NGO 's के द्वारा बैंक खातें खोलने से भारत की मदद कैसे होगी? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां बिलकुल NGO उसके द्वारा बैंक खाता खोलने से भारत को मदद मिलेगी क्योंकि ज्यादातर NGO उसको पैसा अन्य देशों से मिलता है अगर पैसा होता है तो यह पारदर्शी हो जाएगा कि पैसा कहां से आ रहा है किसके लिए आ ...जवाब पढ़िये
जी हां बिलकुल NGO उसके द्वारा बैंक खाता खोलने से भारत को मदद मिलेगी क्योंकि ज्यादातर NGO उसको पैसा अन्य देशों से मिलता है अगर पैसा होता है तो यह पारदर्शी हो जाएगा कि पैसा कहां से आ रहा है किसके लिए आ रहा है और कहां इस्तेमाल हो रहा है सरकार बैंक रिकॉर्ड से ऊपर पूरी तरह नजर आएगी और राज्य में बैंकों में सरकारी बैंक में नए अकाउंट खुलेंगेJi Haan Bilkul NGO Uske Dwara Bank Khaata Kholne Se Bharat Ko Madad Milegi Kyonki Jyadatar NGO Usko Paisa Anya Deshon Se Milta Hai Agar Paisa Hota Hai To Yeh Pardarshi Ho Jayega Ki Paisa Kahan Se Aa Raha Hai Kiske Liye Aa Raha Hai Aur Kahan Istemal Ho Raha Hai Sarkar Bank Record Se Upar Puri Tarah Nazar Aayegi Aur Rajya Mein Bankon Mein Sarkari Bank Mein Naye Account Khulenge
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए सर सरकार ने एनजीओ से मूल बैंकिंग प्रारूप में बैंक खाता खोलने को कहा है इससे गैर सरकारी संगठनों पर और राज्य सरकार द्वारा गड़बड़ी करने वाले एनजीओ स्पर्श तक लगाम लगेगा इस भारत की मदद तो जरूर होगी क...जवाब पढ़िये
देखिए सर सरकार ने एनजीओ से मूल बैंकिंग प्रारूप में बैंक खाता खोलने को कहा है इससे गैर सरकारी संगठनों पर और राज्य सरकार द्वारा गड़बड़ी करने वाले एनजीओ स्पर्श तक लगाम लगेगा इस भारत की मदद तो जरूर होगी क्योंकि इनमें से बहुत सारी एनजीओ जैसी है जिनको बाहरी देशों से यानी विदेशों से चंदा मिलता है एक न्यूज़ के तहत ऐसा कहा गया है कि सरकार द्वारा अभी जांच की गई थी जिसमें यह पता चला कि इस NGO उसके सहकारी बैंक में या राज्य सरकार वाली स्वामित्व वाली बैंक में कहीं भी खाते नहीं है तो सरकार का एनजीओ द्वारा बैंक खाता खोलने का कदम सही है क्योंकि अभी ऐसा होगा कि एनजीओज के सारे पैसे अभी यहां के बैंकों में जमा होंगे और मैं भी भारत की इकोनॉमी के लिए भी यह अच्छा हो सकता हैDekhie Sar Sarkar Ne Ngo Se Mul Banking Prarup Mein Bank Khaata Kholne Ko Kaha Hai Isse Gair Sarkari Sangathano Par Aur Rajya Sarkar Dwara Gadbadi Karne Wale Ngo Sparsh Tak Lagaam Lagega Is Bharat Ki Madad To Jarur Hogi Kyonki Inme Se Bahut Saree Ngo Jaisi Hai Jinako Baahri Deshon Se Yani Videshon Se Chanda Milta Hai Ek News Ke Tahat Aisa Kaha Gaya Hai Ki Sarkar Dwara Abhi Janch Ki Gayi Thi Jisme Yeh Pata Chala Ki Is NGO Uske Sahkari Bank Mein Ya Rajya Sarkar Wali Swamitwa Wali Bank Mein Kahin Bhi Khate Nahi Hai To Sarkar Ka Ngo Dwara Bank Khaata Kholne Ka Kadam Sahi Hai Kyonki Abhi Aisa Hoga Ki Enajioj Ke Sare Paise Abhi Yahan Ke Bankon Mein Jama Honge Aur Main Bhi Bharat Ki Economy Ke Liye Bhi Yeh Accha Ho Sakta Hai
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोहरम दिखे तो होम मिनिस्ट्री ऑफ यूनियन मिनिस्टर ऑफ स्टेट फॉर होम किरेन रिजिजू ने यह चीज बताई थी कि जितने NGO है या बिज़नस इन टाइटंस है या जितने भी लोग हैं जिन्हें बाहर से पंडित मिल रहे हैं यह कह सकते ...जवाब पढ़िये
मोहरम दिखे तो होम मिनिस्ट्री ऑफ यूनियन मिनिस्टर ऑफ स्टेट फॉर होम किरेन रिजिजू ने यह चीज बताई थी कि जितने NGO है या बिज़नस इन टाइटंस है या जितने भी लोग हैं जिन्हें बाहर से पंडित मिल रहे हैं यह कह सकते हो भारत को छोड़कर बाकी देशों से स्वर्ण जो मिल रहे हैं उन्हें अकाउंट खोलना पड़ेगा सरकार ने 132 बैंक की लिस्ट दिया जा पर एनजीओ जा बिजनेस एनटीटी या फिर वह लोग जिंहें फंड बाहर से मिलता है वह 32 बैंकों में अपना अकाउंट खोलेंगे जिनमें से एक फॉरेन बैंक के 1 महीने के अंदर मेरे हिसाब से यह इसलिए उन्होंने भारत भर से कर रहे हैं ऐसा किया है ताकि इससे ट्रांसपेरेंसी रहे और इसे सरकार देख पर कितने पैसे कहा से मिल रहा है किससे मिल रहा है और कितना मिल रहा है क्योंकि अगर हम देखें पहले कैसे एनजीओ को बहुत सारे फल मिलते थे और इसे घोटाले वह भी सकते थे इस सेट टॉप देना भी NGO और टाइम देने से भी भक्त होता तो मेरे हिसाब से NGO के द्वारा बैंक खाते बोलने से भारत को बहुत मदद मिलेगी इससे ट्रांसफर ऐसे लेवल बढ़ जाएगा और इसे भारत को पता चलेगा कि इनमें से क्या फर्क इस साल इस्तेमाल हो रहा है या फिर ओपन से ऐसे कोई गतिविधिया तो नहीं हो रही जगदीश के खिलाफ होMohram Dikhe To Home Ministry Of Union Minister Of State For Home Kiren Rijiju Ne Yeh Cheez Batai Thi Ki Jitne NGO Hai Ya Business In Taitans Hai Ya Jitne Bhi Log Hain Jinhen Bahar Se Pandit Mil Rahe Hain Yeh Keh Sakte Ho Bharat Ko Chodkar Baki Deshon Se Swarn Jo Mil Rahe Hain Unhen Account Kholna Padega Sarkar Ne 132 Bank Ki List Diya Ja Par Ngo Ja Business Ntt Ya Phir Wah Log Jinhen Fund Bahar Se Milta Hai Wah 32 Bankon Mein Apna Account Kholeange Jinmein Se Ek Foreign Bank Ke 1 Mahine Ke Andar Mere Hisab Se Yeh Isliye Unhone Bharat Bhar Se Kar Rahe Hain Aisa Kiya Hai Taki Isse Transparency Rahe Aur Ise Sarkar Dekh Par Kitne Paise Kaha Se Mil Raha Hai Kisse Mil Raha Hai Aur Kitna Mil Raha Hai Kyonki Agar Hum Dekhen Pehle Kaise Ngo Ko Bahut Sare Fal Milte The Aur Ise Ghotale Wah Bhi Sakte The Is Set Top Dena Bhi NGO Aur Time Dene Se Bhi Bhakt Hota To Mere Hisab Se NGO Ke Dwara Bank Khate Bolne Se Bharat Ko Bahut Madad Milegi Isse Transfer Aise Level Badh Jayega Aur Ise Bharat Ko Pata Chalega Ki Inme Se Kya Fark Is Saal Istemal Ho Raha Hai Ya Phir Open Se Aise Koi Gatividhiya To Nahi Ho Rahi Jagdish Ke Khilaf Ho
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: NGO 's Ke Dwara Bank Khaten Kholne Se Bharat Ki Madad Kaise Hogi, How Can India Help By Opening Bank Accounts Through NGO's?

vokalandroid