कोहरे के कारण आईजीआई एयरपोर्ट में 300 से अधिक उड़ानें विलंबित हैं, क्या एयरपोर्ट के अधिकारि इस तरह की स्थितियों से निपटने में सक्षम नहीं हैं? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा बिल्कुल नहीं है क्यूंकि जो आईजीआई एयरपोर्ट पर काफी एडवांस है l पर होता क्या हे कि ऐसे मौसम के अंदर सेफ नहीं होता है कि हम एक ऐरोप्लेन को लेकर जाए l एडवांसमेंट की कमी नहीं होती है पर ओब्विऔस्लि मे...जवाब पढ़िये
ऐसा बिल्कुल नहीं है क्यूंकि जो आईजीआई एयरपोर्ट पर काफी एडवांस है l पर होता क्या हे कि ऐसे मौसम के अंदर सेफ नहीं होता है कि हम एक ऐरोप्लेन को लेकर जाए l एडवांसमेंट की कमी नहीं होती है पर ओब्विऔस्लि में अगर हम कितने एडवांस भी हैं l तो किसी की जिंदगी को रिस्क नहीं करना चाहिए हमें कोई जल्दबाजी नहीं करनी चाहिएl ऐसे कामों के अंदर तो होता जब ऐसा इतनी ज्यादा फोग होती है ऐसा मौसम हो जाता है तो जो दुर्घटना होते हैं उसके होने के चांसेस बढ़ जाते हैं l तो इसलिए हम लोग इन समय पर हम लोग फ्लाइट्स को रद्द कर देते हैं ताकि कोई दुर्घटना ना हो, किसी की भी जान को कोई नुकसान ना पहुंचे तो इन कारणों की वजह से फ्लाइट कैंसिल होती है l और जब जब भी ऐसी कोई और एडवांसमेंट किसी और कंट्री में आएंगे कि इन मौसम के बावजूद भी अगर हम सेफली फ्लाइट को उड़ा सके तो वह इंडिया भी उस में पीछे नहीं रहेगा आईजीआई एयरपोर्ट उसमे बिल्कुल पीछे नहीं रहेगा lAisa Bilkul Nahi Hai Kyunki Jo Igi Airport Par Kafi Advance Hai L Par Hota Kya He Ki Aise Mausam Ke Andar Safe Nahi Hota Hai Ki Hum Ek Aeroplane Ko Lekar Jaye L Edavansament Ki Kami Nahi Hoti Hai Par Obwiausli Mein Agar Hum Kitne Advance Bhi Hain L To Kisi Ki Zindagi Ko Risk Nahi Karna Chahiye Hume Koi Jaldbaji Nahi Karni Chahiye Aise Kamon Ke Andar To Hota Jab Aisa Itni Jyada Fog Hoti Hai Aisa Mausam Ho Jata Hai To Jo Durghatna Hote Hain Uske Hone Ke Chances Badh Jaate Hain L To Isliye Hum Log In Samay Par Hum Log Flights Ko Radd Kar Dete Hain Taki Koi Durghatna Na Ho Kisi Ki Bhi Jaan Ko Koi Nuksan Na Pahuche To In Kaarno Ki Wajah Se Flight Cancel Hoti Hai L Aur Jab Jab Bhi Aisi Koi Aur Edavansament Kisi Aur Country Mein Aayenge Ki In Mausam Ke Bawajud Bhi Agar Hum Cafley Flight Ko Udha Sake To Wah India Bhi Us Mein Piche Nahi Rahega Igi Airport Usme Bilkul Piche Nahi Rahega L
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आ देखे दिल्ली का जो आईजीआई एयरपोर्ट इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट जो है वह पूरे इंडिया में सबसे एडवांस्ड एयरपोर्ट का सबसे बड़ा एयरपोर्ट और पूरी दुनिया में वह दूसरे नंबर पर आता है तो ऐसा नहीं है कि व...जवाब पढ़िये
आ देखे दिल्ली का जो आईजीआई एयरपोर्ट इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट जो है वह पूरे इंडिया में सबसे एडवांस्ड एयरपोर्ट का सबसे बड़ा एयरपोर्ट और पूरी दुनिया में वह दूसरे नंबर पर आता है तो ऐसा नहीं है कि वहां के अधिकारी इस तरह की स्थिति से निपटने के लक्षण नहीं है वह पूरी तरह सक्षम है कि नहीं हालात जो है अभी हाल ही में ऐसे हो गए थे का रायता ज्यादा हो गई थी कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था अगर आपके 10 मीटर आगे भी कुछ सामान रखा है तो आपको वह चीज दिखाई नहीं देगी तो इतना बड़ा एयरपोर्ट जो है उस को मेंटेन करना तो बहुत मुश्किल की बात है जिसमें अगर छोटी सी छोटी एक्सीडेंट भी होगी तो वह कोई बड़ा रूप ले सकती है तो इसी कारण से जो है कोहरे के कारण आज एयरपोर्ट में 300 से ज्यादा अधिक उड़ाने जो है वह विलंबित कर दी गई थीAa Dekhe Delhi Ka Jo Igi Airport Indira Gandhi International Airport Jo Hai Wah Poore India Mein Sabse Advanced Airport Ka Sabse Bada Airport Aur Puri Duniya Mein Wah Dusre Number Par Aata Hai To Aisa Nahi Hai Ki Wahan Ke Adhikari Is Tarah Ki Sthiti Se Nipatane Ke Lakshan Nahi Hai Wah Puri Tarah Saksham Hai Ki Nahi Halaat Jo Hai Abhi Haal Hi Mein Aise Ho Gaye The Ka Rayata Jyada Ho Gayi Thi Kuch Bhi Dikhai Nahi De Raha Tha Agar Aapke 10 Meter Aage Bhi Kuch Saamaan Rakha Hai To Aapko Wah Cheez Dikhai Nahi Degi To Itna Bada Airport Jo Hai Us Ko Maintain Karna To Bahut Mushkil Ki Baat Hai Jisme Agar Choti Si Choti Accident Bhi Hogi To Wah Koi Bada Roop Le Sakti Hai To Isi Kaaran Se Jo Hai Kohare Ke Kaaran Aaj Airport Mein 300 Se Jyada Adhik Udane Jo Hai Wah Vilambit Kar Di Gayi Thi
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे नहीं लगता कि यह मुद्दा सक्षम और सक्षम होने का है कमरे में विजिबिलिटी कम हो जाती है जिससे विमान में यात्रा और सुरक्षित हो जाती है जिस कोहरे के बारे में हम बात कर रहे हैं उसे वस के सबसे खराब होने क...जवाब पढ़िये
मुझे नहीं लगता कि यह मुद्दा सक्षम और सक्षम होने का है कमरे में विजिबिलिटी कम हो जाती है जिससे विमान में यात्रा और सुरक्षित हो जाती है जिस कोहरे के बारे में हम बात कर रहे हैं उसे वस के सबसे खराब होने के रूप में कहा गया है जिसने इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर विजिबिलिटी को केवल 50 मीटर तक कम कर दिया था जहां पर टेकऑफ के लिए कम से कम 1.5 मीटर की विजिबिलिटी रेंज की आवश्यकता होती है हालांकि दिल्ली हवाई अड्डे पर कंपेटिबिलिटी लैंडिंग के लिए उन्नत तकनीक है जिसे 12522 50 मीटर की विजिबिलिटी में आने वाली विमान लाइन कर सकते हैं यहां मैं सहमत हूं कि कुछ पायलट को इस तकनीक में प्रशिक्षित नहीं किया गया था और इस वजह से पास के हवाई अड्डों में करीब 50 फ्लाइट डायवर्ट फूल लेकिन अगर वह ट्रेन होते भी तो ज्यादा फर्क नहीं पड़ता क्योंकि ट्रैक ट्रैक ऑफ़ के लिए फिर भी विजिबिलिटी कम थीMujhe Nahi Lagta Ki Yeh Mudda Saksham Aur Saksham Hone Ka Hai Kamre Mein Visibility Kum Ho Jati Hai Jisse Viman Mein Yatra Aur Surakshit Ho Jati Hai Jis Kohare Ke Baare Mein Hum Baat Kar Rahe Hain Use Vas Ke Sabse Kharab Hone Ke Roop Mein Kaha Gaya Hai Jisne Indira Gandhi Antar Rashtriya Hawai Adde Par Visibility Ko Kewal 50 Meter Tak Kum Kar Diya Tha Jahan Par Takeoff Ke Liye Kum Se Kum 1.5 Meter Ki Visibility Range Ki Avashyakta Hoti Hai Halanki Delhi Hawai Adde Par Kampetibiliti Landing Ke Liye Unnat Takneek Hai Jise 12522 50 Meter Ki Visibility Mein Aane Wali Viman Line Kar Sakte Hain Yahan Main Sahmat Hoon Ki Kuch Pilot Ko Is Takneek Mein Prashikshit Nahi Kiya Gaya Tha Aur Is Wajah Se Paas Ke Hawai Addon Mein Karib 50 Flight Dayavart Fool Lekin Agar Wah Train Hote Bhi To Jyada Fark Nahi Padata Kyonki Track Track Of Ke Liye Phir Bhi Visibility Kum Thi
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आईजीआई एयरपोर्ट जो है, भारत का सबसे बड़ा एयरपोर्ट है और सबसे एडवांस एयरपोर्ट है l तो ऑब्वियसली, जो भी सारी टेक्निक्स वगैरा होंगे वह भी एडवांस लेवल पर रहे होंगी l बाकी सारे एयरपोर्ट के कंपैरिजन में, अभ...जवाब पढ़िये
आईजीआई एयरपोर्ट जो है, भारत का सबसे बड़ा एयरपोर्ट है और सबसे एडवांस एयरपोर्ट है l तो ऑब्वियसली, जो भी सारी टेक्निक्स वगैरा होंगे वह भी एडवांस लेवल पर रहे होंगी l बाकी सारे एयरपोर्ट के कंपैरिजन में, अभी जो ३०० से ज्यादा अधिक उड़ाने विलंबित हुए हैं ,ऐसा नहीं कि वह सक्षम नहीं है उसे संभालने के लिए ;पर बात यह आती है ;वह जो लोग हैं l लोगों का सुरक्षा उनके लिए सबसे ऊपर है और दिल्ही में इतना ज्यादा कोहरा बड़ गया था कि, शायद आपके सामने १० मीटर में भी कोई खड़ा हो तो वह भी आप को ना दिखे l तो यह बहुत ज्यादा जरूरी था कि कोई रिस्क लेने से पहले इतने सारे लोगों के साथ, उनको -उनकी सिक्योरिटी के पहले देखनी थी ,उन लोगों की सिक्योरिटी वो ताकी, इसीलिए इतना ज्यादा ये जो फ्लाइट डिलेज़, रद्द करना यह सिचुएशन हुई, क्यूंकि पैसेंजर की सेफ्टी , उनकी इम्पोर्टेन्ट लिस्ट में पहले थी lIgi Airport Jo Hai Bharat Ka Sabse Bada Airport Hai Aur Sabse Advance Airport Hai L To Abwiyasali Jo Bhi Saree Techniques Vagaira Honge Wah Bhi Advance Level Par Rahe Hongi L Baki Sare Airport Ke Kampairijan Mein Abhi Jo 300 Se Jyada Adhik Udane Vilambit Hue Hain Aisa Nahi Ki Wah Saksham Nahi Hai Use Sambhalne Ke Liye Par Baat Yeh Aati Hai Wah Jo Log Hain L Logon Ka Suraksha Unke Liye Sabse Upar Hai Aur Dilhi Mein Itna Jyada Koharaa Bad Gaya Tha Ki Shayad Aapke Samane 10 Meter Mein Bhi Koi Khada Ho To Wah Bhi Aap Ko Na Dikhe L To Yeh Bahut Jyada Zaroori Tha Ki Koi Risk Lene Se Pehle Itne Sare Logon Ke Saath Unko Unki Security Ke Pehle Dekhani Thi Un Logon Ki Security Vo Taaki Isliye Itna Jyada Ye Jo Flight Dilez Radd Karna Yeh Situation Hui Kyunki Passenger Ki Safety , Unki Important List Mein Pehle Thi L
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हाँ, बिल्कुल सही है कि घने कोहरे के कारण इतनी सारी फ्लाइट कैंसिल हो रही है पर अगर हम देखें तो यह सही भी है क्योंकि दुर्घटना से देर भली l २००१ में एक ऐसा एक्सीडेंट हुआ था जीरो विजिबिलिटी के कारण बहु...जवाब पढ़िये
जी हाँ, बिल्कुल सही है कि घने कोहरे के कारण इतनी सारी फ्लाइट कैंसिल हो रही है पर अगर हम देखें तो यह सही भी है क्योंकि दुर्घटना से देर भली l २००१ में एक ऐसा एक्सीडेंट हुआ था जीरो विजिबिलिटी के कारण बहुत ज्यादा वहां पर फोग था l वह फ्लाइट की लैंडिंग के वक्त एक एक्सीडेंट हो गया था जिसमें ११८ लोगों की जान चली गई थी l तो इस से अच्छा है कि हम सेफ्टी रूल्स अपनाएं और फ्लाइट को कैंसिल कर दे l तो मैं आपको टेक्निकली एक्सप्लेन करना चाहूंगी मैनली कारण क्या होता है कि जब कोई भी फ्लाइट हवा में होती है तो फोग से कोई दिक्कत नहीं होती है वहां पर टेक्नॉलॉजी की कोई जरूरत नहीं है, वहां पर नॉर्मली प्लेन काम कर सकता है पर दिक्कत आती है लैंडिंग के वक्त क्योंकि वहां पर जीरो विजिबिलिटी होती है और प्लेन लैंड कहां पर करें l क्योंकि इतना ज्यादा ट्रैफिक होता है रनवे पर ऑलरेडी जैसे कि इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट तो वह एक बहुत ही बिजी एयरपोर्ट है तो वहां पर रनवे पर भी ट्रैफिक है तो लैंड करते वक़्त देख पाना बहुत मुश्किल होता है l तो उसके लिए कई टेक्नोलॉजीज होती है कि कैट डबल आई टी सी ऐसी कुछ टेक्नोलाजीज होती है जो की वीडियो वेव्स यूज करती है विजिबिलिटी दर्शाने के लिए रनवे पर l इन सबको टेक्नोलॉजी बहुत ही कम एयरपोर्ट पर है l आज तक की दुनिया में दो या तीन एयरपोर्ट पर ही यह फैसिलिटी अवेलेबल है फोग में थोड़ा सा रास्ता दिखाने के लिए , लैंड करवाने के लिए फ्लाइट को तो यह थोड़ी एक से होती है इसलिए कुछ कम जगह पर है l इसके बाद कंपनीस अपने पायलटस को ट्रेन भी नहीं करवा पाती इतनी एडवांस टेक्नोलॉजी से क्यों की उन्हें बहुत एक्सपेंसिव पड़ता है यह करीब १०००००० रुपए पर पायलट इसका खर्चा होता है l इसलिए कंपनी सोचती है कि इट इस बेटर टू कैंसल फ्लाइट और डिले द फ्लाइट तो बस यह दो कारण है छोटे से बाकि कैंसिल कर देना ज्यादा बेहतर है जानो को जोखिम में डालने से के बजाएं lJi Haan Bilkul Sahi Hai Ki Ghane Kohare Ke Kaaran Itni Saree Flight Cancel Ho Rahi Hai Par Agar Hum Dekhen To Yeh Sahi Bhi Hai Kyonki Durghatna Se Der Bhali L 2001 Mein Ek Aisa Accident Hua Tha Zero Visibility Ke Kaaran Bahut Jyada Wahan Par Fog Tha L Wah Flight Ki Landing Ke Waqt Ek Accident Ho Gaya Tha Jisme 118 Logon Ki Jaan Chali Gayi Thi L To Is Se Accha Hai Ki Hum Safety Rules Apnaaen Aur Flight Ko Cancel Kar De L To Main Aapko Technically Explain Karna Chahungi Mainli Kaaran Kya Hota Hai Ki Jab Koi Bhi Flight Hawa Mein Hoti Hai To Fog Se Koi Dikkat Nahi Hoti Hai Wahan Par Technology Ki Koi Zaroorat Nahi Hai Wahan Par Normally Plane Kaam Kar Sakta Hai Par Dikkat Aati Hai Landing Ke Waqt Kyonki Wahan Par Zero Visibility Hoti Hai Aur Plane Land Kahan Par Karen L Kyonki Itna Jyada Traffic Hota Hai Runway Par Already Jaise Ki Indira Gandhi International Airport To Wah Ek Bahut Hi Busy Airport Hai To Wahan Par Runway Par Bhi Traffic Hai To Land Karte Waqt Dekh Pana Bahut Mushkil Hota Hai L To Uske Liye Kai Technologies Hoti Hai Ki Cat Double Eye T Si Aisi Kuch Teknolajij Hoti Hai Jo Ki Video Weaves Use Karti Hai Visibility Darshane Ke Liye Runway Par L In Sabko Technology Bahut Hi Kum Airport Par Hai L Aaj Tak Ki Duniya Mein Do Ya Teen Airport Par Hi Yeh Facility Available Hai Fog Mein Thoda Sa Rasta Dikhane Ke Liye , Land Karwane Ke Liye Flight Ko To Yeh Thodi Ek Se Hoti Hai Isliye Kuch Kum Jagah Par Hai L Iske Baad Kampanis Apne Payalatas Ko Train Bhi Nahi Karava Pati Itni Advance Technology Se Kyun Ki Unhen Bahut Expensive Padata Hai Yeh Karib 1000000 Rupaiye Par Pilot Iska Kharcha Hota Hai L Isliye Company Sochti Hai Ki It Is Better To Kainsal Flight Aur Delay D Flight To Bus Yeh Do Kaaran Hai Chote Se Baki Cancel Kar Dena Jyada Behtar Hai Jano Ko Jokhim Mein Dalne Se Ke Bajaen L
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तीखी रविवार सुबह दिल्ली में सूजन का सबसे घना कोहरा छाया इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर 350 से ज्यादा और पुराने प्रभावित हुई 227 यादव रानी लेट हुई करीब 50 डाइवर्ट की गई 35 उड़ानें तो शादी करनी पड़ी...जवाब पढ़िये
तीखी रविवार सुबह दिल्ली में सूजन का सबसे घना कोहरा छाया इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर 350 से ज्यादा और पुराने प्रभावित हुई 227 यादव रानी लेट हुई करीब 50 डाइवर्ट की गई 35 उड़ानें तो शादी करनी पड़ी उत्तर भारत में ट्रेनों पर भी बहुत असर पड़ा देखिए दिसंबर 2017 में पहली बार 4 डिग्री से नीचे पर आया और जो 6:00 बजे तक तो दृश्य तहसील चुने ही हो गई थी 5 मीटर पर भी कुछ दिखाई नहीं दे रहा था तुम एक ऐसा नहीं है कि दना दन और जो हमारा जो हवाई अड्डा है वह सक्षम नहीं है क्योंकि जो इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट है वह काफी एडवांस और टेक्नोलॉजी कली काफी अच्छा एक हवाई अड्डा है और देश के पूरे विश्व में नंबर दो पर आता है वह अपने एडवांसमेंट को लेकर तो ऐसा नहीं है कि वह सक्षम नहीं है पर देखिए ऑफ टेक्नॉलॉजी पर कितना भरोसा कर सकते हैं आखिरी में तो अगर बाय चांस को छोटी मोटी भी गड़बड़ हो गई तो जाने तो कई सौ लोगों के चले जाएंगे तो सक्षम और सक्षम की बातें यहां नहीं उठती यहां बस यह कि आपने पर हवाई अड्डे प्रीकॉशंस लिए और शायद ठीक ठीक किया की बहुत सारी जान बच गई बरता और ऐसी चीज है या और एडवांस में ही ऑर्डर जूलॉजी के सहारे वह जो जो दृश्यता थी जो विजिबिलिटी थी उसको अलिफ लेला निकोटेक्स के टाइम पर वह उसको बढ़ाने के लिए जिसे कर सकते हैं बट हमारा हवाई अड्डा बिल्कुल सक्षम है उड़ानों के लिएTeekhi Raviwar Subah Delhi Mein Sujan Ka Sabse Ghana Koharaa Chaya Indira Gandhi International Airport Par 350 Se Jyada Aur Purane Prabhavit Hui 227 Yadav Rani Let Hui Karib 50 Divert Ki Gayi 35 Udane To Shadi Karni Padi Uttar Bharat Mein Traino Par Bhi Bahut Asar Pada Dekhie December 2017 Mein Pehli Baar 4 Degree Se Neeche Par Aaya Aur Jo 6:00 Baje Tak To Drishya Tehsil Chune Hi Ho Gayi Thi 5 Meter Par Bhi Kuch Dikhai Nahi De Raha Tha Tum Ek Aisa Nahi Hai Ki Dana Dan Aur Jo Hamara Jo Hawai Adda Hai Wah Saksham Nahi Hai Kyonki Jo Indira Gandhi International Airport Hai Wah Kafi Advance Aur Technology Clea Kafi Accha Ek Hawai Adda Hai Aur Desh Ke Poore Vishwa Mein Number Do Par Aata Hai Wah Apne Edavansament Ko Lekar To Aisa Nahi Hai Ki Wah Saksham Nahi Hai Par Dekhie Of Technology Par Kitna Bharosa Kar Sakte Hain Aakhiri Mein To Agar By Chance Ko Choti Moti Bhi Gadbad Ho Gayi To Jaane To Kai Sau Logon Ke Chale Jaenge To Saksham Aur Saksham Ki Batein Yahan Nahi Uthati Yahan Bus Yeh Ki Aapne Par Hawai Adde Precautions Liye Aur Shayad Theek Theek Kiya Ki Bahut Saree Jaan Bach Gayi Borta Aur Aisi Cheez Hai Ya Aur Advance Mein Hi Order Juology Ke Sahare Wah Jo Jo Drishyata Thi Jo Visibility Thi Usko Alif Laila Nicotex Ke Time Par Wah Usko Badhane Ke Liye Jise Kar Sakte Hain But Hamara Hawai Adda Bilkul Saksham Hai Udaanon Ke Liye
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहली बात तो यह सवाल इतना महत्वपूर्ण नहीं है दूसरी बात की कोहरा ज्यादा है फ्लाइट कैंसिल भी होती है निलंबित भी होती है तकदीर भी होती है वह जरुरी भी है को नहीं होगा तो कैसे काम चलेगा भाई आपको भेजते हैं र...जवाब पढ़िये
पहली बात तो यह सवाल इतना महत्वपूर्ण नहीं है दूसरी बात की कोहरा ज्यादा है फ्लाइट कैंसिल भी होती है निलंबित भी होती है तकदीर भी होती है वह जरुरी भी है को नहीं होगा तो कैसे काम चलेगा भाई आपको भेजते हैं राजू ड्राइवर होगा तेरा ही न पाए क्या फायदा तो आप चीज को देखिए इस प्रकार के सवालों को ना पूछेंPehli Baat To Yeh Sawal Itna Mahatvapurna Nahi Hai Dusri Baat Ki Koharaa Jyada Hai Flight Cancel Bhi Hoti Hai Nilambit Bhi Hoti Hai Takdir Bhi Hoti Hai Wah Zaroori Bhi Hai Ko Nahi Hoga To Kaise Kaam Chalega Bhai Aapko Bhejate Hain Raju Driver Hoga Tera Hi N Paye Kya Fayda To Aap Cheez Ko Dekhie Is Prakar Ke Sawalon Ko Na Puchen
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kohare Ke Kaaran Igi Airport Mein 300 Se Adhik Udane Vilambit Hain Kya Airport Ke Adhikari Is Tarah Ki Sthitiyo Se Nipatane Mein Saksham Nahi Hain, Due To The Fog, More Than 300 Flights Are Delayed At IGI Airport, Are Not The Officials Of The Airport Capable Of Dealing With Such Situations?

vokalandroid