सेल्स और मार्केटिंग के बीच क्या अंतर है ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सेल्स का काम है एक जस्टिन कस्टमर सौर चैनल पार्टनर के साथ रिलेशन बनाना और उनकी रिक्वेस्ट मैंट को फुल फिल करना सेल्स में जो लोग होते हैं उनका यह काम है कि कंपनी के पास जो भी स्टॉक है उसे जल्द से जल्द कै...जवाब पढ़िये
सेल्स का काम है एक जस्टिन कस्टमर सौर चैनल पार्टनर के साथ रिलेशन बनाना और उनकी रिक्वेस्ट मैंट को फुल फिल करना सेल्स में जो लोग होते हैं उनका यह काम है कि कंपनी के पास जो भी स्टॉक है उसे जल्द से जल्द कैसे बेचा जाए सेल्स टीम कस्टमर के पास जाती है और उनके कंपनी इन या फिर उन्हें कोई भी ऑब्जेक्शन है तो उसे दूर करने की कोशिश करती हैं प्राइस और टर्म्स एंड कंडीशन क्यों होती है उसे कस्टमर के साथ फाइनल करती है और कस्टमर को पूरा करती है सेल्स टीम अपनी मंथली क्वार्टर यह आपकी असली और नकली टारगेट को पूरा करने की कोशिश करती हैं और जहां पर देखा जाए की मार्केटिंग का मेन काम क्या है तो उनका मेन काम यह है कि कस्टमर क्या सोचता है इस बात को ध्यान में रखकर मार्केट को वह समझते हैं और मार्केट रिसर्च करते हैं और यह देखते हैं कि फ्यूचर में आज क्या जरुरत है लोगों की और इसके हिसाब से वह स्ट्रेटेजी बनाते हैं मार्केट के कंपटीशन को एनालाइज करना भी उनका ही काम है कि अगर और सेम प्रोडक्ट की एक से ज्यादा कंपनियां है तो वह किस तरह से अपनी ब्रांड को वहां पर स्टाइलिश कर पाएंगे मामा मार्केटिंग की टीम जो होती है वह कस्टमर की जरूरत के हिसाब से प्रोडक्ट को तैयार करती है और वह मार्केट कंपटीशन के हिसाब से प्राइस फिक्स करती हैं और अच्छे एडवर्टाइजमेंट विज्ञापन बनाना भी उनका ही काम होता हैSales Ka Kaam Hai Ek Justin Customer Sour Channel Partner Ke Saath Relation Banana Aur Unki Request Maint Ko Full Fill Karna Sales Mein Jo Log Hote Hain Unka Yeh Kaam Hai Ki Company Ke Paas Jo Bhi Stock Hai Use Jald Se Jald Kaise Becha Jaye Sales Team Customer Ke Paas Jati Hai Aur Unke Company In Ya Phir Unhen Koi Bhi Objection Hai To Use Dur Karne Ki Koshish Karti Hain Price Aur Terms End Condition Kyun Hoti Hai Use Customer Ke Saath Final Karti Hai Aur Customer Ko Pura Karti Hai Sales Team Apni Monthly Quarter Yeh Aapki Asli Aur Nakli Target Ko Pura Karne Ki Koshish Karti Hain Aur Jahan Par Dekha Jaye Ki Marketing Ka Main Kaam Kya Hai To Unka Main Kaam Yeh Hai Ki Customer Kya Sochta Hai Is Baat Ko Dhyan Mein Rakhakar Market Ko Wah Samajhte Hain Aur Market Research Karte Hain Aur Yeh Dekhte Hain Ki Future Mein Aaj Kya Zaroorat Hai Logon Ki Aur Iske Hisab Se Wah Strategy Banate Hain Market Ke Competition Ko Analyse Karna Bhi Unka Hi Kaam Hai Ki Agar Aur Same Product Ki Ek Se Jyada Companiyan Hai To Wah Kis Tarah Se Apni Brand Ko Wahan Par Stylish Kar Paenge Mama Marketing Ki Team Jo Hoti Hai Wah Customer Ki Zaroorat Ke Hisab Se Product Ko Taiyaar Karti Hai Aur Wah Market Competition Ke Hisab Se Price Fix Karti Hain Aur Acche Advertisement Vigyapan Banana Bhi Unka Hi Kaam Hota Hai
Likes  12  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आदर्श जो आपने क्वेश्चन पूछा है कि सेल्स और मार्केटिंग में क्या डिफरेंस है उसका आंसर एक एग्जांपल के तुलु देने वाला हूं एक्चुअली में क्या होता है शेरों मार्केटिंग कहीं इंडिपेंडेंस क्या होता है वह ...जवाब पढ़िये
देखिए आदर्श जो आपने क्वेश्चन पूछा है कि सेल्स और मार्केटिंग में क्या डिफरेंस है उसका आंसर एक एग्जांपल के तुलु देने वाला हूं एक्चुअली में क्या होता है शेरों मार्केटिंग कहीं इंडिपेंडेंस क्या होता है वह मार्केटिंग का एक पाठ होता है और एग्जांपल जैसे मार्केटिंग में क्या क्या आता है मान लो हम लोग मार्केट में देखते कि कस्टमर के न्यूड किया है अभी मार्केट में लोगों क्या लेकर आना चाहिए जो कि कस्टमर की न्यूड को पूरा करेगा और हमारी ज्यादा इनकम होगी इस तरीके की जो सोच होती है वह मार्केटिंग की होती है और कैसे होता है जब प्रोडक्ट बन जाता है तो उसके बाद जो भेजा जाता है वह सेल होता है और एग्जांपल जैसे पतंजलि मार्केट में आए तो उसे पतंजलि के उत्पाद ठीक है दंतकांति तो पहले जो रामदेव बाबा थे उन्होंने ऐसा सोचा कि लोगों को हर्बल नीड की जरूरत है हर्बल प्रोडक्ट की जरूरत है उन्होंने सोचा फिर तुझे सुनाया ठीक है जब उन्होंने बनाया फिर मार्केट में उतारा मार्केट में उतार दिया उसको बेचना पड़ेगा उसको बोलते हैं और रामदेव बाबा की कोई जरूरत है या फिर उन्होंने बनाया ओपन मार्केट में उतारा यह मार्केटिंग है तो हम यह बोल सकते हैं कि देश का काम होता है कि प्रोडक्ट बनने के बाद जो भेजा जाता है वह सेल्स मार्केटिंग का मतलब होता है कि प्रोडक्ट बनने से पहले प्रोडक्ट बंतार प्रोडक्ट बनने के बाद यह सब मार्केटिंग का काम है मतलब सेल्स मार्केटिंग के अंदर आता है उसका में अर्थ यह थैंक यूDekhie Adarsh Jo Aapne Question Poocha Hai Ki Sales Aur Marketing Mein Kya Difference Hai Uska Answer Ek Example Ke Tulu Dene Wala Hoon Actually Mein Kya Hota Hai Sheroon Marketing Kahin Independence Kya Hota Hai Wah Marketing Ka Ek Path Hota Hai Aur Example Jaise Marketing Mein Kya Kya Aata Hai Maan Lo Hum Log Market Mein Dekhte Ki Customer Ke Nude Kiya Hai Abhi Market Mein Logon Kya Lekar Aana Chahiye Jo Ki Customer Ki Nude Ko Pura Karega Aur Hamari Jyada Income Hogi Is Tarike Ki Jo Soch Hoti Hai Wah Marketing Ki Hoti Hai Aur Kaise Hota Hai Jab Product Ban Jata Hai To Uske Baad Jo Bheja Jata Hai Wah Cell Hota Hai Aur Example Jaise Patanjali Market Mein Aaye To Use Patanjali Ke Utpaad Theek Hai Dantakanti To Pehle Jo Ramdev Baba The Unhone Aisa Socha Ki Logon Ko HERBAL Need Ki Zaroorat Hai HERBAL Product Ki Zaroorat Hai Unhone Socha Phir Tujhe Sunaya Theek Hai Jab Unhone Banaya Phir Market Mein Utara Market Mein Utar Diya Usko Bechna Padega Usko Bolte Hain Aur Ramdev Baba Ki Koi Zaroorat Hai Ya Phir Unhone Banaya Open Market Mein Utara Yeh Marketing Hai To Hum Yeh Bol Sakte Hain Ki Desh Ka Kaam Hota Hai Ki Product Banane Ke Baad Jo Bheja Jata Hai Wah Sales Marketing Ka Matlab Hota Hai Ki Product Banane Se Pehle Product Bantar Product Banane Ke Baad Yeh Sab Marketing Ka Kaam Hai Matlab Sales Marketing Ke Andar Aata Hai Uska Mein Arth Yeh Thank You
Likes  6  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मार्केटिंग और सैनिक बहुत हद तक एक पर्यायवाची शब्द की तरह परंतु फिर भी इंदौर में बहुत ज्यादा डिफरेंस है यदि देखेंगे तो मैं मार्केटिंग का मीन जो निकलेगा वह निकले मार्केटिंग मेंस होता है ग्राहकों की आवश्...जवाब पढ़िये
मार्केटिंग और सैनिक बहुत हद तक एक पर्यायवाची शब्द की तरह परंतु फिर भी इंदौर में बहुत ज्यादा डिफरेंस है यदि देखेंगे तो मैं मार्केटिंग का मीन जो निकलेगा वह निकले मार्केटिंग मेंस होता है ग्राहकों की आवश्यकता का अनुमान लगा कर और उसी के अनुसार उत्पादन करना और फिर लाखों पर क्या करना संतुष्टि प्रदान करना और जहां तक सेलिंग का मतलब निकलेगा यह कि जो शेयरिंग होता है उसका भी प्यार होता है वस्तुओं और सेवाओं को ग्राहकों को बेचने से उसका मतलब सिर्फ सेल करने सदाशिव बेचने से होता है और ऑब्जेक्टिव देखेंगे तो मार्केटिंग का जो अब व्यक्तिव होता है वही होता है कि ग्राहकों को क्या करना संतुष्टि प्रदान कर के लाभ अर्जित करना निगम को सेटिस्फेक्शन देना कस्टमर और जो सीलिंग होता है उसका भी नहीं होता है कि सिर्फ ज्यादा से ज्यादा हम को क्या करना है शेर करना है से ज्यादा ज्यादा हमको सेवाओं और वस्तुओं को सर्विसेज अंगूर स्कोर भेजना है ठीक है इसको इसको इसको फिर देखेंगे तो यह देखेंगे कि इसका जो मार्केटिंग का जिसको पता है बहुत ही ज्यादा ब्रॉड होता है जो कि जो सिली होता है उसका स्कोर थोड़ा सीमित होता थोड़ा कम होता है ठीक है यह जो इसका स्टार्टिंग जो है वह जब हम विचार कागजों में सोचते हैं कि हमें क्या करना है गुड्स को प्रोड्यूस करना है वही सिसका स्टार्ट हो जाता है जो कि जो सीलिंग होता है उसका प्रारंभ वहां से होता है जब उत्पादन हो जाता है गुटखा जब मुझको मार्केट में लगे तब सेटिंग का प्रारंभ होता है और जो मार्केटिंग होता है उसका इन होता है तब जब ग्राहक क्या हो जाए बहुत ही ज्यादा संतुष्ट हो जाए जब उनको सेटिस्फेक्शन मिल जाता है तब उसका क्या होता है इन दो बता दो कि जो शेर ही होता है उसका उसका सेल के बाद होता है गुड के सिर के बाद से लिंग का होता है यह जो होता है मार्केटिंग वह क्या है मॉडल एक मॉडर्न कांसेप्ट है जबकि वह यह मार्केटिंग जो है वह मॉडर्न कांसेप्ट है और सेटिंग है वह मॉडर्न कांसेप्ट नहीं हैMarketing Aur Sainik Bahut Had Tak Ek Paryayvachi Shabdh Ki Tarah Parantu Phir Bhi Indore Mein Bahut Jyada Difference Hai Yadi Dekhenge To Main Marketing Ka Mean Jo Niklega Wah Nikale Marketing Mains Hota Hai Grahakon Ki Avashyakta Ka Anumaan Laga Kar Aur Ussi Ke Anusar Utpadan Karna Aur Phir Laakhon Par Kya Karna Santushti Pradan Karna Aur Jahan Tak Selling Ka Matlab Niklega Yeh Ki Jo Sharing Hota Hai Uska Bhi Pyar Hota Hai Vastuon Aur Sewaon Ko Grahakon Ko Bechne Se Uska Matlab Sirf Cell Karne Sadashiv Bechne Se Hota Hai Aur Objective Dekhenge To Marketing Ka Jo Ab Vyaktiv Hota Hai Wahi Hota Hai Ki Grahakon Ko Kya Karna Santushti Pradan Kar Ke Labh Arjit Karna Nigam Ko Setisfekshan Dena Customer Aur Jo Ceiling Hota Hai Uska Bhi Nahi Hota Hai Ki Sirf Jyada Se Jyada Hum Ko Kya Karna Hai Sher Karna Hai Se Jyada Jyada Hamko Sewaon Aur Vastuon Ko Services Angoor Score Bhejna Hai Theek Hai Isko Isko Isko Phir Dekhenge To Yeh Dekhenge Ki Iska Jo Marketing Ka Jisko Pata Hai Bahut Hi Jyada Broad Hota Hai Jo Ki Jo Silly Hota Hai Uska Score Thoda Simith Hota Thoda Kum Hota Hai Theek Hai Yeh Jo Iska Starting Jo Hai Wah Jab Hum Vichar Kagajon Mein Sochte Hain Ki Hume Kya Karna Hai Goods Ko Produce Karna Hai Wahi Siska Start Ho Jata Hai Jo Ki Jo Ceiling Hota Hai Uska Prarambh Wahan Se Hota Hai Jab Utpadan Ho Jata Hai Gutkha Jab Mujhko Market Mein Lage Tab Setting Ka Prarambh Hota Hai Aur Jo Marketing Hota Hai Uska In Hota Hai Tab Jab Grahak Kya Ho Jaye Bahut Hi Jyada Santusht Ho Jaye Jab Unko Setisfekshan Mil Jata Hai Tab Uska Kya Hota Hai In Do Bata Do Ki Jo Sher Hi Hota Hai Uska Uska Cell Ke Baad Hota Hai Good Ke Sir Ke Baad Se Ling Ka Hota Hai Yeh Jo Hota Hai Marketing Wah Kya Hai Model Ek Modern Concept Hai Jabki Wah Yeh Marketing Jo Hai Wah Modern Concept Hai Aur Setting Hai Wah Modern Concept Nahi Hai
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गर्भ में इसका उत्तर सिंपल भाषा में भाषा में बोल दूंगा कि मार्केटिंग प्रोडक्ट जो है जो कि बाजार में आया है उसका प्रमोशन कितना करते हो आप कितने लोगों को बताते हो कि हां यह पर कोई और यह प्रोडक्ट हमारा अभ...जवाब पढ़िये
गर्भ में इसका उत्तर सिंपल भाषा में भाषा में बोल दूंगा कि मार्केटिंग प्रोडक्ट जो है जो कि बाजार में आया है उसका प्रमोशन कितना करते हो आप कितने लोगों को बताते हो कि हां यह पर कोई और यह प्रोडक्ट हमारा अभी लॉन्च हुआ है आप उसके कितने पोस्ट डालते हो आपका सोशल मीडिया Facebook इतने सारे पोस्ट डालते हो तो उससे जुड़े उसे कह सकते हैं मार्केटिंग सैनी क्या होता है क्या उसको वह प्रोडक्ट को कितने हफ्ते का भेज सकते हो कितने लोगों को अब बेच सकते है और उसे कितना रवि न्यूज़ Android होता है पर मैं आपको बता दूं पुरुषों से कितनी मार्केटिंग करो यार आप कितने लोग को जाकर बता रहे हो नहीं हो रही हों नाविक की डाल चुका है इसके सारे सिलेबस है आप ओरियो बिस्कुट केक इतने सारे पोस्ट डालते हो ऑडियो देवयानी सोशल मीडिया पर तो यह जो यह डिफरेंस सेल्स और मार्केटिंग के बीच मेंGarbh Mein Iska Uttar Simple Bhasha Mein Bhasha Mein Bol Dunga Ki Marketing Product Jo Hai Jo Ki Bazar Mein Aaya Hai Uska Promotion Kitna Karte Ho Aap Kitne Logon Ko Batatey Ho Ki Haan Yeh Par Koi Aur Yeh Product Hamara Abhi Launch Hua Hai Aap Uske Kitne Post Daalte Ho Aapka Social Media Facebook Itne Sare Post Daalte Ho To Usse Jude Use Keh Sakte Hain Marketing Saini Kya Hota Hai Kya Usko Wah Product Ko Kitne Hafte Ka Bhej Sakte Ho Kitne Logon Ko Ab Bech Sakte Hai Aur Use Kitna Ravi News Android Hota Hai Par Main Aapko Bata Doon Purushon Se Kitni Marketing Karo Yaar Aap Kitne Log Ko Jaakar Bata Rahe Ho Nahi Ho Rahi Hon Navik Ki Dal Chuka Hai Iske Sare Syllabus Hai Aap Oreo Biscuit Cake Itne Sare Post Daalte Ho Audio Devyani Social Media Par To Yeh Jo Yeh Difference Sales Aur Marketing Ke Beech Mein
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सेल्स और मार्केटिंग इन दोनों इंटर लिंग है जिसमें रेवेन्यू बढ़ाने के उद्देश्य और जब प्रोडक्ट बाहर चला जाता है बाजार में निकल जाता है तो मार्केटिंग है ओके और जब यह जो है और यह प्रोडक्ट को खरीदने के लिए ...जवाब पढ़िये
सेल्स और मार्केटिंग इन दोनों इंटर लिंग है जिसमें रेवेन्यू बढ़ाने के उद्देश्य और जब प्रोडक्ट बाहर चला जाता है बाजार में निकल जाता है तो मार्केटिंग है ओके और जब यह जो है और यह प्रोडक्ट को खरीदने के लिए जो ग्राहक मनाते हैं उस व्यक्ति का कार्य है उसे उसे सुशील का अर्थ होता है और इसका अर्थ यह होता है कि बाइनरी तो पॉसिबिलिटी एंड बाइक इन आर्डरSales Aur Marketing In Dono Inter Ling Hai Jisme Revenue Badhane Ke Uddeshya Aur Jab Product Bahar Chala Jata Hai Bazar Mein Nikal Jata Hai To Marketing Hai Ok Aur Jab Yeh Jo Hai Aur Yeh Product Ko Kharidne Ke Liye Jo Grahak Manate Hain Us Vyakti Ka Karya Hai Use Use Sushil Ka Arth Hota Hai Aur Iska Arth Yeh Hota Hai Ki Binary To Pasibiliti End Bike In Order
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Sales Aur Marketing Ke Bich Kya Antar Hai, What Is The Difference Between Sales And Marketing , Aur Marketing, सेल्स और मार्केटिंग क्या है