लोग अपने ही लोगो से क्यूँ जलते है और उनके आगे बढ़ने पर उन्हे दुख क्यूँ होता है, उनका साथ क्यूँ नही देते है और उन्हे छति पहुंचाते हैं, ऐसा क्यूँ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए ऐसा वे लोग करते हैं जो दूसरों के प्रति अपने आपको ज्यादा ऊंचा साबित करने में लगे रहते हैं या अपने आप को उच्च शिखर तक ले जाना चाहते हैं कि वह दूसरों को हमेशा नीचा दिखाने में व्यस्त रहते हैं वह चाहते हैं कि जो है बगल वाला हमसे कभी ऊपर नारे और इनसे सर ऊपर ही हम ही राजा हूं ठीक है वह सब से हमेशा ऊपर ही रहना चाहते हैं कभी भी दूसरे को ऊपर नहीं दे सकते तो काफी लोगों की मानसिकता होती है यह जनरल कुछ लोग पाए जाते हैं जो एक दूसरे से चलते हैं अधिकांश लोग ऐसे नहीं होते हैं कुछ मात्रा में ऐसे लोग पाए जाते हैं एक दूसरे से घृणा करते हैं जलते हैं उन की उन्नति को सहन नहीं कर सकते तो उनकी और छोटी सोच होती है कि 200 से चलकर कुछ साबित कर पाएंगे जबकि ऐसा कुछ नहीं होता है यदि आप दूसरों से चलेंगे तो आप जीवन में कभी तरक्की नहीं कर पाएंगे
देखिए ऐसा वे लोग करते हैं जो दूसरों के प्रति अपने आपको ज्यादा ऊंचा साबित करने में लगे रहते हैं या अपने आप को उच्च शिखर तक ले जाना चाहते हैं कि वह दूसरों को हमेशा नीचा दिखाने में व्यस्त रहते हैं वह चाहते हैं कि जो है बगल वाला हमसे कभी ऊपर नारे और इनसे सर ऊपर ही हम ही राजा हूं ठीक है वह सब से हमेशा ऊपर ही रहना चाहते हैं कभी भी दूसरे को ऊपर नहीं दे सकते तो काफी लोगों की मानसिकता होती है यह जनरल कुछ लोग पाए जाते हैं जो एक दूसरे से चलते हैं अधिकांश लोग ऐसे नहीं होते हैं कुछ मात्रा में ऐसे लोग पाए जाते हैं एक दूसरे से घृणा करते हैं जलते हैं उन की उन्नति को सहन नहीं कर सकते तो उनकी और छोटी सोच होती है कि 200 से चलकर कुछ साबित कर पाएंगे जबकि ऐसा कुछ नहीं होता है यदि आप दूसरों से चलेंगे तो आप जीवन में कभी तरक्की नहीं कर पाएंगे
Likes  14  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदी खेत ह्यूमन बिहेवियर है जब हम किसी को भी अपने से आगे बढ़ता हुआ देखते हैं लेकिन अपना अगर कोई इंसान है उसको जो हमारे बहुत नजदीक है तो अगर आगे बढ़े तो वह चीज की जेल से अपने आप ट्रैक्टर जो है वह आ जाती है कि हम दोनों साथ ही थे लेकिन वह इंसान कैसे आगे बढ़ सकते मैं भी वहीं पर हो गई थी उसने वहां पर भी आ जाती है लेकिन यह 38 में ऐसा नहीं होता है और कोई जगह नहीं जलता कुछ लोग जो है आपने अगर पास जो लोग हैं जिससे वह जानते हैं हेलो भर्ती तो उन्हें खुशी मिलती है लेकिन हर अलग-अलग है अलग-अलग उनकी मानसिक धारा है और वह अपने हिसाब से वह काम करते हैं और कई लोग इतनी ज्यादा जलते हैं कि वह चाहते हैं कि वह इंसान कभी आगे ना बढ़े और उनको कैसे जो है रोका जाए को कैसे पीछे किया जाए उसको करने के लिए कुछ भी कर सकते हैं
हिंदी खेत ह्यूमन बिहेवियर है जब हम किसी को भी अपने से आगे बढ़ता हुआ देखते हैं लेकिन अपना अगर कोई इंसान है उसको जो हमारे बहुत नजदीक है तो अगर आगे बढ़े तो वह चीज की जेल से अपने आप ट्रैक्टर जो है वह आ जाती है कि हम दोनों साथ ही थे लेकिन वह इंसान कैसे आगे बढ़ सकते मैं भी वहीं पर हो गई थी उसने वहां पर भी आ जाती है लेकिन यह 38 में ऐसा नहीं होता है और कोई जगह नहीं जलता कुछ लोग जो है आपने अगर पास जो लोग हैं जिससे वह जानते हैं हेलो भर्ती तो उन्हें खुशी मिलती है लेकिन हर अलग-अलग है अलग-अलग उनकी मानसिक धारा है और वह अपने हिसाब से वह काम करते हैं और कई लोग इतनी ज्यादा जलते हैं कि वह चाहते हैं कि वह इंसान कभी आगे ना बढ़े और उनको कैसे जो है रोका जाए को कैसे पीछे किया जाए उसको करने के लिए कुछ भी कर सकते हैं
Likes  14  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे लोग अपने ही लोगों से क्यों जलते हैं वह इसका कारण बहुत ही सरल है लोग इसलिए जलते क्योंकि वह अपनी खुद की खुद की जिंदगी से खुश नहीं है वह अपने आप को नाकामयाब समझते हैं मैं अगर आज कामयाब हूं मैं आपकी नजर में कामयाब हो मेरी नजर में शायद आप किसी चीज विषय को लेकर कामयाब होंगे कुछ लोग के पास बहुत पैसा होता है तो फैमिली नहीं होती है परिवार नहीं होता है कुछ लोगों के पास बहुत बड़ा सा परिवार होता है लेकिन पैसे कम होते हैं और दोनों आदमी एक दूसरे की लाइफ को या जिंदगी को देख कर बोलते हैं कि यार यह तो बहुत ही कामयाब है तू लोग अपने ही लोगों से इसलिए जलते हैं क्योंकि वह दूसरों की कामयाबी से दुखी हो जाते हैं उनका साथ देना एक दूसरा कामयाब आदमी ही आपको आगे बढ़ सके बढ़ा सकता नीतू ज्यादा से ज्यादा लोग अपने आप वालों को ही पहले पीछे खींचते कि हम पीछे ना रह जाए तो कामयाबी का बहुत अलग अलग डेफिनेशन होता है अगर मेरे पास बहुत पैसा आपके पास नहीं है या आपके पास बहुत बड़ा परिवार है मेरे पास नहीं है तो मैं आपको हमेशा मैं आपकी कामयाबी देखकर दुखी होंगी और ऑप्शन मेरी कामना भी देख कर दुख होंगे तो जी हां शुक्रिया
लिखे लोग अपने ही लोगों से क्यों जलते हैं वह इसका कारण बहुत ही सरल है लोग इसलिए जलते क्योंकि वह अपनी खुद की खुद की जिंदगी से खुश नहीं है वह अपने आप को नाकामयाब समझते हैं मैं अगर आज कामयाब हूं मैं आपकी नजर में कामयाब हो मेरी नजर में शायद आप किसी चीज विषय को लेकर कामयाब होंगे कुछ लोग के पास बहुत पैसा होता है तो फैमिली नहीं होती है परिवार नहीं होता है कुछ लोगों के पास बहुत बड़ा सा परिवार होता है लेकिन पैसे कम होते हैं और दोनों आदमी एक दूसरे की लाइफ को या जिंदगी को देख कर बोलते हैं कि यार यह तो बहुत ही कामयाब है तू लोग अपने ही लोगों से इसलिए जलते हैं क्योंकि वह दूसरों की कामयाबी से दुखी हो जाते हैं उनका साथ देना एक दूसरा कामयाब आदमी ही आपको आगे बढ़ सके बढ़ा सकता नीतू ज्यादा से ज्यादा लोग अपने आप वालों को ही पहले पीछे खींचते कि हम पीछे ना रह जाए तो कामयाबी का बहुत अलग अलग डेफिनेशन होता है अगर मेरे पास बहुत पैसा आपके पास नहीं है या आपके पास बहुत बड़ा परिवार है मेरे पास नहीं है तो मैं आपको हमेशा मैं आपकी कामयाबी देखकर दुखी होंगी और ऑप्शन मेरी कामना भी देख कर दुख होंगे तो जी हां शुक्रिया
Likes  13  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Log Apne Hi Logo Se Kyun Jalate Hai Aur Unake age Badhne Par Unhe Dukh Kyun Hota Hai Unka Saath Kyun Nahi Dete Hai Aur Unhe Chati Pahunchate Hain Aisa Kyun,Why Are People Burning With Their Own People And Why Do They Suffer Because Of Their Progress, Why Do Not They Accompany Them And Bring Them To The Roof, Why So?,


vokalandroid