नोटबंदी का सदमा साइड इफेक्ट कितने सालों में निकल जाएगा ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नोटबंदी का सदमा कुछ लोगों को तो पूरी जिंदगी झेलनी पड़ेगी क्योंकि जब मोदी सरकार ने नोटबंदी की थी तब कई लोगों की जान चली गई थी और अब उनके परिवार इसका सदमा झेल रहे हैं यह सारे समाचार हमने उस समय जब नोटबं ...जवाब पढ़िये

नोटबंदी का सदमा कुछ लोगों को तो पूरी जिंदगी झेलनी पड़ेगी क्योंकि जब मोदी सरकार ने नोटबंदी की थी तब कई लोगों की जान चली गई थी और अब उनके परिवार इसका सदमा झेल रहे हैं यह सारे समाचार हमने उस समय जब नोटबंदी का दौर चल रहा था तो हमने TV पर और न्यूज़ पेपर में भी पढ़ा था कुछ लोग जो कि अस्पताल में अपना इलाज करवा रहे थे या अपने परिवार वालों का इलाज करवा रहे थे और अचानक से नोटबंदी का फैसला ले लिया गया गया था इस वजह से अस्पताल वाले पुराने 500 और 1000 के नोट लेने से बिल्कुल मना कर दे रहे थे तो उन परिवार वालों के पास अब उनको देने के लिए पैसे नहीं थे जिसकी वजह से उनका इलाज नहीं हो पाया और इसलिए उनकी जान तक चली गई हमने यह भी देखा कि कई लोगों ने बैंक और एटीएम की लंबी लाइनों में इंतजार करते-करते दम तोड़ दिया तो अब कोई भी सरकार इस पर किसी की जान अगर चली जाती है तो उन के फैसले के वजह से तो इसकी भरपाई कभी नहीं कर सकती हैNotebandi Ka Shadma Kuch Logon Ko To Puri Zindagi Jhelani Padegi Kyonki Jab Modi Sarkar Ne Notebandi Ki Thi Tab Kai Logon Ki Jaan Chali Gayi Thi Aur Ab Unke Parivar Iska Shadma Jhel Rahe Hain Yeh Sare Samachar Humne Us Samay Jab Notebandi Ka Daur Chal Raha Tha To Humne TV Par Aur News Paper Mein Bhi Padha Tha Kuch Log Jo Ki Aspatal Mein Apna Ilaj Karava Rahe The Ya Apne Parivar Walon Ka Ilaj Karava Rahe The Aur Achanak Se Notebandi Ka Faisla Le Liya Gaya Gaya Tha Is Wajah Se Aspatal Wale Purane 500 Aur 1000 Ke Note Lene Se Bilkul Mana Kar De Rahe The To Un Parivar Walon Ke Paas Ab Unko Dene Ke Liye Paise Nahi The Jiski Wajah Se Unka Ilaj Nahi Ho Paya Aur Isliye Unki Jaan Tak Chali Gayi Humne Yeh Bhi Dekha Ki Kai Logon Ne Bank Aur Atm Ki Lambi Lineon Mein Intejar Karte Karte Dum Tod Diya To Ab Koi Bhi Sarkar Is Par Kisi Ki Jaan Agar Chali Jati Hai To Un Ke Faisle Ke Wajah Se To Iski Bharpai Kabhi Nahi Kar Sakti Hai
Likes  12  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोदी जी ने 500 1000 के नोट बंद करके एक बड़ा और कड़ा कदम उठाया है 1 नवंबर 2015 के दिन अचानक जब यह कदम उठाया गया तो जनता असमंजस में थे वह सोच नहीं पा रही थी कि उसे क्या करना चाहिए सरकार इस फैसले को सफल ...जवाब पढ़िये

मोदी जी ने 500 1000 के नोट बंद करके एक बड़ा और कड़ा कदम उठाया है 1 नवंबर 2015 के दिन अचानक जब यह कदम उठाया गया तो जनता असमंजस में थे वह सोच नहीं पा रही थी कि उसे क्या करना चाहिए सरकार इस फैसले को सफल और विपक्ष इसे पूरी तरह फेल मान रही है बैंकों में लगभग 90% की गई करेंसी आ गई है पहले के मुकाबले कैशलेस ट्रांजेक्शन में कई गुना वृद्धि दर्ज की गई इनकम टैक्स भरने वालों की संख्या में पिछले साल के मुकाबले 25% बढ़ोतरी हुई बैंकों में जो संदेश पद खाते थे उनका पता चला इस तरह के कई फायदे सरकार को हुए जनता को भी इसके दूरगामी लाभ मिलेंगे लेकिन मुझे लगता है नोटबंदी के कारण जनहानि हुई वह इसकी सबसे बड़ी खामी बन गई किसी भी परिवार के लिए उसके सदस्य का असमय चले जाना एक बार दुखद लाश है जिसे कोई भी सरकार किसी भी तरह नहीं बढ़ सकती है यह एक नोटबंदी का ऐसा इफेक्ट उन परिवारों पर हुआ है जो कभी भुलाया नहीं जा सकताModi Ji Ne 500 1000 Ke Note Band Karke Ek Bada Aur Kada Kadam Uthaya Hai 1 November 2015 Ke Din Achanak Jab Yeh Kadam Uthaya Gaya To Janta Asamanjas Mein The Wah Soch Nahi Pa Rahi Thi Ki Use Kya Karna Chahiye Sarkar Is Faisle Ko Safal Aur Vipaksh Ise Puri Tarah Fail Maan Rahi Hai Bankon Mein Lagbhag 90% Ki Gayi Currency Aa Gayi Hai Pehle Ke Muqable Cashless Transaction Mein Kai Guna Vriddhi Darj Ki Gayi Income Tax Bharne Walon Ki Sankhya Mein Pichle Saal Ke Muqable 25% Badhotari Hui Bankon Mein Jo Sandesh Pad Khate The Unka Pata Chala Is Tarah Ke Kai Fayde Sarkar Ko Hue Janta Ko Bhi Iske Durgami Labh Milenge Lekin Mujhe Lagta Hai Notebandi Ke Kaaran Janhaani Hui Wah Iski Sabse Badi Khami Ban Gayi Kisi Bhi Parivar Ke Liye Uske Sadasya Ka Asamay Chale Jana Ek Baar Dukhad Laash Hai Jise Koi Bhi Sarkar Kisi Bhi Tarah Nahi Badh Sakti Hai Yeh Ek Notebandi Ka Aisa Effect Un Parivaro Par Hua Hai Jo Kabhi Bhulaya Nahi Ja Sakta
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आधी के आम आदमी की बात करी जाए तो नोटबंदी का सदमा उसे तब जरुर लगा था जब नोटबंदी शुरू हुई थी परंतु तीन चार महीनों के बाद सब लोग बहुत ही आराम से अपना काम कर रहे हैं सबकी पैसे बदले जा चुके हैं उनके अकाउंट ...जवाब पढ़िये

आधी के आम आदमी की बात करी जाए तो नोटबंदी का सदमा उसे तब जरुर लगा था जब नोटबंदी शुरू हुई थी परंतु तीन चार महीनों के बाद सब लोग बहुत ही आराम से अपना काम कर रहे हैं सबकी पैसे बदले जा चुके हैं उनके अकाउंट अच्छे से काम कर रहे हैं अकाउंट में पैसा आ रहा है उसको ढंग से वह निकाल पा रहे हैं लेकिन अगर उन लोगों की बात की जाए जो कि भ्रष्टाचार करते थे और उन लोगों ने अपना पैसा छुपा के रखा हुआ था पुरानी करेंसी में यानी 500 1000 500 और 1000 के नोटों की तरीके से तो उन लोगों के लिए यह सदमा जिंदगी वरुण झेलना पड़ेगा कि कि अगर वह अभी चाहेंगे कि उनके नोट बदल जाए तो उनको उसका कुछ पर्सेंट हमारी गवर्मेंट को देना पड़ेगा और उनको यह बताना पड़ेगा कि यह इतना पैसा उनके पास कहां से आया तो इसका साधना जिन लोगों को थोड़ा लगा था शुरुआत में जो कि आम आदमी है उनको हट चूका है लेकिन जो लोगों ने भ्रष्टाचार किया उनको इसका साधना जिंदगी भर चलना पड़ेगाAadhi Ke Aam Aadmi Ki Baat Kari Jaye To Notebandi Ka Shadma Use Tab Zaroor Laga Tha Jab Notebandi Shuru Hui Thi Parantu Teen Char Mahinon Ke Baad Sab Log Bahut Hi Aaram Se Apna Kaam Kar Rahe Hain Sabaki Paise Badle Ja Chuke Hain Unke Account Acche Se Kaam Kar Rahe Hain Account Mein Paisa Aa Raha Hai Usko Dhang Se Wah Nikal Pa Rahe Hain Lekin Agar Un Logon Ki Baat Ki Jaye Jo Ki Bhrashtachar Karte The Aur Un Logon Ne Apna Paisa Chhupa Ke Rakha Hua Tha Purani Currency Mein Yani 500 1000 500 Aur 1000 Ke Noton Ki Tarike Se To Un Logon Ke Liye Yeh Shadma Zindagi Varun Jhelna Padega Ki Ki Agar Wah Abhi Chahenge Ki Unke Note Badal Jaye To Unko Uska Kuch Percent Hamari Goverment Ko Dena Padega Aur Unko Yeh Batana Padega Ki Yeh Itna Paisa Unke Paas Kahan Se Aaya To Iska Sadhna Jin Logon Ko Thoda Laga Tha Shuruvat Mein Jo Ki Aam Aadmi Hai Unko Hut Chuka Hai Lekin Jo Logon Ne Bhrashtachar Kiya Unko Iska Sadhna Zindagi Bhar Chalna Padega
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हॉलीवुड बंदी के सपने का जो साइड इफेक्ट जो है वह भी इस लाल के दीवाना में दिख रहा है कि कैसे निकल रहा है और 2018 के दिसंबर महीने तक की माना जा रहा है कि पूरी तरीके से नोटबंदी के साइड इफेक्ट जीवन निकल जा ...जवाब पढ़िये

हॉलीवुड बंदी के सपने का जो साइड इफेक्ट जो है वह भी इस लाल के दीवाना में दिख रहा है कि कैसे निकल रहा है और 2018 के दिसंबर महीने तक की माना जा रहा है कि पूरी तरीके से नोटबंदी के साइड इफेक्ट जीवन निकल जाएंगे हां यह बात सच है कि नोटबंदी के बाद के महीनों में भारत को बहुत नुकसान हुआ था लोगों को एटीएम के बाहर लाइन बनाकर घंटो तक रुकना पड़ रहा था भारत की जीडीपी जो है वह लगभग 5% तक हो चुकी थी परंतु 2018 में दिसंबर महीने में माना जा रहा है कि नोटबंदी के साइड इफेक्ट भी तरीके से निकल जाएगी हम अभी हाल हाल की रिपोर्ट देखकर तुम्हें बुद्धि के साइड इफेक्ट जवाब धीरे धीरे मचल रहा है और 2019 तक तो यह बात साफ हो जाएगी की नोटबंदी की सेटिंग भेजो पूरी तरीके से निकल जाएंगे और देश विकास की राह पर वापस ले जाएगाHollywood Bandi Ke Sapne Ka Jo Side Effect Jo Hai Wah Bhi Is Lal Ke Deewana Mein Dikh Raha Hai Ki Kaise Nikal Raha Hai Aur 2018 Ke December Mahine Tak Ki Mana Ja Raha Hai Ki Puri Tarike Se Notebandi Ke Side Effect Jeevan Nikal Jaenge Haan Yeh Baat Sach Hai Ki Notebandi Ke Baad Ke Mahinon Mein Bharat Ko Bahut Nuksan Hua Tha Logon Ko Atm Ke Bahar Line Banakar Ghanton Tak Rukna Padh Raha Tha Bharat Ki Gdp Jo Hai Wah Lagbhag 5% Tak Ho Chuki Thi Parantu 2018 Mein December Mahine Mein Mana Ja Raha Hai Ki Notebandi Ke Side Effect Bhi Tarike Se Nikal Jayegi Hum Abhi Haal Haal Ki Report Dekhkar Tumhein Buddhi Ke Side Effect Jawab Dhire Dhire Machel Raha Hai Aur 2019 Tak To Yeh Baat Saaf Ho Jayegi Ki Notebandi Ki Setting Bhejo Puri Tarike Se Nikal Jaenge Aur Desh Vikash Ki Raah Par Wapas Le Jayega
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Notebandi Ka Shadma Side Effect Kitne Salon Mein Nikal Jayega