search_iconmic
leaderboard
notify
हिंदी
leaderboard
notify
हिंदी
जवाब दें

भारत बदल रहा है, लेकिन कैसे? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां भारत बदल रहा है हर स्तर पर बदल रहा है हर स्तर पर बदलाव कहने का तात्पर्य है कि राष्ट्रीय सामाजिक आर्थिक हर स्तर पर बदल रहा है पर दुख की बात यह है कि यह बदलाव सकारात्मक के बजाय नकारात्मक अधिक है हम आगे पढ़ने के बजाए कि नहीं मामलों में पीछे जा रहे हैं 30 का जो माहौल है उस पर हमारी आजादी सुरक्षा और निजता सब खतरे में है हमारी जेब पर हर पल सरकार की नजर 1 पदों पर सरकारी पहरा पहले ही लग चुका है हालांकि से गुरेज नहीं है पर तैयारी अब जो है वह चिंता का विषय जरूर है बैंक को यह अधिकार दिए जाने वाले हैं कि बैंक चाहे तो हमारे खाते की रकम लौटाने से इंकार कर सकती है इसके लिए एक बिल लाया जा रहा है कोई धर्म से लेकर खान-पान रहन-सहन तक सब कुछ एक वर्ग विशेष द्वारा थोपा जा रहा है फ्रिज परम क्या रखें क्या न रखें यह समझते कर रहा है नफरत की आंधी चल रही है हर कोई एक दूसरे को शक की नजर से देख रहा है क्या बात हिंदू मुस्लिम ईसाई के बीच नफरत के बीज बोए जा रहे हैं देखने नहीं आ रहा है कि काम धंधे कारोबार से ज्यादा सरोकार धर्म और जात पात से हैं हिंसक घटनाएं आम है पीड़ित की मदद को कोई आगे नहीं आता लोग केवल तमाशा बिन नहीं पड़े रहते हिंसक वारदात को अपने कैमरे पर रिकॉर्ड करते हैं और उन्हें सोशल मीडिया पर अपलोड करते हैं भारत ऐसे बदल रहा है या बड़े दुख की बात है
Romanized Version
हां भारत बदल रहा है हर स्तर पर बदल रहा है हर स्तर पर बदलाव कहने का तात्पर्य है कि राष्ट्रीय सामाजिक आर्थिक हर स्तर पर बदल रहा है पर दुख की बात यह है कि यह बदलाव सकारात्मक के बजाय नकारात्मक अधिक है हम आगे पढ़ने के बजाए कि नहीं मामलों में पीछे जा रहे हैं 30 का जो माहौल है उस पर हमारी आजादी सुरक्षा और निजता सब खतरे में है हमारी जेब पर हर पल सरकार की नजर 1 पदों पर सरकारी पहरा पहले ही लग चुका है हालांकि से गुरेज नहीं है पर तैयारी अब जो है वह चिंता का विषय जरूर है बैंक को यह अधिकार दिए जाने वाले हैं कि बैंक चाहे तो हमारे खाते की रकम लौटाने से इंकार कर सकती है इसके लिए एक बिल लाया जा रहा है कोई धर्म से लेकर खान-पान रहन-सहन तक सब कुछ एक वर्ग विशेष द्वारा थोपा जा रहा है फ्रिज परम क्या रखें क्या न रखें यह समझते कर रहा है नफरत की आंधी चल रही है हर कोई एक दूसरे को शक की नजर से देख रहा है क्या बात हिंदू मुस्लिम ईसाई के बीच नफरत के बीज बोए जा रहे हैं देखने नहीं आ रहा है कि काम धंधे कारोबार से ज्यादा सरोकार धर्म और जात पात से हैं हिंसक घटनाएं आम है पीड़ित की मदद को कोई आगे नहीं आता लोग केवल तमाशा बिन नहीं पड़े रहते हिंसक वारदात को अपने कैमरे पर रिकॉर्ड करते हैं और उन्हें सोशल मीडिया पर अपलोड करते हैं भारत ऐसे बदल रहा है या बड़े दुख की बात हैHaan Bharat Badal Raha Hai Har Sthar Par Badal Raha Hai Har Sthar Par Badlav Kehne Ka Tatparya Hai Ki Rashtriya Samajik Aarthik Har Sthar Par Badal Raha Hai Par Dukh Ki Baat Yeh Hai Ki Yeh Badlav Sakaratmak Ke Bajay Nakaratmak Adhik Hai Hum Aage Padhne Ke Bajae Ki Nahi Mamlon Mein Piche Ja Rahe Hain 30 Ka Jo Maahaul Hai Us Par Hamari Azadi Suraksha Aur Nijata Sab Khatre Mein Hai Hamari Jeb Par Har Pal Sarkar Ki Nazar 1 Padon Par Sarkari Pahara Pehle Hi Lag Chuka Hai Halanki Se Gurej Nahi Hai Par Taiyari Ab Jo Hai Wah Chinta Ka Vishay Jarur Hai Bank Ko Yeh Adhikaar Diye Jaane Wale Hain Ki Bank Chahe To Hamare Khate Ki Rakam Lautaane Se Inkar Kar Sakti Hai Iske Liye Ek Bill Laya Ja Raha Hai Koi Dharm Se Lekar Khan Pan Rahan Sahan Tak Sab Kuch Ek Varg Vishesh Dwara Thopa Ja Raha Hai Fridge Param Kya Rakhen Kya N Rakhen Yeh Samajhte Kar Raha Hai Nafrat Ki Andhi Chal Rahi Hai Har Koi Ek Dusre Ko Shaq Ki Nazar Se Dekh Raha Hai Kya Baat Hindu Muslim Isai Ke Beech Nafrat Ke Beej Boy Ja Rahe Hain Dekhne Nahi Aa Raha Hai Ki Kaam Dhandhe Karobaar Se Jyada Sarokar Dharm Aur Jaat Pat Se Hain Hinsak Ghatnaye Aam Hai Peedit Ki Madad Ko Koi Aage Nahi Aata Log Kewal Tamasha Bin Nahi Pade Rehte Hinsak Vaardaat Ko Apne Cameras Par Record Karte Hain Aur Unhen Social Media Par Upload Karte Hain Bharat Aise Badal Raha Hai Ya Bade Dukh Ki Baat Hai
Likes  2  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिए😊

ऐसे और सवाल

ques_icon

ques_icon

ques_icon

ques_icon

ques_icon

ques_icon

अधिक जवाब


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार जी हां भारत बदल रहा है पर कैसे इसका जवाब मैं अब नहाने जा रहा हूं देखिए बदलाव एक ऐसा शब्द है इसका मतलब हम दो तरीके से लेकर आगे बढ़ सकते हैं सुधरना या बिगड़ना जो मुझे व्यक्तिगत रुप से लगता है वह यह है कि इस सवाल कोरी प्रेम करने की जरूरत है कि भारत सुधार रहा है पर कैसे तो वह ऐसे ही आज हमारे देश में जागरूकता बढ़ रही है जिसे अवेयरनेस कहते हैं आज जितने भी आधुनिक रूप से सक्षम देश हैं जैसे की हमारे का चाइना इन एक बात खास है इनके सिविलियंस काफी समझदार है और मेरा विश्वास मानिए जब तक हम देश के नागरिकों में जागरूकता नहीं आएगी तब तक कोई भी देश विकास नहीं कर सकता और इसीलिए मेरा मानना है कि आज इंडिया में लोगों को एहसास होना शुरू हो गया है क्योंकि हरकतों से देश को किस प्रकार से नुकसान या फायदा हो रहा है आज क्लास सेकंड में पढ़ रहे बच्चे को पता है कि अपने शहर को गंदा नहीं करना है आज होटल में काम कर रहे तेरा साल की अंग्रेज बच्चे को भी पता है कि अगर उसे अपने परिवार को पालना ही है तो उसे पैसे जुटाकर पहले स्कूल में दाखिला लेना होगा आज हमारे देश के यंगस्टर्स को पता चल गया है कि कामयाब होने के लिए विदेशी कंपनियों में नौकरी पाना जरुरी नहीं है बल्कि अपने देश में रहकर भी बिलियन डॉलर कंपनी बनाई जा सकती है एक डाटा के अनुसार 2020 तक इंडिया में 10:30 हजार स्टार्टअप खुल चुके होंगे आज हमारे देश में लिटरेसी रेट 74.042313 की है पर हां हम अभी भी और अच्छा सुधार कर सकते हैं हम अपने देश को तकनीकी रूप से और सक्षम बना सकते हैं पर तभी जब हम यह सोचना छोड़ दें कि सरकार हमें बदलेगी बल्कि हम खुद एंड हम खुद इनिशिएटिव ने अपने देश को बदलने का तभी यह मुमकिन है तू भारत बिल्कुल बदल रहा है क्योंकि सुधार को लेकर हमारा नजरिया बदल रहा है धन्यवाद
Romanized Version
नमस्कार जी हां भारत बदल रहा है पर कैसे इसका जवाब मैं अब नहाने जा रहा हूं देखिए बदलाव एक ऐसा शब्द है इसका मतलब हम दो तरीके से लेकर आगे बढ़ सकते हैं सुधरना या बिगड़ना जो मुझे व्यक्तिगत रुप से लगता है वह यह है कि इस सवाल कोरी प्रेम करने की जरूरत है कि भारत सुधार रहा है पर कैसे तो वह ऐसे ही आज हमारे देश में जागरूकता बढ़ रही है जिसे अवेयरनेस कहते हैं आज जितने भी आधुनिक रूप से सक्षम देश हैं जैसे की हमारे का चाइना इन एक बात खास है इनके सिविलियंस काफी समझदार है और मेरा विश्वास मानिए जब तक हम देश के नागरिकों में जागरूकता नहीं आएगी तब तक कोई भी देश विकास नहीं कर सकता और इसीलिए मेरा मानना है कि आज इंडिया में लोगों को एहसास होना शुरू हो गया है क्योंकि हरकतों से देश को किस प्रकार से नुकसान या फायदा हो रहा है आज क्लास सेकंड में पढ़ रहे बच्चे को पता है कि अपने शहर को गंदा नहीं करना है आज होटल में काम कर रहे तेरा साल की अंग्रेज बच्चे को भी पता है कि अगर उसे अपने परिवार को पालना ही है तो उसे पैसे जुटाकर पहले स्कूल में दाखिला लेना होगा आज हमारे देश के यंगस्टर्स को पता चल गया है कि कामयाब होने के लिए विदेशी कंपनियों में नौकरी पाना जरुरी नहीं है बल्कि अपने देश में रहकर भी बिलियन डॉलर कंपनी बनाई जा सकती है एक डाटा के अनुसार 2020 तक इंडिया में 10:30 हजार स्टार्टअप खुल चुके होंगे आज हमारे देश में लिटरेसी रेट 74.042313 की है पर हां हम अभी भी और अच्छा सुधार कर सकते हैं हम अपने देश को तकनीकी रूप से और सक्षम बना सकते हैं पर तभी जब हम यह सोचना छोड़ दें कि सरकार हमें बदलेगी बल्कि हम खुद एंड हम खुद इनिशिएटिव ने अपने देश को बदलने का तभी यह मुमकिन है तू भारत बिल्कुल बदल रहा है क्योंकि सुधार को लेकर हमारा नजरिया बदल रहा है धन्यवादNamaskar Ji Haan Bharat Badal Raha Hai Par Kaise Iska Jawab Main Ab Nahane Ja Raha Hoon Dekhie Badlav Ek Aisa Shabdh Hai Iska Matlab Hum Do Tarike Se Lekar Aage Badh Sakte Hain Sudharana Ya Bigadana Jo Mujhe Vyaktigat Roop Se Lagta Hai Wah Yeh Hai Ki Is Sawal Kori Prem Karne Ki Zaroorat Hai Ki Bharat Sudhaar Raha Hai Par Kaise To Wah Aise Hi Aaj Hamare Desh Mein Jagrukta Badh Rahi Hai Jise Awareness Kehte Hain Aaj Jitne Bhi Aadhunik Roop Se Saksham Desh Hain Jaise Ki Hamare Ka China In Ek Baat Khas Hai Inke Siviliyans Kafi Samajhdar Hai Aur Mera Vishwas Maaniye Jab Tak Hum Desh Ke Naagrikon Mein Jagrukta Nahi Aayegi Tab Tak Koi Bhi Desh Vikash Nahi Kar Sakta Aur Isliye Mera Manana Hai Ki Aaj India Mein Logon Ko Ehsaas Hona Shuru Ho Gaya Hai Kyonki Harkaton Se Desh Ko Kis Prakar Se Nuksan Ya Fayda Ho Raha Hai Aaj Class Second Mein Padh Rahe Bacche Ko Pata Hai Ki Apne Sheher Ko Ganda Nahi Karna Hai Aaj Hotel Mein Kaam Kar Rahe Tera Saal Ki Angrej Bacche Ko Bhi Pata Hai Ki Agar Use Apne Parivar Ko Paalnaa Hi Hai To Use Paise Jutakar Pehle School Mein Dakhila Lena Hoga Aaj Hamare Desh Ke Yangastars Ko Pata Chal Gaya Hai Ki Kamyab Hone Ke Liye Videshi Companion Mein Naukri Pana Zaroori Nahi Hai Balki Apne Desh Mein Rahkar Bhi Billion Dollar Company Banai Ja Sakti Hai Ek Data Ke Anusar 2020 Tak India Mein 10:30 Hazar Startup Khul Chuke Honge Aaj Hamare Desh Mein Literacy Rate 74.042313 Ki Hai Par Haan Hum Abhi Bhi Aur Accha Sudhaar Kar Sakte Hain Hum Apne Desh Ko Takniki Roop Se Aur Saksham Bana Sakte Hain Par Tabhi Jab Hum Yeh Sochna Chod Dein Ki Sarkar Hume Badalegi Balki Hum Khud End Hum Khud Inishietiv Ne Apne Desh Ko Badalne Ka Tabhi Yeh Mumkin Hai Tu Bharat Bilkul Badal Raha Hai Kyonki Sudhaar Ko Lekar Hamara Najariya Badal Raha Hai Dhanyavad
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत बदल रहा है बल्कि आशावादी एवं सकारात्मक विचारधारा वाले लोगों की राय शिक्षा स्वास्थ्य स्त्री पुरुष समानता स्वच्छता अंधविश्वास अत्याचार भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं सरकार और समाज दोनों के परस्पर प्रयासों से ही यह संभव हो पा रहा है एक ओर जहां सरकार शिक्षा एवं उसकी गुणवत्ता बढ़ाने पर जोर दे रही है वहीं अधिकांश परिवार की प्राथमिकता अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा देना बन गया है चाहे वह बेटी है या बेटा सरकार के राजस्व का एक बड़ा हिस्सा शिक्षा पर खर्च हो रहा है प्राथमिक से लेकर उच्च शिक्षा तक की कई योजनाएं सरकार ने लागू की लड़कियों की शिक्षा के लिए विशेष योजनाएं बनाई गई सुविधाएं दी जा रही है तू दूर गांव में भी स्कूल की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है इसी शिक्षा के प्रसार के साथ लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति सजग हो रहे हैं अपने खान-पान व्यायाम अधिक पर ध्यान दे रहे स्वच्छता के महत्व को समझ रहे हैं और व्यक्तिगत तौर पर भी इस पर ध्यान दे रहे सरकार की तरफ से इन्हें भरपूर सहयोग मिल रहा है अब आते हैं लोग पहले की तुलना में कम अंधविश्वासी हो रहे हैं कई ढोंगी बाबाओं के खिलाफ लोग बुखार हो रहे हैं जिनके कई उदाहरण हम खुद देख रहे हैं आप लोग समाज को प्रभावित होने वाले मुद्दे उठा रहे हैं चाहे वह भ्रष्टाचार के खिलाफ लोगों के अधिकारों की सजगता को निजी स्कूलों या हॉस्पिटल की मनमानी हूं सब सामने आ रही है इस तरह से हमारा भारत एक सुखद बदलाव की ओर बढ़ रहा है यह चीज हम
Romanized Version
भारत बदल रहा है बल्कि आशावादी एवं सकारात्मक विचारधारा वाले लोगों की राय शिक्षा स्वास्थ्य स्त्री पुरुष समानता स्वच्छता अंधविश्वास अत्याचार भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं सरकार और समाज दोनों के परस्पर प्रयासों से ही यह संभव हो पा रहा है एक ओर जहां सरकार शिक्षा एवं उसकी गुणवत्ता बढ़ाने पर जोर दे रही है वहीं अधिकांश परिवार की प्राथमिकता अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा देना बन गया है चाहे वह बेटी है या बेटा सरकार के राजस्व का एक बड़ा हिस्सा शिक्षा पर खर्च हो रहा है प्राथमिक से लेकर उच्च शिक्षा तक की कई योजनाएं सरकार ने लागू की लड़कियों की शिक्षा के लिए विशेष योजनाएं बनाई गई सुविधाएं दी जा रही है तू दूर गांव में भी स्कूल की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है इसी शिक्षा के प्रसार के साथ लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति सजग हो रहे हैं अपने खान-पान व्यायाम अधिक पर ध्यान दे रहे स्वच्छता के महत्व को समझ रहे हैं और व्यक्तिगत तौर पर भी इस पर ध्यान दे रहे सरकार की तरफ से इन्हें भरपूर सहयोग मिल रहा है अब आते हैं लोग पहले की तुलना में कम अंधविश्वासी हो रहे हैं कई ढोंगी बाबाओं के खिलाफ लोग बुखार हो रहे हैं जिनके कई उदाहरण हम खुद देख रहे हैं आप लोग समाज को प्रभावित होने वाले मुद्दे उठा रहे हैं चाहे वह भ्रष्टाचार के खिलाफ लोगों के अधिकारों की सजगता को निजी स्कूलों या हॉस्पिटल की मनमानी हूं सब सामने आ रही है इस तरह से हमारा भारत एक सुखद बदलाव की ओर बढ़ रहा है यह चीज हमBharat Badal Raha Hai Balki Aashawadi Evam Sakaratmak Vichardhara Wale Logon Ki Rai Shiksha Swasthya Stri Purush Samanata Svachchhata Andhavishvas Atyachar Bhrashtachar Ke Khilaf Aawaj Utha Rahe Hain Sarkar Aur Samaaj Dono Ke Paraspar Prayaso Se Hi Yeh Sambhav Ho Pa Raha Hai Ek Oar Jahan Sarkar Shiksha Evam Uski Gunavatta Badhane Par Jor De Rahi Hai Wahin Adhikaansh Parivar Ki Prathamikta Apne Bacchon Ko Acchi Shiksha Dena Ban Gaya Hai Chahe Wah Beti Hai Ya Beta Sarkar Ke Raajaswa Ka Ek Bada Hissa Shiksha Par Kharch Ho Raha Hai Prathmik Se Lekar Uccha Shiksha Tak Ki Kai Yojanaye Sarkar Ne Laagu Ki Ladkiyon Ki Shiksha Ke Liye Vishesh Yojanaye Banai Gayi Suvidhayen Di Ja Rahi Hai Tu Dur Gav Mein Bhi School Ki Vyavastha Sunishchit Ki Ja Rahi Hai Isi Shiksha Ke Prasaar Ke Saath Log Apne Swasthya Ke Prati Sajag Ho Rahe Hain Apne Khan Pan Vyayam Adhik Par Dhyan De Rahe Svachchhata Ke Mahatva Ko Samajh Rahe Hain Aur Vyaktigat Taur Par Bhi Is Par Dhyan De Rahe Sarkar Ki Taraf Se Inhen Bharpur Sahyog Mil Raha Hai Ab Aate Hain Log Pehle Ki Tulna Mein Kum Andhavishvasi Ho Rahe Hain Kai Dhongi Babaon Ke Khilaf Log Bukhar Ho Rahe Hain Jinke Kai Udaharan Hum Khud Dekh Rahe Hain Aap Log Samaaj Ko Prabhavit Hone Wale Mudde Utha Rahe Hain Chahe Wah Bhrashtachar Ke Khilaf Logon Ke Adhikaaro Ki Sajgta Ko Niji Schoolon Ya Hospital Ki Manmani Hoon Sab Samane Aa Rahi Hai Is Tarah Se Hamara Bharat Ek Sukhad Badlav Ki Oar Badh Raha Hai Yeh Cheez Hum
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश भारत अनेक तरीकों से बदल रहा है प्रत्येक क्षण बदल रहा है BJP सरकार आने के बाद मेरे अनुसार व कांग्रेस से ज्यादा अच्छी है हमारा देश हर पल उन्नति कर रहा है स्वच्छ भारत योजना की बात करें तो उसने हम सभी के दिमाग में अपने देश को स्वच्छ रखने के बाद पैदा की है इसके चलते हैं हम प्रयासरत हैं जागरुकता बढ़ रही है ऐसी कोई चीज शायद ही हो जो समय के साथ हमने नहीं बदल रही हैं हम हर पल बेहतर होने की कोशिश कर रहे हैं भारत बदल रहा है हमारे रिश्ते हमारे पड़ोसी देशों के साथ अच्छे हो रहे हैं हम उन्नति कर रहे हैं सिर्फ कद में ही नहीं भारत मानसिक स्थिति को लेकर बदल रहा है कोई भी बदलाव इतना आसान नहीं कि एक पल में आ जाए परंतु प्रत्येक पल के साथ भारत धीरे-धीरे बदल रहा है और बदलता रहेगा बदलाव समय के साथ होना निश्चित है और यह कहते हुए बहुत गर्व होता है कि जो बदलाव हो रहे हैं वह भी बहुत अच्छे हैं
Romanized Version
हमारे देश भारत अनेक तरीकों से बदल रहा है प्रत्येक क्षण बदल रहा है BJP सरकार आने के बाद मेरे अनुसार व कांग्रेस से ज्यादा अच्छी है हमारा देश हर पल उन्नति कर रहा है स्वच्छ भारत योजना की बात करें तो उसने हम सभी के दिमाग में अपने देश को स्वच्छ रखने के बाद पैदा की है इसके चलते हैं हम प्रयासरत हैं जागरुकता बढ़ रही है ऐसी कोई चीज शायद ही हो जो समय के साथ हमने नहीं बदल रही हैं हम हर पल बेहतर होने की कोशिश कर रहे हैं भारत बदल रहा है हमारे रिश्ते हमारे पड़ोसी देशों के साथ अच्छे हो रहे हैं हम उन्नति कर रहे हैं सिर्फ कद में ही नहीं भारत मानसिक स्थिति को लेकर बदल रहा है कोई भी बदलाव इतना आसान नहीं कि एक पल में आ जाए परंतु प्रत्येक पल के साथ भारत धीरे-धीरे बदल रहा है और बदलता रहेगा बदलाव समय के साथ होना निश्चित है और यह कहते हुए बहुत गर्व होता है कि जो बदलाव हो रहे हैं वह भी बहुत अच्छे हैंHamare Desh Bharat Anek Trikon Se Badal Raha Hai Pratyek Kshan Badal Raha Hai BJP Sarkar Aane Ke Baad Mere Anusar V Congress Se Jyada Acchi Hai Hamara Desh Har Pal Unnati Kar Raha Hai Swach Bharat Yojana Ki Baat Karen To Usne Hum Sabhi Ke Dimag Mein Apne Desh Ko Swach Rakhne Ke Baad Paida Ki Hai Iske Chalte Hain Hum Prayasarat Hain Jagrukta Badh Rahi Hai Aisi Koi Cheez Shayad Hi Ho Jo Samay Ke Saath Humne Nahi Badal Rahi Hain Hum Har Pal Behtar Hone Ki Koshish Kar Rahe Hain Bharat Badal Raha Hai Hamare Rishte Hamare Padoshi Deshon Ke Saath Acche Ho Rahe Hain Hum Unnati Kar Rahe Hain Sirf Kad Mein Hi Nahi Bharat Mansik Sthiti Ko Lekar Badal Raha Hai Koi Bhi Badlav Itna Aasan Nahi Ki Ek Pal Mein Aa Jaye Parantu Pratyek Pal Ke Saath Bharat Dhire Dhire Badal Raha Hai Aur Badalta Rahega Badlav Samay Ke Saath Hona Nishchit Hai Aur Yeh Kehte Hue Bahut Garv Hota Hai Ki Jo Badlav Ho Rahe Hain Wah Bhi Bahut Acche Hain
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गोपाल जी आपने एक बहुत अच्छा प्रश्न पूछा है कि भारत बदल रहा है या नहीं मैं आप को बता देना चाहता हूं कि भारत दिन पर दिन प्रोग्रेस कर रहा है हर चीज में हर फील्ड में हर तरीके से प्रोग्रेस कर रहा है अरे एजुकेशन की बात करें भारत में पहले महिलाओं का पढ़ा लिखा होना है सिर्फ 30% ही होता था लेकिन अब यह रेट बढ़कर 50% हो चुका है इसका मतलब भारत में अभी लगभग 50% महिलाएं पढ़ी लिखी है अगर हम वुमन एंपावरमेंट की बात करें आपको तो पता ही होगा कि आजकल की महिलाएं वह हर चीज़ भागीदारी दे रही हैं जैसे पॉलिटिक्स पहले से इसमें मैं नहीं जा सकते लेकिन अब इसमें मूवमेंट पूरी पूरी भागीदारी दे रही हैं प्राइवेट जॉब्स गवर्नमेंट जॉब्स आजकल की जो महिला है वह बराबर काम करते हैं जो पहले नहीं था अगर हम भारत की इकोनॉमी की बात करें तो प्रेजेंट में भारत की कमी देखी जाए जीडीपी कार्टन में देखें तो भारत सेक्स नंबर पर है पूरी दुनिया में इस नंबर पर अगर नॉमिनल जीडीपी को देखें और अगर हम परचेसिंग पावर को देखें तो भारत थर्ड नंबर पर पूरी दुनिया में अगर हम आज भी एग्रीकल्चर की बात करें तो भारत सेकंड नंबर पर आता है पूरी दुनिया में फूट को प्रोड्यूस करने में और लगभग आज भी यह 60% एंप्लॉयमेंट देता है एग्रीकल्चर जो है ना वह 60% एंप्लॉयमेंट देता है भारत के लोगों को तो यही पता चलता है कि भारत हमारा दिन पर दिन प्रगति कर रहा है लेकिन कुछ ऐसे फैक्टर है जो भारत की प्रोग्रेस को रोक रहे हैं स्लो कर रहे हैं जैसे जातिवाद रिजर्वेशन कास्ट रिलीजन आज भी भारत की प्रोग्रेस में कहीं ना कहीं वादा डाल रहा है प्लीज उनके पीछे लड़ाईयां यह सब कुछ फैक्टर्स है इनको भारत से निकाल देना चाहिए और भारत की प्रोग्रेस में था
Romanized Version
गोपाल जी आपने एक बहुत अच्छा प्रश्न पूछा है कि भारत बदल रहा है या नहीं मैं आप को बता देना चाहता हूं कि भारत दिन पर दिन प्रोग्रेस कर रहा है हर चीज में हर फील्ड में हर तरीके से प्रोग्रेस कर रहा है अरे एजुकेशन की बात करें भारत में पहले महिलाओं का पढ़ा लिखा होना है सिर्फ 30% ही होता था लेकिन अब यह रेट बढ़कर 50% हो चुका है इसका मतलब भारत में अभी लगभग 50% महिलाएं पढ़ी लिखी है अगर हम वुमन एंपावरमेंट की बात करें आपको तो पता ही होगा कि आजकल की महिलाएं वह हर चीज़ भागीदारी दे रही हैं जैसे पॉलिटिक्स पहले से इसमें मैं नहीं जा सकते लेकिन अब इसमें मूवमेंट पूरी पूरी भागीदारी दे रही हैं प्राइवेट जॉब्स गवर्नमेंट जॉब्स आजकल की जो महिला है वह बराबर काम करते हैं जो पहले नहीं था अगर हम भारत की इकोनॉमी की बात करें तो प्रेजेंट में भारत की कमी देखी जाए जीडीपी कार्टन में देखें तो भारत सेक्स नंबर पर है पूरी दुनिया में इस नंबर पर अगर नॉमिनल जीडीपी को देखें और अगर हम परचेसिंग पावर को देखें तो भारत थर्ड नंबर पर पूरी दुनिया में अगर हम आज भी एग्रीकल्चर की बात करें तो भारत सेकंड नंबर पर आता है पूरी दुनिया में फूट को प्रोड्यूस करने में और लगभग आज भी यह 60% एंप्लॉयमेंट देता है एग्रीकल्चर जो है ना वह 60% एंप्लॉयमेंट देता है भारत के लोगों को तो यही पता चलता है कि भारत हमारा दिन पर दिन प्रगति कर रहा है लेकिन कुछ ऐसे फैक्टर है जो भारत की प्रोग्रेस को रोक रहे हैं स्लो कर रहे हैं जैसे जातिवाद रिजर्वेशन कास्ट रिलीजन आज भी भारत की प्रोग्रेस में कहीं ना कहीं वादा डाल रहा है प्लीज उनके पीछे लड़ाईयां यह सब कुछ फैक्टर्स है इनको भारत से निकाल देना चाहिए और भारत की प्रोग्रेस में थाGopal Ji Aapne Ek Bahut Accha Prashna Poocha Hai Ki Bharat Badal Raha Hai Ya Nahi Main Aap Ko Bata Dena Chahta Hoon Ki Bharat Din Par Din Progress Kar Raha Hai Har Cheez Mein Har Field Mein Har Tarike Se Progress Kar Raha Hai Arre Education Ki Baat Karen Bharat Mein Pehle Mahilaon Ka Padha Likha Hona Hai Sirf 30% Hi Hota Tha Lekin Ab Yeh Rate Badhkar 50% Ho Chuka Hai Iska Matlab Bharat Mein Abhi Lagbhag 50% Mahilaye Padhi Likhi Hai Agar Hum Woman Empavarament Ki Baat Karen Aapko To Pata Hi Hoga Ki Aajkal Ki Mahilaye Wah Har Cheese Bhagidari De Rahi Hain Jaise Politics Pehle Se Isme Main Nahi Ja Sakte Lekin Ab Isme Movement Puri Puri Bhagidari De Rahi Hain Private Jobs Government Jobs Aajkal Ki Jo Mahila Hai Wah Barabar Kaam Karte Hain Jo Pehle Nahi Tha Agar Hum Bharat Ki Economy Ki Baat Karen To Present Mein Bharat Ki Kami Dekhi Jaye Gdp Carton Mein Dekhen To Bharat Sex Number Par Hai Puri Duniya Mein Is Number Par Agar Naminal Gdp Ko Dekhen Aur Agar Hum Parachesing Power Ko Dekhen To Bharat Third Number Par Puri Duniya Mein Agar Hum Aaj Bhi Agriculture Ki Baat Karen To Bharat Second Number Par Aata Hai Puri Duniya Mein Foot Ko Produce Karne Mein Aur Lagbhag Aaj Bhi Yeh 60% Employment Deta Hai Agriculture Jo Hai Na Wah 60% Employment Deta Hai Bharat Ke Logon Ko To Yahi Pata Chalta Hai Ki Bharat Hamara Din Par Din Pragati Kar Raha Hai Lekin Kuch Aise Factor Hai Jo Bharat Ki Progress Ko Rok Rahe Hain Slow Kar Rahe Hain Jaise Jaatiwad Reservation Caste Rilijan Aaj Bhi Bharat Ki Progress Mein Kahin Na Kahin Vada Dal Raha Hai Please Unke Piche Ladaiyan Yeh Sab Kuch Factors Hai Inko Bharat Se Nikal Dena Chahiye Aur Bharat Ki Progress Mein Tha
Likes  3  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Bharat Badal Raha Hai Lekin Kaise,India Is Changing, But How?,


vokalandroid