क्या दिल्ली सरकार में LG बाधा बने हुए हैं? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मुझे लगता है की खबरों के अनुसार ऐसा ही हो रहा है दिल्ली में एलजी बाधा बने हुए हैं क्योंकि किसी भी जरूरी कार्य के लिए गवर्नर के पास जाना पड़ता है दिल्ली के मुख्यमंत्री कई सारे निर्णय स्वयं नहीं ...
जवाब पढ़िये
जी हां मुझे लगता है की खबरों के अनुसार ऐसा ही हो रहा है दिल्ली में एलजी बाधा बने हुए हैं क्योंकि किसी भी जरूरी कार्य के लिए गवर्नर के पास जाना पड़ता है दिल्ली के मुख्यमंत्री कई सारे निर्णय स्वयं नहीं ले सकते हैं उनके कई फैसलों पर गवर्नर ने रोक लगाई है जनता यह चाहती है जिस उम्मीदवार को उन्होंने अपना मत देकर अपनी भलाई और सुविधा के लिए सीएम बनाया है वह उनके बारे में सोचे उनके हित में कार्य करें लेकिन गवर्नर की दखलंदाजी से यह संभव नहीं हो सकता हैJi Haan Mujhe Lagta Hai Ki Khabaro Ke Anusar Aisa Hi Ho Raha Hai Delhi Mein LG Badha Bane Hue Hain Kyonki Kisi Bhi Zaroori Karya Ke Liye Governor Ke Paas Jana Padata Hai Delhi Ke Mukhyamantri Kai Sare Nirnay Swayam Nahi Le Sakte Hain Unke Kai Faisalon Par Governor Ne Rok Lagai Hai Janta Yeh Chahti Hai Jis Ummidvar Ko Unhone Apna Mat Dekar Apni Bhalai Aur Suvidha Ke Liye Cm Banaya Hai Wah Unke Baare Mein Soche Unke Hit Mein Karya Karen Lekin Governor Ki Dakhalandaji Se Yeh Sambhav Nahi Ho Sakta Hai
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मुझे लगता है कि केजरीवाल सरकार और उपराज्यपाल उनके बीच में बहुत ज्यादा टशन होता रहता है जो देश जो प्रदेश के लिए और हमारे देश के लिए दोनों के लिए एक अच्छी चीज नहीं है कहो ना ऐसा बिल्कुल नहीं चाहिए...
जवाब पढ़िये
लेकिन मुझे लगता है कि केजरीवाल सरकार और उपराज्यपाल उनके बीच में बहुत ज्यादा टशन होता रहता है जो देश जो प्रदेश के लिए और हमारे देश के लिए दोनों के लिए एक अच्छी चीज नहीं है कहो ना ऐसा बिल्कुल नहीं चाहिए दूसरा अगर 2 से 3 साल पहले आप देखेंगे इससे पहले जब नजीब जंग जीते तो केजरीवाल सरकार और नजीब जंग के बीच में बहुत ज्यादा टशन होता था किसी न किसी बात तो होता ही रहता था तो मुझे लगता है कि इस तरह की बातें नहीं होनी चाहिए यह वहां की सरकार के लिए बिल्कुल सही नहीं है और उस प्रदेश के लोगों के लिए भी बिल्कुल सही नहींLekin Mujhe Lagta Hai Ki Kejriwal Sarkar Aur Uparajyapal Unke Beech Mein Bahut Jyada Tashan Hota Rehta Hai Jo Desh Jo Pradesh Ke Liye Aur Hamare Desh Ke Liye Dono Ke Liye Ek Acchi Cheez Nahi Hai Kaho Na Aisa Bilkul Nahi Chahiye Doosra Agar 2 Se 3 Saal Pehle Aap Dekhenge Isse Pehle Jab Najeeb Jung Jeete To Kejriwal Sarkar Aur Najeeb Jung Ke Beech Mein Bahut Jyada Tashan Hota Tha Kisi N Kisi Baat To Hota Hi Rehta Tha To Mujhe Lagta Hai Ki Is Tarah Ki Batein Nahi Honi Chahiye Yeh Wahan Ki Sarkar Ke Liye Bilkul Sahi Nahi Hai Aur Us Pradesh Ke Logon Ke Liye Bhi Bilkul Sahi Nahi
Likes  8  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां| मुझे भी यही लगता है कि LG जो है वह एक बाधा है और यही मुद्दा भी बीच में सदन में भी उठाया गया था कुछ दिनों पहले | तो ओपोजिशन ने भी चीफ मिनिस्टर अरविंद केजरीवाल जी का समय सपोर्ट किया था कि लेफ्टि...
जवाब पढ़िये
जी हां| मुझे भी यही लगता है कि LG जो है वह एक बाधा है और यही मुद्दा भी बीच में सदन में भी उठाया गया था कुछ दिनों पहले | तो ओपोजिशन ने भी चीफ मिनिस्टर अरविंद केजरीवाल जी का समय सपोर्ट किया था कि लेफ्टिनेंट गवर्नर उन्हें प्यून की तरह ट्रीट करते हैं | क्योंकि हर मामले में उनसे पूछना पड़ता है पहले और कोई भी जो डिसिशन होते इंपॉर्टेंट वह लेने से पहले लेफ्टिनेंट गवर्नर की मुहर लगाना उसमें जरूरी है | पर लोगो का यह कहना है कि चीफ मिनिस्टर जो है वह लोगो द्वारा इलेक्ट किये गए है | याने की कॉमन पीपल ने उन्हें इलेक्ट किया है | और हमारी इक डेमोक्रेटिक कंट्री है, तों लोगो के डिसीजन का हमें स्वागत करना चाहिए और उन्हें पूरा हक देना चाहिए जो भी चीफ मिनिस्टर इलेक्ट हुए है, उन्हें पूरा हक होना चाहिए कि वह दिल्ली में जितने भी विकास कार्य उन्हें स्वतंत्रता से कर सके | और उन पर किसी का दबाव ना हो बल्कि दिल्ली में ऐसा बिल्कुल नहीं होता क्योंकि वहां पर कुछ पावर सेंट्रल के पास भी होती है | उसके यूनियन टेरिटरी होने के कारण और कुछ ही पावर चीफ मिनिस्टर के हाथ में रह जाती है | और उस को उस पावर्स में भी लेफ्टिनेंट गवर्नर अगर बीच बीच में एसे अपने डिसीजन थोपेंगे तो उनको अकेले काम करने का मौका नहीं मिलेगा | पर जनता तो यही चाहते कि चीफ मिनिस्टर को पूरी आजादी हो और लेफ्टिनेंट गवर्नर के कारण वो आजादी नहीं मिल पाती है तो जी हां यह बाधा तो बने हुए हैंJi Haan Mujhe Bhi Yahi Lagta Hai Ki LG Jo Hai Wah Ek Badha Hai Aur Yahi Mudda Bhi Beech Mein Sadan Mein Bhi Uthaya Gaya Tha Kuch Dinon Pehle | To Opojishan Ne Bhi Chief Minister Arvind Kejriwal Ji Ka Samay Support Kiya Tha Ki Lieutenant Governor Unhen Pyun Ki Tarah Treat Karte Hain | Kyonki Har Mamle Mein Unse Poochna Padata Hai Pehle Aur Koi Bhi Jo Decision Hote Important Wah Lene Se Pehle Lieutenant Governor Ki Muhar Lagana Usamen Zaroori Hai | Par Logo Ka Yeh Kehna Hai Ki Chief Minister Jo Hai Wah Logo Dwara Elect Kiye Gaye Hai | Yaane Ki Common Pipal Ne Unhen Elect Kiya Hai | Aur Hamari Ek Democratic Country Hai To Logo Ke Decision Ka Hume Swaagat Karna Chahiye Aur Unhen Pura Haq Dena Chahiye Jo Bhi Chief Minister Elect Hue Hai Unhen Pura Haq Hona Chahiye Ki Wah Delhi Mein Jitne Bhi Vikash Karya Unhen Swatantrata Se Kar Sake | Aur Un Par Kisi Ka Dabaav Na Ho Balki Delhi Mein Aisa Bilkul Nahi Hota Kyonki Wahan Par Kuch Power Central Ke Paas Bhi Hoti Hai | Uske Union Territory Hone Ke Kaaran Aur Kuch Hi Power Chief Minister Ke Hath Mein Rah Jati Hai | Aur Us Ko Us Powers Mein Bhi Lieutenant Governor Agar Beech Beech Mein Ese Apne Decision Thopenge To Unko Akele Kaam Karne Ka Mauka Nahi Milega | Par Janta To Yahi Chahte Ki Chief Minister Ko Puri Azadi Ho Aur Lieutenant Governor Ke Kaaran Vo Azadi Nahi Mil Pati Hai To Ji Haan Yeh Badha To Bane Hue Hain
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह सवाल मेरे ख्याल से सवाल नहीं है यह जवाब दिया है आपने जी हां जो लेफ्टिनेंट गवर्नमेंट है वह बहुत बड़ी बाधा बने हुए दिल्ली सरकार के लिए क्या करे जो भी फैसला दिल्ली सरकार ल लेती है उसके पीछे से उसको पे...
जवाब पढ़िये
यह सवाल मेरे ख्याल से सवाल नहीं है यह जवाब दिया है आपने जी हां जो लेफ्टिनेंट गवर्नमेंट है वह बहुत बड़ी बाधा बने हुए दिल्ली सरकार के लिए क्या करे जो भी फैसला दिल्ली सरकार ल लेती है उसके पीछे से उसको पेट्रोल करने के लिए इलेक्शन इन गवर्नमेंट को ऑर्डर दे देते हैं मुझे नहीं पता कि लेफ्टिनेंट गवर्नर नजीब जंग जी को कौन कंट्रोल कर रहा है लेकिन हां बिल्कुल यह सही है कि जो लत गवर्नर है वह बाधा बने हुए हैं दिल्ली सरकार के लिएYeh Sawal Mere Khayal Se Sawal Nahi Hai Yeh Jawab Diya Hai Aapne Ji Haan Jo Lieutenant Government Hai Wah Bahut Badi Badha Bane Hue Delhi Sarkar Ke Liye Kya Kare Jo Bhi Faisla Delhi Sarkar L Leti Hai Uske Piche Se Usko Petrol Karne Ke Liye Election In Government Ko Order De Dete Hain Mujhe Nahi Pata Ki Lieutenant Governor Najeeb Jung Ji Ko Kaun Control Kar Raha Hai Lekin Haan Bilkul Yeh Sahi Hai Ki Jo Lat Governor Hai Wah Badha Bane Hue Hain Delhi Sarkar Ke Liye
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Delhi Sarkar Mein LG Badha Bane Hue Hain, Are LG's Obstacles In The Government Of Delhi?

vokalandroid