बचत बैंक खातों पर ब्याज दर कौन निर्धारित करता है ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में बैंकों में ब्याज दर बैंक खुद निर्धारित करते हैं l पहले जो बचत खाता है- सेविंग अकाउंट उसमें आरबीआई बताया करता था कितना ब्याज दर होना चाहिए लेकिन अभी वह आरबीआई ने बैंकों पर छोड़ दिया है कि बैंक ...जवाब पढ़िये

भारत में बैंकों में ब्याज दर बैंक खुद निर्धारित करते हैं l पहले जो बचत खाता है- सेविंग अकाउंट उसमें आरबीआई बताया करता था कितना ब्याज दर होना चाहिए लेकिन अभी वह आरबीआई ने बैंकों पर छोड़ दिया है कि बैंक अपने तरीके से ब्याज दर निर्धारित कर सकते हैं l किसी भी अकाउंट में चाहे वह सेविंग अकाउंट हो ऍफ़डी हो आरडी या कोई भी लोन अकाउंट हो जिसे की बैंकों को वह फ्रीडम है कि अपने हिसाब से अपने कॉस्ट और अपने खर्चे और अपने मार्केट में क्या इंटरेस्ट रेट चल रहा है कंपटीशन क्या है फ्री मार्केट और कोम्पेतितिव मार्केट के लिए इंडिपेंडेंस जरूरी है l तो अभी बैंकों को वह पूरी फ्रीडम है कि वह सारे ही ब्याज दरों को निर्धारित कर सकते हैं अपने हिसाब से lBharat Mein Bankon Mein Byaj Dar Bank Khud Nirdharit Karte Hain L Pehle Jo Bachat Khaata Hai Saving Account Usamen Rbi Bataya Karta Tha Kitna Byaj Dar Hona Chahiye Lekin Abhi Wah Rbi Ne Bankon Par Chod Diya Hai Ki Bank Apne Tarike Se Byaj Dar Nirdharit Kar Sakte Hain L Kisi Bhi Account Mein Chahe Wah Saving Account Ho Afadi Ho Aradi Ya Koi Bhi Loan Account Ho Jise Ki Bankon Ko Wah Freedom Hai Ki Apne Hisab Se Apne Cost Aur Apne Kharche Aur Apne Market Mein Kya Interest Rate Chal Raha Hai Competition Kya Hai Free Market Aur Kompetitiv Market Ke Liye Independence Zaroori Hai L To Abhi Bankon Ko Wah Puri Freedom Hai Ki Wah Sare Hi Byaj Daro Ko Nirdharit Kar Sakte Hain Apne Hisab Se L
Likes  16  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो पहले क्या था 2011 तक जो ब्याज दरों तथा सेविंग अकाउंट मतलब बचत खातों पर वह जो अ बार्बी निर्धारित करता था उसको मार्केट के हिसाब से लेकिन 2011 में अक्टूबर के बाद यह जो रूल है वह चेंज हो गया अब जो ब्या ...जवाब पढ़िये

जो पहले क्या था 2011 तक जो ब्याज दरों तथा सेविंग अकाउंट मतलब बचत खातों पर वह जो अ बार्बी निर्धारित करता था उसको मार्केट के हिसाब से लेकिन 2011 में अक्टूबर के बाद यह जो रूल है वह चेंज हो गया अब जो ब्याज दर है बचत खातों पर वह अभी खुद डिसाइड करेगा एक पर्टिकुलर बैंड वह खुद ही डिसाइड करें कि कितना ब्याज दर लगाना है बचत खाते परJo Pehle Kya Tha 2011 Tak Jo Byaj Daro Tatha Saving Account Matlab Bachat Khaaton Par Wah Jo A Barbie Nirdharit Karta Tha Usko Market Ke Hisab Se Lekin 2011 Mein October Ke Baad Yeh Jo Rule Hai Wah Change Ho Gaya Ab Jo Byaj Dar Hai Bachat Khaaton Par Wah Abhi Khud Decide Karega Ek Particular Band Wah Khud Hi Decide Karen Ki Kitna Byaj Dar Lagana Hai Bachat Khate Par
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कि पहले जो था कि 2011 तक जो है बचत बचत खातों पर ब्याज की दर आवे निर्धारित करती थी लेकिन टिकट अक्टूबर 2011 से बैंक आरबीआई ने डिलीट कर दिया और भी रिपीट करने के साथ ही उन्होंने ब्रांच कोई अथॉरिटी देवी भै ...जवाब पढ़िये

कि पहले जो था कि 2011 तक जो है बचत बचत खातों पर ब्याज की दर आवे निर्धारित करती थी लेकिन टिकट अक्टूबर 2011 से बैंक आरबीआई ने डिलीट कर दिया और भी रिपीट करने के साथ ही उन्होंने ब्रांच कोई अथॉरिटी देवी भैंस को यह परमिशन दे दी है कि वह बचत दर खुद व्यास पर जो है वह खुद डिसाइड करेंगे बचत खातों पर बचत बैंक खातों पर तू अपने हिसाब से ब्याज की दर निर्धारित करता है कि वह कितना ब्याज दर तो लौटकर आएगा बचत खाताKi Pehle Jo Tha Ki 2011 Tak Jo Hai Bachat Bachat Khaaton Par Byaj Ki Dar Aawe Nirdharit Karti Thi Lekin Ticket October 2011 Se Bank Rbi Ne Delete Kar Diya Aur Bhi Repeat Karne Ke Saath Hi Unhone Branch Koi Authority Devi Bhains Ko Yeh Permission De Di Hai Ki Wah Bachat Dar Khud Vyas Par Jo Hai Wah Khud Decide Karenge Bachat Khaaton Par Bachat Bank Khaaton Par Tu Apne Hisab Se Byaj Ki Dar Nirdharit Karta Hai Ki Wah Kitna Byaj Dar To Lautkar Aayega Bachat Khaata
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यहां लेकर 2011 तक जो है बचत का चौक पर जो ब्याज दर था उसको आरबीआई ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया निर्धारित करती थी पूरे देश के लिए लेकिन अभी 2011 से जो है उसे यह जो अधिकार है यह अभी बैंक के हाथों बैंक को ही ...जवाब पढ़िये

यहां लेकर 2011 तक जो है बचत का चौक पर जो ब्याज दर था उसको आरबीआई ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया निर्धारित करती थी पूरे देश के लिए लेकिन अभी 2011 से जो है उसे यह जो अधिकार है यह अभी बैंक के हाथों बैंक को ही दे दिया गया है कि वह बचत खातों पर ब्याज दर निर्धारित करने का जो अधिकार है वह भी बैंकों के खाते में दे दियाYahan Lekar 2011 Tak Jo Hai Bachat Ka Chauk Par Jo Byaj Dar Tha Usko Rbi Ne Reserve Bank Of India Nirdharit Karti Thi Poore Desh Ke Liye Lekin Abhi 2011 Se Jo Hai Use Yeh Jo Adhikaar Hai Yeh Abhi Bank Ke Hathon Bank Ko Hi De Diya Gaya Hai Ki Wah Bachat Khaaton Par Byaj Dar Nirdharit Karne Ka Jo Adhikaar Hai Wah Bhi Bankon Ke Khate Mein De Diya
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बचत बैंक खातों पर ब्याज दर सारे बैंक स्वयं ही निर्धारित करते हैं हालांकि पहले यह ब्याज दर आरबीआई निर्धारित करती थी और यह सभी बैंकों के लिए समान हुआ करती थी परंतु 2011 के बाद से यह सब काम Bank खुद ही क ...जवाब पढ़िये

बचत बैंक खातों पर ब्याज दर सारे बैंक स्वयं ही निर्धारित करते हैं हालांकि पहले यह ब्याज दर आरबीआई निर्धारित करती थी और यह सभी बैंकों के लिए समान हुआ करती थी परंतु 2011 के बाद से यह सब काम Bank खुद ही करने लगी है और इससे बैंकों को फ्रीडम नहीं जाती है कि आप अपना मार्केट वैल्यू कॉस्ट और सब कुछ लगाकर अभी प्यार बैंक की ब्याज दर निर्धारित करेंBachat Bank Khaaton Par Byaj Dar Sare Bank Swayam Hi Nirdharit Karte Hain Halanki Pehle Yeh Byaj Dar Rbi Nirdharit Karti Thi Aur Yeh Sabhi Bankon Ke Liye Saman Hua Karti Thi Parantu 2011 Ke Baad Se Yeh Sab Kaam Bank Khud Hi Karne Lagi Hai Aur Isse Bankon Ko Freedom Nahi Jati Hai Ki Aap Apna Market Value Cost Aur Sab Kuch Lagakar Abhi Pyar Bank Ki Byaj Dar Nirdharit Karen
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आ देखे जो बचत खातों के में ब्याज दरें जो हैं वह जिस बैंक में आपका खाता है वही बैंक डिसाइड करती है कि वह अपने कस्टमर्स को उनको सेविंग बैंक पर कितना लोन इंटरेस्ट रेट है वह देना चाहिए पहले जो हो जाता मतल ...जवाब पढ़िये

आ देखे जो बचत खातों के में ब्याज दरें जो हैं वह जिस बैंक में आपका खाता है वही बैंक डिसाइड करती है कि वह अपने कस्टमर्स को उनको सेविंग बैंक पर कितना लोन इंटरेस्ट रेट है वह देना चाहिए पहले जो हो जाता मतलब 2011 के बाद ऐसा हुआ है कि हर बैंक ऑफ इंडिपेंडेंस डे दे दिया गया है कि वह अपने बचत खाते पर जो ब्याज दर है वह सेट कर सकती है जितना वह चाहे चाहे वह 3:30 पर्सेंट को 4 परसेंट हो या 7 परसेंट वह 2011 से पहले क्या होता था कि वह आरबीआई सेट कर तिथि सन् 2011 के बाद जो है वह आरबीआई ने हरं बैंक ऑफ इंडिपेंडेंस भेजी है वह अपने मनचाहे रूप से अपने कस्टमर्स को जो है वह पार्टिकल इंटरेस्ट इंटरेस्ट रेट ऑफ कर सकतीAa Dekhe Jo Bachat Khaaton Ke Mein Byaj Daren Jo Hain Wah Jis Bank Mein Aapka Khaata Hai Wahi Bank Decide Karti Hai Ki Wah Apne Customers Ko Unko Saving Bank Par Kitna Loan Interest Rate Hai Wah Dena Chahiye Pehle Jo Ho Jata Matlab 2011 Ke Baad Aisa Hua Hai Ki Har Bank Of Independence Day De Diya Gaya Hai Ki Wah Apne Bachat Khate Par Jo Byaj Dar Hai Wah Set Kar Sakti Hai Jitna Wah Chahe Chahe Wah 3:30 Percent Ko 4 Percent Ho Ya 7 Percent Wah 2011 Se Pehle Kya Hota Tha Ki Wah Rbi Set Kar Tithi San 2011 Ke Baad Jo Hai Wah Rbi Ne Haran Bank Of Independence Bheji Hai Wah Apne Manchahe Roop Se Apne Customers Ko Jo Hai Wah Particle Interest Interest Rate Of Kar Sakti
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखी अभी वर्तमान के बारे में बोले तो जहां जहां पर हमारे बचत बैंक खाते हैं वहां के बाद भी उनका ब्याज दर निर्धारित कर रही है तो आइए सब कुछ 2011 के अनुसार अक्टूबर के बाद चल रहा है उससे पहले दूसरों पर निर ...जवाब पढ़िये

लिखी अभी वर्तमान के बारे में बोले तो जहां जहां पर हमारे बचत बैंक खाते हैं वहां के बाद भी उनका ब्याज दर निर्धारित कर रही है तो आइए सब कुछ 2011 के अनुसार अक्टूबर के बाद चल रहा है उससे पहले दूसरों पर निर्धारित करती हैLikhi Abhi Vartaman Ke Baare Mein Bole To Jahan Jahan Par Hamare Bachat Bank Khate Hain Wahan Ke Baad Bhi Unka Byaj Dar Nirdharit Kar Rahi Hai To Aaiye Sab Kuch 2011 Ke Anusar October Ke Baad Chal Raha Hai Usse Pehle Dusron Par Nirdharit Karti Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Bachat Bank Khaaton Par Byaj Dar Kaun Nirdharit Karta Hai ?, बचत खाते पर ब्याज दर कौन निर्धारित करता है