हमारे देश में वो दिन कब आएगा जब पूरे देश का चुनाव एक साथ होगा जिससे जनता बार बार परेशान न हो? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कोई भी सरकार चाहे वह राज्य में हो या केंद्र में हो वह कम पर सेट नहीं हो सकती है उसको हमेशा देखना पड़ता है कि वह जो भी काम करें उसको जनता उसके बारे में कैसे सोचती है हालांकि और और मैं इस बात को सपोर्ट ...
जवाब पढ़िये
कोई भी सरकार चाहे वह राज्य में हो या केंद्र में हो वह कम पर सेट नहीं हो सकती है उसको हमेशा देखना पड़ता है कि वह जो भी काम करें उसको जनता उसके बारे में कैसे सोचती है हालांकि और और मैं इस बात को सपोर्ट करता हूं कि पूरे देश में अगर एक साथ इलेक्शन हो तो बेहतर रहेगा लेकिन फिर भी यह कहना कि पूरे देश में इलेक्शन होने से हमारी समस्याओं को बहुत ज्यादा निदान हो जाएगा ऐसा नहीं होगा और शायद यह हमारे फायदे में भी ना हो धन्यवादKoi Bhi Sarkar Chahe Wah Rajya Mein Ho Ya Kendra Mein Ho Wah Kum Par Set Nahi Ho Sakti Hai Usko Hamesha Dekhna Padata Hai Ki Wah Jo Bhi Kaam Karen Usko Janta Uske Baare Mein Kaise Sochti Hai Halanki Aur Aur Main Is Baat Ko Support Karta Hoon Ki Poore Desh Mein Agar Ek Saath Election Ho To Behtar Rahega Lekin Phir Bhi Yeh Kehna Ki Poore Desh Mein Election Hone Se Hamari Samasyaon Ko Bahut Jyada Nidan Ho Jayega Aisa Nahi Hoga Aur Shayad Yeh Hamare Fayde Mein Bhi Na Ho Dhanyavad
Likes  52  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर हमारे देश में एक साथ इलेक्शन हो तो इससे अच्छी और भी बात हो ही नहीं सकती लेकिन इसके लिए जितने भी सहायता निधी पार्टियां हैं उनकी सहमति होना बहुत ही जरुरी है बट ऐसा वह होने नहीं देंगे क्योंकि कहीं ना...
जवाब पढ़िये
अगर हमारे देश में एक साथ इलेक्शन हो तो इससे अच्छी और भी बात हो ही नहीं सकती लेकिन इसके लिए जितने भी सहायता निधी पार्टियां हैं उनकी सहमति होना बहुत ही जरुरी है बट ऐसा वह होने नहीं देंगे क्योंकि कहीं ना कहीं उनके साथ शामिल है उनका और ऐसा होनी ही नहीं दे सकते हैं जितने सारी पार्टियां है और इसलिए प्रधानमंत्री मोदी जी ने इलेक्शन कमिशन पी रावत जी से बात की है कि लोकसभा विधानसभा के इलेक्शन एक साथ कराए तो उन्होंने का अलग संविधान में और जनप्रतिनिधि कानून में थोड़ा सा जो भी बदलाव करें हो जाए उसके बाद 317 इलेक्शन होते पॉसिबल हो सकता हैAgar Hamare Desh Mein Ek Saath Election Ho To Isse Acchi Aur Bhi Baat Ho Hi Nahi Sakti Lekin Iske Liye Jitne Bhi Sahaayata Nidhi Partyian Hain Unki Sehmati Hona Bahut Hi Zaroori Hai But Aisa Wah Hone Nahi Denge Kyonki Kahin Na Kahin Unke Saath Shamil Hai Unka Aur Aisa Honi Hi Nahi De Sakte Hain Jitne Saree Partyian Hai Aur Isliye Pradhanmantri Modi Ji Ne Election Commission P Rawat Ji Se Baat Ki Hai Ki Lok Sabha Vidhan Sabha Ke Election Ek Saath Karae To Unhone Ka Alag Samvidhan Mein Aur Janapratinidhi Kanoon Mein Thoda Sa Jo Bhi Badlav Karen Ho Jaye Uske Baad 317 Election Hote Possible Ho Sakta Hai
Likes  7  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा कभी नहीं हो सकता कि हमारे देश में एक साथ चुनाव हो और जहां तक मेरा मानना है पूरे हिंदुस्तान की जनता भी नहीं चाहेगी कि एक साथ चुनाव...
जवाब पढ़िये
ऐसा कभी नहीं हो सकता कि हमारे देश में एक साथ चुनाव हो और जहां तक मेरा मानना है पूरे हिंदुस्तान की जनता भी नहीं चाहेगी कि एक साथ चुनावAisa Kabhi Nahi Ho Sakta Ki Hamare Desh Mein Ek Saath Chunav Ho Aur Jahan Tak Mera Manana Hai Poore Hindustan Ki Janta Bhi Nahi Chahegi Ki Ek Saath Chunav
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मांयवर आप का सवाल बिल्कुल सही है लेकिन कुछ असामाजिक तत्व है जो इस तरीके एक कानून नहीं बनने देंगे इस तरीके का नियम नहीं बनने देंगे क्योंकि उन लोगों की रोजी रोटी ही चुनावों में दूसरों को धोखा देना उनसे...
जवाब पढ़िये
मांयवर आप का सवाल बिल्कुल सही है लेकिन कुछ असामाजिक तत्व है जो इस तरीके एक कानून नहीं बनने देंगे इस तरीके का नियम नहीं बनने देंगे क्योंकि उन लोगों की रोजी रोटी ही चुनावों में दूसरों को धोखा देना उनसे पैसे उतारना उनसे जनता के नाम पर दुनिया भर की ठगी करना होता हैManyavar Aap Ka Sawal Bilkul Sahi Hai Lekin Kuch Asamajik Tatva Hai Jo Is Tarike Ek Kanoon Nahi Banane Denge Is Tarike Ka Niyam Nahi Banane Denge Kyonki Un Logon Ki Rozi Roti Hi Chunavon Mein Dusron Ko Dhokha Dena Unse Paise Utarana Unse Janta Ke Naam Par Duniya Bhar Ki Thagi Karna Hota Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

2019 के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर से पूर्ण बहुमत की सरकार बना रही है नरेंद्र मोदी जी एक बार फिर से प्रधानमंत्री बनेंगे और आने वाले टाइम में अगले बार जब प्रधानमंत्री बनी के 2019 के चुनाव ...
जवाब पढ़िये
2019 के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर से पूर्ण बहुमत की सरकार बना रही है नरेंद्र मोदी जी एक बार फिर से प्रधानमंत्री बनेंगे और आने वाले टाइम में अगले बार जब प्रधानमंत्री बनी के 2019 के चुनाव में तो उसके बाद यह नियम पारित कर देंगे अपने 5 साल के कार्यकाल में वह पारित करवा देंगे नहीं हम लोकसभा राज्यसभा का चुनाव एक बार होगा और जब चुनाव एक बार होगा तो हमारे देश में बहुत कम खर्च होगा और 12 महीना चुनाव से हम लोग बच पाएंगे क्योंकि हमारे देश में 12 महीना चुनाव का माहौल होता है जिससे देश की जनता अपने काम पर ध्यान नहीं दे पाती है उसका ध्यान हमेशा चुनाव में उलझा हुआ होता है और हमारा देश किसी के माध्यम से पीछे भी है क्योंकि खर्च भी बहुत ज्यादा होता है तो खर्चे से बचेगा हमारा देश और हमारा देश तरक्की भी करेगा धन्यवाद
Likes  12  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अग्रवाल भारत के बाद कीजिए तो भारत में जो है लोकसत्ता है और लोकसत्ता में जो क्या होता है एक ही लड़की होती है अगर कोई भी शासन उसे कंट्रोल करना होगा तो उनको जो एक ही लड़की मेंटेन की जाती है और वह जो है र...
जवाब पढ़िये
अग्रवाल भारत के बाद कीजिए तो भारत में जो है लोकसत्ता है और लोकसत्ता में जो क्या होता है एक ही लड़की होती है अगर कोई भी शासन उसे कंट्रोल करना होगा तो उनको जो एक ही लड़की मेंटेन की जाती है और वह जो है राखी के हिसाब से होने चलना पड़ता है और मैं काजू सबसे ऊपर होता है वह होता प्रधानमंत्री सबसे नीचे जो होता है उनकी बात को तो करो नहीं कर सकते कि वह हमदर्दी हो सकते हैं चार दिन को मिले भी करते हैं तो एक ही लड़की मेंटेन की जाती है और जितने भी लोग हैं जो मेरे को कंट्रोल करते हैं वहीं से चुनकर आए थे तो वहां के लोगों का मत लेना बहुत इंपॉर्टेंट है इसी तरह से जोबनेर की मंडी में की जाती है तो इसमें जो है हम ऐसा बोल सकते कि आपको जो साल में या फिर 5 साल में एक बार वोट करना उसके बाद आपको कभी वोट करने की जरूरत नहीं उस पर जो सही होगा उसका जो निकल होगा उस पर ही पूरा देश चलेगा तो ऐसी बात नहीं हो सकती है लोकसत्ता मेंAgrawal Bharat Ke Baad Kijiye To Bharat Mein Jo Hai Lokasatta Hai Aur Lokasatta Mein Jo Kya Hota Hai Ek Hi Ladki Hoti Hai Agar Koi Bhi Shasan Use Control Karna Hoga To Unko Jo Ek Hi Ladki Maintain Ki Jati Hai Aur Wah Jo Hai Rakhi Ke Hisab Se Hone Chalna Padata Hai Aur Main Kaju Sabse Upar Hota Hai Wah Hota Pradhanmantri Sabse Neeche Jo Hota Hai Unki Baat Ko To Karo Nahi Kar Sakte Ki Wah Humdardi Ho Sakte Hain Char Din Ko Mile Bhi Karte Hain To Ek Hi Ladki Maintain Ki Jati Hai Aur Jitne Bhi Log Hain Jo Mere Ko Control Karte Hain Wahin Se Chunkar Aaye The To Wahan Ke Logon Ka Mat Lena Bahut Important Hai Isi Tarah Se Jobner Ki Mandi Mein Ki Jati Hai To Isme Jo Hai Hum Aisa Bol Sakte Ki Aapko Jo Saal Mein Ya Phir 5 Saal Mein Ek Baar Vote Karna Uske Baad Aapko Kabhi Vote Karne Ki Zaroorat Nahi Us Par Jo Sahi Hoga Uska Jo Nikal Hoga Us Par Hi Pura Desh Chalega To Aisi Baat Nahi Ho Sakti Hai Lokasatta Mein
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए हमारा भारत देश क्यों इतना बड़ा देश है 125 करोड़ जनता है वहां एक साथ पूरे देश में चुनाव कराना बिल्कुल संभव नहीं है बिल्कुल पॉसिबल ही नहीं हो सकता है सारी व्यवस्था गड़बड़ा जाएगी तो इसी प्रकार से च...
जवाब पढ़िये
देखिए हमारा भारत देश क्यों इतना बड़ा देश है 125 करोड़ जनता है वहां एक साथ पूरे देश में चुनाव कराना बिल्कुल संभव नहीं है बिल्कुल पॉसिबल ही नहीं हो सकता है सारी व्यवस्था गड़बड़ा जाएगी तो इसी प्रकार से चुनाव हो सकता है अलग-अलग हिस्सों में हां लेकिन चुनाव प्रणाली में और ज्यादा इंटरव्यू में लाया जा सकता है बजाएं कि पूरे देश में एक साथ चुनाव करानेDekhie Hamara Bharat Desh Kyun Itna Bada Desh Hai 125 Crore Janta Hai Wahan Ek Saath Poore Desh Mein Chunav Krana Bilkul Sambhav Nahi Hai Bilkul Possible Hi Nahi Ho Sakta Hai Saree Vyavastha Gadbada Jayegi To Isi Prakar Se Chunav Ho Sakta Hai Alag Alag Hisso Mein Haan Lekin Chunav Pranali Mein Aur Jyada Interview Mein Laya Ja Sakta Hai Bajaen Ki Poore Desh Mein Ek Saath Chunav Karane
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वर्तमान समय कोई व्यक्ति को ऐसा लगता है कि हमारे लिए एक ही दिन दर्शन कराना संभव नहीं है क्योंकि इलेक्शन के समय पर आप लोगों को पता होगी कई सारी पुलिस फोर्स और सेना और कई सारे अधिकारियों की जरूरत पड़ती ह...
जवाब पढ़िये
वर्तमान समय कोई व्यक्ति को ऐसा लगता है कि हमारे लिए एक ही दिन दर्शन कराना संभव नहीं है क्योंकि इलेक्शन के समय पर आप लोगों को पता होगी कई सारी पुलिस फोर्स और सेना और कई सारे अधिकारियों की जरूरत पड़ती है लेकिन और यह जो अधिकारी हैं वह हमारी हमारे क्षेत्र के नहीं होते मैं बाहर से और प्रदेशों से घी बनाना पड़ता है तो अगर हम उस जगह पर रेस्ट कर रहे हो और बाहर से बुला रहे हैं तो फिर जो उस जगह के जो प्रदेश के और वहां के जो बाहर के लोग हैं तो फिर वहां की भागदौड़ वहां का सिक्योरिटी कौन संभालेगा दूसरों से कहीं ना कहीं देश में फिर सिक्योरिटी कि और की कमी पड़ जाएगी जिसकी वजह से दंगे भी हो सकते हैं और क्या होता है इलेक्शन में फर्जी बॉडी पढ़ सकते हैं तो इस तरह से ज्यादा इलेक्शन सही से नहीं हो पाएगा तो हमें तो दोबारा कराना पड़ेगा तो हमारे उस दिन करने का कोई फायदा नहीं होता है राशन कार्ड कराने का असली मुझे लगता है कि यह संभव नहीं है कि हम सारे देश में एक ही दिन इलेक्शन चला सके हां अगर जो हमारा निर्वाचन आयोग जो है भारत का अगर वह हम लोगों को यह आश्वासन दें कि वह क्या होता कि जो हमारे कितनी लिमिटेड फोर्सेस है उसी में वह हमारे मतलब देश की व्यवस्था को सब कानून व्यवस्था को बिल्कुल सही से रख सकता है वह मतलब सिक्योर सिक्योरिटी करा सकता इलेक्शन तो यह आगे चलकर फ्यूचर में संभव हो सकता हैVartaman Samay Koi Vyakti Ko Aisa Lagta Hai Ki Hamare Liye Ek Hi Din Darshan Krana Sambhav Nahi Hai Kyonki Election Ke Samay Par Aap Logon Ko Pata Hogi Kai Saree Police Force Aur Sena Aur Kai Sare Adhikaariyo Ki Zaroorat Padhti Hai Lekin Aur Yeh Jo Adhikari Hain Wah Hamari Hamare Kshetra Ke Nahi Hote Main Bahar Se Aur Pradeshon Se Ghee Banana Padata Hai To Agar Hum Us Jagah Par Rest Kar Rahe Ho Aur Bahar Se Bula Rahe Hain To Phir Jo Us Jagah Ke Jo Pradesh Ke Aur Wahan Ke Jo Bahar Ke Log Hain To Phir Wahan Ki Bhagdaud Wahan Ka Security Kaun Sambhalega Dusron Se Kahin Na Kahin Desh Mein Phir Security Ki Aur Ki Kami Padh Jayegi Jiski Wajah Se Denge Bhi Ho Sakte Hain Aur Kya Hota Hai Election Mein Farjee Body Padh Sakte Hain To Is Tarah Se Jyada Election Sahi Se Nahi Ho Payega To Hume To Dobara Krana Padega To Hamare Us Din Karne Ka Koi Fayda Nahi Hota Hai Raashan Card Karane Ka Asli Mujhe Lagta Hai Ki Yeh Sambhav Nahi Hai Ki Hum Sare Desh Mein Ek Hi Din Election Chala Sake Haan Agar Jo Hamara Nirvachan Aayog Jo Hai Bharat Ka Agar Wah Hum Logon Ko Yeh Aashvaashan Dein Ki Wah Kya Hota Ki Jo Hamare Kitni Limited Forces Hai Ussi Mein Wah Hamare Matlab Desh Ki Vyavastha Ko Sab Kanoon Vyavastha Ko Bilkul Sahi Se Rakh Sakta Hai Wah Matlab Secure Security Kra Sakta Election To Yeh Aage Chalkar Future Mein Sambhav Ho Sakta Hai
Likes  11  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Hamare Desh Mein Vo Din Kab Aaega Jab Poore Desh Ka Chunav Ek Saath Hoga Jisse Janta Baar Baar Pareshan Na Ho, When Will That Day Come In Our Country When The Election Of The Whole Country Will Be Simultaneously So That The People Are Not Troubled Repeatedly?

vokalandroid