क्या ये कहने पर स्टार्टअप्स सही हैं कि Angel Tax लगान| गलत है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है कि स्टार्टअप्स एंजेल चैट से कुछ इस तरह की रात की मांग में सही है एंजल टैक्स के तहत नाटक के जरिए उद्यम के उचित मूल्य के ऊपर डोमेस्टिक एंजल निवेशक उसे उठाया किसी भी निवेश को आई के रूप में ल...जवाब पढ़िये
मुझे लगता है कि स्टार्टअप्स एंजेल चैट से कुछ इस तरह की रात की मांग में सही है एंजल टैक्स के तहत नाटक के जरिए उद्यम के उचित मूल्य के ऊपर डोमेस्टिक एंजल निवेशक उसे उठाया किसी भी निवेश को आई के रूप में लगाया जाएगा और आप लेकर भेज टैक्स रेट 30% होगी या नासिक मैच और प्राइवेट कंपनीज के लिए लागू किया गया है बल्कि छोटे स्टार्टअप के लिए भी लागू किया गया है जो भारत में निवासियों से शुरुआती चरण के निवेशको लेते हैं एंजेल टैक्स इसलिए कुछ कारणों के लिए समस्याग्रस्त है धन जुटाने के दौरान उच्च मूल्यांकन संस्थापकों के लिए फायदेमंद होते हैं क्योंकि इसका अर्थ है कम इक्विटी छोड़ देना एंजेल निवेशकों पर टैक्स लगाने के विचार के विरोध में अमेरिका जैसे देशों में निवेशकों को छोटी कंपनियों को फोन करते समय टेक्स्ट लाभ की पेशकश की जाती है एंजल निवेशकों को के लिए एक छोटे व्यवसाय दूसरे उद्यम में फिर से निवेश लाभ से भी टैक्स बचाने के लिए तरीके हैं लेकिन भारत में स्टार्टअप्स निवेश पर संदेह का एक तत्व था ताकत के लिए उठाया जाने वाला पैसा अक्षर शुरुआती अवस्था में क्रिटिकल होता है और जब इस में से ज्यादातर आए के रूप में माना जाता है तो कंपनी अधिकतर टैक्स में भुगतान में पैसे को खो देती है 2017 के पहले हाफ में एंजेल निवेश में 60% से अधिक की गिरावट के लिए टैक्स एक बड़ा कारण है और अभी भारत को स्टार्ट अप की जरूरत है अगर हम ऐसे ही अपनी नई कंपनी स्कोर डिस्क्रीट करते रहेंगे तो अपना काम लेकर दूसरे देशों में जाना प्रेशर करने लगेंगेMujhe Lagta Hai Ki Startups Angel Chat Se Kuch Is Tarah Ki Raat Ki Maang Mein Sahi Hai Angel Tax Ke Tahat Natak Ke Jariye Udyam Ke Uchit Mulya Ke Upar Domestic Angel Niveshak Use Uthaya Kisi Bhi Nivesh Ko Eye Ke Roop Mein Lagaya Jayega Aur Aap Lekar Bhej Tax Rate 30% Hogi Ya Nasik Match Aur Private Companies Ke Liye Laagu Kiya Gaya Hai Balki Chote Startup Ke Liye Bhi Laagu Kiya Gaya Hai Jo Bharat Mein Nivasiyon Se Suruaati Charan Ke Niveshako Lete Hain Angel Tax Isliye Kuch Kaarno Ke Liye Samasyagrast Hai Dhan Jutane Ke Dauran Uccha Mulyaankan Sansthapako Ke Liye Faydemand Hote Hain Kyonki Iska Arth Hai Kum Equity Chod Dena Angel Niveshako Par Tax Lagane Ke Vichar Ke Virodh Mein America Jaise Deshon Mein Niveshako Ko Choti Companion Ko Phone Karte Samay Text Labh Ki Peshkash Ki Jati Hai Angel Niveshako Ko Ke Liye Ek Chote Vyavasaya Dusre Udyam Mein Phir Se Nivesh Labh Se Bhi Tax Bachane Ke Liye Tarike Hain Lekin Bharat Mein Startups Nivesh Par Sandeh Ka Ek Tatva Tha Takat Ke Liye Uthaya Jaane Wala Paisa Akshar Suruaati Awastha Mein Critical Hota Hai Aur Jab Is Mein Se Jyadatar Aaye Ke Roop Mein Mana Jata Hai To Company Adhiktar Tax Mein Bhugtan Mein Paise Ko Kho Deti Hai 2017 Ke Pehle Half Mein Angel Nivesh Mein 60% Se Adhik Ki Giravat Ke Liye Tax Ek Bada Kaaran Hai Aur Abhi Bharat Ko Start Up Ki Zaroorat Hai Agar Hum Aise Hi Apni Nayi Company Score Discreet Karte Rahenge To Apna Kaam Lekar Dusre Deshon Mein Jana Pressure Karne Lagenge
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Ye Kehne Par Startups Sahi Hain Ki Angel Tax Lagaan Galat Hai, Are The Startups Right On Saying That Angel Tax Lease? Its Wrong? , Income Tax Bachane Ke Tarike

vokalandroid