क्या आपको "रोम में रोमन" होना चाहिए 'या' हर जगह अपनी वास्तविकता बनाए रखनी चाहिए ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसे जी एक बहुत ही प्रचलित कहावत है दैनिक Dhoom 2 आंसर ओम बंदे ने कि जैसा देश वैसा भेष जिस तरह की परेशानी तो मैं आपको इस तरह से आप घर जाओ कहीं ना कहीं करती हूं कि आज इस तरीके के माहौल में हम रह रहे हैं जैसे कर्म है उसी पर टिके रहेंगे तो हम आगे नहीं बढ़ सकते थोड़ा बहुत पर्सनालिटी को एडजस्ट करना लोगों के हिसाब से बहुत इंपॉर्टेंट है अगर आप अपनी पसंद पर अड़े रहेंगे तो आपके दोस्त भी नहीं बन पाएंगे ज्यादा सोशल नहीं हो पाएंगे आप तो ऐसा नहीं है कि आप किसी के लिए अपनी पूरी पर्सनालिटी अपना पूरा व्यक्ति को बदल दें क्योंकि हर किसी का एक अपना एक व्यक्तित्व होता है जिसकी वजह से लोग आपको पसंद करते हैं लेकिन बिल्कुल ऐसा नहीं है कि आप जीनियस लेकर इन है इसे वक्त बदलेगा की निशानी इंपॉर्टेंट है तुझे रूम में रहे तो रोमन लोग चर्चा कर रहे हैं पर अपना अपने अंदर की जो भी आपका ऑडिशन है जो कि आप की जड़े हैं उन्हें मत भूले पर चेक जरूर हो जाए थोड़ा बहुत तो आपके ही अच्छा होगा
Romanized Version
जैसे जी एक बहुत ही प्रचलित कहावत है दैनिक Dhoom 2 आंसर ओम बंदे ने कि जैसा देश वैसा भेष जिस तरह की परेशानी तो मैं आपको इस तरह से आप घर जाओ कहीं ना कहीं करती हूं कि आज इस तरीके के माहौल में हम रह रहे हैं जैसे कर्म है उसी पर टिके रहेंगे तो हम आगे नहीं बढ़ सकते थोड़ा बहुत पर्सनालिटी को एडजस्ट करना लोगों के हिसाब से बहुत इंपॉर्टेंट है अगर आप अपनी पसंद पर अड़े रहेंगे तो आपके दोस्त भी नहीं बन पाएंगे ज्यादा सोशल नहीं हो पाएंगे आप तो ऐसा नहीं है कि आप किसी के लिए अपनी पूरी पर्सनालिटी अपना पूरा व्यक्ति को बदल दें क्योंकि हर किसी का एक अपना एक व्यक्तित्व होता है जिसकी वजह से लोग आपको पसंद करते हैं लेकिन बिल्कुल ऐसा नहीं है कि आप जीनियस लेकर इन है इसे वक्त बदलेगा की निशानी इंपॉर्टेंट है तुझे रूम में रहे तो रोमन लोग चर्चा कर रहे हैं पर अपना अपने अंदर की जो भी आपका ऑडिशन है जो कि आप की जड़े हैं उन्हें मत भूले पर चेक जरूर हो जाए थोड़ा बहुत तो आपके ही अच्छा होगाJaise Ji Ek Bahut Hi Prachalit Kahaavat Hai Dainik Dhoom 2 Answer Om Bande Ne Ki Jaisa Desh Waisa Bhesh Jis Tarah Ki Pareshani To Main Aapko Is Tarah Se Aap Ghar Jao Kahin Na Kahin Karti Hoon Ki Aaj Is Tarike Ke Maahaul Mein Hum Rah Rahe Hain Jaise Karm Hai Ussi Par Tike Rahenge To Hum Aage Nahi Badh Sakte Thoda Bahut Personality Ko Adjust Karna Logon Ke Hisab Se Bahut Important Hai Agar Aap Apni Pasand Par Ade Rahenge To Aapke Dost Bhi Nahi Ban Paenge Jyada Social Nahi Ho Paenge Aap To Aisa Nahi Hai Ki Aap Kisi Ke Liye Apni Puri Personality Apna Pura Vyakti Ko Badal Dein Kyonki Har Kisi Ka Ek Apna Ek Vyaktitva Hota Hai Jiski Wajah Se Log Aapko Pasand Karte Hain Lekin Bilkul Aisa Nahi Hai Ki Aap Genius Lekar In Hai Ise Waqt Badalega Ki Nishani Important Hai Tujhe Room Mein Rahe To Roman Log Charcha Kar Rahe Hain Par Apna Apne Andar Ki Jo Bhi Aapka Audition Hai Jo Ki Aap Ki Jade Hain Unhen Mat Bhule Par Check Jarur Ho Jaye Thoda Bahut To Aapke Hi Accha Hoga
Likes  2  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

वोकल पर फोलोवर सवाल पूछ सकता है या जवाब दे सकता है या दोनों ही कर सकता है? ...

जी आपने बिल्कुल सही कहा कि वह कॉल पर भालू और सवाल पूछ भी सकता है और जवाब भी दे सकता है क्योंकि इसमें कोई भी दिक्कत नहीं आप खुद भी माने इस केस पर बन सकते हैं और सही समय पर उचित सलाह देकर या फिर अपने जोजवाब पढ़िये
ques_icon

More Answers


Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Kya Aapko Roam Mein Roman Hona Chahiye Ya Har Jagah Apni Vastavikta Banaye Rakhni Chahiye ?,Should You Be "Roman In Rome" Or "Keep Your Reality In Everywhere"?,


vokalandroid