भारत के लिए किस देश के साथ एक अच्छा सम्बन्ध होना ज़रूरी है- अमरीका, चीन या रूस? और क्यों? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसी बात नहीं है आप विदेश नीति को 017 अभी पेमेंट हो सकते विदेश नीति बहुत ही जटिल मसला होता है और खासकर भारत की इतिहास Bullet तरफ देखना हम गुटनिरपेक्ष रहे हैं हम किसी भी गुट में शामिल नहीं होते अमेरि...
जवाब पढ़िये
ऐसी बात नहीं है आप विदेश नीति को 017 अभी पेमेंट हो सकते विदेश नीति बहुत ही जटिल मसला होता है और खासकर भारत की इतिहास Bullet तरफ देखना हम गुटनिरपेक्ष रहे हैं हम किसी भी गुट में शामिल नहीं होते अमेरिका चाइना रसिया तीनों से हमारे अच्छे संबंध है दिलों से बहुत बड़ा व्यापार करते हैं कल को अगर युवा सक्रिय बोलता है कि आप चाइना से बिजनेस करें हम उन्हें मना कर देंगे कल को चाइना बोलता है क्या पियो सा बिजनेस करें मुझे ही बना कर देंगे तो हम भी सबको बता कर रखा है भाई कि आपके साथ बिजनेस हो रहा है वह हमारा और आपका बिजनेस है बीच में कोई नहीं आएगा इसमें और ना ही आप यह डिसाइड करेंगे कि मेरे लिए के लिए भी सेंड करूंगा कि आपने क्या अच्छा अब भारत की विदेश नीति की खूबी देखिए ऐसे उदाहरण आपको भी शायद मिले वह भी एक अच्छे संबंध रखता हूं और आराम से भी अच्छे संबंध रखता है जबकि इजरायल और ईरान की आपस में संबंध बहुत ही खराब है कई बार आपस में वार कर चुके हैं वह लोग कई बार युद्ध कर चुके हैं गले काटने पर हमारा एक दूसरे के भारत का संबंध रसिया के साथ और अमेरिका के साथ जबकि दोनों के आपस में संबंध बिल्कुल भी मेल नहीं खाते तो हमारे जो संबंध है वह एक स्वतंत्र परिवेश में बनाए गए हैं और हमने खुद के इंटरेस्ट को सामने रखकर बनाया है और यही कारण है कि आप भारत को देख लीजिए कि भारत परमाणु पावर है जबकि वह एनपीटी साइन किया हुआ नहीं है और फिर भी वह न्यूक्लियर मटेरियल्स खरीद सकता है यह सारी विशेषताएंAisi Baat Nahin Hai Aap Videsh Neeti Co 017 Abhi Payment Ho Sakte Videsh Neeti Bahut Hea Jatil Masala Hota Hai Aur Khasakar Bharat Ki Itihas Bullet Tarf Dekhna Hum Gutnirpeksh Rahe Hain Hum Kisi Bhi Gutta Mein Shamil Nahin Hote America China Russia Tinon Se Hamare Achchhe Sambandh Hai Dilon Se Bahut Bada Vyapar Karte Hain Kal Co Agar Yuva Sakriya Bolta Hai Qi Aap China Se Business Karein Hum Unhein Mana Car Denge Kal Co China Bolta Hai Kya Piyo Sa Business Karein Mujhe Hea Banna Car Denge To Hum Bhi Sabako Bata Car Rakhaa Hai Bhai Qi Aapke Sathe Business Ho Raha Hai Wah Hamara Aur Aapka Business Hai Beach Mein Koi Nahin Aega Ismein Aur Na Hea Aap Yeh Decide Karenge Qi Mere Lie K Lie Bhi Send Karunga Qi Aapne Kya Accha Aba Bharat Ki Videsh Neeti Ki Khubi Dekhiye Aise Udaaharan Aapko Bhi Shayad Mile Wah Bhi Ek Achchhe Sambandh Rakhta Hoon Aur Aroma Se Bhi Achchhe Sambandh Rakhta Hai Jbki Ijarayal Aur Iran Ki Apsha Mein Sambandh Bahut Hea Kharab Hai Kai Bar Apsha Mein Var Car Chuke Hain Wah Log Kai Bar Yuddh Car Chuke Hain Gale Katne Per Hamara Ek Dusre K Bharat Ka Sambandh Russia K Sathe Aur America K Sathe Jbki Donon K Apsha Mein Sambandh Bilkool Bhi Male Nahin Khaute To Hamare Joe Sambandh Hai Wah Ek Swatantra Parivesh Mein Banae Ge Hain Aur Humne Khud K Interest Co Samne Rakhakar Banaya Hai Aur Yahi Karan Hai Qi Aap Bharat Co Dekh Lijiye Qi Bharat Parmanu Power Hai Jbki Wah NPT Sign Kiya Hua Nahin Hai Aur Phir Bhi Wah NUCLEAR Materials Kharid Sakta Hai Yeh Sari Visheshtaen
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंटरनेशनल डिप्लोमेसी बहुत ही मुश्किल चीज है और इन 3 देशों की बात करें तो रूस भारत का पुराना मित्र रहा है लेकिन पिछले कुछ दशकों से अमेरिका और इंडिया के बीच में बहुत दोस्ती बन गई है और अमेरिका दुनिया की...
जवाब पढ़िये
इंटरनेशनल डिप्लोमेसी बहुत ही मुश्किल चीज है और इन 3 देशों की बात करें तो रूस भारत का पुराना मित्र रहा है लेकिन पिछले कुछ दशकों से अमेरिका और इंडिया के बीच में बहुत दोस्ती बन गई है और अमेरिका दुनिया की सबसे पुरानी डेमोक्रेसी है सबसे पुराना प्रजातंत्र है और भारत विश्व का सबसे बड़ा प्रजातंत्र है सबसे ज्यादा लोग इस डेमोक्रेसी में रहते हैं क्योंकि चीन में सबसे ज्यादा पॉपुलेशन है लेकिन चीन में प्रजातंत्र नहीं है तो खास बात यह है कि अमेरिका एक बहुत बड़ी ग्लोबल पावर है और चाहे चाइना आने वाले 20 सालों में अमेरिका से आगे निकल भी जा 19 में में लेकिन उसके अलावा भी अमेरिका का जो इंसुरेंस है वह दुनिया पर रहने वाला है बहुत सारे आर्थिक राजनीतिक कारणों की वजह से और अमेरिका जो हम बात कर रहे हैं इतनी अच्छी डेमोक्रेसी नहीं है बल्कि वहां पर जो फिल्म है लोगों को काम करने की वह भी दुनिया के काबिल लोगों को हम रेखा की ओर आकर्षित करती रहेगी तो भारत के बहुत सारे लोग अमेरिका में अच्छे सब्जेक्ट पर अच्छी जगहों पर काम भी कर रहे हैं वह चाहे गूगल के सीईओ हो या माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ या नासा में काम करने वाले सैकड़ों साइंटिस्ट या अमेरिका की यूनिवर्सिटी में पढ़ाने वाले सैकड़ों प्रोफेसर तो यह भी दो देशों के बीच में बहुत अच्छा संबंध है तो अमेरिका और भारत के संबंध तो अच्छे हैं और आगे भी अच्छे होते रहेंगे लेकिन इंटरनेशनल पॉलिटिक्स में यह नहीं किया जा सकता है कि उसके चलते दूसरे देशों के साथ संबंध खराब किए जाए तो भारत को किन पड़ोसी देश है बहुत पावरफुल देश है और रूस भारत का पुराना सहयोगी रहा है तो बिना अमेरिका के साथ रिश्ते कमजोर किए बगैर रूस और चीन के साथ भी भारत को अपने रिश्ते मजबूत करने चाहिए जिससे कि भारत एक वैश्विक ताकत बन सकेInternational Diplomacy Bahut Hea Mushkil Chij Hai Aur In 3 Deshon Ki Baat Karein To Roos Bharat Ka Purana Mitra Raha Hai Lekin Pichle Kuch Dashko Se America Aur India K Beach Mein Bahut Dosti Bun Gi Hai Aur America Duniya Ki Sabse Purani Demokresi Hai Sabse Purana Prajatantra Hai Aur Bharat Vishwa Ka Sabse Bada Prajatantra Hai Sabse Jyada Log Is Demokresi Mein Rahate Hain Kyonki China Mein Sabse Jyada Papuleshan Hai Lekin China Mein Prajatantra Nahin Hai To Khas Baat Yeh Hai Qi America Ek Bahut Badi Global Power Hai Aur Chahe China Aane Wale 20 Saulon Mein America Se Aage Nikul Bhi Ja 19 Mein Mein Lekin Uske Alaava Bhi America Ka Joe Insurens Hai Wah Duniya Per Rahane Wala Hai Bahut Saare Arthik Raajnetik Karanon Ki Vajaha Se Aur America Joe Hum Baat Car Rahe Hain Itni Achchhee Demokresi Nahin Hai Walkie Vahan Per Joe Film Hai Logon Co Kama Karne Ki Wah Bhi Duniya K Kabil Logon Co Hum Rekha Ki Oar Akarshit Karti Rahegi To Bharat K Bahut Saare Log America Mein Achchhe Subject Per Achchhee Jagaho Per Kama Bhi Car Rahe Hain Wah Chahe Google K CEO Ho Ya Microsoft K CEO Ya NASA Mein Kama Karne Wale Saikadon Saintist Ya America Ki University Mein Padhane Wale Saikadon Professor To Yeh Bhi Though Deshon K Beach Mein Bahut Accha Sambandh Hai To America Aur Bharat K Sambandh To Achchhe Hain Aur Aage Bhi Achchhe Hote Rahenge Lekin International Politics Mein Yeh Nahin Kiya Ja Sakta Hai Qi Uske Chalte Dusre Deshon K Sathe Sambandh Kharab Kiye Jae To Bharat Co Kine Padosi Desh Hai Bahut Powerful Desh Hai Aur Roos Bharat Ka Purana Sahyogi Raha Hai To Binaa America K Sathe Rishte Kamjor Kiye Bagair Roos Aur China K Sathe Bhi Bharat Co Apne Rishte Majboot Karne Chahie Jisase Qi Bharat Ek Vaishvik Taakat Bun Skye
Likes  15  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी भारत के लिए किस देश के साथ एक अच्छा संबंध होना जरूरी है मुझे लगता है तीनों के साथ एक अच्छा संबंध होना जरूरी है स्पेशली चाइना के साथ एक अच्छे रिलेशन होना चाहिए कि चाइना हमारा हमसे बाउंड्री शेयर कर...
जवाब पढ़िये
विकी भारत के लिए किस देश के साथ एक अच्छा संबंध होना जरूरी है मुझे लगता है तीनों के साथ एक अच्छा संबंध होना जरूरी है स्पेशली चाइना के साथ एक अच्छे रिलेशन होना चाहिए कि चाइना हमारा हमसे बाउंड्री शेयर करता है और चाइना के लिए इंडिया एक बहुत बड़ा मार्केट है उसके गुड्स के लिए और इंडिया के लिए पीछा ना उतना ही इंपॉर्टेंट है रिलेशन भाई देखा जाए जितना कि चाइना के लिए इंडिया दूसरा रसिया कि अगर बात की जाए तो रशिया से हमारे संबंध बहुत पुराने गए हैं जब रसिया स्पीड नहीं हुआ था जब वह यूएसएसआर था तब से हमारे संबंध 19065 की बात करें 49715 शुरू से हिंदुस्तान की बहुत हेल्प यू एस एस आने की हमारी डिफरेंस बिटवीन के साथ हैं आपको याद होगा सुखोई के बारे में आपको भ्रम उसके बारे में पता होगा तुम्हारे पूरे की मिसाइल सिस्टम एयर डिफेंस सिस्टम में कहीं ना कहीं भारत और रशिया का जॉइंट वेंचर है इसके अलावा अब पैसे की बात कीजिए तो USA से भी हमारे UP संबंध काफी इंप्रूव है पहले उस उस समय नहीं थे जब लिंग बिल क्लिंटन ने एक बार इंडिया पर बैन लगा दे जब इंडिया ने टेस्ट दिया था उसके बाद धीरे-धीरे संबंध दोनों देशों के रूप में वैसे देखा जाए तो तीनों देशों से संबंध अच्छे होने से कोई यह नहीं कह सकता कि किस किस कंट्री से ज्यादा अच्छी है कि खराब होना चाहिएViki Bharat K Lie Kiss Desh K Sathe Ek Accha Sambandh Hona Zaroori Hai Mujhe Lagta Hai Tinon K Sathe Ek Accha Sambandh Hona Zaroori Hai Specially China K Sathe Ek Achchhe Relation Hona Chahie Qi China Hamara Humse Boundary Share Karata Hai Aur China K Lie India Ek Bahut Bada Market Hai Uske Goods K Lie Aur India K Lie Piccha Na Utana Hea Impartent Hai Relation Bhai Dekha Jae Jitna Qi China K Lie India Doosra Russia Qi Agar Baat Ki Jae To Rasia Se Hamare Sambandh Bahut Purane Ge Hain Jab Russia Speed Nahin Hua Thaa Jab Wah USSR Thaa Taba Se Hamare Sambandh 19065 Ki Baat Karein 49715 Shuru Se HINDUSTAN Ki Bahut Help You S S Aane Ki Hamari Difarens Bitvin K Sathe Hain Aapko Youth Hoga Sukhoi K Baare Mein Aapko Bhrama Uske Baare Mein Patta Hoga Tumhare Poore Ki Misail System Air Difens System Mein Kahin Na Kahin Bharat Aur Rasia Ka Joint VENTURE Hai Iske Alaava Aba Paise Ki Baat Kiijiye To USA Se Bhi Hamare UP Sambandh Kaafi Impruv Hai Pehle Oosh Oosh Samay Nahin The Jab Ling Bill Clinton Ne Ek Bar India Per Ban Laga They Jab India Ne Test Diya Thaa Uske Baad Dheere Dheere Sambandh Donon Deshon K Roop Mein Vaise Dekha Jae To Tinon Deshon Se Sambandh Achchhe Hone Se Koi Yeh Nahin Keh Sakta Qi Kiss Kiss Country Se Jyada Achchhee Hai Qi Kharab Hona Chahie
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखी बहुत कठिन सवाल आप ने पूछ लिया है कि भारत के लिए किस देश के साथ संबंध रखना महत्वपूर्ण है इस समय यह कहना चाहूंगी कि अगर हमारे को की बात करें तो जब तक बराक ओबामा थी तब तक रिलेशंस बहुत अच्छे थे और अब...
जवाब पढ़िये
लिखी बहुत कठिन सवाल आप ने पूछ लिया है कि भारत के लिए किस देश के साथ संबंध रखना महत्वपूर्ण है इस समय यह कहना चाहूंगी कि अगर हमारे को की बात करें तो जब तक बराक ओबामा थी तब तक रिलेशंस बहुत अच्छे थे और अब जब ट्रंप आए हैं तो इसके बाद आपने देखा होगा कि कई बार उन्होंने भारत को डिलीट करने की कोशिश की है लेकिन हमारे का एक बहुत ही इंपॉर्टेंट पावर एक बहुत बड़ा डॉक्टर हैं हमारे देश के कमीशन के लिए क्योंकि अपने गांव के बहुत सारे ऐसे इंटरनेशनल सम्मिट है जहां पर हमें अभी जगह नहीं मिल पाई है और उसमें अमेरिका का बहुत बड़ा रोल है चीन के साथ अभी रिसेंटली जो डोकलाम विवाद हुआ है वह हमारे देश में घुसने की कोशिश कर रहे हैं उन्हें सबक सिखाना बहुत जरूरी है रही बात रूस की शुरुआत हमारे साथ बहुत पहले से 1940 से लेकर अब तक रिलेशंस बने हुए हैं हमारा मिलिट्री के जो वेपंस है वह सब रूसी प्रोवाइड करवा रहा है तो सबसे ज्यादा जो हमारे ग्रुप में से भरूच से आते हैं अभी हम उसको सपोर्ट नहीं करेंगे और उसके साथ नहीं होंगे तो वह 50% जो है वह खत्म हो जाएगा और डोनाल्ड ट्रंप का कोई भरोसा नहीं है हमारी कोई भरोसा नहीं है कि वह कभी भी पलट जाए और चीन कभी हमारे साथ था ही नहीं तो मेरे साथ से अगर हमें किसी एक को चुनना ही है तो फिर हम रूस को सुनना चाहिए क्योंकि राष्ट्रीय एक ऐसा देश है जो अब तक साथ रहा है और व्यापार में कमी रही है हम दोनों देशों के बीच में लिखी वह धीरे-धीरे बढ़ रहा है पता मम्मी मिलिट्री वेपन से अपनी 52 किलो पहुंचा डिपेंडेंट हैLikhi Bahut Kathin Sawal Aap Ne Puchh Liya Hai Qi Bharat K Lie Kiss Desh K Sathe Sambandh Rakhna Mahatvapoorn Hai Is Samay Yeh Kahuna Chahungi Qi Agar Hamare Co Ki Baat Karein To Jab Tak Barrack Obama Thi Taba Tak Rileshans Bahut Achchhe The Aur Aba Jab Tramp Ae Hain To Iske Baad Aapne Dekha Hoga Qi Kai Bar Unhonne Bharat Co Delete Karne Ki Koshish Ki Hai Lekin Hamare Ka Ek Bahut Hea Impartent Power Ek Bahut Bada Doctor Hain Hamare Desh K Kamishan K Lie Kyonki Apne Ganv K Bahut Saare Aise International Summit Hai Jhan Per Human Abhi Jagah Nahin Mill Pai Hai Aur Usme America Ka Bahut Bada Roll Hai China K Sathe Abhi Risentali Joe Doklam Vivad Hua Hai Wah Hamare Desh Mein Ghusne Ki Koshish Car Rahe Hain Unhein Sabka Sikhaana Bahut Zaroori Hai Rahi Baat Roos Ki Shuruaat Hamare Sathe Bahut Pehle Se 1940 Se Lycra Aba Tak Rileshans Bane Huye Hain Hamara Militri K Joe Weapons Hai Wah Sub Rausi Provide Karava Raha Hai To Sabse Jyada Joe Hamare Groop Mein Se Bharuch Se Aate Hain Abhi Hum Usko Support Nahin Karenge Aur Uske Sathe Nahin Honge To Wah 50% Joe Hai Wah Khatma Ho Jaaegaa Aur Donald Tramp Ka Koi Bharosa Nahin Hai Hamari Koi Bharosa Nahin Hai Qi Wah Kabhi Bhi Palat Jae Aur China Kabhi Hamare Sathe Thaa Hea Nahin To Mere Sathe Se Agar Human Kisi Ek Co Chunana Hea Hai To Phir Hum Roos Co Sunana Chahie Kyonki Rashtriya Ek Aisa Desh Hai Joe Aba Tak Sathe Raha Hai Aur Vyapar Mein Kami Rahi Hai Hum Donon Deshon K Beach Mein Likhi Wah Dheere Dheere Badh Raha Hai Patta Mummy Militri Weapon Se Apni 52 Kilo Pahuncha Dependent Hai
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वैसे तो अगर देखा जाए तो अमेरिका चीन और रूस तीनों की साथ अगर भारत के संबंध अच्छे हो तो यह काफी अच्छी बात होगी क्योंकि देखिए हम हमारा देश अभी एक घंटा डेवलप मिशन में गिना जाता है और कहीं ना कि वह डेवलपिं...
जवाब पढ़िये
वैसे तो अगर देखा जाए तो अमेरिका चीन और रूस तीनों की साथ अगर भारत के संबंध अच्छे हो तो यह काफी अच्छी बात होगी क्योंकि देखिए हम हमारा देश अभी एक घंटा डेवलप मिशन में गिना जाता है और कहीं ना कि वह डेवलपिंग ऑफिस में चल रहा है विकसित होने की राह पर है तो कहीं ना कहीं होगा अगर आप उसके बड़े-बड़े देशों के साथ जो क्वालिटी डेवलप नेशंस कहे जाते हैं और उनके साथ अगर संबंध अच्छे रहेंगे तो वह काफी जरूरी है लेकिन अगर यह तीनों में से एक को चुनना हो जिसमें अमेरिका चीन और रूस है तो मैं कहूंगी कि हमारे देश को और चाइना को चुनना चाहिए और चाइना के साथ अपने संबंध अच्छी रखनी चाहिए क्योंकि देखिए वैसे तो अमेरिका हमारे देश में सबसे बड़ी कौन भी माना जाता है और डॉलर उसका काफी पॉपुलर है लेकिन अगर हम देखें तो हमारा चेन्नई पर है और कहीं ना कहीं जब भी हमारे देश की किसी और देश के साथ कोई भी दिक्कत होगी तो उसमें चीन हमें हर तरह से सहायता कर सकता है लेकिन हम आकर चीन के साथ एक और दिक्कत है कि चीन और भारत अभी तक जो संबंध देकर जाए तो जीना भारत की काफी अच्छे नहीं रहे हैं तो यह वजह थी एकदम सकती है जिसकी वजह से भारत के संबंध चीन के साथ नहीं बन सकते लेकिन अगर ओवरऑल देखा जाए तो मुझे लगता है कि भारत को चीन के साथ संबंध अच्छे करने चाहिए और अगर चीन और भारत में नहीं बन पा रही है तो अमेरिका के साथ करनी चाहिए क्योंकि हमारे का एक काफी बड़ी कमी है अब काफी मदद कर सकता है भारत को ऊपर उठकर एक विकसित देश बनने के लिएVaise To Agar Dekha Jae To America China Aur Roos Tinon Ki Sathe Agar Bharat K Sambandh Achchhe Ho To Yeh Kaafi Achchhee Baat Hogi Kyonki Dekhiye Hum Hamara Desh Abhi Ek Ghanta Devalap Mission Mein Gina Jaata Hai Aur Kahin Na Qi Wah Developing Office Mein Chal Raha Hai Viksit Hone Ki Raaha Per Hai To Kahin Na Kahin Hoga Agar Aap Uske Bade Bade Deshon K Sathe Joe Quality Devalap Neshans Kahe Jaate Hain Aur Unke Sathe Agar Sambandh Achchhe Rahenge To Wah Kaafi Zaroori Hai Lekin Agar Yeh Tinon Mein Se Ek Co Chunana Ho Jisamein America China Aur Roos Hai To Main Kahungi Qi Hamare Desh Co Aur China Co Chunana Chahie Aur China K Sathe Apne Sambandh Achchhee Rakhni Chahie Kyonki Dekhiye Vaise To America Hamare Desh Mein Sabse Badi Kaun Bhi Mana Jaata Hai Aur Dolor Uska Kaafi Popular Hai Lekin Agar Hum Dekhe To Hamara Chennai Per Hai Aur Kahin Na Kahin Jab Bhi Hamare Desh Ki Kisi Aur Desh K Sathe Koi Bhi Dikkat Hogi To Usme China Human Her Turha Se Sahayata Car Sakta Hai Lekin Hum Aakar China K Sathe Ek Aur Dikkat Hai Qi China Aur Bharat Abhi Tak Joe Sambandh Dekar Jae To Jeena Bharat Ki Kaafi Achchhe Nahin Rahe Hain To Yeh Vajaha Thi Ekdam Sakti Hai Jiskee Vajaha Se Bharat K Sambandh China K Sathe Nahin Bun Sakte Lekin Agar Ovaraal Dekha Jae To Mujhe Lagta Hai Qi Bharat Co China K Sathe Sambandh Achchhe Karne Chahie Aur Agar China Aur Bharat Mein Nahin Bun PA Rahi Hai To America K Sathe Karni Chahie Kyonki Hamare Ka Ek Kaafi Badi Kami Hai Aba Kaafi Madada Car Sakta Hai Bharat Co Upar Uthakar Ek Viksit Desh Banane K Lie
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अचटप रोमांटिक पॉइंट ऑफ व्यू से देखें तो भारत के इन तीनो देशो से संबंध अच्छे होने बहुत जरूरी है अमेरिका से इसलिए क्योंकि वह विश्व का सबसे भाव सी कंट्री है और सब साथ बेनिफिट्स से हो सकता है अमेरिका से अ...
जवाब पढ़िये
अचटप रोमांटिक पॉइंट ऑफ व्यू से देखें तो भारत के इन तीनो देशो से संबंध अच्छे होने बहुत जरूरी है अमेरिका से इसलिए क्योंकि वह विश्व का सबसे भाव सी कंट्री है और सब साथ बेनिफिट्स से हो सकता है अमेरिका से अच्छे संबंध रखें और अपने पड़ोसी के साथ अच्छे संबंध रखना अच्छी बात ही नहीं होती एक तरह से मजबूरी होती है अगर आपके पड़ोसी के साथ आपके संबंध अच्छे नहीं है तो आपकी जिंदगी है सच मुझ पर बात हो सकती है और रशिया से इतनी जरूरी है क्योंकि रसिया जो है वह बहुत पावरफुल कंट्री में आता है इस रात में और उसके विभिन्न सरकारी सबसे ज्यादा भारत वहीं से मंगवाता है इंपोर्ट करता है तो इसमें रसिया की मिलिट्री बहुत बड़ी है और भारत को काफी सपोर्ट मिलेगा रे चला मेरे हिसाब से इन तीनों से अच्छे संबंध रखना भारत के लिए बहुत जरूरी हैAchatap Romantik Point Of View Se Dekhe To Bharat K In Tino Desho Se Sambandh Achchhe Hone Bahut Zaroori Hai America Se Eeslie Kyonki Wah Vishwa Ka Sabse Bhaw C Country Hai Aur Sub Sathe Benefits Se Ho Sakta Hai America Se Achchhe Sambandh Rekhain Aur Apne Padosi K Sathe Achchhe Sambandh Rakhna Achchhee Baat Hea Nahin Hoti Ek Turha Se Mazbooree Hoti Hai Agar Aapke Padosi K Sathe Aapke Sambandh Achchhe Nahin Hai To Aapki Jindagi Hai Such Mujh Per Baat Ho Sakti Hai Aur Rasia Se Itni Zaroori Hai Kyonki Russia Joe Hai Wah Bahut Powerful Country Mein Aata Hai Is Raat Mein Aur Uske Vibhinn Sarkari Sabse Jyada Bharat Vahin Se Mangavata Hai Import Karata Hai To Ismein Russia Ki Militri Bahut Badi Hai Aur Bharat Co Kaafi Support Milega Ray Challa Mere Hisaab Se In Tinon Se Achchhe Sambandh Rakhna Bharat K Lie Bahut Zaroori Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिजेंदर भारत चीन और रूस की बात की जाए तो तीनो ही बहुत ज्यादा डेवलप्ड कंट्री है और रही बात रिलेशनशिप की तो मुझे लगता है कि तीनों के साथ रिलेशनशिप रखना बहुत जरूरी है भारत को फायदा ही होगा कि अगर उनके रि...
जवाब पढ़िये
बिजेंदर भारत चीन और रूस की बात की जाए तो तीनो ही बहुत ज्यादा डेवलप्ड कंट्री है और रही बात रिलेशनशिप की तो मुझे लगता है कि तीनों के साथ रिलेशनशिप रखना बहुत जरूरी है भारत को फायदा ही होगा कि अगर उनके रिलेशन तीनों के साथ अच्छे होंगे तो सबसे पहले अगर हम बात करें चाइना की तो देखिए चाइना सबसे पहले हमारा पड़ोसी देश है इंडिया के साथ बॉर्डर शेर होते हैं हालांकि बीच में काफी लड़कियां चली है चाइना और इंडिया के बीच में बॉर्डर को लेकर और भी बहुत सारी चीजें घुसपैठियों रही थी लेकिन मुझे लगता है कि किसी भी कंट्री के लेकिन अगर अपने आसपास की कंट्री से ज्यादा मजबूत होंगे तो कहीं ना कहीं कंट्री को फायदा होता है तो इंडिया को चाइना से रिलेशन अच्छे रखने चाही सबके साथ चाइना का इंडिया से मार्केट काफी एक्सीडेंट हो रहा है और काफी ऑलरेडी है तो कहीं ना कहीं भी बहुत जरूरी है उसके बाद बात कर अमेरिका की तो देखिए अमेरिका के इंडिया के रिलेशन इस समय काफी ज्यादा बढ़ चुके हैं अच्छे रिलेशन है और अमेरिका अच्छे रखना भारत के लिए बहुत जरूरी है बहुत सारी बातों में अभी से बात करते हैं और उसकी तो देखे रूप से तो बहुत जरूरी अगर एक ही चॉइस होना इसमें सेलेक्ट कर रहा हूं कि किस कंट्री के साथ इंडिया को सबसे अच्छे रिलेशन रखना चाहिए अगर 124 तुम्हें रूस की बात करूंगा किसी रोज आकर भारत के जो रिश्ते हैं अनोखे रिश्ते वह आज के लिए काफी सालों से हैं और रूस एक ऐसी कंट्री है जिसने भारत की आजादी से पहले भी भारत का साथ दिया भारत की आजादी के बाद भी और हमेशा साथ दिया कर आप 1971 की बात करें तब भी साथ दिया और हमेशा साथ दिया और भैंस की डील के मामले में भी रुप से लगभग 62 परसेंट भारत सामान इंपोर्ट करते हो सारी चीजें हैं तो अगर तीनो बात की जाए तो मुझे लगता रसिया से ज्यादा इंपोर्टेंस इंपॉर्टेंस रखनी चाहिएBijendar Bharat China Aur Roos Ki Baat Ki Jae To Tino Hea Bahut Jyada Devalapd Country Hai Aur Rahi Baat Relationship Ki To Mujhe Lagta Hai Qi Tinon K Sathe Relationship Rakhna Bahut Zaroori Hai Bharat Co Fayda Hea Hoga Qi Agar Unke Relation Tinon K Sathe Achchhe Honge To Sabse Pehle Agar Hum Baat Karein China Ki To Dekhiye China Sabse Pehle Hamara Padosi Desh Hai India K Sathe Border Sher Hote Hain Halanki Beach Mein Kaafi Ladkiyan Chali Hai China Aur India K Beach Mein Border Co Lycra Aur Bhi Bahut Sari Chijen Ghuspaithiyon Rahi Thi Lekin Mujhe Lagta Hai Qi Kisi Bhi Country K Lekin Agar Apne Aaspass Ki Country Se Jyada Majboot Honge To Kahin Na Kahin Country Co Fayda Hota Hai To India Co China Se Relation Achchhe Rakhne Chahi Sabake Sathe China Ka India Se Market Kaafi Eksident Ho Raha Hai Aur Kaafi Already Hai To Kahin Na Kahin Bhi Bahut Zaroori Hai Uske Baad Baat Car America Ki To Dekhiye America K India K Relation Is Samay Kaafi Jyada Badh Chuke Hain Achchhe Relation Hai Aur America Achchhe Rakhna Bharat K Lie Bahut Zaroori Hai Bahut Sari Baaton Mein Abhi Se Baat Karte Hain Aur Uski To Dekhe Roop Se To Bahut Zaroori Agar Ek Hea Choice Hona Ismein Select Car Raha Hoon Qi Kiss Country K Sathe India Co Sabse Achchhe Relation Rakhna Chahie Agar 124 Tumhe Roos Ki Baat Karunga Kisi Roj Aakar Bharat K Joe Rishte Hain Anokhe Rishte Wah Aj K Lie Kaafi Saulon Se Hain Aur Roos Ek Aisi Country Hai Jisne Bharat Ki Aazadi Se Pehle Bhi Bharat Ka Sathe Diya Bharat Ki Aazadi K Baad Bhi Aur Hamesha Sathe Diya Car Aap 1971 Ki Baat Karein Taba Bhi Sathe Diya Aur Hamesha Sathe Diya Aur Bhains Ki Deal K Mamle Mein Bhi Rup Se Lagbhag 62 Parsent Bharat Saamaan Import Karte Ho Sari Chijen Hain To Agar Tino Baat Ki Jae To Mujhe Lagta Russia Se Jyada Importens Impartens Rakhni Chahie
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे कोई भी देश का अच्छा संबंध जो सभी देशों के सामने चीन और रूस का संबंध बनाए थे उसकी उन्नति को रोकने का प्रयास प्रयास करता है उसी की वजह से ही तीनो देश भारत का उपयोग कर रहे हैं विशेष तौर पर अमेरिका औ...
जवाब पढ़िये
मुझे कोई भी देश का अच्छा संबंध जो सभी देशों के सामने चीन और रूस का संबंध बनाए थे उसकी उन्नति को रोकने का प्रयास प्रयास करता है उसी की वजह से ही तीनो देश भारत का उपयोग कर रहे हैं विशेष तौर पर अमेरिका और की जाने जानता है भारत एक भारतीय अर्थव्यवस्था है बढ़ती हुई जनसंख्या है भारत में रिसोर्सेस की कमी नहीं है कमी है तो वहां की मेंटलिटी कि हमारे देश की राजनीति की जिसकी वजह से देश बर्बाद हो रहा है उसी के लिए चीन पाकिस्तान को भड़का कि हमारे खिलाफ षड्यंत्र रचना वही अमेरिका भारत का फायदा उठाते हुए उसकी कमजोर नस को पकड़ते हुए उसकी दोस्ती का साथ निभाने का नाटक करते हुए उसका फायदा उठा रहा है नाम रीता जी को साथ नहीं हमारे देश मेंMujhe Koi Bhi Desh Ka Accha Sambandh Joe Sabhi Deshon K Samne China Aur Roos Ka Sambandh Banae The Uski Unnati Co Rokne Ka Prayas Prayas Karata Hai Ussi Ki Vajaha Se Hea Tino Desh Bharat Ka Upyog Car Rahe Hain Vishesh Taur Per America Aur Ki Jane Jaanta Hai Bharat Ek Bhartiya Arthavyavastha Hai Badhati Hue Jansankhya Hai Bharat Mein Resources Ki Kami Nahin Hai Kami Hai To Vahan Ki Mentaliti Qi Hamare Desh Ki Rajniti Ki Jiskee Vajaha Se Desh Barbad Ho Raha Hai Ussi K Lie China Pakistan Co Bhadaka Qi Hamare Khilaf Shadyantra Rachna Whey America Bharat Ka Fayda Uthaate Huye Uski Kamjor Nes Co Pakdate Huye Uski Dosti Ka Sathe Nibhane Ka Natak Karte Huye Uska Fayda Utha Raha Hai Naam Rita G Co Sathe Nahin Hamare Desh Mein
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Bharat Ke Liye Kis Desh Ke Saath Ek Accha Sambandh Hona Zaruri Hai America China Ya Rus Aur Kyon

vokalandroid