ऐसा क्यूँ होता है की ज़्यादातर शिक्षित भारतीय राजनीति में भाग नहीं लेते हैं? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह गाना तो उचित नहीं है कि भारत में जो शिक्षित लोग हैं वह राजनीति में पार्टिसिपेट नहीं करते हैं भाग नहीं लेते हैं कि कि आजकल जो पार्लियामेंट के अंदर आप देखें तो इसमें काफी पढ़े लिखे लोग हैं और करीब 90...जवाब पढ़िये
यह गाना तो उचित नहीं है कि भारत में जो शिक्षित लोग हैं वह राजनीति में पार्टिसिपेट नहीं करते हैं भाग नहीं लेते हैं कि कि आजकल जो पार्लियामेंट के अंदर आप देखें तो इसमें काफी पढ़े लिखे लोग हैं और करीब 90% से ज्यादा लोग ऐसे हैं जो किया तो ग्रेजुएट है या फिर उससे भी ज्यादा क्वालिफाइड है क्योंकि आजकल की जो राजनीति था उसके अंदर बहुत ही ज्यादा गैरकानूनी पैसे की जरूरत होती है गैर कानूनी काम करना पड़ता है क्योंकि आप सीधे रास्ते से जो है वह राजनीति में सफलता नहीं पाते पाते हैं जैसे कि मान लिया कि किसी कंपटीशन में या किसी एग्जाम में अगर आप ऐसी कल्पना करें कि जहां पर चैटिंग पूरी तरीके से अलाउड हो तो उस कंपटीशन में कोई भी आदमी जो है जो अपनी मेहनत से आंसर लिखेगा वह तो फ्री होगा यह तो पक्का ही होते हैं वह इस तरीके का माहौल बना चुके हैं कि जिसमें किसी शरीफ आदमी ईमानदार आने का जो है ईमानदार आदमी का राजनीति में आना करीब करीब हो गया है और जब तक कि माहौल नहीं सुधरता तो तो मैं नहीं समझता कि जो पढ़े लिखे और समझदार और ईमानदार लोग हम राजनीति में आ पाएंगेYeh Gaana To Uchit Nahi Hai Ki Bharat Mein Jo Shikshit Log Hain Wah Rajneeti Mein Participate Nahi Karte Hain Bhag Nahi Lete Hain Ki Ki Aajkal Jo Parliament Ke Andar Aap Dekhen To Isme Kafi Padhe Likhe Log Hain Aur Karib 90% Se Zyada Log Aise Hain Jo Kiya To Graduate Hai Ya Phir Usse Bhi Zyada Qualified Hai Kyonki Aajkal Ki Jo Rajneeti Tha Uske Andar Bahut Hi Zyada Gairkanuni Paise Ki Zaroorat Hoti Hai Gair Kanooni Kaam Karna Padata Hai Kyonki Aap Seedhe Raste Se Jo Hai Wah Rajneeti Mein Safalta Nahi Paate Paate Hain Jaise Ki Maan Liya Ki Kisi Competition Mein Ya Kisi Exam Mein Agar Aap Aisi Kalpana Karen Ki Jahan Par Chatting Puri Tarike Se Allowed Ho To Us Competition Mein Koi Bhi Aadmi Jo Hai Jo Apni Mehnat Se Answer Likhega Wah To Free Hoga Yeh To Pakka Hi Hote Hain Wah Is Tarike Ka Maahaul Bana Chuke Hain Ki Jisme Kisi Sharif Aadmi Imandar Aane Ka Jo Hai Imandar Aadmi Ka Rajneeti Mein Aana Karib Karib Ho Gaya Hai Aur Jab Tak Ki Maahaul Nahi Sudharata To To Main Nahi Samajhata Ki Jo Padhe Likhe Aur Samajhdar Aur Imandar Log Hum Rajneeti Mein Aa Payenge
Likes  25  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिक्षित लोग अगर राजनीति में भाग लेना भी चाहे तो ले कैसे? राजनीति में भाग लेने के लिए आपको पैसा तो चाहिए| पॉलिटिकल पार्टी भी ज्वाइन करने के लिए या तो आप बहुत बचपन से उसमें काम कर रहे हैं तो फिर शिक्षा ...जवाब पढ़िये
शिक्षित लोग अगर राजनीति में भाग लेना भी चाहे तो ले कैसे? राजनीति में भाग लेने के लिए आपको पैसा तो चाहिए| पॉलिटिकल पार्टी भी ज्वाइन करने के लिए या तो आप बहुत बचपन से उसमें काम कर रहे हैं तो फिर शिक्षा में अंतर आएगा| अगर आप बचपन से पोलिटिकल पार्टी से जुड़े हैं, कॉलेज टाइम से पॉलिटिकल पार्टी से जुड़े हैं तो ओफ़्फ़्कौर्स आप बहुत जबरदस्त शिक्षा शायद ही पा पाए| या आप बहुत बड़े इंडस्ट्रलिस्ट हो और आप पैसा दे पाए पार्टी फंड में, दान दे पाए तो आप पॉलिटिक्स में आ सकते हैं| फिर उसके अलावा कुछ एक्सेप्शनल भी होते हैं जो बहुत अच्छे एजुकेशन बैकग्राउंड के बाद भी शिक्षा से जुड़े हुए हैं| आईआईटीयंस भी हैं पॉलिटिक्स में जैसे की कांग्रेस में जयराम रमेश और बीजेपी में मनोहर पारिकर हैं, बहुत पढ़े-लिखे लोग है| पियुष गोयल हैं, तो ऐसा नहीं कि पढ़े लिखे लोग बिल्कुल नहीं है जयंत सिन्हा है, तो पढ़े लिखे लोग भी जुड़े हुए हैं| लेकिन आम आदमी जो उतनी स्ट्रोंग बैकग्राउंड का नहीं है उसके लिए अपना परिवार को चलाना और रोजी रोटी कमाना पहली प्रायोरिटी हो जाती है| तो वह अपने बच्चों को छोड़कर पॉलिटिक्स ज्वाइन करना बहुत मुश्किल डिसिशन है इसीलिए आदमी वो कर नहीं पाते।Shikshit Log Agar Rajneeti Mein Bhag Lena Bhi Chahe To Le Kaise Rajneeti Mein Bhag Lene Ke Liye Aapko Paisa To Chahiye Political Party Bhi Join Karne Ke Liye Ya To Aap Bahut Bachpan Se Usamen Kaam Kar Rahe Hain To Phir Shiksha Mein Antar Aaega Agar Aap Bachpan Se Political Party Se Jude Hain College Time Se Political Party Se Jude Hain To Offkaurs Aap Bahut Jabardast Shiksha Shayad Hi Pa Paye Ya Aap Bahut Bade Indastralist Ho Aur Aap Paisa De Paye Party Fund Mein Daan De Paye To Aap Politics Mein Aa Sakte Hain Phir Uske Alava Kuch Exceptional Bhi Hote Hain Jo Bahut Acche Education Background Ke Baad Bhi Shiksha Se Jude Huye Hain Aiaaitiyans Bhi Hain Politics Mein Jaise Ki Congress Mein Jayaram Ramesh Aur Bjp Mein Manohar Parikar Hain Bahut Padhe Likhe Log Hai Piyush Goyal Hain To Aisa Nahi Ki Padhe Likhe Log Bilkul Nahi Hai Jayant Sinha Hai To Padhe Likhe Log Bhi Jude Huye Hain Lekin Aam Aadmi Jo Utani Strong Background Ka Nahi Hai Uske Liye Apna Parivar Ko Chalana Aur Rozi Roti Kamana Pehli Priority Ho Jati Hai To Wah Apne Bacchon Ko Chodkar Politics Join Karna Bahut Mushkil Decision Hai Isliye Aadmi Vo Kar Nahi Paate
Likes  18  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सही प्रशिक्षण विभाग के अधिकारी चकबंदी गुंडागर्दी के दादा सतन सर्कस चल रहा है किसी का 420 का केस चल रहा है जो अपनी हलाल की कमाई करता है उसके लिए शासन काल में औसत बढ़ गई है गरीब आदमी की मुद्दों की सत्र ...जवाब पढ़िये
सही प्रशिक्षण विभाग के अधिकारी चकबंदी गुंडागर्दी के दादा सतन सर्कस चल रहा है किसी का 420 का केस चल रहा है जो अपनी हलाल की कमाई करता है उसके लिए शासन काल में औसत बढ़ गई है गरीब आदमी की मुद्दों की सत्र खत्म होगी सिर्फ ओन्ली ओन्ली अमीरों की सशक्त और पैसे वालों की साथ रहेगी जो उनके आने की लोग सोचे ज्यादा है कि हमने क्या लेना जरूरी कर दे एकदम कम कर लेंगे हम को जलाना हमारा काम तो देश के लिए गवर्नमेंट के लिए प्रोग्राम बनाना हमारे कृपालु पड़ेगी
Likes  15  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोनेरा को यह बहुत ही बेले डांसर है और इस पर अगर मैं थोड़ा तुमको बॉलीवुड के साथ कनेक्ट करूं तो कुछ ऐसी हमारी पिक्चर पिक्चर अभी आई है आई है ना यह हमारा अपना भास्कर वालों को बहुत सालों से क्या कहेंगे दाद...जवाब पढ़िये
मोनेरा को यह बहुत ही बेले डांसर है और इस पर अगर मैं थोड़ा तुमको बॉलीवुड के साथ कनेक्ट करूं तो कुछ ऐसी हमारी पिक्चर पिक्चर अभी आई है आई है ना यह हमारा अपना भास्कर वालों को बहुत सालों से क्या कहेंगे दादा बनने की पॉलिटिक्स क्यों है बहुत गंदी गेम है तो जो अच्छे और अच्छी सोच वाले पॉजिटिव थिंकिंग वाले लोग हैं उनको इससे दूर रहना चाहिए लेकिन हम लोग भी यह नहीं रह नहीं सकते हैं कि जितनी देर तक इस गंदगी को हम खुद आगे अच्छे लोग आ गया के साथ नहीं करेंगे अभी तक कुछ भी ठीक नहीं होगा क्योंकि एक बड़ी मशहूर कहावत है इंग्लिश में है चेंज इंडिया जब आपको कोई चीज लानी है तो आपको उज्जैन का हिस्सा बनना पड़ेगा तो मेरा है
Likes  14  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखने के ज्यादातर शिक्षित भारतीय राजनीति में भाग लेते हैं क्योंकि उनका मानना है कि ऐसा दर्द है जहां पर इंसान एक बार पर जाता है तो फिर उसे निकाल ली पाते क्योंकि आप जहां पर दिखेंगे लगभग कितने भी एमिलेज ...जवाब पढ़िये
देखने के ज्यादातर शिक्षित भारतीय राजनीति में भाग लेते हैं क्योंकि उनका मानना है कि ऐसा दर्द है जहां पर इंसान एक बार पर जाता है तो फिर उसे निकाल ली पाते क्योंकि आप जहां पर दिखेंगे लगभग कितने भी एमिलेज एमपी है बहुत जनों पर आप देखे कोई ना कोई गीत सुन पर चल रहा है उनके झूठ है या सच बुद्धा में नहीं पता लेकिन कैसे चलते रहते हैं कितने मतलब कितने एमएलए एमपी है उन पर बेबुनियाद आरोप भी लगते हैं सियासी दल तेरे जहां पर आरोप प्रत्यारोप का मामला भी दिन आते रहता है जहां पर कितने सारे षडयंत्र कूटनीति आती जाती है कि पढ़े लिखे वर्ग का मानना है कि जिंदगी को एक अच्छे तौर पर एक अच्छे सम्मान के साथ चलना चाहिए और सिर्फ राजनीतिक तरीका नहीं है जिस पर आज तक देश को सर पर सबको इंसाइड बहुत सारे तरीके हैं बिना राजनीति में कैद गए है विदेश की अप सेवा कर सको देशवासियों की हत्या कर सको तो नाराज भी देश वासियों की सेवा कर सकते हैं ज्यादा पसंद करते हैंDekhne Ke Jyadatar Shikshit Bharatiya Rajneeti Mein Bhag Lete Hain Kyonki Unka Manana Hai Ki Aisa Dard Hai Jahan Par Insaan Ek Baar Par Jata Hai To Phir Use Nikal Lee Paate Kyonki Aap Jahan Par Dikhenge Lagbhag Kitne Bhi Amylage Mp Hai Bahut Jano Par Aap Dekhe Koi Na Koi Geet Sun Par Chal Raha Hai Unke Jhuth Hai Ya Sach Buddha Mein Nahi Pata Lekin Kaise Chalte Rehte Hain Kitne Matlab Kitne Mla Mp Hai Un Par Bebuniyad Aarop Bhi Lagte Hain Siyasi Dal Tere Jahan Par Aarop Pratyarop Ka Maamla Bhi Din Aate Rehta Hai Jahan Par Kitne Sare Shadyantra Kutneeti Aati Jati Hai Ki Padhe Likhe Varg Ka Manana Hai Ki Zindagi Ko Ek Acche Taur Par Ek Acche Samman Ke Saath Chalna Chahiye Aur Sirf Raajnitik Tarika Nahi Hai Jis Par Aaj Tak Desh Ko Sar Par Sabko Insaid Bahut Sare Tarike Hain Bina Rajneeti Mein Kaid Gaye Hai Videsh Ki Up Seva Kar Sako Deshvasiyon Ki Hatya Kar Sako To Naaraj Bhi Desh Vasiyo Ki Seva Kar Sakte Hain Zyada Pasand Karte Hain
Likes  56  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ज्यादातर शिक्षित भारत की राजनीति में भारतीयों ने लेते हैं पुलिस बहन अपने भाई को कंपलीट करता है तो उसका टारगेट होता है कि अपने परिवार को और अपने आप को सिर्फ पढ़ना इसी पर बसे वो आगे बढ़ता है और वह अपना ...जवाब पढ़िये
ज्यादातर शिक्षित भारत की राजनीति में भारतीयों ने लेते हैं पुलिस बहन अपने भाई को कंपलीट करता है तो उसका टारगेट होता है कि अपने परिवार को और अपने आप को सिर्फ पढ़ना इसी पर बसे वो आगे बढ़ता है और वह अपना एक लक्ष्य ढूंढता है कि मुझे डॉक्टर बनना है मुझे भी नजर ना आए मुझे बीएसएनल एमपी बनने के बाद ही उसको चोली मिलती है जो सबसे अलग बनने के लिए करोड़ों रुपया खर्चा पड़ता है क्योंकि एक आम आदमी के पास नहीं हो पाता और आम व्यक्ति जो होता है वह आगे निकलता है एडिट करने की वजह से और गीत भी आती है कि राजनीति को गंदा समझते हैं ज्यादातर पढ़े लिखे हैं ऐसा नहीं करना चाहिए पढ़े लिखे लोगों को आगे आना
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राजनीति में नहीं आना चाहते आउट ऑफ कंट्री में मिलता है जो बाहर देशों में मिलता है जो पॉलिटिक्स पॉलिटिक्स और राजनीतिक तौर पर...जवाब पढ़िये
राजनीति में नहीं आना चाहते आउट ऑफ कंट्री में मिलता है जो बाहर देशों में मिलता है जो पॉलिटिक्स पॉलिटिक्स और राजनीतिक तौर पर
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

और शिक्षित पॉलिटिक्स एक गंदी राजनीति है शामिल क्यों नहीं होते क्योंकि अच्छे लोग जो जब आएंगे तभी वह देश में सुधार होने पर क्यों नहीं आते क्योंकि जो गंदा है वह देश में पढ़ना नहीं चाहते तो अच्छे आदमी आते...जवाब पढ़िये
और शिक्षित पॉलिटिक्स एक गंदी राजनीति है शामिल क्यों नहीं होते क्योंकि अच्छे लोग जो जब आएंगे तभी वह देश में सुधार होने पर क्यों नहीं आते क्योंकि जो गंदा है वह देश में पढ़ना नहीं चाहते तो अच्छे आदमी आते हैं अच्छे होते ही है भ्रष्टाचार के प्रति और भ्रष्टाचार
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिक्षित लोग के पास शिक्षा और डिग्री के अलावा और कुछ नहीं है ना पैसा है ना लोगों का सपोर्ट है ना पार्टी का सपोर्ट है इसलिए शिक्षित भारतीय राजनीति में भाग नहीं लेते हैं...जवाब पढ़िये
शिक्षित लोग के पास शिक्षा और डिग्री के अलावा और कुछ नहीं है ना पैसा है ना लोगों का सपोर्ट है ना पार्टी का सपोर्ट है इसलिए शिक्षित भारतीय राजनीति में भाग नहीं लेते हैं
Likes  8  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकेश के बारे में बस इतना ही कहना चमक जिस जिस तरह हमारे देश में राजनीति की स्थिति हो गई कोई भी अच्छा व्यक्ति पढ़ा लिखा व्यक्ति राजनीति में नहीं जाना चाहता जो कि बहुत गलत चीज है मुझे लगता है कि राजनीति...जवाब पढ़िये
विकेश के बारे में बस इतना ही कहना चमक जिस जिस तरह हमारे देश में राजनीति की स्थिति हो गई कोई भी अच्छा व्यक्ति पढ़ा लिखा व्यक्ति राजनीति में नहीं जाना चाहता जो कि बहुत गलत चीज है मुझे लगता है कि राजनीति को ऐसे व्यक्तियों की बहुत ज्यादा जरूरत है ताकि जो आज हमारे देश के अंदर राजनीति का स्तर गिर चुका है उसे स्तर को ऊपर लाने में मुझे लगता है शिक्षित वर्ग की बहुत जरूरत है राजनीति के अंदर क्योंकि जंगली हमने देखा है किसी पॉलिटिशन हमारे देश के अंदर ऐसे मिलेंगे जो 10th पास भी नहीं है उसके बाद वह मिनिस्टर बन जाते हैं और जो एक IAS ऑफिसर जो इतने बड़े एग्जाम को क्लियर करके आता है उससे अपना रौब दिखाते तो इस तरह की घटनाएं होती तो बहुत शर्म वाली बात होती हमारे देश के लिए ऐसे पॉलिटिशंस के लिए तो मुझे लगता है ऐसे व्यक्ति को जरूर राजनीति में आना चाहिए जो बहुत शिक्षित हैं समझदार हैंVikesh Ke Bare Mein Bus Itna Hi Kehna Chamak Jis Jis Tarah Hamare Desh Mein Rajneeti Ki Sthiti Ho Gayi Koi Bhi Accha Vyakti Padha Likha Vyakti Rajneeti Mein Nahi Jana Chahta Jo Ki Bahut Galat Cheez Hai Mujhe Lagta Hai Ki Rajneeti Ko Aise Vyaktiyon Ki Bahut Zyada Zaroorat Hai Taki Jo Aaj Hamare Desh Ke Andar Rajneeti Ka Sthar Gir Chuka Hai Use Sthar Ko Upar Lane Mein Mujhe Lagta Hai Shikshit Varg Ki Bahut Zaroorat Hai Rajneeti Ke Andar Kyonki Jangalee Humne Dekha Hai Kisi Politician Hamare Desh Ke Andar Aise Milenge Jo 10th Paas Bhi Nahi Hai Uske Baad Wah Minister Ban Jaate Hain Aur Jo Ek IAS Officer Jo Itne Bade Exam Ko Clear Karke Aata Hai Usse Apna Raub Dikhate To Is Tarah Ki Ghatnaye Hoti To Bahut Sharm Wali Baat Hoti Hamare Desh Ke Liye Aise Politicians Ke Liye To Mujhe Lagta Hai Aise Vyakti Ko Jarur Rajneeti Mein Aana Chahiye Jo Bahut Shikshit Hain Samajhdar Hain
Likes  6  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे नहीं लगता है कि शिक्षक भारतीय राजनीति में भाग नहीं लेते हैं आज की जो राजनीति है उसमें ज्यादातर व्यक्ति शिक्षित हैं लेकिन पिछले कई वर्षों में राजनीति में अपराध प्रवृत्ति के व्यक्ति ज्यादा थे पेरें...जवाब पढ़िये
मुझे नहीं लगता है कि शिक्षक भारतीय राजनीति में भाग नहीं लेते हैं आज की जो राजनीति है उसमें ज्यादातर व्यक्ति शिक्षित हैं लेकिन पिछले कई वर्षों में राजनीति में अपराध प्रवृत्ति के व्यक्ति ज्यादा थे पेरेंट्स को बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता था कि उनका बच्चा राजनीति से जुड़कर अपराध की ओर अपना कदम बढ़ाए लेकिन वक्त बदल रहा है हमारा देश राजनीतिक नेताओं के खोखले दावों से बहुत आहत हुआ है अब वह हर वादे का परिणाम चाहता है मुझे लगता है इसलिए आज के युवा और उनके पेरेंट्स भी चाहते हैं कि बच्चे राजनीति में जाएं और शिक्षा की कमी से जो खामियां देश के विकास में रुकावट बनती है उन्हें दूर करेंMujhe Nahi Lagta Hai Ki Shikshak Bharatiya Rajneeti Mein Bhag Nahi Lete Hain Aaj Ki Jo Rajneeti Hai Usamen Jyadatar Vyakti Shikshit Hain Lekin Pichhle Kai Varshon Mein Rajneeti Mein Apradh Pravritti Ke Vyakti Zyada The Parents Ko Bilkul Bhi Accha Nahi Lagta Tha Ki Unka Baccha Rajneeti Se Judakar Apradh Ki Oar Apna Kadam Badhae Lekin Waqt Badal Raha Hai Hamara Desh Raajnitik Netaon Ke Khokhale Daavon Se Bahut Aahat Hua Hai Ab Wah Har Waade Ka Parinam Chahta Hai Mujhe Lagta Hai Isliye Aaj Ke Yuva Aur Unke Parents Bhi Chahte Hain Ki Bacche Rajneeti Mein Jayen Aur Shiksha Ki Kami Se Jo Khamiyan Desh Ke Vikash Mein Rukavat Banti Hai Unhen Dur Karen
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे जो भारतीय राजनीति है वह बहुत ही ज्यादा गंदी हो गई है आज के टाइम में जो राजनीति है उसमें जो इन टेंशन होती है किसी भी नए साल की राजनीति में घुसने से पहले हुए नहीं होती है कि देश के लिए कुछ भला करना...जवाब पढ़िये
लिखे जो भारतीय राजनीति है वह बहुत ही ज्यादा गंदी हो गई है आज के टाइम में जो राजनीति है उसमें जो इन टेंशन होती है किसी भी नए साल की राजनीति में घुसने से पहले हुए नहीं होती है कि देश के लिए कुछ भला करना किसी किसी राज्य किसी शहर के लिए कुछ भला करना जो भी आप यदि आप ख्याल देखेंगे लोगों के तो हो गए हैं यदि आपको पैसा कमाना है तो आप राजनीति में जाइए राजनीति में आने का कारण है पैसा कमाना यहां पर बहुत पैसा कमाते हैं पैसा कहां से कम आएंगे आप सबसे पहली चीज है कि यहां पर आपको सैलरी बहुत मिलेगी सैलरी मिलने के अलावा जितने भी आप काम करवाएंगे अपने अंडर में उसमें आप पैसा बकाया बैलेंस आ जाएगा वह आप अपनी तिजोरी में भ्रष्टाचार पड़ेगा तो कुल मिलाकर गंदगी इतनी बढ़ गई है कि आज का जो युवा है चाहे शिक्षित युवा है जो भी है तो वह इन सब चीजों में पैर नहीं रखना चाहता है वह सब बंद कि नहीं करना चाहता है आजकल भ्रष्टाचार के आरोप पर पत्ते हैं उसके बाद यह सारी चीजें जो होती है यह सब इन चीजों में नहीं पड़ना चाहता है क्योंकि राजनीति बहुत गंदी हो गई है हिंदी वास्तव में यह साफ होती तो आज टूटा जो शिक्षित हुआ है उसमें देश के प्रति अच्छी सोच है अच्छा डिसीजन लेने की क्षमता है और एक अच्छा स्कोप है उनकी सोच में तो फिर वह दादा बेनेफिशियल हो सकता था उनकी सोच देश के लिए लेकिन क्योंकि इतनी हालत खराब हो गई है भारतीय राजनीति की उसमें कोई भी पैर रखने से डरता हैLikhe Jo Bharatiya Rajneeti Hai Wah Bahut Hi Zyada Gandi Ho Gayi Hai Aaj Ke Time Mein Jo Rajneeti Hai Usamen Jo In Tension Hoti Hai Kisi Bhi Naye Saal Ki Rajneeti Mein Ghusane Se Pehle Huye Nahi Hoti Hai Ki Desh Ke Liye Kuch Bhala Karna Kisi Kisi Rajya Kisi Sheher Ke Liye Kuch Bhala Karna Jo Bhi Aap Yadi Aap Khayal Dekhenge Logon Ke To Ho Gaye Hain Yadi Aapko Paisa Kamana Hai To Aap Rajneeti Mein Jaiye Rajneeti Mein Aane Ka Kaaran Hai Paisa Kamana Yahan Par Bahut Paisa Kamate Hain Paisa Kahaan Se Kam Aayenge Aap Sabse Pehli Cheez Hai Ki Yahan Par Aapko Salary Bahut Milegi Salary Milne Ke Alava Jitne Bhi Aap Kaam Karavaenge Apne Under Mein Usamen Aap Paisa Bakaya Balance Aa Jayega Wah Aap Apni Tijori Mein Bhrashtachar Padega To Kul Milakar Gandagi Itni Badh Gayi Hai Ki Aaj Ka Jo Yuva Hai Chahe Shikshit Yuva Hai Jo Bhi Hai To Wah In Sab Chijon Mein Pair Nahi Rakhna Chahta Hai Wah Sab Band Ki Nahi Karna Chahta Hai Aajkal Bhrashtachar Ke Aarop Par Patte Hain Uske Baad Yeh Saree Cheezen Jo Hoti Hai Yeh Sab In Chijon Mein Nahi Padhna Chahta Hai Kyonki Rajneeti Bahut Gandi Ho Gayi Hai Hindi Vaastav Mein Yeh Saaf Hoti To Aaj Tuta Jo Shikshit Hua Hai Usamen Desh Ke Prati Acchi Soch Hai Accha Decision Lene Ki Kshamta Hai Aur Ek Accha Scope Hai Unki Soch Mein To Phir Wah Dada Beneficial Ho Sakta Tha Unki Soch Desh Ke Liye Lekin Kyonki Itni Halat Kharab Ho Gayi Hai Bharatiya Rajneeti Ki Usamen Koi Bhi Pair Rakhne Se Darta Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा नहीं है कि शिक्षक भारतीय राजनीति में भाग नहीं लेते वह भी लेते हैं पर हां वह आप अगर उसका परसेंटेज देखे कि जो नहीं लेते हो जो लेते हैं उसका वह थोड़ा कम ही रहेगा आई थिंक मेरे हिसाब से जो शिक्षक भर्ती...जवाब पढ़िये
ऐसा नहीं है कि शिक्षक भारतीय राजनीति में भाग नहीं लेते वह भी लेते हैं पर हां वह आप अगर उसका परसेंटेज देखे कि जो नहीं लेते हो जो लेते हैं उसका वह थोड़ा कम ही रहेगा आई थिंक मेरे हिसाब से जो शिक्षक भर्ती हो जाते हैं उनको जॉब और पैसा कमाने का ज्यादा कौन से स्टेशन उस पर आता है और राजनीति में ऊर्जा के विभिन्न 48 जॉब बन जाता है कि आपको हर समय अपना एक अच्छा एक इमेज बनाना रखता है जो पब्लिक को दिखाना पड़ता है और वह सब से पॉसिबल नहीं है स्पेशली आज के जो आज के एनवायरनमेंट में जहां एकदम फ़ास्ट मूविंग वर्ल्ड है तो इन लोगों को बस यह है कि अपना ही बड़ा है बड़ा है बड़ा है अपना पैसा बड़ा है अपना जॉब अपना इंप्रूवमेंट करते रहें जो राजनीति में बहुत थोड़ा डिफिकल्ट हो जाता है वह एक जंगली शोर नहीं हो सकते राजनीति में क्या पास होगी या फेलAisa Nahi Hai Ki Shikshak Bharatiya Rajneeti Mein Bhag Nahi Lete Wah Bhi Lete Hain Par Haan Wah Aap Agar Uska Percentage Dekhe Ki Jo Nahi Lete Ho Jo Lete Hain Uska Wah Thoda Kam Hi Rahega I Think Mere Hisab Se Jo Shikshak Bharti Ho Jaate Hain Unko Job Aur Paisa Kamane Ka Zyada Kaon Se Station Us Par Aata Hai Aur Rajneeti Mein Urja Ke Vibhinn 48 Job Ban Jata Hai Ki Aapko Har Samay Apna Ek Accha Ek Image Banana Rakhta Hai Jo Public Ko Dikhana Padata Hai Aur Wah Sab Se Possible Nahi Hai Speshli Aaj Ke Jo Aaj Ke Environment Mein Jahan Ekdam Fast Moving World Hai To In Logon Ko Bus Yeh Hai Ki Apna Hi Bada Hai Bada Hai Bada Hai Apna Paisa Bada Hai Apna Job Apna Improvement Karte Rahen Jo Rajneeti Mein Bahut Thoda Difficult Ho Jata Hai Wah Ek Jangalee Shor Nahi Ho Sakte Rajneeti Mein Kya Paas Hogi Ya Fail
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां बिलकुल यह सही है कि शिक्षित लोग पॉलिटिक्स में नहीं आना चाहते हैं इसके पीछे कई कारण हैं तो नहीं होते जो हर किसी के पास उतना नहीं होता है तो इसीलिए ज्यादा तीतर करप्ट लोग होते हैं वही अपना पैसा लग...जवाब पढ़िये
जी हां बिलकुल यह सही है कि शिक्षित लोग पॉलिटिक्स में नहीं आना चाहते हैं इसके पीछे कई कारण हैं तो नहीं होते जो हर किसी के पास उतना नहीं होता है तो इसीलिए ज्यादा तीतर करप्ट लोग होते हैं वही अपना पैसा लगा पाते हैं और अपने आप की मार्केटिंग ज्यादा अच्छे से कर पाते हैं इसके बाद जितने भी शिक्षित लोग होते हैं वह पूरी जिंदगी भर पढ़ाई करते हैं इसके लिए तो क्यों नहीं अभी तक टेबल जॉब मिल सके और उनकी फैमिली रिस्पांसिबिलिटी ज्यादा नहीं है अगर आप नहीं है तो अगर आपको पैसा मिलेगा और यह इसके कारण भी लोग नहीं आना चाहते क्योंकि वह कितनी मेहनत क्यों आकर ले स्टेशन बनेगा जिसके पूरा खानदान बनते आया है अभी तक इसके बाद लीडरशिप क्वालिटी और इंटेलेक्चुअल दो अलग-अलग चीजें अगर कोई आदमी इंटेलिजेंट है तो वह नीचे वालों को डिलीट नहीं कर सकता उसमें यह क्वालिटी नहीं होगी वह दूसरों से काम करवाता है वही अगर किसी में लीडरशिप क्वालिटी है तो नीचे वालों से काम करवा पाएगा वह नीचे वाले लोग इंटेलिजेंट होंगे क्योंकि वह स्टेशन ऊंचे पद पर बैठे लीडरशिप क्वालिटी और इंटेलिजेंट भी मेरे ख्याल से यह कई कारण है जिसके कारण शिक्षित लोग नहीं आना चाहते पॉलिटिक्स मेंG Haan Bilkul Yeh Sahi Hai Ki Shikshit Log Politics Mein Nahi Aana Chahte Hain Iske Piche Kai Kaaran Hain To Nahi Hote Jo Har Kisi Ke Paas Utana Nahi Hota Hai To Isliye Zyada Titar Corrupt Log Hote Hain Wahi Apna Paisa Laga Paate Hain Aur Apne Aap Ki Marketing Zyada Acche Se Kar Paate Hain Iske Baad Jitne Bhi Shikshit Log Hote Hain Wah Puri Zindagi Bhar Padhai Karte Hain Iske Liye To Kyon Nahi Abhi Tak Table Job Mil Sake Aur Unki Family Responsibility Zyada Nahi Hai Agar Aap Nahi Hai To Agar Aapko Paisa Milega Aur Yeh Iske Kaaran Bhi Log Nahi Aana Chahte Kyonki Wah Kitni Mehnat Kyon Aakar Le Station Banega Jiske Pura Khandan Bante Aaya Hai Abhi Tak Iske Baad Leadership Quality Aur Intelekchual Do Alag Alag Cheezen Agar Koi Aadmi Intelligent Hai To Wah Neeche Walon Ko Delete Nahi Kar Sakta Usamen Yeh Quality Nahi Hogi Wah Dusron Se Kaam Karwata Hai Wahi Agar Kisi Mein Leadership Quality Hai To Neeche Walon Se Kaam Karava Payega Wah Neeche Wali Log Intelligent Honge Kyonki Wah Station Unche Pad Par Baithey Leadership Quality Aur Intelligent Bhi Mere Khayal Se Yeh Kai Kaaran Hai Jiske Kaaran Shikshit Log Nahi Aana Chahte Politics Mein
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा नहीं है कि शिक्षित लोग राजनीति में भाग नहीं लेते केजरीवाल की ही बात ले लेते हैं IIT पास आउट है फिर भी उन्होंने राजनीति को ही सुनो तो दोनों काम एक साथ होता है कहीं पर भी हम यह नहीं कह सकते कि सारे ...जवाब पढ़िये
ऐसा नहीं है कि शिक्षित लोग राजनीति में भाग नहीं लेते केजरीवाल की ही बात ले लेते हैं IIT पास आउट है फिर भी उन्होंने राजनीति को ही सुनो तो दोनों काम एक साथ होता है कहीं पर भी हम यह नहीं कह सकते कि सारे लोग पढ़े लिखे होंगे या फिर पढ़े लिखे नहीं होंगे जहां तक की बात रहती है बाकी कामों की इंजीनियर हो गया या किसी ऑफिस में काम करना तो वहां अगर आप पढ़े लिखे नहीं हो तो आप काम कर ही नहीं सकते हो तो वहां सारा का सारा पढ़ा-लिखा कराओ जीता पाएगा क्योंकि नहीं तो आपको जॉब को मिलेगी कि नहीं जहां तक की बात है राजनीति के अंदर मेरे साथ हैं पढ़े लिखे या ना पढ़े लिखे होने से फर्क नहीं पड़ता यहां के दिमाग का उपयोग होता है अब कहने के लिए तो यही होता है कि जो सब्जी वाला है वह सकता है उसका दिमाग हम लोगों से ज्यादा तेज हो वह जिस तरीके से कैलकुलेशन करता है उसका दिमाग हम लोगों से ज्यादा तेज चलता हो तो यह दो अलग बातें हैं पढ़ा लिखा होना ना पढ़ा लिखा होना यह एक अलग चीज है बल्कि हमें दिमाग होना चाहिए और अगर आपके आ गया और आप उसे सही से उपयोग करने के काबिल हैं तो आप राजनीति के अंदर जा सकते हैंAisa Nahi Hai Ki Shikshit Log Rajneeti Mein Bhag Nahi Lete Kejriwal Ki Hi Baat Le Lete Hain IIT Paas Out Hai Phir Bhi Unhone Rajneeti Ko Hi Suno To Dono Kaam Ek Saath Hota Hai Kahin Par Bhi Hum Yeh Nahi Keh Sakte Ki Sare Log Padhe Likhe Honge Ya Phir Padhe Likhe Nahi Honge Jahan Tak Ki Baat Rehti Hai Baki Kamon Ki Engineer Ho Gaya Ya Kisi Office Mein Kaam Karna To Wahan Agar Aap Padhe Likhe Nahi Ho To Aap Kaam Kar Hi Nahi Sakte Ho To Wahan Saara Ka Saara Padha Likha Karao Jita Payega Kyonki Nahi To Aapko Job Ko Milegi Ki Nahi Jahan Tak Ki Baat Hai Rajneeti Ke Andar Mere Saath Hain Padhe Likhe Ya Na Padhe Likhe Hone Se Fark Nahi Padata Yahan Ke Dimag Ka Upyog Hota Hai Ab Kehne Ke Liye To Yahi Hota Hai Ki Jo Sabzi Vala Hai Wah Sakta Hai Uska Dimag Hum Logon Se Zyada Tez Ho Wah Jis Tarike Se Calculation Karta Hai Uska Dimag Hum Logon Se Zyada Tez Chalta Ho To Yeh Do Alag Batein Hain Padha Likha Hona Na Padha Likha Hona Yeh Ek Alag Cheez Hai Balki Hume Dimag Hona Chahiye Aur Agar Aapke Aa Gaya Aur Aap Use Sahi Se Upyog Karne Ke Kaabil Hain To Aap Rajneeti Ke Andar Ja Sakte Hain
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ज्यादातर और शिक्षक भारतीय युवा राजनीति में भाग लेना पसंद नहीं करते क्योंकि राजनीति में जो है उनको पता है कि जो लोग पहले से राजनीति में जिनको विश्वास आया 30 साल के ऊपर से ज्यादा राजनीतिक अनुभव है तो वह...जवाब पढ़िये
ज्यादातर और शिक्षक भारतीय युवा राजनीति में भाग लेना पसंद नहीं करते क्योंकि राजनीति में जो है उनको पता है कि जो लोग पहले से राजनीति में जिनको विश्वास आया 30 साल के ऊपर से ज्यादा राजनीतिक अनुभव है तो वह लोगों क्या कर शिक्षा देखा जाए तो फॉर्मल एजुकेशन से कहां थे इतने पढ़े लिखे नहीं तो अगर मैं बाकी और और और उनका जो भी है वह लोगों के प्रति उतना अच्छा नहीं होता वह तो ऐसे बाप ना पॉलिटिक्स के मैसेज पर ही सोचते हो कुछ कुछ का ही फायदा देखते हैं और लोगों का जो है इस्तेमाल कर लेते जैसे कि मैं बात करता हूं तो तो अभी अगर बिहार की देखा जाए तो लालू प्रसाद यादव जी के जो बैठे हैं उनको वहां का नैतिक कौन सा सभी मंत्री किया गया था और वह जो है वह 12वी नापास थे और उनके नीचे जो है ias ऑफिसर जो इतने पढ़े पढ़े लिखे होते हैं पूरे देश में इतनी पढ़ाई करके देखना नंबर लाकर IAS ऑफिसर बनते हैं उन्हें जा कर जो है ऐसे अनपढ़ अधिकारी ज्ञानपुर मंत्रियों के नीचे काम करना पड़ता है तो मुझे लगता है इसकी वजह से ही तो है जो शिक्षित भारतीय है उसमें ज्यादा राजनीति में भाग लेना पसंद नहीं करते तो मुझे लगता है कि राजनीति में किसी को भी जाने के लिए प्रति गोरख एजुकेशनल क्वालिफिकेशन कराटे रखना चाहिए उसके बाद ही आपको जो है वहां पर परमिशन लेनी चाहिएJyadatar Aur Shikshak Bharatiya Yuva Rajneeti Mein Bhag Lena Pasand Nahi Karte Kyonki Rajneeti Mein Jo Hai Unko Pata Hai Ki Jo Log Pehle Se Rajneeti Mein Jinako Vishwas Aaya 30 Saal Ke Upar Se Zyada Raajnitik Anubhav Hai To Wah Logon Kya Kar Shiksha Dekha Jaye To Formal Education Se Kahaan The Itne Padhe Likhe Nahi To Agar Main Baki Aur Aur Aur Unka Jo Bhi Hai Wah Logon Ke Prati Utana Accha Nahi Hota Wah To Aise Baap Na Politics Ke Massage Par Hi Sochte Ho Kuch Kuch Ka Hi Fayda Dekhte Hain Aur Logon Ka Jo Hai Istemal Kar Lete Jaise Ki Main Baat Karta Hoon To To Abhi Agar Bihar Ki Dekha Jaye To Lalu Prasad Yadav G Ke Jo Baithey Hain Unko Wahan Ka Naitik Kaon Sa Sabhi Mantri Kiya Gaya Tha Aur Wah Jo Hai Wah V Napas The Aur Unke Neeche Jo Hai Ias Officer Jo Itne Padhe Padhe Likhe Hote Hain Poore Desh Mein Itni Padhai Karke Dekhna Number Lakar IAS Officer Bante Hain Unhen Ja Kar Jo Hai Aise Anapadh Adhikari Gyanpur Mantriyo Ke Neeche Kaam Karna Padata Hai To Mujhe Lagta Hai Iski Wajah Se Hi To Hai Jo Shikshit Bharatiya Hai Usamen Zyada Rajneeti Mein Bhag Lena Pasand Nahi Karte To Mujhe Lagta Hai Ki Rajneeti Mein Kisi Ko Bhi Jaane Ke Liye Prati Gorakh Educational Qualification Karate Rakhna Chahiye Uske Baad Hi Aapko Jo Hai Wahan Par Permission Leni Chahiye
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

10 शिक्षक भारतीय राजनीति में भाग इसके लिए नहीं लेते क्योंकि अगर देखा जाए तो जितने ज्यादा शिक्षित भारतीय है उनका कोई पार्टी से कोई मिलन नहीं हो पाया तो उनके पास इतने पैसे नहीं थे कि वह कोई पार्टी जॉइन ...जवाब पढ़िये
10 शिक्षक भारतीय राजनीति में भाग इसके लिए नहीं लेते क्योंकि अगर देखा जाए तो जितने ज्यादा शिक्षित भारतीय है उनका कोई पार्टी से कोई मिलन नहीं हो पाया तो उनके पास इतने पैसे नहीं थे कि वह कोई पार्टी जॉइन कर पाया पार्टी के जितने भी एक्टिविटी का कार्य एक्टिविटी तो उस में भाग ले पाए अगर मौर्य चीज देख या गरम राजनीति में अगर आप सफल होना है तो आपके पास कौन सा फोन है आपके पास लोगों ने चोर आपके पास एक माफ कॉलिंग होनी चाहिए आज बहुत सारी जनता आपको फॉलो करने की तो मेरे हिसाब से यह चीज ऐसी होगी जो कि ज्यादा शिक्षित भारतीयों में नहीं होगी कीमत अपील इन जैसे नरेंद्र मोदी जी को जी को मांस अपीलीय कि वह बहुत सारे जनता को अपनी तरफ खींच सकते हैं वह खींचने का जोक्स मैजिक है वह मेरे हिसाब से नहीं लगता तो शिक्षित भारतीयों में है परंतु यह कहना भी सही नहीं होगा कि ज्यादा शिक्षित भारतीय राजनीति में भाग नहीं लेते क्योंकि अगर हम और जितने भी दक्षिण भारत राज्य के भजन दक्षिण भारतीय राज्य देखे तो ऐसे कई सारे नेता है जो 5 शिक्षक है अगर हम देखें और पूर्व मंत्री कपिल सिब्बल है जो की बहुत ही पढ़े लिखे और अगर हम देखें शशि थरूर जी है जो की बहुत ही पढ़े लिखे हैं तो मेरे हिसाब से यह कहना सही नहीं होगा कि भारत शिक्षित भारतीय राजनीति में बिल्कुल भी भाग नहीं लेते लेते हैं बहुत सारे भारतीय राजनीति में भाग लेते परंतु उनकी जनसंख्या बहुत कम है10 Shikshak Bharatiya Rajneeti Mein Bhag Iske Liye Nahi Lete Kyonki Agar Dekha Jaye To Jitne Zyada Shikshit Bharatiya Hai Unka Koi Party Se Koi Milan Nahi Ho Paya To Unke Paas Itne Paise Nahi The Ki Wah Koi Party Join Kar Paya Party Ke Jitne Bhi Activity Ka Karya Activity To Us Mein Bhag Le Paye Agar Maurya Cheez Dekh Ya Garam Rajneeti Mein Agar Aap Safal Hona Hai To Aapke Paas Kaon Sa Phone Hai Aapke Paas Logon Ne Chor Aapke Paas Ek Maaf Calling Honi Chahiye Aaj Bahut Saree Janta Aapko Follow Karne Ki To Mere Hisab Se Yeh Cheez Aisi Hogi Jo Ki Zyada Shikshit Bharatiyon Mein Nahi Hogi Kimat Appeal In Jaise Narendra Modi G Ko G Ko Maans Apiliya Ki Wah Bahut Sare Janta Ko Apni Taraf Khinch Sakte Hain Wah Kheenchne Ka Jokes Magic Hai Wah Mere Hisab Se Nahi Lagta To Shikshit Bharatiyon Mein Hai Parantu Yeh Kehna Bhi Sahi Nahi Hoga Ki Zyada Shikshit Bharatiya Rajneeti Mein Bhag Nahi Lete Kyonki Agar Hum Aur Jitne Bhi Dakshin Bharat Rajya Ke Bhajan Dakshin Bharatiya Rajya Dekhe To Aise Kai Sare Neta Hai Jo 5 Shikshak Hai Agar Hum Dekhen Aur Purv Mantri Kapil Sibbal Hai Jo Ki Bahut Hi Padhe Likhe Aur Agar Hum Dekhen Shashi Tharur G Hai Jo Ki Bahut Hi Padhe Likhe Hain To Mere Hisab Se Yeh Kehna Sahi Nahi Hoga Ki Bharat Shikshit Bharatiya Rajneeti Mein Bilkul Bhi Bhag Nahi Lete Lete Hain Bahut Sare Bharatiya Rajneeti Mein Bhag Lete Parantu Unki Jansankhya Bahut Kam Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यहां देखें यह बिल्कुल सही बात है भाई से सहमत हूं कि ज्यादातर शिक्षक बातें जो है वह राजनीति में भाग नहीं लेना चाहते हैं कि हमारे देश की राजनीति जो है वह बहुत ही गंदी हो चुकी और बहुत ही निचले स्तर पर आ ...जवाब पढ़िये
यहां देखें यह बिल्कुल सही बात है भाई से सहमत हूं कि ज्यादातर शिक्षक बातें जो है वह राजनीति में भाग नहीं लेना चाहते हैं कि हमारे देश की राजनीति जो है वह बहुत ही गंदी हो चुकी और बहुत ही निचले स्तर पर आ चुकी है कि लोग इसमें जीतने के लिए कुछ भी कर सकते हो किसी भी लेवल तक जा सकते हैं तो वह में सबसे आगे थे सीक्रेट लोग जो है वह अपना सेब साइडर समझते राजनीतिक में भागना लेकर और ऐसा बात नहीं है कि सारे जो शिक्षित लोग भाग नहीं लेते कई लोग जो है वह प्रतिदिन नेता भी रह चुके हैं जैसे डॉक्टर मनमोहन सिंह इन वर्ल्ड के सबसे हाईएस्ट क्वालिफाइड प्राइम मिनिस्टर लिस्ट में से एक हैं इंग्लिश में चेक नहीं वह बोल के सबसे हाईएस्ट क्वालिटी प्राइम मिनिस्टर हैं उन्होंने अपने पिया जी जो है वह ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से कंप्लीट की थी दूसरी है इस शीला दीक्षित है वह भी बहुत ही ID एजुकेटेड है और तीसरे अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के मुख्यमंत्री वह भी आए आए थे उन्होंने अपने बेटे क्या है और वह ITI में कमिश्नर भी रह चुके बहुत बड़े पोस्ट पर तो ऐसे नहीं की शिक्षित लोग जो है वह पाठ नहीं लेते हैं बहुत ही कम मात्रा में बांट लेते राजनीति में ज्यादातर लोग जो है वह राजनीति से दूर रहना ही नहीं समझतेYahan Dekhen Yeh Bilkul Sahi Baat Hai Bhai Se Sahmat Hoon Ki Jyadatar Shikshak Batein Jo Hai Wah Rajneeti Mein Bhag Nahi Lena Chahte Hain Ki Hamare Desh Ki Rajneeti Jo Hai Wah Bahut Hi Gandi Ho Chuki Aur Bahut Hi Neechle Sthar Par Aa Chuki Hai Ki Log Isme Jitne Ke Liye Kuch Bhi Kar Sakte Ho Kisi Bhi Level Tak Ja Sakte Hain To Wah Mein Sabse Aage The Secret Log Jo Hai Wah Apna Seb Sider Samajhte Raajnitik Mein Bhaagna Lekar Aur Aisa Baat Nahi Hai Ki Sare Jo Shikshit Log Bhag Nahi Lete Kai Log Jo Hai Wah Pratidin Neta Bhi Rah Chuke Hain Jaise Doctor Manmohan Singh In World Ke Sabse Highest Qualified Prime Minister List Mein Se Ek Hain English Mein Check Nahi Wah Bol Ke Sabse Highest Quality Prime Minister Hain Unhone Apne Piya G Jo Hai Wah Oxford University Se Complete Ki Thi Dusri Hai Is Shila Dixit Hai Wah Bhi Bahut Hi ID Educated Hai Aur Tisare Arvind Kejriwal Ne Delhi Ke Mukhyamantri Wah Bhi Aaye Aaye The Unhone Apne Bete Kya Hai Aur Wah ITI Mein Commissioner Bhi Rah Chuke Bahut Bade Post Par To Aise Nahi Ki Shikshit Log Jo Hai Wah Path Nahi Lete Hain Bahut Hi Kam Matra Mein Baant Lete Rajneeti Mein Jyadatar Log Jo Hai Wah Rajneeti Se Dur Rehna Hi Nahi Samajhte
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक बार किसी विश्वविद्यालय में राहुल गांधी के आर्थिक वहां उन्होंने युवा वर्ग को राजनीति में अपना कैरियर बनाने का सुझाव दे डाला युवा वर्ग का राजनीति से जुड़ना और राजनीति को करियर के तौर पर अपना नाम तो ब...जवाब पढ़िये
एक बार किसी विश्वविद्यालय में राहुल गांधी के आर्थिक वहां उन्होंने युवा वर्ग को राजनीति में अपना कैरियर बनाने का सुझाव दे डाला युवा वर्ग का राजनीति से जुड़ना और राजनीति को करियर के तौर पर अपना नाम तो बातें हैं वैसे तो राजनीति से कोई भी अछूता नहीं है लेकिन राजनीति नौकरी और व्यवसाय खेती की तरह आजीविका नहीं होनी चाहिए ऐसा हो रहा है इसलिए हमारी राजनीति भ्रष्ट होती जा रही है मेरा मानना है कि राजनीति अब देश या जनसेवा से जुड़ा मामला कतई नहीं रह गया है पर हां आज देश की राजनीति में फैली गंदगी को साफ करने के लिए जरूरी है कि शिक्षित युवा वर्ग राजनीति में अगर ऐसा होता है तो यह अच्छा ही होगा यहां यह भी कहना चाहूंगी कि राजनीति का अर्थ केवल चुनाव लड़ना नहीं है क्रिकेट सिनेमा सोशल मीडिया में उल्टी रहने के बजाय युवा पीढ़ी राजनीति सोच से ऊपर उठकर देश में बदलाव के मद्देनजर भ्रष्टाचार महंगाई बेरोजगारी खेती और किसान की समस्या जैसे मुद्दों पर सरकार का ध्यान खींचने में सक्रिय देश की समस्याओं के प्रति संवेदनशील हो और अपनी योग्यता और ऊर्जा के अनुरूप देश को समाधान का रास्ता दिखाएंEk Baar Kisi Vishwavidyala Mein Rahul Gandhi Ke Aarthik Wahan Unhone Yuva Varg Ko Rajneeti Mein Apna Carrier Banane Ka Sujhaav De Dala Yuva Varg Ka Rajneeti Se Judana Aur Rajneeti Ko Career Ke Taur Par Apna Naam To Batein Hain Waise To Rajneeti Se Koi Bhi Achuta Nahi Hai Lekin Rajneeti Naukri Aur Vyavasaya Kheti Ki Tarah Aajiwika Nahi Honi Chahiye Aisa Ho Raha Hai Isliye Hamari Rajneeti Bhrasht Hoti Ja Rahi Hai Mera Manana Hai Ki Rajneeti Ab Desh Ya Jansewa Se Juda Maamla Qty Nahi Rah Gaya Hai Par Haan Aaj Desh Ki Rajneeti Mein Faili Gandagi Ko Saaf Karne Ke Liye Zaroori Hai Ki Shikshit Yuva Varg Rajneeti Mein Agar Aisa Hota Hai To Yeh Accha Hi Hoga Yahan Yeh Bhi Kehna Chahungi Ki Rajneeti Ka Arth Kewal Chunav Ladana Nahi Hai Cricket Cinema Social Media Mein Ulti Rehne Ke Bajay Yuva Pidhi Rajneeti Soch Se Upar Uthakar Desh Mein Badlav Ke Maddenajar Bhrashtachar Mahangai Berojgari Kheti Aur Kisan Ki Samasya Jaise Muddon Par Sarkar Ka Dhyan Kheenchne Mein Sakriy Desh Ki Samasyaon Ke Prati Samvedansheel Ho Aur Apni Yogyata Aur Urja Ke Anurup Desh Ko Samadhan Ka Rasta Dikhaen
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आपकी बात बिल्कुल सही है ज्यादातर भर्ती है इसमें पॉलिटिक्स में आना नहीं चाहते हैं उसके स्पेस फर्स्ट भजन तो यह है कि सबसे पहले तो बोलो गाना भी नहीं चाहते हैं इसमें और आज नहीं सकते हैं मतलब आने भी ...जवाब पढ़िये
देखिए आपकी बात बिल्कुल सही है ज्यादातर भर्ती है इसमें पॉलिटिक्स में आना नहीं चाहते हैं उसके स्पेस फर्स्ट भजन तो यह है कि सबसे पहले तो बोलो गाना भी नहीं चाहते हैं इसमें और आज नहीं सकते हैं मतलब आने भी नहीं दिया जाता है क्योंकि पूरे भारत में पूरे वर्ल्ड में इंडिया का पॉलिटिक्स सबसे करप्ट इसलिए लोगों को उनको आने भी नहीं दिया था आ रहा है तो अगर आप आए तो उनका विरोध होता है मतलब आप को हटा भी दिया जाएगा और आपको आने भी नहीं दिया जाएगा इस वजह से मतलब सबसे फ़ास्ट रीज़न तो यह है और दूसरी रीजन यह है कि आप यहां मतलब मोड को खरीद लिया जाता है वह भी दूसरी रीजन है बस मैं यही कहना चाहूंगाDekhie Aapki Baat Bilkul Sahi Hai Jyadatar Bharti Hai Isme Politics Mein Aana Nahi Chahte Hain Uske Space First Bhajan To Yeh Hai Ki Sabse Pehle To Bolo Gaana Bhi Nahi Chahte Hain Isme Aur Aaj Nahi Sakte Hain Matlab Aane Bhi Nahi Diya Jata Hai Kyonki Poore Bharat Mein Poore World Mein India Ka Politics Sabse Corrupt Isliye Logon Ko Unko Aane Bhi Nahi Diya Tha Aa Raha Hai To Agar Aap Aaye To Unka Virodh Hota Hai Matlab Aap Ko Hata Bhi Diya Jayega Aur Aapko Aane Bhi Nahi Diya Jayega Is Wajah Se Matlab Sabse Fast Rizan To Yeh Hai Aur Dusri Reason Yeh Hai Ki Aap Yahan Matlab Mode Ko Kharid Liya Jata Hai Wah Bhi Dusri Reason Hai Bus Main Yahi Kehna Chahunga
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा तो नहीं है कि जो दाल को शिक्षित लोग होते हैं भारतीय राजनीति में भाग नहीं ले का सैंपल सैंपल देना चाहूंगी यहां पर सबसे पहले कपिल सिब्बल का इंडियन पॉलिटिशियन कांग्रेस पार्टी से बिलोंग करती है अगर मैं...जवाब पढ़िये
ऐसा तो नहीं है कि जो दाल को शिक्षित लोग होते हैं भारतीय राजनीति में भाग नहीं ले का सैंपल सैंपल देना चाहूंगी यहां पर सबसे पहले कपिल सिब्बल का इंडियन पॉलिटिशियन कांग्रेस पार्टी से बिलोंग करती है अगर मैं उनका क्वालिफिकेशन के बारे में बात करो तुम भी किया फैकल्टी ऑफ़ लॉ यूनिवर्सिटी दिल्ली से उसके बाद एप्लीकेशन के बाद उन्होंने इंडियन पॉलिटिक्स को ज्वाइन करने के उपाय उसके अलग-अलग अपना काम बखूबी इन लोगों को क्यों होता है क्यों होता है तो इंजीनियर जा सकता हैAisa To Nahi Hai Ki Jo Dal Ko Shikshit Log Hote Hain Bharatiya Rajneeti Mein Bhag Nahi Le Ka Sample Sample Dena Chahungi Yahan Par Sabse Pehle Kapil Sibbal Ka Indian Politician Congress Party Se Belong Karti Hai Agar Main Unka Qualification Ke Bare Mein Baat Karo Tum Bhi Kiya Faculty Of Law University Delhi Se Uske Baad Application Ke Baad Unhone Indian Politics Ko Join Karne Ke Upay Uske Alag Alag Apna Kaam Bakhubi In Logon Ko Kyon Hota Hai Kyon Hota Hai To Engineer Ja Sakta Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिक्षित भारतीय राजनीति में इसलिए नहीं आना चाहते क्योंकि राजनीति आज समाज सेवा या देश से बने होकर मात्र पैसा कमाना रह गई है जबकि शिक्षित व्यक्ति ईमानदारी और कार्य करके ही पैसा कमाना सकता है...जवाब पढ़िये
शिक्षित भारतीय राजनीति में इसलिए नहीं आना चाहते क्योंकि राजनीति आज समाज सेवा या देश से बने होकर मात्र पैसा कमाना रह गई है जबकि शिक्षित व्यक्ति ईमानदारी और कार्य करके ही पैसा कमाना सकता है
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए पॉलिटिक्स में बुद्धिजीवी लोग ही होते हैं पॉलिटिक्स में कोई ऐसा वैसा आदमी नहीं आ सकता है और भारतीय जनता पार्टी में आप देखेंगे तो बहुत पढ़े पढ़े लिखे लोग हैं और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी...जवाब पढ़िये
देखिए पॉलिटिक्स में बुद्धिजीवी लोग ही होते हैं पॉलिटिक्स में कोई ऐसा वैसा आदमी नहीं आ सकता है और भारतीय जनता पार्टी में आप देखेंगे तो बहुत पढ़े पढ़े लिखे लोग हैं और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी मैकेनिकल इंजीनियर है मनोहर पारिकर आईआईटियन है प्रधानमंत्री मोदी जी एम ए पॉलीटिकल साइंस और उनका जो प्रैक्टिकल नॉलेज है वह बहुत बड़े-बड़े लोगों से भी ज्यादा है डॉक्टर मनमोहन सिंह बहुत पढ़े-लिखे आदमी है लेकिन देखिए पढ़े-लिखे होने से कुछ नहीं होता है अगर आपके पास काम करने की क्षमता है काम आप कर लेते हो थोड़ा कम पड़े हो लेकिन आप कुछ अच्छा बोल देते हो आपके पास किसी चीज को समझाने की एक्सप्लेनेशन करने की क्षमता है आप अच्छा से कन्वेंस करते हो अच्छा से बोलते हो किसी काम को अच्छे से करते हो तो आप अच्छे हो उसमें पढ़ाई लिखाई का कोई रोल नहीं है पढ़ाई लिखाई देखिए कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी जी ने किया है अब इनको मूंग के दाल में और अरहर की दाल में अंतर पता नहीं है क्योंकि उन्होंने कभी खेती कि नहीं किसानों की बात करते हैं गरीबों की बात करते हैं कभी खेती उन्होंने किया नहीं होगा देखा भी नहीं होगा और गरीबी उन्होंने कभी देखी नहीं है तो क्या कोई गरीबों की बात करेगा और किसानों की बात करेगा किसान और गरीब की वही बात करेगा जो गरीब रहा होगा जिसने यह सब दिन देखा होगा इसलिए आप सभी भारत वासियों से मेरा निवेदन है कि 2019 के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को वोट दें ताकि हमारा देश भ्रष्टाचार मुक्त हो सके धन्यवाद
Likes  14  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाय दिखी पॉलिटिशन बनना गलत नहीं है पॉलिटिक्स राजनीति बहुत जरूरी होता है किसी देश की व्यवस्था को चलाने के लिए लेकिन हमारे देश में समस्या यह है कि पढ़े-लिखे लोग इसलिए नहीं जाते राजनीति में क्योंकि वह सो...जवाब पढ़िये
हाय दिखी पॉलिटिशन बनना गलत नहीं है पॉलिटिक्स राजनीति बहुत जरूरी होता है किसी देश की व्यवस्था को चलाने के लिए लेकिन हमारे देश में समस्या यह है कि पढ़े-लिखे लोग इसलिए नहीं जाते राजनीति में क्योंकि वह सोचते कि भारत की जो राजनीति हो बहुत ही गंदी है सिर्फ कुर्सी के लिए और पैसों के लिए राजनीति होती है हमारे देश में ऐसा बहुत सारे लोगों का मानना है कि वे मेरा भी मानना है क्योंकि हम देखते हैं जब भी इलेक्शन आता है चुनाव आता है तो किस तरीके से जितने भी राजनेता है जितनी भी राजनीतिक पार्टियां हैं वह किस तरीके से प्रचार-प्रसार करती है और बहुत सारी जुमलेबाज यहां होती है बहुत सारे आप को दिया जाता है लालच दिया जाता है आपसे बात किए जाते लेकिन सब टूट जाता इलेक्शन के बाद तो यह सब देखते हुए कोई भी पढ़ा लिखा आदमी जाना नहीं चाहता क्योंकि हम सभी जानते हैं कि पीठ पीछे हम किसी भी पॉलिटिक्स इन को क्या कहते हैं हम उन्हीं पर क्रिश्चियन को तवज्जो दे जो अपने देश के लिए काम करते हैं और ऐसा हमारे देश में बहुत ही रेयर देखने को मिलता है कि कोई भी हमारे देश के लिए अच्छा काम कर रहा हो तो पार्टी राजनीति कोई बुरी नहीं है लेकिन राजनेताओं से हमें चिढ़ है तो इसलिए थोड़ा सा प्रॉब्लम है हमें और इसलिए बहुत सारे लोग पढ़ लिखकर किसी और फील्ड में जाना चाहते हैं लेकिन राजनीति में नहीं जाना चाहते हैं कि राजनीति में जो लोग हैं वह भी बहुत ही पढ़े लिखे हैं लेकिन फिर भी जो इस समय की जो पी ली है वह बहुत ही कम इन सब चीजों में इंवॉल्व होना चाहती है धन्यवादHi Dikhi Politician Banana Galat Nahi Hai Politics Rajneeti Bahut Zaroori Hota Hai Kisi Desh Ki Vyavastha Ko Chalane Ke Liye Lekin Hamare Desh Mein Samasya Yeh Hai Ki Padhe Likhe Log Isliye Nahi Jaate Rajneeti Mein Kyonki Wah Sochte Ki Bharat Ki Jo Rajneeti Ho Bahut Hi Gandi Hai Sirf Kursi Ke Liye Aur Paison Ke Liye Rajneeti Hoti Hai Hamare Desh Mein Aisa Bahut Sare Logon Ka Manana Hai Ki Ve Mera Bhi Manana Hai Kyonki Hum Dekhte Hain Jab Bhi Election Aata Hai Chunav Aata Hai To Kis Tarike Se Jitne Bhi Raajneta Hai Jitni Bhi Raajnitik Partyian Hain Wah Kis Tarike Se Prachar Prasaar Karti Hai Aur Bahut Saree Jumlebaj Yahan Hoti Hai Bahut Sare Aap Ko Diya Jata Hai Lalach Diya Jata Hai Aapse Baat Kiye Jaate Lekin Sab Toot Jata Election Ke Baad To Yeh Sab Dekhte Huye Koi Bhi Padha Likha Aadmi Jana Nahi Chahta Kyonki Hum Sabhi Jante Hain Ki Peeth Piche Hum Kisi Bhi Politics In Ko Kya Kehte Hain Hum Unhin Par Christian Ko Tavajjo De Jo Apne Desh Ke Liye Kaam Karte Hain Aur Aisa Hamare Desh Mein Bahut Hi Reyar Dekhne Ko Milta Hai Ki Koi Bhi Hamare Desh Ke Liye Accha Kaam Kar Raha Ho To Party Rajneeti Koi Buri Nahi Hai Lekin Rajnetao Se Hume Chidh Hai To Isliye Thoda Sa Problem Hai Hume Aur Isliye Bahut Sare Log Padh Likhkar Kisi Aur Field Mein Jana Chahte Hain Lekin Rajneeti Mein Nahi Jana Chahte Hain Ki Rajneeti Mein Jo Log Hain Wah Bhi Bahut Hi Padhe Likhe Hain Lekin Phir Bhi Jo Is Samay Ki Jo P Lee Hai Wah Bahut Hi Kam In Sab Chijon Mein Invalwa Hona Chahti Hai Dhanyavad
Likes  12  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ज्यादातर शिक्षित भारतीय राजनीति में इसलिए भाग नहीं लेते हैं क्योंकि भारत में जो है वो तंत्र है मेरे विचार से जो अपन देखे वह जो डम कोसी की परिभाषा है वह यहां पर सही सार्थक शब्द नहीं है तो शिक्षित भारती...जवाब पढ़िये
ज्यादातर शिक्षित भारतीय राजनीति में इसलिए भाग नहीं लेते हैं क्योंकि भारत में जो है वो तंत्र है मेरे विचार से जो अपन देखे वह जो डम कोसी की परिभाषा है वह यहां पर सही सार्थक शब्द नहीं है तो शिक्षित भारतीय विचारे जानते हैं कि हमारी चलने वाली नहीं कि भारतीय राजनीति आपाधापी की राजनीति भ्रष्टाचार से परिपूर्ण राजनीति इंक्लूडिंग में सभी दलों के बारे में कहना चाह रहा हूं सभी दलों में आपाधापी दे पाएंगे आप सभी सभी दल एक दूसरे को ब्रिटिश गालियां देते हैं कि आपस में कुर्सियां फेंकते हैं यह एक दूसरे को अनशन बोलते हैं पर सुतल जीवन में ताल जांच करते हैं एक दूसरे के बारे में अंचल बुरी भावना से बुरे शब्दों से खुलेआम मंचों पर बोलते हैं तो शिक्षित बिचारा जानता है इस बात को कि मेरी छीछालेदर कराने से मतलब क्या है इसलिए हर शिक्षित व्यक्ति इस राजनीति के दलदल से दूर करता है और जो लोग शिक्षित कुछ लोग राजनीति में हम भी उन विचारों को कोई महत्व नहीं देता है वह एक कोने में पड़े रहते हैं उनके कोई विचारों को भी सुनता है क्यों किया तो भीड़ तंत्र है यहां तो एक तरह से मौत से रिलेटेड नेता हैं उनकी कॉपी चलती है उसका कारण क्या है उसका कारण सिर्फ यही है जो उस भीड़ तंत्र में जितने अधिक वोटर लगता है इसी के कारण जातिवाद फैलाए हुए धर्म बाद की राजनीति करते हैं जबकि विदेशों में ऐसा नहीं विदेशों की राजनीति में आप पाएंगे जब देश का मुद्दा है रक्षा का मुद्दा है वहां पर सभी को एक मंच पर होते हैं चेक पक्ष हो या विपक्ष हो कि हमारे यहां पर तो विपक्ष में होने का मतलब यह है कि सरकार की आलोचना करनी है क्या उचित है या अनुचित है जबकि उचित के लिए सराहना भी करनी चाहिए और अनुचित के लिए निंदा करनी चाहिए एक सिक्का सही पैटर्न होता है क्योंकि राजनीति में नहीं हैJyadatar Shikshit Bharatiya Rajneeti Mein Isliye Bhag Nahi Lete Hain Kyonki Bharat Mein Jo Hai Vo Tantra Hai Mere Vichar Se Jo Apan Dekhe Wah Jo Dam Kosi Ki Paribhasha Hai Wah Yahan Par Sahi Sarthak Shabdh Nahi Hai To Shikshit Bharatiya Vichaare Jante Hain Ki Hamari Chalne Wali Nahi Ki Bharatiya Rajneeti Apadhapi Ki Rajneeti Bhrashtachar Se Paripurna Rajneeti Inkluding Mein Sabhi Dalon Ke Bare Mein Kehna Chah Raha Hoon Sabhi Dalon Mein Apadhapi De Payenge Aap Sabhi Sabhi Dal Ek Dusre Ko British Galiya Dete Hain Ki Aapas Mein Kursiyan Phenkate Hain Yeh Ek Dusre Ko Anshan Bolte Hain Par Sutal Jeevan Mein Taal Janch Karte Hain Ek Dusre Ke Bare Mein Anchal Buri Bhavna Se Bure Shabdon Se Khuleaam Mancho Par Bolte Hain To Shikshit Bichara Jaanta Hai Is Baat Ko Ki Meri Chichaledar Karane Se Matlab Kya Hai Isliye Har Shikshit Vyakti Is Rajneeti Ke Duldula Se Dur Karta Hai Aur Jo Log Shikshit Kuch Log Rajneeti Mein Hum Bhi Un Vicharon Ko Koi Mahatva Nahi Deta Hai Wah Ek Kone Mein Pade Rehte Hain Unke Koi Vicharon Ko Bhi Sunta Hai Kyon Kiya To Bheed Tantra Hai Yahan To Ek Tarah Se Maut Se Related Neta Hain Unki Copy Chalti Hai Uska Kaaran Kya Hai Uska Kaaran Sirf Yahi Hai Jo Us Bheed Tantra Mein Jitne Adhik Voter Lagta Hai Isi Ke Kaaran Jaatiwad Failaye Huye Dharm Baad Ki Rajneeti Karte Hain Jabki Videshon Mein Aisa Nahi Videshon Ki Rajneeti Mein Aap Payenge Jab Desh Ka Mudda Hai Raksha Ka Mudda Hai Wahan Par Sabhi Ko Ek Manch Par Hote Hain Check Paksh Ho Ya Vipaksh Ho Ki Hamare Yahan Par To Vipaksh Mein Hone Ka Matlab Yeh Hai Ki Sarkar Ki Aalochana Karni Hai Kya Uchit Hai Ya Anuchit Hai Jabki Uchit Ke Liye Sarahana Bhi Karni Chahiye Aur Anuchit Ke Liye Ninda Karni Chahiye Ek Sikka Sahi Pattern Hota Hai Kyonki Rajneeti Mein Nahi Hai
Likes  11  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे नहीं लगता है कि जो शिक्षित भारतीय हैं वह राजनीति में नहीं आती अगर आप जानकारी निकालेंगे तो आपको बहुत सारे पॉलिटिशन पैसे मिल जाएंगे जिन्होंने डॉक्टर किया है बहुत सारे आईएएस ऑफिसर्स मिल जाएंगे बहुत ...जवाब पढ़िये
मुझे नहीं लगता है कि जो शिक्षित भारतीय हैं वह राजनीति में नहीं आती अगर आप जानकारी निकालेंगे तो आपको बहुत सारे पॉलिटिशन पैसे मिल जाएंगे जिन्होंने डॉक्टर किया है बहुत सारे आईएएस ऑफिसर्स मिल जाएंगे बहुत सारे एमबीबीएस डॉक्टर से मिल जाएंगे आपको लेकिन ऐसा होता है कि जब राजनीति में आते हैं तो वह अपना जो नॉलेज है जो उनकी डिग्री के कारण जून को नॉलेज मिलता है उसका पूरी तरीके से उपयोग नहीं कर पाते वह अपनी डिग्री को जस्टिफाई नहीं कर पाते हैं आजकल की राजनीति ऐसी हो गई है कि उसमें बहुत सारा छल कपट और कूटनीति होती है तो कुछ लोग तो करना ही नहीं चाहते और जो अपने ना नॉलेज को राजनीति में लाना चाहते हैं या किसी का उद्धार करना चाहते हैं उनको बाकी लोग एलाऊ नहीं करते हैं और वह उसी माहौल में आरंभ जाते हैं तो आम जनता को यही लगता है कि यह राजनीतिज्ञ शिक्षित होते हैं लेकिन ऐसा नहीं हैMujhe Nahi Lagta Hai Ki Jo Shikshit Bharatiya Hain Wah Rajneeti Mein Nahi Aati Agar Aap Jankari Nikalenge To Aapko Bahut Sare Politician Paise Mil Jaenge Jinhone Doctor Kiya Hai Bahut Sare IAS Officers Mil Jaenge Bahut Sare MBBS Doctor Se Mil Jaenge Aapko Lekin Aisa Hota Hai Ki Jab Rajneeti Mein Aate Hain To Wah Apna Jo Knowledge Hai Jo Unki Degree Ke Kaaran June Ko Knowledge Milta Hai Uska Puri Tarike Se Upyog Nahi Kar Paate Wah Apni Degree Ko Justify Nahi Kar Paate Hain Aajkal Ki Rajneeti Aisi Ho Gayi Hai Ki Usamen Bahut Saara Chal Kapat Aur Kutneeti Hoti Hai To Kuch Log To Karna Hi Nahi Chahte Aur Jo Apne Na Knowledge Ko Rajneeti Mein Lana Chahte Hain Ya Kisi Ka Uddhar Karna Chahte Hain Unko Baki Log Elaoo Nahi Karte Hain Aur Wah Ussi Maahaul Mein Aarambh Jaate Hain To Aam Janta Ko Yahi Lagta Hai Ki Yeh Rajanitigya Shikshit Hote Hain Lekin Aisa Nahi Hai
Likes  4  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी पॉलिटिक्स ही शिक्षित और योग के लोगों के लिए नहीं आई है अभी इस भाई से उसमें शामिल नहीं होते जबकि यह कोई प्रोफेशन नहीं है बल्कि नीतियों के निर्माण के लिए एक अधिकार प्राप्त कर लेना अगर ज्यादा से ज्या...जवाब पढ़िये
अभी पॉलिटिक्स ही शिक्षित और योग के लोगों के लिए नहीं आई है अभी इस भाई से उसमें शामिल नहीं होते जबकि यह कोई प्रोफेशन नहीं है बल्कि नीतियों के निर्माण के लिए एक अधिकार प्राप्त कर लेना अगर ज्यादा से ज्यादा शिक्षित लोग राजनीति में हिस्सा लेंगे तो निश्चित तौर पर बहुत अच्छी स्थिति होगी डेमोक्रेसी विशाल है विश्वसनीय भी हो जाए थैंक यूAbhi Politics Hi Shikshit Aur Yog Ke Logon Ke Liye Nahi I Hai Abhi Is Bhai Se Usamen Shaamil Nahi Hote Jabki Yeh Koi Profession Nahi Hai Balki Nitiyon Ke Nirmaan Ke Liye Ek Adhikaar Prapt Kar Lena Agar Zyada Se Zyada Shikshit Log Rajneeti Mein Hissa Lenge To Nishchit Taur Par Bahut Acchi Sthiti Hogi Democracy Vishal Hai Viswasniya Bhi Ho Jaye Thank You
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Aisa Kyun Hota Hai Ki Jyaadatar Shikshit Bharatiya Rajneeti Mein Bhag Nahi Lete Hain, Why Is It That Most Of The Educated Indians Do Not Participate In Politics?

vokalandroid