जातिवाद करने वालों को कैसी सज़ा मिलनी चाहिए ? ...

Likes  0  Dislikes

6 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
विकी जैसा की हम लोग जानते हैं हमारे देश के अंदर जातिवाद की समस्या आज की नहीं है हजारों साल पहले से ही यह जातिवाद की समस्या चली आ रही है आज भी हम उस स्तर पर नहीं पहुंच पाए कि हम अपने समाज को जातिवाद से बाहर निकाल सके आज भी हमारा समाज जातिवाद की वीडियो में झगड़ा हुआ है जिस तरह से हम अगर रिमोट एरिया में जाते हैं गांव में जाते तू वहां जिंदगी का सिस्टम में बहुत ज्यादा पसंद करता है हालांकि शहरों में जब हम लोग करते तो उसमें काफी कमी आई है तो मुझे लगता है कि आज हमारे देश में सबसे ज्यादा किसी चीज की जरूरत है वह दो चीजों की एक तो पापुलेशन कंट्रोल दूसरे जातिवाद को खत्म करना मुझे लगता है कि सरकार को जातिवाद को खत्म करने के लिए सख्त से सख्त कदम उठाने चाहिए ऐसे व्यक्ति जो जातिवाद को बढ़ावा देते हैं उनके खिलाफ एक कानून ला कर सख्त से सख्त सजा दी जानी चाहिए ताकि हमारे देश के अंदर किसी भी व्यक्ति के साथ कोई भी विधवा बना हो सकेVikee Jaisa Ki Hum Log Jante Hain Hamare Desh Ke Andar Jaatiwad Ki Samasya Aaj Ki Nahi Hai Hajaron Saal Pehle Se Hi Yeh Jaatiwad Ki Samasya Chali Aa Rahi Hai Aaj Bhi Hum Us Sthar Par Nahi Pahunch Paye Ki Hum Apne Samaaj Ko Jaatiwad Se Bahar Nikal Sake Aaj Bhi Hamara Samaaj Jaatiwad Ki Video Mein Jhagda Hua Hai Jis Tarah Se Hum Agar Remote Area Mein Jaate Hain Gav Mein Jaate Tu Wahan Zindagi Ka System Mein Bahut Jyada Pasand Karta Hai Halanki Shaharon Mein Jab Hum Log Karte To Usamen Kafi Kami Eye Hai To Mujhe Lagta Hai Ki Aaj Hamare Desh Mein Sabse Jyada Kisi Cheez Ki Zaroorat Hai Wah Do Chijon Ki Ek To Population Control Dusre Jaatiwad Ko Khatam Karna Mujhe Lagta Hai Ki Sarkar Ko Jaatiwad Ko Khatam Karne Ke Liye Sakht Se Sakht Kadam Uthane Chahiye Aise Vyakti Jo Jaatiwad Ko Badhawa Dete Hain Unke Khilaf Ek Kanoon La Kar Sakht Se Sakht Saja Di Jani Chahiye Taki Hamare Desh Ke Andar Kisi Bhi Vyakti Ke Saath Koi Bhi Vidhwa Bana Ho Sake
Likes  5  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
विकी बिल्कुल बहुत ही ज्यादा कठिन सजा देनी चाहिए इन को कैसे बा मशक्कत के आगे जाकर क्योंकि इस तरह से जो लोग जातिवाद के नाम पर लोगों को जो असामाजिकता फ़ैलाने की कोशिश करते हैं उससे बहुत सारी परेशानी हमारे देश में आते हैं जो हर देश की तरक्की मूल की जो तरक्की है वह लोग जाते हैं लोग अपने आप में लगने लगते हैं और जो मुद्दे हैं उनसे बात होने की बजाए धर्म पर बात करने लगती है और उससे जो आसपास का सौहार्द वाला माहौल में आता है वह भी चला जाता है तो मेरे ख्याल से इस तरह के लोगों को बहुत ही कड़ी सजा देनी चाहिए ताकि सबक मिले और कोई और ऐसा न करेंVikee Bilkul Bahut Hi Jyada Kathin Saja Deni Chahiye In Ko Kaise Ba Mashakkat Ke Aage Jaakar Kyonki Is Tarah Se Jo Log Jaatiwad Ke Naam Par Logon Ko Jo Asamajikta Failane Ki Koshish Karte Hain Usse Bahut Saree Pareshani Hamare Desh Mein Aate Hain Jo Har Desh Ki Tarakki Mul Ki Jo Tarakki Hai Wah Log Jaate Hain Log Apne Aap Mein Lagne Lagte Hain Aur Jo Mudde Hain Unse Baat Hone Ki Bajae Dharm Par Baat Karne Lagti Hai Aur Usse Jo Aaspass Ka Sauhaard Wala Maahaul Mein Aata Hai Wah Bhi Chala Jata Hai To Mere Khayal Se Is Tarah Ke Logon Ko Bahut Hi Kadi Saja Deni Chahiye Taki Sabak Mile Aur Koi Aur Aisa N Karen
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
देखिए यह जातिवाद करने वाले को कैसे सजा मिलनी चाहिए बाकी जो मुद्दा है बहुत बड़ा है क्योंकि जातिवाद के लाना बहुत सारे तरीके से जातिवाद को चलाया जा सकता और रेलो के नाते भी है इसके लिए जुकाम होने से क्या सजा रखी हुई है वह जेल है और साथ में उनके अमाउंट कितना अमाउंट तुम पे करना पड़ेगा अब शुरू है कितना फॉलो करते हैं मेरा पॉइंट यहां पर यह है यह है कि हमें जागरुक होकर भी पता करना चाहिए कि कोई भी चीज क्योंकि हम कोई भी चीज ऐसे लोगों के सामने ना हो जाए जो जातिवाद को बढ़ावा दें क्योंकि जाते वक्त आप कहां पर किस तरीके से सर्दी हम नहीं कह सकते तो लोगों को बहुत ही सोच समझकर बात करनी चाहिए वह चाहे किसी भी कास्ट से बिलॉन्ग को बिलॉन्ग करते हैं क्योंकि और मनीष देने से अच्छा पनिशमेंट गवर्मेंट देती है बट बैटर के हम खुद से रोकथामDekhie Yeh Jaatiwad Karne Wale Ko Kaise Saja Milani Chahiye Baki Jo Mudda Hai Bahut Bada Hai Kyonki Jaatiwad Ke Lana Bahut Sare Tarike Se Jaatiwad Ko Chalaya Ja Sakta Aur Relo Ke Naate Bhi Hai Iske Liye Jukam Hone Se Kya Saja Rakhi Hui Hai Wah Jail Hai Aur Saath Mein Unke Amount Kitna Amount Tum Pe Karna Padega Ab Shuru Hai Kitna Follow Karte Hain Mera Point Yahan Par Yeh Hai Yeh Hai Ki Hume Jagaruk Hokar Bhi Pata Karna Chahiye Ki Koi Bhi Cheez Kyonki Hum Koi Bhi Cheez Aise Logon Ke Samane Na Ho Jaye Jo Jaatiwad Ko Badhawa Dein Kyonki Jaate Waqt Aap Kahan Par Kis Tarike Se Sardi Hum Nahi Keh Sakte To Logon Ko Bahut Hi Soch Samajhkar Baat Karni Chahiye Wah Chahe Kisi Bhi Caste Se Bilang Ko Bilang Karte Hain Kyonki Aur Manish Dene Se Accha Punishment Goverment Deti Hai But Better Ke Hum Khud Se Roktham
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions


More Answers


जातिवाद करने वालों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए क्योंकि सबसे पहली बात तो यह है किसी भी इंसान को कोई हक नहीं है कि वह दूसरे इंसान को नीचा दिखाए उसकी जाति की वजह से | जो लोग ऐसा करते हैं उन लोग को या फिर कारावास की सजा मिलनी चाहिए या फिर ज्यादा से ज्यादा जुर्माना लगना चाहिए ताकि उनको इक सबक मिले और वह यह सब करने की हिम्मत फिर से ना करें

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

जातिवाद करने वालों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए क्योंकि सबसे पहली बात तो यह है किसी भी इंसान को कोई हक नहीं है कि वह दूसरे इंसान को नीचा दिखाए उसकी जाति की वजह से | जो लोग ऐसा करते हैं उन लोग को या फिर कारावास की सजा मिलनी चाहिए या फिर ज्यादा से ज्यादा जुर्माना लगना चाहिए ताकि उनको इक सबक मिले और वह यह सब करने की हिम्मत फिर से ना करेंJaatiwad Karne Walon Ko Kadi Se Kadi Saja Milani Chahiye Kyonki Sabse Pehli Baat To Yeh Hai Kisi Bhi Insaan Ko Koi Haq Nahi Hai Ki Wah Dusre Insaan Ko Nicha Dekhiye Uski Jati Ki Wajah Se | Jo Log Aisa Karte Hain Un Log Ko Ya Phir Karavas Ki Saja Milani Chahiye Ya Phir Jyada Se Jyada Jurmana Lagna Chahiye Taki Unko Ek Sabak Mile Aur Wah Yeh Sab Karne Ki Himmat Phir Se Na Karen
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जातिवाद करने वाले को एक कठिन से कठिन सजा देनी चाहिए लेकिन सिर्फ कानून बनाने से वह समस्या का समाधान हो जाएगा ऐसा नहीं है हमारे पास बहुत सी कानून है जैसे कि दहेज प्रथा दहेज प्रथा के लिए कड़ा कानून है लेकिन हम यह नहीं कह सकते कि तेज प्रताप पूरी तरह से हमारे समाज से जा चुकी है ऐसा नहीं है कि कभी भी लोग दहेज को प्रोत्साहित करते हैं लेकिन उसको वह प्लीज़ सपोर्ट नहीं करते लेकिन अंदर ही अंदर दहेज प्रथा अभी भी हमारे समाज में पूरी तरह से है जातिवाद जातिवाद एक बहुत बड़ी समस्या है क्योंकि हमारी रूढ़िवादी सोच सोच को आगे बढ़ाता है वह सब उसको चेंज चेंज करने की बहुत बड़ी जरूरत है जो कि मुझसे कि वो रानी चेंज लाने के लिए हम को लोगों की सोच को बदलना होगा लोगों को जागरुक करना होगा जब तक हम यह नहीं करेंगे तो हमें कानून लाने से हम ही चाहेंगे कि जातिवाद चले जाएगा ऐसा नहीं होगा 21 सालों से चली आ रही है बहुत बड़ी समस्या है इसका समाधान सिर्फ कानून से नहीं होगा हमें समाज के साथ उठना बैठना होगा हमें समाज के साथ उसको बहस करना होगा जिसके कारण हम एक एक एक कमेंट पॉइंट पर आ सकें एक SIM अभी मैं आ सके कि यह दहेज यह जातिवाद अपने हमारे समाज के लिए हमारे भविष्य के लिए अच्छा नहीं है हम इसको चेंज करना चाहिए हम सब एक हैं हम हम जिस देश के नागरिक हैं हम एक हम इस देश के आम नागरिक हैं सारे एक समान हम सब को एक समान से देखना चाहिए जातिवाद से हम आगे नहीं बढ़ सकते हमें इस देश को आगे बढ़ाना है तो हमें सब को एक साथ चलकर साथ लेकर चलना होगा हमको सबको एक एक कफ़न पार्क में चलना होगा जिसके कारण हम देश देश को आगे बढ़ाएं

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

जातिवाद करने वाले को एक कठिन से कठिन सजा देनी चाहिए लेकिन सिर्फ कानून बनाने से वह समस्या का समाधान हो जाएगा ऐसा नहीं है हमारे पास बहुत सी कानून है जैसे कि दहेज प्रथा दहेज प्रथा के लिए कड़ा कानून है लेकिन हम यह नहीं कह सकते कि तेज प्रताप पूरी तरह से हमारे समाज से जा चुकी है ऐसा नहीं है कि कभी भी लोग दहेज को प्रोत्साहित करते हैं लेकिन उसको वह प्लीज़ सपोर्ट नहीं करते लेकिन अंदर ही अंदर दहेज प्रथा अभी भी हमारे समाज में पूरी तरह से है जातिवाद जातिवाद एक बहुत बड़ी समस्या है क्योंकि हमारी रूढ़िवादी सोच सोच को आगे बढ़ाता है वह सब उसको चेंज चेंज करने की बहुत बड़ी जरूरत है जो कि मुझसे कि वो रानी चेंज लाने के लिए हम को लोगों की सोच को बदलना होगा लोगों को जागरुक करना होगा जब तक हम यह नहीं करेंगे तो हमें कानून लाने से हम ही चाहेंगे कि जातिवाद चले जाएगा ऐसा नहीं होगा 21 सालों से चली आ रही है बहुत बड़ी समस्या है इसका समाधान सिर्फ कानून से नहीं होगा हमें समाज के साथ उठना बैठना होगा हमें समाज के साथ उसको बहस करना होगा जिसके कारण हम एक एक एक कमेंट पॉइंट पर आ सकें एक SIM अभी मैं आ सके कि यह दहेज यह जातिवाद अपने हमारे समाज के लिए हमारे भविष्य के लिए अच्छा नहीं है हम इसको चेंज करना चाहिए हम सब एक हैं हम हम जिस देश के नागरिक हैं हम एक हम इस देश के आम नागरिक हैं सारे एक समान हम सब को एक समान से देखना चाहिए जातिवाद से हम आगे नहीं बढ़ सकते हमें इस देश को आगे बढ़ाना है तो हमें सब को एक साथ चलकर साथ लेकर चलना होगा हमको सबको एक एक कफ़न पार्क में चलना होगा जिसके कारण हम देश देश को आगे बढ़ाएंJaatiwad Karne Wale Ko Ek Kathin Se Kathin Saja Deni Chahiye Lekin Sirf Kanoon Banane Se Wah Samasya Ka Samadhan Ho Jayega Aisa Nahi Hai Hamare Paas Bahut Si Kanoon Hai Jaise Ki Dahej Pratha Dahej Pratha Ke Liye Kada Kanoon Hai Lekin Hum Yeh Nahi Keh Sakte Ki Tez Pratap Puri Tarah Se Hamare Samaaj Se Ja Chuki Hai Aisa Nahi Hai Ki Kabhi Bhi Log Dahej Ko Protsahit Karte Hain Lekin Usko Wah Please Support Nahi Karte Lekin Andar Hi Andar Dahej Pratha Abhi Bhi Hamare Samaaj Mein Puri Tarah Se Hai Jaatiwad Jaatiwad Ek Bahut Badi Samasya Hai Kyonki Hamari Rudhivadi Soch Soch Ko Aage Badhata Hai Wah Sab Usko Change Change Karne Ki Bahut Badi Zaroorat Hai Jo Ki Mujhse Ki Vo Rani Change Lane Ke Liye Hum Ko Logon Ki Soch Ko Badalna Hoga Logon Ko Jagaruk Karna Hoga Jab Tak Hum Yeh Nahi Karenge To Hume Kanoon Lane Se Hum Hi Chahenge Ki Jaatiwad Chale Jayega Aisa Nahi Hoga 21 Salon Se Chali Aa Rahi Hai Bahut Badi Samasya Hai Iska Samadhan Sirf Kanoon Se Nahi Hoga Hume Samaaj Ke Saath Uthana Baithana Hoga Hume Samaaj Ke Saath Usko Bahas Karna Hoga Jiske Kaaran Hum Ek Ek Ek Comment Point Par Aa Saken Ek SIM Abhi Main Aa Sake Ki Yeh Dahej Yeh Jaatiwad Apne Hamare Samaaj Ke Liye Hamare Bhavishya Ke Liye Accha Nahi Hai Hum Isko Change Karna Chahiye Hum Sab Ek Hain Hum Hum Jis Desh Ke Nagarik Hain Hum Ek Hum Is Desh Ke Aam Nagarik Hain Sare Ek Saman Hum Sab Ko Ek Saman Se Dekhna Chahiye Jaatiwad Se Hum Aage Nahi Badh Sakte Hume Is Desh Ko Aage Badhana Hai To Hume Sab Ko Ek Saath Chalkar Saath Lekar Chalna Hoga Hamko Sabko Ek Ek Kafan Park Mein Chalna Hoga Jiske Kaaran Hum Desh Desh Ko Aage Badhaye
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जातिवाद करने वालों को जो है मेरे हिसाब से 1 कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए उनको जो है कुछ कम से कम 1 साल के लिए तू है जो उनको जेल में बंद करना बंद करके रखना चाहिए क्योंकि उनके मन से जो है बाकी सारे लोगों में एक प्रकार का डर पैदा हो जाएगी क्योंकि अगर उन्हें भी समझ में आ गया कि वह जातिवाद का ना करें सपोर्ट करते हैं तो उसको है उसकी जो है किस प्रकार से उनको तकलीफ हो सकती है तो एक बार जो है तो मुझे लगता है कि जातिवाद के जितने भी लोग हैं जो जातिवाद को फैला रहे हो हम को कड़ी सजा एक बार तो भी होनी चाहिए

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

जातिवाद करने वालों को जो है मेरे हिसाब से 1 कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए उनको जो है कुछ कम से कम 1 साल के लिए तू है जो उनको जेल में बंद करना बंद करके रखना चाहिए क्योंकि उनके मन से जो है बाकी सारे लोगों में एक प्रकार का डर पैदा हो जाएगी क्योंकि अगर उन्हें भी समझ में आ गया कि वह जातिवाद का ना करें सपोर्ट करते हैं तो उसको है उसकी जो है किस प्रकार से उनको तकलीफ हो सकती है तो एक बार जो है तो मुझे लगता है कि जातिवाद के जितने भी लोग हैं जो जातिवाद को फैला रहे हो हम को कड़ी सजा एक बार तो भी होनी चाहिएJaatiwad Karne Walon Ko Jo Hai Mere Hisab Se 1 Kadi Se Kadi Saja Milani Chahiye Unko Jo Hai Kuch Kum Se Kum 1 Saal Ke Liye Tu Hai Jo Unko Jail Mein Band Karna Band Karke Rakhna Chahiye Kyonki Unke Man Se Jo Hai Baki Sare Logon Mein Ek Prakar Ka Dar Paida Ho Jayegi Kyonki Agar Unhen Bhi Samajh Mein Aa Gaya Ki Wah Jaatiwad Ka Na Karen Support Karte Hain To Usko Hai Uski Jo Hai Kis Prakar Se Unko Takleef Ho Sakti Hai To Ek Baar Jo Hai To Mujhe Lagta Hai Ki Jaatiwad Ke Jitne Bhi Log Hain Jo Jaatiwad Ko Faila Rahe Ho Hum Ko Kadi Saja Ek Baar To Bhi Honi Chahiye
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

मेरे हिसाब से जो भी हो और लोग जाते बात करते सबसे पहले तुम क्यों की नौकरी से निकाल देना चाहिए और उनमें जीमेल में कम से कम 2 से 20 साल तक लेना चाहिए कि जातिवाद से देश में हिंसा फेसिअल देश में एकता बनी नहीं रहती है तो मेरे सबसे करना चाहिए अगर कोई भी अंग राजनेताओं या फिर पॉलिटिशियन जातिवाद करता है तो मैं वह पार्टी से निकाल देना चाहिए और उन पर सबसे सत्य कड़ी से कड़ी कार्रवाई करके उन्हें बड़ी सजा मिलनी चाहिए

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

मेरे हिसाब से जो भी हो और लोग जाते बात करते सबसे पहले तुम क्यों की नौकरी से निकाल देना चाहिए और उनमें जीमेल में कम से कम 2 से 20 साल तक लेना चाहिए कि जातिवाद से देश में हिंसा फेसिअल देश में एकता बनी नहीं रहती है तो मेरे सबसे करना चाहिए अगर कोई भी अंग राजनेताओं या फिर पॉलिटिशियन जातिवाद करता है तो मैं वह पार्टी से निकाल देना चाहिए और उन पर सबसे सत्य कड़ी से कड़ी कार्रवाई करके उन्हें बड़ी सजा मिलनी चाहिएMere Hisab Se Jo Bhi Ho Aur Log Jaate Baat Karte Sabse Pehle Tum Kyun Ki Naukri Se Nikal Dena Chahiye Aur Unmen Gmail Mein Kum Se Kum 2 Se 20 Saal Tak Lena Chahiye Ki Jaatiwad Se Desh Mein Hinsa Facial Desh Mein Ekta Bani Nahi Rehti Hai To Mere Sabse Karna Chahiye Agar Koi Bhi Ang Rajnetao Ya Phir Politician Jaatiwad Karta Hai To Main Wah Party Se Nikal Dena Chahiye Aur Un Par Sabse Satya Kadi Se Kadi Karyawahi Karke Unhen Badi Saja Milani Chahiye
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जातिवाद जातिवाद पर लोग तभी विश्वास करते हैं जो पहले के लोग रहा करते हो जाते जाते ज्यादा विश्वास करते थे लेकिन मैं जातिवाद पर विश्वास नहीं करता हूं क्योंकि जो जातिवाद बनाया एक इंसान ही था दो तीन कैटेगरी में लोगों को बांटा एक मिडिल क्लास 11 up क्लासेस हलवा क्लासेस तो देखिए यह क्लासेस की बात नहीं करते हैं हम हिंदू हैं हम हिंदू हैं लेकिन मैं कोई भी जानते मतलब मैं कुछ भी हो जाए मतलब यह जो जातिवादी होती है मैं इस पर बिलीव नहीं करता हूं तब हम एक सामानय हम ही हम सब माय हिंदू हो या मुस्लिम हो या ईसाई हो या किचन और इंसान ही तो है लेकिन मैं यह जरूर करना चाहता हूं जो जातिवाद बनाया है उस को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए उन्हें सबसे पहले यह जातिवाद जो बनाया गया पॉलिटिशियन ने बनाया क्या यही इसीलिए हम पैदा हुए थे कि एक दूसरे को देख कर चले मुस्लिम है या हिंदू है यह गलत है हम सब भाई भाई हैं आपस में मिलकर रहना चाहिए देखिए यह जो जातिवादी करते हैं उन को कड़ी से कड़ी सजा को दिखानी चाहिए हालांकि हम जानते हैं कि जातिवादी पर बहुत ही गहरा पनिशमेंट मिलनी चाहिए ताकि गवर्नमेंट पर लागू किए कि इन्हें पैसे दिया जाए कुछ सालों के लिए जुर्माना दिया जाए कुछ सालों के लिए क्या किया जाए मतलब यह तो ऐसे ही चलता रहता है इससे अच्छा कि हम जातिवादी पर मिली भी ना करें हमें आपसे यही कहना है जातिवाद पर कभी भरोसा मत करें जातिवादी जो होता है एक्सेप्ट करने के लिए रह गया है जातिवादी को अपने से दूर भगाएं और हम यह सोचे कि हम एक इंसान हैं आपस में मिल बैठकर है ताकि कोई हमें यह न कहे कि हम हिंदू है हम मुस्लिम है हम क्यों दिखाएं हम इंडियन हैं हम इंडियन रहेंगे जातिवाद पर भरोसा नहीं करते विश्वास नहीं करते

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

जातिवाद जातिवाद पर लोग तभी विश्वास करते हैं जो पहले के लोग रहा करते हो जाते जाते ज्यादा विश्वास करते थे लेकिन मैं जातिवाद पर विश्वास नहीं करता हूं क्योंकि जो जातिवाद बनाया एक इंसान ही था दो तीन कैटेगरी में लोगों को बांटा एक मिडिल क्लास 11 up क्लासेस हलवा क्लासेस तो देखिए यह क्लासेस की बात नहीं करते हैं हम हिंदू हैं हम हिंदू हैं लेकिन मैं कोई भी जानते मतलब मैं कुछ भी हो जाए मतलब यह जो जातिवादी होती है मैं इस पर बिलीव नहीं करता हूं तब हम एक सामानय हम ही हम सब माय हिंदू हो या मुस्लिम हो या ईसाई हो या किचन और इंसान ही तो है लेकिन मैं यह जरूर करना चाहता हूं जो जातिवाद बनाया है उस को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए उन्हें सबसे पहले यह जातिवाद जो बनाया गया पॉलिटिशियन ने बनाया क्या यही इसीलिए हम पैदा हुए थे कि एक दूसरे को देख कर चले मुस्लिम है या हिंदू है यह गलत है हम सब भाई भाई हैं आपस में मिलकर रहना चाहिए देखिए यह जो जातिवादी करते हैं उन को कड़ी से कड़ी सजा को दिखानी चाहिए हालांकि हम जानते हैं कि जातिवादी पर बहुत ही गहरा पनिशमेंट मिलनी चाहिए ताकि गवर्नमेंट पर लागू किए कि इन्हें पैसे दिया जाए कुछ सालों के लिए जुर्माना दिया जाए कुछ सालों के लिए क्या किया जाए मतलब यह तो ऐसे ही चलता रहता है इससे अच्छा कि हम जातिवादी पर मिली भी ना करें हमें आपसे यही कहना है जातिवाद पर कभी भरोसा मत करें जातिवादी जो होता है एक्सेप्ट करने के लिए रह गया है जातिवादी को अपने से दूर भगाएं और हम यह सोचे कि हम एक इंसान हैं आपस में मिल बैठकर है ताकि कोई हमें यह न कहे कि हम हिंदू है हम मुस्लिम है हम क्यों दिखाएं हम इंडियन हैं हम इंडियन रहेंगे जातिवाद पर भरोसा नहीं करते विश्वास नहीं करतेJaatiwad Jaatiwad Par Log Tabhi Vishwas Karte Hain Jo Pehle Ke Log Raha Karte Ho Jaate Jaate Jyada Vishwas Karte The Lekin Main Jaatiwad Par Vishwas Nahi Karta Hoon Kyonki Jo Jaatiwad Banaya Ek Insaan Hi Tha Do Teen Category Mein Logon Ko Banta Ek Middle Class 11 Up Classes Halwa Classes To Dekhie Yeh Classes Ki Baat Nahi Karte Hain Hum Hindu Hain Hum Hindu Hain Lekin Main Koi Bhi Jante Matlab Main Kuch Bhi Ho Jaye Matlab Yeh Jo Jativadi Hoti Hai Main Is Par Believe Nahi Karta Hoon Tab Hum Ek Samanay Hum Hi Hum Sab My Hindu Ho Ya Muslim Ho Ya Isai Ho Ya Kitchen Aur Insaan Hi To Hai Lekin Main Yeh Jarur Karna Chahta Hoon Jo Jaatiwad Banaya Hai Us Ko Kadi Se Kadi Saja Milani Chahiye Kadi Se Kadi Saja Milani Chahiye Unhen Sabse Pehle Yeh Jaatiwad Jo Banaya Gaya Politician Ne Banaya Kya Yahi Isliye Hum Paida Hue The Ki Ek Dusre Ko Dekh Kar Chale Muslim Hai Ya Hindu Hai Yeh Galat Hai Hum Sab Bhai Bhai Hain Aapas Mein Milkar Rehna Chahiye Dekhie Yeh Jo Jativadi Karte Hain Un Ko Kadi Se Kadi Saja Ko Dikhaani Chahiye Halanki Hum Jante Hain Ki Jativadi Par Bahut Hi Gehra Punishment Milani Chahiye Taki Government Par Laagu Kiye Ki Inhen Paise Diya Jaye Kuch Salon Ke Liye Jurmana Diya Jaye Kuch Salon Ke Liye Kya Kiya Jaye Matlab Yeh To Aise Hi Chalta Rehta Hai Isse Accha Ki Hum Jativadi Par Mili Bhi Na Karen Hume Aapse Yahi Kehna Hai Jaatiwad Par Kabhi Bharosa Mat Karen Jativadi Jo Hota Hai Except Karne Ke Liye Rah Gaya Hai Jativadi Ko Apne Se Dur Bhagaen Aur Hum Yeh Soche Ki Hum Ek Insaan Hain Aapas Mein Mil Baithkar Hai Taki Koi Hume Yeh N Kahe Ki Hum Hindu Hai Hum Muslim Hai Hum Kyun Dikhaen Hum Indian Hain Hum Indian Rahenge Jaatiwad Par Bharosa Nahi Karte Vishwas Nahi Karte
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Jaatiwad Karne Walon Ko Kaisi Saza Milani Chahiye ?





मन में है सवाल?