search_iconmic
leaderboard
notify
हिंदी
leaderboard
notify
हिंदी
जवाब दें

इंसानियत बड़ी है या धर्म बड़ा है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसानियत बड़ी है या घर में दोनों ही अपनी-अपनी जगह है इसमें कोई तुलना की बात नहीं है
इंसानियत बड़ी है या घर में दोनों ही अपनी-अपनी जगह है इसमें कोई तुलना की बात नहीं है
Likes  4  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिए😊

ऐसे और सवाल

अधिक जवाब


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसानियत
इंसानियत
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसानियत भरी होती है धर्म धर्म का कुछ दर्द होता है वह धर्म सिखाता है इंसानियत ही सिखाता है तो धर्म और इंसानियत में ज्यादा डिफरेंस नहीं है किधर में से लोगों क्या लेते हैं अपनी अपनी श्रद्धा से लेते लेकिन धर्म श्रद्धा से उसको पहन रखा जाता है डर में तो होता है धर्म इंसान को कर्म करना सिखाती है तो चक्कर में सब का एक ही होता है वैसे अगर आपको सवाल है कि उस आने पर हमें किसको कौन ज्यादा बढ़ा है तो इंसानियत को ज्यादा हो तो देना चाहिए क्योंकि इंसानियत है तो दुनिया है इंसानियत से ही जिंदगी चलेगी इंसानियत यहां भी है और आप जहां मर जाएंगे आपका इंसानियत बाकी देखा जाएगा आपका धन ज्यादा काम नहीं देगा धर्मेंद्र कला सिखाता है तो इंसान है वह बड़ी है
इंसानियत भरी होती है धर्म धर्म का कुछ दर्द होता है वह धर्म सिखाता है इंसानियत ही सिखाता है तो धर्म और इंसानियत में ज्यादा डिफरेंस नहीं है किधर में से लोगों क्या लेते हैं अपनी अपनी श्रद्धा से लेते लेकिन धर्म श्रद्धा से उसको पहन रखा जाता है डर में तो होता है धर्म इंसान को कर्म करना सिखाती है तो चक्कर में सब का एक ही होता है वैसे अगर आपको सवाल है कि उस आने पर हमें किसको कौन ज्यादा बढ़ा है तो इंसानियत को ज्यादा हो तो देना चाहिए क्योंकि इंसानियत है तो दुनिया है इंसानियत से ही जिंदगी चलेगी इंसानियत यहां भी है और आप जहां मर जाएंगे आपका इंसानियत बाकी देखा जाएगा आपका धन ज्यादा काम नहीं देगा धर्मेंद्र कला सिखाता है तो इंसान है वह बड़ी है
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए इंसान एक बड़ी है धर्म से हर एक इंसान को हर एक व्यक्ति के प्रति इंसानियत होनी चाहिए और हमेशा उसमें इंसानियत के रूप में अगर किसी से कोई मनमुटाव भी हो तो उसे दूर कर देना चाहिए उसी का नाम इंसानियत
देखिए इंसान एक बड़ी है धर्म से हर एक इंसान को हर एक व्यक्ति के प्रति इंसानियत होनी चाहिए और हमेशा उसमें इंसानियत के रूप में अगर किसी से कोई मनमुटाव भी हो तो उसे दूर कर देना चाहिए उसी का नाम इंसानियत
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह तो एक बहुत सरल सा जवाब इसका हो जाएगा इंसानियत बहुत बड़ा धर्म है इंसानियत ही एक ऐसा धर्म है जो सभी लोगों को एक ही पटल पर ले कर आता है अगर आप में इंसानियत है तो आपको किसी धर्म की जरूरत नहीं पड़ेगी अगर आपकी खून का एक बूंद जमीन पर गिरती है और किसी और धर्म के व्यक्ति उनके गुणों पर करती है तो आप उसको अंदर नहीं कर पाएंगे फिर खून का रंग समान होगा अगर आपको किसी व्यक्ति का नाम नहीं पता है तो कि वह शक्ल देखकर आप उसका नाम नहीं पता कर सकते केवल वेशभूषा से शायद आप नाम बता कर सके कि हमारे धर्मों में इस तरह से डिस्ट्रिक्ट किया गया है लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि इंसानियत छोटी है इंसानियत हमेशा बड़ी थी और बड़े रहेगी धन्यवाद
यह तो एक बहुत सरल सा जवाब इसका हो जाएगा इंसानियत बहुत बड़ा धर्म है इंसानियत ही एक ऐसा धर्म है जो सभी लोगों को एक ही पटल पर ले कर आता है अगर आप में इंसानियत है तो आपको किसी धर्म की जरूरत नहीं पड़ेगी अगर आपकी खून का एक बूंद जमीन पर गिरती है और किसी और धर्म के व्यक्ति उनके गुणों पर करती है तो आप उसको अंदर नहीं कर पाएंगे फिर खून का रंग समान होगा अगर आपको किसी व्यक्ति का नाम नहीं पता है तो कि वह शक्ल देखकर आप उसका नाम नहीं पता कर सकते केवल वेशभूषा से शायद आप नाम बता कर सके कि हमारे धर्मों में इस तरह से डिस्ट्रिक्ट किया गया है लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि इंसानियत छोटी है इंसानियत हमेशा बड़ी थी और बड़े रहेगी धन्यवाद
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदि के इंसानियत बड़ी है या धर्म बड़ा है तो देखिए इंसान है जो सबसे बड़ी होती है और धर्म इंसानियत के सामने जो है कोई मायने नहीं रखती अगर आप किसी इंसान दूसरे इंसान की जो है बिना देखे जो है धर्म को लेकर भेदभाव है तो आप जो है सामने खड़े इंसान की जो है अगर जरूरत है तो आप उसके लिए बिल्कुल भी मदद नहीं करेंगे क्योंकि आपके मन में जो है धर्म को लेकर भेदभाव है तो इंसानियत जो है सबसे बड़ी चीजें इंसान को जो है कभी भी उसमें जो है लोगों की मदद हो सकती है क्योंकि जैसे कि आप फ्लड ले लीजिए या कोई भूकंप आ जाता है तो उसके लिए जो है आप तो इंसानियत के तौर पर लोगों की मदद करते हैं कभी भी जो है आप देखकर जो है उनकी मदद नहीं करते
आदि के इंसानियत बड़ी है या धर्म बड़ा है तो देखिए इंसान है जो सबसे बड़ी होती है और धर्म इंसानियत के सामने जो है कोई मायने नहीं रखती अगर आप किसी इंसान दूसरे इंसान की जो है बिना देखे जो है धर्म को लेकर भेदभाव है तो आप जो है सामने खड़े इंसान की जो है अगर जरूरत है तो आप उसके लिए बिल्कुल भी मदद नहीं करेंगे क्योंकि आपके मन में जो है धर्म को लेकर भेदभाव है तो इंसानियत जो है सबसे बड़ी चीजें इंसान को जो है कभी भी उसमें जो है लोगों की मदद हो सकती है क्योंकि जैसे कि आप फ्लड ले लीजिए या कोई भूकंप आ जाता है तो उसके लिए जो है आप तो इंसानियत के तौर पर लोगों की मदद करते हैं कभी भी जो है आप देखकर जो है उनकी मदद नहीं करते
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Insaniyat Badi Hai Ya Dharam Bada Hai,Humanity Is Big Or Religion Big?,


vokalandroid