क्या भारत फिर से सोने की चिड़िया बन सकता है ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत एक बार फिर सोने की चिड़िया बन सकता है अगर भारतीय जनमानस जात पात धार्मिक भेदभाव और संकीर्ण मानसिकता से ऊपर उठकर राष्ट्र के लिए मिलकर काम करें यह तभी संभव है जब हम अच्छी सरकार चुने जाति के आधार पर ...
जवाब पढ़िये
भारत एक बार फिर सोने की चिड़िया बन सकता है अगर भारतीय जनमानस जात पात धार्मिक भेदभाव और संकीर्ण मानसिकता से ऊपर उठकर राष्ट्र के लिए मिलकर काम करें यह तभी संभव है जब हम अच्छी सरकार चुने जाति के आधार पर मतदान ना करें और आलस्य त्याग कर राष्ट्र निर्माण में सरकार के साथ मिलकर काम करें भ्रष्टाचार और अपराध मुक्त भारत ही विकसित भारत बन सकता है और इसमें केवल सरकार और प्रशासन ही नहीं हर भारतीय नागरिक का समान योगदान अपेक्षित है जहां एक और जनसंख्या में हो रही बेतहाशा वृद्धि और राजनीति में बढ़ रहा प्राधिकरण रोकने की आवश्यकता है वहीं दूसरी और पुराने कानूनों को बदलने और सख्ती से लागू करने की भी उतनी ही आवश्यकता है भारतीय संस्कृति की मूलभूत पाते बोले बिना पश्चिमी संस्कृति की अच्छी बातें सीखना आरक्षण के चक्रव्यूह से खुद को निकालकर और शिक्षा के क्षेत्र में सभी को समान अवसर प्रदान कर हम विकसित भारत की अवधारणा का बीज बो सकते हैं बस एक बार जरूरत है तुम मिलकर एक साथ खड़े होने की और यह कहने की कि हम असंभव को भी संभव कर सकते हैं क्योंकि हम भारतीय हैं जय हिंदBharat Ek Baar Phir Sone Ki Chidiya Ban Sakta Hai Agar Bhartiya Janmanas Jaat Pat Dharmik Bhedbhav Aur Sankirna Mansikta Se Upar Uthakar Rashtra Ke Liye Milkar Kaam Karen Yeh Tabhi Sambhav Hai Jab Hum Acchi Sarkar Chune Jati Ke Aadhar Par Matdan Na Karen Aur Aalasya Tyag Kar Rashtra Nirman Mein Sarkar Ke Saath Milkar Kaam Karen Bhrashtachar Aur Apradh Mukt Bharat Hi Viksit Bharat Ban Sakta Hai Aur Isme Kewal Sarkar Aur Prashasan Hi Nahi Har Bhartiya Nagarik Ka Saman Yogdan Apekshit Hai Jahan Ek Aur Jansankhya Mein Ho Rahi Betahasha Vriddhi Aur Rajneeti Mein Badh Raha Pradhikaran Rokne Ki Avashyakta Hai Wahin Dusri Aur Purane Kanuno Ko Badalne Aur Sakhti Se Laagu Karne Ki Bhi Utani Hi Avashyakta Hai Bhartiya Sanskriti Ki Mulbhut Paate Bole Bina Pashchimi Sanskriti Ki Acchi Batein Sikhna Aarakshan Ke Chakravyooh Se Khud Ko Nikalakar Aur Shiksha Ke Kshetra Mein Sabhi Ko Saman Avsar Pradan Kar Hum Viksit Bharat Ki Awdharna Ka Beej Bo Sakte Hain Bus Ek Baar Zaroorat Hai Tum Milkar Ek Saath Khade Hone Ki Aur Yeh Kehne Ki Ki Hum Asambhav Ko Bhi Sambhav Kar Sakte Hain Kyonki Hum Bhartiya Hain Jai Hind
Likes  20  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देवेंद्र समानता है भारत को सोने की चिड़िया को ले जाता था क्योंकि उसमें जो है बहुत सारा धन था बहुत रिसोर्सेस है लेकिन अब तो पूरे भारत देश में भ्रष्टाचार इतना फैल गया है काला धन कितना जमा हो गया है इतने...
जवाब पढ़िये
देवेंद्र समानता है भारत को सोने की चिड़िया को ले जाता था क्योंकि उसमें जो है बहुत सारा धन था बहुत रिसोर्सेस है लेकिन अब तो पूरे भारत देश में भ्रष्टाचार इतना फैल गया है काला धन कितना जमा हो गया है इतने भ्रष्टाचारी लोग मर गए हैं कि आप फिर से भारत को सोने की चिड़िया सुनने की उम्मीद रखते हैं वह बिल्कुल पूरी न्यू भाई के द्वारा भारत फिर से चोट सोने की चिड़िया नहीं बन पायाDevendra Samanata Hai Bharat Ko Sone Ki Chidiya Ko Le Jata Tha Kyonki Usamen Jo Hai Bahut Saara Dhan Tha Bahut Resources Hai Lekin Ab To Poore Bharat Desh Mein Bhrashtachar Itna Fail Gaya Hai Kala Dhan Kitna Jama Ho Gaya Hai Itne Bhrashtachaari Log Mar Gaye Hain Ki Aap Phir Se Bharat Ko Sone Ki Chidiya Sunane Ki Ummid Rakhate Hain Wah Bilkul Puri New Bhai Ke Dwara Bharat Phir Se Chot Sone Ki Chidiya Nahi Ban Paya
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Bharat Phir Se Sone Ki Chidiya Ban Sakta Hai, Can India Be A Gold Bird Again

vokalandroid