भारत में सरकारी कार्य ठेके पर क्यों दिए जाते है जैसे सड़क, पुल आदि बनाना? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में सरकारी कार्य ठीक है पर इसलिए दिए जाते हैं जैसे कि सड़क बनाना फूल बनाना या कुछ भी क्योंकि दिखे सरकार के पास अपनी कोई ऐसी एजेंसी नहीं है जिससे वह काम करवा सके इसलिए वह अलग अलग लोगों को काम ठेके...जवाब पढ़िये
भारत में सरकारी कार्य ठीक है पर इसलिए दिए जाते हैं जैसे कि सड़क बनाना फूल बनाना या कुछ भी क्योंकि दिखे सरकार के पास अपनी कोई ऐसी एजेंसी नहीं है जिससे वह काम करवा सके इसलिए वह अलग अलग लोगों को काम ठेके पर देती हैं और उन से काम करवाती हैं और जब वह काम हो जाता है उसमें जितना भी पैसा लगता है वह सब भारत सरकार अपनी तरफ से लगाती है तो वह सबसे बड़ा रीजन यही है कि उनके पास खुद की कोई ऐसी है ऐसी नहीं है जो उनके लिए काम करें और उन्हीं के लिए चीजें करें तो कहीं ना कहीं और कभी-कभी तो प्राइवेट प्रोपर्टी इसको प्राइवेट कंपनी स्कोर या फिर कभी-कभी ऐसे लोगों को जोड़िए काम करते रहते हैं उनको यह ठेके दिए जाते हैं कि वही सड़क या फिर पुल बनाए और कहीं ना कि उसमें जो पैसा होता है वह सरकार का होता है और कभी-कभी ऐसी भी हो पल होते हैं ऐसी भी सड़कें होती है जिसमें प्राइवेट कंपनी और सरकार दोनों का पैसा लगा होता है और वहां पर जो टोल टैक्स वसूल किया जाता है उससे प्राइवेट कंपनी अपना जितना भी पैसा होता है वह छुपाती है और सरकार भी उसी से पैसे उस पैसे से कौन प्राइवेट कंपनी इसको पैसे देती है तो यह कार्य ज्यादातर इसलिए दिए जाते थे कि पर क्योंकि सरकार के पास खुद की कोई एजेंसी नहीं हैBharat Mein Sarkari Karya Theek Hai Par Isliye Diye Jaate Hain Jaise Ki Sadak Banana Fool Banana Ya Kuch Bhi Kyonki Dikhe Sarkar Ke Paas Apni Koi Aisi Agency Nahi Hai Jisse Wah Kaam Karava Sake Isliye Wah Alag Alag Logon Ko Kaam Theke Par Deti Hain Aur Un Se Kaam Karwati Hain Aur Jab Wah Kaam Ho Jata Hai Usamen Jitna Bhi Paisa Lagta Hai Wah Sab Bharat Sarkar Apni Taraf Se Lagati Hai To Wah Sabse Bada Reason Yahi Hai Ki Unke Paas Khud Ki Koi Aisi Hai Aisi Nahi Hai Jo Unke Liye Kaam Karen Aur Unhin Ke Liye Cheezen Karen To Kahin Na Kahin Aur Kabhi Kabhi To Private Property Isko Private Company Score Ya Phir Kabhi Kabhi Aise Logon Ko Jodiye Kaam Karte Rehte Hain Unko Yeh Theke Diye Jaate Hain Ki Wahi Sadak Ya Phir Pool Banaye Aur Kahin Na Ki Usamen Jo Paisa Hota Hai Wah Sarkar Ka Hota Hai Aur Kabhi Kabhi Aisi Bhi Ho Pal Hote Hain Aisi Bhi Sadaken Hoti Hai Jisme Private Company Aur Sarkar Dono Ka Paisa Laga Hota Hai Aur Wahan Par Jo Toll Tax Vasool Kiya Jata Hai Usse Private Company Apna Jitna Bhi Paisa Hota Hai Wah Chupati Hai Aur Sarkar Bhi Ussi Se Paise Us Paise Se Kaun Private Company Isko Paise Deti Hai To Yeh Karya Jyadatar Isliye Diye Jaate The Ki Par Kyonki Sarkar Ke Paas Khud Ki Koi Agency Nahi Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Bharat Mein Sarkari Karya Theke Par Kyon Diye Jaate Hai Jaise Sadak Pool Aadi Banana

vokalandroid