search_iconmic
leaderboard
notify
हिंदी
leaderboard
notify
हिंदी
जवाब दें

क्या दिल्ली में आतिशबाजी पर प्रतिबंध वास्तव में प्रदूषण से बचने में मदद करता है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां आतिशबाजी से बहुत ज्यादा प्रदूषण होता है दिल्ली सबसे प्रदूषित शहर में इसके प्रतिबंध से प्रदूषण से बचने में मदद तो अवश्य ही मिलेगी आतिशबाजी इतनी जरूरी भी नहीं है वह सिर्फ हम अपनी खुशियों को जाहिर करने के लिए जलाते हैं तो उन्हें जाहिर करने के कई और भी तरीके उपयोग में लाए जा सकते हैं
Romanized Version
जी हां आतिशबाजी से बहुत ज्यादा प्रदूषण होता है दिल्ली सबसे प्रदूषित शहर में इसके प्रतिबंध से प्रदूषण से बचने में मदद तो अवश्य ही मिलेगी आतिशबाजी इतनी जरूरी भी नहीं है वह सिर्फ हम अपनी खुशियों को जाहिर करने के लिए जलाते हैं तो उन्हें जाहिर करने के कई और भी तरीके उपयोग में लाए जा सकते हैंJi Haan Aatishabaji Se Bahut Jyada Pradushan Hota Hai Delhi Sabse Pradushit Sheher Mein Iske Pratibandh Se Pradushan Se Bachane Mein Madad To Avashya Hi Milegi Aatishabaji Itni Zaroori Bhi Nahi Hai Wah Sirf Hum Apni Khushiyon Ko Jaahir Karne Ke Liye Jalate Hain To Unhen Jaahir Karne Ke Kai Aur Bhi Tarike Upyog Mein Laye Ja Sakte Hain
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिए😊

ऐसे और सवाल

ques_icon

ques_icon

ques_icon

ques_icon

ques_icon

ques_icon

अधिक जवाब


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आतिशबाजी पर अगर प्रतिबंध लगाया जाता है दिल्ली में तो यह वहां के लोगों के लिए काफी अच्छा होगा क्योंकि जब भी कोई आतिशबाजी करता है पटाखे जलाता है तो उसे बहुत सारा धुवा निकलता है जो आप प्रदूषण में और एडिशन कर देता है क्योंकि दिल्ली में पहले से ही बहुत ज्यादा प्रदूषण है गाड़ियों के वजह से फैक्ट्री इसके वजह से तो अगर पटाखे ना जलाए जाएंगे तो इसमें प्रदूषण में और भी भारी इजाफा हो जाएगा तो इसी के मद्देनजर पिछले दिवाली पर वहां पर पटाखों पर प्रतिबंध लगा दिया गया था लेकिन अभी नए साल पर ऐसा कोई भी प्रतिबंध नहीं लगाया गया जिससे प्रदूषण थोड़ा बड़ाई है तो दिल्ली में खासतौर पर पटाखों पर प्रतिबंध पूर्ण रुप से लगा देना चाहिए क्योंकि वहां की जनता प्रदूषण से काफी परेशान हो चुकी है
Romanized Version
आतिशबाजी पर अगर प्रतिबंध लगाया जाता है दिल्ली में तो यह वहां के लोगों के लिए काफी अच्छा होगा क्योंकि जब भी कोई आतिशबाजी करता है पटाखे जलाता है तो उसे बहुत सारा धुवा निकलता है जो आप प्रदूषण में और एडिशन कर देता है क्योंकि दिल्ली में पहले से ही बहुत ज्यादा प्रदूषण है गाड़ियों के वजह से फैक्ट्री इसके वजह से तो अगर पटाखे ना जलाए जाएंगे तो इसमें प्रदूषण में और भी भारी इजाफा हो जाएगा तो इसी के मद्देनजर पिछले दिवाली पर वहां पर पटाखों पर प्रतिबंध लगा दिया गया था लेकिन अभी नए साल पर ऐसा कोई भी प्रतिबंध नहीं लगाया गया जिससे प्रदूषण थोड़ा बड़ाई है तो दिल्ली में खासतौर पर पटाखों पर प्रतिबंध पूर्ण रुप से लगा देना चाहिए क्योंकि वहां की जनता प्रदूषण से काफी परेशान हो चुकी हैAatishabaji Par Agar Pratibandh Lagaya Jata Hai Delhi Mein To Yeh Wahan Ke Logon Ke Liye Kafi Accha Hoga Kyonki Jab Bhi Koi Aatishabaji Karta Hai Patakhe Jalata Hai To Use Bahut Saara Dhuva Nikalta Hai Jo Aap Pradushan Mein Aur Edition Kar Deta Hai Kyonki Delhi Mein Pehle Se Hi Bahut Jyada Pradushan Hai Gadiyon Ke Wajah Se Factory Iske Wajah Se To Agar Patakhe Na Jalaae Jaenge To Isme Pradushan Mein Aur Bhi Bhari Ijafa Ho Jayega To Isi Ke Maddenajar Pichle Diwali Par Wahan Par Patakhon Par Pratibandh Laga Diya Gaya Tha Lekin Abhi Naye Saal Par Aisa Koi Bhi Pratibandh Nahi Lagaya Gaya Jisse Pradushan Thoda Badhai Hai To Delhi Mein Khaastaur Par Patakhon Par Pratibandh Poorn Roop Se Laga Dena Chahiye Kyonki Wahan Ki Janta Pradushan Se Kafi Pareshan Ho Chuki Hai
Likes  14  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे पहली बात तो यह है कि दिल्ली सरकार ने जो प्रतिबंध लगाया था वह आतिशबाजी पर नहीं लगाया था वहां पर जो बम के जितने भी डिस्ट्रीब्यूटर्स थे जितने भी पॉइंट जहां से बोल बेचे जाते हैं यानी विस्फोटक जो सामान है बेचा जाता है उसे प्रतिबंध लगाया था दूसरी बात अगर कभी दिल्ली में आतिशबाजी पर प्रतिबंध लगाया जाता है तो बेशक से फायदा होने वाला है क्योंकि आप देखेंगे यहां कई हद तक का फायदा होगा मैं नहीं कह रहा कि बिल्कुल प्रदूषण खत्म हो जाएगा लेकिन आप जब प्रतिबंध लगाते हैं तो उस को उस तरह से अप्लाई करना बहुत मुश्किल हो जाता है क्योंकि इन लोगों की सोच बदलने की जरूरत है तो मुझे यह लगता है कि आतिशबाजी पर प्रतिबंध लगाने से प्रदूषण से बचने में मदद मिलेगी लेकिन उसी के साथ साथ थोड़ा सा अभियान जागरूकता के चलाने चाहिए जिसमें इंसान को बताया जाए कि इस तरह से जो है परेशानी हो रही है क्योंकि जब तक इंसान के जहन में यह बात नहीं आएगी क्या हालत है जब तक मेरे ख्याल से से बचना बड़ा मुश्किल है तो
Romanized Version
देखे पहली बात तो यह है कि दिल्ली सरकार ने जो प्रतिबंध लगाया था वह आतिशबाजी पर नहीं लगाया था वहां पर जो बम के जितने भी डिस्ट्रीब्यूटर्स थे जितने भी पॉइंट जहां से बोल बेचे जाते हैं यानी विस्फोटक जो सामान है बेचा जाता है उसे प्रतिबंध लगाया था दूसरी बात अगर कभी दिल्ली में आतिशबाजी पर प्रतिबंध लगाया जाता है तो बेशक से फायदा होने वाला है क्योंकि आप देखेंगे यहां कई हद तक का फायदा होगा मैं नहीं कह रहा कि बिल्कुल प्रदूषण खत्म हो जाएगा लेकिन आप जब प्रतिबंध लगाते हैं तो उस को उस तरह से अप्लाई करना बहुत मुश्किल हो जाता है क्योंकि इन लोगों की सोच बदलने की जरूरत है तो मुझे यह लगता है कि आतिशबाजी पर प्रतिबंध लगाने से प्रदूषण से बचने में मदद मिलेगी लेकिन उसी के साथ साथ थोड़ा सा अभियान जागरूकता के चलाने चाहिए जिसमें इंसान को बताया जाए कि इस तरह से जो है परेशानी हो रही है क्योंकि जब तक इंसान के जहन में यह बात नहीं आएगी क्या हालत है जब तक मेरे ख्याल से से बचना बड़ा मुश्किल है तोDekhe Pehli Baat To Yeh Hai Ki Delhi Sarkar Ne Jo Pratibandh Lagaya Tha Wah Aatishabaji Par Nahi Lagaya Tha Wahan Par Jo Bomb Ke Jitne Bhi Distribyutars The Jitne Bhi Point Jahan Se Bol Beche Jaate Hain Yani Vishphotak Jo Saamaan Hai Becha Jata Hai Use Pratibandh Lagaya Tha Dusri Baat Agar Kabhi Delhi Mein Aatishabaji Par Pratibandh Lagaya Jata Hai To Beshak Se Fayda Hone Wala Hai Kyonki Aap Dekhenge Yahan Kai Had Tak Ka Fayda Hoga Main Nahi Keh Raha Ki Bilkul Pradushan Khatam Ho Jayega Lekin Aap Jab Pratibandh Lagate Hain To Us Ko Us Tarah Se Apply Karna Bahut Mushkil Ho Jata Hai Kyonki In Logon Ki Soch Badalne Ki Zaroorat Hai To Mujhe Yeh Lagta Hai Ki Aatishabaji Par Pratibandh Lagane Se Pradushan Se Bachane Mein Madad Milegi Lekin Ussi Ke Saath Saath Thoda Sa Abhiyan Jagrukta Ke Chalane Chahiye Jisme Insaan Ko Bataya Jaye Ki Is Tarah Se Jo Hai Pareshani Ho Rahi Hai Kyonki Jab Tak Insaan Ke Zahn Mein Yeh Baat Nahi Aayegi Kya Halat Hai Jab Tak Mere Khayal Se Se Bachana Bada Mushkil Hai To
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हम जरूरी नहीं कर रहा है तू आता है गाड़ियां चलाने वाले नंबर कितने पर प्रतिबंध लगाना चाहिए क्योंकि कैसा है किसी इंडिया क्रिकेट मैच जीत गए हो इस बात पर भी हम लोगों को अभी तक सो रहे हो यह हमारी जिम्मेदारी को सपोर्ट करने लगता है इसे जरूर कम होगा प्रदूषण
Romanized Version
जी हम जरूरी नहीं कर रहा है तू आता है गाड़ियां चलाने वाले नंबर कितने पर प्रतिबंध लगाना चाहिए क्योंकि कैसा है किसी इंडिया क्रिकेट मैच जीत गए हो इस बात पर भी हम लोगों को अभी तक सो रहे हो यह हमारी जिम्मेदारी को सपोर्ट करने लगता है इसे जरूर कम होगा प्रदूषणJi Hum Zaroori Nahi Kar Raha Hai Tu Aata Hai Gadiyan Chalane Wale Number Kitne Par Pratibandh Lagana Chahiye Kyonki Kaisa Hai Kisi India Cricket Match Jeet Gaye Ho Is Baat Par Bhi Hum Logon Ko Abhi Tak So Rahe Ho Yeh Hamari Jimmedari Ko Support Karne Lagta Hai Ise Jarur Kum Hoga Pradushan
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी आतिशबाजी से पोलूशन तो बहुत ज्यादा होता है यह आप भी मानेंगे और यह जो प्रतिबंध है यह दिवाली के समय लगाया गया था क्योंकि दिवाली के समय दिल्ली में पापुलेशन हो जाता है कि लोग कई दिनों तक सांस भी नहीं ले पाते उसके बाद से लेकिन सिर्फ दिल्ली में प्रतिबंध लगा कर या यह बालम घाघरा पोलूशन कम कर देंगे सोच तो गलत है लेकिन बहुत अच्छी बात है कि पटाखों पर आतिशबाजी पर बैन लगाया गया वह लोगों की सेहत को ध्यान में रखते हुए ही लगाया गया है लेकिन आप इतना काफी नहीं है बाकी जो उस दिन से पियवा करो यूनियन टेरिटरीज है बाकी शहर है वहां पर भी इस जवान को employee करने की जरूरत है लेकिन हां जो दिल्ली में जो एक राक्षस के ऊपर बाल लगाया गया था इसे जरूर कुछ पसंद पोलूशन कम हुआ काम नहीं हुआ तो इनक्रीस और पढ़ा तो नहीं ना तू एक अच्छी पहल थी और इसे बाकी शहरों में बाकी राज्यों में भी करना चाहिए
Romanized Version
देखी आतिशबाजी से पोलूशन तो बहुत ज्यादा होता है यह आप भी मानेंगे और यह जो प्रतिबंध है यह दिवाली के समय लगाया गया था क्योंकि दिवाली के समय दिल्ली में पापुलेशन हो जाता है कि लोग कई दिनों तक सांस भी नहीं ले पाते उसके बाद से लेकिन सिर्फ दिल्ली में प्रतिबंध लगा कर या यह बालम घाघरा पोलूशन कम कर देंगे सोच तो गलत है लेकिन बहुत अच्छी बात है कि पटाखों पर आतिशबाजी पर बैन लगाया गया वह लोगों की सेहत को ध्यान में रखते हुए ही लगाया गया है लेकिन आप इतना काफी नहीं है बाकी जो उस दिन से पियवा करो यूनियन टेरिटरीज है बाकी शहर है वहां पर भी इस जवान को employee करने की जरूरत है लेकिन हां जो दिल्ली में जो एक राक्षस के ऊपर बाल लगाया गया था इसे जरूर कुछ पसंद पोलूशन कम हुआ काम नहीं हुआ तो इनक्रीस और पढ़ा तो नहीं ना तू एक अच्छी पहल थी और इसे बाकी शहरों में बाकी राज्यों में भी करना चाहिएDekhi Aatishabaji Se Pollution To Bahut Jyada Hota Hai Yeh Aap Bhi Maneange Aur Yeh Jo Pratibandh Hai Yeh Diwali Ke Samay Lagaya Gaya Tha Kyonki Diwali Ke Samay Delhi Mein Population Ho Jata Hai Ki Log Kai Dinon Tak Saans Bhi Nahi Le Paate Uske Baad Se Lekin Sirf Delhi Mein Pratibandh Laga Kar Ya Yeh Balm Ghaghara Pollution Kum Kar Denge Soch To Galat Hai Lekin Bahut Acchi Baat Hai Ki Patakhon Par Aatishabaji Par Ban Lagaya Gaya Wah Logon Ki Sehat Ko Dhyan Mein Rakhate Hue Hi Lagaya Gaya Hai Lekin Aap Itna Kafi Nahi Hai Baki Jo Us Din Se Piyava Karo Union Teritrij Hai Baki Sheher Hai Wahan Par Bhi Is Jawaan Ko Employee Karne Ki Zaroorat Hai Lekin Haan Jo Delhi Mein Jo Ek Rakshas Ke Upar Baal Lagaya Gaya Tha Ise Jarur Kuch Pasand Pollution Kum Hua Kaam Nahi Hua To Increase Aur Padha To Nahi Na Tu Ek Acchi Pahal Thi Aur Ise Baki Shaharon Mein Baki Rajyo Mein Bhi Karna Chahiye
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां दिल्ली में आतिशबाजी पर प्रतिबंध वास्तव में प्रदूषण से बचने में मदद करता है क्योंकि जैसा कि हम जानते हैं या दिल्ली में अभी कुछ दिन पहले ही इतनी बुरी हालत हो गई थी कि आप को हर जगह स्मॉग देखने को मिल रही थी लोग सांस नहीं ले पा रहे थे लोगों का जीना दुर्भर हो गया था हमें दो देखने को नहीं मिल रही थी वहां पर पूरा दिल्ली स्मॉग से पूरा कर चुका था तू अगर ऐसे में आतिशबाजी पर प्रतिबंध लगाया जाता है तो कहीं ना कहीं थोड़ी बहुत - जरूर आएगा पल्यूशन पर और लोगों को चैन की सांस लेने मिलेगी तो अगर प्रतिबंध लगाया है तू बहुत ही सही लगा है और आगे चलकर हमें दिल्ली में अच्छी एयर की सुविधा मिलेगी इससे अच्छा और 400 तक हो सकता है क्योंकि दिल्ली की स्मार्ट बहुत ही बुरी होती जा रही है लोगों को उससे बहुत ही हानि होगी तो प्रतिबंध लगा कर आतंकवादी पर दिल्ली में प्रदूषण से बचा जा सकता है
Romanized Version
जी हां दिल्ली में आतिशबाजी पर प्रतिबंध वास्तव में प्रदूषण से बचने में मदद करता है क्योंकि जैसा कि हम जानते हैं या दिल्ली में अभी कुछ दिन पहले ही इतनी बुरी हालत हो गई थी कि आप को हर जगह स्मॉग देखने को मिल रही थी लोग सांस नहीं ले पा रहे थे लोगों का जीना दुर्भर हो गया था हमें दो देखने को नहीं मिल रही थी वहां पर पूरा दिल्ली स्मॉग से पूरा कर चुका था तू अगर ऐसे में आतिशबाजी पर प्रतिबंध लगाया जाता है तो कहीं ना कहीं थोड़ी बहुत - जरूर आएगा पल्यूशन पर और लोगों को चैन की सांस लेने मिलेगी तो अगर प्रतिबंध लगाया है तू बहुत ही सही लगा है और आगे चलकर हमें दिल्ली में अच्छी एयर की सुविधा मिलेगी इससे अच्छा और 400 तक हो सकता है क्योंकि दिल्ली की स्मार्ट बहुत ही बुरी होती जा रही है लोगों को उससे बहुत ही हानि होगी तो प्रतिबंध लगा कर आतंकवादी पर दिल्ली में प्रदूषण से बचा जा सकता हैJi Haan Delhi Mein Aatishabaji Par Pratibandh Vaastav Mein Pradushan Se Bachane Mein Madad Karta Hai Kyonki Jaisa Ki Hum Jante Hain Ya Delhi Mein Abhi Kuch Din Pehle Hi Itni Buri Halat Ho Gayi Thi Ki Aap Ko Har Jagah Smog Dekhne Ko Mil Rahi Thi Log Saans Nahi Le Pa Rahe The Logon Ka Jeena Durbhar Ho Gaya Tha Hume Do Dekhne Ko Nahi Mil Rahi Thi Wahan Par Pura Delhi Smog Se Pura Kar Chuka Tha Tu Agar Aise Mein Aatishabaji Par Pratibandh Lagaya Jata Hai To Kahin Na Kahin Thodi Bahut - Jarur Aayega Palyushan Par Aur Logon Ko Chain Ki Saans Lene Milegi To Agar Pratibandh Lagaya Hai Tu Bahut Hi Sahi Laga Hai Aur Aage Chalkar Hume Delhi Mein Acchi Air Ki Suvidha Milegi Isse Accha Aur 400 Tak Ho Sakta Hai Kyonki Delhi Ki Smart Bahut Hi Buri Hoti Ja Rahi Hai Logon Ko Usse Bahut Hi Hani Hogi To Pratibandh Laga Kar Aatankwadi Par Delhi Mein Pradushan Se Bacha Ja Sakta Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Kya Delhi Mein Aatishabaji Par Pratibandh Vaastav Mein Pradushan Se Bachne Mein Madad Karta Hai,Does The Ban On Fireworks In Delhi Really Help To Avoid Pollution?,


vokalandroid