मोदी सरकार को आरक्षण खत्म कर देना चाहिए या समान कर देना चाहिए सभी जातिवाद में ? ...

Likes  0  Dislikes

3 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
इस प्रश्न के उत्तर को हम विभिन्न परिप्रेक्ष्य में समझने की कोशिश करेंगे| पहला है- संविधान में संशोधन की प्रक्रिया, जिसके आधार पर मोदी सरकार चाहे, तो आरक्षण पर रोक लगा सकती हैं| आरक्षण को री- डिफाइन कर सकती है, उसकी पुनर्रचना कर सकती है| यह प्रस्तुतिकरण संविधान के भाग 20 के अनुच्छेद 368 में प्रदान किया गया है| जिसमें साधारण बहुमत, विशेष बहुमत तथा विशेष बहुमत में राज्यों के अनुसमर्थन के पश्चात, संविधान में संशोधन करके जो संविधान का एक मूलभूत ढांचा है, उसमें परिवर्तन लाया जा सकता हैं| व कुछ हद तक आरक्षण में मूलभूत आधार पर परिवर्तन किए जा सकते हैं| परंतु मोदी सरकार यह नहीं करेगी क्योंकि 2019 में जो चुनाव है, उसमें राज्यसभा और लोकसभा की बहुत से सीटों पर अनुसूचित जाति, जनजाति व अन्य पिछड़ा वर्ग के लोगों का विशेष प्रभाव है, उनका विशेष योगदान रहता है उन सीटों के निर्णायक नतीजों में| दूसरा मोदी सरकार ने प्रथमदृष्टया स्पष्ट कर दिया है, कि संविधान में आरक्षण को लेकर कोई भी परिवर्तन आने वाले कुछ वर्षों में नहीं किया जाएगा| और इसके पीछे एक मुलभुत कारण यह है, कि आज भी भारत में बहुत सी अनुसूचित जातियां, जनजातियां व पिछड़ा वर्ग है, जिनको आरक्षण मिले होने के बावजूद उनका लाभ उनको नहीं मिल पाता है| वह वास्तविकता भी यह है कि उनको शायद आज भी आरक्षण की कुछ हद तक आवश्यकता है, जरूरत है| और संविधान में संवैधानिक समिति बने, जो आरक्षण को एक बार फिर से देखें, उसकी निगरानी करें| अपना जो रिपोर्ट है, वह संवैधानिक समिति को प्रस्तुत करें| धन्यवाद|Is Prashna Ke Uttar Ko Hum Vibhinn Pariprekshya Mein Samjhne Ki Koshish Karenge Pehla Hai Samvidhan Mein Sanshodhan Ki Prakriya Jiske Aadhar Par Modi Sarkar Chahe To Aarakshan Par Rok Laga Sakti Hain Aarakshan Ko Ri Define Kar Sakti Hai Uski Punarrachana Kar Sakti Hai Yeh Prastutikaran Samvidhan Ke Bhag 20 Ke Anuched 368 Mein Pradan Kiya Gaya Hai Jisme Sadhaaran Bahumat Vishesh Bahumat Tatha Vishesh Bahumat Mein Rajyo Ke Anusamarthan Ke Pashchat Samvidhan Mein Sanshodhan Karke Jo Samvidhan Ka Ek Mulbhut Dhancha Hai Usamen Pariwartan Laya Ja Sakta Hain V Kuch Had Tak Aarakshan Mein Mulbhut Aadhar Par Pariwartan Kiye Ja Sakte Hain Parantu Modi Sarkar Yeh Nahi Karegi Kyonki 2019 Mein Jo Chunav Hai Usamen Rajya Sabha Aur Lok Sabha Ki Bahut Se Seaton Par Anusuchit Jati Janjaati V Anya Pichada Varg Ke Logon Ka Vishesh Prabhav Hai Unka Vishesh Yogdan Rehta Hai Un Seaton Ke Niranayak Nateezon Mein Doosra Modi Sarkar Ne Prathamadrishtaya Spasht Kar Diya Hai Ki Samvidhan Mein Aarakshan Ko Lekar Koi Bhi Pariwartan Aane Wale Kuch Varshon Mein Nahi Kiya Jayega Aur Iske Piche Ek Mulbhut Kaaran Yeh Hai Ki Aaj Bhi Bharat Mein Bahut Si Anusuchit Jatiyaan Janajatiyan V Pichada Varg Hai Jinako Aarakshan Mile Hone Ke Bawajud Unka Labh Unko Nahi Mil Pata Hai Wah Vastavikta Bhi Yeh Hai Ki Unko Shayad Aaj Bhi Aarakshan Ki Kuch Had Tak Avashyakta Hai Zaroorat Hai Aur Samvidhan Mein Samvaidhanik Samiti Bane Jo Aarakshan Ko Ek Baar Phir Se Dekhen Uski Nigrani Karen Apna Jo Report Hai Wah Samvaidhanik Samiti Ko Prastut Karen Dhanyavad
Likes  67  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
आरक्षण खत्म करना है किसी भी एंगल से अभी तो सही दिख नहीं रहा क्योंकि इंडिया के कंट्री में यहां पर जो सोशल जस्टिस हुआ है दलित के साथ यह होता है अभी भी अभी भी तुमको या फिर अपने ही गिराते भाई लोगों को रहूंगी ट्रीटमेंट करते हैं प्रकाश लोग तो सोशल जस्टिस उनको नहीं मिल पाएगा और यह जरूरी है कि जैसे तुम करती करती में सोशल जस्टिस मिलना चाहिए तो उनको आरक्षण मिलना चाहिए हाउस मेरी फोन किया जाना चाहिए क्योंकि इकोनॉमिक लिंबिक है उनको भी प्रोटेक्शन मिलना चाहिए तो आरक्षण सोशियो इकोनॉमिक बेसिस पर दिया जा सकता है दिया जा सकता है वह देना चाहिए नॉट ओनली सोशल बेसिस पर जो भी दिया जा रहा है तो मेरी जान से सोशल सोशल इनजस्टिस कोई लिमिट करना और इकोनॉमिक्स क्लास 9th क्लास में बिलॉन्ग करते हैं उनको भी प्रोटेक्शन प्रदान करना क्यों जरूरी है तो सोशियो इकोनॉमिक ऑन रोड प्राइस पर आरक्षण मिलना चाहिए यह रिफॉर्म्स आरक्षण खत्म करना उचित नहीं होगा क्योंकि अभी भी हमारे देश में बहुत सारे पिछले लोग हैं और बहुत गरीबी और अमीरी के बीच में बहुत बड़ा गिफ्ट है तो उसको कम करना होगा और यह आरक्षण अच्छा दूल्हा हाउस में मोदी फॉर्म करना चाहिए क्योंकि एक व्यक्ति को इस को इस पर गर्व होना चाहिए कि एक और इफेक्टिव कैसे बनाया जा सकता है यह गाना चाहिए हमकोAarakshan Khatam Karna Hai Kisi Bhi Angle Se Abhi To Sahi Dikh Nahi Raha Kyonki India Ke Country Mein Yahan Par Jo Social Justice Hua Hai Dalit Ke Saath Yeh Hota Hai Abhi Bhi Abhi Bhi Tumko Ya Phir Apne Hi Giraate Bhai Logon Ko Rahungi Treatment Karte Hain Prakash Log To Social Justice Unko Nahi Mil Payega Aur Yeh Zaroori Hai Ki Jaise Tum Karti Karti Mein Social Justice Milna Chahiye To Unko Aarakshan Milna Chahiye House Meri Phone Kiya Jana Chahiye Kyonki Economic Limbik Hai Unko Bhi Protection Milna Chahiye To Aarakshan Soshiyo Economic Basis Par Diya Ja Sakta Hai Diya Ja Sakta Hai Wah Dena Chahiye Not Only Social Basis Par Jo Bhi Diya Ja Raha Hai To Meri Jaan Se Social Social Inajastis Koi Limit Karna Aur Economics Class 9th Class Mein Bilang Karte Hain Unko Bhi Protection Pradan Karna Kyun Zaroori Hai To Soshiyo Economic On Road Price Par Aarakshan Milna Chahiye Yeh Reforms Aarakshan Khatam Karna Uchit Nahi Hoga Kyonki Abhi Bhi Hamare Desh Mein Bahut Sare Pichle Log Hain Aur Bahut Garibi Aur Amiri Ke Beech Mein Bahut Bada Gift Hai To Usko Kum Karna Hoga Aur Yeh Aarakshan Accha Dulha House Mein Modi Form Karna Chahiye Kyonki Ek Vyakti Ko Is Ko Is Par Garv Hona Chahiye Ki Ek Aur Effective Kaise Banaya Ja Sakta Hai Yeh Gaana Chahiye Hamko
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
देखिए जसवाल आरक्षण काय बहुत समय से उठना है बहुत सालों से उठ रहा है अलग-अलग पहलुओं से उठता है तो आरक्षण की नीति है वह बहुत स्पष्ट है मेरे हार जाने का ओपिनियन बदल अलग हो सकता है लेकिन मेरा ओपिनियन जितना भी आरक्षण बिल्कुल खत्म कर देना चाहिए हर प्रकार से खत्म जाति व धर्म के नाम पर आरक्षण यदि है तो केवल केवल फाइनेंसियल ईयर तक स्थिति के हिसाब से मिलना चाहिए बजे आएगी जातिवाद जातिवाद के भेज सकते हैं नहीं कर सकते किस कारण से को चाहिए अभी तय नहीं कर सकते कौन पिछड़ी जाति का है उसके पास फाइनेंस लि कमी है या नहीं है सब एक समान लोग हैं सब चरण स्पर्श और यदि नहीं तो आर्थिक स्थिति के हिसाब से आरक्षण दीजिए कि वह दूसरी फलाना जातिगत जातिगत जातिगत आधार पर नहीं होना चाहिए आरक्षण तो जय मोदी सरकार हो कोई भी सरकार हो सबको मिल जुल कर फैसला लेना चाहिए कि जातिवाद धर्म के नाम पर आरक्षण समाप्त कर देना चाहिए सबको एक समान हक मिलना चाहिए और यदि आरक्षण आपको देने हैं तो की आर्थिक स्थिति आर्थिक रुप से कमजोर है तो आप उसे आरक्षण दीजिए जाएगी कोई प्लान आ जाती है तोDekhie Jaswal Aarakshan Kaya Bahut Samay Se Uthana Hai Bahut Salon Se Uth Raha Hai Alag Alag Pahaluon Se Uthata Hai To Aarakshan Ki Niti Hai Wah Bahut Spasht Hai Mere Haar Jaane Ka Opiniyan Badal Alag Ho Sakta Hai Lekin Mera Opiniyan Jitna Bhi Aarakshan Bilkul Khatam Kar Dena Chahiye Har Prakar Se Khatam Jati V Dharm Ke Naam Par Aarakshan Yadi Hai To Kewal Kewal Financial Year Tak Sthiti Ke Hisab Se Milna Chahiye Baje Aayegi Jaatiwad Jaatiwad Ke Bhej Sakte Hain Nahi Kar Sakte Kis Kaaran Se Ko Chahiye Abhi Tay Nahi Kar Sakte Kaun Pichhadi Jati Ka Hai Uske Paas Finance Li Kami Hai Ya Nahi Hai Sab Ek Saman Log Hain Sab Charan Sparsh Aur Yadi Nahi To Aarthik Sthiti Ke Hisab Se Aarakshan Dijiye Ki Wah Dusri Falana Jaatigat Jaatigat Jaatigat Aadhar Par Nahi Hona Chahiye Aarakshan To Jai Modi Sarkar Ho Koi Bhi Sarkar Ho Sabko Mil Jul Kar Faisla Lena Chahiye Ki Jaatiwad Dharm Ke Naam Par Aarakshan Samapt Kar Dena Chahiye Sabko Ek Saman Haq Milna Chahiye Aur Yadi Aarakshan Aapko Dene Hain To Ki Aarthik Sthiti Aarthik Roop Se Kamjor Hai To Aap Use Aarakshan Dijiye Jayegi Koi Plan Aa Jati Hai To
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Modi Sarkar Ko Aarakshan Khatam Kar Dena Chahiye Ya Saman Kar Dena Chahiye Sabhi Jaatiwad Mein ?





मन में है सवाल?