सरकार खाद्यान्न, चीनी के लिए अनिवार्य जूट पैकेजिंग का विस्तार करती है। जूट इंडस्ट्री पर इसका क्या असर होगा? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सरकार का ध्यान और चीनी के पैकेजिंग के लिए जूट बैग के इस्तेमाल को बढ़ावा दे रही है और इसी क्रम में इकोनॉमिक ऑफ एयर की कैबिनेट कमेटी ने झूठ पैकेजिंग मटेरियल एक्ट 1987 को और आगे बढ़ाते हुए आया कहां है कि...जवाब पढ़िये
सरकार का ध्यान और चीनी के पैकेजिंग के लिए जूट बैग के इस्तेमाल को बढ़ावा दे रही है और इसी क्रम में इकोनॉमिक ऑफ एयर की कैबिनेट कमेटी ने झूठ पैकेजिंग मटेरियल एक्ट 1987 को और आगे बढ़ाते हुए आया कहां है कि जून 2018 तक सभी खाद्यान्न और जो भी चीनी से बने प्रोडक्ट हैं उन्हें जूट बैग में ही तय किया जाएगा साथ ही साथ इस नए कदम से यह होगा कि की डिमांड बढ़ेगी किसान या फिर जो वर्कर या कारीगर हैं जो झूठ के कारोबार से जुड़े हैं उन की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा झूठ के ज्यादातर किसान और वर्कर भारत के पूर्वी और उत्तर पूर्वी राज्यों में रहते हैं खास करके जो राज्य हैं वह है बिहार वेस्ट बंगाल उड़ीसा त्रिपुरा मेघालय असम और आंध्र प्रदेश UP सरकार ने यह जरूरी कर दिया है कि 90% खाद्य पदार्थ और 20% चीनी से बनी सामग्री को जूट बैग नहीं पैक करना होगा हां सरकार ने यह भी बोला है कि टोटल हंड्रेड परसेंट और जूट बैग नहीं तय किया जाएगा अगर जूट इंडस्ट्री इतना झूठ प्रोड्यूस कर सकते तो लेकिन 90% और 20% चीनी के प्रोडक्ट तो करना ही पड़ेगा भारत में लगभग 3 पॉइंट 7 लाख वर्कर और एक किसान जूट सेक्टर से जुड़े हैं जिनका कि जो भी जीवन यापन के लिए पैसे कमाते हैं वह इस इंडस्ट्री से आते हैं तो सरकार के इस फैसले से उनका काफी फायदा होगाSarkar Ka Dhyan Aur Chini Ke Packaging Ke Liye Jute Bag Ke Istemal Ko Badhawa De Rahi Hai Aur Isi Kram Mein Economic Of Air Ki Cabinet Committee Ne Jhuth Packaging Material Act 1987 Ko Aur Aage Badhate Hue Aaya Kahan Hai Ki June 2018 Tak Sabhi Khadyann Aur Jo Bhi Chini Se Bane Product Hain Unhen Jute Bag Mein Hi Tay Kiya Jayega Saath Hi Saath Is Naye Kadam Se Yeh Hoga Ki Ki Demand Badhegi Kisan Ya Phir Jo Worker Ya Karigar Hain Jo Jhuth Ke Karobaar Se Jude Hain Un Ki Aarthik Sthiti Mein Sudhaar Aayega Jhuth Ke Jyadatar Kisan Aur Worker Bharat Ke Purvi Aur Uttar Purvi Rajyo Mein Rehte Hain Khas Karke Jo Rajya Hain Wah Hai Bihar West Bengal Oddisha Tripura Meghalaya Asam Aur Andhra Pradesh UP Sarkar Ne Yeh Zaroori Kar Diya Hai Ki 90% Khadya Padarth Aur 20% Chini Se Bani Samagri Ko Jute Bag Nahi Pack Karna Hoga Haan Sarkar Ne Yeh Bhi Bola Hai Ki Total Hundred Percent Aur Jute Bag Nahi Tay Kiya Jayega Agar Jute Industry Itna Jhuth Produce Kar Sakte To Lekin 90% Aur 20% Chini Ke Product To Karna Hi Padega Bharat Mein Lagbhag 3 Point 7 Lakh Worker Aur Ek Kisan Jute Sector Se Jude Hain Jinka Ki Jo Bhi Jeevan Yaapan Ke Liye Paise Kamate Hain Wah Is Industry Se Aate Hain To Sarkar Ke Is Faisle Se Unka Kafi Fayda Hoga
Likes  11  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर ऐसा होता है तो झूठ इंडस्ट्री में काफी ज्यादा झूठ के डिमांड बढ़ेगी जिससे और ज्यादा फैक्ट्रीज खुलेगी झूठ की और वहीं पर और जो एंप्लॉयमेंट है बढेगी है, तो ओवरआल बहुत ज्यादा ही फायदा होगा इस चीज से तो ...जवाब पढ़िये
अगर ऐसा होता है तो झूठ इंडस्ट्री में काफी ज्यादा झूठ के डिमांड बढ़ेगी जिससे और ज्यादा फैक्ट्रीज खुलेगी झूठ की और वहीं पर और जो एंप्लॉयमेंट है बढेगी है, तो ओवरआल बहुत ज्यादा ही फायदा होगा इस चीज से तो बहुत सही डिसीजन है जो काफी ज्यादा क्षेत्रों को प्रभाव करेगा l जहां पर एंप्लॉयमेंट बढ़ेगी वहीं पर दूसरी तरफ और ऊपर से झूठ एक ऐसी चीज़ नहीं है जो हार्मफुल है तो हम इसको एजिली डिस्पोज कर सकते हैं l तो इसीलिए भी हमें कोई नुकसान नहीं हो पाएगा l इसकी पैकेजिंग वगैरा के अंदर जहां प्लास्टिक के अंदर हमें काफी ज्यादा नुकसान होता था तो वैसे ही इसके कोई हार्मफुल इफेक्ट्स नहीं होंगे, नेचर फ्रेंडली भी है तो इन सभी कारणों की जगह झूठ को अनिवार्य कर आ गया है और वही पर झूठ के काफी ज्यादा फायदे होने वाले हैं l तो मेरे हिसाब से बहुत ही ज्यादा सही डिसीजन रखा गया है l जितनी भी छूट कंपनी से उनकी सेल बढ़ेगी और उसी कारण तो उनकी भी और एंप्लॉयमेंट है वह भी बढ़ेगी वहां पर और यही फायदों के कारण यह है डिसीजन काफी अच्छा है lAgar Aisa Hota Hai To Jhuth Industry Mein Kafi Jyada Jhuth Ke Demand Badhegi Jisse Aur Jyada Faiktrij Khulegi Jhuth Ki Aur Wahin Par Aur Jo Employment Hai Badhegi Hai To Overall Bahut Jyada Hi Fayda Hoga Is Cheez Se To Bahut Sahi Decision Hai Jo Kafi Jyada Kshetro Ko Prabhav Karega L Jahan Par Employment Badhegi Wahin Par Dusri Taraf Aur Upar Se Jhuth Ek Aisi Cheese Nahi Hai Jo Harmaful Hai To Hum Isko Ejili Dispoj Kar Sakte Hain L To Isliye Bhi Hume Koi Nuksan Nahi Ho Payega L Iski Packaging Vagaira Ke Andar Jahan Plastic Ke Andar Hume Kafi Jyada Nuksan Hota Tha To Waise Hi Iske Koi Harmaful Effects Nahi Honge Nature Frendali Bhi Hai To In Sabhi Kaarno Ki Jagah Jhuth Ko Anivarya Kar Aa Gaya Hai Aur Wahi Par Jhuth Ke Kafi Jyada Fayde Hone Wale Hain L To Mere Hisab Se Bahut Hi Jyada Sahi Decision Rakha Gaya Hai L Jitni Bhi Chhut Company Se Unki Cell Badhegi Aur Ussi Kaaran To Unki Bhi Aur Employment Hai Wah Bhi Badhegi Wahan Par Aur Yahi Fayadain Ke Kaaran Yeh Hai Decision Kafi Accha Hai L
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सीसीईए आज कैबिनेट कमेटी ऑन इकनोमिक अफेयर ने जो जूट पैकेजिंग है फ़ूड ग्रेंस के ऊपर और शुगर प्रोडक्ट के ऊपर कंपलसरी कर दिया है जून २०१८ तक l और यह इसीलिए क्या है कि जो और डिमांड है जूट सेक्टर में वह खत...जवाब पढ़िये
सीसीईए आज कैबिनेट कमेटी ऑन इकनोमिक अफेयर ने जो जूट पैकेजिंग है फ़ूड ग्रेंस के ऊपर और शुगर प्रोडक्ट के ऊपर कंपलसरी कर दिया है जून २०१८ तक l और यह इसीलिए क्या है कि जो और डिमांड है जूट सेक्टर में वह खत्म ना हो वह बरकरार रहे और ऊपर से जो वर्कर्स है जो की जूट फैक्ट्रीस वगैरेस में जूट इंडस्ट्री में जो काम करते हैं जो वर्कर्स और फार्मर्स और जो किसी के ऊपर डिपेंडेंट है अपनी लाइवलीहुड के लिए स्पेशली जो स्टेट है आप ले लीजिए बिहार, वेस्ट बंगाल, आसाम, उड़ीसा, आंध्र प्रदेश, मेघालय, त्रिपुरा सो यह लोग बहोत डिपेंडेंट है यह पर्टिकुलर इंडस्ट्री के ऊपर l तो इसका जो कोर डिमांड बना रहेगा इंडस्ट्री के ऊपर लाइवलीहुड भी बनी रहेगी l और इससे वह कमा सकते हैं तो इसीलिए जो सीसीअनऐ कंपल्सरी कर दिया है इस चीज को lSisiiye Aaj Cabinet Committee On Economic Affair Ne Jo Jute Packaging Hai Food Grens Ke Upar Aur Sugar Product Ke Upar Compulsory Kar Diya Hai June 2018 Tak L Aur Yeh Isliye Kya Hai Ki Jo Aur Demand Hai Jute Sector Mein Wah Khatam Na Ho Wah Barkaraar Rahe Aur Upar Se Jo Workers Hai Jo Ki Jute Faiktris Vagaires Mein Jute Industry Mein Jo Kaam Karte Hain Jo Workers Aur Farmers Aur Jo Kisi Ke Upar Dependent Hai Apni Laivalihud Ke Liye Speshli Jo State Hai Aap Le Lijiye Bihar West Bengal Aassam Oddisha Andhra Pradesh Meghalaya Tripura So Yeh Log Bahut Dependent Hai Yeh Particular Industry Ke Upar L To Iska Jo Core Demand Bana Rahega Industry Ke Upar Laivalihud Bhi Bani Rahegi L Aur Isse Wah Kama Sakte Hain To Isliye Jo Sisianaai Compulsory Kar Diya Hai Is Cheez Ko L
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए क्या आप नेट कमेटी होने का नाम ही काफी है रचने वाली स्त्री को 12 पास किया जिसमें लिखा गया की पूर्ण ड्रीम्स की रानी की खदान की जिंदगी की हो या फिर ऐसे जैसे और शुक्र प्रोडक्ट्स की आने की और चीनी से...जवाब पढ़िये
देखिए क्या आप नेट कमेटी होने का नाम ही काफी है रचने वाली स्त्री को 12 पास किया जिसमें लिखा गया की पूर्ण ड्रीम्स की रानी की खदान की जिंदगी की हो या फिर ऐसे जैसे और शुक्र प्रोडक्ट्स की आने की और चीनी से अधिक पर टैक्स की जो पैकेजिंग है झूठ पक्ष में ही होंगी जून 2018 तक जो कैबिनेट कमेटी ऑन इकोनॉमिक अफेयर्स है उसने एक्सीडेंट किया है जो मिलिट्री पैकेजिंग नाम था 90 सेकेंड का झटका दिखे इस्लाम के मुताबिक यह कंपलसरी धातु 59932 फ़ूड ग्रेंस को बेस पसंद शुगर प्रोडक्ट्स को झूठ पार्क के अंदर तो इससे फायदा यह होगा कि देखिए जो और जूट इंडस्ट्री है वह मुस्लिम कमेंट पर ही डिपेंड करती है कि कि कॉमेंट से उनको करें 5500 करोड़ रुपए का मुहूर्त मिलता है हर साल तक जो भी एक्सीडेंट हो गया जब यह आता होगा तो ऐसी जो है वह मुझे झूठ से सेक्टर से लेकर जोकस है जो काम वर्ष है उनका लाइवलीहुड उनकी जीविका जो उनको पैसे मिलते हैं वह बढ़ेंगे और जो ईस्टर्न में आने की ईस्ट की तरह की याद नॉर्थ-ईस्ट की वीडियो है जिसे की वेस्ट बंगाल बिहार उड़ीसा असम आंध्र प्रदेश त्रिपुरा मेघालय यहां सबसे जो फेमस ऑटो फोकस है उनको थोड़ा ज्यादा रेट मिल जाएगा को सादा थोड़े पैसे मिल जाएंगे तो यह उनके लिए बहुत अच्छा है और अब तो दूसरे देशों में नेपाल बांग्लादेश में भी झूठ के कुल ट्रांसपोर्ट होने शुरू हुए हैं जिनसे कुछ पर्सेंट तक और इनबॉक्स के लिए थोड़ा काम बड़ा है और उनके थोड़ी सी जो पी जून कोDekhie Kya Aap Net Committee Hone Ka Naam Hi Kafi Hai Rachne Wali Stri Ko 12 Paas Kiya Jisme Likha Gaya Ki Poorn Dreams Ki Rani Ki Khadan Ki Zindagi Ki Ho Ya Phir Aise Jaise Aur Shukra Products Ki Aane Ki Aur Chini Se Adhik Par Tax Ki Jo Packaging Hai Jhuth Paksh Mein Hi Hongi June 2018 Tak Jo Cabinet Committee On Economic Affairs Hai Usne Accident Kiya Hai Jo Miltary Packaging Naam Tha 90 Second Ka Jhatka Dikhe Islam Ke Mutabik Yeh Compulsory Dhatu 59932 Food Grens Ko Base Pasand Sugar Products Ko Jhuth Park Ke Andar To Isse Fayda Yeh Hoga Ki Dekhie Jo Aur Jute Industry Hai Wah Muslim Comment Par Hi Depend Karti Hai Ki Ki Cament Se Unko Karen 5500 Crore Rupaiye Ka Muhurt Milta Hai Har Saal Tak Jo Bhi Accident Ho Gaya Jab Yeh Aata Hoga To Aisi Jo Hai Wah Mujhe Jhuth Se Sector Se Lekar Jokas Hai Jo Kaam Varsh Hai Unka Laivalihud Unki Jeevika Jo Unko Paise Milte Hain Wah Badhenge Aur Jo Eastern Mein Aane Ki East Ki Tarah Ki Yaad North East Ki Video Hai Jise Ki West Bengal Bihar Oddisha Asam Andhra Pradesh Tripura Meghalaya Yahan Sabse Jo Famous Auto Focus Hai Unko Thoda Jyada Rate Mil Jayega Ko Saada Thode Paise Mil Jaenge To Yeh Unke Liye Bahut Accha Hai Aur Ab To Dusre Deshon Mein Nepal Bangladesh Mein Bhi Jhuth Ke Kul Transport Hone Shuru Hue Hain Jinse Kuch Percent Tak Aur Inbox Ke Liye Thoda Kaam Bada Hai Aur Unke Thodi Si Jo P June Ko
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां देखेंगे सरकार खदान और चीनी के अनिवार्य पैकेजिंग का विस्तार कर रही है तो इसे जो है झूठे इंडस्ट्री का फायदा ही होगा उसमें जा पाएगा क्योंकि अगर डिमांड ज्यादा होगी झूठ पैकेजिंग की तो वह हवा से बातें क...जवाब पढ़िये
हां देखेंगे सरकार खदान और चीनी के अनिवार्य पैकेजिंग का विस्तार कर रही है तो इसे जो है झूठे इंडस्ट्री का फायदा ही होगा उसमें जा पाएगा क्योंकि अगर डिमांड ज्यादा होगी झूठ पैकेजिंग की तो वह हवा से बातें कि उसकी मैक्सिमम प्रोडक्शन प्रोडक्शन फैक्ट्री को मैं तो हमेशा ही अच्छी बात है अगर झूठ है पैकेजिंग के जोड़े को डिमांड बढ़ रही है तो उसका प्रोडक्शन और मैनुफैक्चरिंग भी पड़ी है जिससे लोगों को और जॉब आएगा और कंपनी को फायदा होगाHaan Dekhenge Sarkar Khadan Aur Chini Ke Anivarya Packaging Ka Vistar Kar Rahi Hai To Ise Jo Hai Jhuthe Industry Ka Fayda Hi Hoga Usamen Ja Payega Kyonki Agar Demand Jyada Hogi Jhuth Packaging Ki To Wah Hawa Se Batein Ki Uski Maximum Production Production Factory Ko Main To Hamesha Hi Acchi Baat Hai Agar Jhuth Hai Packaging Ke Jode Ko Demand Badh Rahi Hai To Uska Production Aur Manufacturing Bhi Padi Hai Jisse Logon Ko Aur Job Aayega Aur Company Ko Fayda Hoga
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Sarkar Khadyann Chini Ke Liye Anivarya Jute Packaging Ka Vistar Karti Hai Jute Industry Par Iska Kya Asar Hoga, The Government Extends Mandatory Jute Packaging For Foodgrains And Sugar. What Will Be The Impact On The Jute Industry?

vokalandroid