क्या भारत के संविधान के प्रति ये सरकार पूर्ण रूप से समर्पित है ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत के संविधान में चाहे कोई भी सरकार को पूर्ण रुप से समर्पित नहीं रहती है उसका कारण है उसको फिर से सरकार में आना है और जातिवाद जैसे मुद्दे टकराती टकराती है और भारत में सरकार का उत्तरदायित्व कार्य व क...
जवाब पढ़िये
भारत के संविधान में चाहे कोई भी सरकार को पूर्ण रुप से समर्पित नहीं रहती है उसका कारण है उसको फिर से सरकार में आना है और जातिवाद जैसे मुद्दे टकराती टकराती है और भारत में सरकार का उत्तरदायित्व कार्य व कल्याणकारी योजनाएं जनता के लिए लाए हालांकि राजनेता और जनता का आनंद करते हैं जैसा कि अभी हाल ही में देखा होगा आपने दोबारा कमेटियां आई है जो राज नेताओं के खिलाफ केस सुनवाई करेगी तो संसद में बिल पास नहीं हुआ है उसका यही कारण है कि वो राजनीति और मैच में यही कहना चाहूंगा जो वर्तमान में सरकार है बीजेपी की वो काफी अच्छा प्रयास कर रही है काफी अच्छा काम कर रही है जैसा कि वाराणसी में ले देखा जाए अल्पसंख्यक वर्गों के लिए उस्ताद योजना आई है और निम्न वर्ग के तरीके निम्न वर्ग के लोगों के लिए उज्ज्वला योजना आई है और सहज योजना आई है और घर के लिए बिजली और सबसे बड़ी बात है सरकार की गई एक योजना चलाई थी हिमाचल से उड़ान उड़े देश का आम नागरिक पहली बहुत सारी योजनाएं जिससे सरकार कल्याणकारी कार्य कर रही है और मुझे नहीं लगता कि कोई भी सरकार पूर्ण रूप से समर्पित होती है भारत मेंBharat Ke Samvidhan Mein Chahe Koi Bhi Sarkar Ko Poorn Roop Se Samarpit Nahi Rehti Hai Uska Kaaran Hai Usko Phir Se Sarkar Mein Aana Hai Aur Jaatiwad Jaise Mudde Takarati Takarati Hai Aur Bharat Mein Sarkar Ka Uttardaayitva Karya V Kalyankari Yojanaye Janta Ke Liye Laye Halanki Rajneta Aur Janta Ka Anand Karte Hain Jaisa Ki Abhi Haal Hi Mein Dekha Hoga Aapne Dobara Kametiyan Eye Hai Jo Raj Netaon Ke Khilaf Case Sunavai Karegi To Sansad Mein Bill Paas Nahi Hua Hai Uska Yahi Kaaran Hai Ki Vo Rajneeti Aur Match Mein Yahi Kehna Chahunga Jo Vartaman Mein Sarkar Hai Bjp Ki Vo Kafi Accha Prayas Kar Rahi Hai Kafi Accha Kaam Kar Rahi Hai Jaisa Ki Varanasi Mein Le Dekha Jaye Alpsankhyak Vargon Ke Liye Ustad Yojana Eye Hai Aur Nimn Varg Ke Tarike Nimn Varg Ke Logon Ke Liye Ujjvala Yojana Eye Hai Aur Sehaz Yojana Eye Hai Aur Ghar Ke Liye Bijli Aur Sabse Badi Baat Hai Sarkar Ki Gayi Ek Yojana Chalai Thi Himachal Se Uddan Ude Desh Ka Aam Nagarik Pehli Bahut Saree Yojanaye Jisse Sarkar Kalyankari Karya Kar Rahi Hai Aur Mujhe Nahi Lagta Ki Koi Bhi Sarkar Poorn Roop Se Samarpit Hoti Hai Bharat Mein
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

क्या भारत सरकार को भी अपने भारतिय संविधान की पूरी नियम की फ्री बुक प्लेस्टोर पर अपलोड करना चाहिए, जिससे सभी लोग आसानी से अपने संविधान को जान सके और देश के ग़लत कार्य को रोक सके? ...

लिखिए जी हां भारत को सरकार को जो है अपने भारतीय संविधान की पूरी जानकारी...जवाब पढ़िये
ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह कहना गलत होगा कि भारत के संविधान के प्रति सरकार पूर्ण रुप से समर्पित नहीं है हां यह बात बिल्कुल सच है कि भारत के संविधान के प्रति सरकार पूर्ण रुप से समर्पित है क्योंकि जो भी भारत सरकार के लक्ष्य रह...
जवाब पढ़िये
यह कहना गलत होगा कि भारत के संविधान के प्रति सरकार पूर्ण रुप से समर्पित नहीं है हां यह बात बिल्कुल सच है कि भारत के संविधान के प्रति सरकार पूर्ण रुप से समर्पित है क्योंकि जो भी भारत सरकार के लक्ष्य रहे हो संविधान के प्रति ही रहे हैं और भारत सरकार ने हमेशा संविधान की तरफ सम्मान रखा है और उसका कभी भारत संविधान का कभी अपमान नहीं किया क्योंकि गरम अन्य देशों में देखे तो कैसे अन्य देश की संविधान जो है सरकारों ने उसे निकाल दिया गया है या वह संविधान में नहीं मानते हो ऐसा कुछ भारत जैसे बड़े देश में नहीं हुआ है यह बात सच है कि भारत जैसे देश को बनने में या फिर हम तेरे सकते हैं प्रोग्रेस होने के लिए डेवलप होने के लिए समय लग रहा है कुछ अर्जेंट है कुछ प्रॉब्लम से यह कहना गलत है कि भारत की सरकार संविधान के प्रति पूर्ण रूप से समर्पित नहीं है बिल्कुल भारत के संविधान जो है के प्रति यह सरकार या भारत सरकार पूर्ण रुप से समर्पित हैYeh Kehna Galat Hoga Ki Bharat Ke Samvidhan Ke Prati Sarkar Poorn Roop Se Samarpit Nahi Hai Haan Yeh Baat Bilkul Sach Hai Ki Bharat Ke Samvidhan Ke Prati Sarkar Poorn Roop Se Samarpit Hai Kyonki Jo Bhi Bharat Sarkar Ke Lakshya Rahe Ho Samvidhan Ke Prati Hi Rahe Hain Aur Bharat Sarkar Ne Hamesha Samvidhan Ki Taraf Samman Rakha Hai Aur Uska Kabhi Bharat Samvidhan Ka Kabhi Apman Nahi Kiya Kyonki Garam Anya Deshon Mein Dekhe To Kaise Anya Desh Ki Samvidhan Jo Hai Sarkaro Ne Use Nikal Diya Gaya Hai Ya Wah Samvidhan Mein Nahi Manate Ho Aisa Kuch Bharat Jaise Bade Desh Mein Nahi Hua Hai Yeh Baat Sach Hai Ki Bharat Jaise Desh Ko Banane Mein Ya Phir Hum Tere Sakte Hain Progress Hone Ke Liye Develop Hone Ke Liye Samay Lag Raha Hai Kuch Urgent Hai Kuch Problem Se Yeh Kehna Galat Hai Ki Bharat Ki Sarkar Samvidhan Ke Prati Poorn Roop Se Samarpit Nahi Hai Bilkul Bharat Ke Samvidhan Jo Hai Ke Prati Yeh Sarkar Ya Bharat Sarkar Poorn Roop Se Samarpit Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मेरे ख्याल से भारत के संविधान के प्रति सरकार पूर्ण रुप से संबंधित को देखा जाए तो यह कुछ हद तक हमारी गलती है कि हम सरकार के कठोर से देखते हैं कि वह एकता को नहीं निभा रहे अच्छे से वहां हिंदू को मु...
जवाब पढ़िये
लेकिन मेरे ख्याल से भारत के संविधान के प्रति सरकार पूर्ण रुप से संबंधित को देखा जाए तो यह कुछ हद तक हमारी गलती है कि हम सरकार के कठोर से देखते हैं कि वह एकता को नहीं निभा रहे अच्छे से वहां हिंदू को मुसलमान हो गए थे डिफरेंट सेट करें ऐसा बिल्कुल भी नहीं है सरकार ने कई 67 आए हैं कि जो कि भारत की एकता बनी रहे संविधान में लिखा गया है तो इसलिए मुझे लगता है कि वह पूर्ण रूप से भारत संविधान से संबंधित है हालांकि यह है क्यों नहीं है कि वह संविधान को मानते नहीं जानते हैंLekin Mere Khayal Se Bharat Ke Samvidhan Ke Prati Sarkar Poorn Roop Se Sambandhit Ko Dekha Jaye To Yeh Kuch Had Tak Hamari Galti Hai Ki Hum Sarkar Ke Kathor Se Dekhte Hain Ki Wah Ekta Ko Nahi Nibha Rahe Acche Se Wahan Hindu Ko Musalman Ho Gaye The Different Set Karen Aisa Bilkul Bhi Nahi Hai Sarkar Ne Kai 67 Aaye Hain Ki Jo Ki Bharat Ki Ekta Bani Rahe Samvidhan Mein Likha Gaya Hai To Isliye Mujhe Lagta Hai Ki Wah Poorn Roop Se Bharat Samvidhan Se Sambandhit Hai Halanki Yeh Hai Kyun Nahi Hai Ki Wah Samvidhan Ko Manate Nahi Jante Hain
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मुझे लगता है कि वर्तमान सरकार हमारे संविधान को पूर्ण रूप से मानती है 31 वर्ष पूर्व जो संविधान तैयार हुआ उसे अमल में लाने के बाद इसमें संशोधन किए गए भारत का संविधान 1 सितंबर 1949 को बनकर तैयार ह...
जवाब पढ़िये
जी हां मुझे लगता है कि वर्तमान सरकार हमारे संविधान को पूर्ण रूप से मानती है 31 वर्ष पूर्व जो संविधान तैयार हुआ उसे अमल में लाने के बाद इसमें संशोधन किए गए भारत का संविधान 1 सितंबर 1949 को बनकर तैयार हुआ था स्वतंत्रता के 3 साल बाद वनीता जनवरी 1950 में गणतंत्र भारत में इसे अमल में लाया गया अध्यक्ष डॉ भीमराव अंबेडकर की 125 जयंती वर्ष के रूप में 12 जनवरी 2015 को संविधान दिवस मनाया गया सरकार ने 26 नवंबर को संविधान दिवस घोषित किया है यह देश का सर्वोच्च कानून माना जाता है कुछ सुधारों के बावजूद सरकार संविधान के नियमों का पूर्णरूपेण पालन करती है और उसके अनुसार ही चलती हैJi Haan Mujhe Lagta Hai Ki Vartaman Sarkar Hamare Samvidhan Ko Poorn Roop Se Maanati Hai 31 Varsh Purv Jo Samvidhan Taiyaar Hua Use Amal Mein Lane Ke Baad Isme Sanshodhan Kiye Gaye Bharat Ka Samvidhan 1 September 1949 Ko Bankar Taiyaar Hua Tha Swatantrata Ke 3 Saal Baad Vanita January 1950 Mein Ganatantra Bharat Mein Ise Amal Mein Laya Gaya Adhyaksh Dr Bhimrao Ambedkar Ki 125 Jayanti Varsh Ke Roop Mein 12 January 2015 Ko Samvidhan Divas Manaya Gaya Sarkar Ne 26 November Ko Samvidhan Divas Ghoshit Kiya Hai Yeh Desh Ka Sarvoch Kanoon Mana Jata Hai Kuch Sudharo Ke Bawajud Sarkar Samvidhan Ke Niyamon Ka Purnrupen Palan Karti Hai Aur Uske Anusar Hi Chalti Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मुझे मुझे लगता है कि भारत के संविधान के प्रति सरकार पूर्ण रुप से समर्पित है भले ही उन्हें उसे इंप्लीमेंट करने में वक्त लगता हो या असफल रहे हो बट उनके जो गोल है उनका जो मिशन है वह कॉन्स्टिट्यूशन...
जवाब पढ़िये
जी हां मुझे मुझे लगता है कि भारत के संविधान के प्रति सरकार पूर्ण रुप से समर्पित है भले ही उन्हें उसे इंप्लीमेंट करने में वक्त लगता हो या असफल रहे हो बट उनके जो गोल है उनका जो मिशन है वह कॉन्स्टिट्यूशन से संविधान से पहले ही चलता है और इस वजह से आज भी और इंडिया भले ही काफी सारे अड़चन में होती हो आज भी अन्याय काफी इकनोमिक कल स्ट्रांग और पॉलिटिकल ईस्ट ओन कंट्री है भले ही वह हमारा देश कह सकते हैं कि डेवलप्ड नहीं बट डेवलपिंग है बट फिर भी जिस तरह से जितनी भी से चल रहा है उस हिसाब से जो कॉन्स्टिट्यूशन बना था उसके हिसाब से चल रहा है उसके वजह से हम एक अच्छा देश एक सफल देश साबित हो सकते हैंJi Haan Mujhe Mujhe Lagta Hai Ki Bharat Ke Samvidhan Ke Prati Sarkar Poorn Roop Se Samarpit Hai Bhale Hi Unhen Use Implement Karne Mein Waqt Lagta Ho Ya Asafal Rahe Ho But Unke Jo Gol Hai Unka Jo Mission Hai Wah Constitution Se Samvidhan Se Pehle Hi Chalta Hai Aur Is Wajah Se Aaj Bhi Aur India Bhale Hi Kafi Sare Adachan Mein Hoti Ho Aaj Bhi Anyay Kafi Economic Kal Strong Aur Political East Own Country Hai Bhale Hi Wah Hamara Desh Keh Sakte Hain Ki Developed Nahi But Developing Hai But Phir Bhi Jis Tarah Se Jitni Bhi Se Chal Raha Hai Us Hisab Se Jo Constitution Bana Tha Uske Hisab Se Chal Raha Hai Uske Wajah Se Hum Ek Accha Desh Ek Safal Desh Saabit Ho Sakte Hain
Likes  3  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मुझे लगता है कि हमारे देश की सरकार संविधान के प्रति पूर्ण निष्ठावान अपूर्णता समर्पित है और मैं यह कहूंगा कि किसी भी देश की सरकार को उस देश के संविधान के प्रति इन को समर्पित और मूल रुप से स्वीकार...
जवाब पढ़िये
लेकिन मुझे लगता है कि हमारे देश की सरकार संविधान के प्रति पूर्ण निष्ठावान अपूर्णता समर्पित है और मैं यह कहूंगा कि किसी भी देश की सरकार को उस देश के संविधान के प्रति इन को समर्पित और मूल रुप से स्वीकार करना चाहिए क्योंकि संविधान सरकार बनती है सरकार के द्वारा संविधान को नहीं बनाया जाता है तो जिस तरह से केंद्र सरकार हमारे देश के अंदर है मुझे लगता है कि कुछ चीजों पर हां जरुर पसंद हो सकता है मैं इस बात को एग्री करता हूं लेकिन मैं यह नहीं कह सकते कि हमारे देश की सरकार संविधान के प्रति समर्पित नहीं वह पल को समर्पित हैLekin Mujhe Lagta Hai Ki Hamare Desh Ki Sarkar Samvidhan Ke Prati Poorn Nishthavaan Apoornataa Samarpit Hai Aur Main Yeh Kahunga Ki Kisi Bhi Desh Ki Sarkar Ko Us Desh Ke Samvidhan Ke Prati In Ko Samarpit Aur Mul Roop Se Sweekar Karna Chahiye Kyonki Samvidhan Sarkar Banti Hai Sarkar Ke Dwara Samvidhan Ko Nahi Banaya Jata Hai To Jis Tarah Se Kendra Sarkar Hamare Desh Ke Andar Hai Mujhe Lagta Hai Ki Kuch Chijon Par Haan Zaroor Pasand Ho Sakta Hai Main Is Baat Ko Agree Karta Hoon Lekin Main Yeh Nahi Keh Sakte Ki Hamare Desh Ki Sarkar Samvidhan Ke Prati Samarpit Nahi Wah Pal Ko Samarpit Hai
Likes  5  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Bharat Ke Samvidhan Ke Prati Ye Sarkar Poorn Roop Se Samarpit Hai ?, Is This Government Fully Devoted To The Constitution Of India?

vokalandroid