क्या अटॉर्नी जनरल एक संवैधानिक पद होता है? ...

हां, अटॉर्नी जनरल एक संवैधानिक पद होता है। सॉलिसिटर जनरल और अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल की पद ही केवल वैधानिक हैं, जबकि भारत के लिए अटॉर्नी जनरल एक संवैधानिक पद होता है। जिससे कि कैबिनेट नियुक्ति समिति द्वारा नियुक्त किया जाता है ,जो भारत के संविधान के अनुच्छेद 76 के तहत एक संवैधानिक पद है।
Romanized Version
हां, अटॉर्नी जनरल एक संवैधानिक पद होता है। सॉलिसिटर जनरल और अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल की पद ही केवल वैधानिक हैं, जबकि भारत के लिए अटॉर्नी जनरल एक संवैधानिक पद होता है। जिससे कि कैबिनेट नियुक्ति समिति द्वारा नियुक्त किया जाता है ,जो भारत के संविधान के अनुच्छेद 76 के तहत एक संवैधानिक पद है। Haan Attorney General Ek Samvaidhanik Pad Hota Hai Solicitor General Aur Atirikt Solicitor General Ki Pad Hi Kewal Vaidhanik Hain Jabki Bharat Ke Liye Attorney General Ek Samvaidhanik Pad Hota Hai Jisse Ki Cabinet Niyukti Samiti Dwara Niyukt Kiya Jata Hai Jo Bharat Ke Samvidhan Ke Anuched 76 Ke Tahat Ek Samvaidhanik Pad Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Attorney General Ek Samvaidhanik Pad Hota Hai, Attorney General Ka Karyakal Kitna Hota Hai

vokalandroid