स्वच्छ भारत अभियान भारत में शुरू होने के तीन सालों से अधिक समय हो गया है ! तब से अब तक क्या बदलाव हुआ हैं? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्वच्छ भारत अभियान हमारे प्रधानमंत्री मोदी जी ने 2 अक्टूबर 2014 को लांच किया था इसके अंतर्गत उन्होंने हमारे देश को स्वच्छ और सुंदर बनाने की कल्पना की थी जिससे नदियां फूल-फूल बढ़िया पहाड़ की सफाई और हम...जवाब पढ़िये
स्वच्छ भारत अभियान हमारे प्रधानमंत्री मोदी जी ने 2 अक्टूबर 2014 को लांच किया था इसके अंतर्गत उन्होंने हमारे देश को स्वच्छ और सुंदर बनाने की कल्पना की थी जिससे नदियां फूल-फूल बढ़िया पहाड़ की सफाई और हमारे देश की सफाई का जरिया बना था यह अभियान और अगर हम देखें कि तब से अब तक क्या बदलाव हुआ है इस अभियान के अंदर सबसे बड़ा बदलाव तो लोगों की मेंटलिटी आने के लोगों की सोच में आया है आज कल लोग सफाई अपने घर की सफाई अपने घर के बाहर की सफाई अपने घोड़े का घोड़े को कहा डालना चाहिए यह सब देखना बहुत ज्यादा शुरू कर दिया है पहले लोगों को इतना फर्क नहीं पड़ता था कि उनका कचड़ा पूरा बाहर पड़ा है या उनके घर के आस पास कूड़ा जमा हो रखा है लेकिन अब लोग इस बारे में जागरूक हुए हैं और कई सारे कैंपियन ऐसे भी चले हैं सोशल चैंपियन ऐसे भी चले जहां के लोगों ने आगे बढ़कर अपने आप वालंटियर किया है कि हम भी स्वच्छ भारत अभियान में हाथ बताएंगे और स्वच्छ भारत अभियान सब तभी सफल हो सकता है जब हम अपने घर से उसकी शुरूआत करें तो ऐसा जरूर हुआ है स्वच्छ भारत अभियान में लोगों की मेंटलिटी लोगों के मानसिक विकास बहुत किया हैSwach Bharat Abhiyan Hamare Pradhanmantri Modi Ji Ne 2 October 2014 Ko Launch Kiya Tha Iske Antargat Unhone Hamare Desh Ko Swach Aur Sundar Banane Ki Kalpana Ki Thi Jisse Nadiyan Fool Fool Badhiya Pahad Ki Safaai Aur Hamare Desh Ki Safaai Ka Jariya Bana Tha Yeh Abhiyan Aur Agar Hum Dekhen Ki Tab Se Ab Tak Kya Badlav Hua Hai Is Abhiyan Ke Andar Sabse Bada Badlav To Logon Ki Mentaliti Aane Ke Logon Ki Soch Mein Aaya Hai Aaj Kal Log Safaai Apne Ghar Ki Safaai Apne Ghar Ke Bahar Ki Safaai Apne Ghode Ka Ghode Ko Kaha Daalna Chahiye Yeh Sab Dekhna Bahut Jyada Shuru Kar Diya Hai Pehle Logon Ko Itna Fark Nahi Padata Tha Ki Unka Kachada Pura Bahar Pada Hai Ya Unke Ghar Ke Aas Paas Kuda Jama Ho Rakha Hai Lekin Ab Log Is Baare Mein Jaagruk Hue Hain Aur Kai Sare Kaimpiyan Aise Bhi Chale Hain Social Champion Aise Bhi Chale Jahan Ke Logon Ne Aage Badhkar Apne Aap Valantiyar Kiya Hai Ki Hum Bhi Swach Bharat Abhiyan Mein Hath Batayenge Aur Swach Bharat Abhiyan Sab Tabhi Safal Ho Sakta Hai Jab Hum Apne Ghar Se Uski Shuruat Karen To Aisa Jarur Hua Hai Swach Bharat Abhiyan Mein Logon Ki Mentaliti Logon Ke Mansik Vikash Bahut Kiya Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत किए गए विभिन्न में कदमों से जरुर देश के लोगों का ध्यान स्वच्छता जैसे महत्वपूर्ण मछली पर केंद्रित किया गया हो मगर मेरा यह मानना है कि हमारे आसपास की जगहो की सफाई रखना कूड़...जवाब पढ़िये
स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत किए गए विभिन्न में कदमों से जरुर देश के लोगों का ध्यान स्वच्छता जैसे महत्वपूर्ण मछली पर केंद्रित किया गया हो मगर मेरा यह मानना है कि हमारे आसपास की जगहो की सफाई रखना कूड़े को सिर्फ और सिर्फ कचरे के डब्बे में ही डालना यह बातें तो हर नागरिक की जिम्मेदारी है जिससे हमें पूरी निष्ठा से निभाना होगा स्वच्छता बहुत ही आवश्यक है और इससे हम कई प्रकार की बीमारियों से खुद को एवं हमारे शहर नागरिकों को बचा सकते हैं इसलिए हमें सतत इस बात की कोशिश करनी चाहिए कि हम सफाई पर ध्यान दें एवं दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें सरकार से जरुर उस घोड़े को सही जगह तक पहुंचाने की अपेक्षा होनी चाहिए मगर उससे पहले कचरा सिर्फ और सिर्फ कचरे के डब्बे में जाए यह हम आपकी जिम्मेदारी है शायद यही स्वच्छ भारत अभियान की असफलता होगीSwach Bharat Abhiyan Ke Antargat Kiye Gaye Vibhinn Mein Kadamon Se Zaroor Desh Ke Logon Ka Dhyan Svachchhata Jaise Mahatvapurna Machli Par Kendrit Kiya Gaya Ho Magar Mera Yeh Manana Hai Ki Hamare Aaspass Ki Jagaho Ki Safaai Rakhna Kude Ko Sirf Aur Sirf Kachre Ke Dabbe Mein Hi Daalna Yeh Batein To Har Nagarik Ki Jimmedari Hai Jisse Hume Puri Nishtha Se Nibhana Hoga Svachchhata Bahut Hi Aavashyak Hai Aur Isse Hum Kai Prakar Ki Bimariyon Se Khud Ko Evam Hamare Sheher Naagrikon Ko Bacha Sakte Hain Isliye Hume Satat Is Baat Ki Koshish Karni Chahiye Ki Hum Safaai Par Dhyan Dein Evam Dusron Ko Bhi Iske Liye Prerit Karen Sarkar Se Zaroor Us Ghode Ko Sahi Jagah Tak Pahunchane Ki Apeksha Honi Chahiye Magar Usse Pehle Kachra Sirf Aur Sirf Kachre Ke Dabbe Mein Jaye Yeh Hum Aapki Jimmedari Hai Shayad Yahi Swach Bharat Abhiyan Ki Asafaltaa Hogi
Likes  12  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Swacch Bharat Abhiyan Bharat Mein Shuru Hone Ke Teen Salon Se Adhik Samay Ho Gaya Hai ! Tab Se Ab Tak Kya Badlav Hua Hain, Swachh Bharat Abhiyan Is More Than Three Years From The Beginning Of India! What Has Changed Since Then?

vokalandroid