प्रतिबंध के बावजूद क्या 60000 ट्रकों को दिल्ली में प्रवेश करना जरूरी था? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिस तरह से दिल्ली के अंदर प्रदूषण का स्तर बहुत ज्यादा बढ़ गया तो कुछ दिनों में उस बजे से हुआ क्या के जोबट रखते उनको दिल्ली के अंदर प्रवेश बंद कर दिया गया था उसका कारण मुझे तो लगता है बिल्कुल सही किया ...जवाब पढ़िये
जिस तरह से दिल्ली के अंदर प्रदूषण का स्तर बहुत ज्यादा बढ़ गया तो कुछ दिनों में उस बजे से हुआ क्या के जोबट रखते उनको दिल्ली के अंदर प्रवेश बंद कर दिया गया था उसका कारण मुझे तो लगता है बिल्कुल सही किया जो पोलूशन का स्तर बहुत ज्यादा बढ़ गया था अगर और वाहन दिल्ली के अंदर आते तो और ज्यादा स्थिति खराब हो जाती बस मैं तो यही कहना चाहूंगा कि जैसे जैसे को पोलूशन कासते धीरे धीरे नीचे जाता है तो बिल्कुल स्कोर एंट्री पर बिल्कुल भी नहीं लगाना चाहिए लेकिन जब तक पोलूशन के खतरे से ऊपर है बिल्कुल बड़े महान जो भी हे टक्सन पर उनका प्रवेश बिल्कुल रोक देना चाहिए क्योंकि व्हीकल ज्यादा होंगे तो पोलूशन का स्तर भी बढ़ेगाJis Tarah Se Delhi Ke Andar Pradushan Ka Sthar Bahut Jyada Badh Gaya To Kuch Dinon Mein Us Baje Se Hua Kya Ke Jobat Rakhate Unko Delhi Ke Andar Pravesh Band Kar Diya Gaya Tha Uska Kaaran Mujhe To Lagta Hai Bilkul Sahi Kiya Jo Pollution Ka Sthar Bahut Jyada Badh Gaya Tha Agar Aur Vaahan Delhi Ke Andar Aate To Aur Jyada Sthiti Kharab Ho Jati Bus Main To Yahi Kehna Chahunga Ki Jaise Jaise Ko Pollution Kaaste Dhire Dhire Neeche Jata Hai To Bilkul Score Entry Par Bilkul Bhi Nahi Lagana Chahiye Lekin Jab Tak Pollution Ke Khatre Se Upar Hai Bilkul Bade Mahaan Jo Bhi He Taksan Par Unka Pravesh Bilkul Rok Dena Chahiye Kyonki Vehicle Jyada Honge To Pollution Ka Sthar Bhi Badhega
Likes  8  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बजे की सुप्रीम कोर्ट ने गरबा एंड किया हुआ है तो एड्रेस नहीं करनी चाहिए थी ठीक है लेकिन अब क्यों हुई है कुछ नहीं से होता है तो गर्लफ्रेंड नहीं है क्योंकि वक्त के अंदर आपके एसेंशियल कमोडिटीज थी जिसकी वज...जवाब पढ़िये
बजे की सुप्रीम कोर्ट ने गरबा एंड किया हुआ है तो एड्रेस नहीं करनी चाहिए थी ठीक है लेकिन अब क्यों हुई है कुछ नहीं से होता है तो गर्लफ्रेंड नहीं है क्योंकि वक्त के अंदर आपके एसेंशियल कमोडिटीज थी जिसकी वजह से अगर वह नहीं आती नशे में खुआब HD पर सुबह नहीं आती और खुशी प्रॉब्लम फेस करनी पड़ती कैसे 24 होता है और इसकी वजह से विमान भर्ती और सप्लाई नहीं होती तो प्रायद्वीप जाता प्राइस एक ज्यादा और जो उनके पास सामान बनाना है वह भेज जिसमें जाता तो कुछ हद तक ठीक है हम कल तक आ सकते हैं कि ना लेकिन हम तो सच्चे का वजन कम करना थोड़ा कुछ भी जरुरी होती है कुछ इसे मजबूरी होती हैं कम टाइम सेट मेक्सBaje Ki Supreme Court Ne Garaba End Kiya Hua Hai To Address Nahi Karni Chahiye Thi Theek Hai Lekin Ab Kyun Hui Hai Kuch Nahi Se Hota Hai To Girlfriend Nahi Hai Kyonki Waqt Ke Andar Aapke Iessential Commodities Thi Jiski Wajah Se Agar Wah Nahi Aati Nashe Mein Khuaab HD Par Subah Nahi Aati Aur Khushi Problem Face Karni Padhti Kaise 24 Hota Hai Aur Iski Wajah Se Viman Bharti Aur Supply Nahi Hoti To Prayadvip Jata Price Ek Jyada Aur Jo Unke Paas Saamaan Banana Hai Wah Bhej Jisme Jata To Kuch Had Tak Theek Hai Hum Kal Tak Aa Sakte Hain Ki Na Lekin Hum To Sacche Ka Wajan Kum Karna Thoda Kuch Bhi Zaroori Hoti Hai Kuch Ise Majburi Hoti Hain Kum Time Set Max
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Pratibandh Ke Bawajud Kya 60000 Truckon Ko Delhi Mein Pravesh Karna Zaroori Tha, Despite The Ban, Did 60000 Trucks Need To Enter Delhi?

vokalandroid