पृथ्वी गोल है ! किसने कहा था ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुंडल कुंचित केसा...
जवाब पढ़िये
कुंडल कुंचित केसाKundal Kunchit Kesa
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धरती गोल है यह किसने कहा था पृथ्वी गोल है किसने कहा था अगर आप जाना चाहे तो इसके भी स्पष्ट जवाब मुझसे मिलना मुश्किल है लेकिन कहां जाता है कि पाइथोगोरस जो की बड़ी फेमस मैथेमैटिशन थे और गणितज्ञ थे बहुत ब...
जवाब पढ़िये
धरती गोल है यह किसने कहा था पृथ्वी गोल है किसने कहा था अगर आप जाना चाहे तो इसके भी स्पष्ट जवाब मुझसे मिलना मुश्किल है लेकिन कहां जाता है कि पाइथोगोरस जो की बड़ी फेमस मैथेमैटिशन थे और गणितज्ञ थे बहुत बड़े पाइथागोरस उन्होंने 561 ईसापूर्व में यह कहा था कि धरती गोल है लेकिन अगर अंग्रेज इतिहास बताएं जो गिरी का इतिहास कहता है तो 350 ईसवी के आस-पास ही एरिस्टोटल जो की बहुत ही महान वैज्ञानिक थे उन्होंने यह बता दिया था कि पृथ्वी गोल हैDharti Gol Hai Yeh Kisne Kaha Tha Prithvi Gol Hai Kisne Kaha Tha Agar Aap Jana Chahe To Iske Bhi Spasht Jawab Mujhse Milna Mushkil Hai Lekin Kahan Jata Hai Ki Jo Ki Badi Famous The Aur Ganitagya The Bahut Bade Pythagoras Unhone 561 Isapurv Mein Yeh Kaha Tha Ki Dharti Gol Hai Lekin Agar Angrej Itihas Bataen Jo Giri Ka Itihas Kahata Hai To 350 Isavi Ke Aas Paas Hi Aristotle Jo Ki Bahut Hi Mahaan Vaigyanik The Unhone Yeh Bata Diya Tha Ki Prithvi Gol Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे पहले किसने बोला था कि पृथ्वी जो है गोल है वह ग्रीक मैथेमैटिशन थे उनका नाम था इरैटोस्थनीज...
जवाब पढ़िये
सबसे पहले किसने बोला था कि पृथ्वी जो है गोल है वह ग्रीक मैथेमैटिशन थे उनका नाम था इरैटोस्थनीजSabse Pehle Kisne Bola Tha Ki Prithvi Jo Hai Gol Hai Wah Greek The Unka Naam Tha
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
पृथ्वी गोल है , कहना, आज जितना सरल और सही लगता है। आज से लगभग पांच सौ वर्ष पूर्व पृथ्वी को गोल कहना उतना सरल और सही नहीं लगता था। क्योंकि तब हम पृथ्वी को सपाट मानते थे पृथ्वी को कुछ लोगों ने चौकोर बताया तो कुछ ने गोल हालांकि जिन लोगों ने गोल बताया वह भी अपनी थ्योरी में कन्फर्म नहीं थे। सर्वप्रथम पाइथागोरस ने पता लगाया कि पृथ्वी गोल है।
Romanized Version
पृथ्वी गोल है , कहना, आज जितना सरल और सही लगता है। आज से लगभग पांच सौ वर्ष पूर्व पृथ्वी को गोल कहना उतना सरल और सही नहीं लगता था। क्योंकि तब हम पृथ्वी को सपाट मानते थे पृथ्वी को कुछ लोगों ने चौकोर बताया तो कुछ ने गोल हालांकि जिन लोगों ने गोल बताया वह भी अपनी थ्योरी में कन्फर्म नहीं थे। सर्वप्रथम पाइथागोरस ने पता लगाया कि पृथ्वी गोल है।Prithvi Gol Hai , Kehna Aaj Jitna Saral Aur Sahi Lagta Hai Aaj Se Lagbhag Paanch Sau Varsh Purv Prithvi Ko Gol Kehna Utana Saral Aur Sahi Nahi Lagta Tha Kyonki Tab Hum Prithvi Ko Sapat Manate The Prithvi Ko Kuch Logon Ne Chaukor Bataya To Kuch Ne Gol Halanki Jin Logon Ne Gol Bataya Wah Bhi Apni Theory Mein Confirm Nahi The Sarvapratham Pythagoras Ne Pata Lagaya Ki Prithvi Gol Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
पृथ्वी गोल है ये सर्वप्रथम पाइथागोरस इन्होने कहा था | पाइथागोरस एक प्राचीन इओनियन यूनानी दार्शनिक थे | पृथ्वी का 71 प्रतिशत भाग पानी से ढका हुआ है | पृथ्वी की उत्पत्ति करीब 4.6 अरब वर्ष पहले हुई थी | पृथ्वी का सर्वाधिक ऊंचा स्थान माउंट एवरेस्ट ये है | माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई समुद्र तल से 8,848 मीटर इतनी है |
Romanized Version
पृथ्वी गोल है ये सर्वप्रथम पाइथागोरस इन्होने कहा था | पाइथागोरस एक प्राचीन इओनियन यूनानी दार्शनिक थे | पृथ्वी का 71 प्रतिशत भाग पानी से ढका हुआ है | पृथ्वी की उत्पत्ति करीब 4.6 अरब वर्ष पहले हुई थी | पृथ्वी का सर्वाधिक ऊंचा स्थान माउंट एवरेस्ट ये है | माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई समुद्र तल से 8,848 मीटर इतनी है |Prithvi Gol Hai Yeh Sarvapratham Pythagoras Inhone Kaha Tha | Pythagoras Ek Prachin Ioniyan Unani Darshnik The | Prithvi Ka 71 Pratishat Bhag Pani Se Dhaka Hua Hai | Prithvi Ki Utpatti Karib 4.6 Arab Varsh Pehle Hui Thi | Prithvi Ka Sarvadhik Uncha Sthan Mount EVEREST Yeh Hai | Mount EVEREST Ki Unchai Samudra Tal Se 8,848 Meter Itni Hai |
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
सर्वप्रथम पाइथागोरस ने पता लगाया कि पृथ्वी गोल है।
Romanized Version
सर्वप्रथम पाइथागोरस ने पता लगाया कि पृथ्वी गोल है। Sarvapratham Pythagoras Ne Pata Lagaya Ki Prithvi Gol Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
सर्वप्रथम पाइथागोरस ने कहा की पृथ्वी गोल है | समोस का पाइथागोरस एक प्राचीन इओनियन यूनानी दार्शनिक था और पाइथोगोरियनवाद का संस्थापक नाम था। उनकी राजनीतिक और धार्मिक शिक्षाओं को मैग्ना ग्रेशिया में अच्छी तरह से जाना जाता था और प्लेटो, अरस्तू, और उनके माध्यम से, पश्चिमी दर्शन के दर्शन को प्रभावित किया। आधुनिक विद्वान पाइथागोरस की शिक्षा और प्रभावों के बारे में असहमत हैं, लेकिन वे इस बात से सहमत हैं कि 530 ईसा पूर्व के आसपास, उन्होंने क्रोटन की यात्रा की, जहां उन्होंने एक स्कूल की स्थापना की, जिसमें गोपनीयता की शपथ ली गई थी और एक सांप्रदायिक, वैचारिक जीवन शैली जीती थी।
Romanized Version
सर्वप्रथम पाइथागोरस ने कहा की पृथ्वी गोल है | समोस का पाइथागोरस एक प्राचीन इओनियन यूनानी दार्शनिक था और पाइथोगोरियनवाद का संस्थापक नाम था। उनकी राजनीतिक और धार्मिक शिक्षाओं को मैग्ना ग्रेशिया में अच्छी तरह से जाना जाता था और प्लेटो, अरस्तू, और उनके माध्यम से, पश्चिमी दर्शन के दर्शन को प्रभावित किया। आधुनिक विद्वान पाइथागोरस की शिक्षा और प्रभावों के बारे में असहमत हैं, लेकिन वे इस बात से सहमत हैं कि 530 ईसा पूर्व के आसपास, उन्होंने क्रोटन की यात्रा की, जहां उन्होंने एक स्कूल की स्थापना की, जिसमें गोपनीयता की शपथ ली गई थी और एक सांप्रदायिक, वैचारिक जीवन शैली जीती थी। Sarvapratham Pythagoras Ne Kaha Ki Prithvi Gol Hai | Samos Ka Pythagoras Ek Prachin Ioniyan Unani Darshnik Tha Aur Paithogoriyanvad Ka Sansthapak Naam Tha Unki Raajnitik Aur Dharmik Shikshaon Ko Maigna Greshiya Mein Acchi Tarah Se Jana Jata Tha Aur Pluto Arastu Aur Unke Maadhyam Se Pashchimi Darshan Ke Darshan Ko Prabhavit Kiya Aadhunik Vidwan Pythagoras Ki Shiksha Aur Prabhavon Ke Bare Mein Asahamat Hain Lekin Ve Is Baat Se Sahmat Hain Ki 530 Isa Purv Ke Aaspass Unhone Krotan Ki Yatra Ki Jahan Unhone Ek School Ki Sthapana Ki Jisme Gopaniyata Ki Shapath Lee Gayi Thi Aur Ek Sampradayik Vaicharik Jeevan Shaili Jeeti Thi
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
पृथ्वी का एक सपाट डिस्क होने का विचार इस तथ्य के साथ भी असंगत है कि एक दिया गया चंद्र ग्रहण केवल एक समय में पृथ्वी के आधे हिस्से से दिखाई देता है। एक ही आकार जो एक गोल छाया रखता है चाहे वह जिस दिशा में इंगित किया गया हो वह एक गोला है, और प्राचीन यूनानियों ने कहा कि इसका अर्थ यह होना चाहिए कि पृथ्वी गोलाकार है।
Romanized Version
पृथ्वी का एक सपाट डिस्क होने का विचार इस तथ्य के साथ भी असंगत है कि एक दिया गया चंद्र ग्रहण केवल एक समय में पृथ्वी के आधे हिस्से से दिखाई देता है। एक ही आकार जो एक गोल छाया रखता है चाहे वह जिस दिशा में इंगित किया गया हो वह एक गोला है, और प्राचीन यूनानियों ने कहा कि इसका अर्थ यह होना चाहिए कि पृथ्वी गोलाकार है।Prithvi Ka Ek Sapat Disk Hone Ka Vichar Is Tathya Ke Saath Bhi Asangat Hai Ki Ek Diya Gaya Chandra Grahan Kewal Ek Samay Mein Prithvi Ke Aadhe Hisse Se Dikhai Deta Hai Ek Hi Aakaar Jo Ek Gol Chaya Rakhta Hai Chahe Wah Jis Disha Mein Ingit Kiya Gaya Ho Wah Ek Gola Hai Aur Prachin Yunaniyo Ne Kaha Ki Iska Arth Yeh Hona Chahiye Ki Prithvi Golaakar Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Prithvi Gol Hai ! Kisne Kaha Tha ?, Earth Is Round! Who Told ? , Prithvi Gol Hai Kisne Kaha Tha, Prithvi Gol, Prithvi Gol Hai Kisne Kaha, Kisne Pehli Baar Kaha Ki Prithvi Gol Hai, पृथ्वी गोल है सर्वप्रथम किसने कहा था, Prithvi Gol Hai Sar Pratham Kisne Kaha, Kisne Kaha Prithvi Gol Hai, Prithvi Gol Hai Kisne Bataya, पृथ्वी गोल है सर प्रथम किसने कहा था, Prathvi Gol H Kisne Kha, Duniya Gol Hai Kisne Kaha Tha, Earth Gol Hai Kisne Kaha, सर्वप्रथम किसने बताया कि पृथ्वी गोल है, पृथ्वी गोल है किसने कहा था, Prithvi Gol H Kisne Kaha, Kisne Kaha Ki Prithvi Gol Hai, Kisne Kaha Tha Ki Prithvi Gol Hai, Earth Is Round Kisne Kaha, Kisne Kaha Tha Prithvi Gol Hai

vokalandroid