IAS टोपर हिंदी मध्यम से क्यों नहीं बनते? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

PK हिंदी मीडियम में सबसे बड़ी दिक्कत है यह है कि हिंदी मीडियम में अच्छे टीचर्स की कमी है हिंदी मीडियम में अच्छी किताबों की कमी है और जो बहुत अच्छे स्टूडेंट होते हैं बॉक्सर हिंदी मीडियम में पढ़ाई नहीं करते बल्कि अंग्रेजी मीडियम में पढ़ाई करते हैं तो यह जो सारे कैरेक्टर्स हैं अगर हम उनको साथ में रखे तो यह इस बात को पूरी तरीके से एक्सप्लेन करते हैं कि जो आईएएस टॉपर सोते हैं वह हिंदी मीडियम से क्यों नहीं होते हैं ऐसी कोई बात नहीं है आप हिंदी मीडियम से भी पढ़ाई कर सकते हैं हिंदी मीडियम में भी आप चाहे तो टाइप कर सकते हैं और अच्छी अवेलेबल नहीं है कोचिंग सेंटर से बिलकुल नहीं है तो हिंदी माध्यम में जवाब पढ़ाई करेंगे तो आपको उसमें थोड़ी सी दिक्कत आएगी और इस वजह से आपको टाइप करने में थोड़ा सा मुश्किल हो जाता है अच्छी रहना थोड़ा सा मुश्किल हो जाता है
Romanized Version
PK हिंदी मीडियम में सबसे बड़ी दिक्कत है यह है कि हिंदी मीडियम में अच्छे टीचर्स की कमी है हिंदी मीडियम में अच्छी किताबों की कमी है और जो बहुत अच्छे स्टूडेंट होते हैं बॉक्सर हिंदी मीडियम में पढ़ाई नहीं करते बल्कि अंग्रेजी मीडियम में पढ़ाई करते हैं तो यह जो सारे कैरेक्टर्स हैं अगर हम उनको साथ में रखे तो यह इस बात को पूरी तरीके से एक्सप्लेन करते हैं कि जो आईएएस टॉपर सोते हैं वह हिंदी मीडियम से क्यों नहीं होते हैं ऐसी कोई बात नहीं है आप हिंदी मीडियम से भी पढ़ाई कर सकते हैं हिंदी मीडियम में भी आप चाहे तो टाइप कर सकते हैं और अच्छी अवेलेबल नहीं है कोचिंग सेंटर से बिलकुल नहीं है तो हिंदी माध्यम में जवाब पढ़ाई करेंगे तो आपको उसमें थोड़ी सी दिक्कत आएगी और इस वजह से आपको टाइप करने में थोड़ा सा मुश्किल हो जाता है अच्छी रहना थोड़ा सा मुश्किल हो जाता हैPK Hindi Medium Mein Sabse Badi Dikkat Hai Yeh Hai Ki Hindi Medium Mein Acche Teachers Ki Kami Hai Hindi Medium Mein Acchi Kitabon Ki Kami Hai Aur Jo Bahut Acche Student Hote Hain Boxer Hindi Medium Mein Padhai Nahi Karte Balki Angrezi Medium Mein Padhai Karte Hain To Yeh Jo Sare Characters Hain Agar Hum Unko Saath Mein Rakhe To Yeh Is Baat Ko Puri Tarike Se Explain Karte Hain Ki Jo IAS Topper Sote Hain Wah Hindi Medium Se Kyon Nahi Hote Hain Aisi Koi Baat Nahi Hai Aap Hindi Medium Se Bhi Padhai Kar Sakte Hain Hindi Medium Mein Bhi Aap Chahe To Type Kar Sakte Hain Aur Acchi Available Nahi Hai Coaching Center Se Bilkul Nahi Hai To Hindi Maadhyam Mein Jawab Padhai Karenge To Aapko Usamen Thodi Si Dikkat Aaegi Aur Is Wajah Se Aapko Type Karne Mein Thoda Sa Mushkil Ho Jata Hai Acchi Rehna Thoda Sa Mushkil Ho Jata Hai
Likes  9  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

आईएएस की तयारी के लिए हिंदी मध्यम का सबसे अच्छा कोचिंग कौन सी है दिल्ली में ...

आज की तेरी मां के लिए साथ टॉप कोचिंग सेंटर से जैसे रोज स्टडी सर्किल सेकंड गाना आ गया विक्रम रवि आईएएस कोचिंग करो किसने किया आईएएस एकेडमी सोशलाइट आईएएस शिफ्ट हो गया ए एल एस आईएएस एकेडमी उच्च शिक्षा श्रजवाब पढ़िये
ques_icon

क्या हम हिंदी मध्यम से IAS और IPS बन सकते है या हिंदी मध्यम वालोको कोई प्रॉब्लम फेस करना? ...

हिंदी मीडियम क्यों या फिर इंग्लिश मीडियम के हो इसका असर कोई भी एग्जाम को देने पर कुछ ज्यादा नहीं पड़ता है क्योंकि मेहनत तो सभी को करनी पड़ती है किसी को थोड़ी कम तो किसी को थोड़ी ज्यादा करनी पड़ती है औजवाब पढ़िये
ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसमें हिंदी माध्यम से टॉपर मतलब नहीं बनते इसलिए क्योंकि पहली बात यह है कि UPSC में बहुत सारे स्टडी मटेरियल की जरूरत है जो हिंदी में मिलना बहुत ही मुश्किल है खासकर जब हम जब सूरज जी की बात करते हैं सोशियोलॉजी में जो पेपर वांलपेपर टू है इसमें बहुत सारी बुक करनी पड़ती है जो बिल्कुल हिंदी में नहीं मिलता ऊपर से टीचर्स की भी कमी है बहुत लोग जो शोषण भी पढ़ाते हैं वह जा कर इंग्लिश में पढ़ाते हैं यह दोनों वजह है इसीलिए हमने देखा है कि जो Ias के टॉपर्स भेजो ज्यादातर इंग्लिश मीडियम से ही आते हैं
Romanized Version
इसमें हिंदी माध्यम से टॉपर मतलब नहीं बनते इसलिए क्योंकि पहली बात यह है कि UPSC में बहुत सारे स्टडी मटेरियल की जरूरत है जो हिंदी में मिलना बहुत ही मुश्किल है खासकर जब हम जब सूरज जी की बात करते हैं सोशियोलॉजी में जो पेपर वांलपेपर टू है इसमें बहुत सारी बुक करनी पड़ती है जो बिल्कुल हिंदी में नहीं मिलता ऊपर से टीचर्स की भी कमी है बहुत लोग जो शोषण भी पढ़ाते हैं वह जा कर इंग्लिश में पढ़ाते हैं यह दोनों वजह है इसीलिए हमने देखा है कि जो Ias के टॉपर्स भेजो ज्यादातर इंग्लिश मीडियम से ही आते हैंIsme Hindi Maadhyam Se Topper Matlab Nahi Bante Isliye Kyonki Pehli Baat Yeh Hai Ki UPSC Mein Bahut Sare Study Material Ki Zaroorat Hai Jo Hindi Mein Milna Bahut Hi Mushkil Hai Khaskar Jab Hum Jab Suraj G Ki Baat Karte Hain Sociology Mein Jo Paper Vanlapepar To Hai Isme Bahut Saree Book Karni Padhti Hai Jo Bilkul Hindi Mein Nahi Milta Upar Se Teachers Ki Bhi Kami Hai Bahut Log Jo Shoshan Bhi Padhate Hain Wah Ja Kar English Mein Padhate Hain Yeh Dono Wajah Hai Isliye Humne Dekha Hai Ki Jo Ias Ke Toppers Bhejo Jyadatar English Medium Se Hi Aate Hain
Likes  21  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

PK आईएएस टॉपर कि आपने बात करेगी हिंदी मीडियम से क्यों नहीं बनता है यह बिल्कुल निराधार बात है इसका कोई अस्तित्व नहीं है इस चीज का यह इत्तेफाक हो सकता है कि नहीं बना हो लेकिन हकीकत यह है कि आई एस की जो परीक्षा होती है उसमें ऐसा हिंदी मीडियम इंग्लिश मीडियम वाला कोई भी रोल नहीं है परीक्षा जो होती है वह हिंदी इंग्लिश दोनों भाषा में होती है पढ़ाई जो होती है वह को मनाने की कोई भी ऐसी चीज़ नहीं है जो वहां पर इंग्लिश मीडियम वाले प्रायरिटी में पाइए ज्यादा नॉलेज हो हम तो कुछ नहीं आपका इस तरीके से नॉलेज होगा वरना मेरे नॉलेज में तो हिंदी मीडियम वाले लोग ही ज्यादा टॉपर कर सकते आईएएस परीक्षा में IAS परीक्षा आपके दिमाग में भेजते आपकी नॉलेज क्वेश्चन या फिर किसी भी स्कूल से पढ़े हुए किसी भी मीडियम से पढ़ी चिपका फाइनेंसियल स्टैंडर्ड कोई भी हो कैसा भी हो लेकिन अगर आपके पास नॉलेज है आप क्वालीफाई कर लोगे तो जाहिर तौर पर सवाल को बिल्कुल निराधार मंत्र
Romanized Version
PK आईएएस टॉपर कि आपने बात करेगी हिंदी मीडियम से क्यों नहीं बनता है यह बिल्कुल निराधार बात है इसका कोई अस्तित्व नहीं है इस चीज का यह इत्तेफाक हो सकता है कि नहीं बना हो लेकिन हकीकत यह है कि आई एस की जो परीक्षा होती है उसमें ऐसा हिंदी मीडियम इंग्लिश मीडियम वाला कोई भी रोल नहीं है परीक्षा जो होती है वह हिंदी इंग्लिश दोनों भाषा में होती है पढ़ाई जो होती है वह को मनाने की कोई भी ऐसी चीज़ नहीं है जो वहां पर इंग्लिश मीडियम वाले प्रायरिटी में पाइए ज्यादा नॉलेज हो हम तो कुछ नहीं आपका इस तरीके से नॉलेज होगा वरना मेरे नॉलेज में तो हिंदी मीडियम वाले लोग ही ज्यादा टॉपर कर सकते आईएएस परीक्षा में IAS परीक्षा आपके दिमाग में भेजते आपकी नॉलेज क्वेश्चन या फिर किसी भी स्कूल से पढ़े हुए किसी भी मीडियम से पढ़ी चिपका फाइनेंसियल स्टैंडर्ड कोई भी हो कैसा भी हो लेकिन अगर आपके पास नॉलेज है आप क्वालीफाई कर लोगे तो जाहिर तौर पर सवाल को बिल्कुल निराधार मंत्रPK IAS Topper Ki Aapne Baat Karegi Hindi Medium Se Kyon Nahi Banta Hai Yeh Bilkul Niradhar Baat Hai Iska Koi Astitv Nahi Hai Is Cheez Ka Yeh Ittefak Ho Sakta Hai Ki Nahi Bana Ho Lekin Haqiqat Yeh Hai Ki I S Ki Jo Pariksha Hoti Hai Usamen Aisa Hindi Medium English Medium Vala Koi Bhi Roll Nahi Hai Pariksha Jo Hoti Hai Wah Hindi English Dono Bhasha Mein Hoti Hai Padhai Jo Hoti Hai Wah Ko Manane Ki Koi Bhi Aisi Cheese Nahi Hai Jo Wahan Par English Medium Wali Prayariti Mein Paie Zyada Knowledge Ho Hum To Kuch Nahi Aapka Is Tarike Se Knowledge Hoga Varana Mere Knowledge Mein To Hindi Medium Wali Log Hi Zyada Topper Kar Sakte IAS Pariksha Mein IAS Pariksha Aapke Dimag Mein Bhejate Aapki Knowledge Question Ya Phir Kisi Bhi School Se Padhe Huye Kisi Bhi Medium Se Padhi Chipaka Financial Standard Koi Bhi Ho Kaisa Bhi Ho Lekin Agar Aapke Paas Knowledge Hai Aap Qualify Kar Loge To Jaahir Taur Par Sawal Ko Bilkul Niradhar Mantra
Likes  3  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:IAS Topper Hindi Madhyam Se Kyon Nahi Bante,


vokalandroid