क्या बातें वाजपेयी जी ने बताया क्यों जरूरी था पोखरण परीक्षण के बारे में? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी क्या बात है बताएं बाजपेई ने अटल बिहारी वाजपेई ट्यूसडे भारत के प्रधानमंत्री पोखरण परीक्षण के बारे में तो पोखरण परीक्षण बहुत बड़ा योगदान रहा है भारत को बहुत ही तेजी से दोस्त बनाने भारत को मजबूत करने...जवाब पढ़िये
अभी क्या बात है बताएं बाजपेई ने अटल बिहारी वाजपेई ट्यूसडे भारत के प्रधानमंत्री पोखरण परीक्षण के बारे में तो पोखरण परीक्षण बहुत बड़ा योगदान रहा है भारत को बहुत ही तेजी से दोस्त बनाने भारत को मजबूत करने में भारत कि अगर हम बात करते हैं न्यूक्लियर पावर इसकी तो पहले बहुत कम था जो कि जो पोखरण में हुआ 1998 में उसके बाद से बाहर जो है परमाणु युक्त राष्ट्र बन गया उस वक्त भारत के दूसरे राष्ट्र का भी खतरा मंडराता था जिसके पाकिस्तान जो कंट्री थी उस वक्त और भी लॉन्च कर रही थी जिसे कि अगर बात करते हैं तो उस वक्त गोरी और गजनबी जो थी वह परीक्षण कर चुकी थी वहां पर तो इसका अर्थ ऐसा लग रहा था कि भारत पर वोट के चांसेस हैं को देखते हुए अटल बिहारी बाजपेई ने इस परमाणु परीक्षण को हरी झंडी दिखाई दे और उसके कारण ही भारत जो है असामान्य उतरा हो गया हमेशा जिद भी हो भाषण दिए हैं उन्होंने डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम और उससे पहले जो एक और पहले जो किया गया से पैसेंजर की नरसिम्हा राव के शासनकाल में किया गया था तो उनको भी बार-बार सम्मानित किया उनको भी योगदान मतलब बताया गया कि कभी एकदम से बहुत बड़ा था जिस उन्होंने बोला कि सिर्फ उन्होंने सिर्फ आगे काम बड़ा या पहले जो प्लेटफॉर्म बन चुका था तो बिल्कुल यह चीज हमेशा से स्टेटमेंट में यूज किया हैAbhi Kya Baat Hai Bataen Baajpayee Ne Atal Bihari Vajpayee Tyusade Bharat Ke Pradhanmantri Pokharan Parikshan Ke Bare Mein To Pokharan Parikshan Bahut Bada Yogdan Raha Hai Bharat Ko Bahut Hi Teji Se Dost Banane Bharat Ko Mazboot Karne Mein Bharat Ki Agar Hum Baat Karte Hain Nuclear Power Iski To Pehle Bahut Kam Tha Jo Ki Jo Pokharan Mein Hua 1998 Mein Uske Baad Se Bahar Jo Hai Parmanu Yukta Rashtra Ban Gaya Us Waqt Bharat Ke Dusre Rashtra Ka Bhi Khatra Mandarata Tha Jiske Pakistan Jo Country Thi Us Waqt Aur Bhi Launch Kar Rahi Thi Jise Ki Agar Baat Karte Hain To Us Waqt Gori Aur Gajanabi Jo Thi Wah Parikshan Kar Chuki Thi Wahan Par To Iska Arth Aisa Lag Raha Tha Ki Bharat Par Vote Ke Chances Hain Ko Dekhte Huye Atal Bihari Baajpayee Ne Is Parmanu Parikshan Ko Hari Jhandi Dikhai De Aur Uske Kaaran Hi Bharat Jo Hai Asamanya Utara Ho Gaya Hamesha Jid Bhi Ho Bhashan Diye Hain Unhone Doctor Apj Abdul Kalam Aur Usse Pehle Jo Ek Aur Pehle Jo Kiya Gaya Se Passenger Ki Narsimha Rav Ke Shasankal Mein Kiya Gaya Tha To Unko Bhi Bar Bar Sammanit Kiya Unko Bhi Yogdan Matlab Bataya Gaya Ki Kabhi Ekdam Se Bahut Bada Tha Jis Unhone Bola Ki Sirf Unhone Sirf Aage Kaam Bada Ya Pehle Jo Platform Ban Chuka Tha To Bilkul Yeh Cheez Hamesha Se Statement Mein Use Kiya Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिस्को परमाणु शक्ति से संपन्न बनाने का कार्य जो वाजपेई जी ने किया था वह देश कभी भी भुला नहीं पायेगा मई 1998 में राजस्थान के पोखरण में तीन सफल परमाणु परीक्षणों के साथ ही भारत परमाणु शक्ति संपन्न देश बन...जवाब पढ़िये
डिस्को परमाणु शक्ति से संपन्न बनाने का कार्य जो वाजपेई जी ने किया था वह देश कभी भी भुला नहीं पायेगा मई 1998 में राजस्थान के पोखरण में तीन सफल परमाणु परीक्षणों के साथ ही भारत परमाणु शक्ति संपन्न देश बन गया था वाजपेई जी ने परमाणु परीक्षण जल्दी करना चाहते थे क्योंकि उसी समय पाकिस्तान ने गोरी मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया था और गजनबी परीक्षण प्रति वह कार्य कर रहा था उसके अलावा की पाकिस्तान की सांठगांठ के साथी अमेरिका जापान सहित कई पश्चिमी देश भारत पर सीटीबीटी पर साइन करने का दबाव डाल रहे थे इस अभियान को पूरी तरह से गुप्त रखा गया था और इसी नाम दिया गया था अटल जी इस परीक्षण का श्रेय पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव को देते हैं राव को श्रद्धांजलि देते समय अटल जी ने कहा था कि जब मैंने राव के बाद पीएम की कुर्सी संभाली तब बम तैयार था मैंने सिर्फ उसमें विस्फोट किया है राव के समय अमेरिका के दबाव के चलते परीक्षण नहीं कर पाए थे 13 दिन के लिए जब अटल जी PM बने तब उन्होंने परमाणु परीक्षण कार्यक्रम को हरी झंडी दिखा दी थी लेकिन जब उन्हें पता चला कि उनकी सरकार इससे नहीं है तो उन्होंने इस को रद्द कर दिया था अटल जी ने इस परीक्षण का श्रेय कई बार अपने भाषणों में एपीजे अब्दुल कलाम और चिदंबरम को भी दिया है अमेरिकी राष्ट्रपति क्लिंटन ने भारत पर कोई प्रतिबंध लगा दिए थे लेकिन उसके बावजूद देश में एक के बाद एक 5 परमाणु परीक्षण किए देश की परमाणु नीति आत्म नियंत्रण व खुलेपन की रही है यह परीक्षण हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा की जरूरतों को ध्यान में रखकर उनकी पूर्ति के लिए की गई न्यूनतम व संतुलित कार्यवाही की और इसी के कारण अटल जी की पूरे विश्व में धमक रहीDisco Parmanu Shakti Se Sanpann Banane Ka Karya Jo Vajpayee Ji Ne Kiya Tha Wah Desh Kabhi Bhi Bhula Nahi Payega May 1998 Mein Rajasthan Ke Pokharan Mein Teen Safal Parmanu Parikshano Ke Saath Hi Bharat Parmanu Shakti Sanpann Desh Ban Gaya Tha Vajpayee Ji Ne Parmanu Parikshan Jaldi Karna Chahte The Kyonki Ussi Samay Pakistan Ne Gori Missile Ka Safaltaapurvak Parikshan Kiya Tha Aur Gajanabi Parikshan Prati Wah Karya Kar Raha Tha Uske Alava Ki Pakistan Ki Santhaganth Ke Sathi America Japan Sahit Kai Pashchimi Desh Bharat Par CTBT Par Sign Karne Ka Dabaav Dal Rahe The Is Abhiyan Ko Puri Tarah Se Gupt Rakha Gaya Tha Aur Isi Naam Diya Gaya Tha Atal Ji Is Parikshan Ka Shrey Purv Pradhanmantri Narsimha Rav Ko Dete Hain Rav Ko Shraddhaanjali Dete Samay Atal Ji Ne Kaha Tha Ki Jab Maine Rav Ke Baad Pm Ki Kursi Sambhali Tab Bomb Taiyaar Tha Maine Sirf Usamen Visphot Kiya Hai Rav Ke Samay America Ke Dabaav Ke Chalte Parikshan Nahi Kar Paye The 13 Din Ke Liye Jab Atal Ji PM Bane Tab Unhone Parmanu Parikshan Karyakram Ko Hari Jhandi Dikha Di Thi Lekin Jab Unhen Pata Chala Ki Unki Sarkar Isse Nahi Hai To Unhone Is Ko Radd Kar Diya Tha Atal Ji Ne Is Parikshan Ka Shrey Kai Bar Apne Bhashano Mein Apj Abdul Kalam Aur Chidambaram Ko Bhi Diya Hai American Rashtrapati Clinton Ne Bharat Par Koi Pratibandh Laga Diye The Lekin Uske Bawajud Desh Mein Ek Ke Baad Ek 5 Parmanu Parikshan Kiye Desh Ki Parmanu Niti Aatm Niyantran V Khulepan Ki Rahi Hai Yeh Parikshan Hamari Rashtriya Suraksha Ki Jaruraton Ko Dhyan Mein Rakhakar Unki Purti Ke Liye Ki Gayi Nyunatam V Santulit Karyavahi Ki Aur Isi Ke Kaaran Atal Ji Ki Poore Vishwa Mein Dhamak Rahi
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Batein Vajpayee Ji Ne Bataya Kyon Zaroori Tha Pokharan Parikshan Ke Bare Mein

vokalandroid