हो कभी भी लोगों ने हाय काश उतनी ही अच्छी है और इतनी ही लेवल पर है किसी को कम नहीं समझना चाहिए पर शाहरुख के लिए रोशन रिलेशनशिप बनाना चाहिए क्योंकि एजुकेशन में हो या गवर्नमेंट जॉब

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

लिखे जो आपको क्वेश्चन है क्या कहा सिस्टम गुड और बैड तो मेरे ख्याल से का सबसे अच्छी नहीं है क्योंकि लोगों को एक अलग अलग पाठ में से डिलीट कर देती है और इसलिए मतलब यह तो बहुत प्राचीन काल से चलता आ रहा है इसलिए हम इस में कुछ नहीं कर सकते तो फिर जो ऐसे राइटिंग अभी जो बनाई है वह अमेरिका से अलग देवता ही रहती है तो हर हर एक को अलग पूछते हैं हालांकि देवता है ना तो अब तक सभी को एक हीरोइन बताया है कि एकता रखो और अच्छे से हिंसा मत करो लेकिन फिर भी कुछ लोग ऐसे होते हैं जो कि का सिस्टम का गलत फायदा उठाते हैं और लोगों को उकसाते हैं और फिर दंगे विवाह ऐसा सारा कुछ उत्पन्न होता है तो मेरे ख्याल से यह बिलकुल अच्छी बात नहीं है हालांकि का सिस्टम की वजह से ही लोग एक दूसरे को यह मतलब का हंस लो लेवल का है यहां लेवल का एक शब्द ऐसी बातें करते तो मेरे ख्याल से हम एक बार जीते एक बार मरते जीना मरना यहां सब की जो भाग्य में लिखा होता है तू और लोगों को लडका है मतलब है और क्षुद्र देवता नहीं और हमारे यहां पर काफी दिन का अलग ही एक करा जाता है जो की कुछ मतलब रिजर्वेशन में ना यह भी सूचित करना चाहिए अगर आपका छुट्टी मिली हो कभी भी लोगों ने हाय काश उतनी ही अच्छी है और इतनी ही लेवल पर है किसी को कम नहीं समझना चाहिए पर शाहरुख के लिए रोशन रिलेशनशिप बनाना चाहिए क्योंकि एजुकेशन में हो या गवर्नमेंट जॉबLikhe Jo Aapko Question Hai Kya Kaha System Good Aur Bad To Mere Khayal Se Ka Sabse Acchi Nahi Hai Kyonki Logon Ko Ek Alag Alag Path Mein Se Delete Kar Deti Hai Aur Isliye Matlab Yeh To Bahut Prachin Kaal Se Chalta Aa Raha Hai Isliye Hum Is Mein Kuch Nahi Kar Sakte To Phir Jo Aise Writing Abhi Jo Banai Hai Wah America Se Alag Devta Hi Rehti Hai To Har Har Ek Ko Alag Poochte Hain Halanki Devta Hai Na To Ab Tak Sabhi Ko Ek Heroine Bataya Hai Ki Ekta Rakho Aur Acche Se Hinsa Mat Karo Lekin Phir Bhi Kuch Log Aise Hote Hain Jo Ki Ka System Ka Galat Fayda Uthaatey Hain Aur Logon Ko Ukasate Hain Aur Phir Denge Vivah Aisa Saara Kuch Utpann Hota Hai To Mere Khayal Se Yeh Bilkul Acchi Baat Nahi Hai Halanki Ka System Ki Wajah Se Hi Log Ek Dusre Ko Yeh Matlab Ka Hans Lo Level Ka Hai Yahan Level Ka Ek Shabdh Aisi Batein Karte To Mere Khayal Se Hum Ek Baar Jeete Ek Baar Marte Jeena Marna Yahan Sab Ki Jo Bhagya Mein Likha Hota Hai Tu Aur Logon Ko Ladaka Hai Matlab Hai Aur Kshudra Devta Nahi Aur Hamare Yahan Par Kafi Din Ka Alag Hi Ek Kra Jata Hai Jo Ki Kuch Matlab Reservation Mein Na Yeh Bhi Suchit Karna Chahiye Agar Aapka Chutti Mili Ho Kabhi Bhi Logon Ne Hi Kash Utani Hi Acchi Hai Aur Itni Hi Level Par Hai Kisi Ko Kum Nahi Samajhna Chahiye Par Shahrukh Ke Liye Roshan Relationship Banana Chahiye Kyonki Education Mein Ho Ya Government Job
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

देखी जाती प्रथा ज्योति को एक जब बनेगी थी तो उसका कारण होता के लोगों की भलाई के लिए उपजाति बनाए गए थे वह सब कुछ लोग चाहे वह कुछ पर्टिकुलर काम को कर रहे तो उनको एक नाम दिया था कि यह लाइट जाती के लोग जो है यही काम करें और वह जाती के लोग जो है वही काम करे जाते जो बनाई गई थी जिसकी प्रकार के लोग जो है एक दूसरे के काम में दखल अंदाजी ना करें और एक दूसरे से झगड़ा ना करें तो इसलिए जो है वह जाते बनाई गई थी लेकिन आज के समय पर आप देखेंगे तो लोग चाहे जाति के लिए एक दूसरे से झगड़ रहे हैं तो यह पूरी तरह से उल्टा हो रहा है जब जाति की जरूरत थी तब लोगों ने जाति बनाई और आज के समय पर जुड़े झांसी की जरूरत नहीं है तो मुझे लगता है कि आज के समय पर पूरी तरह से मिटाने चाहिए और खत्म करनी चाहिए

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

देखी जाती प्रथा ज्योति को एक जब बनेगी थी तो उसका कारण होता के लोगों की भलाई के लिए उपजाति बनाए गए थे वह सब कुछ लोग चाहे वह कुछ पर्टिकुलर काम को कर रहे तो उनको एक नाम दिया था कि यह लाइट जाती के लोग जो है यही काम करें और वह जाती के लोग जो है वही काम करे जाते जो बनाई गई थी जिसकी प्रकार के लोग जो है एक दूसरे के काम में दखल अंदाजी ना करें और एक दूसरे से झगड़ा ना करें तो इसलिए जो है वह जाते बनाई गई थी लेकिन आज के समय पर आप देखेंगे तो लोग चाहे जाति के लिए एक दूसरे से झगड़ रहे हैं तो यह पूरी तरह से उल्टा हो रहा है जब जाति की जरूरत थी तब लोगों ने जाति बनाई और आज के समय पर जुड़े झांसी की जरूरत नहीं है तो मुझे लगता है कि आज के समय पर पूरी तरह से मिटाने चाहिए और खत्म करनी चाहिएDekhi Jati Pratha Jyoti Ko Ek Jab Banegi Thi To Uska Kaaran Hota Ke Logon Ki Bhalai Ke Liye Upajaati Banaye Gaye The Wah Sab Kuch Log Chahe Wah Kuch Particular Kaam Ko Kar Rahe To Unko Ek Naam Diya Tha Ki Yeh Light Jati Ke Log Jo Hai Yahi Kaam Karen Aur Wah Jati Ke Log Jo Hai Wahi Kaam Kare Jaate Jo Banai Gayi Thi Jiski Prakar Ke Log Jo Hai Ek Dusre Ke Kaam Mein Dakhal Andaji Na Karen Aur Ek Dusre Se Jhagda Na Karen To Isliye Jo Hai Wah Jaate Banai Gayi Thi Lekin Aaj Ke Samay Par Aap Dekhenge To Log Chahe Jati Ke Liye Ek Dusre Se Jhagad Rahe Hain To Yeh Puri Tarah Se Ulta Ho Raha Hai Jab Jati Ki Zaroorat Thi Tab Logon Ne Jati Banai Aur Aaj Ke Samay Par Jude Jhansi Ki Zaroorat Nahi Hai To Mujhe Lagta Hai Ki Aaj Ke Samay Par Puri Tarah Se Mitaane Chahiye Aur Khatam Karni Chahiye
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

आज की जाति प्रथा अच्छी है या बुरी तो मैं समझता हूं कि आप कौन बुरी नहीं है क्योंकि पहले की जो सिचुएशन से वह अलग होगी पहले की जो डिमांड थी पहले की कल्चर की पहले की न्यूज़ कि वह सब बालक की और आज की जो है अलग है पहले हो सकता है हम उनको पीना होगा कि काश सिस्टम होना चाहिए ए कैटेगरी के लोग जो काम करते हुए हुए उनको यह बोलना चाहिए अगर यह कैटेगरी के कर देना चाहिए अगर मालिक है तो वह यह कष्ट करें तो यह समय सब्जी इन सब की रिक्वायरमेंट पहले थी और आज का टाइम है वह पूरी तरह चेंज हो गया है उन लोग कंप्यूटर बिलीव नहीं करते हैं और एक समान कंधे से कंधा मिलाकर काम करते हैं तो मैंने कहा था कि आज के जमाने में का स्टेशन जो है वह होना चाहिए जाति पता होना चाहिए ना रिजर्वेशन आना चाहिए डाकू सोना चाहिए हर जगह से आकाश निकाल दो सबको सबको जो है वह एक ही का स्कोर होगा इंडिया में और उसका उसका नाम इंडियन कर दो कर दो इंसानियत कर दो और ऐसा जो है एक साथ मिलकर काम करेंगे ना ना कोई ऊंचा होगा ना कोई नीचा होगा सब जो है इंसान रहेंगे और इंसान की तरह एक-दूसरे को डिलीट करें और जाति प्रथा को खत्म कर देना चाहिए

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

आज की जाति प्रथा अच्छी है या बुरी तो मैं समझता हूं कि आप कौन बुरी नहीं है क्योंकि पहले की जो सिचुएशन से वह अलग होगी पहले की जो डिमांड थी पहले की कल्चर की पहले की न्यूज़ कि वह सब बालक की और आज की जो है अलग है पहले हो सकता है हम उनको पीना होगा कि काश सिस्टम होना चाहिए ए कैटेगरी के लोग जो काम करते हुए हुए उनको यह बोलना चाहिए अगर यह कैटेगरी के कर देना चाहिए अगर मालिक है तो वह यह कष्ट करें तो यह समय सब्जी इन सब की रिक्वायरमेंट पहले थी और आज का टाइम है वह पूरी तरह चेंज हो गया है उन लोग कंप्यूटर बिलीव नहीं करते हैं और एक समान कंधे से कंधा मिलाकर काम करते हैं तो मैंने कहा था कि आज के जमाने में का स्टेशन जो है वह होना चाहिए जाति पता होना चाहिए ना रिजर्वेशन आना चाहिए डाकू सोना चाहिए हर जगह से आकाश निकाल दो सबको सबको जो है वह एक ही का स्कोर होगा इंडिया में और उसका उसका नाम इंडियन कर दो कर दो इंसानियत कर दो और ऐसा जो है एक साथ मिलकर काम करेंगे ना ना कोई ऊंचा होगा ना कोई नीचा होगा सब जो है इंसान रहेंगे और इंसान की तरह एक-दूसरे को डिलीट करें और जाति प्रथा को खत्म कर देना चाहिएAaj Ki Jati Pratha Acchi Hai Ya Buri To Main Samajhata Hoon Ki Aap Kaun Buri Nahi Hai Kyonki Pehle Ki Jo Situation Se Wah Alag Hogi Pehle Ki Jo Demand Thi Pehle Ki Culture Ki Pehle Ki News Ki Wah Sab Balak Ki Aur Aaj Ki Jo Hai Alag Hai Pehle Ho Sakta Hai Hum Unko Peena Hoga Ki Kash System Hona Chahiye A Category Ke Log Jo Kaam Karte Hue Hue Unko Yeh Bolna Chahiye Agar Yeh Category Ke Kar Dena Chahiye Agar Malik Hai To Wah Yeh Kasht Karen To Yeh Samay Sabzi In Sab Ki Requirement Pehle Thi Aur Aaj Ka Time Hai Wah Puri Tarah Change Ho Gaya Hai Un Log Computer Believe Nahi Karte Hain Aur Ek Saman Kandhe Se Kandha Milakar Kaam Karte Hain To Maine Kaha Tha Ki Aaj Ke Jamaane Mein Ka Station Jo Hai Wah Hona Chahiye Jati Pata Hona Chahiye Na Reservation Aana Chahiye Daku Sona Chahiye Har Jagah Se Akash Nikal Do Sabko Sabko Jo Hai Wah Ek Hi Ka Score Hoga India Mein Aur Uska Uska Naam Indian Kar Do Kar Do Insaniyat Kar Do Aur Aisa Jo Hai Ek Saath Milkar Kaam Karenge Na Na Koi Uncha Hoga Na Koi Nicha Hoga Sab Jo Hai Insaan Rahenge Aur Insaan Ki Tarah Ek Dusre Ko Delete Karen Aur Jati Pratha Ko Khatam Kar Dena Chahiye
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Jati Pratha Acchi Hai Ya Buri ?, Jati Pratha





मन में है सवाल?