माँ बाप की ऐसी क्या मजबूरी होती है की वो अपने बच्चों का बाल विवाह करा देते हैं? ...

Likes  0  Dislikes

5 Answers


जवाब पढ़िये
बाल विवाह का सबसे मुख्य कारण मेरे हिसाब से तो एजुकेशन की कमी है| जो लोग ज्यादा पढ़े लिखे नहीं होते हैं और उन्हें बाल विवाह के बारे में कोई भी जानकारी नहीं है कि इसके दुष्परिणाम क्या होते हैं? वही लोग बाल विवाह को बढ़ावा देते हैं और कई ऐसी परंपराएं भी हमारे देश में चली आ रही है जहां पर बालविवाह करवाया जाता है| बच्चे जब पैदा होते हैं तभी उनका विवाह किससे होगा? यह पहले से ही तय हो जाता है| तो जो व्यक्ति पढ़ा लिखा है या एजुकेटेड है, अच्छे सारी चीजें वह जानता है, वह बाल विवाह को कभी भी सपोर्ट नहीं करेगा| तो अगर हमें भी अपने देश से बालविवाह जैसी कुप्रथा को हटाना है तो सबसे पहले यह जरूरी है कि लोगों को एजुकेट किया जाए, खास करके गांव के लोगों को| हम देखते हैं कि गांव में बाल विवाह की समस्या ज्यादा है, अगर कंपेयर की जाए शहरों से| तो गांव में एजुकेशन का स्तर सरकार को काफी ज्यादा बढ़ाने की जरूरत है और लोगों को यह बताने की जरूरत है कि बाल विवाह एक अच्छी प्रथा नहीं है और इसे हमें बंद कर देना चाहिए| और गांव वालों को यह भी पता नहीं रहता है कि बाल विवाह करना एक कानूनन अपराध है और उन्हें इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि वह कानून को तोड़ रहे हैं|Baal Vivah Ka Sabse Mukhya Kaaran Mere Hisab Se To Education Ki Kami Hai Jo Log Jyada Padhe Likhe Nahi Hote Hain Aur Unhen Baal Vivah Ke Baare Mein Koi Bhi Jankari Nahi Hai Ki Iske Dushparinaam Kya Hote Hain Wahi Log Baal Vivah Ko Badhawa Dete Hain Aur Kai Aisi Paramparaen Bhi Hamare Desh Mein Chali Aa Rahi Hai Jahan Par Baalvivaah Karvaya Jata Hai Bacche Jab Paida Hote Hain Tabhi Unka Vivah Kisse Hoga Yeh Pehle Se Hi Tay Ho Jata Hai To Jo Vyakti Padha Likha Hai Ya Educated Hai Acche Saree Cheezen Wah Jaanta Hai Wah Baal Vivah Ko Kabhi Bhi Support Nahi Karega To Agar Hume Bhi Apne Desh Se Baalvivaah Jaisi Kupratha Ko Hatana Hai To Sabse Pehle Yeh Zaroori Hai Ki Logon Ko Educate Kiya Jaye Khas Karke Gav Ke Logon Ko Hum Dekhte Hain Ki Gav Mein Baal Vivah Ki Samasya Jyada Hai Agar Kampeyar Ki Jaye Shaharon Se To Gav Mein Education Ka Sthar Sarkar Ko Kafi Jyada Badhane Ki Zaroorat Hai Aur Logon Ko Yeh Batane Ki Zaroorat Hai Ki Baal Vivah Ek Acchi Pratha Nahi Hai Aur Ise Hume Band Kar Dena Chahiye Aur Gav Walon Ko Yeh Bhi Pata Nahi Rehta Hai Ki Baal Vivah Karna Ek Kanunan Apradh Hai Aur Unhen Is Baat Se Koi Fark Nahi Padata Ki Wah Kanoon Ko Tod Rahe Hain
Likes  36  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए

0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


जवाब पढ़िये
बाल विवाह एक ऐसा वाक्य जिसमें हमारे भारत को बहुत बुरी तरह से झगड़ा हुआ है उसको जल्दी से जल्दी खत्म कर देना चाहिए इसके पीछे कई सारे कारण है आपको मैं कारण 191 बताने वाला हूं पहला का पता है कुछ लोग ट्रेडिशन को फॉलो करते थे सागर में राजस्थान कि मानो और ऐसी कोई जगह है भारत में जो लोग अपने ट्रेडिशन को संस्कृति को फॉलो करते हैं वह तो बोलो इसीलिए बालिका कर देते हैं अगर मालू वालियों नहीं करते तो उनको इस एक्टर की हमारी संस्कृति में का उल्लंघन हो रहा है दूसरी चीज कुछ लोग लड़कियों को वह मानते हैं भूत मानते हैं पर मानते हैं तो उनको ऐसा लगता की शादी जल्दी जल्दी कर दीजिए हमारा वजन कम हो जाए तीसरी चीज आपको पता है आजकल इन सिक्योरिटी रोमांस की बहुत ज्यादा हो गई है आजकल हरासमेंट बहुत होने लगा है आजकल यह फिल्म होने लगी है लड़कियों की फैमिली क्योंकि उनको लगता है कि हमारी लड़की शादी से पहले ही कुछ उसके साथ कुछ हो नहीं जाए तो बोलो उसे इसकी जल्दी से जल्दी शादी करें और उसको सेव करें तो तीसरा कारण यह भी हो छोटी चीज आपको पता है कुछ लोग शादी करते हैं क्योंकि उनको लगता है कि जल्दी से लड़की की शादी करने से हम लोगों को दहेज कम देना पड़ेगा और लड़की कम पढ़ी लिखी होगी और जल्दी कमीज की होगी तो हमें दज कर देना पड़ेगा अगला रिजल्ट आपको बताया कोई फेमली है आज भी कुछ उसके घर में एक या दो लड़की है अगर उनके पास पैसे नहीं है तो उसकी शादी कर दें ताकि हमारी फैमिली में कम से कम एक लड़की तो कम होगी एक नंबर से कम होगा और और हमारे दो बच्चे लड़के बच्चे हम उन पर ज्यादा अच्छे से पढ़ाई लिखाई और उससे ज्यादा पैसा खर्च कर सकेंगे तो वह शादी कर देता है और इसकी और और क्या कारण है यह कारण आपको पता है जब लड़की की मेंसुरेशन साइकिल चालू हो जाती है आज भी आज भी यह रियल सट्टे की कुछ गांव में यह माना जाता है जब भी लड़की की मेंसुरेशन साइकिल चालू हो जाती है तो उनको लगता है कि लड़कियां वूमेन बन चुकी है तो ऐसे कई सारे कारण हैBaal Vivah Ek Aisa Vaakya Jisme Hamare Bharat Ko Bahut Buri Tarah Se Jhagda Hua Hai Usko Jaldi Se Jaldi Khatam Kar Dena Chahiye Iske Piche Kai Sare Kaaran Hai Aapko Main Kaaran 191 Batane Wala Hoon Pehla Ka Pata Hai Kuch Log Tradition Ko Follow Karte The Sagar Mein Rajasthan Ki Maano Aur Aisi Koi Jagah Hai Bharat Mein Jo Log Apne Tradition Ko Sanskriti Ko Follow Karte Hain Wah To Bolo Isliye Balika Kar Dete Hain Agar Malu Valiyon Nahi Karte To Unko Is Actor Ki Hamari Sanskriti Mein Ka Ullanghan Ho Raha Hai Dusri Cheez Kuch Log Ladkiyon Ko Wah Manate Hain Bhoot Manate Hain Par Manate Hain To Unko Aisa Lagta Ki Shadi Jaldi Jaldi Kar Dijiye Hamara Wajan Kum Ho Jaye Teesri Cheez Aapko Pata Hai Aajkal In Security Romance Ki Bahut Jyada Ho Gayi Hai Aajkal Harasment Bahut Hone Laga Hai Aajkal Yeh Film Hone Lagi Hai Ladkiyon Ki Family Kyonki Unko Lagta Hai Ki Hamari Ladki Shadi Se Pehle Hi Kuch Uske Saath Kuch Ho Nahi Jaye To Bolo Use Iski Jaldi Se Jaldi Shadi Karen Aur Usko Save Karen To Teesra Kaaran Yeh Bhi Ho Choti Cheez Aapko Pata Hai Kuch Log Shadi Karte Hain Kyonki Unko Lagta Hai Ki Jaldi Se Ladki Ki Shadi Karne Se Hum Logon Ko Dahej Kum Dena Padega Aur Ladki Kum Padhi Likhi Hogi Aur Jaldi Kamij Ki Hogi To Hume Daj Kar Dena Padega Agla Result Aapko Bataya Koi Femli Hai Aaj Bhi Kuch Uske Ghar Mein Ek Ya Do Ladki Hai Agar Unke Paas Paise Nahi Hai To Uski Shadi Kar Dein Taki Hamari Family Mein Kum Se Kum Ek Ladki To Kum Hogi Ek Number Se Kum Hoga Aur Aur Hamare Do Bacche Ladke Bacche Hum Un Par Jyada Acche Se Padhai Likhai Aur Usse Jyada Paisa Kharch Kar Sakenge To Wah Shadi Kar Deta Hai Aur Iski Aur Aur Kya Kaaran Hai Yeh Kaaran Aapko Pata Hai Jab Ladki Ki Mensureshan Cycle Chalu Ho Jati Hai Aaj Bhi Aaj Bhi Yeh Real Satte Ki Kuch Gav Mein Yeh Mana Jata Hai Jab Bhi Ladki Ki Mensureshan Cycle Chalu Ho Jati Hai To Unko Lagta Hai Ki Ladkiyan Women Ban Chuki Hai To Aise Kai Sare Kaaran Hai
Likes  5  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जवाब पढ़िये
बाल विवाह का प्रमुख कारण अशिक्षा और सामाजिक रूढ़िवादिता है और इन दो प्रमुख कारणों के साथ साथ एक संवेदित कारण बहुत ही संबोधित कारण एवं सामाजिक भय आज के लड़के लड़कियां प्रेम करते हैं और ऐसा नहीं है कि पहले प्रेम नहीं करते थे पहले भी प्रेम करते थे लेकिन पहले जहां पर प्रेम जाकर उनका खत्म होता था 2 साल 4 साल 6 साल लगते थे प्रेम करते करते समय लगता अब वहां से शुरू होता है अर्थात फिजिकल रिलेशन से प्रेम शुरू होता है और सामाजिक असुरक्षा महिलाएं असुरक्षित हैं इन कारणों से जो पिता होता है भाई होता है घर के गार्जियन होते हैं पैरेंट्स होते हैं वह काफी सेंसिटिव हो जाते हैं और उन्हें लगता है जल्दी से जल्दी अपने रेप स्टेशन को बचाने के लिए रिपोर्ट एक्शन भी बचा रहे और जल्दी से जल्दी शादी कर दिया जाए जिससे विवाह कर दो जल्दी से जल्दी अपनी लड़कियों का जिससे वह भी सुरक्षित हो जाएंगे और उनके पति की जिम्मेदारी होगी शायद यह बहुत ही संवेदित कारण है जो आज सामाजिक भय के रूप में व्याप्त हैBaal Vivah Ka Pramukh Kaaran Asiksha Aur Samajik Rudhivadita Hai Aur In Do Pramukh Kaarno Ke Saath Saath Ek Sanvedit Kaaran Bahut Hi Sambodhit Kaaran Evam Samajik Bhay Aaj Ke Ladke Ladkiyan Prem Karte Hain Aur Aisa Nahi Hai Ki Pehle Prem Nahi Karte The Pehle Bhi Prem Karte The Lekin Pehle Jahan Par Prem Jaakar Unka Khatam Hota Tha 2 Saal 4 Saal 6 Saal Lagte The Prem Karte Karte Samay Lagta Ab Wahan Se Shuru Hota Hai Arthat Physical Relation Se Prem Shuru Hota Hai Aur Samajik Asuraksha Mahilaye Asurakshit Hain In Kaarno Se Jo Pita Hota Hai Bhai Hota Hai Ghar Ke Guardian Hote Hain Parents Hote Hain Wah Kafi Sensitive Ho Jaate Hain Aur Unhen Lagta Hai Jaldi Se Jaldi Apne Rape Station Ko Bachane Ke Liye Report Action Bhi Bacha Rahe Aur Jaldi Se Jaldi Shadi Kar Diya Jaye Jisse Vivah Kar Do Jaldi Se Jaldi Apni Ladkiyon Ka Jisse Wah Bhi Surakshit Ho Jaenge Aur Unke Pati Ki Jimmedari Hogi Shayad Yeh Bahut Hi Sanvedit Kaaran Hai Jo Aaj Samajik Bhay Ke Roop Mein Vyapt Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions


More Answers


जवाब पढ़िये
बाल विवाह भारतीय समाज में एक कुप्रथा के रूप में देखी गई है और अभी अभी हम इसके कारणों की बात करें तो कई सामाजिक कई आर्थिक और राजनीतिक कारण हो सकते हैं समाजीकरण में या प्रमुख है कि भारतीय समाज में यह प्राचीन काल से ही एक जाति एक संस्कृति के रूप में देखी गई प्रथा है जिसका विरोध करने पर इसे कई लोग आज भी अपनी संस्कृति पर प्रहार के रूप में देखते हैं और राजनीतिक कारणों में सबसे महत्वपूर्ण शिक्षा का अभाव है शिक्षा के अभाव के कारण लोग यह नहीं समझ पा सकते कि माता पिता बनने के लिए क्या उम्र होनी चाहिए क्या यह होनी चाहिए मुझे नहीं समझ सकते कि स्त्री पुरुष कितनी आयु में परिपक्व हो जाता मानसिक और शारीरिक तौर पर कितनी आयु में परिपक्व हो सकता है और राजनीतिक कारणों में एक प्रमुख कारण कानून व्यवस्था है जिसका पूरी तरह से क्रियान्वयन कानूनों का नहीं हो पाता जिस कारण या कहीं कहीं पर आज भी बाल विवाह देखा जाता है आर्थिक कारण में ब्रह्मBaal Vivah Bhartiya Samaaj Mein Ek Kupratha Ke Roop Mein Dekhi Gayi Hai Aur Abhi Abhi Hum Iske Kaarno Ki Baat Karen To Kai Samajik Kai Aarthik Aur Rajnitik Kaaran Ho Sakte Hain Samajikaran Mein Ya Pramukh Hai Ki Bhartiya Samaaj Mein Yeh Prachin Kaal Se Hi Ek Jati Ek Sanskriti Ke Roop Mein Dekhi Gayi Pratha Hai Jiska Virodh Karne Par Ise Kai Log Aaj Bhi Apni Sanskriti Par Prahar Ke Roop Mein Dekhte Hain Aur Rajnitik Kaarno Mein Sabse Mahatvapurna Shiksha Ka Abhaav Hai Shiksha Ke Abhaav Ke Kaaran Log Yeh Nahi Samajh Pa Sakte Ki Mata Pita Banane Ke Liye Kya Umar Honi Chahiye Kya Yeh Honi Chahiye Mujhe Nahi Samajh Sakte Ki Stri Purush Kitni Aayu Mein Paripakva Ho Jata Mansik Aur Shaaririk Taur Par Kitni Aayu Mein Paripakva Ho Sakta Hai Aur Rajnitik Kaarno Mein Ek Pramukh Kaaran Kanoon Vyavastha Hai Jiska Puri Tarah Se Kriyanwayan Kanuno Ka Nahi Ho Pata Jis Kaaran Ya Kahin Kahin Par Aaj Bhi Baal Vivah Dekha Jata Hai Aarthik Kaaran Mein Brahma
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जवाब पढ़िये
देख भाई बाकी तो ऐसे बहुत सारे कारण है जिसमें से पहले तो मुझे लगता है कि यह ऑन एजुकेशन क्योंकि लेटेस्ट की वजह से लोग प्रॉपर एजुकेशन नहीं ले पाते उसकी वजह से उनको आप समय का या फिर एजुकेशन का बाकी चीजों का इंपॉर्टेंट समझ में नहीं आता ध्यान में आप उसके जैसे लोग जुड़े चाइल्ड मैरिज पेपर करते हैं फिर बाल विवाह प्रेशर करते हैं और दूसरी बात होती है कि गरीबी पावर्टी इसे कहते है क्योंकि उसके वजह से जो है उसको आप कई बार ऐसा फैमिली पर प्रेशर आता है कि कोई सिंह फाइनेंसियल कंडीशन हो जाती है जिसकी वजह से उनको चूड़े वाली बा करना पड़ता है जो जो मैंने 2 महीने करनी है कि नहीं तो मे कोई एजुकेशन नहीं है अवेयरनेस नहीं है प्रॉपर तरीके से वही करना दूसरे के पावर के गरीबी के ऐसे भी लोग के बाल विवाह करते आज कीDekh Bhai Baki To Aise Bahut Sare Kaaran Hai Jisme Se Pehle To Mujhe Lagta Hai Ki Yeh On Education Kyonki Latest Ki Wajah Se Log Proper Education Nahi Le Paate Uski Wajah Se Unko Aap Samay Ka Ya Phir Education Ka Baki Chijon Ka Important Samajh Mein Nahi Aata Dhyan Mein Aap Uske Jaise Log Jude Child Marriage Paper Karte Hain Phir Baal Vivah Pressure Karte Hain Aur Dusri Baat Hoti Hai Ki Garibi Poverty Ise Kehte Hai Kyonki Uske Wajah Se Jo Hai Usko Aap Kai Baar Aisa Family Par Pressure Aata Hai Ki Koi Singh Financial Condition Ho Jati Hai Jiski Wajah Se Unko Chude Wali Ba Karna Padata Hai Jo Jo Maine 2 Mahine Karni Hai Ki Nahi To Me Koi Education Nahi Hai Awareness Nahi Hai Proper Tarike Se Wahi Karna Dusre Ke Power Ke Garibi Ke Aise Bhi Log Ke Baal Vivah Karte Aaj Ki
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जवाब पढ़िये
बालवीर का मुख्य कारण यह है कि हेलो बिपाशा शिक्षा होता है उसके पास पैसा नहीं होता है लोगों के पास इतनी सोचने की क्षमता नहीं होती उसे इंसान जो एक अच्छा इंसान होता को बुरा इंसान होता है जो अपनी बेटी को अपनी अच्छी लाइफ नहीं दे सकता है उन्हें नहीं देना चाहते हैं क्योंकि उसके पास पैसा नहीं है क्या क्यों नहीं होता है इसका कारण तो है लेकिन एक बात अगर किसी के पास पैसा होता ही शिक्षा हो सकती है क्योंकि पैसा नहीं हो तो कुछ नहीं आज कल देखते हैं कि आजकल जिसके पास पैसा है वह अच्छी सी कॉलेज में अच्छा सेलिब्रेट में पढ़ाई कर रहे हैं और जिसके पास पैसा है और गांव में थोड़ा पढ़ाई करके शादी में जा रहा है जिससे उसके लाइफ पर काफी प्रभाव देखने को मिलता है आप हम यह नहीं कर सकते कि उसके पास यह शिक्षा की कमी तो है ही है लेकिन जानकारी पैसा हमारे भारतीय समाज में तो आजकल बाल विवाह पोलो खेल समझ रखें बहुत-बहुत अपनी बेटी को शादी करना है अपने बेटे पर छोटी उम्र में जैसे 12 13 14 में जल्दी शादी कर रहे हैं ऐसे उसके लाइफ में आगे चलकर थोड़ा कठिन स्थितियों का सामना करना पड़ता है जिसे उसके लाइफ में थोड़ा कुछ महत्वपूर्ण होने वाली जैसी बीमारी का भी सामना करना पड़ता है ऐसा नहीं है कि लोग अपनी बेटी को शादी जबरदस्ती करते हैं जबरदस्ती शादी तो करते इसका मुख्य कारण तो पहचान लुगा जिसके पास पैसा नहीं हो क्या करें पैसा होने का राज को अच्छी शिक्षा देते हैं लेकिन हमारे भारत समझ में लोग जबरदस्ती भी बालिका को खेल समझ रखा हैBalavir Ka Mukhya Kaaran Yeh Hai Ki Hello Bipasha Shiksha Hota Hai Uske Paas Paisa Nahi Hota Hai Logon Ke Paas Itni Sochne Ki Kshamta Nahi Hoti Use Insaan Jo Ek Accha Insaan Hota Ko Bura Insaan Hota Hai Jo Apni Beti Ko Apni Acchi Life Nahi De Sakta Hai Unhen Nahi Dena Chahte Hain Kyonki Uske Paas Paisa Nahi Hai Kya Kyun Nahi Hota Hai Iska Kaaran To Hai Lekin Ek Baat Agar Kisi Ke Paas Paisa Hota Hi Shiksha Ho Sakti Hai Kyonki Paisa Nahi Ho To Kuch Nahi Aaj Kal Dekhte Hain Ki Aajkal Jiske Paas Paisa Hai Wah Acchi Si College Mein Accha Celebrate Mein Padhai Kar Rahe Hain Aur Jiske Paas Paisa Hai Aur Gav Mein Thoda Padhai Karke Shadi Mein Ja Raha Hai Jisse Uske Life Par Kafi Prabhav Dekhne Ko Milta Hai Aap Hum Yeh Nahi Kar Sakte Ki Uske Paas Yeh Shiksha Ki Kami To Hai Hi Hai Lekin Jankari Paisa Hamare Bhartiya Samaaj Mein To Aajkal Baal Vivah Polo Khel Samajh Rakhen Bahut Bahut Apni Beti Ko Shadi Karna Hai Apne Bete Par Choti Umar Mein Jaise 12 13 14 Mein Jaldi Shadi Kar Rahe Hain Aise Uske Life Mein Aage Chalkar Thoda Kathin Sthitiyo Ka Samana Karna Padata Hai Jise Uske Life Mein Thoda Kuch Mahatvapurna Hone Wali Jaisi Bimari Ka Bhi Samana Karna Padata Hai Aisa Nahi Hai Ki Log Apni Beti Ko Shadi Jabardasti Karte Hain Jabardasti Shadi To Karte Iska Mukhya Kaaran To Pehchaan Luga Jiske Paas Paisa Nahi Ho Kya Karen Paisa Hone Ka Raj Ko Acchi Shiksha Dete Hain Lekin Hamare Bharat Samajh Mein Log Jabardasti Bhi Balika Ko Khel Samajh Rakha Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जवाब पढ़िये
विवाह के कई कारण है पर मेन आप दो कांटे देखे देखे तो दो रीजन सो सकते अनेक शरीर और स्टोरीज इन बनारसी रिजल्ट फर्स्ट कॉल तो आएगा गरीबी हमारे समाज का बड़ा वर्ग गरीब है जिनके सामने अपना पेट पालने का संकट है ऐसा देश में लड़की को उनके मां बाप पराया धन मानते हैं और उनके खानपान पढ़ाई लिखाई में चाहते हुए भी चाहते हुए भी सक्षम ना होने के कारण जल्द से जल्द बेटी की शादी करने पर विवश हो जाते हैं फिर वो क्या खर्चीली शादी हमारा देश है ऐसा देश हो गया है कि जहां सेक्स फ्री धूमधाम शादी मनाया जाए पर एक गरीब मां बाप की इच्छा भी होती है कि वह अपनी बेटी की शादी धूमधाम से करें लेकिन आर्थिक स्थिति इसकी इजाजत नहीं देती इसलिए वह अपनी बेटी की शादी जल्द से जल्द सामूहिक विवाह सम्मेलन में या आपसे रिश्तेदारों में करने के लिए विवश हो जाते हैं जो ज्यादातर बाल विवाह बन जाते हैं फिर आकर हिस्टोरिकल रिजल्ट देखे तो यह भी होगा कि महिलाओं से छेड़छाड़ एवं भर्ती यौन अपराध महिलाओं के विरुद्ध हिंसा एवं यौन अपराध की घटनाएं दिन-ब-दिन बढ़ रही है तो मां बाप अपनी बेटियों की सुरक्षा के लिए जल्द से जल्द उनकी शादी करा देते हैं फिर यह होगा कि घटना लिंग आप घटना लिंगानुपात पहले होता था कि अभी भी थोड़ा बहुत हो रहा है कि चाइल्ड गर्ल को मारा जाता है पेट में ही और जिसके कारण मेल की रेट ज्यादा है हमारे देश में लड़कियां ज्यादा है जो लड़कों के मां बाप है तो वह जल्द से जल्द और छोटी ही उम्र में लड़कों लड़कियों से उनकी शादी करा देते हैं ताकि उनका बेटा के पास एक पत्नी आ जाए फिर यह भी खुशी किसी जाति में भी परंपराएं रहती है बाल विवाह कीVivah Ke Kai Kaaran Hai Par Main Aap Do Kante Dekhe Dekhe To Do Reason So Sakte Anek Sharir Aur Stories In Banarsi Result First Call To Aayega Garibi Hamare Samaaj Ka Bada Varg Garib Hai Jinke Samane Apna Pet Palne Ka Sankat Hai Aisa Desh Mein Ladki Ko Unke Maa Baap Paraaya Dhan Manate Hain Aur Unke Khanpaan Padhai Likhai Mein Chahte Hue Bhi Chahte Hue Bhi Saksham Na Hone Ke Kaaran Jald Se Jald Beti Ki Shadi Karne Par Vivash Ho Jaate Hain Phir Vo Kya Kharchili Shadi Hamara Desh Hai Aisa Desh Ho Gaya Hai Ki Jahan Sex Free Dhumadham Shadi Manaya Jaye Par Ek Garib Maa Baap Ki Icha Bhi Hoti Hai Ki Wah Apni Beti Ki Shadi Dhumadham Se Karen Lekin Aarthik Sthiti Iski Ijajat Nahi Deti Isliye Wah Apni Beti Ki Shadi Jald Se Jald Samuuhik Vivah Sammelan Mein Ya Aapse Rishtedaaro Mein Karne Ke Liye Vivash Ho Jaate Hain Jo Jyadatar Baal Vivah Ban Jaate Hain Phir Aakar Historical Result Dekhe To Yeh Bhi Hoga Ki Mahilaon Se Chedchad Evam Bharti Yaun Apradh Mahilaon Ke Viruddha Hinsa Evam Yaun Apradh Ki Ghatnaye Din B Din Badh Rahi Hai To Maa Baap Apni Betiyon Ki Suraksha Ke Liye Jald Se Jald Unki Shadi Kra Dete Hain Phir Yeh Hoga Ki Ghatna Ling Aap Ghatna Linganupat Pehle Hota Tha Ki Abhi Bhi Thoda Bahut Ho Raha Hai Ki Child Girl Ko Mara Jata Hai Pet Mein Hi Aur Jiske Kaaran Mail Ki Rate Jyada Hai Hamare Desh Mein Ladkiyan Jyada Hai Jo Ladko Ke Maa Baap Hai To Wah Jald Se Jald Aur Choti Hi Umar Mein Ladko Ladkiyon Se Unki Shadi Kra Dete Hain Taki Unka Beta Ke Paas Ek Patni Aa Jaye Phir Yeh Bhi Khushi Kisi Jati Mein Bhi Paramparaen Rehti Hai Baal Vivah Ki
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Baal Vivah Ke Kya Kaaran Hai ?, What Is The Compulsion Of The Parents That They Marry Their Children's Hair? , Bal Vivah Ke Karan