क्या भारत को वीसा के नियम शाक्त करने चाहिए ? खास कर अपने पडोसी देश जैसे की नेपाल चीन इत्यादि के लिए? ...

Likes  0  Dislikes

3 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
नेपाल के लोगों को तो भारत में आने के लिए वीजा लेना ही नहीं पड़ता है क्योंकि भारत और नेपाल का आपस में एग्रीमेंट है कि आपस में हम एक दूसरे के देश में जा सकते हैं l अगर आपको नेपाल जाना है, आप नेपाल बॉर्डर पर कहीं भी यूपी और उत्तराखंड से, पैदल पुल पार करते चले जाइए, आराम से जा सकते हैं l और नेपाल के तो कितने सारे लोग भारत में काम कर रहे हैं तो नेपाल के साथ हमारा वह रिश्ता है और वह बना रहेगा l उसके बहुत सारे फायदे हैं हमारे लिए l और वहां जहां तक पाते चीन की तो चीन के साथ तो हमारे वीजा में कोई लिनिंन्सी है नहीं l और ऐसा भी कुछ नहीं है कि चीन के लोग भारत में आने के लिए लाइन लगा के खड़े हैं और बहुत ज्यादा इंफिल्ट्रेशन हो रहा है चीन के लोगों का हमारे देश में l अगर यह बात शायद बांग्लादेशी लोगों के लिए कही जाती तो कुछ क्वेश्चन का मीनिंग बनता कि क्या बांग्लादेशियों के लिए वीजा के नियम सख्त करने चाहिए l लेकिन वहां भी नियम की बात नहीं है बांग्लादेशी लोग सिक्के को से चले आते हैं बॉर्डर से क्योंकि उनके देश में जो गरीब अभी है या जो अभी रोहिंग्यास की जो प्रॉब्लम हुई थी वहां से म्यांमार के लोग बांग्लादेश के रास्ते से हमारे देश में घुस आएं तो वह प्रॉब्लम भी वीजा के रूल की नहीं है बल्कि पोरस बॉर्डर की है l बॉर्डर पर हम कितनी बाउंड्री करें और कितने तार बाहर लगाएं कितनी फोर्स लगाएं उसकी भी बहुत ज्यादा कॉस्ट है l तो कहीं ना कही इसमें एक कंप्रोमाइज होता है कि सारे बॉर्डर को सील करना तो अमेरिका नहीं कर पा रहा है l अमेरिका मेक्सिको के बॉर्डर पर तार-बार लगाने की बात नए राष्ट्रपति ने अपने चुनाव में कही थी लेकिन वह भी प्रेक्टिकली पॉसिबल है नहीं क्योंकि उसकी जो कॉस्टिंग है वह इतनी ज्यादा है कि कई बार थोड़ा बहुत इंफिल्ट्रेशन सरकार बर्दाश्त कर लेती है l और इस तरीके से सारी इकॉनमी चल रही है l यूरोप आज माइग्रेशन की प्रॉब्लम से जूझ रहा है तो हमारे लिए अलग बात नहीं है आय थिंक एक ग्लोबल प्रॉब्लम है lNepal Ke Logon Ko To Bharat Mein Aane Ke Liye Visa Lena Hi Nahi Padata Hai Kyonki Bharat Aur Nepal Ka Aapas Mein Egriment Hai Ki Aapas Mein Hum Ek Dusre Ke Desh Mein Ja Sakte Hain L Agar Aapko Nepal Jana Hai Aap Nepal Border Par Kahin Bhi Up Aur Uttarakhand Se Paidal Pool Par Karte Chale Jaiye Aaram Se Ja Sakte Hain L Aur Nepal Ke To Kitne Sare Log Bharat Mein Kaam Kar Rahe Hain To Nepal Ke Saath Hamara Wah Rishta Hai Aur Wah Bana Rahega L Uske Bahut Sare Fayde Hain Hamare Liye L Aur Wahan Jahan Tak Paate Chin Ki To Chin Ke Saath To Hamare Visa Mein Koi Lininnsi Hai Nahi L Aur Aisa Bhi Kuch Nahi Hai Ki Chin Ke Log Bharat Mein Aane Ke Liye Line Laga Ke Khade Hain Aur Bahut Jyada Imfiltreshan Ho Raha Hai Chin Ke Logon Ka Hamare Desh Mein L Agar Yeh Baat Shayad Bangladeshi Logon Ke Liye Kahi Jati To Kuch Question Ka Meaning Banta Ki Kya Bangladeshiyon Ke Liye Visa Ke Niyam Sakht Karne Chahiye L Lekin Wahan Bhi Niyam Ki Baat Nahi Hai Bangladeshi Log Sikke Ko Se Chale Aate Hain Border Se Kyonki Unke Desh Mein Jo Garib Abhi Hai Ya Jo Abhi Rohingyas Ki Jo Problem Hui Thi Wahan Se Myanmar Ke Log Bangladesh Ke Raste Se Hamare Desh Mein Ghus Aaen To Wah Problem Bhi Visa Ke Rule Ki Nahi Hai Balki Porous Border Ki Hai L Border Par Hum Kitni Boundary Karen Aur Kitne Taar Bahar Lagaen Kitni Force Lagaen Uski Bhi Bahut Jyada Cost Hai L To Kahin Na Kahi Isme Ek Compromise Hota Hai Ki Sare Border Ko Seal Karna To America Nahi Kar Pa Raha Hai L America Mexico Ke Border Par Taar Baar Lagane Ki Baat Naye Rashtrapati Ne Apne Chunav Mein Kahi Thi Lekin Wah Bhi Prektikali Possible Hai Nahi Kyonki Uski Jo Costing Hai Wah Itni Jyada Hai Ki Kai Baar Thoda Bahut Imfiltreshan Sarkar Bardaasht Kar Leti Hai L Aur Is Tarike Se Saree Economy Chal Rahi Hai L Europe Aaj Migration Ki Problem Se Joojh Raha Hai To Hamare Liye Alag Baat Nahi Hai Aay Think Ek Global Problem Hai L
Likes  13  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
आ देखे मैंने जो है वह वीजा के नियम भारत को सख्त करने चाहिए अगर गवर्नमेंट को ऐसा लगता है कि उनको नेम रिंग कंट्री करें अगर रहती हो रिंगटोन को नहीं लगती है तो वह फालतू में मैंने समझ सकी करेंगी और क्योंकि उसे यीशु जी पढ़ेंगे तो इससे अच्छा जो अभी चल रहा है उसको चलने दे नहीं तो अगर गवर्नमेंट को लगता ही ऐसी सिचुएशन बन रही है कि उसको बढ़ाना पड़ेगा तो शिकायत बढ़ा सकते हैंAa Dekhe Maine Jo Hai Wah Visa Ke Niyam Bharat Ko Sakht Karne Chahiye Agar Government Ko Aisa Lagta Hai Ki Unko Name Ring Country Karen Agar Rehti Ho Ringtone Ko Nahi Lagti Hai To Wah Faltu Mein Maine Samajh Saki Karengi Aur Kyonki Use Yeshu Ji Padhenge To Isse Accha Jo Abhi Chal Raha Hai Usko Chalne De Nahi To Agar Government Ko Lagta Hi Aisi Situation Ban Rahi Hai Ki Usko Badhana Padega To Shikayat Badha Sakte Hain
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
नेपाल की तो बात सही है नेपाल में कोई वीजा लेने की जरूरत नहीं पड़ती है लेकिन रही बात चीन की तो चीन इतना बड़ा कोई दुश्मन नहीं है हमारा या को आतंकी देश नहीं है ना उसमें इतना आतंकवाद है हां चीनियों को छोड़कर चीनी सामान पर हम लोग को वीजा लगा देना चाहिए या नहीं कि प्रतिबंध लगा देना चाहिए वह बेटर रहेगाNepal Ki To Baat Sahi Hai Nepal Mein Koi Visa Lene Ki Zaroorat Nahi Padhti Hai Lekin Rahi Baat Chin Ki To Chin Itna Bada Koi Dushman Nahi Hai Hamara Ya Ko Aatanki Desh Nahi Hai Na Usamen Itna Aatankwad Hai Haan Chiniyon Ko Chodkar Chini Saamaan Par Hum Log Ko Visa Laga Dena Chahiye Ya Nahi Ki Pratibandh Laga Dena Chahiye Wah Better Rahega
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Bharat Ko Visa Ke Niyam Shaakt Karne Chahiye ? Khas Kar Apne Padosi Desh Jaise Ki Nepal Chin Ityadi Ke Liye





मन में है सवाल?