search_iconmic
leaderboard
notify
हिंदी
leaderboard
notify
हिंदी
जवाब दें

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने खिलाफ आपराधिक मामलों को वापस क्यों ले र है हैं? क्या इससे लोकतंत्र को खतरा है? ...

8 जवाब देखें >

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी मुख्यमंत्री की पावर है, कि वह जो भी उसके राज्य में आपराधिक मामले चल रहे हैं| उनको वह चाहे तो वापस ले सकता है| क्योंकि जो मामले होते हैं| और राज्य सरकार के बिहाफ पर चलते हैं| और उसको वापस लेने का ...
जवाब पढ़िये
किसी मुख्यमंत्री की पावर है, कि वह जो भी उसके राज्य में आपराधिक मामले चल रहे हैं| उनको वह चाहे तो वापस ले सकता है| क्योंकि जो मामले होते हैं| और राज्य सरकार के बिहाफ पर चलते हैं| और उसको वापस लेने का कानूनी अधिकार है| लेकिन जिस तरीके से योगी आदित्यनाथ ने अपने खिलाफ जो मुकदमा वापस लिए, वह मेरे विचार से उचित नहीं है| कम से कम उनको जो अपने खिलाफ जो मुकदमें थे| उसके लिए या तो एक कमेटी बनानी चाहिए, जो कि जुडिशल कमेटी हो| कोई हाई कोर्ट, सुप्रीम कोर्ट का जज उसको हेड करें| या कोई रेस्पेक्टेबले पर्सन हेड करे और वो इसको रिकमेंड करे| तब वोह मामला वापस लेना चाहिए था | मेरे विचार से अपने ही खिलाफ मामले को वापस लेने से ये कोई अच्छा मैसेज डेमोक्रेसी में नहीं जाता है|Kisi Mukhyamantri Ki Power Hai Ki Wah Jo Bhi Uske Rajya Mein Apradhik Mamle Chal Rahe Hain Unko Wah Chahe To Wapas Le Sakta Hai Kyonki Jo Mamle Hote Hain Aur Rajya Sarkar Ke Behalf Par Chalte Hain Aur Usko Wapas Lene Ka Kanooni Adhikaar Hai Lekin Jis Tarike Se Yogi Adityanath Ne Apne Khilaf Jo Mukadma Wapas Liye Wah Mere Vichar Se Uchit Nahi Hai Kum Se Kum Unko Jo Apne Khilaf Jo Mukadamen The Uske Liye Ya To Ek Committee Banani Chahiye Jo Ki Judicial Committee Ho Koi Hi Court Supreme Court Ka Judge Usko Head Karen Ya Koi Respektebale Person Head Kare Aur Vo Isko Rikmend Kare Tab Wooh Maamla Wapas Lena Chahiye Tha | Mere Vichar Se Apne Hi Khilaf Mamle Ko Wapas Lene Se Ye Koi Accha Massage Democracy Mein Nahi Jata Hai
Likes  18  Dislikes    views  2280
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिए😊

ऐसे और सवाल

ques_icon

ques_icon

ques_icon

अधिक जवाब


8 जवाब देखें >

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लाइफ में पार्क पीपीगंज थाने का मामला था जिसके लिए उनका योगी आदित्यनाथ जी के केस दर्ज की हुई थी और 2 साल पहले उनके आगे सर वारंट जारी किया प्रशासन के द्वारा उसमें शासन के द्वारा ही निर्णय लिया गया था मु...
जवाब पढ़िये
लाइफ में पार्क पीपीगंज थाने का मामला था जिसके लिए उनका योगी आदित्यनाथ जी के केस दर्ज की हुई थी और 2 साल पहले उनके आगे सर वारंट जारी किया प्रशासन के द्वारा उसमें शासन के द्वारा ही निर्णय लिया गया था मुकदमा वापस लेने के लिए इस केस को रिव्यू किया गया तो उस रिव्यू करने के बाद ही पता चला कि इस केस को वापस लेने का आर्डर आ गया इसलिए केस वापस लिया है साथ में ही नाम 22 दिसंबर को एक कानून बनाया गया है योगी सरकार के द्वारा जिसके तहत राज्य आंदोलन आदि में नेताओं पर लगे करीब 20,000 मुकदमे वापस जाएंगे इसमें यह भी तो बहता मुकदमे जो है या अनावश्यक है वर्षो से लंबित पड़े हुए हैं सामान्य है जनरल हैं 107 और 16 से जुड़े हुए उन्हें शांतिभंग और छोटे मोटे पेंडिंग चुप रहते हैं जो कि चलते ही रहते हैं उन उन के के को वापस लेने की बात हो रही है प्रॉसेस में डाला गया है ऐसे सरकार का मानना है श्री योगी आदित्यनाथ जी नहीं है चेक क्लियर करिए अपनी न्यूज़Life Mein Park Pipiganj Thane Ka Maamla Tha Jiske Liye Unka Yogi Adityanath Ji Ke Case Darj Ki Hui Thi Aur 2 Saal Pehle Unke Aage Sar Warrant Jaari Kiya Prashasan Ke Dwara Usamen Shasan Ke Dwara Hi Nirnay Liya Gaya Tha Mukadma Wapas Lene Ke Liye Is Case Ko Review Kiya Gaya To Us Review Karne Ke Baad Hi Pata Chala Ki Is Case Ko Wapas Lene Ka Order Aa Gaya Isliye Case Wapas Liya Hai Saath Mein Hi Naam 22 December Ko Ek Kanoon Banaya Gaya Hai Yogi Sarkar Ke Dwara Jiske Tahat Rajya Aandolan Aadi Mein Netaon Par Lage Karib 20,000 Mukadme Wapas Jaenge Isme Yeh Bhi To Bahata Mukadme Jo Hai Ya Anavashyak Hai Varsho Se Lambit Pade Hue Hain Samanya Hai General Hain 107 Aur 16 Se Jude Hue Unhen Shantibhang Aur Chote Mote Pending Chup Rehte Hain Jo Ki Chalte Hi Rehte Hain Un Un Ke Ke Ko Wapas Lene Ki Baat Ho Rahi Hai Process Mein Dala Gaya Hai Aise Sarkar Ka Manana Hai Shri Yogi Adityanath Ji Nahi Hai Check Clear Kariye Apni News
Likes  1  Dislikes    views  1550
WhatsApp_icon
8 जवाब देखें >

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मुझे लगता है कि मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ जो भी मुकदमें लगे थे जब आप उन मुकदमों का इलाज करेंगे तो आपको पता चलेगा वह मुकदमे केवल जो लगे हैं वह आपके आचार संहिता के उल्लंघन के मामले ...
जवाब पढ़िये
लेकिन मुझे लगता है कि मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ जो भी मुकदमें लगे थे जब आप उन मुकदमों का इलाज करेंगे तो आपको पता चलेगा वह मुकदमे केवल जो लगे हैं वह आपके आचार संहिता के उल्लंघन के मामले ज्यादा है लेकिन अगर आंख आचार संहिता के उल्लंघन के मामले अगर देखा जाए तो वह मुझे नहीं लगता है शायद हमारे देश के अंदर कोई ऐसा पॉलिटिशियन बचाव का जिसके ऊपर स्तर के मुकदमे ना लगे हो तो जो एक नॉर्मल होता है कभी अपने किसी स्पीच के अंदर थोड़ा ज्यादा प्रभु कर दिया तो इस तरह के आचार संहिता के उल्लंघन के मामले होते हैं जिनको मुझे नहीं लगता कि बहुत बड़ा किस बनाना चाहिए इसीलिए अगर ऐसा डिसाइड किया गया तो अच्छा ही किया क्या होगा क्योंकि जब देखूं तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ योगी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री उनकी छवि बेदाग और साफ-सुथरी ही रही हैLekin Mujhe Lagta Hai Ki Mukhyamantri Shri Yogi Adityanath Ke Khilaf Jo Bhi Mukadamen Lage The Jab Aap Un Mukadmon Ka Ilaj Karenge To Aapko Pata Chalega Wah Mukadme Kewal Jo Lage Hain Wah Aapke Aachar Sanhita Ke Ullanghan Ke Mamle Jyada Hai Lekin Agar Aankh Aachar Sanhita Ke Ullanghan Ke Mamle Agar Dekha Jaye To Wah Mujhe Nahi Lagta Hai Shayad Hamare Desh Ke Andar Koi Aisa Politician Bachav Ka Jiske Upar Sthar Ke Mukadme Na Lage Ho To Jo Ek Normal Hota Hai Kabhi Apne Kisi Speech Ke Andar Thoda Jyada Prabhu Kar Diya To Is Tarah Ke Aachar Sanhita Ke Ullanghan Ke Mamle Hote Hain Jinako Mujhe Nahi Lagta Ki Bahut Bada Kis Banana Chahiye Isliye Agar Aisa Decide Kiya Gaya To Accha Hi Kiya Kya Hoga Kyonki Jab Dekhu To Mukhyamantri Yogi Adityanath Yogi Uttar Pradesh Ke Mukhyamantri Unki Chawi Bedag Aur Saaf Suthri Hi Rahi Hai
Likes  6  Dislikes    views  1675
WhatsApp_icon
8 जवाब देखें >

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए योगी आदित्यनाथ की तो सरकार है उत्तर प्रदेश में उन्होंने योगी आदित्यनाथ के खिलाफ और 14 दूसरे लोगों के खिलाफ जो 1995 का केस था जिसमें उनके खिलाफ आचार्य थे कि उन्होंने एक मीटिंग रखी थी चोकी आर्डर क...
जवाब पढ़िये
देखिए योगी आदित्यनाथ की तो सरकार है उत्तर प्रदेश में उन्होंने योगी आदित्यनाथ के खिलाफ और 14 दूसरे लोगों के खिलाफ जो 1995 का केस था जिसमें उनके खिलाफ आचार्य थे कि उन्होंने एक मीटिंग रखी थी चोकी आर्डर के खिलाफ थी वह वापस ले लिया और योगी आदित्यनाथ ने यहां तक कहा कि उनके खिलाफ 20 हजार से ज्यादा पॉलिटिकली मोटिवेटेड यानी कि जो Politics मदद की आड़ में एक-दूसरे के खिलाफ जानबूझकर लगाए गए किए सारे केस भी उनके खिलाफ बंद कर दिए गए और जो यह जो यह वापस किया गया यह तो इस फर्स्ट दिसंबर को 22 सितंबर को लिया गया एक को लिया गया एक दिन बाद जबकि यूपी में क्रिमिनल लॉ जो है वह स्टेट असेंबली में TV किया गया था 2017 का और मैं आपको बताना सॉन्ग चाहिए पहली बार नहीं है कि योगी आदित्यनाथ ने कुछ ऐसा किया है जो वह शुरू शुरू में से आए थे चीफ मिनिस्टर बंद कर तब उन्होंने अपने खिलाफ जो केस से 2007 के जो राय सूरज 2003 के दंगे हुए थे उनके खिलाफ वह भी के सस्ते होंगे वह भी सारे आप खुद से वापस ले लिए तो बिल्कुल ही हमारे लोकतंत्र के खिलाफ से लोकतंत्र को खतरा है कि कोई भी आदमी अगर उसके पास पॉलिटिकल पावर है तो वह अपने खिलाफ केस वापस ले रहा है इस हिसाब से तो किसी के ऊपर भी कोई भी चार्जेस कि वह भी नहीं होंगे और जो पॉलिटिकल स्ट्रांग लोग हैं वह तो सारे गलत काम करके बताएंगे तो यह तो बिल्कुल गलत है और मैं जरूर उसके बिल्कुल खिलाफ हूं और मैं चांदी जैसा ना हो और कुछ ऐसा किया जाए एडमिन की तरफ से कि ऐसा ना कर सके जो यह ताकतवर पोलिटिकल पार्टीज वाली ड्रेस हैDekhie Yogi Adityanath Ki To Sarkar Hai Uttar Pradesh Mein Unhone Yogi Adityanath Ke Khilaf Aur 14 Dusre Logon Ke Khilaf Jo 1995 Ka Case Tha Jisme Unke Khilaf Acharya The Ki Unhone Ek Meeting Rakhi Thi Choki Order Ke Khilaf Thi Wah Wapas Le Liya Aur Yogi Adityanath Ne Yahan Tak Kaha Ki Unke Khilaf 20 Hazar Se Jyada Politically Motivated Yani Ki Jo Politics Madad Ki Ad Mein Ek Dusre Ke Khilaf Janbujhkar Lagaye Gaye Kiye Sare Case Bhi Unke Khilaf Band Kar Diye Gaye Aur Jo Yeh Jo Yeh Wapas Kiya Gaya Yeh To Is First December Ko 22 September Ko Liya Gaya Ek Ko Liya Gaya Ek Din Baad Jabki Up Mein Criminal Law Jo Hai Wah State Assembly Mein TV Kiya Gaya Tha 2017 Ka Aur Main Aapko Batana Song Chahiye Pehli Baar Nahi Hai Ki Yogi Adityanath Ne Kuch Aisa Kiya Hai Jo Wah Shuru Shuru Mein Se Aaye The Chief Minister Band Kar Tab Unhone Apne Khilaf Jo Case Se 2007 Ke Jo Rai Suraj 2003 Ke Denge Hue The Unke Khilaf Wah Bhi Ke Saste Honge Wah Bhi Sare Aap Khud Se Wapas Le Liye To Bilkul Hi Hamare Loktantra Ke Khilaf Se Loktantra Ko Khatra Hai Ki Koi Bhi Aadmi Agar Uske Paas Political Power Hai To Wah Apne Khilaf Case Wapas Le Raha Hai Is Hisab Se To Kisi Ke Upar Bhi Koi Bhi Charges Ki Wah Bhi Nahi Honge Aur Jo Political Strong Log Hain Wah To Sare Galat Kaam Karke Batayenge To Yeh To Bilkul Galat Hai Aur Main Jarur Uske Bilkul Khilaf Hoon Aur Main Chaandi Jaisa Na Ho Aur Kuch Aisa Kiya Jaye Admin Ki Taraf Se Ki Aisa Na Kar Sake Jo Yeh Takatwar Political Parties Wali Dress Hai
Likes  2  Dislikes    views  1595
WhatsApp_icon
8 जवाब देखें >

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिसाब से जिस प्रकार से योगी आदित्यनाथ अपने खिलाफ आपराधिक मामले को वापस लिए रहेगी तो एक बात सच है कि वह अपने मुख्यमंत्री की जय पावर जो है वह गलत तरीके से इस्तेमाल कर रहे हैं यह लोकतंत्र के लिए बहुत ही ...
जवाब पढ़िये
हिसाब से जिस प्रकार से योगी आदित्यनाथ अपने खिलाफ आपराधिक मामले को वापस लिए रहेगी तो एक बात सच है कि वह अपने मुख्यमंत्री की जय पावर जो है वह गलत तरीके से इस्तेमाल कर रहे हैं यह लोकतंत्र के लिए बहुत ही खतरा है कि क्यों नहीं पता है कि अगर उनके किस आएगा पर केस दर्ज हो सकता होने को अपने बुलाया जा सकता है और उन पर जेल जाने का मुकदमा भी लग सकता है तो यह सब से बचने के लिए योगी आदित्यनाथ अपने खिलाफ आपराधिक मामले वापस ले रहे हो क्योंकि मेरे सर से लोकतांत्रिक के हिसाब से सही नहीं है BJP को ही देखना चाहिए कि ऐसा कोई भी मुख्यमंत्री ऐसा भी ना करें और अगर यूं ही जैसा कर रहे हैं तो बीजेपी इन को इन से रोक नहीं चेहरे पर भी कार्रवाई होनी चाहिए और कार्रवाई कोर्ट का डिसीजन होगा वही बीजेपी और योगी जी को का पालन करना पड़ेगाHisab Se Jis Prakar Se Yogi Adityanath Apne Khilaf Apradhik Mamle Ko Wapas Liye Rahegi To Ek Baat Sach Hai Ki Wah Apne Mukhyamantri Ki Jai Power Jo Hai Wah Galat Tarike Se Istemal Kar Rahe Hain Yeh Loktantra Ke Liye Bahut Hi Khatra Hai Ki Kyun Nahi Pata Hai Ki Agar Unke Kis Aayega Par Case Darj Ho Sakta Hone Ko Apne Bulaya Ja Sakta Hai Aur Un Par Jail Jaane Ka Mukadma Bhi Lag Sakta Hai To Yeh Sab Se Bachane Ke Liye Yogi Adityanath Apne Khilaf Apradhik Mamle Wapas Le Rahe Ho Kyonki Mere Sar Se Loktantrik Ke Hisab Se Sahi Nahi Hai BJP Ko Hi Dekhna Chahiye Ki Aisa Koi Bhi Mukhyamantri Aisa Bhi Na Karen Aur Agar Yun Hi Jaisa Kar Rahe Hain To Bjp In Ko In Se Rok Nahi Chehrey Par Bhi Karyawahi Honi Chahiye Aur Karyawahi Court Ka Decision Hoga Wahi Bjp Aur Yogi Ji Ko Ka Palan Karna Padega
Likes  1  Dislikes    views  1490
WhatsApp_icon
8 जवाब देखें >

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे ख्याल से योगीनाथ जी बिल्कुल सही कर रहे है, क्योंकि जो छोटे-मोटे कुछ केस होते थे जैसे की अशांति करना या छोटे मोटे कैस जो चलते रहते जिनका कोई सलूशन निकल नहीं पाता है तो उनको उन्होंने रद्द कराया है ...
जवाब पढ़िये
मेरे ख्याल से योगीनाथ जी बिल्कुल सही कर रहे है, क्योंकि जो छोटे-मोटे कुछ केस होते थे जैसे की अशांति करना या छोटे मोटे कैस जो चलते रहते जिनका कोई सलूशन निकल नहीं पाता है तो उनको उन्होंने रद्द कराया है | और यह बिल्कुल सही है क्योंकि अगर देखा भी जाए तों वो है कैस घिसते रहते हैं| १६, १७, १८ साल तक, पर उनका कोई भी हम अंत में निर्णय नहीं निकल पाते हैं | बहुत ज्यादा टाइम लग जाता तो क्यों यूँही अपने कोर्ट का भी बर्डन बढ़ाएं ? ऐसे जो ऐसे जो फैसले हैं जिनको जो इतनी ज्यादा इंपोर्टेंट नहीं है तो इसलिए मेरे हिसाब से उनका यह रद्द करना सही था |Mere Khayal Se Yoginath Ji Bilkul Sahi Kar Rahe Hai Kyonki Jo Chote Mote Kuch Case Hote The Jaise Ki Ashanti Karna Ya Chote Mote Cash Jo Chalte Rehte Jinka Koi Salution Nikal Nahi Pata Hai To Unko Unhone Radd Karaya Hai | Aur Yeh Bilkul Sahi Hai Kyonki Agar Dekha Bhi Jaye To Vo Hai Cash Ghiste Rehte Hain 16 17 18 Saal Tak Par Unka Koi Bhi Hum Ant Mein Nirnay Nahi Nikal Paate Hain | Bahut Jyada Time Lag Jata To Kyun Yunhi Apne Court Ka Bhi Burden Badhaye ? Aise Jo Aise Jo Faisle Hain Jinako Jo Itni Jyada Important Nahi Hai To Isliye Mere Hisab Se Unka Yeh Radd Karna Sahi Tha |
Likes  4  Dislikes    views  1655
WhatsApp_icon
8 जवाब देखें >

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं मुझे नहीं लगता है कि इस से लोकतंत्र को कोई खतरा है योगी आदित्यनाथ पर जो मुकदमे है वह बहुत ही साधारण है बीते वक्त में विद्यार्थी छात्र नेता के रूप में जो कुछ भी उन्होंने कहा लिखे होंगे वह छोटे-...
जवाब पढ़िये
जी नहीं मुझे नहीं लगता है कि इस से लोकतंत्र को कोई खतरा है योगी आदित्यनाथ पर जो मुकदमे है वह बहुत ही साधारण है बीते वक्त में विद्यार्थी छात्र नेता के रूप में जो कुछ भी उन्होंने कहा लिखे होंगे वह छोटे-मोटे मामले हैं जो अनावश्यक है सालों से मुकदमे लंबित पड़े हुए हैं सामान्य हैं वर्तमान में योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और गोरखनाथ मंदिर के पूर्व महंत अवैधनाथ के उत्तराधिकारी हैं अगर योगी सरकार ने इस साधारण मुकदमे को वापस लिया है तो यह गलत नहीं हैJi Nahi Mujhe Nahi Lagta Hai Ki Is Se Loktantra Ko Koi Khatra Hai Yogi Adityanath Par Jo Mukadme Hai Wah Bahut Hi Sadhaaran Hai Bitte Waqt Mein Vidyarthi Chatra Neta Ke Roop Mein Jo Kuch Bhi Unhone Kaha Likhe Honge Wah Chote Mote Mamle Hain Jo Anavashyak Hai Salon Se Mukadme Lambit Pade Hue Hain Samanya Hain Vartaman Mein Yogi Adityanath Uttar Pradesh Ke Mukhyamantri Aur Gorakhnath Mandir Ke Purv Mahat Avaidhnath Ke Uttradhikari Hain Agar Yogi Sarkar Ne Is Sadhaaran Mukadme Ko Wapas Liya Hai To Yeh Galat Nahi Hai
Likes  0  Dislikes    views  1545
WhatsApp_icon
8 जवाब देखें >

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यह तो बस शुरुआत है आगे आगे देखते हैं कि क्या करते हैं योगी जी मेरे ख्याल से तो अब किस किसी भी तरह का केस केस होता है आप इस तरह से आर्डर करके अपने ऊपर से यह सेट 12 12 12 एक तरह से समझ लीजिए इलेक्...
जवाब पढ़िये
देखिए यह तो बस शुरुआत है आगे आगे देखते हैं कि क्या करते हैं योगी जी मेरे ख्याल से तो अब किस किसी भी तरह का केस केस होता है आप इस तरह से आर्डर करके अपने ऊपर से यह सेट 12 12 12 एक तरह से समझ लीजिए इलेक्ट्रिसिटी कर रहे हैं आप दैनिक रेसिपी तो कोई बात ही नहीं रहेगी और अभी मुझे नहीं लगता कि इस से इस तरह से उपयोगी जी अपना काम कर रहे हैं आगे भी उस सफल रह पाएंगे डिफेंस अगर आप के खिलाफ किसी ने किस किया है तो आपके अंदर इतनी ताकत होनी चाहिए कि आप उसके स्कोर फेस करता है और बिल्कुल यह हालत है आप लोकतंत्र के लिए खतरा बनते जा रहे हैं दीजिए और मुझे लगता है कि नहीं फिर से सोचना पड़ेगा आपनेDekhie Yeh To Bus Shuruvat Hai Aage Aage Dekhte Hain Ki Kya Karte Hain Yogi Ji Mere Khayal Se To Ab Kis Kisi Bhi Tarah Ka Case Case Hota Hai Aap Is Tarah Se Order Karke Apne Upar Se Yeh Set 12 12 12 Ek Tarah Se Samajh Lijiye Electricity Kar Rahe Hain Aap Dainik Recipe To Koi Baat Hi Nahi Rahegi Aur Abhi Mujhe Nahi Lagta Ki Is Se Is Tarah Se Upyogi Ji Apna Kaam Kar Rahe Hain Aage Bhi Us Safal Rah Paenge Defence Agar Aap Ke Khilaf Kisi Ne Kis Kiya Hai To Aapke Andar Itni Takat Honi Chahiye Ki Aap Uske Score Face Karta Hai Aur Bilkul Yeh Halat Hai Aap Loktantra Ke Liye Khatra Bante Ja Rahe Hain Dijiye Aur Mujhe Lagta Hai Ki Nahi Phir Se Sochna Padega Aapne
Likes  2  Dislikes    views  1620
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Mukhyamantri Yogi Adityanath Apne Khilaf Apradhik Mamlon Ko Wapas Kyon Le Rahe Hain Kya Isse Loktantra Ko Khatra Hai,Why Are Chief Minister Yogi Adityanath Withdrawing Criminal Cases Against Him? Does It Threaten Democracy?,


vokalandroid