भारत में रेपिस्ट के खिलाप कब कानून कब बनेगा ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

PK करो पोस्ट को के कोड नहीं देखे तो 12 साल से छोटे बच्चों के साथ कोई भी दुष्कर्म करता हुआ व्यक्ति आरोपी पकड़ा जाता है तो उसे फांसी की सजा दे दी जाएगी या फिर उम्र कैद की तो मेरा मानना है कि अगर 12 साल ...जवाब पढ़िये

PK करो पोस्ट को के कोड नहीं देखे तो 12 साल से छोटे बच्चों के साथ कोई भी दुष्कर्म करता हुआ व्यक्ति आरोपी पकड़ा जाता है तो उसे फांसी की सजा दे दी जाएगी या फिर उम्र कैद की तो मेरा मानना है कि अगर 12 साल छोटे बच्चों के लिए ऐसे सख्त कानून बना है तो यह बहुत ही बड़ी सफलता है और बहुत ही जल्द 12 साल से ऊपर जो जिनके साथ दुष्कर्म हुआ है जैसे आरोपी सिद्ध है इसमें उनके साथ भी खाते सख्त कार्रवाई होनी चाहिए ऐसा कानून बनना चाहिए और मेरा मानना है कि बहुत ही आने वाले समय में देश में सख्त कानून बनेगा दुष्कर्म का विचार कर रखने वाले लोग उसका 9:00 से डालेंगे थोड़े समय की जरूरत है लेकिन डेफिनेटली हमारे देश में ऐसा कानून भी आएगाPK Karo Post Ko Ke Code Nahi Dekhe To 12 Saal Se Chote Bacchon Ke Saath Koi Bhi Dushkarma Karta Hua Vyakti Aaropi Pakada Jata Hai To Use Fansi Ki Saja De Di Jayegi Ya Phir Umar Kaid Ki To Mera Manana Hai Ki Agar 12 Saal Chote Bacchon Ke Liye Aise Sakht Kanoon Bana Hai To Yeh Bahut Hi Badi Safalta Hai Aur Bahut Hi Jald 12 Saal Se Upar Jo Jinke Saath Dushkarma Hua Hai Jaise Aaropi Siddh Hai Isme Unke Saath Bhi Khate Sakht Karyawahi Honi Chahiye Aisa Kanoon Banana Chahiye Aur Mera Manana Hai Ki Bahut Hi Aane Wale Samay Mein Desh Mein Sakht Kanoon Banega Dushkarma Ka Vichar Kar Rakhne Wale Log Uska 9:00 Se Daalenge Thode Samay Ki Zaroorat Hai Lekin Definetli Hamare Desh Mein Aisa Kanoon Bhi Aaega
Likes  6  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा नहीं है कि हमारे देश में रेप करने वालों के खिलाफ कोई भी कानून नहीं है कानून तो बहुत सारे बने हुए हैं लेकिन उसे सही तरीके से लागू नहीं किया जा पा रहा है जिसकी वजह से आए दिन हमारे देश में रेप जैसी व ...जवाब पढ़िये

ऐसा नहीं है कि हमारे देश में रेप करने वालों के खिलाफ कोई भी कानून नहीं है कानून तो बहुत सारे बने हुए हैं लेकिन उसे सही तरीके से लागू नहीं किया जा पा रहा है जिसकी वजह से आए दिन हमारे देश में रेप जैसी वारदात सामने आ रही है अभी हाल में ही मोदी सरकार ने रेप के कानून में कुछ बदलाव किया जैसे कि पॉक्सो एक्ट में उन्होंने बदलाव करते हुए यह प्रावधान रखा है कि अगर रेप किसी 12 वर्ष से कम उम्र की लड़की के साथ होता है तो दोषियों को फांसी की सजा दी जाएगी लेकिन अगर किसी लड़की की उम्र या किसी महिला की उम्र 12 वर्ष से अधिक है और उनके साथ रेप की घटना होती है तो दोषियों को उम्रकैद की सजा मिलेगी तो मुझे लगता है कि इस तरह का भेदभाव नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि क्राइम तो क्राइम है चाहे वह किसी भी उम्र की महिला के साथ क्यों ना हो तो सरकार को यह ध्यान देना चाहिए कि रेप के लिए सिर्फ फांसी की सजा ही मुनासिब है इससे कम सजा मुझे नहीं लगता कि सही होगी क्योंकि जब कठोर सजा नहीं दी जाएगी तब तक समाज में यह मैसेज नहीं जाएगा कि यह कितना बड़ा अपराध है और इसके लिए क्या सजा मिल सकती है तो आपराधिक मानसिकता वाले लोगों को डराने के लिए या फिर इस तरह के अपराधों को रोकने के लिए सरकार को कठोर कानून बनाने की आवश्यकता है तभी जाकर हमारे देश में जो लोग रेप जैसी वारदात को अंजाम देते हैं उन्हें कड़ी सजा मिल पाएगी और इस तरह की घटनाओं पर रोक लगाई जा सकती हैAisa Nahi Hai Ki Hamare Desh Mein Rape Karne Walon Ke Khilaf Koi Bhi Kanoon Nahi Hai Kanoon To Bahut Sare Bane Huye Hain Lekin Use Sahi Tarike Se Laagu Nahi Kiya Ja Pa Raha Hai Jiski Wajah Se Aaye Din Hamare Desh Mein Rape Jaisi Vaardaat Samane Aa Rahi Hai Abhi Haal Mein Hi Modi Sarkar Ne Rape Ke Kanoon Mein Kuch Badlav Kiya Jaise Ki Pakso Act Mein Unhone Badlav Karte Huye Yeh Pravadhan Rakha Hai Ki Agar Rape Kisi 12 Varsh Se Kam Umar Ki Ladki Ke Saath Hota Hai To Doshiyon Ko Fansi Ki Saja Di Jayegi Lekin Agar Kisi Ladki Ki Umar Ya Kisi Mahila Ki Umar 12 Varsh Se Adhik Hai Aur Unke Saath Rape Ki Ghatna Hoti Hai To Doshiyon Ko Umrakaid Ki Saja Milegi To Mujhe Lagta Hai Ki Is Tarah Ka Bhedbhav Nahi Kiya Jana Chahiye Kyonki Crime To Crime Hai Chahe Wah Kisi Bhi Umar Ki Mahila Ke Saath Kyon Na Ho To Sarkar Ko Yeh Dhyan Dena Chahiye Ki Rape Ke Liye Sirf Fansi Ki Saja Hi Munaasib Hai Isse Kam Saja Mujhe Nahi Lagta Ki Sahi Hogi Kyonki Jab Kathor Saja Nahi Di Jayegi Tab Tak Samaaj Mein Yeh Massage Nahi Jayega Ki Yeh Kitna Bada Apradh Hai Aur Iske Liye Kya Saja Mil Sakti Hai To Apradhik Mansikta Wale Logon Ko Darane Ke Liye Ya Phir Is Tarah Ke Apradho Ko Rokne Ke Liye Sarkar Ko Kathor Kanoon Banane Ki Avashyakta Hai Tabhi Jaakar Hamare Desh Mein Jo Log Rape Jaisi Vaardaat Ko Anjaam Dete Hain Unhen Kadi Saja Mil Payegi Aur Is Tarah Ki Ghatnaon Par Rok Lagai Ja Sakti Hai
Likes  5  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए भारत में रेप इसके खिलाफ काफी लॉस है प्रॉब्लम वहां जाती है कि लौट इंप्लीमेंट नहीं हो पाते हैं इसके बहुत सारे रीजन से कि यह डॉक्यूमेंट क्यों नहीं हो पाते हैं क्यों रेपिस्ट को जब वह ऐसे कोई एप्स क ...जवाब पढ़िये

देखिए भारत में रेप इसके खिलाफ काफी लॉस है प्रॉब्लम वहां जाती है कि लौट इंप्लीमेंट नहीं हो पाते हैं इसके बहुत सारे रीजन से कि यह डॉक्यूमेंट क्यों नहीं हो पाते हैं क्यों रेपिस्ट को जब वह ऐसे कोई एप्स करते हैं तो उन्हें ऐसा लगता है कि मुझे यह सजा मिल सकती है ऐसा नहीं लगता कि मुझे यह सजा मिलेगी क्योंकि हमारा जुडिशरी सिस्टम बहुत वीक है इसलिए किसी भी रिक्वेस्ट के बचने के चांसेस कहीं ज्यादा हो जाते हैं और उससे दूसरे ऐसे लोगों को भी अंग्रेज में मिलता है मिलता है कि हां हम भी ऐसा कुछ करके बच सकते हैं दूसरा हमारे यहां पर सोशल अच्छा लगता है कि व्यक्ति मजाकिया के बोल ही नहीं पाते हैं जब यह सोशल प्रश्न देता है कि व्यक्ति अपने जो जिन्होंने उनके साथ ऐसा किया है उनको सामने ही नहीं ला पाते हैं तो घमंड उनको पनीर कैसे करेगी मतलब कैसे किया जाएगा तो यह भी है और हां कुछ ऐसी चीजें हैं जैसे कि मैरिटल रेप हो गया जिनको तो हम कंसीडर ही नहीं करते निकल जिनमें हां जरूर बहुत जरूरत है कि हम उन्हें उनकी जो उन्हें जो इंपॉर्टेंट है वह दे उनको जो उस एक्ट को लाइक करें यह बहुत इंपॉर्टेंट है तो एक मैरिटल रेप के अलावा मुझे लगता है बाकी जगह पर सही इलाज है हमारे बस उन्हें इंप्लीमेंट करने की जरूरत है बस हमें अपना इंप्लीमेंटेशन सही करने की जरूरत है कि वे पर ऐसा कुछ काम करने से पहले डर है कि अगर मैं ऐसा करता हूं तो मुझे पक्का यह सजा मिलेगी तब जाकर हमारा जो यह ऐप्स है वह कम हो सकते हैं मुझे ऐसा लगता हैDekhie Bharat Mein Rape Iske Khilaf Kafi Loss Hai Problem Wahan Jati Hai Ki Lot Implement Nahi Ho Paate Hain Iske Bahut Sare Reason Se Ki Yeh Document Kyon Nahi Ho Paate Hain Kyon Rapist Ko Jab Wah Aise Koi Apps Karte Hain To Unhen Aisa Lagta Hai Ki Mujhe Yeh Saja Mil Sakti Hai Aisa Nahi Lagta Ki Mujhe Yeh Saja Milegi Kyonki Hamara Judiciary System Bahut Weak Hai Isliye Kisi Bhi Request Ke Bachane Ke Chances Kahin Jyada Ho Jaate Hain Aur Usse Dusre Aise Logon Ko Bhi Angrej Mein Milta Hai Milta Hai Ki Haan Hum Bhi Aisa Kuch Karke Bach Sakte Hain Doosra Hamare Yahan Par Social Accha Lagta Hai Ki Vyakti Majakiya Ke Bol Hi Nahi Paate Hain Jab Yeh Social Prashna Deta Hai Ki Vyakti Apne Jo Jinhone Unke Saath Aisa Kiya Hai Unko Samane Hi Nahi La Paate Hain To Ghamand Unko Paneer Kaise Karegi Matlab Kaise Kiya Jayega To Yeh Bhi Hai Aur Haan Kuch Aisi Cheezen Hain Jaise Ki Marital Rape Ho Gaya Jinako To Hum Kansidar Hi Nahi Karte Nikal Jinmein Haan Jarur Bahut Zaroorat Hai Ki Hum Unhen Unki Jo Unhen Jo Important Hai Wah De Unko Jo Us Act Ko Like Karen Yeh Bahut Important Hai To Ek Marital Rape Ke Alava Mujhe Lagta Hai Baki Jagah Par Sahi Ilaj Hai Hamare Bus Unhen Implement Karne Ki Zaroorat Hai Bus Hume Apna Implementation Sahi Karne Ki Zaroorat Hai Ki Ve Par Aisa Kuch Kaam Karne Se Pehle Dar Hai Ki Agar Main Aisa Karta Hoon To Mujhe Pakka Yeh Saja Milegi Tab Jaakar Hamara Jo Yeh Apps Hai Wah Kam Ho Sakte Hain Mujhe Aisa Lagta Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंडिया का झूला है वह इतना रिजल्ट है इसमें फ्लेक्सिबिलिटी नाम की कोई चीज ही नहीं है इंडिया का इतिहास चेंज कराने की कितनी सारी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है वहां पार्लियामेंट में अपर हाउस लोहार हाउस लोकस ...जवाब पढ़िये

इंडिया का झूला है वह इतना रिजल्ट है इसमें फ्लेक्सिबिलिटी नाम की कोई चीज ही नहीं है इंडिया का इतिहास चेंज कराने की कितनी सारी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है वहां पार्लियामेंट में अपर हाउस लोहार हाउस लोकसभा राजसभा दोनों से रेडीमेड करानी होती है पास कराना होता है उसके बाद फिर राष्ट्रपति से अवैध संशोधन के लिए चला गया वह पास नहीं हो तो उसे पूरी तरह से खारिश हो जाएगा दोबारा फिर बुलाओ या फिर घर चली लगभग 500 गए तो संशोधन के लिए चला गया तो उसमें 6 महीना उसको दुबारा पास करवाना अगर फिर पास हो गया तो फिर राष्ट्रपति से सिग्नेचर उसके बाद जो है वह लागू होता है नियम को बदलना होगा और इसके लिए लोहे इंसानियत के लिए आजीवन कारावास से लेकर 5 तक की सजा है इसके लिए बहुत ही सख्त कानून है लेकिन हमारा प्रॉब्लम यह है कि सकता मिलते किसको सोसाइटी की टाइम प्रोसीजर इतना लग जाता है 4 साल 5 साल कितना समय लग जाता है कि अपराधियों को दिल बहुत ही नहीं है उन्हें पता है कि चलो मगर मैं रेप करता हूं तो मुझे सजा मिलने में 3 से 4 साल जब तक बीवी को डरा धमका कर अपने खिलाफ सबूत ही गायब कर देते हैं इसे सजा मिलती भी उनको तो बहुत मिलती है बहुत कम मिलती है वही बहुत कम है जो चेंज करने से अच्छा जो प्रोसीजर है उसको चेंज करना होगा कि इसमें मैक्सिमम एक्शन 6 से 7 महीने में सजा मिलनी चाहिए तभी तो है यह रेप की घटनाएं हमारे देश में है वह कम होंगीIndia Ka Jhoola Hai Wah Itna Result Hai Isme Flexibility Naam Ki Koi Cheez Hi Nahi Hai India Ka Itihas Change Karane Ki Kitni Saree Prakriya Se Gujarana Padata Hai Wahan Parliament Mein Upper House Lohar House Lok Sabha Rajyasabha Dono Se Readymade Krani Hoti Hai Paas Krana Hota Hai Uske Baad Phir Rashtrapati Se Awaidh Sanshodhan Ke Liye Chala Gaya Wah Paas Nahi Ho To Use Puri Tarah Se Kharish Ho Jayega Dobara Phir Bulaao Ya Phir Ghar Chali Lagbhag 500 Gaye To Sanshodhan Ke Liye Chala Gaya To Usamen 6 Mahina Usko Dubara Paas Karwana Agar Phir Paas Ho Gaya To Phir Rashtrapati Se Signature Uske Baad Jo Hai Wah Laagu Hota Hai Niyam Ko Badalna Hoga Aur Iske Liye Lohe Insaniyat Ke Liye Aajivan Karavas Se Lekar 5 Tak Ki Saja Hai Iske Liye Bahut Hi Sakht Kanoon Hai Lekin Hamara Problem Yeh Hai Ki Sakta Milte Kisko Society Ki Time Procedure Itna Lag Jata Hai 4 Saal 5 Saal Kitna Samay Lag Jata Hai Ki Apradhiyon Ko Dil Bahut Hi Nahi Hai Unhen Pata Hai Ki Chalo Magar Main Rape Karta Hoon To Mujhe Saja Milne Mein 3 Se 4 Saal Jab Tak Biwi Ko Daraa Dhamaka Kar Apne Khilaf Sabut Hi Gayab Kar Dete Hain Ise Saja Milti Bhi Unko To Bahut Milti Hai Bahut Kam Milti Hai Wahi Bahut Kam Hai Jo Change Karne Se Accha Jo Procedure Hai Usko Change Karna Hoga Ki Isme Maximum Action 6 Se 7 Mahine Mein Saja Milani Chahiye Tabhi To Hai Yeh Rape Ki Ghatnaye Hamare Desh Mein Hai Wah Kam Hongi
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए भारत में नीतीश के खिलाफ कानून तो है पर एक सख्त कानून में कहूंगी कि नहीं है जो उस समय लगता है वह बुक्स पनिशमेंट देने में उस में बहुत ज्यादा समय लग जाता तो लोग चाहते हैं लोग निकल जाता 488 साल तक क ...जवाब पढ़िये

देखिए भारत में नीतीश के खिलाफ कानून तो है पर एक सख्त कानून में कहूंगी कि नहीं है जो उस समय लगता है वह बुक्स पनिशमेंट देने में उस में बहुत ज्यादा समय लग जाता तो लोग चाहते हैं लोग निकल जाता 488 साल तक के के 17 तरीके में पता है कि गुन्हेगारी है उसके बाद भी कितना नंबर चलता है यहां पर मुझे लगता है कि भारत के कानून को बदलाव की जरूरत है जैसे आपने अपने प्रश्न पूछा कि भारत में रितेश के खिलाफ कब कानून कब कब कब कानून बनेगा तो मुझे लगता है कानून है यह पुरुष कानून को सशक्त बनाना है वह सख्त कानून कब बनेगा जो हम लोग आवाज उठाएंगे सरकार यह सोच रही है कि अब जैसे चल रहा है वैसे चलने दो इसमें चल रही है वह पठामि इसमें नहीं हमें अपनी जिंदगी को सुधारने तो एक सख्त कानून बनना चाहिए और मुझे लगता कि जब तक बीजेपी कांग्रेस एक दूसरे से लड़ते रहेंगे और राजनीति चलती रहेगी तब तक देश का विकास कैसे होगा तो देश के विकास के लिए मुझे ऐसा लगता कि बदलाव की बहुत ज्यादा जरूरत हैDekhie Bharat Mein Nitish Ke Khilaf Kanoon To Hai Par Ek Sakht Kanoon Mein Kahungi Ki Nahi Hai Jo Us Samay Lagta Hai Wah Books Punishment Dene Mein Us Mein Bahut Jyada Samay Lag Jata To Log Chahte Hain Log Nikal Jata 488 Saal Tak Ke Ke 17 Tarike Mein Pata Hai Ki Gunhegari Hai Uske Baad Bhi Kitna Number Chalta Hai Yahan Par Mujhe Lagta Hai Ki Bharat Ke Kanoon Ko Badlav Ki Zaroorat Hai Jaise Aapne Apne Prashna Poocha Ki Bharat Mein Ritesh Ke Khilaf Kab Kanoon Kab Kab Kab Kanoon Banega To Mujhe Lagta Hai Kanoon Hai Yeh Purush Kanoon Ko Sashakt Banana Hai Wah Sakht Kanoon Kab Banega Jo Hum Log Aawaj Uthayenge Sarkar Yeh Soch Rahi Hai Ki Ab Jaise Chal Raha Hai Waise Chalne Do Isme Chal Rahi Hai Wah Pathami Isme Nahi Hume Apni Zindagi Ko Sudhaarne To Ek Sakht Kanoon Banana Chahiye Aur Mujhe Lagta Ki Jab Tak Bjp Congress Ek Dusre Se Ladtey Rahenge Aur Rajneeti Chalti Rahegi Tab Tak Desh Ka Vikash Kaise Hoga To Desh Ke Vikash Ke Liye Mujhe Aisa Lagta Ki Badlav Ki Bahut Jyada Zaroorat Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिग्गी भारतीय ...जवाब पढ़िये

डिग्गी भारतीयDiggi Bhartiya
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में रेपिस्ट के खिलाफ ऑलरेडी बहुत सारे कानून है और कोई भी अगर किसी भी लड़की के साथ कुछ भी गलत करता है चाहे वह रे वह रेजिमेंट हुआ शार्ट हो या कुछ भी और उन सभी चीजों के लिए हमारे देश में कानून बने ह ...जवाब पढ़िये

भारत में रेपिस्ट के खिलाफ ऑलरेडी बहुत सारे कानून है और कोई भी अगर किसी भी लड़की के साथ कुछ भी गलत करता है चाहे वह रे वह रेजिमेंट हुआ शार्ट हो या कुछ भी और उन सभी चीजों के लिए हमारे देश में कानून बने हुए हैं लेकिन सिर्फ यही वजह है कि हमारे देश में कानून तो है परंतु लोगों को सजा जल्दी नहीं मिल पाती तारीख बढ़ती चली जाती है कोर्ट में और किसी भी केस पर सुनवाई नहीं हो पाती जिसकी वजह से कहीं ना कहीं ऐसा लगने लग जाता है कि हमारे देश में कानून की कमी है या फिर हमारे देश में फैसले जल्दी नहीं मिलते हैं लोगों को न्याय जल्दी नहीं मिलता इसकी वजह से लोग गलत मानने लग जाते हमारी न्यायपालिका को लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है भारत में रेपिस्ट हो या फिर कोई और इंसान हो अगर कोई भी कुछ गलत करेगा तो उसके खिलाफ सारे कानून बनाए गए हैंBharat Mein Rapist Ke Khilaf Already Bahut Sare Kanoon Hai Aur Koi Bhi Agar Kisi Bhi Ladki Ke Saath Kuch Bhi Galat Karta Hai Chahe Wah Ray Wah Regiment Hua Shaart Ho Ya Kuch Bhi Aur Un Sabhi Chijon Ke Liye Hamare Desh Mein Kanoon Bane Huye Hain Lekin Sirf Yahi Wajah Hai Ki Hamare Desh Mein Kanoon To Hai Parantu Logon Ko Saja Jaldi Nahi Mil Pati Tarikh Badhti Chali Jati Hai Court Mein Aur Kisi Bhi Case Par Sunavai Nahi Ho Pati Jiski Wajah Se Kahin Na Kahin Aisa Lagne Lag Jata Hai Ki Hamare Desh Mein Kanoon Ki Kami Hai Ya Phir Hamare Desh Mein Faisle Jaldi Nahi Milte Hain Logon Ko Nyay Jaldi Nahi Milta Iski Wajah Se Log Galat Manane Lag Jaate Hamari Nyaypalika Ko Lekin Aisa Bilkul Bhi Nahi Hai Bharat Mein Rapist Ho Ya Phir Koi Aur Insaan Ho Agar Koi Bhi Kuch Galat Karega To Uske Khilaf Sare Kanoon Banaye Gaye Hain
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Bharat Mein Rapist Ke Khilap Kab Kanoon Kab Banega ?, When The Law Of India Against Rapist Will Change?