किस किताब ने आपके विचारों को जीवन के बारे में बदल दिया है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

8 नसरत यह बुक के अवतार हैं ऑनलाइन आयन रैंड ने 1957 में यह बुक पब्लिश करी थी और द फाउंटेन भूत के बाद यह उनकी सब से बहुत खून और सबसे ज्यादा पॉपुलर बुक है इस बुक की विचारधारा है वह यह है कि किस तरीके से ...जवाब पढ़िये
8 नसरत यह बुक के अवतार हैं ऑनलाइन आयन रैंड ने 1957 में यह बुक पब्लिश करी थी और द फाउंटेन भूत के बाद यह उनकी सब से बहुत खून और सबसे ज्यादा पॉपुलर बुक है इस बुक की विचारधारा है वह यह है कि किस तरीके से पूंजीवाद समाज के विकास के लिए जरूरी है तो पूंजीवाद में वह बात कर रही हैं कि अंडर वियर की जो अंडे पीने और वह किसान भी है जो अपनी फसल उगाता है और वह कोई भी इंजीनियर है जो डॉक्टर है वह चाहे एरोप्लेन बनाने वाला साइंटिस्ट है वह चाहे ब्रिज बनाने वाला सिविल इंजीनियर है वही कंप्यूटर बनाने वाला आईटी एक्सपर्ट है जो भी अंतर नहीं हो रहा है वह बना रहा है और उसके बनाने के चलते ही इग्नोर ही बनती है वह जो बुक है उसमें डिबेट इस बात पर है कि जो लोग शासक हैं जो लोग केवल टैक्स कलेक्ट करना जान रहे हैं जो लोग केवल पॉलिसी बनाना जान रहे हैं उनकी बजाए जो अंडरवियर और जो डेवलपमेंट करना जानता है जो इनोवेशन करना जानता है जो इन्वेंशन करना जानता है वह ज्यादा महत्वपूर्ण है और जिस समाज में जिस सिस्टम में जिस गवर्नमेंट में उसको महत्व नहीं मिलेगा वहां कभी भी विकास नहीं हो सकता बहुत महत्वपूर्ण आइडियोलॉजी है कि शासक से ज्यादा जरूरी है किस शासक एंटरप्राइज के विकास के लिए काम करें क्योंकि अगर शासक यह सोचेगा कि मेरी सुप्रीम ऐसी है और मैं टेक्स्ट चैट करता रहूंगा और अंडर पर नहीं और काम करने वाला आदमी बिजनेसमैन काम करना छोड़ देगा तो विकास कभी भी नहीं हो पाएगा देश में समाज के विकास के लिए यह बहुत जरूरी है कि एंटरप्राइज़ को डेवलप किया जाए और अमेरिका इसका सबसे बड़ा उदाहरण है यह बुक में मुझे सबसे ज्यादा इंसुरेंस किया8 Nasarat Yeh Book Ke Avatar Hain Online Ion Rand Ne 1957 Mein Yeh Book Publish Kari Thi Aur D Fountain Bhoot Ke Baad Yeh Unki Sab Se Bahut Khoon Aur Sabse Jyada Popular Book Hai Is Book Ki Vichardhara Hai Wah Yeh Hai Ki Kis Tarike Se Punjivad Samaaj Ke Vikash Ke Liye Zaroori Hai To Punjivad Mein Wah Baat Kar Rahi Hain Ki Under Wear Ki Jo Ande Peene Aur Wah Kisan Bhi Hai Jo Apni Phasal Ugaataa Hai Aur Wah Koi Bhi Engineer Hai Jo Doctor Hai Wah Chahe Aeroplane Banane Wala Scientist Hai Wah Chahe Bridge Banane Wala Civil Engineer Hai Wahi Computer Banane Wala It Expert Hai Jo Bhi Antar Nahi Ho Raha Hai Wah Bana Raha Hai Aur Uske Banane Ke Chalte Hi Ignore Hi Banti Hai Wah Jo Book Hai Usamen Debate Is Baat Par Hai Ki Jo Log Shasak Hain Jo Log Kewal Tax Collect Karna Jaan Rahe Hain Jo Log Kewal Policy Banana Jaan Rahe Hain Unki Bajae Jo Underwear Aur Jo Development Karna Jaanta Hai Jo Innovation Karna Jaanta Hai Jo Invention Karna Jaanta Hai Wah Jyada Mahatvapurna Hai Aur Jis Samaaj Mein Jis System Mein Jis Government Mein Usko Mahatva Nahi Milega Wahan Kabhi Bhi Vikash Nahi Ho Sakta Bahut Mahatvapurna Ideology Hai Ki Shasak Se Jyada Zaroori Hai Kis Shasak Enterprise Ke Vikash Ke Liye Kaam Karen Kyonki Agar Shasak Yeh Sochega Ki Meri Supreme Aisi Hai Aur Main Text Chat Karta Rahunga Aur Under Par Nahi Aur Kaam Karne Wala Aadmi Bussinessmen Kaam Karna Chod Dega To Vikash Kabhi Bhi Nahi Ho Payega Desh Mein Samaaj Ke Vikash Ke Liye Yeh Bahut Zaroori Hai Ki Enterprise Ko Develop Kiya Jaye Aur America Iska Sabse Bada Udaharan Hai Yeh Book Mein Mujhe Sabse Jyada Insurens Kiya
Likes  15  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kis Kitab Ne Aapke Vicharon Ko Jeevan Ke Bare Mein Badal Diya Hai

vokalandroid