क्या डॉक्टर्स के हड़ताल पे जाने को आपराधिक बना देना चाहिए, क्यूँकि इसके वजह से मरीज़ों को काफी परेशानी होती है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मुझे लगता है जिस तरह से डॉक्टर लोग हड़ताल पर चले जाते हैं उसमें से बहुत ज्यादा दिक्कत होती है पेशेंट को बहुत ज्यादा सरवाइव करना पड़ता है वह कभी-कभी रिजल्ट ही रहता है कि कुछ भी सेंड की जान भी चली...जवाब पढ़िये
लेकिन मुझे लगता है जिस तरह से डॉक्टर लोग हड़ताल पर चले जाते हैं उसमें से बहुत ज्यादा दिक्कत होती है पेशेंट को बहुत ज्यादा सरवाइव करना पड़ता है वह कभी-कभी रिजल्ट ही रहता है कि कुछ भी सेंड की जान भी चली जाती है तो मुझे लगता है कि ऐसे डॉक्टर से मेडिकल कॉलेज के स्टूडेंट जो इस तरह की स्टेटमेंट बोल होते हैं जिस जिस वजह से किसी पेशेंट की जान चली है मुझे लगता है ऐसे लोगों पर आपराधिक मुकदमे दर्ज होने चाहिए मैं इतना कहना चाहूंगा कि जो मेडिकल ऑर्गनाइजेशन है जो मेडिकल एसोसिएशन है उसके डॉक्टर के पास जाते हैं यह अपनी मां के बगैर बाजी मांगों के लिए सरकार को ब्लैकमेल करते हैं जिसकी वजह से पेशेंट्स को झेलना पड़ता है तो मुझे लगता है ऐसे डॉक्टर का लाइसेंस कैसे बिल्कुल रद्द होना चाहिए ऐसे हॉस्पिटल से कभी लाइसेंस रद्द होने से होना चाहिए जो इस चीज को प्रमोट करते हैंLekin Mujhe Lagta Hai Jis Tarah Se Doctor Log Hartal Par Chale Jaate Hain Usamen Se Bahut Jyada Dikkat Hoti Hai Patient Ko Bahut Jyada Survive Karna Padata Hai Wah Kabhi Kabhi Result Hi Rehta Hai Ki Kuch Bhi Send Ki Jaan Bhi Chali Jati Hai To Mujhe Lagta Hai Ki Aise Doctor Se Medical College Ke Student Jo Is Tarah Ki Statement Bol Hote Hain Jis Jis Wajah Se Kisi Patient Ki Jaan Chali Hai Mujhe Lagta Hai Aise Logon Par Apradhik Mukadme Darj Hone Chahiye Main Itna Kehna Chahunga Ki Jo Medical Organisation Hai Jo Medical Association Hai Uske Doctor Ke Paas Jaate Hain Yeh Apni Maa Ke Bagair Busy Maangon Ke Liye Sarkar Ko Blackmail Karte Hain Jiski Wajah Se Peshents Ko Jhelna Padata Hai To Mujhe Lagta Hai Aise Doctor Ka License Kaise Bilkul Radd Hona Chahiye Aise Hospital Se Kabhi License Radd Hone Se Hona Chahiye Jo Is Cheez Ko Promote Karte Hain
Likes  4  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नेशनल मेडिकल कमीशन बनाने की सरकार के इस नए प्रस्ताव पर के खिलाफ आज इंडियन मेडिकल एसोसिएशन से जुड़े देश में करीब 3 से 3:30 लाख डॉक्टर हड़ताल पर रहेंगे प्राइवेट या सरकारी अस्पताल की सारी ओपीडी जो है वह ...जवाब पढ़िये
नेशनल मेडिकल कमीशन बनाने की सरकार के इस नए प्रस्ताव पर के खिलाफ आज इंडियन मेडिकल एसोसिएशन से जुड़े देश में करीब 3 से 3:30 लाख डॉक्टर हड़ताल पर रहेंगे प्राइवेट या सरकारी अस्पताल की सारी ओपीडी जो है वह बंद रहेंगे ठप रहेंगे तब इसमें क्या है कि वह अपना सा डॉक्टर को हड़ताल पर जाने के लिए आपराधिक मामला बनाने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा क्योंकि जिन लोगों को करना हमको यह खुद से जो लोग स्ट्राइक पर गए हैं उन लोगों को डिसिशन लेना है कि उनके लिए क्या इंपॉर्टेंट है आपने कुछ फैसले बनवाने के लिए आपने कुछ बात रखने के लिए और भी तरीके हो सकते हैं आप Skype पर जाकर लोगों की जिम्मेदारियों को आप लोगों की जिंदगी उसी खेल कर अपनी बात अगर आप ने मन भाई भेज दो कितना पाप आपने अपने सर पर लिया तो मैं सनी से नहीं दूंगी क्या अपराध है बनाने की जगह अपराधिक तो नहीं कहती मैं क्योंकि लोगों को बात मनाने का हक है आप सलूशन देते हैं कि वह अपनी बात मनाने के लिए यह तरीका अपनाएं जिस से कि गवर्मेंट और जो बाकी लोग उनकी बात को सुनो और बाकी का काम भी हम पर ना होNational Medical Commision Banane Ki Sarkar Ke Is Naye Prastaav Par Ke Khilaf Aaj Indian Medical Association Se Jude Desh Mein Karib 3 Se 3:30 Lakh Doctor Hartal Par Rahenge Private Ya Sarkari Aspatal Ki Saree Opidi Jo Hai Wah Band Rahenge Thap Rahenge Tab Isme Kya Hai Ki Wah Apna Sa Doctor Ko Hartal Par Jaane Ke Liye Apradhik Maamla Banane Se Koi Fark Nahi Padega Kyonki Jin Logon Ko Karna Hamko Yeh Khud Se Jo Log Strike Par Gaye Hain Un Logon Ko Decision Lena Hai Ki Unke Liye Kya Important Hai Aapne Kuch Faisle Banwane Ke Liye Aapne Kuch Baat Rakhne Ke Liye Aur Bhi Tarike Ho Sakte Hain Aap Skype Par Jaakar Logon Ki Jimmedariyon Ko Aap Logon Ki Zindagi Ussi Khel Kar Apni Baat Agar Aap Ne Man Bhai Bhej Do Kitna Paap Aapne Apne Sar Par Liya To Main Sunny Se Nahi Dungi Kya Apradh Hai Banane Ki Jagah Apradhik To Nahi Kahti Main Kyonki Logon Ko Baat Manane Ka Haq Hai Aap Salution Dete Hain Ki Wah Apni Baat Manane Ke Liye Yeh Tarika Apnaaen Jis Se Ki Goverment Aur Jo Baki Log Unki Baat Ko Suno Aur Baki Ka Kaam Bhi Hum Par Na Ho
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Doctors Ke Hartal Pe Jaane Ko Apradhik Bana Dena Chahiye Kyunki Iske Wajah Se Marizo Ko Kafi Pareshani Hoti Hai, Should Doctors Go On Strike To Make A Criminal, Because The Patients Have A Lot Of Trouble Because Of This?

vokalandroid