कश्मीरी पंडितों का मुद्दा क्या है? कश्मीरी पंडितो ने जम्मू कश्मीर क्यों छोड़ा था? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कम शब्दों में कश्मीरी पंडितों का मुख्य मुद्दा है इस्लामिक कट्टरपंथ और गंदी राजनीति की वजह से उनको उनके ही ग्रह प्रदेश यानी कि कश्मीर से अलग कर देना वंचित कर देना राजनीति से प्रेरित यह कार्यवाही जिसने ...
जवाब पढ़िये
कम शब्दों में कश्मीरी पंडितों का मुख्य मुद्दा है इस्लामिक कट्टरपंथ और गंदी राजनीति की वजह से उनको उनके ही ग्रह प्रदेश यानी कि कश्मीर से अलग कर देना वंचित कर देना राजनीति से प्रेरित यह कार्यवाही जिसने लाखों कश्मीरी पंडितों को कश्मीर से बेघर कर दिया भारत के स्वाधीनता के बाद से ही प्रारंभ हो गई थी पर इस में तेजी आई 1980 के दशक में सभी राज्य सरकारों ने उन को दरकिनार कर दिया केंद्र सरकारों ने भी उनके खिलाफ हो रहे हमलों हिंसा और शोषण पर चुप्पी साध रखी और वह अपनी जमीन पर खेती व्यवसाय छोड़कर पूरे भारत में मारे मारे फिरते रहे बंजारों की तरह कश्मीरी पंडितों पर हो रहे अत्याचारों पर आधारित न जाने कितनी ही रिपोर्ट नष्ट कर दी गई मीडिया नहीं सो ज्यादा ध्यान नहीं दिया और 90 के अंतिम वर्षों में तो उनकी आवादी कश्मीर में बहुत ही कम हो गई है इसे भाग्य का लिखा कहें या कुछ और पर आधारित प्रश्न श्री पंडितों ने भी इस समस्या पर हाथ खड़े कर दिए हैं और वापस अपने घर पर दिए जाने की आस लगभग छोड़ दिया है न जाने कितने ही कमीशन आयोग इसके लिए गठित हुए उन्होंने अपनी रिपोर्ट केंद्र सरकार को सबमिट करें लेकिन उस पर एक कॉन्क्रीट कार्यवाही एक मूलभूत जो कार्यवाही होती है उसके नाम पर कुछ भी नहीं निकल पाया हम केंद्र सरकार से तत्कालीन केंद्र सरकार यानी मोदी सरकार से यह गुजारिश करते हैं कि कश्मीरी पंडितों को कुछ हद तक केंद्र व राज्य सरकारों में आरक्षण भी दिया जाए तथा उनको उनके गृह राज्य में स्थापित स्थापित करने की कार्यवाही शीघ्रातिशीघ्र शुरू करी जाएं जय हिंदKum Shabdon Mein Kashmiri Pandito Ka Mukhya Mudda Hai Islamic Kattarapanth Aur Gandi Rajneeti Ki Wajah Se Unko Unke Hi Grah Pradesh Yani Ki Kashmir Se Alag Kar Dena Vanchit Kar Dena Rajneeti Se Prerit Yeh Karyavahi Jisne Laakhon Kashmiri Pandito Ko Kashmir Se Beghar Kar Diya Bharat Ke Swadheenta Ke Baad Se Hi Prarambh Ho Gayi Thi Par Is Mein Teji Eye 1980 Ke Dashak Mein Sabhi Rajya Sarkaro Ne Un Ko Darkinaar Kar Diya Kendra Sarkaro Ne Bhi Unke Khilaf Ho Rahe Hamlon Hinsa Aur Shoshan Par Chuppi Saadh Rakhi Aur Wah Apni Jameen Par Kheti Vyavasaya Chodkar Poore Bharat Mein Maare Maare Phirate Rahe Banjaro Ki Tarah Kashmiri Pandito Par Ho Rahe Atyacharo Par Aadharit N Jaane Kitni Hi Report Nasht Kar Di Gayi Media Nahi So Jyada Dhyan Nahi Diya Aur 90 Ke Antim Varshon Mein To Unki Aavadi Kashmir Mein Bahut Hi Kum Ho Gayi Hai Ise Bhagya Ka Likha Kahen Ya Kuch Aur Par Aadharit Prashna Shri Pandito Ne Bhi Is Samasya Par Hath Khade Kar Diye Hain Aur Wapas Apne Ghar Par Diye Jaane Ki Aas Lagbhag Chod Diya Hai N Jaane Kitne Hi Commision Aayog Iske Liye Gathit Hue Unhone Apni Report Kendra Sarkar Ko Submit Karen Lekin Us Par Ek Kankrit Karyavahi Ek Mulbhut Jo Karyavahi Hoti Hai Uske Naam Par Kuch Bhi Nahi Nikal Paya Hum Kendra Sarkar Se Tatkalin Kendra Sarkar Yani Modi Sarkar Se Yeh Gujarish Karte Hain Ki Kashmiri Pandito Ko Kuch Had Tak Kendra V Rajya Sarkaro Mein Aarakshan Bhi Diya Jaye Tatha Unko Unke Grah Rajya Mein Sthapit Sthapit Karne Ki Karyavahi Sheeghratisheeghr Shuru Kari Jayen Jai Hind
Likes  24  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सरकार की विफलताओं के कारण सरकार की विफलताओं के कारण ही लोगों को छोड़कर जाना पड़ा क्योंकि वहां की सरकार ना उनको सम्मान देना सुरक्षा दे चुकी नाम तो जीने का ढंग की सरकारी एक सेल्फी काम करती है इस तरीके क...
जवाब पढ़िये
सरकार की विफलताओं के कारण सरकार की विफलताओं के कारण ही लोगों को छोड़कर जाना पड़ा क्योंकि वहां की सरकार ना उनको सम्मान देना सुरक्षा दे चुकी नाम तो जीने का ढंग की सरकारी एक सेल्फी काम करती है इस तरीके की हरकत होती है जो हर इंसान का सम्मान करें और उसके जीने का हक दे जीने की भी है उसको जगा दे
Likes  19  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कश्मीरी पंडितों का मुख्य मुद्दा उनके रिहैबिलिटेशन का है कश्मीरी पंडित जनरल इन कश्मीर के विदेश में नैतिक रुप से बिलॉन्ग करते हैं वहां पर 1990 करीब कम्युनल वायलेंस के शिकार हुए लोग हैं जो अभी रिफ्यूजी क...
जवाब पढ़िये
कश्मीरी पंडितों का मुख्य मुद्दा उनके रिहैबिलिटेशन का है कश्मीरी पंडित जनरल इन कश्मीर के विदेश में नैतिक रुप से बिलॉन्ग करते हैं वहां पर 1990 करीब कम्युनल वायलेंस के शिकार हुए लोग हैं जो अभी रिफ्यूजी कैंप में रहते हैं इनका मुख्य मुद्दा यही है इन को स्वीकृति प्रदान करना इनको दैवीय शक्ति प्रदान करना फ्रॉम इस्लामिक स्टेट ने उसे लाइक जेकेएलएफ को दिया था एंड अदर और यही हैKashmiri Pandito Ka Mukhya Mudda Unke Rehabilitation Ka Hai Kashmiri Pandit General In Kashmir Ke Videsh Mein Naitik Roop Se Bilang Karte Hain Wahan Par 1990 Karib Communal Violence Ke Shikar Hue Log Hain Jo Abhi Rifyuji Camp Mein Rehte Hain Inka Mukhya Mudda Yahi Hai In Ko Swikriti Pradan Karna Inko Daiviye Shakti Pradan Karna From Islamic State Ne Use Like Jekeelaef Ko Diya Tha End Other Aur Yahi Hai
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

1 फरवरी 1990 को कश्मीर में इंडियन सिक्योरिटी फोर्स इसने इस्लामिक पर टेस्ट है उस पर ओपन फायर करके अगले 50 लोगों को मार दिया जिसकी वजह से नॉलेज में बहुत बढ़ गई वाइन सर्जन से फैल गई और कश्मीर मुस्लिम हमे...
जवाब पढ़िये
1 फरवरी 1990 को कश्मीर में इंडियन सिक्योरिटी फोर्स इसने इस्लामिक पर टेस्ट है उस पर ओपन फायर करके अगले 50 लोगों को मार दिया जिसकी वजह से नॉलेज में बहुत बढ़ गई वाइन सर्जन से फैल गई और कश्मीर मुस्लिम हमें किसी भी Pro इंडियन पॉलिटी वाले को मारना शुरू कर दिया जिसमें कश्मीरी पंडित को उनके फेस के कारण सबसे ज्यादा टारगेट किया गया लोग बंदूकों के साथ सड़कों पर आ गए जो हिंदुत्व गए वह किसी ना किसी तरह कैसे ना कैसे कश्मीर से उसी वक्त भाग गए 1990 में जहां 17000 कश्मीर पंडित रहते थे उस कश्मीर में 2016 में 3000 भी नहीं रहे थे1 February 1990 Ko Kashmir Mein Indian Security Force Isane Islamic Par Test Hai Us Par Open Fire Karke Agle 50 Logon Ko Maar Diya Jiski Wajah Se Knowledge Mein Bahut Badh Gayi Wine "Surgeon " Se Fail Gayi Aur Kashmir Muslim Hume Kisi Bhi Pro Indian Polity Wale Ko Maarna Shuru Kar Diya Jisme Kashmiri Pandit Ko Unke Face Ke Kaaran Sabse Jyada Target Kiya Gaya Log Bandukon Ke Saath Sadkon Par Aa Gaye Jo Hindutva Gaye Wah Kisi Na Kisi Tarah Kaise Na Kaise Kashmir Se Ussi Waqt Bhag Gaye 1990 Mein Jahan 17000 Kashmir Pandit Rehte The Us Kashmir Mein 2016 Mein 3000 Bhi Nahi Rahe The
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए कश्मीरी पंडितों का मुद्दा एक भयंकर नरसंहार और पंडितों का जान बचाकर दर दर भटकना सामने लाता है 1947 में विभाजन के बाद पाकिस्तान में कव्वालियों के साथ मिलकर आक्रमण किया फिर उन्होंने कश्मीरी पंडितों...
जवाब पढ़िये
देखिए कश्मीरी पंडितों का मुद्दा एक भयंकर नरसंहार और पंडितों का जान बचाकर दर दर भटकना सामने लाता है 1947 में विभाजन के बाद पाकिस्तान में कव्वालियों के साथ मिलकर आक्रमण किया फिर उन्होंने कश्मीरी पंडितों पर बेरहमी से अत्याचार किए पाकिस्तान ने उन्होंने कब्जा करे हुए भाग्य कश्मीरी पंडितों का बेरहमी से कत्ल कर दिया गया और उन्होंने षड्यंत्र रच कर भारत के कश्मीर में हिंदू मुसलमान की एकता को तोड़ दिया इसकी वजह से कश्मीरी पंडितों का जीना बहुत ही मुश्किल हो गया अभी कश्मीरी पंडितों का मुद्दा 1980 से 1990 के बीच में ज्यादा सामने आया मैंने 1989 और 1995 के बीच में यह बताया जाता है उनके घर कभी जला दिए गए 6000 लोग मार दिए गए और बचे खुचे कश्मीरी पंडितों ने फिर कश्मीर से पलायन किया कश्मीरी पंडित भारत में दर दर भटके रहे मेन बात तो यह है कि यह अत्याचार कई भर चलता रहा लेकिन केंद्र और राज्य सरकार ने कभी भी उन्हें सुरक्षा नहीं प्रदान की जबकि वह नर्क से भी बदतर जीवन जी रहे हैं तभी सरकार चुप है अभी विस्थापित कश्मीरी पंडितों का यह मुद्दा है कि उन्हें उनके घर जमीन वापस चाहिए उनकी पनुन कश्मीर नाम से एक संगठन है और वह यह चाहते हैं कि कश्मीर में भी हिंदुओं के लिए अलग राज्य निर्माण किया जाएDekhie Kashmiri Pandito Ka Mudda Ek Bhayankar Narasanhaar Aur Pandito Ka Jaan Bachakar Dar Dar Bhatakana Samane Lata Hai 1947 Mein Vibhajan Ke Baad Pakistan Mein Kavwaliyon Ke Saath Milkar Aakraman Kiya Phir Unhone Kashmiri Pandito Par Berehami Se Atyachar Kiye Pakistan Ne Unhone Kabja Kare Hue Bhagya Kashmiri Pandito Ka Berehami Se Katl Kar Diya Gaya Aur Unhone Shadyantra Rach Kar Bharat Ke Kashmir Mein Hindu Musalman Ki Ekta Ko Tod Diya Iski Wajah Se Kashmiri Pandito Ka Jeena Bahut Hi Mushkil Ho Gaya Abhi Kashmiri Pandito Ka Mudda 1980 Se 1990 Ke Beech Mein Jyada Samane Aaya Maine 1989 Aur 1995 Ke Beech Mein Yeh Bataya Jata Hai Unke Ghar Kabhi Jala Diye Gaye 6000 Log Maar Diye Gaye Aur Bache Khuche Kashmiri Pandito Ne Phir Kashmir Se Palayan Kiya Kashmiri Pandit Bharat Mein Dar Dar Bhatke Rahe Main Baat To Yeh Hai Ki Yeh Atyachar Kai Bhar Chalta Raha Lekin Kendra Aur Rajya Sarkar Ne Kabhi Bhi Unhen Suraksha Nahi Pradan Ki Jabki Wah Nark Se Bhi Badataar Jeevan Ji Rahe Hain Tabhi Sarkar Chup Hai Abhi Visthapit Kashmiri Pandito Ka Yeh Mudda Hai Ki Unhen Unke Ghar Jameen Wapas Chahiye Unki Panun Kashmir Naam Se Ek Sangathan Hai Aur Wah Yeh Chahte Hain Ki Kashmir Mein Bhi Hinduon Ke Liye Alag Rajya Nirman Kiya Jaye
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आकाश जी अमरीका के क्वेश्चन पूछा है और मैं आपको बताना चाहता हूं कश्मीरी पंडितों का मुद्दा क्या है 9999 कश्मीर की हालत बहुत खराब थी और पराए दिन दंगे मारकर लूटपाट चलता रहता था तू कश्मीरी पंडितों को बहुत...
जवाब पढ़िये
आकाश जी अमरीका के क्वेश्चन पूछा है और मैं आपको बताना चाहता हूं कश्मीरी पंडितों का मुद्दा क्या है 9999 कश्मीर की हालत बहुत खराब थी और पराए दिन दंगे मारकर लूटपाट चलता रहता था तू कश्मीरी पंडितों को बहुत बहुत दिक्कत होती है इन सब चीजों से वंचित कर फील करते जब मैं आपको उनको मजबूरी में अपने एंड सिस्टर्स को छोड़ कर अपने घर वाले और सबको छोड़कर पर अनुछेद कर उनको जम्मू और दिल्ली और कई अन्य जगह पर रुकना पड़ा हुआ क्या अब उन्होंने लास्ट ईयर तो फिर एक मुद्दा उठाया है कि उनको ऐसा बोला जाता कि यह बोलो अपने जो इन सिस्टर की जमीन है और अब वापस अपने कश्मीर अपने होम लैंड पर जा कर रह सकते हैं तो जो कश्मीरी पंडित है वह रिमाइंड कर रहे हैं कि उनकी सिक्योरिटी का क्या होगा तो वही चाहते हैं कश्मीर में उनको हर फैमिली को जो जो माइग्रेट हुए थे अदर सिटी में उनको घर दिया जाए और उनकी उनको एक फेवरेट जगह दी जाए और लोगों से हटकर कश्मीरी मुस्लिम सही से हटकर को सफल जगह दी जाए और सबको घर और कुछ सिक्योरिटी अच्छी कैसे दी जाए तो इसी बात में मुद्दा बना हुआ है और जो लोग का अलग-अलग का जो जैसा कश्मीरी मुस्लिम सरकार जो अलग कमेटी के लोग हैं वह यह बोल रहे हैं कि अगर ऐसा होगा और अगर अगर ऐसी अलग से कम्युनिटी या अलग से लैंड दे दिया जाएगा बिल्कुल जिसमें कश्मीरी पंडित रहेंगे तो यह 1 तरीके से विभाजन होगा रिलीजियस के नाम पर कश्मीर में कोई होना गलत है इसीलिए अभी ऑफिस के साथ जबरन मामले में लड़ाई होती कश्मीर दंगे होते तो उसको तो उससे भी वह बहुत ज्यादा परेशान है कश्मीरी पंडित तो उसको इस माटी डिमांड करें कि उनको सिक्योरिटी कब दी जाएगी उनको अलग से घर अलग सी जगह कब मिलेगी कश्मीर मेंAkash Ji America Ke Question Poocha Hai Aur Main Aapko Batana Chahta Hoon Kashmiri Pandito Ka Mudda Kya Hai 9999 Kashmir Ki Halat Bahut Kharab Thi Aur Parae Din Denge Marakar Lutapat Chalta Rehta Tha Tu Kashmiri Pandito Ko Bahut Bahut Dikkat Hoti Hai In Sab Chijon Se Vanchit Kar Feel Karte Jab Main Aapko Unko Majburi Mein Apne End Sisters Ko Chod Kar Apne Ghar Wale Aur Sabko Chodkar Par Anuchhed Kar Unko Jammu Aur Delhi Aur Kai Anya Jagah Par Rukna Pada Hua Kya Ab Unhone Last Year To Phir Ek Mudda Uthaya Hai Ki Unko Aisa Bola Jata Ki Yeh Bolo Apne Jo In Sister Ki Jameen Hai Aur Ab Wapas Apne Kashmir Apne Home Land Par Ja Kar Rah Sakte Hain To Jo Kashmiri Pandit Hai Wah Remind Kar Rahe Hain Ki Unki Security Ka Kya Hoga To Wahi Chahte Hain Kashmir Mein Unko Har Family Ko Jo Jo Migrate Hue The Other City Mein Unko Ghar Diya Jaye Aur Unki Unko Ek Favourite Jagah Di Jaye Aur Logon Se Hatakar Kashmiri Muslim Sahi Se Hatakar Ko Safal Jagah Di Jaye Aur Sabko Ghar Aur Kuch Security Acchi Kaise Di Jaye To Isi Baat Mein Mudda Bana Hua Hai Aur Jo Log Ka Alag Alag Ka Jo Jaisa Kashmiri Muslim Sarkar Jo Alag Committee Ke Log Hain Wah Yeh Bol Rahe Hain Ki Agar Aisa Hoga Aur Agar Agar Aisi Alag Se Community Ya Alag Se Land De Diya Jayega Bilkul Jisme Kashmiri Pandit Rahenge To Yeh 1 Tarike Se Vibhajan Hoga Religious Ke Naam Par Kashmir Mein Koi Hona Galat Hai Isliye Abhi Office Ke Saath Jabran Mamle Mein Ladai Hoti Kashmir Denge Hote To Usko To Usse Bhi Wah Bahut Jyada Pareshan Hai Kashmiri Pandit To Usko Is Mati Demand Karen Ki Unko Security Kab Di Jayegi Unko Alag Se Ghar Alag Si Jagah Kab Milegi Kashmir Mein
Likes  5  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर हम कश्मीर पंडितों का मुद्दा देखे तो 1990 या 1990 के पहले जो है कश्मीर में पंडितों या जो कि हम बोल सकते कश्मीरी पंडित की आबादी लगभग 170000 के बराबर थी और उनको इसलिए कश्मीर से निकाला था वह इसलिए कश्...
जवाब पढ़िये
अगर हम कश्मीर पंडितों का मुद्दा देखे तो 1990 या 1990 के पहले जो है कश्मीर में पंडितों या जो कि हम बोल सकते कश्मीरी पंडित की आबादी लगभग 170000 के बराबर थी और उनको इसलिए कश्मीर से निकाला था वह इसलिए कश्मीर से भाग गई क्योंकि कश्मीर में 1990 से 20 जनवरी 1990 के बाद से वहां पर आतंकवाद ज्यादा होने लगा वहां पर आतंकवादी कश्मीरी पंडितों को पर हमला कर रहे कश्मीरी पंडित को मार रहे थे जिसके कारण जितने भी कश्मीरी पंडित है वह सब उन सब ने कश्मीर छोड़ दिया और उनसे कई सारे जम्मू में जा चुके हैं या तो दिल्ली में जा चुके या तो आसपास वाले राज्य में जा चुके हैं 2016 में कैंसर हुआ था जिसमें यह बताया गया था कि अभी कश्मीर में लगभग 2800 कश्मीरी हिंदू है अगर अगर अब देखे तो यह सब कैसे स्टार्ट हुआ यह सब का क्या कारण है यह स्टार्ट हो जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट करके एक पार्टी थी जो कि हमेशा से कश्मीर का अचार बनाना चाहते थे हिंदुस्तान से और यह हिंदुस्तान से निकलने के हमेशा नारी लगाती थी पर 1990 में उन्होंने पहली बार कश्मीरी हिंदू को टारगेट किया जिन्होंने पंडित को मार दिया टीका लाल टपलू को जो कि एक बीजेपी के नेता थे और एडवोकेट है आएंगे तो जैसे ही को पंडित जी कल टप्पू मर गए तो उस हिसाब से बाकी सर कश्मीर हिंदू में भी पाया गया जिसके वजह से जितने भी कश्मीरी हिंदू थे या कश्मीरी पंडित थे जगत कश्मीर में थे वह सब ने डिसाइड किया कि अब वक्त आ गया है कश्मीर से निकले नहीं तो हम भी मर सकते या तो हम पर भी हमला हो सकता हैAgar Hum Kashmir Pandito Ka Mudda Dekhe To 1990 Ya 1990 Ke Pehle Jo Hai Kashmir Mein Pandito Ya Jo Ki Hum Bol Sakte Kashmiri Pandit Ki Aabadi Lagbhag 170000 Ke Barabar Thi Aur Unko Isliye Kashmir Se Nikaala Tha Wah Isliye Kashmir Se Bhag Gayi Kyonki Kashmir Mein 1990 Se 20 January 1990 Ke Baad Se Wahan Par Aatankwad Jyada Hone Laga Wahan Par Aatankwadi Kashmiri Pandito Ko Par Hamla Kar Rahe Kashmiri Pandit Ko Maar Rahe The Jiske Kaaran Jitne Bhi Kashmiri Pandit Hai Wah Sab Un Sab Ne Kashmir Chod Diya Aur Unse Kai Sare Jammu Mein Ja Chuke Hain Ya To Delhi Mein Ja Chuke Ya To Aaspass Wale Rajya Mein Ja Chuke Hain 2016 Mein Cancer Hua Tha Jisme Yeh Bataya Gaya Tha Ki Abhi Kashmir Mein Lagbhag 2800 Kashmiri Hindu Hai Agar Agar Ab Dekhe To Yeh Sab Kaise Start Hua Yeh Sab Ka Kya Kaaran Hai Yeh Start Ho Jammu Kashmir Liberation Frant Karke Ek Party Thi Jo Ki Hamesha Se Kashmir Ka Achaar Banana Chahte The Hindustan Se Aur Yeh Hindustan Se Nikalne Ke Hamesha Nari Lagati Thi Par 1990 Mein Unhone Pehli Baar Kashmiri Hindu Ko Target Kiya Jinhone Pandit Ko Maar Diya Teeka Lal Tapalu Ko Jo Ki Ek Bjp Ke Neta The Aur Edavoket Hai Aayenge To Jaise Hi Ko Pandit Ji Kal Tappu Mar Gaye To Us Hisab Se Baki Sar Kashmir Hindu Mein Bhi Paya Gaya Jiske Wajah Se Jitne Bhi Kashmiri Hindu The Ya Kashmiri Pandit The Jagat Kashmir Mein The Wah Sab Ne Decide Kiya Ki Ab Waqt Aa Gaya Hai Kashmir Se Nikale Nahi To Hum Bhi Mar Sakte Ya To Hum Par Bhi Hamla Ho Sakta Hai
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kashmiri Pandito Ka Mudda Kya Hai Kashmiri Pandito Ne Jammu Kashmir Kyon Choda Tha, What Is The Issue Of Kashmiri Pandits? Why Did Kashmiri Pandit Leave Jammu Kashmir?

vokalandroid