मौलिक अधिकार ,नीति निदेशक ,मूल कर्तव्य की परिभाषा व अंतर बताये ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम सुरक्षित देखिए और लिख मूल अधिकार को बुनियादी मानव स्वतंत्रता स्वतंत्रता के रूप में परिभाषित किया गया है कि हर भारतीय नागरिक को व्यक्तित्व के उचित और सामाजिक पूर्ण विकास का आनंद लेने का अधिकार है यह...
जवाब पढ़िये
हम सुरक्षित देखिए और लिख मूल अधिकार को बुनियादी मानव स्वतंत्रता स्वतंत्रता के रूप में परिभाषित किया गया है कि हर भारतीय नागरिक को व्यक्तित्व के उचित और सामाजिक पूर्ण विकास का आनंद लेने का अधिकार है यह अधिकार सार्वभौमिक रूप से सभा नागरिकों पर लागू होती है नस्ल जन्म स्थान धर्म जाति या लिंग के बावजूद छोड़करHum Surakshit Dekhie Aur Likh Mul Adhikaar Ko Buniyaadi Manav Swatantrata Swatantrata Ke Roop Mein Paribhashit Kiya Gaya Hai Ki Har Bhartiya Nagarik Ko Vyaktitva Ke Uchit Aur Samajik Poorn Vikash Ka Anand Lene Ka Adhikaar Hai Yeh Adhikaar Sarvabhaumik Roop Se Sabha Naagrikon Par Laagu Hoti Hai Nasl Janm Sthan Dharm Jati Ya Ling Ke Bawajud Chodkar
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Maulik Adhikaar Niti Nideshak Mul Kartavya Ki Paribhasha V Antar Bataiye, Fundamental Rights, Policy Director, Definition Of Basic Duties And Interpretation , Mul Kartavya, Mool Kartavya

vokalandroid