आदिवासी हितों के लिए उनके साथ खड़े नक्सली सही है या अपनी सरकार ? ...

Likes  0  Dislikes

2 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
सबसे पहले मैं कहना चाहूंगा कि नक्सलियों का संबंध न केवल आदिवासियों से है बल्कि पिछड़े वर्ग दलित व शोषित समाज सेवी है देखें आदिवासी आदिवासियों के हितों के लिए खड़े हुए नक्सली सही है या नहीं यह कहना बहुत ही न्याय संगत नहीं होगा क्योंकि आदिवासियों के हितों की रक्षा अन्य माध्यम से भी की जा सकती है बहुत ही क्रांतियां जो की शांति के माध्यम से संचालित होती रही है पिछले 50 वर्षों से जिन्होंने आदिवासियों के हितों को बहुत ही प्रभावशाली तरह से राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय मंच पर उठाया है उनको हमें नहीं नजर अंदाज करना चाहिए बजाय इसके कि हिंसा के इस्तेमाल कर के हिंसात्मक साधनों का क्रांतियों का इस्तेमाल करके देश की सरकार उस देश के जो आर्थिक साधन है उन को हानि पहुंचाए जाए उनकी क्षति पहुंचाया जा रही बात सरकार की सरकार को चाहिए कि आदिवासियों के हितों की रक्षा के अलावा आदिवासियों को रोजगार प्रदान किया जाए उनके हितों की रक्षा की जाए उसे शमी ने जबरन ना चली जाएं वह अतिक्रमण आदि समस्याओं से उनका निदान किया जाए जंगलों का बहुत तेजी से काटा जा रहा है जिससे आदिवासियों का जो निवास स्थल है उनकी जो जमीन है उस पर तेजी से अतिक्रमण बढ़ रहा है और आदिवासी की बहुत से जमीन है ओने पौने दामों पर व्यापारियों का व्यवसाइयों को भेज दी गई जिसके बाद में उनके असंतोष की भावना थी वह बड़ी है शिक्षा स्वास्थ्य रोजगार की सुविधाएं आदिवासियों को प्रदान करके उनकी समस्याओं से निजात दिलाए जा सकता है वह उनके मन में पल रही जो नक्सलियों के प्रति संतोष व उनके प्रति संवेदना की भावना है उससे भी निजात पाया जा सकता है लेकिन उसके लिए कुछ समय और लगेगा वह जो हाल ही की केंद्र व राज्य सरकार है भाई इसके लिए अथक प्रयास कर रही है आशा करते हैं इससे हमें जल्दी ही निजात मिलेगा धन्यवादSabse Pehle Main Kehna Chahunga Ki Naksaliyo Ka Sambandh N Kewal Aadivaasiyo Se Hai Balki Pichade Varg Dalit V Shoshit Samaaj Sevi Hai Dekhen Aadiwasi Aadivaasiyo Ke Hiton Ke Liye Khade Hue Naksali Sahi Hai Ya Nahi Yeh Kehna Bahut Hi Nyay Sangat Nahi Hoga Kyonki Aadivaasiyo Ke Hiton Ki Raksha Anya Maadhyam Se Bhi Ki Ja Sakti Hai Bahut Hi Krantiyan Jo Ki Shanti Ke Maadhyam Se Sanchalit Hoti Rahi Hai Pichle 50 Varshon Se Jinhone Aadivaasiyo Ke Hiton Ko Bahut Hi Prabhavshali Tarah Se Rashtriya Antar Rashtriya Manch Par Uthaya Hai Unko Hume Nahi Nazar Andaaz Karna Chahiye Bajay Iske Ki Hinsa Ke Istemal Kar Ke Hinsatmak Saadhano Ka Krantiyon Ka Istemal Karke Desh Ki Sarkar Us Desh Ke Jo Aarthik Sadhan Hai Un Ko Hani Pahunchaye Jaye Unki Kshati Pahunchaya Ja Rahi Baat Sarkar Ki Sarkar Ko Chahiye Ki Aadivaasiyo Ke Hiton Ki Raksha Ke Alava Aadivaasiyo Ko Rojgar Pradan Kiya Jaye Unke Hiton Ki Raksha Ki Jaye Use Shami Ne Jabran Na Chali Jayen Wah Atikraman Aadi Samasyaon Se Unka Nidan Kiya Jaye Jangalon Ka Bahut Teji Se Kaata Ja Raha Hai Jisse Aadivaasiyo Ka Jo Niwas Sthal Hai Unki Jo Jameen Hai Us Par Teji Se Atikraman Badh Raha Hai Aur Aadiwasi Ki Bahut Se Jameen Hai One Paune Daamo Par Vyapariyon Ka Vyavasaiyon Ko Bhej Di Gayi Jiske Baad Mein Unke Asantosh Ki Bhavna Thi Wah Badi Hai Shiksha Swasthya Rojgar Ki Suvidhayen Aadivaasiyo Ko Pradan Karke Unki Samasyaon Se Nijat Dilaye Ja Sakta Hai Wah Unke Man Mein Pal Rahi Jo Naksaliyo Ke Prati Santosh V Unke Prati Savedna Ki Bhavna Hai Usse Bhi Nijat Paya Ja Sakta Hai Lekin Uske Liye Kuch Samay Aur Lagega Wah Jo Haal Hi Ki Kendra V Rajya Sarkar Hai Bhai Iske Liye Athak Prayas Kar Rahi Hai Asha Karte Hain Isse Hume Jaldi Hi Nijat Milega Dhanyavad
Likes  18  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
सर आपने कभी ऐसा क्वेश्चन पूछा है और अगर मैं अपने आप YouTube तुम्हें को ऐसा लगता है कि जो नक्सली जो आदिवासी हितों के लिए जो खड़े हुए हैं वह बिल्कुल सही नहीं है और आपको तो पता ही है जो लड़ाई चल रही है नक्सलियों के बीच ऑफ पुलिस के बीच सिस्टम के बीच गवर्नमेंट के बीच ही काफी सालों से चल रही है लगभग टिकट्स भी हो गए तो यह बहुत बड़ा इंटरनल भोले था जो हमारे भारत में चल रहा है कई जगह जैसे अभी बस्तर छत्तीसगढ़ में काफी दंगे हुए ठीक है अब मैं इन चीजों मुद्दा क्या नक्सली आदिवासी वो अपने आप को पीछे क्यों समझते हैं वह क्यों वायलेंट हो रहे हैं और वह लड़ाई लड़ाई क्यों कर रहे हैं सर क्या रीजन है तो हमारी सरकार को मुंह समझना चाहिए ठीक है जब मैं उर्दू तो मुझे लगता है कि आपको पता है जो क्या कहते हैं कि लोग आजकल जो ऐसे जो नक्सली समझ आदिवासी वह मिली फॉरेस्ट एरिया में रहते हैं गांव जंगलों में रहते हैं ठीक है दूर रहते हैं तो हम लोग आम जनता और हमारी जो सिस्टम है लोग क्या करते हैं कि उनके रिसोर्सेज को खत्म कर रहे हो नुकसान पहुंचा रहे हैं तो कहीं ना कहीं उनको डर भी लगता है और उनकी जब हम उनके घर के आस-पास एयरप्लेन की चीजों को नुकसान बताएंगे तो उनको भी दिक्कत होगी दूसरी चीज यह जो आज चल रहा है इंटरनेट से बहुत पुराना है और आपको पता होना चाहिए कि यह जो लड़ाई चल बहुत पुरानी है तू जब इतने सालों में लड़ाई से कुछ नहीं हुआ तो मुझे लगता है कि बॉलिंग से कुछ नहीं होने वाला ही सिर्फ बात और समझा कर ही दूर हो पाएगा और आपको तो पता ही है काफी आदिवासियों ने औकात पर नक्सली ने अपने हथियार त्याग दिए जब उनको कहा गया कि हम आपको नौकरी भी देंगे रहने के लिए यह भी देंगे उनको सारी सुख सुविधाएं भी देंगे तो मुझे लगता है कि लडाई से कुछ नहीं होगा अगर हम उनकी बात सुनने और समझने की कोशिश करें उनको समझाएं कि उनकी लाइफ अब बेहतर होगी घर में उनके साथ अच्छा करेगी तो शायद उन्हें हथियार त्याग दें और लड़ाई खत्म हो जाएSar Aapne Kabhi Aisa Question Poocha Hai Aur Agar Main Apne Aap YouTube Tumhein Ko Aisa Lagta Hai Ki Jo Naksali Jo Aadiwasi Hiton Ke Liye Jo Khade Hue Hain Wah Bilkul Sahi Nahi Hai Aur Aapko To Pata Hi Hai Jo Ladai Chal Rahi Hai Naksaliyo Ke Beech Of Police Ke Beech System Ke Beech Government Ke Beech Hi Kafi Salon Se Chal Rahi Hai Lagbhag Tikats Bhi Ho Gaye To Yeh Bahut Bada Internal Bhole Tha Jo Hamare Bharat Mein Chal Raha Hai Kai Jagah Jaise Abhi Bastar Chattisgarh Mein Kafi Denge Hue Theek Hai Ab Main In Chijon Mudda Kya Naksali Aadiwasi Vo Apne Aap Ko Piche Kyun Samajhte Hain Wah Kyun Vaylent Ho Rahe Hain Aur Wah Ladai Ladai Kyun Kar Rahe Hain Sar Kya Reason Hai To Hamari Sarkar Ko Mooh Samajhna Chahiye Theek Hai Jab Main Urdu To Mujhe Lagta Hai Ki Aapko Pata Hai Jo Kya Kehte Hain Ki Log Aajkal Jo Aise Jo Naksali Samajh Aadiwasi Wah Mili Forrest Area Mein Rehte Hain Gav Jangalon Mein Rehte Hain Theek Hai Dur Rehte Hain To Hum Log Aam Janta Aur Hamari Jo System Hai Log Kya Karte Hain Ki Unke Resources Ko Khatam Kar Rahe Ho Nuksan Pahuncha Rahe Hain To Kahin Na Kahin Unko Dar Bhi Lagta Hai Aur Unki Jab Hum Unke Ghar Ke Aas Paas Airplane Ki Chijon Ko Nuksan Batayenge To Unko Bhi Dikkat Hogi Dusri Cheez Yeh Jo Aaj Chal Raha Hai Internet Se Bahut Purana Hai Aur Aapko Pata Hona Chahiye Ki Yeh Jo Ladai Chal Bahut Purani Hai Tu Jab Itne Salon Mein Ladai Se Kuch Nahi Hua To Mujhe Lagta Hai Ki Bowling Se Kuch Nahi Hone Wala Hi Sirf Baat Aur Samjha Kar Hi Dur Ho Payega Aur Aapko To Pata Hi Hai Kafi Aadivaasiyo Ne Aukat Par Naksali Ne Apne Hathiyar Tyag Diye Jab Unko Kaha Gaya Ki Hum Aapko Naukri Bhi Denge Rehne Ke Liye Yeh Bhi Denge Unko Saree Sukh Suvidhayen Bhi Denge To Mujhe Lagta Hai Ki Ladai Se Kuch Nahi Hoga Agar Hum Unki Baat Sunane Aur Samjhne Ki Koshish Karen Unko Samjhayen Ki Unki Life Ab Behtar Hogi Ghar Mein Unke Saath Accha Karegi To Shayad Unhen Hathiyar Tyag Dein Aur Ladai Khatam Ho Jaye
Likes  4  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Aadiwasi Hiton Ke Liye Unke Saath Khade Naksali Sahi Hai Ya Apni Sarkar ?





मन में है सवाल?