BJP और कांग्रेस के अलावा तीसरा मोर्चा क्या राजस्थान में आ सकता है क्या ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राजनीतिक दृष्टि से किसी भी आने वाले चुनाव पर पिछले चुनावों का गहरा असर दिखा जाता है और जब बात राज्यों के चुनाव की हो तो यह बात और भी सटीक साबित होती है अगर हम राजस्थान के पिछले यानी कि 2013 के चुनावी ...
जवाब पढ़िये
राजनीतिक दृष्टि से किसी भी आने वाले चुनाव पर पिछले चुनावों का गहरा असर दिखा जाता है और जब बात राज्यों के चुनाव की हो तो यह बात और भी सटीक साबित होती है अगर हम राजस्थान के पिछले यानी कि 2013 के चुनावी नतीजों पर गौर करें तो यह पाएंगे कि भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के अलावा और कोई पार्टी दहाई के आंकड़े को भी पता कर पाई पिछले चुनावों में जहां भारतीय जनता पार्टी को 163 सीटों पर विजय प्राप्त हुई वहीं कांग्रेस को महज 21 सीटों से ही संतोष करना पड़ा 2018 में होने वाले राज्य चुनाव में हम यह तो नहीं कह सकते कि भारतीय जनता पार्टी पर फिर सरकार बनाएगी या कांग्रेस पर सत्ता पर आसीन होगी लेकिन एक बात तय मानी जा रही है कि और कोई पार्टी दूर-दूर तक यहां दिखाई नहीं देती पर फिर अगर आज राजस्थान का राजनीतिक इतिहास भी देखा जाए तो यहां आना तो ले कम्युनिस्ट पार्टी जैसे लेफ्ट एक्टिवेट एक्टिविस्ट आप दिखाई देते हैं और ना ही आरजेडी और एनसीपी जैसी तीसरे मोर्चे की पार्टियां अपनी मौजूदगी दर्ज करा पाएंगे और रही बात आम आदमी पार्टी की तो बिना तैयारी के आम आदमी पार्टी की सभी सीटों पर जमानत जप्त होना तय है विशेषकर तब जबकि चुनाव में 1 वर्ष से भी कम समय का समय बाकी है अंत में हम इसी निष्कर्ष पर पहुंचते हैं कि राजस्थान के समक्ष भारतीय जनता पार्टी या कांग्रेस के अलावा और कोई तीसरा विकल्प उपलब्ध नहीं है धन्यवादRajnitik Drishti Se Kisi Bhi Aane Wale Chunav Par Pichle Chunavon Ka Gehra Asar Dikha Jata Hai Aur Jab Baat Rajyo Ke Chunav Ki Ho To Yeh Baat Aur Bhi Sateek Saabit Hoti Hai Agar Hum Rajasthan Ke Pichle Yani Ki 2013 Ke Chunavi Nateezon Par Gaur Karen To Yeh Paenge Ki Bhartiya Janta Party Aur Congress Ke Alava Aur Koi Party Dahaai Ke Aankde Ko Bhi Pata Kar Payi Pichle Chunavon Mein Jahan Bhartiya Janta Party Ko 163 Seaton Par Vijay Prapt Hui Wahin Congress Ko Mahaj 21 Seaton Se Hi Santosh Karna Pada 2018 Mein Hone Wale Rajya Chunav Mein Hum Yeh To Nahi Keh Sakte Ki Bhartiya Janta Party Par Phir Sarkar Banaegi Ya Congress Par Satta Par Aaseen Hogi Lekin Ek Baat Tay Maani Ja Rahi Hai Ki Aur Koi Party Dur Dur Tak Yahan Dikhai Nahi Deti Par Phir Agar Aaj Rajasthan Ka Rajnitik Itihas Bhi Dekha Jaye To Yahan Aana To Le Communist Party Jaise Left Activate Activist Aap Dikhai Dete Hain Aur Na Hi Rjd Aur Enasipi Jaisi Tisare Morch Ki Partyian Apni Maujudgi Darj Kra Paenge Aur Rahi Baat Aam Aadmi Party Ki To Bina Taiyari Ke Aam Aadmi Party Ki Sabhi Seaton Par Jamanat Japt Hona Tay Hai Visheshkar Tab Jabki Chunav Mein 1 Varsh Se Bhi Kum Samay Ka Samay Baki Hai Ant Mein Hum Isi Nishkarsh Par Pahunchate Hain Ki Rajasthan Ke Samaksh Bhartiya Janta Party Ya Congress Ke Alava Aur Koi Teesra Vikalp Uplabdha Nahi Hai Dhanyavad
Likes  24  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल आ सकता है क्योंकि राजनीति में असंभव शब्द नहीं होता है कि हमने देखा भी है पहले और अभी हाल ही में हमने देखा कि मिजोरम में पार्टियों के खिलाफ जाकर अपनी अपनी पार्टी के खिलाफ जांच के भी BJP और कांग...
जवाब पढ़िये
बिल्कुल आ सकता है क्योंकि राजनीति में असंभव शब्द नहीं होता है कि हमने देखा भी है पहले और अभी हाल ही में हमने देखा कि मिजोरम में पार्टियों के खिलाफ जाकर अपनी अपनी पार्टी के खिलाफ जांच के भी BJP और कांग्रेस में जिला परिषद के सीट पर कब्जा किया है मिलकर किसके लिए थर्ड फ्रंट को रोकने के लिए राजनीति है भाई बस एकजुट होने की जरूरत है अपनी अपनी निजी महत्वकांक्षाएं जो है उन को त्यागने की जरूरत है और यह राजस्थान में ही नहीं पूरे भारत में संभोग आज तक ऐसे कई प्रयास भी हुए हैं लेकिन ना एंड ऑफ़ डे होता यह है कि कहीं ना कहीं इन नेताओं की अपने स्वार्थ अपनी राजनीतिक जो महत्वकांक्षाएं हैं अपना जोक कब है यह सब आड़े आ जाते हैं समझौता करने में एक थर्ड फ्रंट बनाने में मुझे लगता है कि यही चीजें धीरे धीरे सुधर भी रही है जैसे अभी के सी आर जी कॉलेज से मिले ममता बनर्जी को भी फोन किया उन्होंने कवायद जारी है राजनीति में कुछ भी असंभव नहीं है बन सकता है और शायद हम लोग देख भी पाए उसकोBilkul Aa Sakta Hai Kyonki Rajneeti Mein Asambhav Shabdh Nahi Hota Hai Ki Humne Dekha Bhi Hai Pehle Aur Abhi Haal Hi Mein Humne Dekha Ki Mizoram Mein Partiyon Ke Khilaf Jaakar Apni Apni Party Ke Khilaf Janch Ke Bhi BJP Aur Congress Mein Jila Parishad Ke Seat Par Kabja Kiya Hai Milkar Kiske Liye Third Frant Ko Rokne Ke Liye Rajneeti Hai Bhai Bus Ekjoot Hone Ki Zaroorat Hai Apni Apni Niji Mahatwakankshaen Jo Hai Un Ko Tyagane Ki Zaroorat Hai Aur Yeh Rajasthan Mein Hi Nahi Poore Bharat Mein Sambhog Aaj Tak Aise Kai Prayas Bhi Hue Hain Lekin Na End Of Day Hota Yeh Hai Ki Kahin Na Kahin In Netaon Ki Apne Swartha Apni Rajnitik Jo Mahatwakankshaen Hain Apna Joke Kab Hai Yeh Sab Ade Aa Jaate Hain Samjhauta Karne Mein Ek Third Frant Banane Mein Mujhe Lagta Hai Ki Yahi Cheezen Dhire Dhire Sudhar Bhi Rahi Hai Jaise Abhi Ke Si R Ji College Se Mile Mamata Banerjee Ko Bhi Phone Kiya Unhone Kavayad Jaari Hai Rajneeti Mein Kuch Bhi Asambhav Nahi Hai Ban Sakta Hai Aur Shayad Hum Log Dekh Bhi Paye Usko
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर हम लोग पिछले चुनावों को मध्य नजर देखें, तो ऐसा नहीं लगता है कि,बीजेपी और कांग्रेस के अलावा, कोई दूसरी पार्टी का आने का राजस्थान के अंदर आने का कोई चांस है| पर अगर हम लोग देखें रिकॉर्ड को भी चेक कर...
जवाब पढ़िये
अगर हम लोग पिछले चुनावों को मध्य नजर देखें, तो ऐसा नहीं लगता है कि,बीजेपी और कांग्रेस के अलावा, कोई दूसरी पार्टी का आने का राजस्थान के अंदर आने का कोई चांस है| पर अगर हम लोग देखें रिकॉर्ड को भी चेक करें ,सब जगह दिखे तो हम यह देखेंगे कि आम आदमी पार्टी, जो उभरती हुई नई पार्टी है ,इसने काफी काम करा है| तो हम कह सकते हैं कि, आने वाले ५ साल १० साल के अंदर आम आदमी पार्टी को हम राजस्थान के अंदर देख सकते हैं| क्योंकि एक नई पार्टी है , उभरती हुई पार्टी है,लोग इस पर विश्वास करना शुरू कर चुके हैं|और इस टाइम पर अगर हम लोग देखे तो मोदी सरकार से सीधी इकोनोमी पे फर्क पड़ा है| पर इतना कोई फर्क नहीं पड़ा, जितना लोगों ने सोचा था कि बहुत ज्यादा बड़ा बदलाव आएगा| वही कांग्रेस से भी फरक पड़ा है, पर इतना बड़ा बदलाव दोनों में से कोई भी नहीं लेकर आ पाए हैं| तोह इसलिए एक तीसरी पार्टी ,आम आदमी पार्टी को हो सकता है कि, लोग एक चांस दे, उन्हें एक मौका दें ताकि एक बड़ा बदलाव आ सकें|Agar Hum Log Pichle Chunavon Ko Madhya Nazar Dekhen To Aisa Nahi Lagta Hai Ki Bjp Aur Congress Ke Alava Koi Dusri Party Ka Aane Ka Rajasthan Ke Andar Aane Ka Koi Chance Hai Par Agar Hum Log Dekhen Record Ko Bhi Check Karen Sab Jagah Dikhe To Hum Yeh Dekhenge Ki Aam Aadmi Party Jo Ubharti Hui Nayi Party Hai Isane Kafi Kaam Kra Hai To Hum Keh Sakte Hain Ki Aane Wale 5 Saal 10 Saal Ke Andar Aam Aadmi Party Ko Hum Rajasthan Ke Andar Dekh Sakte Hain Kyonki Ek Nayi Party Hai , Ubharti Hui Party Hai Log Is Par Vishwas Karna Shuru Kar Chuke Hain Aur Is Time Par Agar Hum Log Dekhe To Modi Sarkar Se Sidhi Ikonomi Pe Fark Pada Hai Par Itna Koi Fark Nahi Pada Jitna Logon Ne Socha Tha Ki Bahut Jyada Bada Badlav Aayega Wahi Congress Se Bhi Farak Pada Hai Par Itna Bada Badlav Dono Mein Se Koi Bhi Nahi Lekar Aa Paye Hain Toh Isliye Ek Teesri Party Aam Aadmi Party Ko Ho Sakta Hai Ki Log Ek Chance De Unhen Ek Mauka Dein Taki Ek Bada Badlav Aa Saken
Likes  3  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है कि राजस्थान के अंदर भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के अलावा किसी भी पार्टी का कोई एक डिस्टेंस है ही नहीं वहां अगर लाश की 20 सालों को भी आप एनालाइज करेंगे तो आपको पता को एक बार भाजपा की सर...
जवाब पढ़िये
मुझे लगता है कि राजस्थान के अंदर भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के अलावा किसी भी पार्टी का कोई एक डिस्टेंस है ही नहीं वहां अगर लाश की 20 सालों को भी आप एनालाइज करेंगे तो आपको पता को एक बार भाजपा की सरकार होती है दूसरी बार कांग्रेस ऑल्टरनेट गवर्नमेंट चेंज होती रहती तो मुझे नहीं लगता कि यह कभी फ्रैक्शन बैंडेड भी मिलेगा राजस्थान के अंदर किसी भी पार्टी को क्योंकि वहां का जो रिजल्ट आता है क्लीनस्वीप बाल आता है लास्ट टाइम कांग्रेस हारी थी तो भाजपा में बहुत ज्यादा सीटें जीती थी उससे पहले जब कांग्रेस जीती भाजपा कार्ड लिंक हुआ था तो मुझे नहीं लगता भाजपा और कांग्रेस के लाभ कभी भी थर्ड फ्रंट की बात राजस्थान जैसे प्रदेश के अंदर हो सकती है हां अगर हम ओवरऑल देखें हमारे देश के अंदर देखें तो डैडी इस बात इस बात के बारे में सोचा जा सकता है लेकिन राजस्थान के अंदर थर्ड फ्रंट का कोई मतलब है ही नहींMujhe Lagta Hai Ki Rajasthan Ke Andar Bhartiya Janta Party Aur Congress Ke Alava Kisi Bhi Party Ka Koi Ek Distance Hai Hi Nahi Wahan Agar Laash Ki 20 Salon Ko Bhi Aap Analyse Karenge To Aapko Pata Ko Ek Baar Bhajpa Ki Sarkar Hoti Hai Dusri Baar Congress Altaranet Government Change Hoti Rehti To Mujhe Nahi Lagta Ki Yeh Kabhi Fraction Bainded Bhi Milega Rajasthan Ke Andar Kisi Bhi Party Ko Kyonki Wahan Ka Jo Result Aata Hai Klinaswip Baal Aata Hai Last Time Congress Haari Thi To Bhajpa Mein Bahut Jyada Seaten Jeeti Thi Usse Pehle Jab Congress Jeeti Bhajpa Card Link Hua Tha To Mujhe Nahi Lagta Bhajpa Aur Congress Ke Labh Kabhi Bhi Third Frant Ki Baat Rajasthan Jaise Pradesh Ke Andar Ho Sakti Hai Haan Agar Hum Ovaraal Dekhen Hamare Desh Ke Andar Dekhen To Daddy Is Baat Is Baat Ke Baare Mein Socha Ja Sakta Hai Lekin Rajasthan Ke Andar Third Frant Ka Koi Matlab Hai Hi Nahi
Likes  6  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे ऐसा लगता है कि राजस्थान में कोई तीसरी पार्टी अपनी जीत दर्ज नहीं कर सकती है 2015 के चुनाव में राजस्थान में बीजेपी कांग्रेस से कई ज्यादा सीटों पर जीती थी किसी तीसरी पार्टी का तब भी कोई नामोनिशान नज...
जवाब पढ़िये
मुझे ऐसा लगता है कि राजस्थान में कोई तीसरी पार्टी अपनी जीत दर्ज नहीं कर सकती है 2015 के चुनाव में राजस्थान में बीजेपी कांग्रेस से कई ज्यादा सीटों पर जीती थी किसी तीसरी पार्टी का तब भी कोई नामोनिशान नजर नहीं आया 1 वर्ष की सीमित समय में किसी भी अन्य पार्टी का राजस्थान में चुनाव में बीजेपी और कांग्रेस के सामने जनाधार बनाना नामुमकिन है पिछले चुनाव के आधार पर भी यह निष्कर्ष निकलता है कि राजस्थान में दो ही पार्टी का वर्चस्व रहा है वह है बीजेपी और कांग्रेसMujhe Aisa Lagta Hai Ki Rajasthan Mein Koi Teesri Party Apni Jeet Darj Nahi Kar Sakti Hai 2015 Ke Chunav Mein Rajasthan Mein Bjp Congress Se Kai Jyada Seaton Par Jeeti Thi Kisi Teesri Party Ka Tab Bhi Koi Naamonishaan Nazar Nahi Aaya 1 Varsh Ki Simith Samay Mein Kisi Bhi Anya Party Ka Rajasthan Mein Chunav Mein Bjp Aur Congress Ke Samane Janadhar Banana Namumkin Hai Pichle Chunav Ke Aadhar Par Bhi Yeh Nishkarsh Nikalta Hai Ki Rajasthan Mein Do Hi Party Ka Verchasva Raha Hai Wah Hai Bjp Aur Congress
Likes  6  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर राजस्थान के इलेक्शन का आलेख देखा जाए तो बीजेपी और कांग्रेस छोड़कर कोई भी पार्टी है दूर-दूर तक नहीं दिखाई देती पिछले चुनाव में BJP 200 में से 163 सीट जीतकर कांग्रेस से 14216 थी अभी पिछले 15 वर्षों ...
जवाब पढ़िये
अगर राजस्थान के इलेक्शन का आलेख देखा जाए तो बीजेपी और कांग्रेस छोड़कर कोई भी पार्टी है दूर-दूर तक नहीं दिखाई देती पिछले चुनाव में BJP 200 में से 163 सीट जीतकर कांग्रेस से 14216 थी अभी पिछले 15 वर्षों से देखा जाए तो कांग्रेस के अशोक गहलोत और बीजेपी के वसुंधरा राजे इन में ही मुख्यमंत्री पद पर चुनौतियां है वैसे अभी राजस्थान के 2018 के इलेक्शन में BJP जीतेगा या कांग्रेस यह निश्चित रूप से कहना आसान नहीं होगा लेकिन बाकी कोई पार्टी तो राजस्थान पर विरासत नहीं होगी यह डेफिनेटली कर सकते हैं अभी देखा जाए तो आम आदमी पार्टी यहां अपनी जगह बनाने की कोशिश में है पर मुझे नहीं लगता कि वह इस में सफल होंगी इसलिए मेरे ख्याल में बीजेपी और कांग्रेस के अलावा तीसरा मोर्चा राजस्थान में नहीं आ सकताAgar Rajasthan Ke Election Ka Aalekh Dekha Jaye To Bjp Aur Congress Chodkar Koi Bhi Party Hai Dur Dur Tak Nahi Dikhai Deti Pichle Chunav Mein BJP 200 Mein Se 163 Seat Jeetkar Congress Se 14216 Thi Abhi Pichle 15 Varshon Se Dekha Jaye To Congress Ke Ashok Gehlot Aur Bjp Ke Vasundhara Raje In Mein Hi Mukhyamantri Pad Par Chunautiyaan Hai Waise Abhi Rajasthan Ke 2018 Ke Election Mein BJP Jeetega Ya Congress Yeh Nishchit Roop Se Kehna Aasan Nahi Hoga Lekin Baki Koi Party To Rajasthan Par Virasat Nahi Hogi Yeh Definetli Kar Sakte Hain Abhi Dekha Jaye To Aam Aadmi Party Yahan Apni Jagah Banane Ki Koshish Mein Hai Par Mujhe Nahi Lagta Ki Wah Is Mein Safal Hongi Isliye Mere Khayal Mein Bjp Aur Congress Ke Alava Teesra Morcha Rajasthan Mein Nahi Aa Sakta
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राजस्थान में एक अरसे से दोही पाटिया पॉवर में रहे हैं भैरव सिंह शेखावत के नेतृत्व में बीजेपी और श्री सुखाड़िया के नेतृत्व में कॉपी दोनों पार्टियां ही एक दूसरे के खिलाफ लड़ती रही है कभी bjp तो कभी कांग्...
जवाब पढ़िये
राजस्थान में एक अरसे से दोही पाटिया पॉवर में रहे हैं भैरव सिंह शेखावत के नेतृत्व में बीजेपी और श्री सुखाड़िया के नेतृत्व में कॉपी दोनों पार्टियां ही एक दूसरे के खिलाफ लड़ती रही है कभी bjp तो कभी कांग्रेस सत्ता में आई इन दोनों पार्टियों के अलावा अब तक तो कोई दूसरी पार्टी इतनी ताकतवर नहीं दिखती की सत्ता में आ सके बढ़ा आज के समय में आम आदमी पार्टी राजस्थान में काम करना शुरू कर दिया है और उन्होंने अपना पता खेलते हुए युवा पीढ़ी को ही नेतृत्व सौंपा है पर अभी इतनी ताकतवर नहीं बन पाएगी सरकार बना सके पर फ्री राजनीति है यह जनता कब किसका सत्ता पलट कर देख कोई नहीं कह सकता तो यह तो आने वाला समय ही बताएगा कि राजस्थान में सरकार किसकी बनेगी बट इस इलेक्शन में यह जरुर के सकती हूं कि कोई तीसरी पार्टी सत्ता में नहीं आ पाएगीRajasthan Mein Ek Arse Se Dohi Paatiya Power Mein Rahe Hain Bhairav Singh Shekhawat Ke Netritva Mein Bjp Aur Shri Sukhadiya Ke Netritva Mein Copy Dono Partyian Hi Ek Dusre Ke Khilaf Ladati Rahi Hai Kabhi Bjp To Kabhi Congress Satta Mein Eye In Dono Partiyon Ke Alava Ab Tak To Koi Dusri Party Itni Takatwar Nahi Dikhti Ki Satta Mein Aa Sake Badha Aaj Ke Samay Mein Aam Aadmi Party Rajasthan Mein Kaam Karna Shuru Kar Diya Hai Aur Unhone Apna Pata Khelte Hue Yuva Pidhi Ko Hi Netritva Saunpa Hai Par Abhi Itni Takatwar Nahi Ban Payegi Sarkar Bana Sake Par Free Rajneeti Hai Yeh Janta Kab Kiska Satta Palat Kar Dekh Koi Nahi Keh Sakta To Yeh To Aane Wala Samay Hi Batayega Ki Rajasthan Mein Sarkar Kiski Banegi But Is Election Mein Yeh Zaroor Ke Sakti Hoon Ki Koi Teesri Party Satta Mein Nahi Aa Payegi
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए इस समय जो स्थिति है वह बीजेपी से भी बहुत लोग खुश नहीं होंगे फैसलों से और कांग्रेस का तो फिर भी कुछ है ही नहीं तो इसलिए तीसरा मोर्चा को तीसरी पार्टी राजस्थानी और राज्यों में चुनाव होने वाले हैं व...
जवाब पढ़िये
देखिए इस समय जो स्थिति है वह बीजेपी से भी बहुत लोग खुश नहीं होंगे फैसलों से और कांग्रेस का तो फिर भी कुछ है ही नहीं तो इसलिए तीसरा मोर्चा को तीसरी पार्टी राजस्थानी और राज्यों में चुनाव होने वाले हैं वहां पर अभी आते हैं और मेहनत से चुनाव लड़ते हैं अच्छे काम करते हैं तो उनके लिए मौका हो सकता है इस समय किसी की तरफ पड़ा भारी नहीं आने वाले चुनावों में प्रीति को तीसरी पार्टी आती है जैसे दिल्ली में नई सरकार पर आप सरकार का गठन हो यदि कोई ऐसी पार्टी आती है तो उसके लिए मौका होगा बिल्कुल व्हाट इस समय किसी की भी पाले में गेंद नहीं है किसी भी राज्य के आने वाले चुनावों मेंDekhie Is Samay Jo Sthiti Hai Wah Bjp Se Bhi Bahut Log Khush Nahi Honge Faisalon Se Aur Congress Ka To Phir Bhi Kuch Hai Hi Nahi To Isliye Teesra Morcha Ko Teesri Party Rajasthani Aur Rajyo Mein Chunav Hone Wale Hain Wahan Par Abhi Aate Hain Aur Mehnat Se Chunav Ladtey Hain Acche Kaam Karte Hain To Unke Liye Mauka Ho Sakta Hai Is Samay Kisi Ki Taraf Pada Bhari Nahi Aane Wale Chunavon Mein Preeti Ko Teesri Party Aati Hai Jaise Delhi Mein Nayi Sarkar Par Aap Sarkar Ka Gathan Ho Yadi Koi Aisi Party Aati Hai To Uske Liye Mauka Hoga Bilkul What Is Samay Kisi Ki Bhi Paale Mein Gend Nahi Hai Kisi Bhi Rajya Ke Aane Wale Chunavon Mein
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए तीसरा मोर्चा बात ऐसी है कि आप कभी प्रोडक्ट नहीं कर सकते हो कभी भी कोई भी उठकर खड़ा हो सकता है और मेरे ख्याल से अगर आम आदमी पार्टी चाहे तो वह एक बहुत बड़ा अपना रोल निभा सकती है चुनाव में लेकिन उन...
जवाब पढ़िये
देखिए तीसरा मोर्चा बात ऐसी है कि आप कभी प्रोडक्ट नहीं कर सकते हो कभी भी कोई भी उठकर खड़ा हो सकता है और मेरे ख्याल से अगर आम आदमी पार्टी चाहे तो वह एक बहुत बड़ा अपना रोल निभा सकती है चुनाव में लेकिन उन्हें वहां पर अपनी रीच करना पड़ेगी और लोगों तक पहुंचना होगा उन्हें बताना होगी अपनी बात और हो सकता है आखिर तक शायद कुछ हो जाए तो इस बात से आप बिल्कुल मना भी नहीं कर सकता कि तीसरा मोर्चा नहीं हो सकता है और चाहे तो कोई भी खड़ा हो सकता है तो उससे कोई टिप्पणी तो की जाना बड़ी मुश्किलDekhie Teesra Morcha Baat Aisi Hai Ki Aap Kabhi Product Nahi Kar Sakte Ho Kabhi Bhi Koi Bhi Uthakar Khada Ho Sakta Hai Aur Mere Khayal Se Agar Aam Aadmi Party Chahe To Wah Ek Bahut Bada Apna Roll Nibha Sakti Hai Chunav Mein Lekin Unhen Wahan Par Apni Reach Karna Padegi Aur Logon Tak Pahunchana Hoga Unhen Batana Hogi Apni Baat Aur Ho Sakta Hai Aakhir Tak Shayad Kuch Ho Jaye To Is Baat Se Aap Bilkul Mana Bhi Nahi Kar Sakta Ki Teesra Morcha Nahi Ho Sakta Hai Aur Chahe To Koi Bhi Khada Ho Sakta Hai To Usse Koi Tippani To Ki Jana Badi Mushkil
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: BJP Aur Congress Ke Alava Teesra Morcha Kya Rajasthan Mein Aa Sakta Hai Kya, आम आदमी पार्टी राजस्थान

vokalandroid