कुमार विश्वास और अरविंद केजरीवाल के बीच का टकराव का अंजाम क्या हो सकता है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आम आदमी पार्टी वैसे ही अब धीरे-धीरे करके अरविंद केजरीवाल की पार्टी बन गई है और अरविंद केजरीवाल जो एक अपने को डेमोक्रेटिक लीडर की तरह प्रोजेक्ट कर देता था इस तरीके से सुप्रीमो हो गया सुप्रीम कमांडर हो ...जवाब पढ़िये
आम आदमी पार्टी वैसे ही अब धीरे-धीरे करके अरविंद केजरीवाल की पार्टी बन गई है और अरविंद केजरीवाल जो एक अपने को डेमोक्रेटिक लीडर की तरह प्रोजेक्ट कर देता था इस तरीके से सुप्रीमो हो गया सुप्रीम कमांडर हो गए हैं l आज की तारीख में अरविंद केजरीवाल के खिलाफ में कोई भी खड़ा नहीं हो सकता है और अरविंद केजरीवाल ने जिस तरीके से बाकि पार्टी के प्रशांत भूषण को बाहर किया और योगेंद्र यादव को बाहर किया उसे इस बात को क्लियर हो गया कि जो भी उनके खिलाफ खड़ा होगा उसको वह टॉलरेट नहीं करेंगे , उसको निकाल देंगे l कुमार विश्वास ने भी काफी समय से अरविंद केजरीवाल के खिलाफ तो नहीं लेकिन कम से कम अरविंद केजरीवाल को सपोर्ट नहीं किया हैl जैसे कि जो इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में जो पार्टी का स्टैंड था कि जो इन की हार हुई दिल्ली में वह इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के वजह से हुई उसमें कुमार विश्वास ने अपना एक व्यक्तिगत मत दिया था जो कि इस विचार से अलग था और यह बात पार्टी को अच्छी नहीं लगी l तो कुमार विश्वास इंडिपेंडेंट माइंड के हैं, पोएट है और वह अपने हिसाब से जिंदगी जीना चाहते हैं और वह इस तरीके डिसिप्लिन में बांधके नहीं रहना चाहते हैं l और इसीलिए कुमार विश्वास को यह डिसाइड करना होगा कि वह आपको छोड़ रहे हैं और यह तो राजनीति अपना नाता तोड़ने या फिर ऐसी राजनीतिक पार्टी में जाएं जहां पर वह ज्यादा एक्सेप्ट टेबल है या ज्यादा अच्छी पोजीशन को मिल सकती है l और मुझे नहीं लगता कि अरविंद केजरीवाल की पार्टी जो आप है उसके अंदर उसका कोई उनका कोई वजूद है l और लेकिन जहां तक पार्टी का सवाल है मैं समझता हूं कि इस विवाद से पार्टी कमजोर हुई है और आपकी जो इच्छा भी है उसको बहुत ही गहरा नुकसान हुआ है lAam Aadmi Party Waise Hi Ab Dhire Dhire Karke Arvind Kejriwal Ki Party Ban Gayi Hai Aur Arvind Kejriwal Jo Ek Apne Ko Democratic Leader Ki Tarah Project Kar Deta Tha Is Tarike Se Supremo Ho Gaya Supreme Commander Ho Gaye Hain L Aaj Ki Tarikh Mein Arvind Kejriwal Ke Khilaf Mein Koi Bhi Khada Nahi Ho Sakta Hai Aur Arvind Kejriwal Ne Jis Tarike Se Baki Party Ke Prashant Bhushan Ko Bahar Kiya Aur Yogendra Yadav Ko Bahar Kiya Use Is Baat Ko Clear Ho Gaya Ki Jo Bhi Unke Khilaf Khada Hoga Usko Wah Talret Nahi Karenge , Usko Nikal Denge L Kumar Vishwas Ne Bhi Kafi Samay Se Arvind Kejriwal Ke Khilaf To Nahi Lekin Kum Se Kum Arvind Kejriwal Ko Support Nahi Kiya Hai Jaise Ki Jo Electronic Voting Machine Mein Jo Party Ka Stand Tha Ki Jo In Ki Haar Hui Delhi Mein Wah Electronic Voting Machine Ke Wajah Se Hui Usamen Kumar Vishwas Ne Apna Ek Vyaktigat Mat Diya Tha Jo Ki Is Vichar Se Alag Tha Aur Yeh Baat Party Ko Acchi Nahi Lagi L To Kumar Vishwas Independent Mind Ke Hain Poet Hai Aur Wah Apne Hisab Se Zindagi Jeena Chahte Hain Aur Wah Is Tarike Discipline Mein Bandhake Nahi Rehna Chahte Hain L Aur Isliye Kumar Vishwas Ko Yeh Decide Karna Hoga Ki Wah Aapko Chod Rahe Hain Aur Yeh To Rajneeti Apna Nataa Todne Ya Phir Aisi Rajnitik Party Mein Jayen Jahan Par Wah Jyada Except Table Hai Ya Jyada Acchi Position Ko Mil Sakti Hai L Aur Mujhe Nahi Lagta Ki Arvind Kejriwal Ki Party Jo Aap Hai Uske Andar Uska Koi Unka Koi Vajud Hai L Aur Lekin Jahan Tak Party Ka Sawal Hai Main Samajhata Hoon Ki Is Vivad Se Party Kamjor Hui Hai Aur Aapki Jo Icha Bhi Hai Usko Bahut Hi Gehra Nuksan Hua Hai L
Likes  19  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आम आदमी पार्टी ने दिल्ली राज्यसभा की 3 सीटों पर होने वाले चुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों के नाम की घोषणा कर दी है जिसमें की सीनियर लीडर कुमार विश्वास का नाम नहीं है इस बात से खफा कुमार विश्वास ने कहा ह...जवाब पढ़िये
आम आदमी पार्टी ने दिल्ली राज्यसभा की 3 सीटों पर होने वाले चुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों के नाम की घोषणा कर दी है जिसमें की सीनियर लीडर कुमार विश्वास का नाम नहीं है इस बात से खफा कुमार विश्वास ने कहा है कि उन्हें सच बोलने की सजा मिली है यह सब टकराव का अंजाम यह हो सकता है कि कुमार विश्वास आम आदमी पार्टी छोड़ दें और नई पार्टी बना लेंAam Aadmi Party Ne Delhi Rajya Sabha Ki 3 Seaton Par Hone Wale Chunav Ke Liye Apne Ummidwaron Ke Naam Ki Ghoshana Kar Di Hai Jisme Ki Senior Leader Kumar Vishwas Ka Naam Nahi Hai Is Baat Se Khafa Kumar Vishwas Ne Kaha Hai Ki Unhen Sach Bolne Ki Saja Mili Hai Yeh Sab Takraav Ka Anjaam Yeh Ho Sakta Hai Ki Kumar Vishwas Aam Aadmi Party Chod Dein Aur Nayi Party Bana Lein
Likes  11  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए दिल्ली के अंदर 16 जनवरी को दिन राज्यसभा की सीट पर इलेक्शन होने वाले हैं आम आदमी के पास आम आदमी पार्टी के पास पहले ही सिक्स सिक्सेस है और अगर कुछ दिक्कत उनके पास पूरी 70 हो जाएंगे तो इसमें जो तीन...जवाब पढ़िये
देखिए दिल्ली के अंदर 16 जनवरी को दिन राज्यसभा की सीट पर इलेक्शन होने वाले हैं आम आदमी के पास आम आदमी पार्टी के पास पहले ही सिक्स सिक्सेस है और अगर कुछ दिक्कत उनके पास पूरी 70 हो जाएंगे तो इसमें जो तीन लोगों को आम आदमी पार्टी की तरफ से लिख दिया गया है वह है एन डी गुप्ता मिस्टर सुशील गुप्ता टूटा होगा और और एक चूहा मैसेज चार्टर्ड अकाउंटेंट है जिनका नाम है मिस्टर सिंह को तनहाई प्ले किया गया लेकिन कुमार विश्वास को नहीं किया जिससे भी काफी नाराज है उन्होंने बोला क्यों नहीं सच बोलने की सजा मिल गई और इस पार्टी में अगर कोई आप कैसी वालों के खिलाफ जाए तो उसका पार्टी में सर्वाधिक करना बहुत आसान नहीं है उन्होंने बोला कि क्योंकि मैं 10 साल से अपनी सच्ची राय रख रहा था चाहे वह सर्जिकल हो या फिर टिकट रिजर्वेशन को लेकर 11130 हो या फिर कोई और बात हुई थी न्यूज़ीलैंड हो या कुछ भी तो उसके लिए मुझे सजा मिलेगी कुमार विश्वास पार्टी की एक मजबूत कार्यकर्ता हैं और अच्छे वक्ता भी हैं तो अगर वह पार्टी में नहीं होता तो पार्टी पर काफी उसे पड़ेगा वैसे भी आम आदमी पार्टी फुल मोर्स टूटने ही वाली है सब पार्टी को छोड़ छोड़ कर अलग अलग पार्टी समाचार है और अपने से बड़े बड़े नेता भी नाराज हो जाएंगे उसके बाद सो जाएंगे तो पार्टी का जो भविष्य वह फिर खतरे में ही हैDekhie Delhi Ke Andar 16 January Ko Din Rajya Sabha Ki Seat Par Election Hone Wale Hain Aam Aadmi Ke Paas Aam Aadmi Party Ke Paas Pehle Hi Six Sixes Hai Aur Agar Kuch Dikkat Unke Paas Puri 70 Ho Jaenge To Isme Jo Teen Logon Ko Aam Aadmi Party Ki Taraf Se Likh Diya Gaya Hai Wah Hai En D Gupta Mister Sushil Gupta Tuta Hoga Aur Aur Ek Chuha Massage Chartered Accountant Hai Jinka Naam Hai Mister Singh Ko Tanhai Play Kiya Gaya Lekin Kumar Vishwas Ko Nahi Kiya Jisse Bhi Kafi Naaraj Hai Unhone Bola Kyun Nahi Sach Bolne Ki Saja Mil Gayi Aur Is Party Mein Agar Koi Aap Kaisi Walon Ke Khilaf Jaye To Uska Party Mein Sarvadhik Karna Bahut Aasan Nahi Hai Unhone Bola Ki Kyonki Main 10 Saal Se Apni Sachhi Rai Rakh Raha Tha Chahe Wah Surgical Ho Ya Phir Ticket Reservation Ko Lekar 11130 Ho Ya Phir Koi Aur Baat Hui Thi Newzealand Ho Ya Kuch Bhi To Uske Liye Mujhe Saja Milegi Kumar Vishwas Party Ki Ek Mazboot Karyakarta Hain Aur Acche Vakta Bhi Hain To Agar Wah Party Mein Nahi Hota To Party Par Kafi Use Padega Waise Bhi Aam Aadmi Party Full Mores Tutane Hi Wali Hai Sab Party Ko Chod Chod Kar Alag Alag Party Samachar Hai Aur Apne Se Bade Bade Neta Bhi Naaraj Ho Jaenge Uske Baad So Jaenge To Party Ka Jo Bhavishya Wah Phir Khatre Mein Hi Hai
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदित्य कुमार मिश्रा तेरा रंग के जीवन के बीच में जो हनुमान 9:00 टकराव चल रही है इसका अंजाम बहुत भारी हो सकता है क्योंकि अभी 16 जनवरी को जो है वह राज्यसभा की सीटों पर मतदान होने वाला है तो उन तीनों सीटो...जवाब पढ़िये
आदित्य कुमार मिश्रा तेरा रंग के जीवन के बीच में जो हनुमान 9:00 टकराव चल रही है इसका अंजाम बहुत भारी हो सकता है क्योंकि अभी 16 जनवरी को जो है वह राज्यसभा की सीटों पर मतदान होने वाला है तो उन तीनों सीटों पर जो है आपने अपना कैंडिडेट खड़ा कर दिया है लेकिन जिसके चलते कुमार विश्वास और उनके बीच में अनबन चल रही है जो अगर उसको जल्दी साल नहीं किया तो मैं तो आम आदमी पार्टी ने बहुत भारी हो सकता है क्योंकि कुमार विश्वास जो है वह एक बहुत ही अच्छे और सब रह नेता है आम आदमी पार्टी के अगर कोई डिफरेंस इसकी वजह से उनको जाना पड़ता है तो यह बहुत बड़ा लॉन्च होगा आम आदमी पार्टी के लिएAditya Kumar Mishra Tera Rang Ke Jeevan Ke Beech Mein Jo Hanuman 9:00 Takraav Chal Rahi Hai Iska Anjaam Bahut Bhari Ho Sakta Hai Kyonki Abhi 16 January Ko Jo Hai Wah Rajya Sabha Ki Seaton Par Matdan Hone Wala Hai To Un Teenon Seaton Par Jo Hai Aapne Apna Candidate Khada Kar Diya Hai Lekin Jiske Chalte Kumar Vishwas Aur Unke Beech Mein Anaban Chal Rahi Hai Jo Agar Usko Jaldi Saal Nahi Kiya To Main To Aam Aadmi Party Ne Bahut Bhari Ho Sakta Hai Kyonki Kumar Vishwas Jo Hai Wah Ek Bahut Hi Acche Aur Sab Rah Neta Hai Aam Aadmi Party Ke Agar Koi Difference Iski Wajah Se Unko Jana Padata Hai To Yeh Bahut Bada Launch Hoga Aam Aadmi Party Ke Liye
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी मुझे लगता है अरविंद केजरीवाल और कुमार विश्वास के बीच बिल्कुल टक्कर आपकी भी आ चुके मुझे लगता है कि इसका रिजल्ट हम आने वाले दो या तीन दिनों में देखेंगे मुझे इसमें मुझे लगता है कि या तो यह होगा कि क...जवाब पढ़िये
विकी मुझे लगता है अरविंद केजरीवाल और कुमार विश्वास के बीच बिल्कुल टक्कर आपकी भी आ चुके मुझे लगता है कि इसका रिजल्ट हम आने वाले दो या तीन दिनों में देखेंगे मुझे इसमें मुझे लगता है कि या तो यह होगा कि कुमार विश्वास पार्टी छोड़ देंगे या अपने को समर्थकों समर्थकों के साथ मिलकर पार्टी छोड़ेंगे क्योंकि जिस तरह से कुमार विश्वास था कि जो राज्यसभा की कुल सीटें हैं जो दिल्ली से हैं उनमें एक सीट तो उनके लिए रखी जाएगी वह फाइनली अरविंद केजरीवाल ने डिसाइड किया कि उनको राज्यसभा की कोई सीट लोड नहीं की जाएगी तो वह बगावती तेवर अपना लिया है मुझे लगता है उनको देना चाहिए तो क्योंकि जिस मेहनत के साथ जिस भरोसे के साथ उन्होंने अरविंद केजरीवाल का साथ दिया तो इतना तो उनको बनता थाVikee Mujhe Lagta Hai Arvind Kejriwal Aur Kumar Vishwas Ke Beech Bilkul Takkar Aapki Bhi Aa Chuke Mujhe Lagta Hai Ki Iska Result Hum Aane Wale Do Ya Teen Dinon Mein Dekhenge Mujhe Isme Mujhe Lagta Hai Ki Ya To Yeh Hoga Ki Kumar Vishwas Party Chod Denge Ya Apne Ko Samarthakon Samarthakon Ke Saath Milkar Party Chodenge Kyonki Jis Tarah Se Kumar Vishwas Tha Ki Jo Rajya Sabha Ki Kul Seaten Hain Jo Delhi Se Hain Unmen Ek Seat To Unke Liye Rakhi Jayegi Wah Finally Arvind Kejriwal Ne Decide Kiya Ki Unko Rajya Sabha Ki Koi Seat Load Nahi Ki Jayegi To Wah Bagavati Tevar Apna Liya Hai Mujhe Lagta Hai Unko Dena Chahiye To Kyonki Jis Mehnat Ke Saath Jis Bharose Ke Saath Unhone Arvind Kejriwal Ka Saath Diya To Itna To Unko Banta Tha
Likes  6  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर हमें पूरा मामला देखे तो कुमार विश्वास अरविंद केजरीवाल जो कि दोनों यहां आम आदमी पार्टी के फाउंडर रहे हो चुके हैं उनका आम आदमी पार्टी की राज्यसभा में जाएंगे आम आदमी पार्टी के नेता जी की राज्यसभा में...जवाब पढ़िये
अगर हमें पूरा मामला देखे तो कुमार विश्वास अरविंद केजरीवाल जो कि दोनों यहां आम आदमी पार्टी के फाउंडर रहे हो चुके हैं उनका आम आदमी पार्टी की राज्यसभा में जाएंगे आम आदमी पार्टी के नेता जी की राज्यसभा में जाएंगे उनका नाम उन्हें देने कुमार विश्वास नहीं आ गया है कुमार विश्वास जी ने यह बात कही थी कि इस प्रकार से एक होने जा सकता और नेता को भी राज्यसभा में जाने का मौका नहीं मिल रहा है और इससे जो है पार्टी में दो तरह के और दो तरीके के साथ सो चुकी है यह तो पहली वह चुके चुके अरविंद केजरीवाल के इस डिसीजन को सपोर्ट करते हैं वही बात को सपोर्ट करते कुमार विश्वास जी को राज्यसभा की सीटें मिली थी और दूसरे कुमार विश्वास जी को सपोर्ट करते हैं नेता है जो कि कुमार विश्वास जी को सपोर्ट करते हैं आप कुमार विश्वास जी के अंदर काम करते हैं वह तो कुमार विश्वास जी की बात सुनेगा वह आम आदमी पार्टी के लिए साथ काम इतना अच्छा तरीके से नहीं करेंगे या फिर ऐसा भी हो सकता है कि कुमार विश्वास जी जो है आम आदमी पार्टी से रेसिग्नेशन दे दे अपना इस्तीफा दे दिया पॉलिटिकल पार्टी में जा कर ज्वाइन कर दे या फिर कोई दूसरी पॉलिटिकल पार्टी किसकी बना दें जिसके हिस्से उनके जो भी कार्यकर्ता जोगेंद्र काम करते थे वह भी चले जाएंगे और आम आदमी पार्टी को बहुत बड़ा झटका लग सकता है क्योंकि हम देख रहे किस प्रकार से आम आदमी पार्टी को दिल्ली को छोड़कर बाकी कोई भी इलेक्शन में लगी है वहां पर इतनी सफलता नहीं पाया उसे बिल्कुल ना के बराबर 500 साल रिकॉर्डर पैसा तो लड़की अकेले दिल्ली चुनाव में भी उनके लिए मुश्किल होगा जीत पाना तो आम आदमी पार्टी के लिए बहुत ही बहुत ही बुरी और दुखद खबर होगीAgar Hume Pura Maamla Dekhe To Kumar Vishwas Arvind Kejriwal Jo Ki Dono Yahan Aam Aadmi Party Ke Founder Rahe Ho Chuke Hain Unka Aam Aadmi Party Ki Rajya Sabha Mein Jaenge Aam Aadmi Party Ke Neta Ji Ki Rajya Sabha Mein Jaenge Unka Naam Unhen Dene Kumar Vishwas Nahi Aa Gaya Hai Kumar Vishwas Ji Ne Yeh Baat Kahi Thi Ki Is Prakar Se Ek Hone Ja Sakta Aur Neta Ko Bhi Rajya Sabha Mein Jaane Ka Mauka Nahi Mil Raha Hai Aur Isse Jo Hai Party Mein Do Tarah Ke Aur Do Tarike Ke Saath So Chuki Hai Yeh To Pehli Wah Chuke Chuke Arvind Kejriwal Ke Is Decision Ko Support Karte Hain Wahi Baat Ko Support Karte Kumar Vishwas Ji Ko Rajya Sabha Ki Seaten Mili Thi Aur Dusre Kumar Vishwas Ji Ko Support Karte Hain Neta Hai Jo Ki Kumar Vishwas Ji Ko Support Karte Hain Aap Kumar Vishwas Ji Ke Andar Kaam Karte Hain Wah To Kumar Vishwas Ji Ki Baat Sunegaa Wah Aam Aadmi Party Ke Liye Saath Kaam Itna Accha Tarike Se Nahi Karenge Ya Phir Aisa Bhi Ho Sakta Hai Ki Kumar Vishwas Ji Jo Hai Aam Aadmi Party Se Resigneshan De De Apna Istifa De Diya Political Party Mein Ja Kar Join Kar De Ya Phir Koi Dusri Political Party Kiski Bana Dein Jiske Hisse Unke Jo Bhi Karyakarta Jogendra Kaam Karte The Wah Bhi Chale Jaenge Aur Aam Aadmi Party Ko Bahut Bada Jhatka Lag Sakta Hai Kyonki Hum Dekh Rahe Kis Prakar Se Aam Aadmi Party Ko Delhi Ko Chodkar Baki Koi Bhi Election Mein Lagi Hai Wahan Par Itni Safalta Nahi Paya Use Bilkul Na Ke Barabar 500 Saal Recorder Paisa To Ladki Akele Delhi Chunav Mein Bhi Unke Liye Mushkil Hoga Jeet Pana To Aam Aadmi Party Ke Liye Bahut Hi Bahut Hi Buri Aur Dukhad Khabar Hogi
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kumar Vishwas Aur Arvind Kejriwal Ke Beech Ka Takraav Ka Anjaam Kya Ho Sakta Hai, What Can Be The Clash Between Kumar Vishwas And Arvind Kejriwal? , Anjaam रिजल्ट

vokalandroid