ऐसी क्या बात है जो आपको स्वीकार करने के लिए शर्मिंदगी महसूस नहीं होती? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमें अपने विचार दूसरों के समक्ष रखने में शर्मिंदगी महसूस नहीं होनी चाहिए हो सकता है हमारे विचार दूसरों के विचारों से अलग हूं इसमें कोई गलत नहीं कर रहे हैं आप बस एक चीज का ध्यान आपको रखना चाहिए कि आ...
जवाब पढ़िये
हमें अपने विचार दूसरों के समक्ष रखने में शर्मिंदगी महसूस नहीं होनी चाहिए हो सकता है हमारे विचार दूसरों के विचारों से अलग हूं इसमें कोई गलत नहीं कर रहे हैं आप बस एक चीज का ध्यान आपको रखना चाहिए कि आप अपने विचार सही ढंग से सही जगह पर दूसरों के समक्ष रखें और सामने वाला उसको गलत लेने की वजह से सही ढंग से ही जॉब समझाना चाहते हैं उसी तरीके से समझें तो जो शब्दों का प्रयोग आप कर रहे हैं अपने विचार दूसरों के समक्ष रखने का उसका एकदम अच्छे से ध्यान रखें और दूसरों के समक्ष कभी भी अपनी बात या अपने विचार रखने में आपको कोई भी किसी भी चीज का संक्षेप नहीं होना चाहिएHuman Apne Vichaar Dusro K Sameksh Rakhne Mein Sharmindagi Mehsoos Nahin Honi Chahie Ho Sakta Hai Hamare Vichaar Dusro K Vicharon Se Eluga Hoon Ismein Koi Galat Nahin Car Rahe Hain Aap Bus Ek Chij Ka Dhyan Aapko Rakhna Chahie Qi Aap Apne Vichaar Sahi Dhang Se Sahi Jagah Per Dusro K Sameksh Rekhain Aur Samne Wala Usko Galat Lene Ki Vajaha Se Sahi Dhang Se Hea Job Samajhaanaa Chahte Hain Ussi Tarike Se Samajhein To Joe Shabdon Ka Prayog Aap Car Rahe Hain Apne Vichaar Dusro K Sameksh Rakhne Ka Uska Ekdam Achchhe Se Dhyan Rekhain Aur Dusro K Sameksh Kabhi Bhi Apni Baat Ya Apne Vichaar Rakhne Mein Aapko Koi Bhi Kisi Bhi Chij Ka Sakshep Nahin Hona Chahie
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Aisi Kya Baat Hai Jo Aapko Sweekar Karne Ke Liye Sharmindagi Mahsus Nahi Hoti

vokalandroid