भारत में एक महिला होने की सबसे बुरी बात क्या है? ...

500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राधा मैं हूं आपके साथ हूं जहां तू समझती हो और मुझे बेहद दुख और महिलाओं में हम किसी से कम नहीं है और जो मर्द ने वह महिलाओं को दबाने की कोशिश करते हैं तो मैं बस इतना कहना चाहूंगी कि जितनी भी महिलाएं कभी अपने आप को किसी से कम ना समझे और किसी भी महिला से अपने आप को देना क्योंकि हमेशा सही सवाल करें और अपने आप को कभी किसी से कम ना समझे यह भारत बहुत ही प्यारा देश है और यहां पर जो महिलाएं हैं इस जलती है और लाउड फील करती हूं कि मैं भारत जैसे देश में एक महिला और मैं तो चाहती हूं अपने मन से यह काम कर पाती हूं अपने परिवार के साथ सोते हैं तो मुझे लगता है कि अगर भारत जैसे देश में ऐसी कोई बात नहीं है क्या
राधा मैं हूं आपके साथ हूं जहां तू समझती हो और मुझे बेहद दुख और महिलाओं में हम किसी से कम नहीं है और जो मर्द ने वह महिलाओं को दबाने की कोशिश करते हैं तो मैं बस इतना कहना चाहूंगी कि जितनी भी महिलाएं कभी अपने आप को किसी से कम ना समझे और किसी भी महिला से अपने आप को देना क्योंकि हमेशा सही सवाल करें और अपने आप को कभी किसी से कम ना समझे यह भारत बहुत ही प्यारा देश है और यहां पर जो महिलाएं हैं इस जलती है और लाउड फील करती हूं कि मैं भारत जैसे देश में एक महिला और मैं तो चाहती हूं अपने मन से यह काम कर पाती हूं अपने परिवार के साथ सोते हैं तो मुझे लगता है कि अगर भारत जैसे देश में ऐसी कोई बात नहीं है क्या
Likes  56  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है कि बात कुछ भी नहीं अच्छी बात है अब दिलाओ का हमेशा सम्मान है संस्कृति में हमारे घर में अर्दली समाहित लेकिन धीरे-धीरे हम जो बाहर की विचारधारा से प्रभावित होते चले गए उसके क्वेश्चन धीरे धीरे मतलब जो कम हो रही है इसलिए लोग महिलाओं को यह लगता है कि वह बंधन में है कि हुई है वह आगे नहीं बढ़ सकती है इस पूरी धरती और आपके अंदर यह नहीं है कि लोग क्या कहेंगे तो आपको बढ़ने से आगे कोई नहीं रोक सकता है प्रॉब्लम सबसे बड़ी यही आती है कि वह खुद ही अपनी सोच में पड़ी हुई है जिससे उनको लगता है कि समाज को आगे नहीं बढ़ने दे रहा है
मुझे लगता है कि बात कुछ भी नहीं अच्छी बात है अब दिलाओ का हमेशा सम्मान है संस्कृति में हमारे घर में अर्दली समाहित लेकिन धीरे-धीरे हम जो बाहर की विचारधारा से प्रभावित होते चले गए उसके क्वेश्चन धीरे धीरे मतलब जो कम हो रही है इसलिए लोग महिलाओं को यह लगता है कि वह बंधन में है कि हुई है वह आगे नहीं बढ़ सकती है इस पूरी धरती और आपके अंदर यह नहीं है कि लोग क्या कहेंगे तो आपको बढ़ने से आगे कोई नहीं रोक सकता है प्रॉब्लम सबसे बड़ी यही आती है कि वह खुद ही अपनी सोच में पड़ी हुई है जिससे उनको लगता है कि समाज को आगे नहीं बढ़ने दे रहा है
Likes  21  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में महिलाओं ने की सबसे बड़ी बात है कि भारत की महिलाओं को परदे का स्थान मिलता है और पुरुष के बराबरी का स्थान नहीं मिलता है लड़के कॉमेडी जाती है लड़कियों को लड़कियों को नहीं तो इसलिए हमारे भारत का विकास जो है धीमी गति से हो रहा है कि क्या मर्ज सोच है वह गलत है हमारे हमने हमें स्वतंत्रता मिली है हम चांद पर गए हम 21वीं सदी में रह रहे हैं फिर भी हमारे जो विचार है वही पुराना और घटिया किस्म के हैं मतलब हमारे जो महिला है घर के महत्वपूर्ण पात्र होती है उसे हम मंदिर में देवी के रूप में जब उसको प्रताप ना करते हैं तो पूछते हैं लेकिन उसे जीवित महिला जो हमारे घर में मौजूद होती है उसके प्रति हमारा जो रवैया होता है वह वह अलग होता है मतलब मुझ को सलमान नहीं देते हैं हम किसी योग्य नहीं समझते हैं वह कोई निर्णय नहीं ले सकती है हम उसको उसको मारते हैं उसको पीटते हैं और उसको पैर की जूती हम समझते हैं इस प्रकार का असमान महिलाओं को दिया जाता है मतलब हम बेजान और बेजान चीजों को जो मंदिर में मूर्तियों को ज्यादा अहमियत देते हैं और हमारे घर में मौजूद जीवित चीजों को हम दूर लक्षित करते हैं तो कितनी गलत बात हुई मतलब हमें हमें आप आंखों पर भी हम बंदे हैं कौन हो कर भी हम बहरे हैं और शिक्षित होकर भी हम अनपढ़ देते हुए कि नहीं हुए तो मेरे ख्याल से महिलाओं को हर प्रकार के विकास की संधि उपलब्ध करा देनी चाहिए और उन्हें सम्मान मिलना चाहिए और विकास की दृष्टि से हमारी सोच
भारत में महिलाओं ने की सबसे बड़ी बात है कि भारत की महिलाओं को परदे का स्थान मिलता है और पुरुष के बराबरी का स्थान नहीं मिलता है लड़के कॉमेडी जाती है लड़कियों को लड़कियों को नहीं तो इसलिए हमारे भारत का विकास जो है धीमी गति से हो रहा है कि क्या मर्ज सोच है वह गलत है हमारे हमने हमें स्वतंत्रता मिली है हम चांद पर गए हम 21वीं सदी में रह रहे हैं फिर भी हमारे जो विचार है वही पुराना और घटिया किस्म के हैं मतलब हमारे जो महिला है घर के महत्वपूर्ण पात्र होती है उसे हम मंदिर में देवी के रूप में जब उसको प्रताप ना करते हैं तो पूछते हैं लेकिन उसे जीवित महिला जो हमारे घर में मौजूद होती है उसके प्रति हमारा जो रवैया होता है वह वह अलग होता है मतलब मुझ को सलमान नहीं देते हैं हम किसी योग्य नहीं समझते हैं वह कोई निर्णय नहीं ले सकती है हम उसको उसको मारते हैं उसको पीटते हैं और उसको पैर की जूती हम समझते हैं इस प्रकार का असमान महिलाओं को दिया जाता है मतलब हम बेजान और बेजान चीजों को जो मंदिर में मूर्तियों को ज्यादा अहमियत देते हैं और हमारे घर में मौजूद जीवित चीजों को हम दूर लक्षित करते हैं तो कितनी गलत बात हुई मतलब हमें हमें आप आंखों पर भी हम बंदे हैं कौन हो कर भी हम बहरे हैं और शिक्षित होकर भी हम अनपढ़ देते हुए कि नहीं हुए तो मेरे ख्याल से महिलाओं को हर प्रकार के विकास की संधि उपलब्ध करा देनी चाहिए और उन्हें सम्मान मिलना चाहिए और विकास की दृष्टि से हमारी सोच
Likes  11  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में महिला होना कोई बुरी बात नहीं है अब महिलाओं को भी अधिकार होने लगा आरक्षण मिलने लगा मल्ली महिलाएं अब पहले से काफी मतलब सक्सेस होने लगी बहुत सारे अंतर भी दिखने लगे
भारत में महिला होना कोई बुरी बात नहीं है अब महिलाओं को भी अधिकार होने लगा आरक्षण मिलने लगा मल्ली महिलाएं अब पहले से काफी मतलब सक्सेस होने लगी बहुत सारे अंतर भी दिखने लगे
Likes  14  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में एक महिला होने की सबसे बुरी बात यह है कि उसे देश को प्रगति नहीं होगी क्योंकि आजकल के दौर में महिला ही सबसे आगे रहती है इसलिए अगर एक ही महिला रहे तो देश की प्रगति रुक जाएगी इसलिए अनेक महिला की होना जरूरी है धन्यवाद एंड थैंक यू फॉर यू
भारत में एक महिला होने की सबसे बुरी बात यह है कि उसे देश को प्रगति नहीं होगी क्योंकि आजकल के दौर में महिला ही सबसे आगे रहती है इसलिए अगर एक ही महिला रहे तो देश की प्रगति रुक जाएगी इसलिए अनेक महिला की होना जरूरी है धन्यवाद एंड थैंक यू फॉर यू
Likes  15  Dislikes
WhatsApp_icon
Likes  7  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Bharat Mein Ek Mahila Hone Ki Sabse Buri Baat Kya Hai,


vokalandroid