नोटबंदी के बाद रिजर्व बैंक के पास , 1000 और 500 के बंद हुए कितने प्रतिशत नोट वापस आए हैं? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रिजर्व बैंक के अनुसार बताए जाने पर जो जानकारी आई है और जो हम लोगों का तजुर्बा कहता है अगला जो है हमारा अपना पर्सनल में यह व्यक्ति करूंगा कि बहुत अधिक अगर पैसा आया है तो 93% पैसा वापस आया है 1000 और 50...
जवाब पढ़िये
रिजर्व बैंक के अनुसार बताए जाने पर जो जानकारी आई है और जो हम लोगों का तजुर्बा कहता है अगला जो है हमारा अपना पर्सनल में यह व्यक्ति करूंगा कि बहुत अधिक अगर पैसा आया है तो 93% पैसा वापस आया है 1000 और 500 का पुराना नोट केवल 93 प्रतिशत वापस आया आरबीआई के पासReserve Bank Ke Anusar Bataye Jaane Par Jo Jankari Eye Hai Aur Jo Hum Logon Ka Tajurba Kahata Hai Agla Jo Hai Hamara Apna Personal Mein Yeh Vyakti Karunga Ki Bahut Adhik Agar Paisa Aaya Hai To 93% Paisa Wapas Aaya Hai 1000 Aur 500 Ka Purana Note Kewal 93 Pratishat Wapas Aaya Rbi Ke Paas
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नोटबंदी के बाद रिजर्व बैंक की अगर आप अभी हाल ही में आई हुई रिपोर्ट के मुताबिक बताया जाए तो हजारों 500 के जितने भी नोट पर सर्कुलेट कर रहे थे हमारी कंट्री में वह सभी को करीबन 99% वोट और चुनौतियों से वाप...
जवाब पढ़िये
नोटबंदी के बाद रिजर्व बैंक की अगर आप अभी हाल ही में आई हुई रिपोर्ट के मुताबिक बताया जाए तो हजारों 500 के जितने भी नोट पर सर्कुलेट कर रहे थे हमारी कंट्री में वह सभी को करीबन 99% वोट और चुनौतियों से वापस आ चुके हैं और जो बंद हुए नोट हैं उन सभी को वापस रिसीव कर लिया है आरबीआई ने तो वह जगह परसेंटेज की बात की जाए तो अनुमान लगाया जा रहा है कि ज्यादातर नोट वापस आ गए आरबीआई के पास और जिस वजह से नोटबंदी करी गई थी जो रीज़न था कि वह काला धन निकाला जा रहा है और यह सब चीजें करी जा रही हैं कि हमारे देश में भ्रष्टाचार कम हो काला धन जो छुपा हुआ है वह बाहर आए उस सब चीजें फेल हो गई है और यह लग रहा है कि यह जो नोटबंदी का फैसला था वह कहीं ना कहीं एक कप से लिया बन कर सामने आयाNotebandi Ke Baad Reserve Bank Ki Agar Aap Abhi Haal Hi Mein Eye Hui Report Ke Mutabik Bataya Jaye To Hajaron 500 Ke Jitne Bhi Note Par Sarkulet Kar Rahe The Hamari Country Mein Wah Sabhi Ko Kariban 99% Vote Aur Chunautiyon Se Wapas Aa Chuke Hain Aur Jo Band Huye Note Hain Un Sabhi Ko Wapas Receive Kar Liya Hai Rbi Ne To Wah Jagah Percentage Ki Baat Ki Jaye To Anumaan Lagaya Ja Raha Hai Ki Jyadatar Note Wapas Aa Gaye Rbi Ke Paas Aur Jis Wajah Se Notebandi Kari Gayi Thi Jo Rizan Tha Ki Wah Kala Dhan Nikaala Ja Raha Hai Aur Yeh Sab Cheezen Kari Ja Rahi Hain Ki Hamare Desh Mein Bhrashtachar Kam Ho Kala Dhan Jo Chhupa Hua Hai Wah Bahar Aaye Us Sab Cheezen Fail Ho Gayi Hai Aur Yeh Lag Raha Hai Ki Yeh Jo Notebandi Ka Faisla Tha Wah Kahin Na Kahin Ek Cup Se Liya Ban Kar Samane Aaya
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन नरेंद्र मोदी सरकार की नोटबंदी वाला जो फैसला है उसे लागू किए हुए ओल्ड लेडी 2 साल की तरह फॉर्म भरे गए हैं और 2 साल बाद नोटों की गिनती होती है पूरी कंप्लीट हो पाती है और यह पता चलता है कि लगभग 99% ...
जवाब पढ़िये
लेकिन नरेंद्र मोदी सरकार की नोटबंदी वाला जो फैसला है उसे लागू किए हुए ओल्ड लेडी 2 साल की तरह फॉर्म भरे गए हैं और 2 साल बाद नोटों की गिनती होती है पूरी कंप्लीट हो पाती है और यह पता चलता है कि लगभग 99% करेंसी पुरानी थी 500 और 1000 के नॉट वापस आ चुके हैं यानी कि जो मान रहे थे कि 500 और 1000 के जो काले धन हैं वह खत्म हो जाएंगे लोगों के और आधे से ज्यादा काला धन खत्म हो जाएगा जो बड़े-बड़े आंकड़े पेश किए जाते कितने हजार करोड़ कालाधन है यह नष्ट हो जाएगा हकीकत आपके सामने कि 99% नोट जो है वह वापस आ चुके हैं कहने का मतलब है जो काला धन पहले था वह काला धन अभी भी मौजूद है यह बिल्कुल बेबुनियाद करके हैं और बेबुनियाद पॉलिसी हकीकत में नोटबंदी का मीडिया चैनल जो मीटिंग है सभी पतंजलि के ऐड चला रहे हैं वह आपको यह नहीं दिखाएं लेकिन वास्तविक जो कारण है कुछ उद्योगपति घराने जो है वह बहुत बड़े बैंकों का कर्ज नहीं चुका पाए थे उनके ऊपर कर्जा गया था करीब 8000 करोड़ का वह पैसा कहां से निकाला बैंक वाले को पैसा निकाला जनता ने जो 500 1000 कीनोट जमा किए 65,000 कारोबारियों के ऊपर बड़े-बड़े माफ कर दिया गया तुरंत जैसी जनता ने संपर्क किया उसके कुछ ही दिनों बाद तुझे इसीलिए हुआ था यह पूरा खेल वरना हर जने ने पैसे बदल लिए हैं और बैंकों से मिल मिल के बगल वाले गए हैं तो यह बिल्कुल ब्लॉक पॉलिसी है जनता को बेवकूफ बनाने वाली है लेकिन जनता है इतनी बेवकूफ उसके बावजूद जो है ऐसे लोगों को वोट दे रही हैLekin Narendra Modi Sarkar Ki Notebandi Wala Jo Faisla Hai Use Laagu Kiye Huye Old Lady 2 Saal Ki Tarah Form Bhare Gaye Hain Aur 2 Saal Baad Noton Ki Ginti Hoti Hai Puri Complete Ho Pati Hai Aur Yeh Pata Chalta Hai Ki Lagbhag 99% Currency Purani Thi 500 Aur 1000 Ke Not Wapas Aa Chuke Hain Yani Ki Jo Maan Rahe The Ki 500 Aur 1000 Ke Jo Kaale Dhan Hain Wah Khatam Ho Jaenge Logon Ke Aur Aadhe Se Jyada Kala Dhan Khatam Ho Jayega Jo Bade Bade Aankde Pesh Kiye Jaate Kitne Hazar Crore Kaladhan Hai Yeh Nasht Ho Jayega Haqiqat Aapke Samane Ki 99% Note Jo Hai Wah Wapas Aa Chuke Hain Kehne Ka Matlab Hai Jo Kala Dhan Pehle Tha Wah Kala Dhan Abhi Bhi Maujud Hai Yeh Bilkul Bebuniyad Karke Hain Aur Bebuniyad Policy Haqiqat Mein Notebandi Ka Media Channel Jo Meeting Hai Sabhi Patanjali Ke Aid Chala Rahe Hain Wah Aapko Yeh Nahi Dikhaen Lekin Vastavik Jo Kaaran Hai Kuch Udyogpati Gharane Jo Hai Wah Bahut Bade Bankon Ka Karj Nahi Chuka Paye The Unke Upar Karja Gaya Tha Karib 8000 Crore Ka Wah Paisa Kahan Se Nikaala Bank Wale Ko Paisa Nikaala Janta Ne Jo 500 1000 Keynote Jama Kiye 65,000 Karobariyo Ke Upar Bade Bade Maaf Kar Diya Gaya Turant Jaisi Janta Ne Sampark Kiya Uske Kuch Hi Dinon Baad Tujhe Isliye Hua Tha Yeh Pura Khel Varana Har Jane Ne Paise Badal Liye Hain Aur Bankon Se Mil Mil Ke Bagal Wale Gaye Hain To Yeh Bilkul Block Policy Hai Janta Ko Bewakoof Banane Wali Hai Lekin Janta Hai Itni Bewakoof Uske Bawajud Jo Hai Aise Logon Ko Vote De Rahi Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विक्रम को जानती है क्या 8 नवंबर 2016 को डिमोनेटाइजेशन नोटबंदी हुई उसके बाद आरबीआई के आंकड़े आए हैं वह मैं बताता हूं आज की तरफ से यह कहना था कि उनका टोटल जो पैसे हैं मार्केट में कितने सरकुलेशन में टोटल...
जवाब पढ़िये
विक्रम को जानती है क्या 8 नवंबर 2016 को डिमोनेटाइजेशन नोटबंदी हुई उसके बाद आरबीआई के आंकड़े आए हैं वह मैं बताता हूं आज की तरफ से यह कहना था कि उनका टोटल जो पैसे हैं मार्केट में कितने सरकुलेशन में टोटल 1540000 करोड मार्केट में सरकुलेशन में था टोटल पैसा उसके बाद डिमोनेटाइजेशन हुआ तो नोटबंदी के बाद जो पैसा बैंकों के पास आया पुराना करेंसी जो बैंकों के पास आया वह सिर्फ 16000 करोड कम था बाकि पूरा पैसा आ गया इसका मतलब यह है कि 99% पैसा बैंकों के पास वापस आ गया डिमोनेटाइजेशन होने के बाद एक परसेंट पैसा जो कि 16,000 करोड़ वह नहीं आया मुझे बताया जा रहा है कि यह जो नोटबंदी हुई इसका कुछ फायदा नहीं हुआ और क्योंकि ऐसा बोला जा रहा कि 90% पैसा आ गया पूरा पैसा आ गया है और लोगों ने किस तरीके से 99% पैसा एक्सचेंज किया है वह तो BJP जानती है तो यह टोटल पैसा आया वापस 99% लगभग पैसा वापस आ चुका है सब एक पैसा एक परसेंट पैसे कहां है यह नहीं पता लेकिन आप टोटल में से 91% पैसा वापस आ चुका हैVikram Ko Jaanti Hai Kya 8 November 2016 Ko Dimonetaijeshan Notebandi Hui Uske Baad Rbi Ke Aankde Aaye Hain Wah Main Batata Hoon Aaj Ki Taraf Se Yeh Kehna Tha Ki Unka Total Jo Paise Hain Market Mein Kitne Circulation Mein Total 1540000 Crore Market Mein Circulation Mein Tha Total Paisa Uske Baad Dimonetaijeshan Hua To Notebandi Ke Baad Jo Paisa Bankon Ke Paas Aaya Purana Currency Jo Bankon Ke Paas Aaya Wah Sirf 16000 Crore Kam Tha Baki Pura Paisa Aa Gaya Iska Matlab Yeh Hai Ki 99% Paisa Bankon Ke Paas Wapas Aa Gaya Dimonetaijeshan Hone Ke Baad Ek Percent Paisa Jo Ki 16,000 Crore Wah Nahi Aaya Mujhe Bataya Ja Raha Hai Ki Yeh Jo Notebandi Hui Iska Kuch Fayda Nahi Hua Aur Kyonki Aisa Bola Ja Raha Ki 90% Paisa Aa Gaya Pura Paisa Aa Gaya Hai Aur Logon Ne Kis Tarike Se 99% Paisa Exchange Kiya Hai Wah To BJP Jaanti Hai To Yeh Total Paisa Aaya Wapas 99% Lagbhag Paisa Wapas Aa Chuka Hai Sab Ek Paisa Ek Percent Paise Kahan Hai Yeh Nahi Pata Lekin Aap Total Mein Se 91% Paisa Wapas Aa Chuka Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन नोटबंदी का पूरा सच सामने आ चुका है रिजर्व बैंक ने रिपोर्ट में बताया कि 500 ₹2000 के दो नोट बंद हुए थे उनमें से 99.3% बैंकों में वापस आ चुके हैं नोटों को गिनने में नष्ट करने में 22 महीने लगे प्रध...
जवाब पढ़िये
लेकिन नोटबंदी का पूरा सच सामने आ चुका है रिजर्व बैंक ने रिपोर्ट में बताया कि 500 ₹2000 के दो नोट बंद हुए थे उनमें से 99.3% बैंकों में वापस आ चुके हैं नोटों को गिनने में नष्ट करने में 22 महीने लगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर 2016 को जब नोटबंदी का ऐलान किया था 500 साल की करीबन 15 पॉइंट 4000000 करोड रुपए के नोट चलन में थे इनमें से 15 पॉइंट ₹30000 बैंक में जमा हुए और करीबन 10720 करोड़ पर वापस अब तक नहीं आए हैं और सरकार ने 9 दिसंबर 2016 को सुप्रीम कोर्ट में कहा था की आशंका है कि तीन से चार लाख करोड रुपए का काला धन है जो वापस नहीं आएगा तू करीब 99.3% वापिस आ चुके हैं 22 महीनों की गिनती के बाद यह सामने आया है और अभी करीबन 10720 करोड रुपए जो कि का बढ़िया माउंट है लेकिन बाकी 90% को देखकर बहुत सूट कर मार लग रही है वह तो वापस नहीं आए हैंLekin Notebandi Ka Pura Sach Samane Aa Chuka Hai Reserve Bank Ne Report Mein Bataya Ki 500 ₹2000 Ke Do Note Band Huye The Unmen Se 99.3% Bankon Mein Wapas Aa Chuke Hain Noton Ko Ginane Mein Nasht Karne Mein 22 Mahine Lage Pradhanmantri Narendra Modi Ne 8 November 2016 Ko Jab Notebandi Ka Elan Kiya Tha 500 Saal Ki Kariban 15 Point 4000000 Crore Rupaiye Ke Note Chalan Mein The Inme Se 15 Point ₹30000 Bank Mein Jama Huye Aur Kariban 10720 Crore Par Wapas Ab Tak Nahi Aaye Hain Aur Sarkar Ne 9 December 2016 Ko Supreme Court Mein Kaha Tha Ki Ashanka Hai Ki Teen Se Char Lakh Crore Rupaiye Ka Kala Dhan Hai Jo Wapas Nahi Aaega Tu Karib 99.3% Vapis Aa Chuke Hain 22 Mahinon Ki Ginti Ke Baad Yeh Samane Aaya Hai Aur Abhi Kariban 10720 Crore Rupaiye Jo Ki Ka Badhiya Mount Hai Lekin Baki 90% Ko Dekhkar Bahut Suit Kar Maar Lag Rahi Hai Wah To Wapas Nahi Aaye Hain
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए कल ही आरबीआई की रिपोर्ट है जिसमें कहा गया है कि 99% नोट डिमोनेटाइजेशन किस समय वापस आ गए पुराने नोट 500 और 1000 की जो भी थे और आरबीआई ने इस बात को भी माना कि डिमोनेटाइजेशन एक सही कदम नहीं था क्यो...
जवाब पढ़िये
देखिए कल ही आरबीआई की रिपोर्ट है जिसमें कहा गया है कि 99% नोट डिमोनेटाइजेशन किस समय वापस आ गए पुराने नोट 500 और 1000 की जो भी थे और आरबीआई ने इस बात को भी माना कि डिमोनेटाइजेशन एक सही कदम नहीं था क्योंकि इसकी वजह से भारत की विकास जलती जो जीडीपी ग्रोथ थी एक पर्सेंट कम हो गई तो कहीं ना कहीं जो लोग प्रधानमंत्री जी के भक्त हैं उनको तो शायद इस ग्रुप पर विश्वास नहीं होगा लेकिन यही है कि कहीं ना कहीं मोनेटाइजेशन की सबसे ज्यादा दिक्कत आम आदमी को भ्रष्टाचार को कम करने के कॉलम ब्लैक मनी को लाने के और ब्लैकमनी को कम करने के वह सब धरे के धरे रखें किसी प्रकार का कोई इंप्रूवमेंट नहीं हुआ हां यह जरूर हुआ के लोग बहुत सारे लोग बेरोजगार हो गए बहुत सारे लोगों की लाइन में लगकर मौत हो जाती है उसको भी सरकार ने कंपनसेशन नहीं दिया तो कहीं ना कहीं सरकार को भी इस बात का एल्बम डिमोनेटाइजेशन एक गलत काम था लेकिन आने वाले चुनाव 2019 में तो सरकार का इस बात को पब्लिक के सामने नहीं कह सकती क्योंकि अगर सरकार इस बात को पब्लिकली कहती है कि वह गलत कर्म था तो कहीं ना कहीं सरकार की इमेज को बट्टा लगेगाDekhie Kal Hi Rbi Ki Report Hai Jisme Kaha Gaya Hai Ki 99% Note Dimonetaijeshan Kis Samay Wapas Aa Gaye Purane Note 500 Aur 1000 Ki Jo Bhi The Aur Rbi Ne Is Baat Ko Bhi Mana Ki Dimonetaijeshan Ek Sahi Kadam Nahi Tha Kyonki Iski Wajah Se Bharat Ki Vikash Jalti Jo Gdp Growth Thi Ek Percent Kam Ho Gayi To Kahin Na Kahin Jo Log Pradhanmantri Ji Ke Bhakt Hain Unko To Shayad Is Group Par Vishwas Nahi Hoga Lekin Yahi Hai Ki Kahin Na Kahin Monetaijeshan Ki Sabse Jyada Dikkat Aam Aadmi Ko Bhrashtachar Ko Kam Karne Ke Column Black Money Ko Lane Ke Aur Blaikmani Ko Kam Karne Ke Wah Sab Dhare Ke Dhare Rakhen Kisi Prakar Ka Koi Improvement Nahi Hua Haan Yeh Jarur Hua Ke Log Bahut Sare Log Berojgar Ho Gaye Bahut Sare Logon Ki Line Mein Lagkar Maut Ho Jati Hai Usko Bhi Sarkar Ne Kampanaseshan Nahi Diya To Kahin Na Kahin Sarkar Ko Bhi Is Baat Ka Album Dimonetaijeshan Ek Galat Kaam Tha Lekin Aane Wale Chunav 2019 Mein To Sarkar Ka Is Baat Ko Public Ke Samane Nahi Keh Sakti Kyonki Agar Sarkar Is Baat Ko Publicly Kahti Hai Ki Wah Galat Karm Tha To Kahin Na Kahin Sarkar Ki Image Ko Batta Lagega
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Notebandi Ke Baad Reserve Bank Ke Paas , 1000 Aur 500 Ke Band Hue Kitne Pratishat Note Wapas Aaye Hain

vokalandroid