जीयसटी क्या है ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए सवाल बार-बार पूछा जा रहा है कि जीएसटी क्या है जीएसटी का फुल फॉर्म...जवाब पढ़िये
देखिए सवाल बार-बार पूछा जा रहा है कि जीएसटी क्या है जीएसटी का फुल फॉर्म होता है गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स यानी यह टेक्स है यह किसी भी वस्तु पर जो पहले 56 प्रकार के टैक्स लगते थे अलग-अलग सर्विस टैक्स रेट क्या अलग-अलग चीजें वह सब अलग अलग नहीं लगेंगे बजाए एक ही हैडिंग जीएसटी में लगेगा जीएसटी है यह त्यौहार वस्तु के लिए यह निर्णय ले लिया क्या डिसाइड कर लिया गया है कि कौन सी वस्तु किस केटेगरी में आएगी 4 केटेगरी हैं 5 परसेंट 12 परसेंट 18528 हर एक वस्तु किसी न किसी इन चारों में से एक वस्तु में है कि जिस पर कितने पर्सेंट का टैक्स लगेगा यह टेक्स्ट पहले से डिसाइड इन है तो को भ्रमित वाली चीज नहीं है दूसरी चीज जीएसटी प्रणाली में जितना भी व्यापारी वर्ग है जितनी भी सेल्स पहुंचे होती है यह ऑनलाइन हो गई है हमें ऑनलाइन अपना डाटा कार्ड सबमिट करना पड़ेगा तो इससे हुआ क्या है इसे जो भी भ्रष्टाचार या फिर टैक्स चोरी होती थी वह भी से रुक जाएगी और यह ऑनलाइन हो गया है तो इस से रोकेगा लेकिन दूसरी तरफ जीएसटी का भारी विरोध है क्योंकि कई चीजों पर टैक्स जो है काफी लगने लगा है और व्यापारी वर्ग के लिए बड़ी दिक्कत की चीज है हर चीज ऑनलाइन सबमिट करना एक्चुअली प्रोसेस ऑफ जो सबमिट करने की है वह काफी ज्यादा लेंदी काफी कांपलेक्स जिस वजह से परेशानी का सामना करना पड़ रहा है चीजें क्लियर नहीं हो पाएंगे इतना छह-सात महीने लागू होने के बादDekhie Sawal Baar Baar Poocha Ja Raha Hai Ki Gst Kya Hai Gst Ka Full Form Hota Hai Goods End Services Tax Yani Yeh Tax Hai Yeh Kisi Bhi Vastu Par Jo Pehle 56 Prakar Ke Tax Lagte The Alag Alag Service Tax Rate Kya Alag Alag Cheezen Wah Sab Alag Alag Nahi Lagenge Bajae Ek Hi Haiding Gst Mein Lagega Gst Hai Yeh Tyohar Vastu Ke Liye Yeh Nirnay Le Liya Kya Decide Kar Liya Gaya Hai Ki Kaun Si Vastu Kis Category Mein Aayegi 4 Category Hain 5 Percent 12 Percent 18528 Har Ek Vastu Kisi N Kisi In Charo Mein Se Ek Vastu Mein Hai Ki Jis Par Kitne Percent Ka Tax Lagega Yeh Text Pehle Se Decide In Hai To Ko Bharmit Wali Cheez Nahi Hai Dusri Cheez Gst Pranali Mein Jitna Bhi Vyapaari Varg Hai Jitni Bhi Sales Pahuche Hoti Hai Yeh Online Ho Gayi Hai Hume Online Apna Data Card Submit Karna Padega To Isse Hua Kya Hai Ise Jo Bhi Bhrashtachar Ya Phir Tax Chori Hoti Thi Wah Bhi Se Ruk Jayegi Aur Yeh Online Ho Gaya Hai To Is Se Rokega Lekin Dusri Taraf Gst Ka Bhari Virodh Hai Kyonki Kai Chijon Par Tax Jo Hai Kafi Lagne Laga Hai Aur Vyapaari Varg Ke Liye Badi Dikkat Ki Cheez Hai Har Cheez Online Submit Karna Actually Process Of Jo Submit Karne Ki Hai Wah Kafi Jyada Lengthy Kafi Complex Jis Wajah Se Pareshani Ka Samana Karna Padh Raha Hai Cheezen Clear Nahi Ho Paenge Itna Cheh Saat Mahine Laagu Hone Ke Baad
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी गुड्स एंड सर्विस टैक्स ऐप भारत में 1 जुलाई 2017 से लागू किया गया...जवाब पढ़िये
जीएसटी गुड्स एंड सर्विस टैक्स ऐप भारत में 1 जुलाई 2017 से लागू किया गया है एक टेक्स्ट के लगने के बाद लगभग 22 डायरेक्ट और इनडायरेक्ट को हटा दिया गया है अब से एक टेक्स लगेगा जो भी जीएसटी के नाम से है पहले क्या होता था कि अलग-अलग स्टेटस में अलग-अलग टैक्स लगे लगाया करते थे जिससे कि किसी आइटम की जो प्राइस होती थी कॉस्ट होती को हर स्टेट में अब जीएसटी आने के बाद पाकिस्तान में एक ही आइटम की कोशिश यही रहेगी या फायदा है उसके आने के बाद अब सारा काम ऑनलाइन हुआ करेगा जिससे टैक्स की चोरी भी कम हुआ करेगी जीएसटी को जीएसटी के दायरे में जो टैक्स लाइक लगेंगे वह चार या पांच क्लास में बांटे गए हैं जैसे पांच पर्सेंट 10% 1828 पर्सेंट टैक्स के सबसे मैक्सिमम टू टेक लगे वह 28 मिनट लगेगाGst Goods End Service Tax App Bharat Mein 1 July 2017 Se Laagu Kiya Gaya Hai Ek Text Ke Lagne Ke Baad Lagbhag 22 Direct Aur Indirect Ko Hata Diya Gaya Hai Ab Se Ek Tax Lagega Jo Bhi Gst Ke Naam Se Hai Pehle Kya Hota Tha Ki Alag Alag Status Mein Alag Alag Tax Lage Lagaya Karte The Jisse Ki Kisi Item Ki Jo Price Hoti Thi Cost Hoti Ko Har State Mein Ab Gst Aane Ke Baad Pakistan Mein Ek Hi Item Ki Koshish Yahi Rahegi Ya Fayda Hai Uske Aane Ke Baad Ab Saara Kaam Online Hua Karega Jisse Tax Ki Chori Bhi Kum Hua Karegi Gst Ko Gst Ke Daayre Mein Jo Tax Like Lagenge Wah Char Ya Paanch Class Mein Bante Gaye Hain Jaise Paanch Percent 10% 1828 Percent Tax Ke Sabse Maximum To Tech Lage Wah 28 Minute Lagega
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी एक नया टैक्स लागू किया गया ग्लोबल सेट टैक्स और जीएसटी दो टाइप कैसे...जवाब पढ़िये
जीएसटी एक नया टैक्स लागू किया गया ग्लोबल सेट टैक्स और जीएसटी दो टाइप कैसे जीएसटी सीजीएसटी सेंट्रल जीएसटी और सीएसटी के बाद अब जो रोने लगता था वह कुछ नहीं लगे बस यह टेक्स भरनाGst Ek Naya Tax Laagu Kiya Gaya Global Set Tax Aur Gst Do Type Kaise Gst Cgst Central Gst Aur Siesati Ke Baad Ab Jo Rone Lagta Tha Wah Kuch Nahi Lage Bus Yeh Tax Bharna
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी आपका गुड एंड सर्विस टैक्स है जो कि कंट्री में 1 जुलाई 2017 को...जवाब पढ़िये
जीएसटी आपका गुड एंड सर्विस टैक्स है जो कि कंट्री में 1 जुलाई 2017 को इंप्लीमेंट हो गया था इनडायरेक्ट टैक्स है कंट्री के अंदर जो टाइप करता एक से एक है डायरेक्ट टैक्स एक है इनडायरेक्ट टैक्स डायरेक्ट टैक्स वो है जो आप अपनी इनकम से जो अपने पूरे साल में इनकम आपने किया है उस पर आप जो लव लेटर टैक्स पर करते हैं जो कि 2 महीने फिक्स किया हुआ है यह इनडायरेक्ट टैक्स है जीएसटी जो कि आप जब समान कोई खरीदने जाती हो या फिर आपने किसी को कोई सर्विस लिया आपने किसी को सर्विस दी तब आपको पे करना पड़ता है रिसीव करना पड़ता है यह जीएसटी और अभी अभी कॉमेंट में 500008 बता रखी है जीएसटी के 11 जीरो परसेंट 112 पर सेंड कर 5 परसेंट 12 परसेंट Android WhatsApp उसके अलावा 35 जीएसटी होते एक होता है सीजीएसटी सेंट्रल जीएसटी इंडस्ट्रियल इस्टेट जीएसटी और आईसीआईसीआई राजस्थानी इंटीग्रेटेड जीएसटी सीजीएसटी जो है वह सेंट्रल गवर्नमेंट लगाती है और वही कलेक्ट करती है HD स्टेट गवर्नमेंट लगाती है और वही कलेक्ट कर दिया और आईजीएसटी इंटीग्रेटेड यानी कि इंटीग्रेटेड सेंट्रल गवर्नमेंट लगाते कलेक्ट्रेट गवर्मेंट करती आई जीएसटी का लगता है आई जस्ट तब लगता है जब आप एक स्टेट से दूसरे स्टेट में सामान खरीदते हो यह सर्विस दे दो यार लेते हो तब आपका आईजीएसटी लगता है तो 303 टाइप के मॉडल्स है जीएसटी के HD हिस्ट्री सीजीएसटी और एसजीएसटी उसके अलावा पांचला ब्रेड से अभी जो गवर्मेंट निकाल लेते हैं इतना काफी है जीएसटी के लिए भी ज्यादाGst Aapka Good End Service Tax Hai Jo Ki Country Mein 1 July 2017 Ko Implement Ho Gaya Tha Indirect Tax Hai Country Ke Andar Jo Type Karta Ek Se Ek Hai Direct Tax Ek Hai Indirect Tax Direct Tax Vo Hai Jo Aap Apni Income Se Jo Apne Poore Saal Mein Income Aapne Kiya Hai Us Par Aap Jo Love Letter Tax Par Karte Hain Jo Ki 2 Mahine Fix Kiya Hua Hai Yeh Indirect Tax Hai Gst Jo Ki Aap Jab Saman Koi Kharidne Jati Ho Ya Phir Aapne Kisi Ko Koi Service Liya Aapne Kisi Ko Service Di Tab Aapko Pe Karna Padata Hai Receive Karna Padata Hai Yeh Gst Aur Abhi Abhi Cament Mein 500008 Bata Rakhi Hai Gst Ke 11 Zero Percent 112 Par Send Kar 5 Percent 12 Percent Android WhatsApp Uske Alava 35 Gst Hote Ek Hota Hai Cgst Central Gst Industrial Estate Gst Aur ICICI Rajasthani Integrated Gst Cgst Jo Hai Wah Central Government Lagati Hai Aur Wahi Collect Karti Hai HD State Government Lagati Hai Aur Wahi Collect Kar Diya Aur Aijiesati Integrated Yani Ki Integrated Central Government Lagate Kalektret Goverment Karti Eye Gst Ka Lagta Hai Eye Just Tab Lagta Hai Jab Aap Ek State Se Dusre State Mein Saamaan Kharidte Ho Yeh Service De Do Yaar Lete Ho Tab Aapka Aijiesati Lagta Hai To 303 Type Ke Models Hai Gst Ke HD History Cgst Aur Sgst Uske Alava Panchala Bred Se Abhi Jo Goverment Nikal Lete Hain Itna Kafi Hai Gst Ke Liye Bhi Jyada
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुंजन सर्विस टैक्स यानी जीएसटी एक अप्रत्यक्ष कर यानी इनडायरेक्ट टैक्स है जीएसटी के तहत...जवाब पढ़िये
गुंजन सर्विस टैक्स यानी जीएसटी एक अप्रत्यक्ष कर यानी इनडायरेक्ट टैक्स है जीएसटी के तहत वस्तुओं और सेवाओं पर एक समान तक लगाया जाता है जहां जीएसटी लागू नहीं है वहां वस्तु और सेवाओं पर अलग-अलग टैक्स लगाए जाते हैं सरकार ने जब जीएसटी बिल 2016 में लागू करी तब हर समाना हर सेवा पर सिर्फ एक टैक्स लगेगा यानि बाद एक्सरसाइज और सर्विस टैक्स जैसे करो की जगह सिर्फ एक तास लगा जो जीएसटी हुआGunjan Service Tax Yani Gst Ek Apratyksh Kar Yani Indirect Tax Hai Gst Ke Tahat Vastuon Aur Sewaon Par Ek Saman Tak Lagaya Jata Hai Jahan Gst Laagu Nahi Hai Wahan Vastu Aur Sewaon Par Alag Alag Tax Lagaye Jaate Hain Sarkar Ne Jab Gst Bill 2016 Mein Laagu Kari Tab Har Samana Har Seva Par Sirf Ek Tax Lagega Yani Baad Exercise Aur Service Tax Jaise Karo Ki Jagah Sirf Ek Tas Laga Jo Gst Hua
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स से पहले हम काफी सारी टैक्टिस दिया करते थे डायरेक्ट...जवाब पढ़िये
जीएसटी गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स से पहले हम काफी सारी टैक्टिस दिया करते थे डायरेक्ट और इनडायरेक्ट सर्विस एक्सरसाइज टिप्स काफी सारी टेक्स्ट थी उन सब को रिप्लेस करके अभी जीएसटी लागू किया गया है जिसके अंदर में एसजीएसटी आता है जो कि स्टेट जीएसटी है और एक सेंट्रल जीएसटी CST किसको बोला जाता है और यह लागू हुआ 1 जुलाई 2017 में तो यह बहुत बड़ा रिवोल्यूशन था जो कि टायर इंडियन टैक्स सिस्टम में लागू हुआ है इससे बड़ा परिवर्तन शायद ही पहले आया हो इंडियन टैक्सेशन सिस्टमGst Goods End Services Tax Se Pehle Hum Kafi Saree Taiktis Diya Karte The Direct Aur Indirect Service Exercise Tips Kafi Saree Text Thi Un Sab Ko Replace Karke Abhi Gst Laagu Kiya Gaya Hai Jiske Andar Mein Sgst Aata Hai Jo Ki State Gst Hai Aur Ek Central Gst CST Kisko Bola Jata Hai Aur Yeh Laagu Hua 1 July 2017 Mein To Yeh Bahut Bada Revolution Tha Jo Ki Tyre Indian Tax System Mein Laagu Hua Hai Isse Bada Pariwartan Shayad Hi Pehle Aaya Ho Indian Taxation System
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी का फुल फॉर्म ऑफ गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स यानी कि द्रव्य एवं सेवा कर...जवाब पढ़िये
जीएसटी का फुल फॉर्म ऑफ गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स यानी कि द्रव्य एवं सेवा कर इसे राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी जी एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 1 जुलाई 2017 के नवरात्र में अंतर की जगह लगाई गई है इसमें सेवा कर अत्यधिक ग्राहक सेवा कर राज्य सड़क परिवहन एवं द्रव्य कर इस इन सभी के लिए एक ही कर देने की जीएसटी लगाई गई हैGst Ka Full Form Of Goods End Services Tax Yani Ki Dravya Evam Seva Kar Ise Rashtrapati Pranab Mukherjee Ji Evam Pradhanmantri Narendra Modi Ji Ke Dwara 1 July 2017 Ke Navaraatr Mein Antar Ki Jagah Lagai Gayi Hai Isme Seva Kar Atyadhik Grahak Seva Kar Rajya Sadak Parivahan Evam Dravya Kar Is In Sabhi Ke Liye Ek Hi Kar Dene Ki Gst Lagai Gayi Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुंजन सर्विसेज टैक्स या जीएसटी एक अप्रत्यक्ष स्टार्ट है जो 1 जुलाई 2017 को भारत...जवाब पढ़िये
गुंजन सर्विसेज टैक्स या जीएसटी एक अप्रत्यक्ष स्टार्ट है जो 1 जुलाई 2017 को भारत में पेश किया गया था और पूरे भारत में लागू किया गया था जिसने केंद्रीय और राज्य सरकारों द्वारा लगाए गए कई विशाल टैक्स इस को बदल दिया जीएसटी के तहत माल और सेवाओं पर जीरो परसेंट 5% 12.881228 पर SIM पर टैक्स लगाया गया हैGunjan Services Tax Ya Gst Ek Apratyksh Start Hai Jo 1 July 2017 Ko Bharat Mein Pesh Kiya Gaya Tha Aur Poore Bharat Mein Laagu Kiya Gaya Tha Jisne Kendriya Aur Rajya Sarkaro Dwara Lagaye Gaye Kai Vishal Tax Is Ko Badal Diya Gst Ke Tahat Maal Aur Sewaon Par Zero Percent 5% 12.881228 Par SIM Par Tax Lagaya Gaya Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Gst Kya Hai ?, What Is Jealous?