इतिहास क्यों सिखाया जाता है अगर बहुत कम नौकरियों को इसकी आवश्यकता होती है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इतिहास क्यों सिखाया जाता है अगर बहुत कम नौकरियों की इसकी आवश्यकता है तो तुम्हें इतिहास केवल नौकरियों के लिए नहीं सिखाया जाता है इतिहास मतलब कि हमारी हिस्ट्री हमारी देश की हिस्ट्री हमारी आने वाली पीढ़ी...जवाब पढ़िये
इतिहास क्यों सिखाया जाता है अगर बहुत कम नौकरियों की इसकी आवश्यकता है तो तुम्हें इतिहास केवल नौकरियों के लिए नहीं सिखाया जाता है इतिहास मतलब कि हमारी हिस्ट्री हमारी देश की हिस्ट्री हमारी आने वाली पीढ़ी की जरूरत नहीं है हिस्ट्री को हटा दिया जाए कि हमारे पूर्वज थे वह क्या करते थे क्या से हम लोग जितना तलक फूल कैसे डेवलपमेंट भारत में बाद में क्या क्या हुआ बात की तरह गुलाम रहा की धनि भारत आजाद कब आजादी मिली कितने साल आजादी मिली तो मैं देश को जानने के लिए हमारे देश के पौराणिक जो भी मतलब हिस्ट्री हुई है या जो भी मत और हमारे देश के साथ हुआ है वह जाने के लिए इतिहास इतिहास इतिहास को आप बहुत वर्क लोड करें इतिहास का क्षेत्र जाने की इतिहास जानेंगे तभी चुनाव हमारे देश की संस्कृति देश के धरोहर को जान पाएंगेItihas Kio Sikhaya Jaata Hai Agar Bahut Come Naukriyon Ki Essaki Aavshyakata Hai To Tumhe Itihas Keval Naukriyon K Lie Nahin Sikhaya Jaata Hai Itihas Matlab Qi Hamari Histri Hamari Desh Ki Histri Hamari Aane Wali Pidhi Ki Jarurat Nahin Hai Histri Co Hata Diya Jae Qi Hamare Purvaja The Wah Kya Karte The Kya Se Hum Log Jitna Talaq Fool Kaise Devlopment Bharat Mein Baad Mein Kya Kya Hua Baat Ki Turha Gulam Raha Ki Dhani Bharat Ajad Kab Aazadi Mili Kitne Saul Aazadi Mili To Main Desh Co Janne K Lie Hamare Desh K Pauraaneek Joe Bhi Matlab Histri Hue Hai Ya Joe Bhi Matt Aur Hamare Desh K Sathe Hua Hai Wah Jane K Lie Itihas Itihas Itihas Co Aap Bahut Work Load Karein Itihas Ka Kshetra Jane Ki Itihas Janenge Tabhi Chunav Hamare Desh Ki Sanskriti Desh K Dharohar Co Jaan Paenge
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मैं इस बात से भी नहीं करती कि बहुत कम नौकरियों में इतिहास की जरूरत होती है कोई भी एसएससी का एग्जाम हो या फिर कोई भी स्टेट लेवल एग्जाम हो सेंट्रल लेवल एग्जाम हो नेट का एग्जाम हो पीजीटी टीजीटी टीच...जवाब पढ़िये
लेकिन मैं इस बात से भी नहीं करती कि बहुत कम नौकरियों में इतिहास की जरूरत होती है कोई भी एसएससी का एग्जाम हो या फिर कोई भी स्टेट लेवल एग्जाम हो सेंट्रल लेवल एग्जाम हो नेट का एग्जाम हो पीजीटी टीजीटी टीचिंग जॉब्स इन लॉ आईएस हो आईएस तो कुछ भी हो हर किसी में हिस्ट्री जरूर पूछ जाति और बहुत ज्यादा पर पोषण पूछी जाती है तो इतिहास तो हर एग्जाम पूछा आता है और नौकरियों के लिए गवर्मेंट जॉब के लिए एग्जाम क्लियर करना तो बहुत इंपॉर्टेंट होता है और उसमें इतिहास तो पूछा ही जाता है तू मेरी सबसे ज्यादा नहीं है की इतिहास की जरूरत नहीं है क्योंकि हार्ड जॉब के लिए गवर्नमेंट जॉब के लिए जॉब एंट्रेंस एग्जाम होते हैं टीचिंग की जॉब फॉर एडमिनिस्ट्रेटिव चावलों से गिर जाओ एक लड़की जो अब्बू या फिर कुछ भी सोचो हर किसी में इतना जरूर पूछे जाती है तो इतिहास के इंपॉर्टेंट बहुत जाता हैLekin Main Is Baat Se Bhi Nahin Karti Qi Bahut Come Naukriyon Mein Itihas Ki Jarurat Hoti Hai Koi Bhi SSC Ka Egjam Ho Ya Phir Koi Bhi State Level Egjam Ho Central Level Egjam Ho Net Ka Egjam Ho PGT TGT Teaching Jobs In Law IS Ho IS To Kuch Bhi Ho Her Kisi Mein Histri Jarur Puchh Jati Aur Bahut Jyada Per Pooshan Poochie Jaati Hai To Itihas To Her Egjam Pucha Aata Hai Aur Naukriyon K Lie Gavarment Job K Lie Egjam Clear Krna To Bahut Impartent Hota Hai Aur Usme Itihas To Pucha Hea Jaata Hai Tu Meri Sabse Jyada Nahin Hai Ki Itihas Ki Jarurat Nahin Hai Kyonki Hard Job K Lie Govt Job K Lie Job Entrance Egjam Hote Hain Teaching Ki Job For Edaministretiv Chaavlon Se Gir Jao Ek Ladaki Joe Abbu Ya Phir Kuch Bhi Socho Her Kisi Mein Itna Jarur Poochhe Jaati Hai To Itihas K Impartent Bahut Jaata Hai
Likes  21  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम अपने जीवन में बहुत कुछ ऐसा पीते हैं करते हैं और जाने की कोशिश करते हैं जो हमारे जीवन को परिपूर्ण करता है और हमारे जानने की जो जिज्ञासा है उसे शाम करता है इतिहास को जानना हमारे लिए जरूरी है आवश्यक ...जवाब पढ़िये
हम अपने जीवन में बहुत कुछ ऐसा पीते हैं करते हैं और जाने की कोशिश करते हैं जो हमारे जीवन को परिपूर्ण करता है और हमारे जानने की जो जिज्ञासा है उसे शाम करता है इतिहास को जानना हमारे लिए जरूरी है आवश्यक है भगवान की मजबूती एक नियुक्ति होती है और अगर नींव मजबूत होती है तो उस भवन की मजबूती दिखाई देती है उसी तरह से हमारे जीवन में इतिहास हमारी यह नीम का काम करता है कहीं ना कहीं हम अपने पूर्वजों से जुड़े होते हैं तो कुछ भी नहीं बता पाएंगे कुछ भी नहीं दिखा पाएंगे और जरूरी नहीं है कि हर जगह आपका ज्ञान से आप की इनकम की नौकरी के लिए क्या जरूरी होता है आपकी इतिहास की जानकारी बहुत आती है मुझे लगता है अगर हम नहीं जानते हैं कि हमारा देश अतीत में कैसा था सभ्यता कहती थी हमारे पूर्वज कैसे थे जो बिल्डिंग साथ हम देख रहे हैं और देखने के लिए आगरा का ताजमहल चित्तौड़ का किला देखने हमारा उनके बारे में जानना मुझे लगता है बहुत जरूरी है और हमें जानना चाहिएHum Apne Jeevan Mein Bahut Kuch Aisa Peete Hain Karte Hain Aur Jane Ki Koshish Karte Hain Joe Hamare Jeevan Co Paripoorna Karata Hai Aur Hamare Janne Ki Joe Jigyasa Hai Usse Sham Karata Hai Itihas Co Janna Hamare Lie Zaroori Hai Aavashyak Hai Bhagwan Ki Majbutee Ek Niyukti Hoti Hai Aur Agar Neenv Majboot Hoti Hai To Oosh Bhawan Ki Majbutee Dikhaai Deti Hai Ussi Turha Se Hamare Jeevan Mein Itihas Hamari Yeh Neem Ka Kama Karata Hai Kahin Na Kahin Hum Apne Purvajo Se Jude Hote Hain To Kuch Bhi Nahin Bata Paenge Kuch Bhi Nahin Dikha Paenge Aur Zaroori Nahin Hai Qi Her Jagah Aapka Gyan Se Aap Ki Income Ki Naukari K Lie Kya Zaroori Hota Hai Aapki Itihas Ki Jankari Bahut Auti Hai Mujhe Lagta Hai Agar Hum Nahin Jante Hain Qi Hamara Desh Atit Mein Kaisa Thaa Sabhyata Kahti Thi Hamare Purvaja Kaise The Joe Building Sathe Hum Dekh Rahe Hain Aur Dakhane K Lie Agra Ka Tajmahal Chittaud Ka Kila Dakhane Hamara Unke Baare Mein Janna Mujhe Lagta Hai Bahut Zaroori Hai Aur Human Janna Chahie
Likes  19  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमें इतिहास फिल्म सिखाया जाता है ताकि हमें पता हो कि हमारे आने से पहले दुनिया में क्या-क्या हुआ लिखिए सबके लिए जरूरी है कि उन्हें पता हो कि वह किस कंट्री से है उस कंट्री की कहानी क्या है उस कंट्री में...जवाब पढ़िये
हमें इतिहास फिल्म सिखाया जाता है ताकि हमें पता हो कि हमारे आने से पहले दुनिया में क्या-क्या हुआ लिखिए सबके लिए जरूरी है कि उन्हें पता हो कि वह किस कंट्री से है उस कंट्री की कहानी क्या है उस कंट्री में लोग रहा कैसे करते थे तो यह हर एक इंसान के लिए जानना जरूरी है क्योंकि अगर फोन नहीं जानेगा कि उसका इतिहास ऐसा है तो वह इस तरह से उसका मजाक बनकर रह जाएगा कि उसे अपने ही देश के बारे में अपने लोगों के बारे में कुछ पता नहीं है और हम सबको अपने देश के बारे में अपने लोगों के बारे में जरूर से जरूर पता होना चाहिए क्योंकि हमारे हित मेंHuman Itihas Film Sikhaya Jaata Hai Taki Human Patta Ho Qi Hamare Aane Se Pehle Duniya Mein Kya Kya Hua Likhiye Sabake Lie Zaroori Hai Qi Unhein Patta Ho Qi Wah Kiss Country Se Hai Oosh Country Ki Kahaani Kya Hai Oosh Country Mein Log Raha Kaise Karte The To Yeh Her Ek Insaan K Lie Janna Zaroori Hai Kyonki Agar Phone Nahin Janega Qi Uska Itihas Aisa Hai To Wah Is Turha Se Uska Majak Bankar Rah Jaaegaa Qi Usse Apne Hea Desh K Baare Mein Apne Logon K Baare Mein Kuch Patta Nahin Hai Aur Hum Sabako Apne Desh K Baare Mein Apne Logon K Baare Mein Jarur Se Jarur Patta Hona Chahie Kyonki Hamare Hita Mein
Likes  11  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल यह गलत धारणा है कि इतिहास की आवश्यकता स्पेशली बहुत कम नौकरियों में होती है बिल्कुल गलत धारणाएं आप देखिए हर एग्जाम में आपको इतिहास का पेपर होता है उसमें कुछ ना कुछ क्वेश्चन साहब को अंसिएंट हिस्ट्री...जवाब पढ़िये
दिल यह गलत धारणा है कि इतिहास की आवश्यकता स्पेशली बहुत कम नौकरियों में होती है बिल्कुल गलत धारणाएं आप देखिए हर एग्जाम में आपको इतिहास का पेपर होता है उसमें कुछ ना कुछ क्वेश्चन साहब को अंसिएंट हिस्ट्री वर्ल्ड हिस्ट्री मोड इंस्टिट्यूट इंडिपेंडेंस सबसे मिलते हैं इतिहास की बहुत इंपोर्टेंस है अगर आपने हिस्ट्री से b.a. किया हुआ है तो अलग सी वैकेंसी जाती है और लॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया की तरफ से कोई वैकेंसी आती है उसमें ग्रेजुएशन कैसे मांगा जाता है अगर आप सभी सभी परेशान कर रहे तो बिल्कुल आप एक अच्छा ऑप्शन भी आपके लिए सोचा आप के लिए हिस्ट्री होता है तो यह बिल्कुल गलत है कि बहुत कम नौकरी में इतिहास की आवश्यकता के घर नौकरी में जिस एग्जाम की प्रिपरेशन कर रहे वहां कहीं ना कहीं कुछ क्वेश्चन हिस्ट्री से जरुर मिलेंगेDil Yeh Galat Dhaaranaa Hai Qi Itihas Ki Aavshyakata Specially Bahut Come Naukriyon Mein Hoti Hai Bilkool Galat Dharnaen Aap Dekhiye Her Egjam Mein Aapko Itihas Ka Paper Hota Hai Usme Kuch Na Kuch Question Saheb Co Ansient Histri World Histri Mode Institute Indipendens Sabse Milte Hain Itihas Ki Bahut Importens Hai Agar Aapne Histri Se B.a. Kiya Hua Hai To Eluga C Vaikensi Jaati Hai Aur Logical SURVEY Of India Ki Tarf Se Koi Vaikensi Auti Hai Usme Graduation Kaise Manga Jaata Hai Agar Aap Sabhi Sabhi Pareshan Car Rahe To Bilkool Aap Ek Accha Option Bhi Aapke Lie Soocha Aap K Lie Histri Hota Hai To Yeh Bilkool Galat Hai Qi Bahut Come Naukari Mein Itihas Ki Aavshyakata K Ghar Naukari Mein Jisha Egjam Ki Preparation Car Rahe Vahan Kahin Na Kahin Kuch Question Histri Se Jarur Millenge
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप का सवाल है कि इतिहास के बारे में बच्चों को क्यों सिखाया जाता है जबकि यह बहुत कम नौकरियां नौकरियों में उनकी आवश्यकता होती है देखिए इतिहास और सिर्फ सीखने का मतलब यह नहीं होता है क्या आप उसको अपना नौक...जवाब पढ़िये
आप का सवाल है कि इतिहास के बारे में बच्चों को क्यों सिखाया जाता है जबकि यह बहुत कम नौकरियां नौकरियों में उनकी आवश्यकता होती है देखिए इतिहास और सिर्फ सीखने का मतलब यह नहीं होता है क्या आप उसको अपना नौकरी में प्रयोग करें लेकिन कहीं ना कहीं आप इतिहास से अपने देश के बारे में अपनी जगह के बारे में अपने कल्चर के बारे में और वह अपनी जेनरेशंस के बारे में काफी कुछ जानते हैं तो इतिहास सिखाने का मतलब सिर्फ यही नहीं होता क्या आप उसको कहीं आगे चलकर प्रयोग करेंगे लेकिन उससे जानकारी भी आप की भर्ती आपकी नॉलेज भर्ती है कहीं ना कहीं आपका दायरा बढ़ता आपको देश विदेश के इतिहास के बारे में पता चलता है आपका देश कैसे बना आप की पीढ़ी कैसे बनी कहां तक देश में परिवर्तन आया है पहले क्या हुआ था आप क्या हुआ है और अगर भारत की बात की जाए तो भारत में आजादी मिली थी उससे पहले क्या था क्या उससे पहले हमारे देश में किन किन लोगों ने राज किया है वह सब चीजें में इतिहास सीखने को मिलती है और इससे हमारा दायरा बढ़ता है और कहा कि हमारी नॉलेज भी बढ़ती है तो इसी वजह से बच्चों को बचपन में स्कूलों में इतिहास मैं जाता है जबकि आगे चल कि उसकी नौकरियों में कोई भी आवश्यकता नहीं होतीAap Ka Sawal Hai Qi Itihas K Baare Mein Bachcho Co Kio Sikhaya Jaata Hai Jbki Yeh Bahut Come Naukriyan Naukriyon Mein Unki Aavshyakata Hoti Hai Dekhiye Itihas Aur Sirf Sikhne Ka Matlab Yeh Nahin Hota Hai Kya Aap Usko Apna Naukari Mein Prayog Karein Lekin Kahin Na Kahin Aap Itihas Se Apne Desh K Baare Mein Apni Jagah K Baare Mein Apne Culture K Baare Mein Aur Wah Apni Jenreshans K Baare Mein Kaafi Kuch Jante Hain To Itihas Seekhaane Ka Matlab Sirf Yahi Nahin Hota Kya Aap Usko Kahin Aage Challekara Prayog Karenge Lekin Usase Jankari Bhi Aap Ki Bharti Aapki Knowledge Bharti Hai Kahin Na Kahin Aapka Dayra Badhata Aapko Desh Videsh K Itihas K Baare Mein Patta Chalata Hai Aapka Desh Kaise Banna Aap Ki Pidhi Kaise Bani Kahan Tak Desh Mein Parivartan Yaya Hai Pehle Kya Hua Thaa Aap Kya Hua Hai Aur Agar Bharat Ki Baat Ki Jae To Bharat Mein Aazadi Mili Thi Usase Pehle Kya Thaa Kya Usase Pehle Hamare Desh Mein Kine Kine Logon Ne Raj Kiya Hai Wah Sub Chijen Mein Itihas Sikhne Co Milti Hai Aur Issase Hamara Dayra Badhata Hai Aur Kaha Qi Hamari Knowledge Bhi Badhati Hai To Isi Vajaha Se Bachcho Co Bachpan Mein Skulon Mein Itihas Main Jaata Hai Jbki Aage Chal Qi Uski Naukriyon Mein Koi Bhi Aavshyakata Nahin Hoti
Likes  13  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

टिकी हमारा जिंदगी में एकमात्र मकसद जो है वह नौकरी हासिल करना नहीं होता है पैसे कमाना नहीं होता हालांकि बहुत लोगों ने इसी को यह जिंदगी का उसूल मान लिया है कि पैसे कमाना ही लाश चीज है जो हासिल करनी है न...जवाब पढ़िये
टिकी हमारा जिंदगी में एकमात्र मकसद जो है वह नौकरी हासिल करना नहीं होता है पैसे कमाना नहीं होता हालांकि बहुत लोगों ने इसी को यह जिंदगी का उसूल मान लिया है कि पैसे कमाना ही लाश चीज है जो हासिल करनी है ना सब कुछ पैसे के लिए सब कुछ नौकरी के लिए नहीं किया जाता वास्तव में अगर आपको एक इंसान बनना है एक जागरूक नागरिक बनना है एक मेल नॉलेज के प्रश्न एक इंटेलिजेंट है उसके लिए जरूरी है आप ज्यादा से ज्यादा जानकारियां हासिल करो और ज्यादा से ज्यादा नाते आपको पूरी कोशिश की जाती है बचपन से लेकर स्कूल के ट्वेल्थ क्लास का उसके बाद कॉलेज में अलग-अलग पोस्ट के माध्यम से हर चीज में जानकारी नॉलेज ज्ञान हासिल करो कि जितना ज्यादा ज्ञान होगा लाइफ की उतनी ज्यादा एक्सपीरियंस लाइट की उतनी ज्यादा समझ आएगी आप अगर इतिहास को जान रहे हो महात्मा गांधी टीपू सुल्तान और कोई फलाने और कोई इतिहास के जनक के बारे में आप अगर हिस्ट्री की बुक की आज भी अपनी याद करो ना तो बेशक आप को बहुत चीजें याद नहीं होंगी लेकिन एकमात्र चीज हर किसी लीडर हर किसी नाम के संग याद हो तो जरूरी है वह चीज अपने जीवन में परिवर्तन लाना कुछ अच्छा है तो उससे सीखना फायदेमंद चीज है इसलिए होता है इतिहासTiki Hamara Jindagi Mein Ekamatra Maksad Joe Hai Wah Naukari Hashil Krna Nahin Hota Hai Paise Kumana Nahin Hota Halanki Bahut Logon Ne Isi Co Yeh Jindagi Ka Ausula Maan Liya Hai Qi Paise Kumana Hea Laash Chij Hai Joe Hashil Karni Hai Na Sub Kuch Paise K Lie Sub Kuch Naukari K Lie Nahin Kiya Jaata WASTAV Mein Agar Aapko Ek Insaan Banana Hai Ek Jaagarook Nagrik Banana Hai Ek Male Knowledge K Prashn Ek Inteligente Hai Uske Lie Zaroori Hai Aap Jyada Se Jyada Jankariyan Hashil Karo Aur Jyada Se Jyada Naate Aapko Poori Koshish Ki Jaati Hai Bachpan Se Lycra School K Twelth Class Ka Uske Baad College Mein Eluga Eluga Post K Maadhyam Se Her Chij Mein Jankari Knowledge Gyan Hashil Karo Qi Jitna Jyada Gyan Hoga Life Ki Utni Jyada Eksapiriyans Light Ki Utni Jyada Samajh Aaegi Aap Agar Itihas Co Jaan Rahe Ho Mahatma Gandhi Tipu Sultan Aur Koi Falane Aur Koi Itihas K Janak K Baare Mein Aap Agar Histri Ki Book Ki Aj Bhi Apni Youth Karo Na To Beshak Aap Co Bahut Chijen Youth Nahin Hongi Lekin Ekamatra Chij Her Kisi Leader Her Kisi Naam K Sanga Youth Ho To Zaroori Hai Wah Chij Apne Jeevan Mein Parivartan Lana Kuch Accha Hai To Usase Sikhna Faydemand Chij Hai Eeslie Hota Hai Itihas
Likes  9  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इतिहास की आवश्यकता और उपयोगिता सिर्फ नौकरियों का कैसे हुई नहीं है इतिहास हमारी संस्कृति हमारी सभ्यता की धरोहर है अगर हम इतिहास नहीं पड़ेंगे अगर हम पाठ्यक्रम में इतिहास को नहीं रखेंगे तो हमारी भाभी पील...जवाब पढ़िये
इतिहास की आवश्यकता और उपयोगिता सिर्फ नौकरियों का कैसे हुई नहीं है इतिहास हमारी संस्कृति हमारी सभ्यता की धरोहर है अगर हम इतिहास नहीं पड़ेंगे अगर हम पाठ्यक्रम में इतिहास को नहीं रखेंगे तो हमारी भाभी पीलिया कैसे जानेंगे कि हमारी प्राचीन काल में क्या होता था कैसे प्राचीन समय में समाज होता था किस तरह से वो लोग जीते थे उनकी आजीविका के क्या साधन थे उनकी संस्कृति कैसी थी कैसी सभ्यता थी उस समय समाज में क्या चलता था उस समय ऐसी बहुत सारी चीजें हैं जो हमें इतिहास से ही समझ में आने को मिलती है और बहुत सारा ज्ञान जो प्राचीन समय में था वह भी हम इतिहास ही प्राप्त कर सकते हैं हमारे पास और कोई साधन नहीं है कि हम अपनी प्राचीन सभ्यता और संत शादी के बारे में जान सके हर व्यक्ति को पढ़ने का इतना शौक नहीं होता है कि वह लाइब्रेरी में जाकर अपनी पुरातन सभ्यता के बारे में जानने की कोशिश करेगा इसीलिए इतिहास पढ़ाया जाता है ताकि आने वाली पीढ़ियां यह जान सके कि उनके पुराने समय में क्या हुआ था अतीत में कैसा समाज था किस तरह का प्रचलन होता था क्या रीति रिवाज थे कौन से त्योहार मनाने मनाए जाते थे किस तरह की उस समय की सामाजिक व्यवस्था की अर्थव्यवस्था कैसी चलती थी कौन से व्यवसाय थी जो ज्यादा किए जाते थे और भी ऐसी कई चीज है जो हमारे प्राचीन समय के बारे में हमें जानी चाहिए वह सिर्फ हमें इतिहास ही बता सकता है इसीलिए मुझे लगता है कि इतिहास को पाठ्यक्रम में रखा गया है और जरूरी भी है ताकि हमारी आने वाली नस्लें भी यह जान सके कि हमारी सभ्यता और संस्कृति क्या हैItihas Ki Aavshyakata Aur Upyogita Sirf Naukriyon Ka Kaise Hue Nahin Hai Itihas Hamari Sanskriti Hamari Sabhyata Ki Dharohar Hai Agar Hum Itihas Nahin Padenge Agar Hum Paathykrm Mein Itihas Co Nahin Rakhange To Hamari Bhabhi Piliya Kaise Janenge Qi Hamari Prachin Kaal Mein Kya Hota Thaa Kaise Prachin Samay Mein Samaj Hota Thaa Kiss Turha Se Vo Log Jite The Unki Ajivika K Kya Sadhana The Unki Sanskriti Kaisi Thi Kaisi Sabhyata Thi Oosh Samay Samaj Mein Kya Chalata Thaa Oosh Samay Aisi Bahut Sari Chijen Hain Joe Human Itihas Se Hea Samajh Mein Aane Co Milti Hai Aur Bahut Saara Gyan Joe Prachin Samay Mein Thaa Wah Bhi Hum Itihas Hea Prapt Car Sakte Hain Hamare Pass Aur Koi Sadhana Nahin Hai Qi Hum Apni Prachin Sabhyata Aur Sant Shadi K Baare Mein Jaan Skye Her Vyakti Co Padhane Ka Itna Shauk Nahin Hota Hai Qi Wah Library Mein Jaakar Apni Purantan Sabhyata K Baare Mein Janne Ki Koshish Karega Isiliye Itihas Padhaya Jaata Hai Taki Aane Wali Pidhiyan Yeh Jaan Skye Qi Unke Purane Samay Mein Kya Hua Thaa Atit Mein Kaisa Samaj Thaa Kiss Turha Ka Prachalon Hota Thaa Kya Riti Riwaz The Kaun Se Tyohaar Manane Manaye Jaate The Kiss Turha Ki Oosh Samay Ki Samajik Vyavastha Ki Arthavyavastha Kaisi Chalti Thi Kaun Se Vyavsaaya Thi Joe Jyada Kiye Jaate The Aur Bhi Aisi Kai Chij Hai Joe Hamare Prachin Samay K Baare Mein Human Jani Chahie Wah Sirf Human Itihas Hea Bata Sakta Hai Isiliye Mujhe Lagta Hai Qi Itihas Co Paathykrm Mein Rakhaa Gaya Hai Aur Zaroori Bhi Hai Taki Hamari Aane Wali Nasle Bhi Yeh Jaan Skye Qi Hamari Sabhyata Aur Sanskriti Kya Hai
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं नौकरी में हूं फिर भी इतिहास पड़ता हूं जब पढ़ता था तब भी मेरे दिमाग में यही सवाल आता था इतिहास का नौकरी से क्या लेना देना सिर्फ नौकरी के लिए इतिहास को पढ़ना जरूरी है क्या अब तो मैं इतिहास को कुछ इ...जवाब पढ़िये
मैं नौकरी में हूं फिर भी इतिहास पड़ता हूं जब पढ़ता था तब भी मेरे दिमाग में यही सवाल आता था इतिहास का नौकरी से क्या लेना देना सिर्फ नौकरी के लिए इतिहास को पढ़ना जरूरी है क्या अब तो मैं इतिहास को कुछ इस तरह से पढ़ रहा हूं कि इतिहास सही लिखा होगा या नहीं होगा सही तरीके से इस पर भी समीक्षा कर लेता हूं आपका प्रश्न अगर यह है इससे एजुकेशन जॉब या किसी प्रोफेशन के लिए तो सवाल ही गलत है और अगर सवाल सही भी है तो आवश्यकता क्यों होनी चाहिए यह सवाल हो ही नहीं सकता खासतौर पर इतिहास क्योंकि हमारे वर्तमान का और भविष्य का निर्धारण की इतिहासिक करता है हमें किस तरीके से अपनी स्टेटस तय करनी है इस तरह से हम एक विचारक बनते हैं और स्टेटस ही तय करते हैं अपनी जिंदगी के लिए तो हम व्यक्तित्व को समझने की जरूरत होती और यद्यपि सवाल से मैं बहुत ज्यादा प्रभावित नहीं हूं लेकिन उत्तर जरूरी था धन्यवादMain Naukari Mein Hoon Phir Bhi Itihas Padata Hoon Jab Padhata Thaa Taba Bhi Mere Dimag Mein Yahi Sawal Aata Thaa Itihas Ka Naukari Se Kya Lena Dena Sirf Naukari K Lie Itihas Co Padhana Zaroori Hai Kya Aba To Main Itihas Co Kuch Is Turha Se Padh Raha Hoon Qi Itihas Sahi Likha Hoga Ya Nahin Hoga Sahi Tarike Se Is Per Bhi Samiksha Car Lata Hoon Aapka Prashn Agar Yeh Hai Issase Education Job Ya Kisi Profession K Lie To Sawal Hea Galat Hai Aur Agar Sawal Sahi Bhi Hai To Aavshyakata Kio Honi Chahie Yeh Sawal Ho Hea Nahin Sakta Khaastaur Per Itihas Kyonki Hamare Vartman Ka Aur Bhavishya Ka Nirdharan Ki Itihasik Karata Hai Human Kiss Tarike Se Apni Status Taya Karni Hai Is Turha Se Hum Ek Vicharak Banate Hain Aur Status Hea Taya Karte Hain Apni Jindagi K Lie To Hum Vyaktitv Co Samajhne Ki Jarurat Hoti Aur Yadyapi Sawal Se Main Bahut Jyada Prabhaavit Nahin Hoon Lekin Uttar Zaroori Thaa Dhanyvaad
Likes  10  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Itihas Kyon Sikhaya Jata Hai Agar Bahut Kam Naukriyon Ko Iski Avashyakta Hoti Hai

vokalandroid