आज कल सिर्फ जरूरत के लिए ही रिश्ते क्यों रखे जाते हैं? क्या जरूरत खत्म तो रिश्ते भी खत्म? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं रिश्ते कभी भी खत्म नहीं होते हैं जिंदा रहते हैं चाहे आप मिले चाहे ना मिले चाहे आप एक दूसरे से संबंध रखती हैं हमेशा हमेशा रहेगा क्योंकि रिश्ते कभी मरते नहीं है और ना ही रिश्ते खत्म होते हैं आप...जवाब पढ़िये
जी नहीं रिश्ते कभी भी खत्म नहीं होते हैं जिंदा रहते हैं चाहे आप मिले चाहे ना मिले चाहे आप एक दूसरे से संबंध रखती हैं हमेशा हमेशा रहेगा क्योंकि रिश्ते कभी मरते नहीं है और ना ही रिश्ते खत्म होते हैं आपके तोड़ देने के बावजूद भी रिश्ते हमेशा जीवित रहते हैं चाहे आप कह दे अपमान ले और चाहे आप इस बात को सारी दुनिया के सामने उजागर करते हैं कि आप अपने भाई से कोई रिश्ता नहीं रखना चाहते हैं कि आप अपने भाई से था लेकिन फिर भी वह रिश्ता कहीं ना कहीं जीवित रहता है वह हमेशा भाई जी हमेशा मुझे नहीं लगता है कि काम आते हैं या जरूरत नहीं निभा जाते हैं यह सही है कि कुछ लोगों ने अपने स्वार्थ के चलते उनको जरूरत का नाम दे दिया है रिश्तो के सामने ले आए हैं आज के भाग जाते हैं जो मुकाम रखते हैं और करते हैं और खाते भी हैं चाहे उनके पास हो चाहे ना हो एक दूसरे से संपर्क में रहने के है टेलीफोन वीडियो चैट कर सकते हैं बात कर सकते हैं हम चाहे ना मिले लेकिन सच्चाई हैG Nahin Rishte Kabhi Bhi Khatma Nahin Hote Hain Jinda Rahate Hain Chahe Aap Mile Chahe Na Mile Chahe Aap Ek Dusre Se Sambandh Rakhti Hain Hamesha Hamesha Rahega Kyonki Rishte Kabhi Marate Nahin Hai Aur Na Hea Rishte Khatma Hote Hain Aapke Tod Dane K Bawjood Bhi Rishte Hamesha Jivit Rahate Hain Chahe Aap Keh They Apmaan Le Aur Chahe Aap Is Baat Co Sari Duniya K Samne Ujagar Karte Hain Qi Aap Apne Bhai Se Koi Rishta Nahin Rakhna Chahte Hain Qi Aap Apne Bhai Se Thaa Lekin Phir Bhi Wah Rishta Kahin Na Kahin Jivit Rehta Hai Wah Hamesha Bhai G Hamesha Mujhe Nahin Lagta Hai Qi Kama Aate Hain Ya Jarurat Nahin Nibha Jaate Hain Yeh Sahi Hai Qi Kuch Logon Ne Apne Swartha K Chalte Unko Jarurat Ka Naam They Diya Hai Rishto K Samne Le Ae Hain Aj K Bhag Jaate Hain Joe MUKAM Rakhate Hain Aur Karte Hain Aur Khaute Bhi Hain Chahe Unke Pass Ho Chahe Na Ho Ek Dusre Se Sampark Mein Rahane K Hai Telephone Veediyo Chat Car Sakte Hain Baat Car Sakte Hain Hum Chahe Na Mile Lekin Sachchai Hai
Likes  28  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं बहुत ज्यादा अग्रि करती हूं आपकी बात से कि लोग आजकल बस मतलब के लिए रिश्ता रखते हैं जब तक उन्हें काम होता है वह मानते हैं आपकी सारी बात आपको वैल्यू देते हैं आपको पसंद करते हैं आप को चुनते हैं बाकी ल...जवाब पढ़िये
मैं बहुत ज्यादा अग्रि करती हूं आपकी बात से कि लोग आजकल बस मतलब के लिए रिश्ता रखते हैं जब तक उन्हें काम होता है वह मानते हैं आपकी सारी बात आपको वैल्यू देते हैं आपको पसंद करते हैं आप को चुनते हैं बाकी लोगों में से और जैसे ही उनको लगता है कि अब आपका काम खत्म हो गया उनके जीवन में बस आपको अपने जीवन से बाहर निकाल कर फेंक देते हैं और आपको पता भी नहीं चलता है कि आप उनके हाथों इस्तेमाल हो रहे हैं ऐसा बहुत होता है मेरे साथ भी हुआ है इंसान कुछ ऐसे लोग जो मुझे लगा था कि मेरे सबसे अच्छे दोस्त हैं मेरे साथ जिंदगी में लंबे समय तक चलेंगे बस एक समस्या के बाद अब उनसे बात भी नहीं होती मेरी कि पहले जब हम एक साथ थे तो मैं उनकी काफी काम आती थी पर अब जब नहीं है ऐसे भूल गए जैसे कभी मैं उनके जिंदगी में आई ही नहीं थी तो फिर बहुत दुख होता है मुझे इस बात का है कि बाकी लोग तो अपने मतलब के लिए काम कर लेते हैं पर मैं किसी इंसान से जोड़ती हूं तो मैं उनकी भावनाओं से जोड़ती हूं पर जब कोई ऐसा करता है तुम बहुत तकलीफ होती है इसीलिए कह रहा अब तो मैं लोगों से बातचीत भी बहुत कम करती हूं और मेरा भी यही मानना है कि लोग बस मतलब के लिए रिश्ता रखते हैं मतलब पूरा होता है रिश्ते खत्म हो जाता है कि हमेशा ऐसा नहीं होता यह आजकल बस नए रिश्तो में बनाकर आप देखेंगे तो मां-बाप का रिश्ता ऐसा नहीं होता कुछ हमारे जो बेस्ट फ्रेंड होते हैं उनका यह रिश्ता नहीं होता भाई बहन के साथ ही रिश्ता नहीं होता तो मुझे लगता है परिवार के कुछ रिश्तो को छोड़कर जो आपके बिल्कुल सगे हैं उनको छोड़कर जो दूर के रिश्तेदार हैं वह भी मतलबी होते हैं आजकल तो बस वही पास के अपने अपने सगे रिलेटिव्स को छोड़कर मुझे लगता अब तो सचमुच सारे रिश्ता मतलब के ही रह गया बसMain Bahut Jyada Agri Karti Hoon Aapki Baat Se Qi Log Aajkal Bus Matlab K Lie Rishta Rakhate Hain Jab Tak Unhein Kama Hota Hai Wah Maunte Hain Aapki Sari Baat Aapko Value Dete Hain Aapko Pasad Karte Hain Aap Co Chunte Hain Baaki Logon Mein Se Aur Jaise Hea Unko Lagta Hai Qi Aba Aapka Kama Khatma Ho Gaya Unke Jeevan Mein Bus Aapko Apne Jeevan Se Baahar Nikaal Car Fenk Dete Hain Aur Aapko Patta Bhi Nahin Chalata Hai Qi Aap Unke Hatho Istemaal Ho Rahe Hain Aisa Bahut Hota Hai Mere Sathe Bhi Hua Hai Insaan Kuch Aise Log Joe Mujhe Laga Thaa Qi Mere Sabse Achchhe Dost Hain Mere Sathe Jindagi Mein Lanbe Samay Tak Challenge Bus Ek Samasya K Baad Aba Unse Baat Bhi Nahin Hoti Meri Qi Pehle Jab Hum Ek Sathe The To Main Unki Kaafi Kama Auti Thi Per Aba Jab Nahin Hai Aise Bhool Ge Jaise Kabhi Main Unke Jindagi Mein I Hea Nahin Thi To Phir Bahut Dukh Hota Hai Mujhe Is Baat Ka Hai Qi Baaki Log To Apne Matlab K Lie Kama Car Lete Hain Per Main Kisi Insaan Se Jodti Hoon To Main Unki Bhavnao Se Jodti Hoon Per Jab Koi Aisa Karata Hai Tum Bahut Taklif Hoti Hai Isiliye Keh Raha Aba To Main Logon Se Baatchit Bhi Bahut Come Karti Hoon Aur Mera Bhi Yahi Manna Hai Qi Log Bus Matlab K Lie Rishta Rakhate Hain Matlab Poora Hota Hai Rishte Khatma Ho Jaata Hai Qi Hamesha Aisa Nahin Hota Yeh Aajkal Bus Neay Rishto Mein Banakar Aap Dekhenge To Man Baap Ka Rishta Aisa Nahin Hota Kuch Hamare Joe Best Friend Hote Hain Unka Yeh Rishta Nahin Hota Bhai Behan K Sathe Hea Rishta Nahin Hota To Mujhe Lagta Hai Parivar K Kuch Rishto Co Chodakar Joe Aapke Bilkool Sugge Hain Unko Chodakar Joe Dur K Rishtedaar Hain Wah Bhi Matlabi Hote Hain Aajkal To Bus Whey Pass K Apne Apne Sugge Relatives Co Chodakar Mujhe Lagta Aba To Sachmuch Saare Rishta Matlab K Hea Rah Gaya Bus
Likes  8  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सपने में कुछ कहा आज के बदलते हुए वक्त में जब लोग सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं सब रिश्ते से जरूरत के रह गए हैं जरूरत खत्म होते ही है जरूर बदलते ही रिश्ते भी खत्म हो जाते हैं आप बदल जाते हैं प्यार मोहब...जवाब पढ़िये
सपने में कुछ कहा आज के बदलते हुए वक्त में जब लोग सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं सब रिश्ते से जरूरत के रह गए हैं जरूरत खत्म होते ही है जरूर बदलते ही रिश्ते भी खत्म हो जाते हैं आप बदल जाते हैं प्यार मोहब्बत सच्चाई ईमानदारी कब खत्म हो चुकी है जबकि नेट खत्म हो गई है किसी व्यक्ति से तो वह व्यक्ति को छोड़ देते हैं जिससे दूध से मक्खी निकालते हैं वैसे उस इंसान को निकालकर उनकी से फेंक दिया जाता है और इस सब के पीछे यही है कि आज की दुनिया में जब सेलफिशनेस सारथी बना या फिर पर्सनल फायदे इतना बढ़ गए हैं कि लोगों को फर्क नहीं पड़ता कि किसी के मौसम में किसी की फीलिंग हर्ट हो रही है तू सच में जरूर का दृष्टि खत्म हो जाते हैं आज के समय में जो कि बहुत गलत बात है जो दिखाते कि हम अंदर से कितने खोखले हो गए हैंSapne Mein Kuch Kaha Aj K Badalte Huye Vakt Mein Jab Log Sirf Apne Baare Mein Sochte Hain Sub Rishte Se Jarurat K Rah Ge Hain Jarurat Khatma Hote Hea Hai Jarur Badalte Hea Rishte Bhi Khatma Ho Jaate Hain Aap Badal Jaate Hain Pyaar Mohabbat Sachchai Imaandaari Kab Khatma Ho Chukii Hai Jbki Net Khatma Ho Gi Hai Kisi Vyakti Se To Wah Vyakti Co Chod Dete Hain Jisase Dudh Se Makkhi Nikalate Hain Vaise Oosh Insaan Co Nikalakar Unki Se Fenk Diya Jaata Hai Aur Is Sub K Pichhe Yahi Hai Qi Aj Ki Duniya Mein Jab Selfishnes Sarthi Banna Ya Phir Personal Fayde Itna Badh Ge Hain Qi Logon Co Fark Nahin Padata Qi Kisi K Mausam Mein Kisi Ki Feeling Heart Ho Rahi Hai Tu Such Mein Jarur Ka Drishti Khatma Ho Jaate Hain Aj K Samay Mein Joe Qi Bahut Galat Baat Hai Joe Dikhaate Qi Hum Andorra Se Kitne Khokhle Ho Ge Hain
Likes  40  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पीके बहुत अच्छी बाद आपने गई क्योंकि हकीकत यही हो गया आज के साइन टाइम है कि हम इतने ज्यादा मतलबी हो गए हैं कि हमें अपनी परवाह है कि अगर हमने अपने बेनिफिट जब तक मिल रहे हैं जब तक चाहिए तब तक हम रिश्ते क...जवाब पढ़िये
पीके बहुत अच्छी बाद आपने गई क्योंकि हकीकत यही हो गया आज के साइन टाइम है कि हम इतने ज्यादा मतलबी हो गए हैं कि हमें अपनी परवाह है कि अगर हमने अपने बेनिफिट जब तक मिल रहे हैं जब तक चाहिए तब तक हम रिश्ते को शिद्दत से निभाते हैं किसी का साथ देते देते हैं बहुत अच्छे से खुशी पूर्वक इसी के साथ रहते हैं उसका सहयोग भी करते हैं उम्मीद से कुछ प्लानिंग के तहत की बदले में ही हमने बदले में हम लोग सभी आ गए हैं कि हमें रिश्तो की अहमियत हम भूल गए हम भूल गए हैं वास्तव में रहते हैं वह दिल से निभाए जाते हैं बिना किसी चाहत के बिना की लालसा के बिना किसी को हमेशा खाना चाहिए क्या जरूरत हो या नहीं होती हैPiece Bahut Achchhee Baad Aapne Gi Kyonki Hakikat Yahi Ho Gaya Aj K Sign Time Hai Qi Hum Itne Jyada Matlabi Ho Ge Hain Qi Human Apni Parvaah Hai Qi Agar Humne Apne Benifit Jab Tak Mill Rahe Hain Jab Tak Chahie Taba Tak Hum Rishte Co Shiddat Se Nibhate Hain Kisi Ka Sathe Dete Dete Hain Bahut Achchhe Se Khushi Purvak Isi K Sathe Rahate Hain Uska Sahyog Bhi Karte Hain Ummeed Se Kuch Planing K Tahat Ki Badle Mein Hea Humne Badle Mein Hum Log Sabhi Aa Ge Hain Qi Human Rishto Ki Ahamiyat Hum Bhool Ge Hum Bhool Ge Hain WASTAV Mein Rahate Hain Wah Dil Se Nibhaae Jaate Hain Binaa Kisi Chahat K Binaa Ki Lalsa K Binaa Kisi Co Hamesha Khana Chahie Kya Jarurat Ho Ya Nahin Hoti Hai
Likes  25  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी बिल्कुल सही कहा आपने आजकल केवल जरूरत क्यों मतलब के रिश्ते रह गए हैं अगर मेरा मतलब आप से निकलना है तुम बिल्कुल मैं अपने रिलेशन आपसे अच्छी रखूंगा हमेशा आपकी जी हुजूरी करूंगा और जैसे ही मेरा एक बार ...जवाब पढ़िये
विकी बिल्कुल सही कहा आपने आजकल केवल जरूरत क्यों मतलब के रिश्ते रह गए हैं अगर मेरा मतलब आप से निकलना है तुम बिल्कुल मैं अपने रिलेशन आपसे अच्छी रखूंगा हमेशा आपकी जी हुजूरी करूंगा और जैसे ही मेरा एक बार आपसे काम निकल गया तो फिर मैं आप खुद पलट कर जवाब मत पलट के बाद भी नहीं करूंगा तू कहीं नहीं दिखाता है कि आज के समय में केवल रिश्ते नाम की रह गए हैं मतलब के रह गए और मजबूरी के रह गएViki Bilkool Sahi Kaha Aapne Aajkal Keval Jarurat Kio Matlab K Rishte Rah Ge Hain Agar Mera Matlab Aap Se Nikalna Hai Tum Bilkool Main Apne Relation Aapse Achchhee Rakhunga Hamesha Aapki G Hujuri Karunga Aur Jaise Hea Mera Ek Bar Aapse Kama Nikul Gaya To Phir Main Aap Khud Palat Car Jawab Matt Palat K Baad Bhi Nahin Karunga Tu Kahin Nahin Dikhaata Hai Qi Aj K Samay Mein Keval Rishte Naam Ki Rah Ge Hain Matlab K Rah Ge Aur Mazbooree K Rah Ge
Likes  23  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आपको काफी लोग ऐसे मिलेंगे अपने आसपास जो लोग सिर्फ मतलब के लिए आपसे बात करते हैं और जैसे उनका मतलब पूरा हो जाता है वह वैसे आप से बात करना बंद कर दे तो हम ऐसे लोगों को ही नहीं हो सकती हमारे उनके ब...जवाब पढ़िये
देखिए आपको काफी लोग ऐसे मिलेंगे अपने आसपास जो लोग सिर्फ मतलब के लिए आपसे बात करते हैं और जैसे उनका मतलब पूरा हो जाता है वह वैसे आप से बात करना बंद कर दे तो हम ऐसे लोगों को ही नहीं हो सकती हमारे उनके बीच में रिश्ता है क्योंकि जो एक सच्चा रिश्ता होता है उसमें मतलब तो होता ही नहीं है बोलो हम आपके साथ हमेशा कांटेक्ट में रहेंगे कोई काम हो आप से या नहीं हो तो यह बोल नहीं सकता कि वह रिश्ता है जिस रिश्ते में मतलब है हमको रिश्ता तो बोल ही नहीं सकते और ऐसा नहीं है कि सारे लोग एक जैसे ही होते हैं अगर आप अपने माता पिता के बीच का रिश्ता देखें आप अपने माता पिता के बीच क्या आपको कोई मतलब दिखाई देता है मुझे तो अपने माता पिता और मेरे बीच में कोई मतलब नहीं दिखाई देता बल्कि वह हमेशा आपसे सिर्फ आपके बारे में ही बात करते हैं और हमेशा की केयर करते हैं बिना कोई मतलब के तो बिल्कुल काफी सारे ऐसे लोग हैं जो बिना मतलब के आपके साथ हमेशा रहे और आपके शेयर करते हैं तो वह मैक्स तहसील का पूरा हुआ वह मेरे से दूर हो गए तुम इस चीज को एक सच्चा रिश्ता नहीं बोल सकताDekhiye Aapko Kaafi Log Aise Millenge Apne Aaspass Joe Log Sirf Matlab K Lie Aapse Baat Karte Hain Aur Jaise Unka Matlab Poora Ho Jaata Hai Wah Vaise Aap Se Baat Krna Band Car They To Hum Aise Logon Co Hea Nahin Ho Sakti Hamare Unke Beach Mein Rishta Hai Kyonki Joe Ek Saccha Rishta Hota Hai Usme Matlab To Hota Hea Nahin Hai Bolo Hum Aapke Sathe Hamesha Kantekt Mein Rahenge Koi Kama Ho Aap Se Ya Nahin Ho To Yeh Bowl Nahin Sakta Qi Wah Rishta Hai Jisha Rishte Mein Matlab Hai Humko Rishta To Bowl Hea Nahin Sakte Aur Aisa Nahin Hai Qi Saare Log Ek Jaise Hea Hote Hain Agar Aap Apne Mata Pita K Beach Ka Rishta Dekhe Aap Apne Mata Pita K Beach Kya Aapko Koi Matlab Dikhaai Deta Hai Mujhe To Apne Mata Pita Aur Mere Beach Mein Koi Matlab Nahin Dikhaai Deta Walkie Wah Hamesha Aapse Sirf Aapke Baare Mein Hea Baat Karte Hain Aur Hamesha Ki Care Karte Hain Binaa Koi Matlab K To Bilkool Kaafi Saare Aise Log Hain Joe Binaa Matlab K Aapke Sathe Hamesha Rahe Aur Aapke Share Karte Hain To Wah Max Tehsil Ka Poora Hua Wah Mere Se Dur Ho Ge Tum Is Chij Co Ek Saccha Rishta Nahin Bowl Sakta
Likes  20  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मैं आपकी बात से सहमत हूं कि आजकल लोग का सिर्फ अपनी जरूरत के लिए सिर्फ अपने बुरे वक्त में 700 लोगों को रखने के लिए ही रिश्ते कायम रखते हैं और कई आजकल अगर हम देखें तो लोगों के रिश्ते और पैसों पर ...जवाब पढ़िये
जी हां मैं आपकी बात से सहमत हूं कि आजकल लोग का सिर्फ अपनी जरूरत के लिए सिर्फ अपने बुरे वक्त में 700 लोगों को रखने के लिए ही रिश्ते कायम रखते हैं और कई आजकल अगर हम देखें तो लोगों के रिश्ते और पैसों पर बहुत ज्यादा डिपेंड करने लगे अगर किसी रिश्तेदार के आप उनके पास अगर पैसे हैं तो आप उनसे कहीं ना कहीं और से बना कर रखना चाहते हैं ताकि आगे चलकर अगर आपको कुछ जरूरत हुई आपको कहीं ऐसा लग रहा है कि आज हमें कुछ करना है लेकिन हमारे पास पैसे नहीं है तो आप उनसे मांग सके तो आज के समय में अगर हम देखें तो रिश्ते सिर्फ पैसों पर टिके हुए और अगर आपको कोई इंसान गरीबी में जाने लग जाता है या किसी इंसान को कोई दिक्कत आ जाती है तो लोग वही अपना रिश्ता खत्म करके और उनसे दूरी बनाने लग जाते हैं क्योंकि उनको लगता है कहीं उनसे कोई पैसे ना मांग ले तो यह बात बिल्कुल सही है क्या आज के समय में लोग सिर्फ जरूरत ही नहीं रिश्ते रखने लगे हैं और अगर उनकी जरूरत नहीं होती है उनको ऐसा लगता है कि हम उस फेस के ऊपर आ गए जहां में दूसरों की जरूरत नहीं है तो रिश्ते भी वह खत्म करने जाते हैं दूसरों से दूर आने लग जाते किसी से बात करना किसी के घर जाना है किसी से अपने संबंध बनाकर रखना नहीं पसंद करते और यही वजह है कि आज के समय में लोग पैसे को ज्यादा वैल्यू देने के लिए पैसे को ज्यादा महत्व देने लगे हैं और रिश्तो की वैल्यू बिल्कुल खत्म होती जा रही हमारे समाज मेंG Han Main Aapki Baat Se Sahmat Hoon Qi Aajkal Log Ka Sirf Apni Jarurat K Lie Sirf Apne Bure Vakt Mein 700 Logon Co Rakhne K Lie Hea Rishte Kayam Rakhate Hain Aur Kai Aajkal Agar Hum Dekhe To Logon K Rishte Aur Paiso Per Bahut Jyada Depend Karne Lage Agar Kisi Rishtedaar K Aap Unke Pass Agar Paise Hain To Aap Unse Kahin Na Kahin Aur Se Banna Car Rakhna Chahte Hain Taki Aage Challekara Agar Aapko Kuch Jarurat Hue Aapko Kahin Aisa Lag Raha Hai Qi Aj Human Kuch Krna Hai Lekin Hamare Pass Paise Nahin Hai To Aap Unse Mang Skye To Aj K Samay Mein Agar Hum Dekhe To Rishte Sirf Paiso Per Teekay Huye Aur Agar Aapko Koi Insaan Garibi Mein Jane Lag Jaata Hai Ya Kisi Insaan Co Koi Dikkat Aa Jaati Hai To Log Whey Apna Rishta Khatma Karake Aur Unse Duri Banaane Lag Jaate Hain Kyonki Unko Lagta Hai Kahin Unse Koi Paise Na Mang Le To Yeh Baat Bilkool Sahi Hai Kya Aj K Samay Mein Log Sirf Jarurat Hea Nahin Rishte Rakhne Lage Hain Aur Agar Unki Jarurat Nahin Hoti Hai Unko Aisa Lagta Hai Qi Hum Oosh Face K Upar Aa Ge Jhan Mein Dusro Ki Jarurat Nahin Hai To Rishte Bhi Wah Khatma Karne Jaate Hain Dusro Se Dur Aane Lag Jaate Kisi Se Baat Krna Kisi K Ghar Jaana Hai Kisi Se Apne Sambandh Banakar Rakhna Nahin Pasad Karte Aur Yahi Vajaha Hai Qi Aj K Samay Mein Log Paise Co Jyada Value Dane K Lie Paise Co Jyada Mahatva Dane Lage Hain Aur Rishto Ki Value Bilkool Khatma Hoti Ja Rahi Hamare Samaj Mein
Likes  13  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों में नो रंग शर्मा आज बात करने जा रहा हूं रिश्तो पर कि आजकल सिर्फ जरूरत के लिए रिश्ते क्यों रखी जाती हैं और क्या जरूरत खत्म तो रिश्ते भी खत्म तो पहले आ क्वेश्चन से में शुरुआत करता हूं की क्...जवाब पढ़िये
हेलो दोस्तों में नो रंग शर्मा आज बात करने जा रहा हूं रिश्तो पर कि आजकल सिर्फ जरूरत के लिए रिश्ते क्यों रखी जाती हैं और क्या जरूरत खत्म तो रिश्ते भी खत्म तो पहले आ क्वेश्चन से में शुरुआत करता हूं की क्या जरूरत के लिए रिश्ते रखे जाते हैं कुछ रिश्ते तो हमें बने बनाए मिलते हैं जो गॉड गिफ्टेड होते हैं जिनमें हम कोई तब्दीली नहीं कर सकते अपने माता-पिता अपने भाई बहन अपनी पत्नी अपनी बच्चे इन सब को हम नहीं सुनते अगर आप ने लव मैरिज किया तो आप अपनी पत्नी चुन सकते हैं अगर भाई दिए कुछ रिश्ते ऐसे हैं जो हमें मिलते हैं रेडीमेड मिलते हैं कुछ रिश्ते ऐसे होते हैं जो हम चुनते हैं चाहे वह हमारे फ्रेंड सो बस हम उन्हें चुन सकते हैं तो जो भी रिश्ते हो दिखे जरूरत है जरूरत है में करीब तो ला सकती हैं लेकिन जरूरतों से रिश्ते निभाए नहीं जाते ठीक है हमें किसी की जरूरत थी कोई हमारे करीब आ गया और हम ने रिश्ता बना लिया लेकिन जरूरत के लिए रिश्ते लिखिए आजकल क्या होता है कि लोग जो हैं वह रिश्तो की अहमियत थोड़ा सा भूल गए हैं यूं कह लें कि उन्होंने अपनी प्राथमिकताओं में रिश्तो को जगह देना बंद कर दिया है तो देखिए निश्चित रूप से सही अप्रोच नहीं है हमारी जो सोसायटी है वह सही दिशा में तो की हाल नहीं जा रही है लेकिन आज भी कुछ लोग ऐसे हैं जो रिश्तो की अहमियत को उतना ही समझते हैं जानते हैं और जितना हो सके तालमेल बनाकर के उन रिश्तो को निभाते हैं जरूरत खत्म होने पर रिश्ते भी खत्म तो देखिए ऐसा तू लोगों की मानसिकता पर डिपेंड करता है कि किस अफरोज को लेकर उन्होंने रिश्ते बनाए थे अगर बुनियाद ही सही नहीं है तो फिर रिश्ता भी ज्यादा लंबे समय तक नहीं चल पाएगा धन्यवाद
Likes  13  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Aaj Kal Sirf Zaroorat Ke Liye Hi Rishte Kyon Rakhe Jaate Hain Kya Zaroorat Khatam Toh Rishte Bhi Khatam

vokalandroid