search_iconmic
leaderboard
notify
हिंदी
leaderboard
notify
हिंदी
जवाब दें

क्या जीवन में धर्म से बढ़कर प्यार है? ...

6 जवाब देखें >

Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा क्या जीवन में धर्म से बढ़कर प्यार है जी नहीं जिंदगी में प्रेम से बढ़कर प्यार से बढ़कर लव से बढ़कर कुछ नहीं प्यार करने वाला उससे बड़ा कोई इंसान नहीं उससे बड़ा कोई भगवान नहीं ईश्वर अल्लाह खुदा...
जवाब पढ़िये
आपने पूछा क्या जीवन में धर्म से बढ़कर प्यार है जी नहीं जिंदगी में प्रेम से बढ़कर प्यार से बढ़कर लव से बढ़कर कुछ नहीं प्यार करने वाला उससे बड़ा कोई इंसान नहीं उससे बड़ा कोई भगवान नहीं ईश्वर अल्लाह खुदा वाहेगुरु जी सर यही बताते हैं प्रेम करो प्रेम रोग प्रेम देने की चीज है फल की इच्छा मत करो सब कुछ मिलता है करके देखो प्यार करने वाला ही सबसे बड़ा धार्मिक आदमी है
Likes  113  Dislikes    views  8185
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिए😊

ऐसे और सवाल

ques_icon

ques_icon

अधिक जवाब


6 जवाब देखें >

Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों आपने पूछा है कि क्या धर्म से बढ़कर प्यार है तो यह प्रश्न है आपका और यहां पर आप मकसद आपका जो भी रहा हो यहां आपने दो चीजों को रखा है एक धर्म को और एक प्रेम को और ऐसी दोनों को लेकर आपको उ...
जवाब पढ़िये
नमस्कार दोस्तों आपने पूछा है कि क्या धर्म से बढ़कर प्यार है तो यह प्रश्न है आपका और यहां पर आप मकसद आपका जो भी रहा हो यहां आपने दो चीजों को रखा है एक धर्म को और एक प्रेम को और ऐसी दोनों को लेकर आपको उलझन है और यहां आप धर्म से है प्यार को जोड़कर देख रहे हैं और उसकी तुलना चाहते हैं कि धर्म से बढ़कर प्यार है इसकी तुलना आप चाहते हैं कि धर्म बड़ा है या प्यार बड़ा है कौन सा बढ़कर है धर्म से बढ़कर तो यहां आपको धर्म और प्रेम दोनों को समझना होगा और अमूमन ऐसा नहीं है कि इंसान धर्म नहीं समझता और प्रेम नहीं समझता लेकिन जब बात उठी है आना तो कहीं ना कहीं आपके दिमाग में इसको लेकर उलझन है अब धर्म और प्रेम दोनों को मानते हैं और इसको लेकर उलझन है तो इसलिए धर्म को समझना यहां एक छोटे से औरतों में समझना जरूरी है और प्यार को समझना जरूरी है जैसे एक मां है बच्चों को जन्म देती है तो जन्म देती है तो उसका क्या काम है मां को जन्म देने के बाद बच्चे का लालन-पालन करना क्या है उसका धर्म है कर्तव्य है उसका धर्म है उसको प्यार करना पालना पूछना यह सब उसका एक मां का धर्म है ठीक है और बच्चे क्या है तो अभी तो वह जन्म लिए हैं और वह जब बड़े होंगे तो मां को प्यार दुलार और सम्मान देना उनका धर्म बन जाए क्योंकि वह मां है तो कर्तव्य है धर्म है और एक बौद्ध धर्म जो है और प्रेम जो है प्रेम क्या है स्त्रीलिंग है एहसास है आपकी दिन दिमाग के अंदर का एहसास है फीलिंग जैसे खुशियां आती है हवाएं चलती है आपको फील होता दिखता नहीं है फील होता है महसूस होता है जारे गर्मी है सब फील होता है फिल्म की चीजें प्रेम भी एहसास है तरक्की फीलिंग और धर्म धर्म किसी भी चीजों को का कर्तव्य बोध जो है और धर्म है उसको करना वह धर्म है आप अपने हिसाब से बहुत सारी चीजें धर्म बन जाती है करना किसी काम को करना किसी चीज को करना एक धर्म सा बन जाता लेकिन प्यार हर चीज में शामिल है बहुत सारी चीजें धर्म नहीं हो सकती बहुत सारी चीजों पर बहुत सारी जगह पर आपका धर्म अप्लाई नहीं हो सकता लेकिन प्यार है और धर्मों में प्यार की कीमत हर धर्मों में और प्यार हर जियो हर ब्रह्मांड में जितने भी जीव हैं जंतु है सब का अटैचमेंट कहीं न कहीं प्यार की वजह से ही है प्यार वाली जो फीलिंग है वह प्रकृति में बुद्धिमान है और इस फीलिंग को जीना ही आपका धर्म इस फिल्म के साथ जीना ही धर्म है धर्म किस बात के लिए किसी चीज को करने के लिए धर्म प्रेम ऑलरेडी उपलब्ध ऑलरेडी से पहले सिख धर्म तो हम बनाते हैं धर्म इंसान का बनाई हो प्रेम कुदरत की दी हुई यह प्रकृति की चीजें की फीलिंग की चीजें जैसे हवाएं जैसे मौसम निषेध है जैसे छांव है जैसे दिन है जैसे रात है उसे प्रेम में लेकिन धर्म हमारा आपका बनाया हुआ चीज प्यार करना कोई धर्म नहीं है कोई धर्म नहीं है यह एहसास इसको धर्म से जोड़ने की जरूरत भी नहीं है लेकिन किसी को प्यार करना मां को प्यार करना आपका धर्म आपका फर्ज है अपना करतब हर इंसान से मोहब्बत करना हर इंसान को प्यार से बात करना आपका धर्म होना चाहिए होना चाहिए इसको जरूर नहीं होना चाहिए लेकिन फीलिंग प्यार जो है वह फीलिंग फीलिंग जो होती है वह हमेशा एक बहुत गहरी चीजें होती है यह अंदर किसी से प्रकृति से दिलो दिमाग से होती हुई चीज है प्रकृति प्रदत चीज है फिर यार आप दिखते हैं बहुत बड़े बच्चों को प्यार करते हो बस अभी मैं दूसरे पशु को प्यार करते हैं पर फिर भी इंसान को प्यार करते तो क्या वह कोई उसको धर्म पढ़ाया गया उसको सब पता है कि यह मेरा धर्म है नहीं वो एहसास है एक जीव एक दूसरे से प्यार की फीलिंग करता है वह कब कहां किस तरह उत्पन्न हो जाती है यह पता नहीं होता यह फिल्म है वह प्रकृति प्रदत चीजें हैं जैसे हवा है पानी है मौसम है 6 दिन है रात है मैंने यह जो कहा है यह इसी तरह से प्यार है सुख दुख है यह सारी चीजें जो फीलिंग की चीज है यह उसी तरह से तो प्यार अपने आप में एक प्रकृति प्रदत्त है लेकिन धर्म इंसान प्रदत शीशे है धर्म इंसान ने बनाया यह मेरा धर्म वह मेरा दर्द यह कर्तव्य धर्म विज्ञान के अनुसार उन चीजों की उत्पत्ति हुई है लेकिन कोई अज्ञानी व्यक्ति भी प्यार करता है धर्म भी निभाता तो वह बताने चीज होती है बताया जाता है कि आप यह धर्म में आपका वह धर्म धर्म के बारे में उसको पता होता है तो लेकिन फीलिंग को बताने की जरूरत प्यार को बताने आजा तने की जरूरत नहीं होती मां का जन्म लिया बच्चा और कोख से वो प्यार करता है मां फिल्म मां की धर्म प्यार हमेशा खुशियों से भरा रहा है प्रेम प्रेम एक प्रकृति प्रदत्त चीजें है और फीलिंग है धर्म इंसान का बनाया हुआ चीज है इसलिए हमेशा प्यार प्रकृति कुदरत किसी ने जो भी होगी और अनमोल होती है और वह हमेशा और को बड़ा माना जाएगा और उसे पढ़कर माना जाएगा यहां आपको धर्म से बढ़कर प्रेम है और अगर आपको और संदर्भ में सोच रहे हैं कि धर्म को लेकर अपने मन को लेकर और कोई कंफ्यूजन क्या किसी से प्रेम कर रहे हो आप धर्म देखे या क्या अगर ऐसा कोई कंफ्यूजन है तो आपको पता ही है कि एक इंसान किसी इंसान से प्यार करता है तो जाति धर्म और कुछ भी देखी नहीं जाती अगर उस संदर्भ में भी देखते यह बातें हैं बहुत पीर कटवाते मुझे लगता है आपको मेरी बातें समझ में आ ही गई होगी अगर आप कुछ बातें लगे तो जरूर कमेंट करिएगा मुझे फेसबुक पर भी नयन जे डबली नयन जी आप डायल सर्च करेंगे तो मिल जाएंगे मोटिवेशन नैन करके आप सर्च करेंगे फेसबुक पर तो हम उपलब्ध होंगे और यूट्यूब पर मौर्य न्यूज़ एटीन एम ए यू आर वाई ए एम ओ एन ई डब्ल्यू एस न्यूज़ एटिन आप यूट्यूब पर सर्च करेंगे तो मोरे न्यूज़ एटिन मिलेगा आप मुझसे वहां भी देख सकते हैं जो सकते हैं और वह भी कई तरह की खबरों आपको से मुलाकात होगी कभी मेरे दिए हुए हैं फोन नंबर दिए हुए व्हाट्सएप से अब लूट सकते हैं और अपनी बातों को रख सकते हैं थैंक यू आप बने रहिए हमारे साथ था मुझे उम्मीद है आपको जरूर कुछ ना कुछ फायदा हुआ होगा और आप किसी सुनेंगे तो सुनने के बाद कमेंट जरूर करें
Likes  115  Dislikes    views  8205
WhatsApp_icon
6 जवाब देखें >

Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो आपका क्वेश्चन है क्या जीवन में धर्म से बढ़कर प्यारा हां जीवन में धर्म छोड़कर प्यार की प्यार की जाति का नहीं होता...
जवाब पढ़िये
हेलो आपका क्वेश्चन है क्या जीवन में धर्म से बढ़कर प्यारा हां जीवन में धर्म छोड़कर प्यार की प्यार की जाति का नहीं होता
Likes  1  Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
6 जवाब देखें >

Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां जीवन में धर्म से बढ़कर प्यार है तभी कहा जाता है कि जीवन में जो मनुष्य का सबसे बड़ा धर्म है और इंसानियत का धर्म है जो आपका किसी मजहब किसी संप्रदाय से बहुत ही ऊपर है इसलिए जब आप किसी धर्म विशेष ...
जवाब पढ़िये
जी हां जीवन में धर्म से बढ़कर प्यार है तभी कहा जाता है कि जीवन में जो मनुष्य का सबसे बड़ा धर्म है और इंसानियत का धर्म है जो आपका किसी मजहब किसी संप्रदाय से बहुत ही ऊपर है इसलिए जब आप किसी धर्म विशेष या अक्सर आप देखते ऑनर किलिंग की चीजें आती हैं देखने को मिलती हैं साथ ही साथ जो आधार संप्रदाय में लोग एक शादी वगैरा या किसी की महिला मित्र यानी गर्लफ्रेंड किसी अदर कास्ट की है तू इसमें बड़ी प्रॉब्लम होती है लेकिन इस समाज को यह समझना चाहिए कि आप की उनकी खुशी उसमें तो उसी को उसको प्रोवाइड कर आना चाहिए
Likes  0  Dislikes    views  111
WhatsApp_icon
6 जवाब देखें >

Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसा आपने बोला कि क्या जीवन में धर्म से बढ़कर प्यार है देखिए प्यार एक अलग होता है और धर्म एक अलग होता है धर्म हर धर्म अलग-अलग होते हैं ठीक है लेकिन आप यही भगवान से एक है चाहे किसी भी धर्म के हो गॉड एक...
जवाब पढ़िये
जैसा आपने बोला कि क्या जीवन में धर्म से बढ़कर प्यार है देखिए प्यार एक अलग होता है और धर्म एक अलग होता है धर्म हर धर्म अलग-अलग होते हैं ठीक है लेकिन आप यही भगवान से एक है चाहे किसी भी धर्म के हो गॉड एक होते हैं और हम लोग के हृदय में बसते हैं और यह प्यार का मामला है तो फिर आप अगर सच्चा प्यार है अब किसी भी अंतर का लव करते हो तो अगर आप का दुर्लभ है तो वह सही है और यह दोनों एक दूसरे पर ही हैं एक दूसरे के कालू है ठीक है धर्म और प्यार तो यह दोनों बराबर है इक्वल है कोई इससे बढ़कर नहीं होता है
Likes  0  Dislikes    views  122
WhatsApp_icon
6 जवाब देखें >

Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे जीवन में धर्म से बढ़कर प्यार होता है तो इसमें कोई गलत बात नहीं है अगर आप सबको प्यार की नजर से देखते हैं तो जो है आपका जीवन अपने आप आनंद में हो जाएगा धर्म भी लगभग यही सिखाता है लेकिन अगर आप देखेंग...
जवाब पढ़िये
मेरे जीवन में धर्म से बढ़कर प्यार होता है तो इसमें कोई गलत बात नहीं है अगर आप सबको प्यार की नजर से देखते हैं तो जो है आपका जीवन अपने आप आनंद में हो जाएगा धर्म भी लगभग यही सिखाता है लेकिन अगर आप देखेंगे आप किसी से प्यार से पेश आ रहा हूं सामने वाला जो है आप पर क्षति पहुंचा रहा हानि पहुंचा रहा है तो फिर जो है आप कभी प्यार से पेश आते हैं आएंगे तो आती है ज्यादा दिन नहीं उसको झेल पाएंगे आपको यह देखना है कि कौन जो है आपका फायदा उठा रहा है और कौन जो है सही में अच्छा है और फिर उस हिसाब से जो है आप प्यार से सबसे पैसा लेकिन अपना एक बनाकर रखें कि इससे ज्यादा जो है मैं नहीं करूंगा वरना यह तो फायदा उठा रहा है तो नुकसान होता है ध्यान रखते हुए
Likes  0  Dislikes    views  107
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Kya Jeevan Mein Dharam Se Badhkar Pyar Hai,Is There More Love In Life Than Religion?,


vokalandroid