शरीर की भाषा यानी बॉडी लैंग्विज की मूल बातें क्या हैं? मैं अपनी बॉडी लैंग्विज का उपयोग करके एक कॉन्फ़िडेंट और आत्मविश्वासी व्यक्ति की तरह कैसे प्रतीत हो सकता हूँ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बॉडी लैंग्वेज पहले तो आपको ही चीज बहुत क्लियर होनी चाहिए की बॉडी लैंग्वेज इस टोटली कंट्रोल कि आप अंदर क्या महसूस कर रहे हैं मतलब आपके दिल और दिमाग में क्या चल रहा है अगर आपके दिल में कुछ और है दिमाग में कुछ और है तो वह भी आपकी बॉडी लैंग्वेज में दिख जाएगा यदि आपका दिल और दिमाग टू ट्रीस सिंह है टोटली पॉजिटिव है बहुत खुश है वह भी आपके बॉडी लैंग्वेज में दिख जाएगा अपनी बॉडी लैंग्वेज को सही करने के लिए आपको पहले तो अपने दिमाग और मन के संतुलन को सही करना होगा आपको खुद पॉजिटिव रमन को और अपने दिमाग को पॉजिटिव रखना होगा अपने सोच विचार को पॉजिटिव रखना होगा कि वही चीजें बॉडी लैंग्वेज में फिर से तू जैसे कि मैं आपको एक एग्जांपल देती हूं यदि कोई ऐसा बच्चा है जो जिसका रिजल्ट वह इफेक्ट कर रहा था कि मैं दो टाइगर की न्यूज़ बच्चे का रिजल्ट 62 परसेंटेज आ जाए तो अभी बच्चा थोड़ा सा सेट है थोड़ा ज्यादा अपसेट जैसा भी उसका व्यवहार और व्यक्तित्व थे मोशंस एग्जिट करेगा तो उसे मोशन में उसकी बॉडी लैंग्वेज में डांस करना आया लोगों को गले मिलना ही सब कुछ नहीं होगा सब की बॉडी लैंग्वेज आपके पास इससे गवर्नेंस अगर आपका थॉट प्रोसेस कॉन्फिडेंट है आपकी सोच में आपने सोचा है कि आप कौन से दिन है आप निर्भय हैं आप घबरा आएंगे नहीं तो वह सीन चीज आपकी बॉडी लैंग्वेज में आएगी अगर आप सोचेंगे आप नर्वस है आपको डर लग रहा है तो वह भी रख लड़कियों का बॉडी लैंग्वेज में तो पहले अपने माइंड को चंदन कीजिए
बॉडी लैंग्वेज पहले तो आपको ही चीज बहुत क्लियर होनी चाहिए की बॉडी लैंग्वेज इस टोटली कंट्रोल कि आप अंदर क्या महसूस कर रहे हैं मतलब आपके दिल और दिमाग में क्या चल रहा है अगर आपके दिल में कुछ और है दिमाग में कुछ और है तो वह भी आपकी बॉडी लैंग्वेज में दिख जाएगा यदि आपका दिल और दिमाग टू ट्रीस सिंह है टोटली पॉजिटिव है बहुत खुश है वह भी आपके बॉडी लैंग्वेज में दिख जाएगा अपनी बॉडी लैंग्वेज को सही करने के लिए आपको पहले तो अपने दिमाग और मन के संतुलन को सही करना होगा आपको खुद पॉजिटिव रमन को और अपने दिमाग को पॉजिटिव रखना होगा अपने सोच विचार को पॉजिटिव रखना होगा कि वही चीजें बॉडी लैंग्वेज में फिर से तू जैसे कि मैं आपको एक एग्जांपल देती हूं यदि कोई ऐसा बच्चा है जो जिसका रिजल्ट वह इफेक्ट कर रहा था कि मैं दो टाइगर की न्यूज़ बच्चे का रिजल्ट 62 परसेंटेज आ जाए तो अभी बच्चा थोड़ा सा सेट है थोड़ा ज्यादा अपसेट जैसा भी उसका व्यवहार और व्यक्तित्व थे मोशंस एग्जिट करेगा तो उसे मोशन में उसकी बॉडी लैंग्वेज में डांस करना आया लोगों को गले मिलना ही सब कुछ नहीं होगा सब की बॉडी लैंग्वेज आपके पास इससे गवर्नेंस अगर आपका थॉट प्रोसेस कॉन्फिडेंट है आपकी सोच में आपने सोचा है कि आप कौन से दिन है आप निर्भय हैं आप घबरा आएंगे नहीं तो वह सीन चीज आपकी बॉडी लैंग्वेज में आएगी अगर आप सोचेंगे आप नर्वस है आपको डर लग रहा है तो वह भी रख लड़कियों का बॉडी लैंग्वेज में तो पहले अपने माइंड को चंदन कीजिए
Likes  11  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो सर के पास ज्ञानी बॉडी लैंग्वेज की मूल बातें क्या है मैं अपनी बॉडी लैंग्वेज का मतलब अच्छे से इस्तेमाल कैसे कर सकता हूं दूसरों को इंप्रेस करने के लिए पहली चीज आप कर सकते हैं वह है कि जवाब चल रहे हैं जब कोई भी एक नॉरमल इंसान चलता है वह तो कभी कभी आपने देखा हो जो डिप्रेस्ड पर्सन होते हैं ज्ञान की जो मतलब डिप्रेशन में होते हैं वह अपना सर नीचे तो आ जाना चाहते हैं तो आप अपना सिर ऊंचा कर के सामने देख कर चल सकते हैं वह आपको बहुत ज्यादा फायदेमंद होगा अगला जो हम चेक अकाउंट करते हैं वह है जब कोई भी नॉरमल इंसान चलता है तो वह थोड़े से अच्छी स्पीड में चलता है लेकिन अगर कोई एक अच्छी पर्सनालिटी कोई पब्लिक फिगर जब चलता है या तो कोई यूनिक पब्लिक पर्सनालिटी जब चलता है तो वह थोड़ा सा स्लो चलता है अगर आप जेम्स बॉन्ड की मूवी देखेंगे तो उसमें दिया होगा कि जेम्स बॉन्ड बहुत ही धीरे धीरे चलते हैं उनकी स्पीड नार्मल लोगों से अच्छी होती है उसके बाद तीसरा और आखिरी फॉलो कर सकते हैं वह हुआ कि अब आप अपनी बॉडी को हल्का टचस्क्रीन कर सकते हैं जब आप जेम्स बॉन्ड को चलते हुए देखेंगे जेम्स बॉन्ड दुनिया में बहुत ही ज्यादा फेमस अपनी चलने की चाल को लेकर जब आप चलते हैं तो अपनी बॉडी को थोड़ा सा स्विंग किया कीजिए इससे क्या होगा कि एक अलग ही बात होगी उसके साथ साथ एक और चीज जॉब कर सकते हैं वह आई कांटेक्ट जब किसी को आप देखते हैं तब आप उनकी आंखों में आंखें डालकर हल्का सा स्माइल देंगे तो बहुत ही अच्छा रिस्पॉन्स सामने मिलेगा बॉडी लैंग्वेज ठीक किया जाए
हेलो सर के पास ज्ञानी बॉडी लैंग्वेज की मूल बातें क्या है मैं अपनी बॉडी लैंग्वेज का मतलब अच्छे से इस्तेमाल कैसे कर सकता हूं दूसरों को इंप्रेस करने के लिए पहली चीज आप कर सकते हैं वह है कि जवाब चल रहे हैं जब कोई भी एक नॉरमल इंसान चलता है वह तो कभी कभी आपने देखा हो जो डिप्रेस्ड पर्सन होते हैं ज्ञान की जो मतलब डिप्रेशन में होते हैं वह अपना सर नीचे तो आ जाना चाहते हैं तो आप अपना सिर ऊंचा कर के सामने देख कर चल सकते हैं वह आपको बहुत ज्यादा फायदेमंद होगा अगला जो हम चेक अकाउंट करते हैं वह है जब कोई भी नॉरमल इंसान चलता है तो वह थोड़े से अच्छी स्पीड में चलता है लेकिन अगर कोई एक अच्छी पर्सनालिटी कोई पब्लिक फिगर जब चलता है या तो कोई यूनिक पब्लिक पर्सनालिटी जब चलता है तो वह थोड़ा सा स्लो चलता है अगर आप जेम्स बॉन्ड की मूवी देखेंगे तो उसमें दिया होगा कि जेम्स बॉन्ड बहुत ही धीरे धीरे चलते हैं उनकी स्पीड नार्मल लोगों से अच्छी होती है उसके बाद तीसरा और आखिरी फॉलो कर सकते हैं वह हुआ कि अब आप अपनी बॉडी को हल्का टचस्क्रीन कर सकते हैं जब आप जेम्स बॉन्ड को चलते हुए देखेंगे जेम्स बॉन्ड दुनिया में बहुत ही ज्यादा फेमस अपनी चलने की चाल को लेकर जब आप चलते हैं तो अपनी बॉडी को थोड़ा सा स्विंग किया कीजिए इससे क्या होगा कि एक अलग ही बात होगी उसके साथ साथ एक और चीज जॉब कर सकते हैं वह आई कांटेक्ट जब किसी को आप देखते हैं तब आप उनकी आंखों में आंखें डालकर हल्का सा स्माइल देंगे तो बहुत ही अच्छा रिस्पॉन्स सामने मिलेगा बॉडी लैंग्वेज ठीक किया जाए
Likes  12  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए बॉडी लैंग्वेज फिजिकली हर इंसान एक्चुली अपने नॉलेज के हिसाब से उसे संभालता है जो इंसान के पास कोई चीज का नॉलेज ज्यादा है या तो फिर अगर उसके अंदर कोई चीज के में ज्यादा कॉन्फिडेंस है तो डेफिनिटी उसका खड़े रहने का पोस्टर बिल्कुल उस पर ही डिपेंड करता है इससे आगे मैं आपको यह कहना चाहता हूं कि जब कि आपका एक सवाल ऐसा भी है कि किस तरीके से हम अपना कॉन्फिडेंस बढ़ाए आत्मा विश्वास बढ़ाइए देखिए आपका आत्मविश्वास डिपेंड करता है आपके नॉलेज पर आपके ज्ञान से कोई भी इंसान अगर किसी चीज पर नॉलेज नहीं पाता है या फिर उसका नहीं होता है तो उस वक्त उसका आत्मविश्वास कम होता है और अगर आपका कहीं पर कोई नॉलेज लेवल थोड़ा सा ज्यादा होगा तो आपका बट हो गया से वहां पर उस टॉपिक पर डिस्कस करने के लिए यह बातें करने के लिए डेफिनटली एक अच्छा स्टैंडर्ड होता है एक अच्छा प्लेटफॉर्म होता है सोम इंर्पोटेंट चीज यह है बॉडी लैंग्वेज अपने आप संभल नहीं शुरू हो जाती है एक बार इंसान ज्ञान के क्षेत्र में प्रवेश करता नॉलेज में आगे बढ़ता है तो उस टाइम इट्स कि आप अपने नॉलेज को बढ़ाइए और अपने आप के हिसाब से ही वह एक बॉडी लैंग्वेज डेवलप कर दी जाती है जैसे कोई टैक्सी ड्राइवर है तो उसका एक खड़े रहने का पोषण अलग होता है लेकिन जब आप गाड़ियों की बातें करते हैं तो नीचे है उसका एक बॉडी लैंग्वेज चेंज हो जाता है अगर आप किसी मैकेनिक के पास जाइए और उनके पास में पॉलिटिक्स की बातें करो या फिर फुटबॉल की बातें करो तो उन्हें शायद यह सुनकर कमजोरी फील होने लगती क्योंकि शायद वो नॉलेज का क्षेत्र नहीं है लेकिन अगर वह मैकेनिक के पास मशीनों की बातें करो तो डेफिनिटी आप देखोगी उसका पोस्टर चेंज हो जाता है उसका स्पाइनेट हो जाता है यानी कि खड़े रहने का पोस्टर जो है या फिर जो खबर है वह सीधी हो जाती है आपस में दम निकलने लगता है कि सारी चीजें जो है वह इंसान की नॉलेज पर डिपेंड करता है
देखिए बॉडी लैंग्वेज फिजिकली हर इंसान एक्चुली अपने नॉलेज के हिसाब से उसे संभालता है जो इंसान के पास कोई चीज का नॉलेज ज्यादा है या तो फिर अगर उसके अंदर कोई चीज के में ज्यादा कॉन्फिडेंस है तो डेफिनिटी उसका खड़े रहने का पोस्टर बिल्कुल उस पर ही डिपेंड करता है इससे आगे मैं आपको यह कहना चाहता हूं कि जब कि आपका एक सवाल ऐसा भी है कि किस तरीके से हम अपना कॉन्फिडेंस बढ़ाए आत्मा विश्वास बढ़ाइए देखिए आपका आत्मविश्वास डिपेंड करता है आपके नॉलेज पर आपके ज्ञान से कोई भी इंसान अगर किसी चीज पर नॉलेज नहीं पाता है या फिर उसका नहीं होता है तो उस वक्त उसका आत्मविश्वास कम होता है और अगर आपका कहीं पर कोई नॉलेज लेवल थोड़ा सा ज्यादा होगा तो आपका बट हो गया से वहां पर उस टॉपिक पर डिस्कस करने के लिए यह बातें करने के लिए डेफिनटली एक अच्छा स्टैंडर्ड होता है एक अच्छा प्लेटफॉर्म होता है सोम इंर्पोटेंट चीज यह है बॉडी लैंग्वेज अपने आप संभल नहीं शुरू हो जाती है एक बार इंसान ज्ञान के क्षेत्र में प्रवेश करता नॉलेज में आगे बढ़ता है तो उस टाइम इट्स कि आप अपने नॉलेज को बढ़ाइए और अपने आप के हिसाब से ही वह एक बॉडी लैंग्वेज डेवलप कर दी जाती है जैसे कोई टैक्सी ड्राइवर है तो उसका एक खड़े रहने का पोषण अलग होता है लेकिन जब आप गाड़ियों की बातें करते हैं तो नीचे है उसका एक बॉडी लैंग्वेज चेंज हो जाता है अगर आप किसी मैकेनिक के पास जाइए और उनके पास में पॉलिटिक्स की बातें करो या फिर फुटबॉल की बातें करो तो उन्हें शायद यह सुनकर कमजोरी फील होने लगती क्योंकि शायद वो नॉलेज का क्षेत्र नहीं है लेकिन अगर वह मैकेनिक के पास मशीनों की बातें करो तो डेफिनिटी आप देखोगी उसका पोस्टर चेंज हो जाता है उसका स्पाइनेट हो जाता है यानी कि खड़े रहने का पोस्टर जो है या फिर जो खबर है वह सीधी हो जाती है आपस में दम निकलने लगता है कि सारी चीजें जो है वह इंसान की नॉलेज पर डिपेंड करता है
Likes  10  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आसान भाषा में कहें तो बॉडी लैंग्वेज यानी शरीर की भाषा का मतलब यह है अनकहे शब्दों का वार्तालाप इससे हम अपनी सच्ची भावनाएं अपनी इच्छाएं उमंगों को व्यक्त करते हैं इसे समझने के लिए तीन जरूरी बातों को समझना जरूरी है पहला जैसल यानी कि हमारे हावभाव दूसरा पोस्ट जल यानी कि शारीरिक मुद्रा तीसरा प्रश्न एक्सप्रेशन यानी कि चेहरे के हाव-भाव को समझकर जान कर अपने आपको आत्मविश्वास ही बना सकते हैं तो उसके लिए कुछ चीजों को अपने अंदर बदलाव लाने की जरूरत है तब हम किसी से बात करें तो हम अपना पोषण सखी रे शारीरिक पोस्टर जो है बात करें तो तुमसे बात करें जैसे कि अक्सर आपने देखा होती है घबराहट होती है तो अपने को बंद कर कर खड़े होते हैं हाथों को घर के खड़े होते हैं थोड़ा अगर जिसकी बॉडी लैंग्वेज इसका शरीर एकदम नमस्कार करे या हम किसी से हाथ मिलाए जाते वक्त उस लम्हा सोचता है क्या आपने आप को अच्छे मजबूती से पकड़ा है तो जाहिर करता है कि आपके अंदर कितना आत्मविश्वास है तीसरा किसी से भी बात करते वक्त एक आंखों को आंखों में डाल कर बात करना एक दूसरे से आंख मिलाकर बात करना इससे पता चलता है कि आप जो भी बात कहना चाह रहे हैं उस बात में आपको कितना विश्वास है अगर हमें कॉन्फिडेंस नहीं होता है जब हमारे आत्मविश्वास नहीं होता है जो हम कह रहे हो सही है गलत है इधर बात करते हैं बात करते हैं मैग्नेटिक बॉडी लैंग्वेज जाता है कि हम बात करते हैं कभी-कभी कोई हाथ में हाथ डाला हुआ है रिजेक्ट करती है कि हमें किसी न किसी तरह से वह कॉन्फिडेंस नहीं है तो जब किसी से हम बात करें बिना शरीर को हिला दूं कुछ भी बात करें एक फोन पर खड़े होकर बात करें आखिरी चीज जब हम बात करें तो हम आपको दूसरे की तरफ से आंखों में आंखें डालकर बात करनी है यह भी हमारी बॉडी लैंग्वेज इंपॉर्टेंट सकता है अगर हम इन चीजों को ध्यान में रखते हुए बात करें तो अपने आप दिखा सकते हैं इन सबको प्राप्त करने का सबसे अच्छा तरीका यही है कि घर में शीशे के सामने खड़े होते हुए अपने आप बात करते हुए किसी चीज को बार-बार दोहरा के प्रैक्टिस करेंगे ऑटोमेटिकली जब हम बाहर से बात करें तो अच्छी तरह से
अगर आसान भाषा में कहें तो बॉडी लैंग्वेज यानी शरीर की भाषा का मतलब यह है अनकहे शब्दों का वार्तालाप इससे हम अपनी सच्ची भावनाएं अपनी इच्छाएं उमंगों को व्यक्त करते हैं इसे समझने के लिए तीन जरूरी बातों को समझना जरूरी है पहला जैसल यानी कि हमारे हावभाव दूसरा पोस्ट जल यानी कि शारीरिक मुद्रा तीसरा प्रश्न एक्सप्रेशन यानी कि चेहरे के हाव-भाव को समझकर जान कर अपने आपको आत्मविश्वास ही बना सकते हैं तो उसके लिए कुछ चीजों को अपने अंदर बदलाव लाने की जरूरत है तब हम किसी से बात करें तो हम अपना पोषण सखी रे शारीरिक पोस्टर जो है बात करें तो तुमसे बात करें जैसे कि अक्सर आपने देखा होती है घबराहट होती है तो अपने को बंद कर कर खड़े होते हैं हाथों को घर के खड़े होते हैं थोड़ा अगर जिसकी बॉडी लैंग्वेज इसका शरीर एकदम नमस्कार करे या हम किसी से हाथ मिलाए जाते वक्त उस लम्हा सोचता है क्या आपने आप को अच्छे मजबूती से पकड़ा है तो जाहिर करता है कि आपके अंदर कितना आत्मविश्वास है तीसरा किसी से भी बात करते वक्त एक आंखों को आंखों में डाल कर बात करना एक दूसरे से आंख मिलाकर बात करना इससे पता चलता है कि आप जो भी बात कहना चाह रहे हैं उस बात में आपको कितना विश्वास है अगर हमें कॉन्फिडेंस नहीं होता है जब हमारे आत्मविश्वास नहीं होता है जो हम कह रहे हो सही है गलत है इधर बात करते हैं बात करते हैं मैग्नेटिक बॉडी लैंग्वेज जाता है कि हम बात करते हैं कभी-कभी कोई हाथ में हाथ डाला हुआ है रिजेक्ट करती है कि हमें किसी न किसी तरह से वह कॉन्फिडेंस नहीं है तो जब किसी से हम बात करें बिना शरीर को हिला दूं कुछ भी बात करें एक फोन पर खड़े होकर बात करें आखिरी चीज जब हम बात करें तो हम आपको दूसरे की तरफ से आंखों में आंखें डालकर बात करनी है यह भी हमारी बॉडी लैंग्वेज इंपॉर्टेंट सकता है अगर हम इन चीजों को ध्यान में रखते हुए बात करें तो अपने आप दिखा सकते हैं इन सबको प्राप्त करने का सबसे अच्छा तरीका यही है कि घर में शीशे के सामने खड़े होते हुए अपने आप बात करते हुए किसी चीज को बार-बार दोहरा के प्रैक्टिस करेंगे ऑटोमेटिकली जब हम बाहर से बात करें तो अच्छी तरह से
Likes  14  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बॉडी लैंग्वेज हमारी जान को स्टार्ट करें मोदी की फोटो बहुत ही कम अपने एक्सप्रेशन पर किसी इंसान को यह व्यक्त कर सकते हैं कि हम अभी क्या महसूस कर रहे हैं हमारे के तरीके से हमारे उठने के तरीके से बात करने के तरीके से हमारी चीजों के बारे में एक बहुत ही हम कौन है अच्छा दिखने बात करते हैं तो बात करते हुए एक किसे कहते हैं समझे क्या चीज बात करनी है कि बारे में बात करनी है आपसे बात करना चाहिए तो वह करता है कि थोड़ा खून की कमी है
बॉडी लैंग्वेज हमारी जान को स्टार्ट करें मोदी की फोटो बहुत ही कम अपने एक्सप्रेशन पर किसी इंसान को यह व्यक्त कर सकते हैं कि हम अभी क्या महसूस कर रहे हैं हमारे के तरीके से हमारे उठने के तरीके से बात करने के तरीके से हमारी चीजों के बारे में एक बहुत ही हम कौन है अच्छा दिखने बात करते हैं तो बात करते हुए एक किसे कहते हैं समझे क्या चीज बात करनी है कि बारे में बात करनी है आपसे बात करना चाहिए तो वह करता है कि थोड़ा खून की कमी है
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी भी इंसान की बॉडी लैंग्वेज दो चीजों पर निर्धारित होती है पहला कि वह अपने मन में क्या महसूस कर रहा है उसकी फीलिंग कैसी है उस वक्त और दूसरा उसके दिमाग में कैसे बात चल रहे हैं तो मैं आपको यह सलाह दूंगी कि आपने जो डायरेक्शन चुना है आपका जो सवाल है कि आप बॉडी लैंग्वेज को चेंज करके कॉन्फिडेंट कैसे फील कर सकते हैं दूसरों को अगर आप इसको थोड़ा सा करले और आप अपने कॉन्फिडेंस पर काम करें अपने आप को अंदर से आत्मविश्वास ही और अपने आपको बहुत ज्यादा कॉन्फिडेंट फील करेंगे तो बॉडी लैंग्वेज चेंज हो जाएगी उसमें आपको कुछ करने की जरूरत ही नहीं है और अपनी कॉन्फिडेंस को बढ़ाने के लिए आप अपने मन में ज्यादा से ज्यादा समय अपनी खुद की तारीफ करें आपने जो अच्छे काम किए हैं आप जो कुछ कर सकते हैं आप अपने आप को बेहतर बनाने की कोशिश करेंगे तो कॉन्फिडेंस अपने आप बढ़ेगा कॉन्फिडेंस बढ़ेगा तो बॉडी लैंग्वेज अपने आप चेंज हो जाएगी
किसी भी इंसान की बॉडी लैंग्वेज दो चीजों पर निर्धारित होती है पहला कि वह अपने मन में क्या महसूस कर रहा है उसकी फीलिंग कैसी है उस वक्त और दूसरा उसके दिमाग में कैसे बात चल रहे हैं तो मैं आपको यह सलाह दूंगी कि आपने जो डायरेक्शन चुना है आपका जो सवाल है कि आप बॉडी लैंग्वेज को चेंज करके कॉन्फिडेंट कैसे फील कर सकते हैं दूसरों को अगर आप इसको थोड़ा सा करले और आप अपने कॉन्फिडेंस पर काम करें अपने आप को अंदर से आत्मविश्वास ही और अपने आपको बहुत ज्यादा कॉन्फिडेंट फील करेंगे तो बॉडी लैंग्वेज चेंज हो जाएगी उसमें आपको कुछ करने की जरूरत ही नहीं है और अपनी कॉन्फिडेंस को बढ़ाने के लिए आप अपने मन में ज्यादा से ज्यादा समय अपनी खुद की तारीफ करें आपने जो अच्छे काम किए हैं आप जो कुछ कर सकते हैं आप अपने आप को बेहतर बनाने की कोशिश करेंगे तो कॉन्फिडेंस अपने आप बढ़ेगा कॉन्फिडेंस बढ़ेगा तो बॉडी लैंग्वेज अपने आप चेंज हो जाएगी
Likes  10  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते दोस्तों मेरे आणि डॉ प्रिया झा के तरफ से आप सबको दिन की शुभकामनाएं अभी यह जो क्वेश्चन है यह जो सवाल है कि अपने बॉडी लैंग्वेज का उपयोग करके कैसे कॉन्फिडेंट और आत्म विश्वासी व्यक्ति प्रतीत हो सके हम सो मैंने ना पॉइंट जो डाउन कर लिया है जिसकी बीवी वाला आईडिया पोर्ट नो फर्स्ट अकॉर्डिंग टू मी बुद्धि आप जब भी जिन से भी घर के लोगों से या बाहर के लोगों से बात करते हो प्लीज मेंटेन एन आई कॉन्टैक्ट डीटेल्स सी फर्स्ट नाइट गुड शो रिस्पेक्ट ऑल स्वीट शॉप्स अट अंडरकॉन्फिडेंट शो ऑफिस को यू एस अक्षर ई विल हेल्प यू टो बिल्ड कॉन्फिडेंस टो फर्स्ट कॉन्टैक्ट सेकंड ऑलवेज ट्री ट्री ट्री पोस्टर इज वेरी इंपॉर्टेंट विनोद अवेंजर्स सेटिंग शो यू आर माइन व्हाट इस गोइंग इंसाइड वर्मा एंड फॉर सीनियर सेकेंडरी स्टेट्स थर्ड देखिए हम सब घर बाहर निकलते हैं तो हम कोई ना कोई परपस से निकलते हैं शो द परपस योर इंटेंशन एंड एयरपोर्ट शूट सोनी और फिर 24 इंच और विद्युत दिन आप अगर नवरत्न डोंट रिटर्न टू बी समथिंग यू आर नॉट शो दैट इज द फूड पॉइंट एंड लास्ट गुड इंटेंशंस गुड्डा तू सोने ऑफिस शो ए गुड इंटेंशंस लो एंड द सिटी जो आपके मन में है उसको बाहर रखी है जो आप नहीं हो वह बनने की कोशिश भी मत कीजिए तो दिख जाता है हमें सबको लगता है कि किसी को पता नहीं चल रहा है पर सब सब कुछ जानते हैं और जो सबसे चुप बैठे रहते हैं वह सबसे ज्यादा अफसोस करते हैं सो नेवर ट्राय टू फुल एनीबडी भी ऑनेस्ट विद योर इंटेंशन एंड फाइंड यू सोनियो फिर और यह छोटी-छोटी बातें ही आपके पर्सनालिटी को बिल्ड करेंगी एंड यू विल बिकम कौन फ्रेंड भी टाइम टाइम ओके ऑल द बेस्ट
नमस्ते दोस्तों मेरे आणि डॉ प्रिया झा के तरफ से आप सबको दिन की शुभकामनाएं अभी यह जो क्वेश्चन है यह जो सवाल है कि अपने बॉडी लैंग्वेज का उपयोग करके कैसे कॉन्फिडेंट और आत्म विश्वासी व्यक्ति प्रतीत हो सके हम सो मैंने ना पॉइंट जो डाउन कर लिया है जिसकी बीवी वाला आईडिया पोर्ट नो फर्स्ट अकॉर्डिंग टू मी बुद्धि आप जब भी जिन से भी घर के लोगों से या बाहर के लोगों से बात करते हो प्लीज मेंटेन एन आई कॉन्टैक्ट डीटेल्स सी फर्स्ट नाइट गुड शो रिस्पेक्ट ऑल स्वीट शॉप्स अट अंडरकॉन्फिडेंट शो ऑफिस को यू एस अक्षर ई विल हेल्प यू टो बिल्ड कॉन्फिडेंस टो फर्स्ट कॉन्टैक्ट सेकंड ऑलवेज ट्री ट्री ट्री पोस्टर इज वेरी इंपॉर्टेंट विनोद अवेंजर्स सेटिंग शो यू आर माइन व्हाट इस गोइंग इंसाइड वर्मा एंड फॉर सीनियर सेकेंडरी स्टेट्स थर्ड देखिए हम सब घर बाहर निकलते हैं तो हम कोई ना कोई परपस से निकलते हैं शो द परपस योर इंटेंशन एंड एयरपोर्ट शूट सोनी और फिर 24 इंच और विद्युत दिन आप अगर नवरत्न डोंट रिटर्न टू बी समथिंग यू आर नॉट शो दैट इज द फूड पॉइंट एंड लास्ट गुड इंटेंशंस गुड्डा तू सोने ऑफिस शो ए गुड इंटेंशंस लो एंड द सिटी जो आपके मन में है उसको बाहर रखी है जो आप नहीं हो वह बनने की कोशिश भी मत कीजिए तो दिख जाता है हमें सबको लगता है कि किसी को पता नहीं चल रहा है पर सब सब कुछ जानते हैं और जो सबसे चुप बैठे रहते हैं वह सबसे ज्यादा अफसोस करते हैं सो नेवर ट्राय टू फुल एनीबडी भी ऑनेस्ट विद योर इंटेंशन एंड फाइंड यू सोनियो फिर और यह छोटी-छोटी बातें ही आपके पर्सनालिटी को बिल्ड करेंगी एंड यू विल बिकम कौन फ्रेंड भी टाइम टाइम ओके ऑल द बेस्ट
Likes  12  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Sharir Ki Bhasha Yani Body Language Ki Mul Batein Kya Hain Main Apni Body Language Ka Upyog Karke Ek Confident Aur Aatmvishwashi Vyakti Ki Tarah Kaise Pratit Ho Sakta Hoon,


vokalandroid