क्या भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने से भारत दुनिया का नंबर वन देश बन जाएगा ...

Likes  82  Dislikes

30 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
यह बहुत ही मूर्खतापूर्ण कदम है कि जो लोग कहते हैं, भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित कर देंगे, तो भारत दुनिया का नंबर 1 देश बन जाएगा| आपको जानने की जरूरत है, कि हिंदू अपने में ही कितने सारे डिवाइडेड है, अभी आपने देखा कि किस तरीके से महाराष्ट्र के अंदर जो है, वह मराठाओ और जो दलितों उनके बीच में संघर्ष चल रहा है, और जिसमें काफी लोग प्रभावित हुए हैं, और एक व्यक्ति की जान भी चली गई है| तो हिंदू जो अपना राष्ट्र है, वह खुद ही जो है, हिंदू जो सोसाइटी है, वह अपने में खुद ही इतनी ज्यादा डिवाइडेड है, जिसमें सैकड़ों कास्ट और सब कास्ट है और अगर हम हिंदू राष्ट्र इसको घोषित कर देंगे, तो आपस में कास्ट में लड़ाईयां शुरू हो जाएंगी, और इससे कोई भी मामला नहीं सुलझेगा| तो मैं समझता हूं कि यह धर्म के ऊपर उठना चाहिए हमको और जो हमारे जो सर्कुलर इमेज है, और जो हमारी सर्कुलर थिंकिंग है, उसे हमें जोड़ देना चाहिए| और सारे जितने भी नागरिक हैं, चाहे उनके जो भी धर्म हो, जो भी उनके विश्वास हो, या जो भी उनकी कास्ट हो, सबको बराबर लेवल पर ट्रीट करना चाहिए, सबको बराबर फैसिलिटी देनी चाहिए, और सब को इक्वालिटी और जस्टिस मिलनी चाहिए| तो मैं इस बात की बिल्कुल सपोर्ट नहीं करता हूं, कि भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करना चाहिए और हिंदू राष्ट्र घोषित करने से भारत मेरे विचार से तो बद से बदतर इसकी हालत होगी बजाये इसके की इसकी हालत बेहतर होगी|Yeh Bahut Hi Murkhtapurn Kadam Hai Ki Jo Log Kehte Hain Bharat Ko Hindu Rashtra Ghoshit Kar Denge To Bharat Duniya Ka Number 1 Desh Ban Jayega Aapko Jaanne Ki Zaroorat Hai Ki Hindu Apne Mein Hi Kitne Sare Divided Hai Abhi Aapne Dekha Ki Kis Tarike Se Maharashtra Ke Andar Jo Hai Wah Aur Jo Dalito Unke Bich Mein Sangharsh Chal Raha Hai Aur Jisme Kafi Log Prabhavit Huye Hain Aur Ek Vyakti Ki Jaan Bhi Chali Gayi Hai To Hindu Jo Apna Rashtra Hai Wah Khud Hi Jo Hai Hindu Jo Society Hai Wah Apne Mein Khud Hi Itni Jyada Divided Hai Jisme Caste Aur Sab Caste Hai Aur Agar Hum Hindu Rashtra Isko Ghoshit Kar Denge To Aapas Mein Caste Mein Shuru Ho Jaengi Aur Isse Koi Bhi Maamla Nahi Sulajhega To Main Samajhata Hoon Ki Yeh Dharm Ke Upar Uthana Chahiye Hamko Aur Jo Hamare Jo Circular Image Hai Aur Jo Hamari Circular Thinking Hai Use Hume Jod Dena Chahiye Aur Sare Jitne Bhi Nagarik Hain Chahe Unke Jo Bhi Dharm Ho Jo Bhi Unke Vishwas Ho Ya Jo Bhi Unki Caste Ho Sabko Barabar Level Par Treat Karna Chahiye Sabko Barabar Facility Deni Chahiye Aur Sab Ko Aur Justice Milani Chahiye To Main Is Baat Ki Bilkul Support Nahi Karta Hoon Ki Bharat Ko Hindu Rashtra Ghoshit Karna Chahiye Aur Hindu Rashtra Ghoshit Karne Se Bharat Mere Vichar Se To Bad Se Badataar Iski Halat Hogi Bajaye Iske Ki Iski Halat Behtar Hogi
Likes  109  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने से भारत दुनिया का नंबर वन देश बन जाएगा इस बात से मैं बिल्कुल और सहमत हूं क्योंकि भारत एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र है और यही इसकी पहचान है और अगर भारत को नंबर वन देश बनना है तो इसके लिए भारत को बहुत सारे प्रयास करने पड़ेंगे यहां की गवर्नमेंट को इंडिया कि जो भी इंटरनल प्रॉब्लम है जैसे कि भुखमरी बेरोजगारी क्राइम करप्शन इन सारी चीजों को पहले दूर करना पड़ेगा यहां की एजुकेशन लेवल को काफी हाई करना पड़ेगा सभी लोग यहां पर जो क्रिकेट हो जाए सभी के पास जॉब हो तभी जाकर के भारत नंबर वन बन जाएगा और ना इस बात से कि भारत को एक हिंदू राष्ट्र घोषित कर दिया जाएBharat Ko Hindu Rashtra Ghoshit Karne Se Bharat Duniya Ka Number Van Desh Ban Jayega Is Baat Se Main Bilkul Aur Sahmat Hoon Kyonki Bharat Ek Dharmanirapeksh Rashtra Hai Aur Yahi Iski Pehchaan Hai Aur Agar Bharat Ko Number Van Desh Banana Hai To Iske Liye Bharat Ko Bahut Sare Prayas Karne Padenge Yahan Ki Government Ko India Ki Jo Bhi Internal Problem Hai Jaise Ki Bhukhmari Berojgari Crime Corruption In Saree Chijon Ko Pehle Dur Karna Padega Yahan Ki Education Level Ko Kafi Hi Karna Padega Sabhi Log Yahan Par Jo Cricket Ho Jaye Sabhi Ke Paas Job Ho Tabhi Jaakar Ke Bharat Number Van Ban Jayega Aur Na Is Baat Se Ki Bharat Ko Ek Hindu Rashtra Ghoshit Kar Diya Jaye
Likes  51  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
दो चीज में बोलना चाहूंगा इस बात पर, पहला तो यह कि हम नंबर एक से मतलब क्या है हमारा, नंबर एक देश बहुत सब्जेक्टिव है क्यूंकि इसकी डेफिनिशन अलग अलग होती हैl आप इकोनॉमिक पावर में या आप मसल पावर मींस मिलिट्री पावर में अगर बात करेंगे तो अमरीका नंबर एक देश है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि अमेरिका के लोग सबसे ज्यादा सुखी हैंl यह बहुत सारे जो इंडेक्स हैं जो ज्यादा इंपॉर्टेंट इन ह्यूमन डेवलपमेंट इंडेक्स जिसमें लोगों को फ्रीडम है और लोगो का इकनोमिक डेवलपमेंट है और लोगों को जो आजादी काम करने की और जो ओवरऑल आराम है वो अमेरिका उस में आगे रहता हैl उसमें यूरोप के कुछ छोटे देश जैसे कि नॉर्वे, स्वीडन, डेनमार्क यह सब कंट्री ज्यादा आगे रहते हैं, तो अगर आप ओवरऑल सिटीजंस की कंफर्ट की बात करेंगे तो शायद इन छोटे देशों में ज्यादा है बजाएं अमेरिका केl तो एक तो पहला पॉइंट था की नंबर एक क्या हैl नंबर दो नाम हिंदू राष्ट्र हो या सेकुलर राष्ट्र हो या कोई तीसरा नाम हम सोच लें, नाम से कुछ ज्यादा फर्क नहीं पड़ना है, होना है वह काम से तो आज आप भारत का नाम बदलक के हिंदू राष्ट्र कर दो, तो उसे देश की परिस्थिति कैसे बदलने वाली है सब जानते हैं, कुछ नहीं होने वाला है उससे राईटl तो हमें करना पड़ेगा काम करके, पॉलिटिकल सिस्टम बहुत इंपोर्टेंट होता है देश में कि किस तरीके से देश के लोग सही डायरेक्शन में काम करेंl अमेरिका इतना विकसित हुआ है पिछले 200 सालों में क्योंकि उन्होंने लोगों को काम करने की फ्रीडम दी है और लोगों की उस फ्रीडम को समझा है कि किस तरीके से वह देश के विकास में आगे बढ़ सकते हैंl तो नाम भले ही कुछ भी दे लेकिन हमें वह एनवायरमेंट क्रिएट करना है कि जिसमें यह देश के जो सवा करोड़ लोग हो वह देश को आगे ले कर जाए तब भारत देश का दुनिया का नंबर वन राष्ट्र बनेगाlDo Cheez Mein Bolna Chahunga Is Baat Par Pehla To Yeh Ki Hum Number Ek Se Matlab Kya Hai Hamara Number Ek Desh Bahut Hai Kyunki Iski Definition Alag Alag Hoti Hai Aap Economic Power Mein Ya Aap Masal Power Means Miltary Power Mein Agar Baat Karenge To America Number Ek Desh Hai Lekin Iska Matlab Yeh Nahi Hai Ki America Ke Log Sabse Jyada Sukhi Hain Yeh Bahut Sare Jo Index Hain Jo Jyada Important In Human Development Index Jisme Logon Ko Freedom Hai Aur Logo Ka Economic Development Hai Aur Logon Ko Jo Azadi Kaam Karne Ki Aur Jo Aaram Hai Vo America Us Mein Aage Rehta Hai Usamen Europe Ke Kuch Chote Desh Jaise Ki Norway Sweden Denmark Yeh Sab Country Jyada Aage Rehte Hain To Agar Aap Ki Confort Ki Baat Karenge To Shayad In Chote Deshon Mein Jyada Hai Bajaen America Ke To Ek To Pehla Point Tha Ki Number Ek Kya Hai Number Do Naam Hindu Rashtra Ho Ya Secular Rashtra Ho Ya Koi Teesra Naam Hum Soch Lein Naam Se Kuch Jyada Fark Nahi Padhna Hai Hona Hai Wah Kaam Se To Aaj Aap Bharat Ka Naam Ke Hindu Rashtra Kar Do To Use Desh Ki Paristhiti Kaise Badalne Wali Hai Sab Jante Hain Kuch Nahi Hone Wala Hai Usse To Hume Karna Padega Kaam Karke Political System Bahut Important Hota Hai Desh Mein Ki Kis Tarike Se Desh Ke Log Sahi Direction Mein Kaam Karen America Itna Viksit Hua Hai Pichhle 200 Salon Mein Kyonki Unhone Logon Ko Kaam Karne Ki Freedom Di Hai Aur Logon Ki Us Freedom Ko Samjha Hai Ki Kis Tarike Se Wah Desh Ke Vikash Mein Aage Badh Sakte Hain To Naam Bhale Hi Kuch Bhi De Lekin Hume Wah Create Karna Hai Ki Jisme Yeh Desh Ke Jo Sava Crore Log Ho Wah Desh Ko Aage Le Kar Jaye Tab Bharat Desh Ka Duniya Ka Number Van Rashtra Banega
Likes  33  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Bharat Ko Hindu Rashtra Ghoshit Karne Se Bharat Duniya Ka Number Van Desh Ban Jayega





मन में है सवाल?