क्या देश में बुलेट ट्रेन पहले ही जरूरी है कि भुखमरी मिटाना पहले जरूरी है ...

Likes  0  Dislikes

9 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
मेरा ऐसा मानना है कि अभी भारत उच्च स्तर तक नहीं पहुंचा है जहां इसे बुलेट ट्रेन की जरूरत है क्योंकि सबसे पहले हमारी सरकार को देश में भुखमरी और दूसरी समस्याओं को दूर करने के कदम उठाने चाहिए क्योंकि जिस देश में अभी लोगों को मूलभूत सुविधाएं ही नहीं मिल पा रही हैं वहां बुलेट ट्रेन कितनी कामयाब होगी यह सोचने का विषय है हमारे देश में अभी भी कई लोग ऐसे हैं जिंहें दो वक्त की रोटी नसीब नहीं हो पाती है और वह भुखमरी के कगार पर खड़े हैं या भुखमरी के शिकार हो जाते हैं तो अगर किसी देश में लोग भूख की वजह से मर रहे हैं तो उस देश की सरकार को सबसे पहले इस समस्या से निपटने के कदम उठाने चाहिए और ना कि करोड़ों और अरबों रुपए बुलेट ट्रेन में वेस्ट करना चाहिए जैसा कि मोदी सरकार अभी जापान की मदद से बुलेट ट्रेन अपने देश में चलाने की कोशिश कर रही है तो इसमें बहुत पैसे लगने वाले हैं और अगर यही पैसों का इस्तेमाल गरीब लोगों को ऊपर उठाने के लिए किया जाए तो यह काफी अच्छा होगाMera Aisa Manana Hai Ki Abhi Bharat Uccha Sthar Tak Nahi Pahuncha Hai Jahan Ise Bullet Train Ki Zaroorat Hai Kyonki Sabse Pehle Hamari Sarkar Ko Desh Mein Bhukhmari Aur Dusri Samasyaon Ko Dur Karne Ke Kadam Uthane Chahiye Kyonki Jis Desh Mein Abhi Logon Ko Mulbhut Suvidhayen Hi Nahi Mil Pa Rahi Hain Wahan Bullet Train Kitni Kamyab Hogi Yeh Sochne Ka Vishay Hai Hamare Desh Mein Abhi Bhi Kai Log Aise Hain Jinhen Do Waqt Ki Roti Nasib Nahi Ho Pati Hai Aur Wah Bhukhmari Ke Kagar Par Khade Hain Ya Bhukhmari Ke Shikar Ho Jaate Hain To Agar Kisi Desh Mein Log Bhukh Ki Wajah Se Mar Rahe Hain To Us Desh Ki Sarkar Ko Sabse Pehle Is Samasya Se Nipatane Ke Kadam Uthane Chahiye Aur Na Ki Karodo Aur Araboon Rupaiye Bullet Train Mein West Karna Chahiye Jaisa Ki Modi Sarkar Abhi Japan Ki Madad Se Bullet Train Apne Desh Mein Chalane Ki Koshish Kar Rahi Hai To Isme Bahut Paise Lagne Wale Hain Aur Agar Yahi Paison Ka Istemal Garib Logon Ko Upar Uthane Ke Liye Kiya Jaye To Yeh Kafi Accha Hoga
Likes  12  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
भारत में जहां भुखमरी बेरोजगारी व गरीबी का प्रभाव चारों तरफ देखा जा सकता है ऐसे में बुलेट ट्रेन चलाने से पहले जरूरी है कि भारत की मूलभूत आवश्यकताएं जो है जैसे गरीब से गरीब इंसान की भूख मिटाना उनको रोजगार के समान अवसर प्रदान करना तथा शिक्षित बेरोजगारी को दूर करना पर सबसे अधिक महत्वपूर्ण है बजाय इसके कि हम आधुनिक मंच पर एक दिखावे के लिए बुलेट मेट्रो व अन्य परियोजनाओं को आडंबर जनता के सामने रखें परंतु यह भी उतना ही सत्य है कि भारत एक विकासशील अर्थव्यवस्था है वह अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत को एक अच्छा निवेश स्थल दिखाने के लिए पहुंच को शोकेस करने के लिए हमें जरूरी है कि हम अंतर्राष्ट्रीय मंच पर अति आधुनिक सुविधाओं को निवेशकों के समक्ष प्रस्तुत करें और इसी प्रकार से प्रस्तुत किया जा सकता है कि भारत में नवीन उत्तम टेक्नोलॉजी व तकनीक का प्रयोग भारत की जनता और भारत के राजनेता कर रहे हैं इसी के माध्यम से हम अंतर्राष्ट्रीय मंच पर भारत के अच्छी छवि बना सकते हैं परंतु यह भी उतना ही महत्वपूण है कि जितना निवेश अमित अत्याधुनिक परियोजनाओं में कर रहे हैं वह भी करदाताओं के पैसो से उतना ही निवेश हम करदाताओं के पैसों से उनके कल्याण के लिए भी करें आज कर दाता सबसे अधिक वंचित है स्वास्थ्य रोजगार व शिक्षा जैसी जरूरी व मूलभूत आवश्यकताओं के लिए उनकी आवश्यकता है पूरा होना भी उतना ही महत्वपूण जितना इन अत्याधुनिक सुविधाओं का निर्माण होना अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय मंच पर धन्यवादBharat Mein Jahan Bhukhmari Berojgari V Garibi Ka Prabhav Charo Taraf Dekha Ja Sakta Hai Aise Mein Bullet Train Chalane Se Pehle Zaroori Hai Ki Bharat Ki Mulbhut Aavashyakataen Jo Hai Jaise Garib Se Garib Insaan Ki Bhukh Mitana Unko Rojgar Ke Saman Avsar Pradan Karna Tatha Shikshit Berojgari Ko Dur Karna Par Sabse Adhik Mahatvapurna Hai Bajay Iske Ki Hum Aadhunik Manch Par Ek Dikhaave Ke Liye Bullet Metro V Anya Pariyojanaon Ko Aandabar Janta Ke Samane Rakhen Parantu Yeh Bhi Utana Hi Satya Hai Ki Bharat Ek Vikasshil Arthavyavastha Hai Wah Antararashtriya Manch Par Bharat Ko Ek Accha Nivesh Sthal Dikhane Ke Liye Pahunch Ko Showcase Karne Ke Liye Hume Zaroori Hai Ki Hum Antar Rashtriya Manch Par Ati Aadhunik Suvidhaon Ko Niveshako Ke Samaksh Prastut Karen Aur Isi Prakar Se Prastut Kiya Ja Sakta Hai Ki Bharat Mein Naveen Uttam Technology V Takneek Ka Prayog Bharat Ki Janta Aur Bharat Ke Rajneta Kar Rahe Hain Isi Ke Maadhyam Se Hum Antar Rashtriya Manch Par Bharat Ke Acchi Chawi Bana Sakte Hain Parantu Yeh Bhi Utana Hi Mahatwapun Hai Ki Jitna Nivesh Amit Atyadhunik Pariyojanaon Mein Kar Rahe Hain Wah Bhi Kardataon Ke Paiso Se Utana Hi Nivesh Hum Kardataon Ke Paison Se Unke Kalyan Ke Liye Bhi Karen Aaj Kar Data Sabse Adhik Vanchit Hai Swasthya Rojgar V Shiksha Jaisi Zaroori V Mulbhut Avashayaktao Ke Liye Unki Avashyakta Hai Pura Hona Bhi Utana Hi Mahatwapun Jitna In Atyadhunik Suvidhaon Ka Nirman Hona Antararashtriya Aur Rashtriya Manch Par Dhanyavad
Likes  11  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
अधिक इस सवाल का जवाब मैंने पहले भी दिया हुआ है और मैं समझता हूं कि इस देश में बुलेट ट्रेन चलाना जो जरूरी है जो देश की सभी अवस्था है वर्तमान अवस्था है उस पर उनको कार्य करने की जरूरत है ना की बुलेट ट्रेन जो है वह इस साल इंडिया में किया जाए और उसको चलाया जाए क्योंकि अभी जो एग्जिट सिंह का हमारे दैनिक वाक्य वही कंप्लीट तरह से जो है वह अभी फाइनल नहीं करता है अभी आज दिन में देखने को मिलता है यहां एक्सीडेंट हुआ यार पटरी से ट्रेन उत्तर गई वहां पर एक्सीडेंट हुआ वह मतलब अभी सरकार जो है वह करंट है रेलवे को ही ठीक से नहीं चला पा रही है तो बुलेट ट्रेन ला कर पता नहीं क्या गवर्नमेंट दिखाना चाहती है मैं समझता हूं कि पहले सरकार को जो करंट अफेयर ग्रीटिंग रेलवे उसका हूं उसको हंड्रेड परसेंट पर शक करना चाहिए और उसके बाद जो बाकी अवस्था है अब हमारे देश की आर्थिक अवस्था हुई स्वास्थ्य अवस्था और आज भुखमरी से लोग मर रहे हैं तो यह सब बेकार में को ध्यान देना चाहिए अब बोलें ट्रेंड टीचर के हिसाब से ठीक है लेकिन मेरी समझ में क्या क्या मिलाना चाहिएAdhik Is Sawal Ka Jawab Maine Pehle Bhi Diya Hua Hai Aur Main Samajhata Hoon Ki Is Desh Mein Bullet Train Chalana Jo Zaroori Hai Jo Desh Ki Sabhi Awastha Hai Vartaman Awastha Hai Us Par Unko Karya Karne Ki Zaroorat Hai Na Ki Bullet Train Jo Hai Wah Is Saal India Mein Kiya Jaye Aur Usko Chalaya Jaye Kyonki Abhi Jo Exit Singh Ka Hamare Dainik Vaakya Wahi Complete Tarah Se Jo Hai Wah Abhi Final Nahi Karta Hai Abhi Aaj Din Mein Dekhne Ko Milta Hai Yahan Accident Hua Yaar Patri Se Train Uttar Gayi Wahan Par Accident Hua Wah Matlab Abhi Sarkar Jo Hai Wah Current Hai Railway Ko Hi Theek Se Nahi Chala Pa Rahi Hai To Bullet Train La Kar Pata Nahi Kya Government Dikhana Chahti Hai Main Samajhata Hoon Ki Pehle Sarkar Ko Jo Current Affair Greeting Railway Uska Hoon Usko Hundred Percent Par Shaq Karna Chahiye Aur Uske Baad Jo Baki Awastha Hai Ab Hamare Desh Ki Aarthik Awastha Hui Swasthya Awastha Aur Aaj Bhukhmari Se Log Mar Rahe Hain To Yeh Sab Bekar Mein Ko Dhyan Dena Chahiye Ab Bolen Trend Teacher Ke Hisab Se Theek Hai Lekin Meri Samajh Mein Kya Kya Milana Chahiye
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions


More Answers


ऐसे सवाल उठाया हमें दोनों तेलुगु पत्र भेजो नहीं कर सकते सबसे पहले भारत को डेवलप करना डेवलप करने के लिए केवल बुलेट ट्रेन चलाना डेवलपमेंट का मतलब हमारी गरीबी इन सब चीजों का खत्म करना एंप्लॉयमेंट बढ़ाने समृद्धि जीवन सब को भरपेट दो वक्त की रोटी बन पाए तो एंप्लॉयमेंट देना पड़ेगा गरीबी खत्म करने के एक्सीडेंट होते हैं 20 20 10 10 20 20 घंटे लेट चलती हैं तो पहले तो आपको मौजूदा स्थिति को सही करना पड़ेगा दूसरी नहीं जी जाने से पहले ट्रेन की बातें बहुत ही अच्छी चीज है अपने देश कोई जरूरत है जो और डेवलपिंग नेशन जमाना है अपना स्टैंड ले कर खड़ा होना टेक्नोलॉजी हमें बढ़ाने की जरूरत है टेबल पर नहीं कर पाएगा तो यह सब चीजों को भी ध्यान में रखना पड़ेगा लेकिन हर एक फ्रेंड जरूरी है लेकिन यदि प्रार्थी की बात करें तो बुलेट ट्रेन से पहले भुखमरी में जाना जरूरी है - जरूरी एंप्लॉयमेंट बनाना

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

ऐसे सवाल उठाया हमें दोनों तेलुगु पत्र भेजो नहीं कर सकते सबसे पहले भारत को डेवलप करना डेवलप करने के लिए केवल बुलेट ट्रेन चलाना डेवलपमेंट का मतलब हमारी गरीबी इन सब चीजों का खत्म करना एंप्लॉयमेंट बढ़ाने समृद्धि जीवन सब को भरपेट दो वक्त की रोटी बन पाए तो एंप्लॉयमेंट देना पड़ेगा गरीबी खत्म करने के एक्सीडेंट होते हैं 20 20 10 10 20 20 घंटे लेट चलती हैं तो पहले तो आपको मौजूदा स्थिति को सही करना पड़ेगा दूसरी नहीं जी जाने से पहले ट्रेन की बातें बहुत ही अच्छी चीज है अपने देश कोई जरूरत है जो और डेवलपिंग नेशन जमाना है अपना स्टैंड ले कर खड़ा होना टेक्नोलॉजी हमें बढ़ाने की जरूरत है टेबल पर नहीं कर पाएगा तो यह सब चीजों को भी ध्यान में रखना पड़ेगा लेकिन हर एक फ्रेंड जरूरी है लेकिन यदि प्रार्थी की बात करें तो बुलेट ट्रेन से पहले भुखमरी में जाना जरूरी है - जरूरी एंप्लॉयमेंट बनानाAise Sawal Uthaya Hume Dono Telugu Patra Bhejo Nahi Kar Sakte Sabse Pehle Bharat Ko Develop Karna Develop Karne Ke Liye Kewal Bullet Train Chalana Development Ka Matlab Hamari Garibi In Sab Chijon Ka Khatam Karna Employment Badhane Samridhi Jeevan Sab Ko Bharapet Do Waqt Ki Roti Ban Paye To Employment Dena Padega Garibi Khatam Karne Ke Accident Hote Hain 20 20 10 10 20 20 Ghante Let Chalti Hain To Pehle To Aapko Maujuda Sthiti Ko Sahi Karna Padega Dusri Nahi Ji Jaane Se Pehle Train Ki Batein Bahut Hi Acchi Cheez Hai Apne Desh Koi Zaroorat Hai Jo Aur Developing Nation Jamana Hai Apna Stand Le Kar Khada Hona Technology Hume Badhane Ki Zaroorat Hai Table Par Nahi Kar Payega To Yeh Sab Chijon Ko Bhi Dhyan Mein Rakhna Padega Lekin Har Ek Friend Zaroori Hai Lekin Yadi Prarthi Ki Baat Karen To Bullet Train Se Pehle Bhukhmari Mein Jana Zaroori Hai - Zaroori Employment Banana
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

अगर हम यह सवाल का उत्तर देना चाहता सबसे बड़ा नहीं बताना चाहूंगा कि दोनों ही बहुत ही जरूरी है तो मेरे हिसाब से यह मैसेज एक जूस करना या फिर से एक को प्यार देना बैंक को बहुत ही मुश्किल है पर फिर भी मैं पर भुखमरी मिटाने के पहले मैं आ जाऊंगा कि की भुखमरी बहुत ही ज्यादा है अगर हम पिछले कई सालों से भारत के फूटे देखने की कमाई लोग मर रहे तो मेरे जैसे लोग तुम्हारी सबसे पहले सरकार को कम करने से कोई कुमारी नहीं हो या बिल्कुल ना के बराबर तभी जाकर हम देश में बुलेट ट्रेन बना सकते हैं परंतु सबसे पहले भुखमरी मिट्टी चाहिए

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

अगर हम यह सवाल का उत्तर देना चाहता सबसे बड़ा नहीं बताना चाहूंगा कि दोनों ही बहुत ही जरूरी है तो मेरे हिसाब से यह मैसेज एक जूस करना या फिर से एक को प्यार देना बैंक को बहुत ही मुश्किल है पर फिर भी मैं पर भुखमरी मिटाने के पहले मैं आ जाऊंगा कि की भुखमरी बहुत ही ज्यादा है अगर हम पिछले कई सालों से भारत के फूटे देखने की कमाई लोग मर रहे तो मेरे जैसे लोग तुम्हारी सबसे पहले सरकार को कम करने से कोई कुमारी नहीं हो या बिल्कुल ना के बराबर तभी जाकर हम देश में बुलेट ट्रेन बना सकते हैं परंतु सबसे पहले भुखमरी मिट्टी चाहिएAgar Hum Yeh Sawal Ka Uttar Dena Chahta Sabse Bada Nahi Batana Chahunga Ki Dono Hi Bahut Hi Zaroori Hai To Mere Hisab Se Yeh Massage Ek Juice Karna Ya Phir Se Ek Ko Pyar Dena Bank Ko Bahut Hi Mushkil Hai Par Phir Bhi Main Par Bhukhmari Mitaane Ke Pehle Main Aa Jaunga Ki Ki Bhukhmari Bahut Hi Jyada Hai Agar Hum Pichle Kai Salon Se Bharat Ke Phute Dekhne Ki Kamai Log Mar Rahe To Mere Jaise Log Tumhari Sabse Pehle Sarkar Ko Kum Karne Se Koi Kumari Nahi Ho Ya Bilkul Na Ke Barabar Tabhi Jaakar Hum Desh Mein Bullet Train Bana Sakte Hain Parantu Sabse Pehle Bhukhmari Mitti Chahiye
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

बुलेट ट्रेन का पहला आना जरूरी नहीं है बल्कि भुखमरी मिटाना है हमारे देश में हमारे देश मानवता एक ऐसा देश है जिसमें पावर्टी बहुत ज्यादा है जिसमें पुटकी स्कारसिटी बहुत है और यह सब अगर पहले जब तक वह सब नहीं पावर्टी जब तक नहीं हटाया गया भुखमरी नहीं हटाई गई तब तक हमारा देश बढ़ेगा नहीं डेवलप नहीं होएगा तो जब तक वह फूड और भुखमरी और पावर्टी नहीं हटाए तब तक ना उनको एजुकेशन का एक मौका मिलेगा ना उनको आगे बढ़ने का मौका तो मेरे हिसाब से बुलेट ट्रेन ठीक है वह एक डेवलपमेंट का एक साइन है बट उसका पॉइंट कुछ नहीं रहेगा जब एक पोर्शन हमारे देश का एक-एक परसेंटेज भुखमरी में रहे

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

बुलेट ट्रेन का पहला आना जरूरी नहीं है बल्कि भुखमरी मिटाना है हमारे देश में हमारे देश मानवता एक ऐसा देश है जिसमें पावर्टी बहुत ज्यादा है जिसमें पुटकी स्कारसिटी बहुत है और यह सब अगर पहले जब तक वह सब नहीं पावर्टी जब तक नहीं हटाया गया भुखमरी नहीं हटाई गई तब तक हमारा देश बढ़ेगा नहीं डेवलप नहीं होएगा तो जब तक वह फूड और भुखमरी और पावर्टी नहीं हटाए तब तक ना उनको एजुकेशन का एक मौका मिलेगा ना उनको आगे बढ़ने का मौका तो मेरे हिसाब से बुलेट ट्रेन ठीक है वह एक डेवलपमेंट का एक साइन है बट उसका पॉइंट कुछ नहीं रहेगा जब एक पोर्शन हमारे देश का एक-एक परसेंटेज भुखमरी में रहेBullet Train Ka Pehla Aana Zaroori Nahi Hai Balki Bhukhmari Mitana Hai Hamare Desh Mein Hamare Desh Manavta Ek Aisa Desh Hai Jisme Poverty Bahut Jyada Hai Jisme Putki Skarasiti Bahut Hai Aur Yeh Sab Agar Pehle Jab Tak Wah Sab Nahi Poverty Jab Tak Nahi Hataya Gaya Bhukhmari Nahi Hatai Gayi Tab Tak Hamara Desh Badhega Nahi Develop Nahi Hoega To Jab Tak Wah Food Aur Bhukhmari Aur Poverty Nahi Hataye Tab Tak Na Unko Education Ka Ek Mauka Milega Na Unko Aage Badhne Ka Mauka To Mere Hisab Se Bullet Train Theek Hai Wah Ek Development Ka Ek Sign Hai But Uska Point Kuch Nahi Rahega Jab Ek Portion Hamare Desh Ka Ek Ek Percentage Bhukhmari Mein Rahe
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

अजी हां का सवाल काफी इंटरेस्टिंग है और काफी मीनिंग फुल है मुझे नहीं लगता कि देश को भी बुलेट ट्रेन की जरूरत है क्योंकि हमारे लोग आज भी यह सब चीजों में विश्वास नार्मल नार्मल ट्रांसपोर्टेशन में जो रहते हैं वह उनके लिए फिजिकल है बुलेट ट्रेन शायद उनके लिए फिजिकल ना हो और अगर सरकार को इतने सारे पैसे इस प्रोजेक्ट में इन्वेस्ट करने है तो उससे अच्छा गरबे प्रोजेक्ट असलम सर इन्वेस्ट करे हुए प्रोजेक्ट उनके घर बनाने में इन्फेक्शन वेस्ट करें या जो लोग जो जिनकी डेथ हो रही है या उनकी हैल्थ हो हेल्थ खराब हो रही है ड्यूटी और जो मिल उद्योग सब्सिडी जो चीजें मिलती है यू जूली लोगों को वह उनके होम के ना मिलने पर झुमके हेल्थ खराब हो रही है उस पर अगर ध्यान दिया जाए तो बैठा रहा बैठा रहेगा सरकार के लिए अभी के लिए बुलेट ट्रेन पर इन्वेस्ट करना यूज़ रस है क्योंकि जरुरी नहीं है क्या अगर टेक्नोलॉजी बढ़ रही है तो उसके साथ तो हमें ऐसी चीजों पर रेस्ट करना चाहिए पहले हमारा फाउंडेशन अगर स्ट्रांग हो पहले हमारे लोग यहां के स्ट्रांग हो तब जाकर वही टेक्नोलॉजी समझ पाएगी तो इससे अच्छा बुलेट ट्रेन पर चादर लोकल प्रॉब्लम है जो लोगों की प्रॉब्लम है उस पर अगर कंसंट्रेट किया जाए तो बेहतर रहेगा सरकार के लिए

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

अजी हां का सवाल काफी इंटरेस्टिंग है और काफी मीनिंग फुल है मुझे नहीं लगता कि देश को भी बुलेट ट्रेन की जरूरत है क्योंकि हमारे लोग आज भी यह सब चीजों में विश्वास नार्मल नार्मल ट्रांसपोर्टेशन में जो रहते हैं वह उनके लिए फिजिकल है बुलेट ट्रेन शायद उनके लिए फिजिकल ना हो और अगर सरकार को इतने सारे पैसे इस प्रोजेक्ट में इन्वेस्ट करने है तो उससे अच्छा गरबे प्रोजेक्ट असलम सर इन्वेस्ट करे हुए प्रोजेक्ट उनके घर बनाने में इन्फेक्शन वेस्ट करें या जो लोग जो जिनकी डेथ हो रही है या उनकी हैल्थ हो हेल्थ खराब हो रही है ड्यूटी और जो मिल उद्योग सब्सिडी जो चीजें मिलती है यू जूली लोगों को वह उनके होम के ना मिलने पर झुमके हेल्थ खराब हो रही है उस पर अगर ध्यान दिया जाए तो बैठा रहा बैठा रहेगा सरकार के लिए अभी के लिए बुलेट ट्रेन पर इन्वेस्ट करना यूज़ रस है क्योंकि जरुरी नहीं है क्या अगर टेक्नोलॉजी बढ़ रही है तो उसके साथ तो हमें ऐसी चीजों पर रेस्ट करना चाहिए पहले हमारा फाउंडेशन अगर स्ट्रांग हो पहले हमारे लोग यहां के स्ट्रांग हो तब जाकर वही टेक्नोलॉजी समझ पाएगी तो इससे अच्छा बुलेट ट्रेन पर चादर लोकल प्रॉब्लम है जो लोगों की प्रॉब्लम है उस पर अगर कंसंट्रेट किया जाए तो बेहतर रहेगा सरकार के लिएAji Haan Ka Sawal Kafi Interesting Hai Aur Kafi Meaning Full Hai Mujhe Nahi Lagta Ki Desh Ko Bhi Bullet Train Ki Zaroorat Hai Kyonki Hamare Log Aaj Bhi Yeh Sab Chijon Mein Vishwas Normal Normal Transportation Mein Jo Rehte Hain Wah Unke Liye Physical Hai Bullet Train Shayad Unke Liye Physical Na Ho Aur Agar Sarkar Ko Itne Sare Paise Is Project Mein Invest Karne Hai To Usse Accha Garabe Project Aslam Sar Invest Kare Hue Project Unke Ghar Banane Mein Infection West Karen Ya Jo Log Jo Jinaki Death Ho Rahi Hai Ya Unki Hailth Ho Health Kharab Ho Rahi Hai Duty Aur Jo Mil Udyog Subsidy Jo Cheezen Milti Hai You Juilee Logon Ko Wah Unke Home Ke Na Milne Par Jhumke Health Kharab Ho Rahi Hai Us Par Agar Dhyan Diya Jaye To Baitha Raha Baitha Rahega Sarkar Ke Liye Abhi Ke Liye Bullet Train Par Invest Karna Use Ras Hai Kyonki Zaroori Nahi Hai Kya Agar Technology Badh Rahi Hai To Uske Saath To Hume Aisi Chijon Par Rest Karna Chahiye Pehle Hamara Foundation Agar Strong Ho Pehle Hamare Log Yahan Ke Strong Ho Tab Jaakar Wahi Technology Samajh Payegi To Isse Accha Bullet Train Par Chadar Local Problem Hai Jo Logon Ki Problem Hai Us Par Agar Concentrate Kiya Jaye To Behtar Rahega Sarkar Ke Liye
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

देखिए मेरे हिसाब से तो देश में जो बुलेट ट्रेन का जो फैसला लिया गया है वह इस समय जरूरी नहीं है भारत को इतनी भी कोई जरूरत नहीं है बुलेट ट्रेन की और उसके ऊपर से जो रूट थी उसकी आज्ञा बुलेट ट्रेन के लिए इसे कहते हैं मुंबई में मुंबई टू अहमदाबाद रूट पर इतना भी कोई बुलेट ट्रेन की आवश्यकता नहीं है मुंबई से जो अहमदाबाद लगभग 6 घंटे लगते हैं और रोज सुबह 7:00 बजे मुंबई से जो ट्रेन निकलती है तो बुलेट ट्रेन का जो फैसला है कोई इतना भी जरूरी नहीं लग रहा है और अहमदाबाद टू मुंबई की फ्लाइट जो है वह भी इतनी ज्यादा महंगी नहीं आती है और जो फ्लाइट के जो रेट से उसने ही बुलेट ट्रेन की भी रेट होने वाली है तो बुलेट ट्रेन का फैसला भारत बुलेट ट्रेन के लिए जय भारत इस समय इतनी तैयार नहीं है भारत के सरकार को बुलेट ट्रेन पर खर्च करने की जगह शिक्षा और गरीबी मिटाने पर गरीबी और बेरोजगारी थोड़ी कम करने पर जो है ध्यान देना चाहिए

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

देखिए मेरे हिसाब से तो देश में जो बुलेट ट्रेन का जो फैसला लिया गया है वह इस समय जरूरी नहीं है भारत को इतनी भी कोई जरूरत नहीं है बुलेट ट्रेन की और उसके ऊपर से जो रूट थी उसकी आज्ञा बुलेट ट्रेन के लिए इसे कहते हैं मुंबई में मुंबई टू अहमदाबाद रूट पर इतना भी कोई बुलेट ट्रेन की आवश्यकता नहीं है मुंबई से जो अहमदाबाद लगभग 6 घंटे लगते हैं और रोज सुबह 7:00 बजे मुंबई से जो ट्रेन निकलती है तो बुलेट ट्रेन का जो फैसला है कोई इतना भी जरूरी नहीं लग रहा है और अहमदाबाद टू मुंबई की फ्लाइट जो है वह भी इतनी ज्यादा महंगी नहीं आती है और जो फ्लाइट के जो रेट से उसने ही बुलेट ट्रेन की भी रेट होने वाली है तो बुलेट ट्रेन का फैसला भारत बुलेट ट्रेन के लिए जय भारत इस समय इतनी तैयार नहीं है भारत के सरकार को बुलेट ट्रेन पर खर्च करने की जगह शिक्षा और गरीबी मिटाने पर गरीबी और बेरोजगारी थोड़ी कम करने पर जो है ध्यान देना चाहिएDekhie Mere Hisab Se To Desh Mein Jo Bullet Train Ka Jo Faisla Liya Gaya Hai Wah Is Samay Zaroori Nahi Hai Bharat Ko Itni Bhi Koi Zaroorat Nahi Hai Bullet Train Ki Aur Uske Upar Se Jo Root Thi Uski Aagya Bullet Train Ke Liye Ise Kehte Hain Mumbai Mein Mumbai To Ahmedabad Root Par Itna Bhi Koi Bullet Train Ki Avashyakta Nahi Hai Mumbai Se Jo Ahmedabad Lagbhag 6 Ghante Lagte Hain Aur Roj Subah 7:00 Baje Mumbai Se Jo Train Nikalti Hai To Bullet Train Ka Jo Faisla Hai Koi Itna Bhi Zaroori Nahi Lag Raha Hai Aur Ahmedabad To Mumbai Ki Flight Jo Hai Wah Bhi Itni Jyada Mehengi Nahi Aati Hai Aur Jo Flight Ke Jo Rate Se Usne Hi Bullet Train Ki Bhi Rate Hone Wali Hai To Bullet Train Ka Faisla Bharat Bullet Train Ke Liye Jai Bharat Is Samay Itni Taiyaar Nahi Hai Bharat Ke Sarkar Ko Bullet Train Par Kharch Karne Ki Jagah Shiksha Aur Garibi Mitaane Par Garibi Aur Berojgari Thodi Kum Karne Par Jo Hai Dhyan Dena Chahiye
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

गुड मॉर्निंग मैं तो यह चाहता हूं कि पहले बेरोजगारी और भुखमरी मिट्टी की बेरोजगारी शास्त्र से पढ़ रहा हूं कुमारी का पढ़ना आता है इसलिए मेरा मानना है कि सेंट्रल गवर्नमेंट तो है बुलेट ट्रेन का जो प्रोजेक्ट है कभी रोक दें क्योंकि अभी आने पर लाइट बहुत ज्यादा है और बुक पढ़ी है मैं तो यही चाहता हूं क्योंकि मैं भी एक के एक रिपोर्ट में देखा था कि हमारा देश अभी भी कर्ज में डूबा हुआ है मुझे एक अच्छे होता है कि नरेंद्र मोदी जी कहते कि मैं काम काम काम मैं सोता भी नहीं हूं 12 घंटे बाद 18 घंटे काम करता तो फिर मेरा देश कर्ज में क्यों डूब रहा है यह सवाल बनता है ना और 110001 ओर करो प्रोजेक्ट है अगर 110000 करोड़ इंडियन रेलवे का खर्च कर दिया है तू जो अभी जो 10 घटनाएं हो रही है यह घटना यह दुख जाएगी तेरी पटरी टूटा हुआ पाया जाता है कहीं फ्रेंड को लग जाती है कभी ट्रेन का ट्रेन पटरी से नीचे हो जाती है इसका क्या कारण है और कितने कर्मचारी जो है अभी ट्रेन में खाली है नहीं है अभी बहाली रुकी हुई है 3 साल से बाहर ही रोक योगी सरकार को इस पर ध्यान देना चाहिए ना की बुलेट ट्रेन पर बुलेट ट्रेन तो 2 राज्य के लिए हैं और कार्य में थोड़ा देर तक आएगा मुंबई से गुजरात के लिए इसलिए प्रोजेक्ट जो है नहीं होनी चाहिए

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

गुड मॉर्निंग मैं तो यह चाहता हूं कि पहले बेरोजगारी और भुखमरी मिट्टी की बेरोजगारी शास्त्र से पढ़ रहा हूं कुमारी का पढ़ना आता है इसलिए मेरा मानना है कि सेंट्रल गवर्नमेंट तो है बुलेट ट्रेन का जो प्रोजेक्ट है कभी रोक दें क्योंकि अभी आने पर लाइट बहुत ज्यादा है और बुक पढ़ी है मैं तो यही चाहता हूं क्योंकि मैं भी एक के एक रिपोर्ट में देखा था कि हमारा देश अभी भी कर्ज में डूबा हुआ है मुझे एक अच्छे होता है कि नरेंद्र मोदी जी कहते कि मैं काम काम काम मैं सोता भी नहीं हूं 12 घंटे बाद 18 घंटे काम करता तो फिर मेरा देश कर्ज में क्यों डूब रहा है यह सवाल बनता है ना और 110001 ओर करो प्रोजेक्ट है अगर 110000 करोड़ इंडियन रेलवे का खर्च कर दिया है तू जो अभी जो 10 घटनाएं हो रही है यह घटना यह दुख जाएगी तेरी पटरी टूटा हुआ पाया जाता है कहीं फ्रेंड को लग जाती है कभी ट्रेन का ट्रेन पटरी से नीचे हो जाती है इसका क्या कारण है और कितने कर्मचारी जो है अभी ट्रेन में खाली है नहीं है अभी बहाली रुकी हुई है 3 साल से बाहर ही रोक योगी सरकार को इस पर ध्यान देना चाहिए ना की बुलेट ट्रेन पर बुलेट ट्रेन तो 2 राज्य के लिए हैं और कार्य में थोड़ा देर तक आएगा मुंबई से गुजरात के लिए इसलिए प्रोजेक्ट जो है नहीं होनी चाहिएGood Morning Main To Yeh Chahta Hoon Ki Pehle Berojgari Aur Bhukhmari Mitti Ki Berojgari Shastra Se Padh Raha Hoon Kumari Ka Padhna Aata Hai Isliye Mera Manana Hai Ki Central Government To Hai Bullet Train Ka Jo Project Hai Kabhi Rok Dein Kyonki Abhi Aane Par Light Bahut Jyada Hai Aur Book Padhi Hai Main To Yahi Chahta Hoon Kyonki Main Bhi Ek Ke Ek Report Mein Dekha Tha Ki Hamara Desh Abhi Bhi Karj Mein Dooba Hua Hai Mujhe Ek Acche Hota Hai Ki Narendra Modi Ji Kehte Ki Main Kaam Kaam Kaam Main Sotaa Bhi Nahi Hoon 12 Ghante Baad 18 Ghante Kaam Karta To Phir Mera Desh Karj Mein Kyun Doob Raha Hai Yeh Sawal Banta Hai Na Aur 110001 Oar Karo Project Hai Agar 110000 Crore Indian Railway Ka Kharch Kar Diya Hai Tu Jo Abhi Jo 10 Ghatnaye Ho Rahi Hai Yeh Ghatna Yeh Dukh Jayegi Teri Patri Tuta Hua Paya Jata Hai Kahin Friend Ko Lag Jati Hai Kabhi Train Ka Train Patri Se Neeche Ho Jati Hai Iska Kya Kaaran Hai Aur Kitne Karmchari Jo Hai Abhi Train Mein Khaali Hai Nahi Hai Abhi Bahali Ruki Hui Hai 3 Saal Se Bahar Hi Rok Yogi Sarkar Ko Is Par Dhyan Dena Chahiye Na Ki Bullet Train Par Bullet Train To 2 Rajya Ke Liye Hain Aur Karya Mein Thoda Der Tak Aayega Mumbai Se Gujarat Ke Liye Isliye Project Jo Hai Nahi Honi Chahiye
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Desh Mein Bullet Train Pehle Hi Zaroori Hai Ki Bhukhmari Mitana Pehle Zaroori Hai





मन में है सवाल?